आतंकवाद को निष्क्रिय करने साधना अनुष्ठान करेगा गायत्री परिवार ….. मुलतापी समाचार दमोह


बसंत पंचमी 30 जनवरी से फाल्गुन पूर्णिमा 10 मार्च तक गायत्री परिवार प्रखर साधना अनुष्ठान करेगा l 40 दिवसीय साधना में शामिल साधक 33 माला प्रतिदिन जप के हिसाब से सवा लाख गायत्री मंत्र जप का अनुष्ठान संपन्न करेंगे! नवसृजन की गतिविधियों को शक्ति योग एवं संरक्षण प्रदान करने के लिए बसंत पर्व का संदेश लेकर शांतिकुंज हरिद्वार से पंडित श्याम बिहारी दुबे पधार रहे हैं! जो साधना से संबंधित निर्देश एवं मार्गदर्शन साधकों को देंगे! साधना के साथ उपासना, आराधना ,अंशदान, चिंतन .मौन साधना. यज्ञ एवं स्वाध्याय जैसे आत्म शोधन क क्रम भी अपनाए जाएंगेl गायत्री परिवार के व्यवस्थापक पंकज हर्ष श्रीवास्तव ने बताया गुरुदेव के अनुसार एक साथ 24 करोड़ गायत्री मंत्र जप तथा एक करोड़ यज्ञ अनुष्ठान किसी भी परमाणु बम की शक्ति को निष्क्रिय कर सकते हैं l अतः गायत्री मंत्र से एक ब्रह्मास्त्र निर्माण का अनुष्ठान प्रारंभ किया जा रहा हैl

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता/सहायिकाओं के रिक्त पदों की पूर्ति हेतु आवेदन आमंत्रित


बैतूल : जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास श्री बीएल विश्नोई से प्राप्त जानकारी के अनुसार महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता/सहायिकाओं के पूर्णत: अस्थाई एवं मानदेय आधारित पदों के लिए पात्र महिला अभ्यर्थियों से रिक्त पदों की पूर्ति हेतु 10 फरवरी 2020 तक आवेदन आमंत्रित किये गये हैं।

श्री विश्नोई ने बताया कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के पद हेतु परियोजना आमला की आंगनबाड़ी लिखड़ी-1, बैतूल ग्रामीण की आंगनबाड़ी सेहरा-1, दीवानचारसी-2 एवं गजपुर, भैंसदेही की आंगनबाड़ी एडापुर एवं माजरवानी-2, भीमपुर की आंगनबाड़ी खामढाना, कारिदा स्कूल ढाना, हरदादू, बकईखेड़ा, थाना ढाना (खामापुर), पोतला एवं भांडवाकोल, चिचोली की आंगनबाड़ी चूनाहजूरी-2, परियोजना घोड़ाडोंगरी की आंगनबाड़ी केरिया के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।

इसी प्रकार आंगनबाड़ी सहायिका के पद हेतु परियोजना घोड़ाडोंगरी की सलैया-2 एवं छतरपुर-1, आमला की आंगनबाड़ी कनौजिया-2, बढ़ाईचाल, हसलपुर एवं चोपना, आठनेर की आंगनबाड़ी लालखेड़ी एवं पाठादा-1, बैतूल ग्रामीण की आंगनबाड़ी डूडाबोरगांव-1, मरामझिरी, कुम्हली एवं गाड़वा, भैंसदेही की आंगनबाड़ी लायवानी-1, भीमपुर की आंगनबाड़ी केकडिय़ा कला, लोहारढाना (लक्कडज़ाम), वनग्राम बुचाखेड़ा, बेहड़ा वनग्राम-1 एवं मानकदंड, घोड़ाडोंगरी की आंगनबाड़ी भंडारपानी, बंजारीढाल-1, झाडक़ुण्ड-1 एवं बादलपुर-1, प्रभातपट्टन की आंगनबाड़ी अजाबगढ़ एवं इंदिरा कॉलोनी अमरावतीघाट-3 तथा परियोजना शाहपुर की आंगनबाड़ी दौड़ी-1 के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।

श्री विश्नोई ने बताया कि आंगनबाड़ी केन्द्रों की नामवार सूची एवं नियम-निर्देश, आवेदन का प्रारूप एवं अन्य अर्हताएं संबंधित एकीकृत बाल विकास परियोजना कार्यालय से प्राप्त की जा सकती है। जिस ग्राम/वार्ड में रिक्त पद की पूर्ति हेतु विज्ञप्ति जारी की गई है, आवेदिका ग्रामीण क्षेत्र में उसी राजस्व ग्राम, शहरी क्षेत्र में उसी वार्ड की निवासी होना चाहिए। संबंधित महिला आवेदक अपने पूर्णत: भरे आवेदन पत्र एवं आवश्यक सहपत्रों सहित संबंधित एकीकृत बाल विकास परियोजना कार्यालय में कार्यालयीन दिवस एवं समय में 10 फरवरी 2020 तक जमा कराकर निर्धारित प्रारूप में प्राप्ति अभिस्वीकृति प्राप्त कर सकते हैं।

शिवा पवार मुलतापी समाचार

Pawar building construction betul

माँ रेणुका पब्लिक स्कूल द्वारा मनाया गया वार्षिकोत्सव


बैतूल: बिसनूर के माँ रेणुका पब्लिक स्कूल स्कूल में वार्षिकोत्सव मनाया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में श्री नीरज कुमार गलफट एव संस्था संचालक श्री रवि देशमुख सहित शिक्षक, छात्र -छात्राएँ एवं अभिभावक मौजूद थे। कार्यक्रम में विद्यार्थियों ने गीत, नृत्य सहित विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियां पेश की।

कार्यक्रम मे छोटे- छोटे बच्चो द्वारा मनमोहक प्रस्तुतियां दी गई

अन्त में विद्यालय मे पिछले वर्ष मे विभिन्न कक्षाओं मे प्रथम द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र छात्राओं को स्मृति चिह्न दिया

शिवा पवार मुलतापी समाचार

नगर के राजा भोज शिक्षा महाविद्यालय जामठी में राजा भोज जयंती मनायी


राजा भोज शिक्षा महाविद्यालय जामठी बैतूल

बैतूल : नगर के जामठी स्थित राजा भोज शिक्षा महाविद्यालय में आज राजा भोज जयंती का आयोजन किया गया

सर्वप्रथम मुख्य अतिथि ने माता सरस्वती एव राजा भोज की प्रतिमा के आगे दीप जलाकर कार्यक्रम की शुरुआत की।

इस अवसर पर विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

मुख्यातिथि श्री नीरज कुमार गलफट एव श्री राजु एस पवार ने पिछले वर्ष मे प्रथम स्थान प्राप्त विद्यार्थीयो को स्मृति चिह्न तथा प्रमाण पत्र देते हुए कहा कि आज प्रतिस्पर्धा का युग है। इसलिए छात्रों को कड़ी मेहनत के साथ पढ़ाई करने की सीख दी।

प्राचार्य श्रीमती एस. गलफट ने कहा हमारे विद्यालय मे प्रतिवर्ष राजा भोज जयंती का आयोजन धूमधाम से किया जाता है

शिवा पवार मुलतापी समाचार

दमोह: आज जिला अस्पताल का जायजा लेने के लिए आएगी कायाकल्प की टीम.                       मुलतापी समाचार दमोह


दमोह: जिला अस्पताल का जायजा लेने के लिए 1 फरवरी को कायाकल्प की टीम दमोह आएगी l टीम के निरीक्षण के पहले शुक्रवार को दीवारों की  पुताई कराई गई l वही सभी जगह साफ सफाई कराई गई एवं व्यवस्थाएं ठीक कराई गई l खाली पड़ी जगह पर पेवर ब्लॉक लगाकर पौधे लगाए गए l.

टीम के निरीक्षण के संबंध में सिविल सर्जन डॉ ममता तिमोरी द्वारा सभी वार्ड इंचार्ज को पत्र लिखकर कहा है कि 1 फरवरी को कायाकल्प टीम का जिला अस्पताल का निरीक्षण कार्यक्रम प्रस्तावित है, सभी वार्ड भवन व परिसर में साफ-सफाई एवं सुरक्षा व्यवस्था की जाए एवं सभी कर्मचारी निर्धारित समय पर गणवेश में उपस्थित रहेl

डेकोरेशन का दिखावा नहीं, मंत्र उपचार के साथ होना चाहिए शादी: श्याम बिहारी.                                 मुलतापी समाचार दमोह


      

दमोह- गायत्री परिवार के अंतरराष्ट्रीय प्रवक्ता श्याम बिहारी दुबे शुक्रवार को दमोह पहुंचे l जहां पर उन्होंने सादगी पूर्ण तरीके से गायत्री मंत्रउपचार से वर -वधु की शादी कराई! इस मौके पर उन्होंने कहा वर्तमान में शादी समारोह दिखावा  बन गए  हैं l  शादी समारोह  के डेकोरेशन एवं तरह-तरह के दिखावा के चक्कर में लोग अपने पूरे जीवन की कमाई पानी की तरह बर्बाद कर देते हैं l इस तरह की शादियों में जो फिजूल खर्च होता है, उससे अच्छा  शादियां हिंदू रीति – रिवाज के अनुसार दिन में ही संपन्न हो l उन्होंने कहा कि   हमारी संस्कृति में शादियां दिखावा नहीं बल्कि सादगी पूर्ण तरीके से होना चाहिए l इस बात का हमें अपने पुराणों  पर गर्व करना चाहिएl भगवान शिव एवं माता पार्वती, श्री राम – जानकी की शादी सादगी से हुई थीl

उन्होंने कहा कि सुख शांति के लिए सही विधि विधान से यदि शादी संपन्न नहीं होती है तो कई परिवारों में खटास आ जाती है l पति – पत्नी में आए दिन झगड़े होते हैं ,क्योंकि यह बंधन मामूली बंधन नहीं है सात जन्मों का बंधन है! उन्होंने कहा कि 16 संस्कारों में से एक विवाह संस्कार भी है! जो सबसे महत्वपूर्ण है! आज विश्व में हमारे गायत्री परिवार में जो शादियां कराई जाती हैं वह विधि विधान मंत्रउपचार के द्वारा कराई जाती हैं !इस दौरान उन्होंने वर-वधू मृदुल हर्ष एवं अंकिता श्रीवास्तव को आशीर्वाद दिया!कार्यक्रम में गायत्री परिवार से बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे!

पर्यावरण की खातिर: अब गोबर से बनी लकड़ी से होगा अंतिम संस्कार   मुलतापी समाचार सागर


सागर- शहर में मुक्तिधाम में अब  गोवर से बनी लकड़ी से अंतिम संस्कार किया जाएगा l इसके लिए निगम प्रशासन ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं और यहां प्लांट लगाने का काम किया जा रहा है!अभी तक अंतिम संस्कार लकड़ी से किया जाता था इससे पर्यावरण को भी नुकसान  पहुंचता था और काफी मात्रा में लकड़ीया काटी जाती थी लेकिन अब इंदौर भोपाल नागपुर ग्वालियर की तर्ज पर सागर में भी गोबर से बनी लकड़ी से मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार होंगे! नगर निगम ने नरयावली नाका मुक्तिधाम में  मशीनें लगाकर निर्माण प्रारंभ किया है संभाग में अपनी तरह का यह पहला प्लांट है इससे  जलाऊ लकड़ी की खपत कम होगी और पेड़ों व पर्यावरण का संरक्षण भी होगा शहर के अंदर खुली डेरियों और इनसे रोजाना निकलने वाले गोबर के कारण शहर में जहां-तहां गोबर के अंबार लगे रहते हैं वही श्मशान घाट में हर महीने हजारों कुंटल लकड़ी अंतिम संस्कार में लगती है नगर निगम ने इन दोनों समस्याओं से निपटने के लिए गोबर की लकड़ी का निर्माण  करने का निर्णय लिया हैl

मुक्तिधाम में लगी दो मशीनें

अधिकारियों ने बताया कि  शहर की डेयरियों से निकलने वाला गोबर  प्लांट तक पहुंचाया जा रहा है l दो मशीनें नरयावली नाका मुक्तिधाम में लगाकर  गोबर की लकड़ी का निर्माण प्रारंभ कराया है l हालांकि यह अभी प्रारंभिक स्तर पर है लेकिन अगले 2 महीने में अंतिम संस्कार के लिए यहां पर  लकड़ी उपलब्ध होगी सामान्य लकड़ी की कीमत करीब ₹600 कुंटल है जबकि एक कुंटल गोबर से बनी लकड़ी करीब ₹400 में उपलब्ध होगी अधिकारियों ने बताया कि भविष्य में होलिका दहन एवं होटलों में भी गोबर से बनी लकड़ी का प्रयोग किया जाएगा इससे पर्यावरण संरक्षित रहेगा और लोगों को भी राहत मिलेगीl

स्वस्थ्य मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालयभारत सरकार द्वारा डिजिटल निर्देश जारी


कोरोना वायरस

स्वस्थ्य मंत्रालय और मानव संसाधन विकास मंत्रालय
भारत सरकार द्वारा जारी डिजिटल निर्देश

लक्षण – हल्का बुखार, ज़ुकाम, सिर दर्द

उपचार – अभी उपलब्ध नही

संक्रमण के 7 दिन के अंदर मौत निश्चित

यह रोग असल मे चमगादड़ और सांप में होता है, लेकिन चीन में चमगादड़ के सूप पीने की वजह से यह मनुष्यों में फैला है !
छींकने और सम्पर्क में आने से फैल रहा है यह खतरनाक वायरस !

बचाव –
● यात्रा करते वक़्त मास्क ज़रूर पहने !
● किसी भी जुकाम या सर्दी से पीड़ित व्यक्ति का तुरंत इलाज कराए
● सांप और पक्षियों का सेवन बिल्कुल भी न करे
● किसी व्यक्ति से हाथ मिलाने के बाद बिना धोए अपने आंख को न छुये

शिवा पवार मुलतापी समाचार