सागर / सेना का पुराना बम हथौड़े से तोड़ते समय फटा, कबाड़ में खरिदा था बम, एक की मौत, चाचा-भतीजे गंभीर


बम फटने से मजदूर बैजनाथ अहिरवार की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।
बम फटने से मजदूर बैजनाथ अहिरवार की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

सेना की फायरिंग रेंज से उठाकर लाया गया था बम, कबाड़ी ने लिया था खरीद

दोपहर दो बजे हुआ हादसा, दुकान मालिक चाचा-भतीजे की हालत गंभीर

सागर। मकरोनिया के आनंद नगर में दोपहर कबाड़ की दुकान पर सेना का पुराना बम हथौड़े से तोड़ते समय फट गया। हादसे में एक की मौत और दो लोगों के गंभीर घायल होने की सूचना है। सेना के वरिष्ठ अधिकारियों सहित भारी पुलिसबल मौके पर पहुंच गया है।

प्रारंभिक जानकारी के अनुसार दोपहर दो बजे ये हादसा हुआ। मकरोनिया के आनंद नगर में पप्पू साहू की कबाड़ की दुकान में एक पुराना बम हथौड़े से तोड़ा जा रहा था। इसी दौरान विस्फोट हो गया। घटना में मजदूर बैजनाथ अहिरवार के चिथड़े उड़ गए। कबाड़ दुकान के मालिक पप्पू साहू और उनका भतीजा मनोज साहू गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना के बाद पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, बीडीएस की टीम और सेना पुलिस मौके पर पहुंची। यह बम सेना की फायर रेंज के आसपास से मिलने की जानकारी आ रही है। कोई इसे कबाड़ की दुकान में बेच गया था। 

छतरपुर / हाथ की कलाई में लिपटी जंजीर को भैंस ने जोर से खींचााा, जंजीर सहित पंजा हाथ से अलग


घायल युवक को ले जाते परिजन।
घायल युवक को ले जाते परिजन।
घटना जिले के ईशानगर के डिगौली गांव की, रविवार सुबह की घटनाभैंसों को दुहने से पहले पानी पिलाने के लिए जंजीर खोलते वक्त घटना

Multapi samachar News Network

छतरपुर. भैंस की वजह से एक व्यक्ति के हाथ कटने का मामला सामने आया है। जिसमें उसका हाथ उसके शरीर से बिलकुल अलग हो गया है। युवक को गंभीर हालत में जिला अस्पताल लाया गया जहां उसका प्राथमिक उपचार कर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है। घटना जिले के ईशानगर के डिगौली गांव की है। 

रविवार को रोज की तरह देवेंद्र कुशवाहा सुबह से जंजीरों से बंधी भैंसों को पानी पिलाने खोल रहा था। इसी दौरान प्यास से व्याकुल एक भैंस को खोलकर जैसे ही ले जाने को हुआ तो देवेंद्र की हाथ की कलाई में लिपटी जंजीर को भैंस ने जोर से खींच दिया और पानी की ओर भागी, जिससे कि उसका पंजा जंजीर के साथ खिंचकर हाथ से अलग हो गया और जमीन पर जा गिरा।

घबराकर वह जोर से चिल्लाया और इस बीच घर के लोग आ गए तो नजारा देख स्तब्ध रह गए। खून से लहूलुहान देवेन्द और उसके कटे पंजे को लेकर जिला अस्पताल लेकर आए। यहां उसका ऑपरेशन कर रेफर कर दिया गया है।

शहडोल: जिला अस्‍पताल में घंटों में छ: नवजात बच्‍चों की मौत के मामले में CMHO और सिविल सर्जन को हटाया


शहडोल:6 नवजात की मौत मामले में CMHO और सिविल सर्जन को हटाया गया

राजस्‍थान के बाद म.प्र. में शुरू बच्‍चौ की मौत

मुलतापी समाचार न्‍यूज नेटवर्क

शहडोल (Shahdol) में 12 घंटे के अंदर 6 नवजात बच्चों की मौत मामले में अस्पताल(Hospital) सीएमएचओ(CMHO) डॉ. राजेश पांडेय और डॉ. उमेश नामदेव (Dr. Umesh Namdev) को हटा दिया गया है। ये कार्रवाई 24 घंटे के अंदर बुधवार को स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट(Health Minister Tulsi Silavat) के निर्देश पर की गई। उन्होंने शहडोल कमिश्नर को दोनों जिम्मेदार डॉक्टरों को कार्यमुक्त करने निर्देश दिए थे। इस मामले को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने संज्ञान में लिया था और स्वास्थ्य मंत्री को शहडोल जाकर मृतक बच्चों के परिजनों से मिलने और मामले की जांच के निर्देश दिए थे। इसके बाद मंत्री सिलावट ने जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। इस दौरान मरीजों ने स्वास्थ्य मंत्री से अस्पताल की अव्यवस्थाओं की शिकायतें भी की। उन्होंने मामले की जांच कराने का आश्वासन भी दिया। सिलावट ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि मामला दुखद है, जांच की घोषणा कर दी गई है, जो भी दोषी पाए जाएंगे उन्हें दंडित किया जाएगा। फिलहाल सीएमएचओ और सिविल सर्जन को कार्यमुक्त करने के निर्देश दिए गए हैं। राज्य सरकार इस मामले को लेकर गंभीर हैं, इसलिए अब तक यहां तीन-तीन मंत्री आ चुके हैं।

मुलतापी से ताप्‍ती दर्शन यात्रा का प्रारंभ, उद्गम स्थल मुलताई से समागम स्थल के दर्शन यात्रा, चुनरी परक्रिमा लगाते हुए भक्‍तों के संग रमें मंत्री पांसे जी


एक हजार किमी लंबी ताप्ती दर्शन पदयात्रा

ताप्‍ती दर्शन यात्रा का प्रारंभ यात्रा में शामिल मंत्री पांसे जी

पीएचई मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने पूजा-अर्चना कर किया 34 दिवसीय मां ताप्ती दर्शन पदयात्रा का शुभारंभ

मां ताप्ती के जयकारों से गूंजी पवित्र मुलताई नगरी

मुलतापी समाचार

मनमोहन पंवार

     मध्यप्रदेश के बैतूल में मकर संक्रांति के मौके पर एक हजार किलोमीटर लंबी ताप्ती दर्शन पद यात्रा की शुरुआत की गई. यह यात्रा सूर्यपुत्री कहलाने वाली मां ताप्ती नदी के उद्गम स्थल मुलताई से लेकर अंतिम छौर समागम स्थल सूरत तक जाएगी.

यह यात्रा 34 दिनों तक मां ताप्ती दर्शन पदयात्रा का मकर संक्रांति के अवसर पर बुधवार को लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने पूजा-अर्चना कर शुभारंभ किया। यह 34 दिवसीय यात्रा 78 पड़ावों को पार करते हुए मां ताप्ती के समागम स्थल गुजरात के सूरत में समुद्र किनारे पर 17 फरवरी को समाप्त होगी। शुभारंभ अवसर पर सेवानिवृत्त भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी डीएस राय, एसडीएम सीएल चनाप सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में धर्मप्रेमी पदयात्री मौजूद थे।

       इस यात्रा के रवाना होने के पहले मां ताप्ती मंदिर में श्री पांसे और श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना की। इसके बाद चुनरी यात्रा के साथ ताप्ती सरोवर की परिक्रमा की गई। यात्रा शुभारंभ के दौरान श्री पांसे धर्मध्वजा उठाकर चले और जयकारों के बीच यात्रा शहर से रवाना हुई। स्थानीय निवासियों ने यात्रा का कई जगह स्वागत किया। इस  मौके पर मंत्री सुखदेव ने सभी पदयात्रियों को यात्रा की हार्दिक बधाई दी। उन्होंने प्रदेशवासियों की सुख-समृद्धि एवं उन्नति की भी कामना की। इस मौके पर सेवानिवृत्त भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी डी एस राय, एसडीएम सी एल चनाप सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में पदयात्री मौजूद रहे।

MP: बैतूल में मकर संक्रांति पर शुरू हुई एक हजार किमी लंबी ताप्ती दर्शन पदयात्रा
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री सुखदेव पांसे ने पूजा-अर्चना के साथ ताप्ती दर्शन यात्रा का शुभारंभ किया.

दमोह:बनवार- बुआ-भतीजा का प्रेम चढा परवान, परिजनों ने शादी से किया एतराज, प्रेमी युगल के द्वारा की गई आत्महत्या है या मडर ? इसका पता नही लगा पाई पुलिस


15 दिनाेें तक सौंती रहीं दमोह पुलिस लापता की याचिका पर नहींं की कार्यवाही। जिसके कारण नहींं बच पाई जान

रविवार की शाम को जंगल में फंदे से लटके मिले थे दोनों के शव।
रविवार की शाम को जंगल में फंदे से लटके मिले थे दोनों के शव।

मृतक युवक के पास मिले मोबाइल से हुई दोनों की शिनाख्त युवती के लापता होने पर में दर्ज कराई थी गुम इंसान की रिपोर्ट

Multapi Samachar

दमोह/बनवार। जिले के हिंडोरिया थाना क्षेत्र के जंगल में पेड़ पर लटके मिले प्रेमी जोड़े की सोमवार को पुलिस ने शिनाख्त कर दी। कथित प्रेमी जोड़े का आपस में बुआ-भतीजे का रिश्ता है। दोनों ने फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली थी। इस मामले को लेकर दोनों के परिवारों में फूट भी पड़ गई थी। शिनाख्त होने के बाद दोनों शव जिला मुख्यालय पर पोस्टमार्टम के लिए अलग-अलग ट्रॉली में लाए गए। यहां पर भी पोस्टमार्टम कराने में विवाद की स्थिति बनी।

जानकारी के अनुसार हिंडोरिया नगर के निवासी हीरा लाल सेन 21 का कई माह से रिश्ते में अपनी बुआ रेशु 19 वर्ष से प्रेम-प्रसंग चल रहा था। परिजनों को इसकी भनक हो गई थी और परिजन इस रिश्ते के खिलाफ थे और इसको लेकर घर में विवाद भी चल रहा था। यहां तक कि दोनों के रिश्ते की वजह से परिवारों में भी दरार आ गईं थीं। जब परिवार मंजूर नहीं हुए तो प्रेमी युगल ने एक साथ मरने का फैसला कर लिया।

29 दिसंबर को प्रेमी युगल अपने-अपने घर से भागे और इस बीच दोनों का कोई पता नहीं चला। प्रेमिका रेशु के परिजनों ने हिंडोरिया थाने में 29 दिसंबर को गुम इंसान की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। वहीं पुलिस के द्वारा गुम इंसान कायमी के बाद युवती की तलाश की जा रही थी, इसी बीच पुलिस को रविवार 12 जनवरी की शाम नोनपानी के जंगल की खाई में एक पेड़ की दो डालियों से फांसी के फंदे से प्रेमी युगल के शव लटकने की सूचना मिली थी।

सोमवार की सुबह हिंडोरिया थाना प्रभारी सतेंद्र सिंह राजपूत व एफएसएल टीम की डॉ. किरण सिंह घटना स्थल पहुंचे। इस दौरान मृतक युवक के पास मिले मोबाइल से शवों की शिनाख्त हुई। शवों की स्थिति को देखकर 15 दिन पहले फांसी लगाकर आत्महत्या करने की आशंका व्यक्त की जा रही है। पुलिस ने बताया कि प्रथम दृष्टि में प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल द्वारा आत्महत्या करने का मामला प्रतीत हो रहा है, लेकिन प्रेमी युगल के द्वारा की गई आत्महत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए पुलिस जांच में जुटी हुई है।

हिंडोरिया थाना प्रभारी सतेंद्र सिंह राजपूत का कहना है नोनपानी के जंगल में मिले शवों को पेड़ से उतारकर उनकी शिनाख्त की गई है। मृतक लड़के हीरालाल सेन के पास मिले मोबाइल से प्रेमी युगल की शिनाख्त हुई। दोनों प्रेमी युगल हिंडोरिया के निवासी हैं। जिसमें से मृतिका रेशु सेन की 29 दिसंबर को हिंडोरिया थाने में गुम इंसान कायम है। शवों के पंचनामे की कार्रवाई करते हुए मर्ग कायम कर शवों का पीएम करवाने के लिए भेजा गया है। मामले को विवेचना में लिया गया है।

पोस्टमार्टम के दौरान विवाद की स्थिति बनी
हिंडोरिया से हीरालाल और रेशु के शव दमोह के पोस्ट मार्टम गृह लाए गए। दोनों के शव अलग-अलग ट्रॉली में रखकर परिजन यहां पहुंचे। इस बीच पोस्ट मार्टम कराने के दौरान रुपए मांगने को लेकर परिजनों में कहासुनी हो गई। एक पक्ष से दोनों के पोस्टमार्टम कराने को लेकर एक हजार रुपए ले लिए गए, जबकि दूसरे पक्ष से राशि नहीं ली गई, इस पर विवाद की स्थिति बन गई, बाद में कुछ लोगों ने हस्तक्षेप करके मामला शांत कराया। रामकुमार सेन ने बताया कि पोस्ट मार्टम के लिए स्वीपर ने रुपए मांगे, एक पक्ष से ही पूरे पैसे ले लिए, जबकि दोनों पक्ष से रुपए लेने थे, हालांकि इस बीच लोगों ने मामला शांत करा दिया और पोस्ट मार्टम कराकर परिजन अलग-अलग ट्रॉली में शव रखकर ले गए।

मुलतापी समाचार न्‍युज नेटवर्क

सागर : तीस लाख फिरौती न देने पर किसान के बेटे की हत्या का मामला गरमाया; नेता प्रतिपक्ष ने कहा- मध्यप्रदेश बच्चों के अपहरण में अव्वल


बच्चे की सिर कुचलकर कर दी गई हत्या। घर के पास ही मिला शव।
बच्चे की सिर कुचलकर कर दी गई हत्या। घर के पास ही मिला शव।
सागर के सानौधा (खड़ेराभान) में 30 घंटे बाद बेटे की सिर कुचलकर हत्या कर दी 3 बदमाशों ने 13 साल के अनिकेत को अगवा कर फिरौती मांग रहे थे परिजन थाने में शिकायत की और अंजाम बैटे से हाथ धौना पडा पुलिस नहीं कर पाई मदद

सागर मुलतापी समाचार. सानौधा थाना क्षेत्र के खड़ेराभान गांव के अनिकेत को तीन बदमाशों ने अगवा कर लिया था। परिजन थाने में शिकायत करने गए तो 30 घंटे बाद बच्चे का शव मिलने की जानकारी मिली। इस मामले में बुधवार को भी पुलिस संदिग्धों की तलाश कर रही है, हालांकि किसी को अब तक गिरफ्तार नहीं किया गया है। फिरौती के 30 लाख रुपए नहीं मिलने पर हत्या का मामला गरमाया गया है। बुधवार को विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने घटना पर दुख जताया। उन्होंने कहा- गरीब माँ-बाप जब फिरौती की रकम नहीं दे पाते तो मासूमों की हत्या कर दी जाती है।

पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने गांव पहुंचकर घटना की जानकारी ली। उन्होंने बताया कि आरोपियों की तलाश में पुलिस टीम भेजी गई है। कॉल डिटेल्स के आधार पर आरोपियों के बारे में कुछ जानकारी मिली है। वारदात में 3 लोगों के नाम सामने आ रहे हैं जो कि पास के ही गांव के रहने वाले हैं। आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर तलाश की जा रही है। फिरौती मांगे जाने के संबंध में कुछ बिंदुओं पर जांच की जा रही है। 
 

घटना को लेकर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा- 
 Gopal Bhargava (Leader of Opposition)@bhargav_gopal

सागर जिले के 2 बच्चों का कुछ दिन पहले अपहरण हो गया था,मंगलवार रात को 1 नाबालिक की लाश मिली। शासन और पुलिस प्रशासन के उदासीनता की कीमत कर्ज के बोझ तले किसान को अपने बेटे की मौत से चुकानी पड़ी। @OfficeOfKNath सरकार के 1 साल में ही मध्यप्रदेश बच्चों के अपहरण में अव्वल हो गया है।163Twitter Ads की जानकारी और गोपनीयता29 लोग इस बारे में बात कर रहे हैं

फुल्की खाने गया तभी कर लिया अगवा
खड़ेराभान निवासी सुरेश लोधी का बेटा अनिकेत सोमवार की शाम करीब 7 बजे घर के पास ही दुकान पर फुल्की खाने के लिए गया था। जब वहां से लौटकर नहीं आया तो परिजन उसे आसपास तलाशते रहे। इसके बाद अनिकेत के बड़े भाई के फोन पर एक कॉल आया। फोन करने वाले ने बताया कि अनिकेत उसके कब्जे में है। 30 लाख रुपए की मांग पूरी की जाए। भाई ने आरोपियों की बात अपने पिता से कराई। पिता ने आरोपियों का नाम पूछा तो उन्होंने फोन काट दिया। इसके बाद परिजन रिपोर्ट लिखाने के लिए सानौधा थाने पहुंचे। अनिकेत परसोरिया की प्राइवेट स्कूल में कक्षा 8 वीं में पढ़ता था।


पिता के पास सिर्फ दो एकड़ जमीन 
सुरेश की दो एकड़ जमीन है। इसी जमीन पर खेती-किसानी कर परिवार चलाता है। सुरेश के तीन लड़के और तीन लड़कियां हैं। 

नरसिंहपुर : नर्मदा में स्नान करने गए एक ही परिवार के 5 बच्चे डूबे; 3 को बचाया, 2 बच्चे लापता


नरसिंहपुर में नर्मदा नदी में डूबे 5 बच्चों में 3 को बचा लिया गया।
नरसिंहपुर में नर्मदा नदी में डूबे 5 बच्चों में 3 को बचा लिया गया।

नरसिंहपुर के गाडरवारा क्षेत्र की घटना, गोताखोरों की मदद से लापता बच्चों की तलाश की जा रहीगोताखोरों को मौके पर पहुंचने में 2 घंटे लगे, स्थानीय लोगों ने भी बच्चों की तलाश की, नहीं मिले

नरसिंहपुर मुलतापी समाचार  गाडरवारा क्षेत्र में नर्मदा नदी में मकर संक्रांति पर स्नान करने गए एक ही परिवार के 5 बच्चे डूब गए, जिनमें 3 को बचा लिया गया और 2 लापता हैं। पुलिस ने गोताखोरों की मदद से बच्चों की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस के मुताबिक, गाडरगारा क्षेत्र भौरझिर गांव के समीप नर्मदा नदी के लिंगा घाट पर चार लड़के-लड़कियां स्नान करने गए थे। नदी में पानी गहरा होने की वजह से वह नीचे चले गए और डूबने लगे। घाट पर स्नान कर रहे दूसरे लोगों ने डूबते 3 बच्चों को किसी तरह से बचा लिया, लेकिन एक लड़का अभिराव कौरव (19) और लड़की रितु (8) डूब गईं, जिनका पता नहीं चल सका है। पांचों बच्चे एक ही परिवार के बताए गए हैं। दोनों बच्चों की तलाश के लिए गोताखोरों की मदद ली गई है। सभी बच्चे भौरझिर गांव के रहने वाले हैं।

घटना की सूचना मिलने पर गाडरवारा से पुलिस और अधिकारियों का दल मौके पर पहुंच गया है। इसके पहले सूचना देने के दो घंटे बाद गोताखोर मौके पर पहुंच सके, जिससे लापता बच्चों की खोजबीन में भी देरी हुई। हालांकि स्थानीय लोगों ने अपने स्तर पर बच्चों को तलाशने की कोशिश की।

दारू के नशे में धुत्त बाइक सवार गिरे, पति-पत्नी गंभीर चोट


मुलताई। मुलतापी समाचार

दुनावा रोड पर ग्राम लेंदागोदीं के पास एक बाइक स्लिप होने से उस पर सवार पति-पत्नी बुरी तरह से घायल हो गए। बताया जा रहा है कि बाइक चालक शराब के नशे में धुत्त होने से हादसा हुआ। सूचना मिलने पर घायलों को तत्काल एनएच 347 एंबुलेंस द्वारा मुलताई के सरकारी अस्पताल लाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद घायलों को जिला अस्पताल रेफर किया गया। एंबुलेंस के पायलट छोटेङ्क्षसह रघुवंशी, सीताराम तथा महेश पंवार ने बताया कि सूचना पर जब वे एंबुलेंस लेकर घटनास्थल पर पहुंचे तो दुनावा निवासी सिवेश मोहनलाल पंवार 35 वर्ष तथा उनकी पत्नी पुष्पा घायल पड़े हुए थे। सिवेश नशे में धुत्त था, जिससे बाइक फिसलने से उक्त हादसा हुआ। अस्पताल में चिकित्सक ने बताया कि सिवेश के चेहरे पर चोट आई है वहीं उनकी पत्नी पुष्पा को गंभीर चोट आई है।

राष्ट्रीय टेनिस स्पर्धा में बैतूल के खिलाड़ियों ने फिर लहराया परचम


बैतूल। मुलतापी समाचार

राष्ट्रीय टेनिस स्पर्धा में नागपुर के सीपी क्लब में आयोजित महाराष्ट्र स्टेट लॉन टेनिस एसोसिएशन के तत्वावधान में आयोजित मुंबई, अमदाबाद, पुना, हैदराबाद, देहरादून, इंदौर, औरांगाबाद, अमरावती, छिंदवाड़ा और बैतूल समेत लगभग 20 शहरों के खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। जिसमें पिछले वर्ष गोंडवाना क्लब की विजेता जोड़ी मोहित गर्ग और गिरीश गर्ग की जोड़ी फाइनल में पहुंची। इंदौर के खिलाड़ी अनुपम वर्मा एवं प्रदीप गौर की जोड़ी के साथ अत्यंत संघर्षपूर्ण मुकाबले में 6-6 की बराबरी पर मैच को बीच में ही छोड़ना पड़ा।

चूंकि बैतूल की जोड़ी के खिलाड़ी मोहित गर्ग को ग्वालियर में आयोजित अंतरराष्ट्रीय टेनिस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने जाना था। टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला जो कि लगभग 5 बजे संपन्ना होना था और अपरिहार्य कारणों से लगभग 3 घंटे विलंब हुआ और मैच को बीच में ही छोड़ने के कारण इंदौर की जोड़ी को विजेता घोषित किया गया। बैतूल की ओर से अन्य खिलाड़ियों में अनिल वर्मा, आलोक वर्मा, रोहित देशपांडे, देवेंद्र परिहार, पुनीत खंडेलवाल, सोनू बग्गा एवं मनोज बतरा ने भी शानदार प्रदर्शन किया और अपने शुरूआती मुकाबले जीते। बैतूल के खिलाड़ियों की सफलता में खेलप्रेमियों ने बधाई प्रेषित की है।

रात में खेत जा रहे किसान पर भालू ने किया हमला, घायल


Image result for भालू का खेत जाते समय हमला

शाहपुर। मुलतापी समाचार

तहसील के मूढा क्षेत्र में एक जंगली रीछ (भालू) ने हमला कर एक ग्रामीण आदिवासी किसान को गंभीर रूप से घायल कर दिया। उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर किया गया है। जहां उसके सिर, हाथ और चेहरे पर चोटें आई हैं। घायल ग्रामीण की पहचान ओंकार पिता रामकिसन इवने निवासी मूढा के ग्राम टेटर के रूप में हुई है। बीती रात 8 बजे ओंकार अपने घर से खेत की रखवाली करने जा रहा था। तभी अचानक जंगली रीछ ने उन पर हमला कर दिया। ओंकार ने बताया कि उसने रीछ का एक पैर पकड़े रखा था रीछ एक पैर के नाखूनों से वार कर रहा था। पैर छोड़ने के बाद रीछ भाग गया। जिसकी सूचना ओंकार ने घर जाकर दी। इसके बाद परिजनों ने 108 एंबुलेंस को सूचना दी।