श्योपुर जिला अस्पताल में महिला ने छ: बच्चों को दिया जन्म


श्योपुर अस्पताल में महिला ने छ: बच्चों को दिया जन्म

श्योपुर – मध्यप्रदेश के श्योपुर जिला अस्पताल में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है अस्पताल में एक महिला ने 1 साथ 6 बच्चों को जन्म दिया यह देखकर हॉस्पिटल में मौजूद डाक्टर और स्टाफ दंग रह गए है डॉक्टरों का कहना है कि अपने जीवन में ऐसा कभी नहीं देखा और ना ही कभी सुना है महिला का प्रसव 6 माह में किया गया है उसे अत्यधिक प्रसव पीड़ा हो रही थी महिला को जिला अस्पताल ले जाया गया जहां महिला ने 6 बच्चों को जन्म दिया और बच्चों में 4 लड़के 2 लड़कियों को जन्म दिया है दोनों लड़कियों की जन्म के कुछ देर बाद ही मौत हो गई जबकि महिला और चारों बालक स्वास्थ्य बताए जा रहे है। श्योपुर जिलें के बड़ौदा निवासी मूर्ति पति विनोद माली को करीब साढ़े छह माह का गर्भ था। शनिवार को पेट दर्द की शिकायत पर महिला को परिजनों ने महिला को जिला अस्पताल में भर्ती कराया डॉक्टर ने इलाज के दौरान सोनोग्राफी कराने की सलाह दी जिसमें महिला के पेट में चार बच्चे दिखाई दिए। महिला को प्रसव पीड़ा अधिक होने पर डॉक्टरों ने प्रसव कराने का निर्णय लिया प्रसव कराने वाले डॉक्टर बीएल यादव ने बताया कि उनके 28 साल के कार्यकाल में यह पहली घटना है। प्रसव समय पूर्व होने के कारण बच्चों का वजन कम है।

मुलतापी समाचार बैतूल

श्रीमती निशा हजारे आईंआईटी दिल्ली अवार्ड से सम्मानित


निशा हजारे

दिल्ली। शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मुलताई में सेवारत श्रीमती निशा हजारे को जीरो व्यय पर नवाचार और शिक्षण सहायक सामग्री निर्माण किये जाने पर राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित व पुरस्कृत किया गया है।
शिक्षा क्षेत्र में आपके उल्लेखनीय योगदान के लिए सम्मानित किए जाने पर सुखवाड़ा और राष्ट्रीय भर्तृहरि-विक्रम-भोज पुरस्कार समिति भारत आपको बधाई व हार्दिक शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए आपके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता है।
सुखवाड़ा और
राष्ट्रीय भर्तृहरि-विक्रम-भोज पुरस्कार समिति भारत

SANJAY hajare multapi samchar 9977211939

राष्ट्रीय हिन्दू सेना ने किया पुलिस अधिकारी को सम्मानित


जिले के सजग परी की जिले से विदाई

मुलतापी समाचार

पुलिस विभाग के अधिकारीयों को सममानित करते हुए

बैतूल। राष्ट्रीय हिंदू सेना के तत्वाधान में जिले में पदस्थ डीएसपी श्री मोतीलाल जी कुशवाह जिन्होंने जिले को कानूनी सेवा दी है उनसे प्रेरित होकर उनकी विदाई समारोह का आयोजन किया गया
समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में गंज डिएसपी नवीन जी पटेल , यातायात प्रभारी संदीप जी सुनेश , बैतूल कोतवाली में पदस्थ श्री राम जी मांडवी, उपस्थित हुए थे
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डिएसपी मोतिलाल जी कुशवाह ने कहा कि
समाज में सभी वर्ग के लोगों का संगठन मे एक सम्मान है जिसमें राष्ट्रीय हिंदू सेना सभी वर्गों को साथ लेकर गौ रक्षा ,महिला रक्षा ,समाज में अन्य वर्गों के सर्वदलीय मुद्दों को गंभीरता और शालीनता के साथ लोगों की भावनाओं की कद्र करते हुए संगठन अपनी जिम्मेदारियां बहुत बढ़िया तरीके से निर्वहन कर रही है
उन्होंने संगठन के द्वारा किए गए कार्यों का उल्लेख किया गया और बधाई दी कि इसी तरीके से राष्ट्रीय हिंदू सेना सभी के सहयोग में खड़ी रहे और अच्छे कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लें
गंज डिएसपी नवीन जी पटेल ने कहा कि
संगठन पुलिस का सहयोग करें ताकि शहर में हो रहें अपराधों को रोकने मे पुलिस सफलता हासिल करें पुलिस हर कमजोर से कमजोर वैक्ती के साथ खड़ी है ओर महिला सुरक्षा को लेकर कार्य करेगी
यातायात प्रभारी संदीप जी सुनेश ने कहा कि
जिले में हो रहे हादसे का कारण शराब पिकर गाड़ी चलाने और बिना हेलमेट के कारण हो रही है हमारी जिम्मेदारी हम नहीं समझ पाते हैं जिन लोगों की बिना हेलमेट एवं सड़क दुघर्टना में मृत्यु हुई है आज़ उनका परिवार बेखबर हो जाता है हमें हमारी सुरक्षा पर भी ध्यान देना चाहिए ताकि हम सुरक्षित घर पहुंच सकें
कोतवाली मैं पदस्थ श्रीराम मांडवी जी ने कहा कि राष्ट्रीय हिंदू सेना का योगदान गौ माता की रक्षा धर्म परिवर्तन पर रोक लगाने के लिए, लव जिहाद पर रोक लगाने के लिए रहा है ,संगठन ने और भी जिम्मेदारियों को निभाना चाहिए जैसे महिला सुरक्षा, जिस तरीके से शहर में अपराध हो रहे हैं उसको रोकने के लिए पुलिस का सहयोग करना ताकि संगठन का पद और भी ऊंचा होते रहे
कार्यक्रम में राष्ट्रीय हिन्दू सेना के जिला पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे

ग्राम बानूर में आज से भागवत चालूरात्रि में भागवत सुनते सभी ग्रामीण


Bhagvat Katha karte hua

Betul ग्राम बानूर में 6 गाव से आरही पब्लिक खापा उमनपेट पोहर सेमझिरा उभारिया बैतूल जिले गेहूरास से रोहित महाराज द्वाराअनुमोदित की जाती है भागवत कथा में रविवार को समापन पर बहुत भारी लोगो की पहुंचे लोग


जय किसान फसल ऋण माफी किसान सम्मेलन एवं आत्मा मेला 3 मार्च को


मुलतापी समाचार बैतूल

बैतूल- जय किसान फसल ऋण माफी किसान सम्मेलन एवं आत्मा मेला के अंतर्गत 3 मार्च 2020 को दोपहर 12:30 बजे सेे कृषि उपज मंडी बडोरा बैतूल में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बैतूल विधायक श्री निलय डागा, कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रशासक जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित बैतूल के श्री अरूण कुमार गोठी, विशिष्ट अतिथि सदस्य जिला योजना समिति श्री सुनील शर्मा और सदस्य आत्मा समिति श्री तरूण कालभोर द्वारा किसानों को कृषि ऋण मुक्ति प्रमाण पत्र एवं किसान सम्मान पत्र वितरित करेंगे।

एनटीपीसी रिहंद रेलवे रुट पर टकराई मालगाड़ी


ताजा समाचार

कोयला मालगाड़ी आपस में टकराई तीन मृत दो घायल
करोड़ों की क्षति एनटीपीसी के रिहंद रेलवे रुट पर हुई घटना


सिंगरौली – एनटीपीसी रिहंद के ओर जाने आने वाली कोयला माल गाड़ियों में रविवार अलसुबह जोरदार भिड़ंत हो गई जिसमें लोको ड्राइवर सहित तीनों कर्मचारियों की मौत हो गई
रविवार सुबह करीब 5:15 बजे मयार ब्रिज के पास आमने सामने हुये टक्कर में कोयला लोड बोगियां पलट गई जिसमें परियोजना को करोड़ों के नुकसान का आकलन किया जा रहा है


घटना कि खबर लगते ही शहर कोतवाल अरुण पांडेय सदल बल मौके पर पहुंचकर स्थिति नियंत्रण में जुट गए है, वही नवानगर टीआई यूपी सिंह व विंध्यनगर टीआई राघवेंद्र द्विवेदी भी घटना स्थल पर पहुंचकर बिगड़ी स्थिति को सामान्य करने में जुटे है।

मुलतापी समाचार बैतूल

सवा करोड़ की लागत से पन्ना के मंदिरों का जीर्णोद्धार होगा


मुलतापी समाचार                  मनोज कुमार अग्रवाल

पन्ना! मिनी स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत सवा करोड़ रुपए की लागत से नगर के ऐतिहासिक और धार्मिक स्थलों का जीर्णोद्धार कार्य कराया जाना है ,जिसकी शुरुआत नगर के ऐतिहासिक मंदिर बलदेव जी से हो रही है!

जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान पन्ना को मिनी स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने की घोषणा की थी! इसके तहत इन दिनों नगर में सड़क और सौंदर्यकरण के साथ ऐतिहासिक और धार्मिक स्थलों का उन्नयन कार्य कराया जाना प्रस्तावित है! योजना के तहत नगर के सबसे प्रसिद्ध भगवान जुगल किशोर मंदिर में स्मार्ट वाहन पार्किंग व्यवस्था बनाया जाना है! भगवान जगदीश स्वामी मंदिर में मंदिर की पुताई, मरम्मत और लाइटिंग का काम किया जाना प्रस्तावित है!

NTPC की दो मालगाड़ी आपस में टकराई


मध्यप्रदेश के सिंगरौली में NTPC रिहंद की दो मालगाड़ीयां आपस में टकरा गई । जिसमें तीन कर्मचारियों की मौत हो गई है। कोयला लेकर जा रही एक मालगाड़ी, दूसरी मालगाड़ी से टकरा गई। इस घटना में करोड़ों के नुकसान की आशंका जताई जा रही है।

मुलतापी समाचार बैतूल

PHE मंत्री पांसे साइकल रैली में किया नगर भ्रमण कर ग्रीन मुलताई क्लीन मुलताई स्वच्छ ता का दिया संदेश


Phe मंत्री सुखदेव पांसे जी साइकल रैली नगर भ्रमण के लिए

PHE मंत्री पांसे जी साइकल रैली कार्यक्रम में ग्रीन मुलताई जागरूकता अभियान का अभिवादन करते हुए हमारे देनिक जीवन में पर्यावरण बचाने हेतु साइकल  उपयोग बढ़ाने हेतू दिया संकल्प
साइकल रैली निकाल मंत्री पांसे जी द्वारा नगर भ्रमण कर ग्रीन मुलतापी क्लीन मुलतापी स्वच्छता  का भी दिया संदेश


मुलतापी में ग्रीन मुलताईं क्लीन मुलताई के नारों के साथ निकली साइकल रैली का आयोजन कर नगर भ्रमण किया। साइकल चलाओ पर्यावरण बचाओ का संदेश दिया
   Multai में मंत्री पांसे जी के द्वारा नगर भ्रमण कर स्वच्छता जागरूकता एवम पर्यावरण को लेकर चिंता जिसमे पेट्रोल की खपत दिन ब दिन बड़ते जा रही हैं इसको देखते हुए एक दिसिय साइकल रैली का आयोजन कर नगर भ्रमण किया और साइकल का उपयोग कर पर्यावरण बचाने का आयोजन किया प्रेस वार्ता की पर्यावरण की सुरक्षा व्यवस्था जन जागरूकता का संदेश दिया।

रंग बिरंगी साड़ियां पहनकर फैशन वाक


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

दमोह: दमयंती क्लब दमोह की ओर से साड़ी एक गरिमा पूर्ण भारतीय परिधान विषय पर फैशन शो का आयोजन किया गया! जिसमें महिलाओं ने एक से बढ़कर एक पैटर्न की साड़ियां पहनकर फैशन वाक किया! प्रतियोगिता का आयोजन अंजलि सचदेव और मंजू मोगिया द्वारा किया गया! इसमें सभी उम्र की महिलाओं ने भाग लिया!

निर्णायक की भूमिका नीरजा और डॉ रितु दुआ ने निभाई! प्रतियोगिता में पहली 8 महिलाओं को सम्मानित किया गया! जिसमें निर्मला मराठा, सविता सोनी,ज्योत्सना जैन, कल्पना , शैलजा नेमा, पूर्णिमा गुप्ता, सोनाली गुरु, अमृता जैन शामिल है! सभी को उत्तम साड़ी पहनावा पर पारितोषिक दिया गया! इस मौके पर क्लब की अध्यक्ष डॉ. रितु दुआ और गीता टंडन ने बताया कि फैशन बदलने के साथ-साथ परिधान भी बदल जाते हैं, मगर महिलाओं का एक मात्र पारंपरिक परिधान आज तक नहीं बदला है ,और वह है साड़ी जिसे प्राचीन काल से भारतीय महिलाएं पहन रही हैं,!

स्टाइल बदला, रंग भी बदला, पहनने वाली हर युवती का मिजाज भी बदला, नहीं बदली तो सिर्फ साड़ी! भाग लेने वाली महिलाओं ने बताया कि फैशन समय के हिसाब से बदलता रहता है पर बात जब साड़ियों की आती है तो यह आज भी महिलाओं की पहली पसंद है! वह इस परिधान में सहज व गरिमा पूर्ण लगती है! भारत में प्राचीन काल से महिलाएं साड़ी पहनती आई हैं, इसका मुकाबला किसी अन्य परिधान से नहीं किया जा सकता! साड़ियों का उल्लेख वेदों में भी मिलता है! इस तथ्य से अनुमान लगाया जा सकता है कि यह कितना पुराना परिधान है!

मुलतापी समाचार