प्रायवेट स्कूलों को मान्यता के लिये आवेदन की तारीख में वृद्धि



प्रदेश में संचालित प्रायवेट स्कूलों को शिक्षा का अधिकार कानून के अंतर्गत नवीन मान्यता अथवा मान्यता नवीनीकरण के लिए मोबाइल एप से आवेदन करने की अंतिम तिथि को 10 फरवरी से बढ़ाकर 17 फरवरी कर दिया गया है। संचालक राज्य शिक्षा केन्द्र श्रीमती आइरीन सिंथिया जेपी ने इस संबंध में सभी जिला कलेक्टर्स को आदेश जारी कर दिए हैं।

प्रायवेट स्कूलों की नवीन मान्यता एवं मान्यता नवीनीकरण की संशोधित समय सारणी के अनुसार प्रायवेट स्कूल, नवीन मान्यता अथवा जिन स्कूलों की पूर्व मान्यता शीघ्र समाप्त हो रही है, वे मान्यता नवीनीकरण के लिए मोबाइल एप से 17 फरवरी तक आवेदन कर सकते हैं। संबंधित विकासखण्ड स्त्रोत केन्द्र समन्वयकों द्वारा 03 मार्च तक स्कूलों का भौतिक सत्यापन कर ऑनलाइन निरीक्षण रिपोर्ट जिला शिक्षा अधिकारी को प्रेषित की जायेगी। जिला शिक्षा अधिकारियों द्वारा प्राप्त मान्यता आवेदनों का 30 मार्च तक निराकरण किया जायेगा।

अशासकीय विद्यालयों की मान्यता के लिये मोबाइल एप के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन करने की व्यवस्था सत्र 2020-21 से प्रारंभ की गई है। एप के माध्यम से आवेदन करने के लिये प्रायवेट स्कूल मोबाइल फोन का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिये उन्हें किसी भी कार्यालय अथवा कियोस्क पर नहीं जाना पड़ेगा।

शिवा पवार मुलतापी समाचार

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में मध्यप्रदेश जल निगम संचालक मंडल की बैठक


पेयजल योजनाएं आत्मनिर्भर बनें- मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि पेयजल योजनाओं को आत्मनिर्भर बनाया जाए और उनके क्रियान्वयन के लिए वित्तीय संसाधन जुटाए जाएं। श्री नाथ ने गत दिवस मंत्रालय में मध्यप्रदेश जल निगम के संचालक मंडल की बैठक में यह निर्देश दिए। बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल एवं नगरीय विकास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि पेयजल योजनाओं के संचालन और संधारण की लागत का विश्लेषण किया जाना चाहिए और उन्हें स्वयं के वित्तीय स्रोतों के जरिए संचालित करने का प्रयास होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने आगामी ग्रीष्म ऋतु के दौरान आम नागरिकों के लिए पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा।

श्री नाथ ने निर्माणाधीन योजनाओं को निर्धारित समय में पूरा करने के निर्देश देते हुए कहा कि नई जल परियोजनाओं के सभी प्रस्ताव समयबद्ध कार्यक्रम के साथ प्रस्तुत किए जाएं। साथ ही उसके अनुसार योजनाएं पूरी हों यह भी सुनिश्चित किया जाए। मुख्यमंत्री ने नई योजनाओं की वित्तीय रूपरेखा बनाने में अनुभवी संस्थाओं की सेवाएं लेने को कहा।

प्रमुख सचिव लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री संजय शुक्ला ने भारत सरकार के जलजीवन मिशन के प्रावधानों की जानकारी संचालक मंडल की बैठक में दी।

बैठक में मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री अनुराग जैन, अपर मुख्य सचिव जल संसाधन श्री एम. गोपाल रेड्डी, अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्री मनोज श्रीवास्तव उपस्थित थे।

शिवा पवार मुलतापी समाचार

दंगल प्रतियोगिता में शामिल हुए पीएचई मंत्री श्री सुखदेव पांसे


बैतूल: प्रदेश के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे रविवार 09 फरवरी को बैतूल में आयोजित दंगल प्रतियोगिता में शामिल हुए। इस अवसर पर विधायक बैतूल श्री निलय डागा, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित के प्रशासक श्री अरूण गोठी, जिला योजना समिति सदस्य श्री सुनील शर्मा, श्री प्रेमशंकर मालवीय, श्री अशोक दीक्षित, श्री प्रमोद अग्रवाल, श्री समीर खान, श्री गौरव राठौर, श्री पुनीत खण्डेलवाल एवं श्री विवेक मालवीय सहित बड़ी संख्या में कुश्ती प्रेमी मौजूद थे।

दंगल शुरू होने के पहले मंत्री श्री पांसे ने सभी पहलवानों से परिचय प्राप्त किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री श्री पांसे ने कहा कि जय हनुमान व्यायाम शाला द्वारा आयोजित यह दंगल प्रतियोगिता कुश्ती के क्षेत्र में एक सराहनीय कदम है। पहलवानों को बढ़ावा देने के लिए ऐसे आयोजन होते रहना चाहिए। उन्होंने दंगल को बढ़ावा देने के लिए 51 हजार रूपए सहयोग राशि की स्वीकृति दी। विधायक बैतूल श्री निलय डागा ने कहा कि बैतूल शहर में दंगल आयोजित होना जय हनुमान व्यायाम शाला का बहुत अच्छा प्रयास है। उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजनों से कुश्ती को बढ़ावा मिलेगा।

शिवा पवार मुलतापी समाचार

हटा में केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल ने की बड़ी घोषणा


मुलतापी समाचार                 मनोज कुमार अग्रवाल

हटा: भारत की ऐतिहासिक धरोहरे पूरी दुनिया में मशहूर है! और इनके संरक्षण के लिए केंद्र सरकार लगातार कोशिश कर रही है !देश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री प्रहलाद पटेल ने बड़ी घोषणा करते हुए बताया है कि देशभर के पुराने किले महलों और स्थलों को अब सार्वजनिक उपयोग के लिए भी दिया जाएगा! केंद्रीय मंत्री पटेल ने दमोह जिले के हटा में 11 वीं सदी के ऐतिहासिक रंग महल के निरीक्षण  के बाद इस बात की जानकारी दी!

उन्होंने पुरातत्व विभाग की टीम के साथ पूरे रंग महल का जायजा लिया और इस बात पर खुशी जाहिर की कि आज भी पुरातन विरासत को संजोए रखा है! इस स्थल को  पर्यटकों के लिए  सुगम बनाने के साथ  मंत्री पटेल ने कहा कि अब तक भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधीन रहने वाले ऐसे स्थलों को निजी या सार्वजनिक उपयोग  के लिए नहीं दिया जाता था लेकिन अब सरकार ने इस सोच और नियम को बदलने का फैसला किया है! अब इन  जगहों  के संरक्षण के साथ लोग इन का उपयोग भी कर सकेंगे! इसके लिए विभाग नियम कानून बना रहा है और जल्द ही लोग इसका उपयोग करने लगेंगे!

पूर्व कलैक्टर डी एस राय की ताप्ती न्यास अध्यक्ष पद पर की गई नियुक्ति


बैतूल जिले के ताप्ती भक्तो का अपमान की गई नियुक्ति बैतूल जिले के ताप्ती भक्तो का अपमान

बैतूल, पुण्य सलिला माँ सूर्यपुत्री ताप्ती की जन्मभूमि से लेकर जिले की 250 किमी की प्रवाह सीमा में जन्मे – पले – बढ़े ताप्ती भक्त के बदले किसी अन्य जिले के सरकारी नौकरी में रहे नौकरशाह अधिकारी (पूर्व बैतूल जिला कलैक्टर) डीएस राय को पुण्य सलिला माँ सूर्यपुत्री ताप्ती नदी का न्यास अध्यक्ष बनाने का फैसला जिले के बहुसख्ंयक ताप्ती भक्तो का अपमान है. ताप्ती न्यास के अध्यक्ष पद की नियुक्ति में न तो ताप्ती के संग न्याय हुआ है और न ताप्ती भक्तो के संग न्याय हुआ है. ताप्ती नदी के मान – सम्मान से लेकर मध्यप्रदेश गान मे उसका नाम जुड़वाने के लिए डीएस राय कभी सड़क या मैदान में खड़े नहीं हुए. ताप्ती दर्शन यात्रा में एक दिन झण्डा लेकर चलने वाले को यदि ताप्ती न्यास का अध्यक्ष बनाने का फैसला यदि सही है तो फिर दर्शन या परिक्रमा यात्रा से लेकर चुनरी यात्रा में भाग लेने वाले हजारो उन भक्तो का भी तो अधिकार बनता है जो ताप्ती के किनारे जन्मे और पले – पढ़े है.


माँ सूर्यपुत्री ताप्ती जागृति समिति मध्यप्रदेश के अध्यक्ष रामकिशेार पंवार ने डीएस राय की ताप्ती न्यास अध्यक्ष पद पर नियुक्ति को मेहनत करे मुर्गा अण्डा खाए फकीर वाली कहावत बताया. एक प्रेस विज्ञिप्त में बीते दो दशक से ताप्ती की मान – सम्मान – पहचान की लड़ाई लडऩे वाले रामकिशोर पंवार ने कांग्रेस सरकार के एक केबिनेट मंत्री सुखदेव पांसे को ताप्तीचंल से बाहर के व्यक्ति को ताप्ती न्यास का अध्यक्ष बनवाने के पाप का भागीदार बताया है. श्री पंवार ने इस नियुक्ति का खुल कर विरोध करने का एवं जिले के ताप्ती भक्तो को लेकर एक बड़े जन आन्दोलन की घोषणा की है. श्री पंवार का यह आरोप है कि जिले के केबिनेट मंत्री सुखदेव पांसे नही चाहते थे कि कोई अन्य जिले में पावर सेंटर बने इसलिए पांसे ने जानबुझ कर जिले के आदिवासी विधायको में से एक भी ताप्ती न्यास का सदस्य नही बनने दिया. भैसदेही कें विधायक धरमू सिंह को मंत्री बनवाने की घोषणा करने वाले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उन्हे ताप्ती न्यास का सदस्य तब नही बनने दिया. श्री पंवार ने अपनी विज्ञिप्त में कहा कि भैसदेही विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक ताप्ती जी बहती है उसके बाद भी भैसदेही के विधायक को ताप्ती न्यास का अध्यक्ष तो दूर सदस्य तक बनने नहीं दिया. ताप्ती नदी के अध्यक्ष एवं सदस्य की नियुक्ति से ताप्ती भक्तो की भावनाओ को आघात पहुंचा है उसका खामियाजा जिले के मंत्री और मुख्यमंत्री को आने वाले चुनावो में भुगतना होगा. जिले की 558 ग्राम पंचायतो एवं जनपदो तथा जिला पंचायत , नगरीय निकायो के चुनाव में कांग्रेस का ताप्ती भक्तो के संग जबदस्त विरोध कार्यक्रम होगा.
बैतूल जिले के बारह सौ गांवो में ताप्ती नदी के भक्तो तक ताप्ती न्यास अध्यक्ष की नियुक्ति का विरोध प्रदर्शन करने के लिए जन आन्दोलन की तैयारी की जाएगी जिसको लेकर शीध्र मुलताई में ही कांग्रेस एवं ताप्ती भक्तो की एक बैठक आयोजित की जाएगी. श्री पंवार ने कहा कि डीएस राय की नियुक्ति स्वीकार नहीं की जाएगी भले ही इसके लिए हमें कोई भी परिणाम क्यों न भुगतना पड़े.