MP: भैंसदेही में कांग्रेस MLA बोले- मैं हूं ब्रह्मा, मंत्री सुखदेव हैं सुख देने वाले, मंच पर तारिफों फूल बरसायें


MP: कांग्रेस MLA ने बांधे मंत्रियों की तारीफों के पुल, बोले- मैं हूं ब्रह्मा, मंत्री सुखदेव हैं सुख देने वाले
विधायक ब्रह्मा भलावी इतने पर ही नहीं रुके, उन्होंने भैंसदेही से कांग्रेस विधायक धरमु सिंह सिरसाम को धर्म के नाम पर अटल धर्म करने वाला बता डाला.

Multapi Samachar News Network

विधायक भलावी ने कहा कि पृथ्वी नही होती तो आप कहां रहते, उसकी सृष्टि करने वाले ब्रह्मा यानि मैं. वहीं, विधायक भलावी के ये बोल सुनने के बाद कार्यक्रम में हर कोई ठहाके लगाने लगा.

मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार में मंत्री और विधायक जनता के लिए कुछ कर पा रहे हो या न कर पा रहे हों. लेकिन, वे एक-दूसरे की तारीफों के पुल खूब बांध रहे हैं. कांग्रेस विधायक कार्यक्रमों में खुद की तारीफ तो कर ही रहे हैं. कमलनाथ सरकारे के मंत्रियों की चापलूसी में भी जुटे हुए हैं. ऐसा ही एक मौका बैतूल में शुक्रवार चिचोली में देखने को मिला. जहां कांग्रेस विधायक ब्रह्मा भलावी ने खुद को सृष्टि की रचना करने वाला ब्रह्मा बता दिया. इसी के साथ ब्रह्मा भलावी ने मंत्री सुखदेव पांसे को सुख देने वाला बताते हुए खूब तारीफ की.

विधायक भलावी ने कहा कि पृथ्वी नही होती तो आप कहां रहते, उसकी सृष्टि करने वाले ब्रह्मा यानि मैं. वहीं, विधायक भलावी के ये बोल सुनने के बाद कार्यक्रम में हर कोई ठहाके लगाने लगा. इसी कार्यक्रम में मंत्री सुखदेव पांसे ने भी आदिवासियों को एक सलाह दे डाली. मंत्री पांसे ने लोगों को सलाह देते हुए कहा कि उन्हें इंदिरा गांधी की फोटो अपने घरों में लगाना चाहिए. उन्होंने कहा कि आदिवासियों के पास आज जो जमीनें बची है, वो इंदिरा गांधी की ही देन है. इसके साथ ही पांसे ने एनआरसी और सीएए को लेकर केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा. 

विधायक ब्रह्मा भलावी इतने पर ही नहीं रुके, उन्होंने भैंसदेही से कांग्रेस विधायक धरमु सिंह सिरसाम को धर्म के नाम पर अटल धर्म करने वाला बता डाला. चिचोली में आयोजित कार्यक्रम में ब्रह्मा बोलने खड़े हुए तो बोलते ही चले गए. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ऐसा चयन कर नेता चुनकर भेजे. जो अपने जिले में सुख देने वाले सुखदेव. धरम जो गलत न करे, जो धरम के नाम पर अटल है ऐसे धरमु सिंह सिरसाम. 

सर्दी का असर जिले में 14 सालों का रिकॉर्ड टूटा , पारा 1.7 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचा


Chhattisgarh Weather Update : ठंड के कारण अब 15 जनवरी तक एक घंटे देर से खुलेंगे स्कूल

तापमान में और गिरावट आई तो टूट सकता है 14 सालों का रिकॉर्ड

बैतूल। समीपी गांव किल्लौद के खेत में जमी बर्फ।

बैतूल। मुलतापी समाचार

जिले में सर्दी के तेवर लगातार तीखे होते जा रहे हैं। शुक्रवार-शनिवार की रात को न्यूनतम तापमान में और गिरावट आई और यह 1.7 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। तापमान और गिरता है तो सर्दी का जिले में 14 सालों का रिकॉर्ड टूट सकता है। कड़ाके की सर्दी के चलते बच्चों को ठिठुरते हुए स्कूल जाना पड़ रहा है। दूसरी ओर शीतलहर चलते रहने से दिन भी लोग सर्दी से परेशान होते रहे।

हिमाचल और कश्मीर में हो रही बर्फबारी के बाद उत्तरी हवाओं के कारण पूरा जबलपुर शीतलहर की चपेट में आ गया है। दिन में भी गलन वाली ठंड महसूस हो रही है, जिसके कारण धूप भी लोगों को बेअसर हो रही है। दिन में चल रही ठंडी हवाओं के कारण सड़कों में वाहन चलाने वाले भी पूरी तरह शरीर को ढंक कर चल रहे हैं। महिलाएं, बच्चे और बूढ़ों को भी सर्दी ने ठिठुरा दिया है। सर्दी का सितम ऐसा है कि लोग बिस्तर से बाहर निकलने में भी एक बार सोच रहे हैं। तेज ठंड के कारण लोगों की छुट्टियां घर में कैद होकर बीत रही हैं। पूरा जबलपुर संभाग में शीतलहर का प्रकोप है। पारे में लगातार उतार-चढ़ाव बना हुआ है। बर्फीली हवाओं के असर से रातें भी गलन वाली हो रही है। शुक्रवार से शनिवार सुबह तक मौसम विभाग के पारे में इस 2020 की सबसे सर्द रात दर्ज हुई। न्यूनतम पारा 4.8 डिग्री तक चला गया। जबकि शनिवार को दिन का तापमान 19.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बताया जा रहा है कि अभी यह ठंड और सितम ढाएगी।

पिछले माह 4.4 डिग्री तक गया था पाराः

2019 में भी जबलपुर की सबसे ठंडी रात पिछले माह पड़ी थी जब 28 दिसंबर को न्यूनतम पारा 4.4 डिग्री तक चला गया था। उसके बाद लगातार मौसम बिगड़ने से पारे में उतार-चढ़ाव जारी रहा। मौसम विभाग के अनुसार पिछले 7 वर्ष पहले 2013 में सबसे नीचे तक पारा खिसका था तब सबसे कम 3.4 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था। जबकि 2018 में 3.8 तक गया था। 2013 की ठंड का रिकॉर्ड अब तक नहीं टूटा है। हालांकि अभी सर्दी का मौसम बाकी है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस वर्ष ठंड अधिक पड़ेगी।

ऐसा रहा शनिवारः

मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार शनिवार को शहर का अधिकतम तापमान 19.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से 5 डिग्री कम रहा। इसी तरह न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से 6 डिग्री कम रहा। हवाएं 2 किलोमीटर की रफ्तार से उत्तर दिशा से चलीं। आगे का मौसम शुष्क रहने के साथ संभाग में कहीं-कहीं ठंडे दिन और कुछ इलाकों में तीव्र शीतलहर की संभावना व्यक्त की गई है।

महज 4 दिनों में ही न्यूनतम तापमान में 7 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आ गई है। शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था जो कि अब तक का समसे कम तापमान था। शनिवार को यह और कम होकर 1.7 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। तापमान में भारी कमी आने के चलते कई खेतों में सुबह बर्फ जमी नजर आई। कड़ाके की सर्दी के चलते लोगों के बुरे हाल है। सुबह-सुबह बच्चों को ठिठुरते हुए स्कूल जाना पड़ रहा है। दिन में भी शीतलहर चलने से लोगों को गर्म कपड़ों का सहारा लेना पड़ा। आज दिन का तापमान 23.8 रहा। न्यूनतम तापमान में और गिरावट आती है तो पिछले 14 सालों का रिकॉर्ड टूट सकता है। इन 14 सालों में केवल एक बार वर्ष 2018 में ही न्यूनतम तापमान 1 डिग्री सेल्सियस पर आया था। इसके अलावा अन्य सालों में कभी न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस से भी कम नहीं हुआ। तापमान में लगातार गिरावट से किसान यह सोचकर परेशान हैं कि कहीं पाला न पड़ जाए। यदि पाला पड़ता है तो फसलों को भारी नुकसान पहुंच सकता है। तापमान में गिरावट का ही नतीजा है कि सुबह की सैर करने वालों की संख्या में भी खासी गिरावट आई है। शाम होते ही सड़कें एक बार फिर सूनी हो जाती हैं। दिन में भी लोगों को सर्दी से बचने या तो गर्म कपड़ों का सहारा लेना पड़ता है या फिर कहीं जल रहे अलाव को ताप कर थोड़ी राहत महसूस कर रहे हैं।

MP: मलाजपूर में गूरूसाहब मेले में हर साल लगता ”भूतों का मेला”, जानिए यहां क्‍याेंं है इतना विश्वास!


MP: इस गांव में लगता है 'भूतों' का मेला, जानिए यहां क्यों है, अंधविश्वास पर इतना विश्वास!
बैतूल के मलाजपुरगांव में गुरूसाहब बाब का मंदिर

मुलतापी समाचार

बैतूल। मन्‍नत पूरी होने पर आदमी के वजन बराबर तुलादान की प्रथा भी चली आ रही है।

मध्य प्रदेश के बैतूल में आज भी अंधविश्वास का भूत लोगों के सिर से नहीं उतरा है. बैतूल में एक गांव ऐसा है, जहां हर साल भूतों का मेला लगता है. इस मेले में देश के कोने-कोने से मानसिक तौर पर बीमार लोग इलाज करवाने आते है.

बैतूल में स्थित मलाजपुर गांव, जहां पिछले 400 सालों से गुरु साहब की समाधि पर भूतों का मेला लग रहा है और गांव की पहचान भूतों के मेला के नाम से ही होती है. जानकारी के मुताबिक, मानसिक तौर पर बीमार महिलाओं और पुरुषों को इस मेले में लाया जाता है. और उनका इलाज अमानवीय तरीके से किया जाता है.

बताया जा रहा है कि गुरु साहब की समाधि के सामने बैठे पुजारी भिखारी लाल यादव लोगों का इलाज करते हैं. जानकारी के मुताबिक, वो एक हाथ में झाड़ू लेते हैं और दूसरे हाथ से महिलाओं और पुरूषों के बाल पकड़ते हैं और फिर जोर से मारते हैं.  

वहीं इलाज करने वाले पुजारी भिखारी लाल यादव बताते हैं कि पूस माह की पूर्णिमा से शुरु होने वाले इस मेले में बड़ी संख्या में ऐसे मानसिक बीमार आते हैं, जिन्हे लगता है कि वो प्रेत बाधा से पीड़ित हैं. पुजारी का कहना है कि हमारी मार से भूत भाग जाते हैं और समाधी के पास लगे बरगद के पेड़ पर अपना स्थान बना लेते हैं, यही कारण है कि इस पेड़ के पत्ते हमेशा झुके रहते हैं

हैरान करने वाली बात ये है कि पढ़े-लिखे लोग भी अंधविश्वास में डूबे हैं. कहा जा रहा है कि इस मेले में देश के कोने-कोने से लोग आते हैं और परम्परा पर विश्वास जताते हैं. वहीं ग्रामीण विजय आर्य बताते हैं कि वैसे तो मलाजपुर आम गांव की तरह है, लेकिन यहां गुरु साहब की महिमा अपरंपार है यहां पर विदेशों से भी आकर लोगों ने रिसर्च की है.

बैतूल में ऑपरेशन क्लीन के दौरान हंगामा, पुलिसकर्मियों से भिड़ी महिला विरोध में चाकू लेकर आई महिला, गिरफ्तार


Image result for बैतूल में लल्ली चौक महिला"

चौक पर वर्षों से अंडे की दुकान लगाने वाली महिला की गुमठी हटाने के दौरान पुलिस कर्मियों से महिला चांद बाई ने जमकर हाथापाई की. 

लल्ली चौक पर महिला ने चाकू दिखाकर मचाया हंगामा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

बैतूल। महिला दुकानदार ने आज भी जमकर मचाया हंगामा।

बैतूल। प्रशासन ने सख्ती के साथ हटाया शनिवार को अतिक्रमण।

बैतूल। मुलतापी समाचार

शनिवार को सरकार के ऑपरेशन क्लीन का असर बैतूल में भी दिखाई पड़ रहा है. लेकिन इसका विरोध भी साफ-साफ सामने आ रहा है. बैतूल के लल्ली चौक पर आज ऐसे ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के दौरान जमकर हंगामा हुआ. चौक पर वर्षों से अंडे की दुकान लगाने वाली महिला की गुमठी हटाने के दौरान पुलिस कर्मियों से महिला चांद बाई ने जमकर हाथापाई की. गुमठी हटाने से नाराज महिला अतिक्रमण हटाने वाले अमले से भिड़ गयी. पुलिस कर्मियों ने उसे अलग हटाने की कोशिश की तो महिला भड़क गई और वह महिला पुलिस कर्मियों से भी नही मानी. 

सुबह 11 बजे एसडीएम राजीवरंजन पांडे, तहसीलदार राजेन्द्र जैन, सीएमओ प्रियंका सिंह, डीएसपी मोतीलाल कुशवाह, कोतवाली टीआई राजेन्द्र धुर्वे, गंज टीआई शिवनारायण मुकाती ने भारी पुलिस बल के साथ लल्ली चौक से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू की।

एमजी कॉम्पलेक्स और इसके सामने स्थित गुमठियों के सामने तक शेड बनाकर किए गए अतिक्रमण को जेसीबी ने तहस-नहस कर दिया। दुकानदार शेड को न तोड़ने की गुहार लगाते रहे पर इन्हें कोई मौका नहीं दिया गया, क्योंकि पिछले कई दिनों से लगातार एनाउंस कर चेतावनी दी जा रही थी। यहां से निकले टिन शेड जब्त कर लिए। इसके बाद जेल के बगल में हुए अतिक्रमण को हटाया गया। यहां लगाई गई गुमठियों को भी तहस नहस कर दिया गया। यहां कुछ दुकानदार विरोध कर रहे थे पर पुलिस ने उन्हें सख्ती से हटा दिया। इसके बाद अतिक्रमण दस्ता लल्ली चौक से कोतवाली की ओर बढ़ा।

इस दौरान जहां भी अतिक्रमण पाया गया उसे हटा दिया गया। इस बीच एक पूर्व नपाध्यक्ष के क्लीनिक के सामने बना शेड भी हटा दिया गया। कोतवाली के सामने से कमानी गेट की ओर जाने वाला मार्ग बीते कई सालों से नजर नहीं आ रहा था। यहां से भी पूरा अतिक्रमण हटा दिया गया। अब यहां मैदान नजर आ रहा है। इसी तरह एमजी कॉम्पलेक्स के सामने की सड़क भी बेहद चौड़ी हो गई है। कॉम्पलेक्स के बगल में स्थित आर्य मंदिर भी अतिक्रमण के चलते नजर नहीं आता था। अब वह भी खुल गया है। प्रशासन की सख्ती के आगे दुकानदार भारी दहशत में नजर आए और दुकानें बंद रखे रहे।

महिला को किया गिरफ्तारः कल लल्ली चौक पर महिला दुकनदार चांदनी पत्नी बाबाशाह 50 वर्ष निवासी तिलक वार्ड के हंगामे के कारण कार्रवाई रोकनी पड़ी थी। शनिवार को प्रशासन ने उसी की दुकान से कार्रवाई शुरू की। इस दौरान फिर उसने न केवल हंगामा मचाया, बल्कि चाकू भी लहराने लगी। हालांकि पूरी तैयारी के साथ प्रशासन पहुंचा था जिसके चलते तत्काल ही उसे काबू में कर कोतवाली थाना भिजवा दिया गया। चाकू छीनते समय एक महिला आरक्षक को चोट भी आई। पुलिस ने उसके खिलाफ धारा 308, 353 और एससीएसटी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।

सात करोड़ की जमीन मुक्त कराईः कोतवाली टीआई राजेंद्र धुर्वे ने बताया कि प्रशासन ने कोठीबाजार, लल्ली चौक, बस स्टैंड क्षेत्र में अतिक्रमण हटाया गया। इसके साथ ही कोतवाली थाने के बगल में स्थित 7 करोड़ की शासकीय भूमि को भी अतिक्रमण से मुक्त कराया गया। लोगों ने लंबे समय से इस जमीन पर कब्जा कर रखा था।

सूर्य नमस्कार 12 जनवरी प्रत्‍येक शिक्षण संस्थानों में सामूहिक किया जायेगा


Image result for 12 जनवरी को होगा शिक्षण संस्थानों में सामूहिक सूर्य नमस्कार
फाइल फोटो

बैतूल। Multapi Samachar हर साल की तहर इस साल भी स्वामी विवेकानंद जी के जन्म दिवस , युवा दिवस के अवसर पर सभी विद्यालयों, महाविद्यालयों, शैक्षणिक संस्थाओं, पंचायतों तथा आश्रम शालाओं में 12 जनवरी को प्रातः 9 से 10.30 बजे तक सामूहिक सूर्य नमस्कार का आयोजन किया जाएगा। जिला शिक्षा अधिकारी एलएल सुनारिया से प्राप्त जानकारी अनुसार यह आयोजन स्कूलों में प्रातः 9 बजे से प्रारंभ होगा तथा जिला स्तरीय मुख्य कार्यक्रम शासकीय कन्या क्रीड़ा परिसर हमलापुर बैतूल में आयोजित होगा। कार्यक्रम में राष्ट्रगीत वंदेमातरम्, स्वामी विवेकानंदजी की रिकॉडेड वाणी का प्रसारण एवं सामूहिक सूर्य नमस्कार व प्राणायाम होगा।

Image result for 12 जनवरी को होगा शिक्षण संस्थानों में सामूहिक सूर्य नमस्कार
Surya namaskar

मुलताई से छिंदवाड़ा मुख्य मार्ग पर नहीं है स्पीड ब्रेकर, होते रहते है भयानक हादसे के शिकार


स्पीड ब्रेकर नहीं होने से बड़ी परेशानी।

दुनावा। मुलतापी समाचार

मुलताई -छिंदवाड़ा मुख्य्मार्ग जिले के सबसे व्यस्ततम मार्गो में से हैं जिस पर भारी भरकम वाहन और बसे भी चलती है। इन वाहनों के बीच गांव से तेजी से गुजरने से दुर्घटना की संभावना बनी रहती है। गांव के बीच से गुजरने वाले मुख्य मार्ग पर कोई गति अवरोधक या गति सीमा बोर्ड नहीं है, जिससे आए दिन दुर्घटना होती हैं। दुनावा ग्राम के बीच से गुजरने वाले मुलताई से छिंदवाड़ा मुख्य्मार्ग पर आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती हैं। मार्ग से 50 से 100 फीट की दूरी पर स्कूल व कालेज हैं। बाजार भी मुख्य मार्ग से ही सटा हुआ है।प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ एवं मुलताई से सुखदेव पांसे के मंत्री बनने के बाद से मार्ग पर आवागमन आधिक हो गया है। इसमें कई बार मंत्रियों के काफिले और बड़े अधिकारियों की गाड़ियां भी बिना किसी गति सीमा का पालन किये बिना गुजरते देखे जा सकते हैं।

Mulai Cricket ताप्ती कप में पटवारी इलेवन ने डीपी क्लब को हराया


मुलताई। मैदान पर चल रहा मैच।

मुलताई। मुलतापी समाचार

नगर के हाईस्‍कूल स्कूल मैदान पर चल रही राज्य स्तरीय टेनिस बाल क्रिकेट प्रतियोगिता ताप्ती कप में शनिवार को पटवारी इलेवन ने अच्छा खेल दिखाते हुए जीत हासिल की। उन्होंने डीपी क्लब को करारी शिकस्त दी। शनिवार को तीन मुकाबले आयोजित किए गए। सुबह से लेकर देर शाम तक मैच देखने के लिए बड़ी संख्या में दर्शक मैदान पर उपस्थित थे। नगर में शुरू हुई इस प्रतियोगिता में प्रदेश भर की टीमें हिस्सा ले रही है। आयोजक पांसे यूथ क्लब के सुमीत शिवहरे, विक्की धोपाड़े, अतिक चौहान, राबिन परिहार आदि ने बताया कि प्रतियोगिता में इंदौर,भोपाल,नागपुर,जबलपुर, इटारसी, अकोला, अमरावती, होशंगाबाद, यवतमाल से टीम खेलने आ रही है। प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार 1 लाख रुपये एवं द्वितीय पुरस्कार 51 हजार रुपये है। पहला मैच पटवारी इलेवन और डीपी क्लब पटवाई इलेवन के बीच खेला गया। जिसमें पटवारी इलेवन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 91 रन बनाए। जिसके जवाब में बल्लेबाजी करते हुए डीपी क्लब 6 विकेट खोकर 71 रन ही बना सकी। पटवारी इलेवन की ओर से रवि ने शानदार 62 रनों की पारी खेली। डीपी क्लब की तरफ से शरद ने सर्वाधिक 22 रन बनाए। दूसरा मैच ताप्ती क्रिकेट क्लब और जय हो क्रिकेट क्लब आमला के बीच खेला गया। जिसमें ताप्ती क्रिकेट क्लब ने पहले बैटिंग करते हुए निर्धारित 10 ओवरों में 75 रन बनाए। जिसके जवाब में बैटिंग करने आई जय हो क्रिकेट क्लब आमला ने 8 ओवेरो में 5 विकेट खोकर 76 रन बनाकर मैच जीत लिया। । ताप्ती क्रिकेट क्लब की ओरसे बलराम चढोकार ने शानदार बोलिंग करते हुए 2 विकेट लिए। तीसरा मैच मल्हारा और आमला के बीच खेला गया, जिसमें आमला ने पहले बैटिंग करते हुए आकाश की आतिशी 55 रनों की मदद से 10 ओवरों में 126 रन बनाए। जिसके जवाब मलहारा 65 रन ही बना सकी। जय हो क्रिकेट क्लब के आकाश को नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष बंधु बारंगे, पूर्व पार्षद संतोष साहू और विजय बारंगे ने मैन ऑफ द मैच का मेडल प्रदान किया।

जवाहर नवोदय की प्रवेश परीक्षा में 1514 बच्चे नहीं पहुंचे


मुलतापी समचार। नवोदय की प्रवेश परीक्षा देते हुए स्कूली बच्चे।

बैतूल। जवाहर नवोदय विद्यालय की कक्षा 6 वीं में प्रवेश के लिए शनिवार को जिले के 31 केंद्रों पर प्रवेश परीक्षा आयोजित की गई। परीक्षा में 1514 अनुपस्थित रहे। परीक्षा के लिए ब्लॉक मुख्यालयों पर परीक्षा केन्द्र बनाए गए थे। इनमें बैतूल में 4, आमला में 5, भैंसदेही में 2, घोड़ाडोंगरी में 3, प्रभातपट्टन में 3, आठनेर में 2, भीमपुर में 2, चिचोली में 2, शाहपुर में 3 केंद्रों पर परीक्षा आयोजित की गई। इन केंद्रों पर 11367 बच्चों को परीक्षा में शामिल होना था, लेकिन 9853 बच्चे शामिल हुए। शेष 1514 बच्चे विभिन्ना कारणों से परीक्षा से अनपुस्थित रहे। सभी केंद्रों पर शांतिपूर्ण तरीके से परीक्षा आयोजित हुई। नवोदय स्कूल में प्रवेश पाने को लेकर बच्चों में खासा उत्साह था।

मुलतापी समाचार

शिक्षित होना पर्याप्त नहीं, व्यक्ति को अच्छे बुरे का ज्ञान भी जरुरीः नागर


भारत भारती आवासीय विद्यालय में जनजाति शिक्षा का संयोजक मंडल सम्मेलन आयोजित

बैतूल। कार्यक्रम में संबोधित करते हुए सचिव मोहन नागर। फोटो- नवदुनिया

बैतूल। सम्मेलन में उपस्थित संयोजक मंडल के सदस्य। फोटो- नवदुनिया

बैतूल। मुलतापी समाचार

भारत भारती आवासीय विद्यालय में विद्या भारती जनजाति शिक्षा का संयोजक मंडल सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन की अध्यक्षता योगेन्द्र उईके ने की। मुख्य अतिथि के रूप में जनजाति शिक्षा के क्षेत्र प्रमुख व भारत भारती शिक्षा समिति के सचिव मोहन नागर सम्मेलन में उपस्थित थे। श्री नागर ने अपने संबोधन में कहा कि व्यक्ति का केवल पढ़ा-लिखा होना, साक्षर होना ही काफी नहीं है। उसे अच्छे बुरे का ज्ञान होना अति आवश्यक है। युवा पीढ़ी का अपनी दिशा से भटकाव व्यक्ति, समाज और देश सभी के लिए घातक होता है। शिक्षा का उद्देश्य व्यक्ति को अच्छे-बुरे का भान कराकर अपने और राष्ट्र के भविष्य को समुन्नात बनाना होना चाहिए। जनजाति क्षेत्रों में संस्कार केन्द्र यही परमार्थ का कार्य कर रहे हैं। हमें ग्राम के विकास को सर्वोपरी मानकर आपसी सामन्जस्य बनाने का प्रयास करना होगा। सम्मेलन में जनजाति शिक्षा के जिला प्रमुख नागोराव सिरसाम, कार्यालय प्रमुख बाजीराम यादव, संस्कार केंद्रों के आचार्य तथा संयोजक मंडल के सदस्य सहभागी रहे। संजू कवडे ने अंत में आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन अनिल उईके ने किया।

यातायात नियमों के उल्लंघन : रेत माफिया के ट्रक पकडे मंत्री के कहने पर उड रही नींंद


Image result for रेत के ओवरलोड ट्रक"
रेत ले जाते हुए ट्रक की फाइल फोटो

 पीएचई मंत्री की मौजूदगी में प्रशासन ने एक रात में पकड़ा रेत का अवैध कारोबार, मात्र एक ट्रक में नहीं मिली रायल्टी

टेक्‍स की चोरी सौलह वाहनों में क्षमता से अधिक भरी है रेत

– प्रशासन की भूमिका पर उठ रहे सवाल, जिले की सीमा से हर दिन बेखौफ महाराष्ट्र तक दौड़ते हैं रेत के वाहन

बैतूल। मुलतापी समचार

जिले में रेत के अवैध कारोबार को प्रदेश के पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे ने अपनी मौजूदगी में प्रशासन से उजागर कराए जाने से खनिज माफिया में हड़कंप मचा हुआ है। बैतूल जिसे से हर दिन सैकड़ों वाहन रेत लेकर बेखौफ महाराष्ट्र जा रहे थे और प्रशासन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा था। पीएचई मंत्री के संज्ञान में जब यह मामला आया तो उन्होंने भोपाल से लौटते समय सड़क पर अपनी आंखों से क्षमता से अधिक रेत से भरे वाहनों को दौड़ते देखा। आधी रात में उन्होंने कलेक्टर और एसपी को कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इसके बाद प्रशासन और पुलिस का अमला सुबह तक रेत से भरे ट्रक-डंपरों को पकड़ने में जुटा रहा। 40 ट्रक, डंपर समेत एक ट्रैक्टर-ट्राली को पकड़कर जांच की गई। खनिज विभाग के माध्यम से की गई जांच में पाया गया कि सभी 40 वाहनों में वैध रायल्टी लेकर रेत का परिवहन किया जा रहा है। 16 वाहनों में क्षमता से अधिक रेत भरी पाई गई जबकि एक ट्रक और एक ट्रैक्टर-ट्रॉली बिना रायल्टी के रेत का परिवहन करते पाया गया। जिला खनिज अधिकारी शशांक शुक्ला ने बताया किपकड़े गए डंपर-ट्रकों में से 40 के पास होशंगाबाद जिले के काला आखर और बैतूल जिले के मालवर खदान की रायल्टी पाई गई है। खनिज नियमों का उल्लंघन करते पाए गए 16 वाहनों के खिलाफ खनिज अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर न्यायालय कलेक्टर के समक्ष प्रस्तुत किए जाएंगे।

पुलिस और परिवहन विभाग कर रहा जांचः गुरूवार की रात में पकड़े गए ट्रक और डंपरों के दस्तावेजों की जांच परिवहन विभाग और यातायात पुलिस के द्वारा की जा रही है। परिवहन विभाग के द्वारा शुरू की गई छानबीन में एक डंपर पर डेढ़ लाख रूपए का परिवहन शुल्क बकाया पाया गया है। सभी के दस्तावेज जांच के लिए खनिज विभाग से मांगे गए हैं और उसके बाद ही परिवहन विभाग द्वारा कार्रवाई की जाएगी। इधर यातायात पुलिस भी दस्तावेजों और वाहनों की जांच कर यातायात नियमों के उल्लंघन पाए जाने की दशा में कार्रवाई करेगी।

मुलतापी समाचार न्‍यूज नेटवर्क