दो केन्द्राध्यक्षों को कारण बताओं नोटिस


हायर सेकेण्डरी प्रमाण पत्र परीक्षा में पहले ही पेपर में दो केन्द्राध्यक्षों को कारण बताओं सूचना पत्र जारी किया गया है

संभाग आयुक्त श्री रजनीश श्रीवास्तव ने किया परीक्षा केन्द्र का निरीक्षण

बैतूल – माध्यमिक शिक्षा मण्डल की हायर सेकेण्डरी प्रमाण पत्र परीक्षा 02 मार्च को विशिष्ट हिन्दी विषय के प्रश्न पत्र के साथ शुरू हुई। इस दौरान संभाग आयुक्त श्री रजनीश श्रीवास्तव द्वारा शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय बैतूल स्थित परीक्षा केन्द्र का आकस्मिक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का अवलोकन किया गया। उन्होंने परीक्षा केन्द्र की व्यवस्थाओं पर संतोष प्रकट करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी श्री एलएल सुनारिया को आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान किए। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री राकेश सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री धर्मेन्द्र सिंह भदौरिया, सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी साथ रहे। आयुक्त श्री श्रीवास्तव ने परीक्षार्थियों की तलाशी लिए जाने का कार्य पूर्ण शालीनता के साथ करने के निर्देश दिए।

विभागीय संभागीय संयुक्त संचालक के निरीक्षण दस्तो द्वारा भी उप संचालक श्री जेके मेहर के नेतृत्व में जिले के पांच परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण कर दो केन्द्राध्यक्षों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किए गए। शासकीय महारानी लक्ष्मी बाई कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बैतूल एवं सुभाष उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बैतूल स्थित परीक्षा केन्द्रों पर बैठक व्यवस्था, कक्ष क्षमता के अनुरूप न किए जाने, निर्धारित समयावधि से पूर्व प्रश्न पत्र संबंधी अनुमति का पालन न किए जाने के कारणों से सूचना पत्र जारी किए गए। श्री मेहर द्वारा निर्देशित किया गया कि इन केन्द्रों की पुन: समीक्षा कर लें, यदि सुधार परिलक्षित नहीं होता है तो केन्द्राध्यक्ष को बदलने की कार्रवाई करें।

जिला शिक्षा अधिकारी श्री सुनारिया ने बताया कि प्रथम भाषा हिन्दी विशिष्ट के प्रश्न पत्र में जिले में स्थापित 114 परीक्षा केन्द्रों पर आवंटित 18685 परीक्षार्थियों में से 496 परीक्षार्थियों के अनुपस्थित रहने से 18189 परीक्षार्थी, परीक्षा में सम्मिलित हुए। प्रश्न पत्र के दौरान जिला एवं विकासखण्ड स्तर के निरीक्षण दलों द्वारा परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण किया गया। अनुचित साधन अपनाये जाने संबंधी कोई प्रकरण पंजीबद्ध नहीं हुआ।

मंगलवार 03 मार्च से संस्कृत विषय के प्रश्न पत्र के साथ हाई स्कूल प्रमाण परीक्षा शुरू होगी। इस हेतु जिले में बनाये गये 130 परीक्षा केन्द्रों पर 26724 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित होंगे।

एनसीडी अभियान के तहत प्रशिक्षण आयोजित


बैतूल – मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जीसी चौरसिया ने बताया कि 02 मार्च को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के सभाकक्ष में बीपीएम, बीसीएम, सीएचओ एवं डाटा एन्ट्री ऑपरेटर का एनसीडी अभियान के तहत एनसीडी एप के प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण मेटरनल कंसलटेंट टाटा ट्रस्ट भोपाल डॉ. पल्लवी सोनी द्वारा प्रदाय किया गया। प्रशिक्षण में जिला कार्यक्रम प्रबंधक डॉ. विनोद शाक्य एवं एम.एण्ड.ई. श्री मनोज चढ़ोकार उपस्थित रहे।

डॉ. चौरसिया ने बताया कि नागरिकों को उनके निवास के समीप समग्र स्वरूप की प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाऐं उपलब्ध कराने हेतु आयुष्मान भारत कार्यक्रम के अंतर्गत चयनित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं उप स्वास्थ्य केन्द्रों में हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर का संचालन किया जा रहा है। इन सेंटर्स पर आरएमएनसीएचए की सेवाओं के साथ-साथ संचारी एवं असंचारी रोगों से संबंधित सेवाएं प्रदान किये जाने हेतु उच्च रक्तचाप, ह्नदय रोग, मधुमेह एवं कैंसर जैसी प्रमुख असंचारी रोगों के समयबद्ध चिन्हांकन स्क्रीनिंग एवं उपचार हेतु समस्त हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर के केचमेंट में निवासरत नागरिकों की समुदाय आधारित स्क्रीनिंग को आसान बनाने हेतु एनसीडी एप का प्रशिक्षण प्रदाय किया गया। प्रशिक्षण में एप से संबंधित प्रश्नों का भी समाधान किया गया।

मुलतापी समाचार बैतूल

हेयरकट के बाद नाई से मसाज कराने पर गर्दन में लकवा


मुलतापी समाचार. मनोज कुमार अग्रवाल

भारत में हेयर कट के बाद गर्दन की मसाज करवाना आम बात है नाई मालिश करते हुए ग्राहक की गर्दन बाएं या दाएं और घुमाते हैं हालांकि यह काफी रिलैक्सिंग होता है लेकिन कई बार इसके गंभीर परिणाम भी हो सकते हैं ऐसा ही कुछ दिल्ली में एक शख्स के साथ हुआ है जिनके लिए मसाज बहुत महंगी साबित हो गई!

दरअसल 54 वर्षीय अजय कुमार बाल कटवा कर जब घर वापस आए तो वह तरोताजा महसूस कर रहे थे !सब कुछ ठीक था लेकिन कुछ देर बाद उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने लगी डॉक्टरों ने एक के बाद एक कई टेस्ट किए उन्हें लग रहा था कि शायद दिल् या फेफड़ों में आई किसी परेशानी की वजह से वह सांस नहीं ले पा रहे हैं लेकिन जांच के दौरान पता चला कि गर्दन चटकाने की वजह से फ्रेनिक नस को नुकसान पहुंच गया था फ्रेनिक नस डायाफ्राम को कंट्रोल करती है इसके बाद डायाफ्राम सांस लेने की प्रक्रिया को नियमित रखता है मेदांता अस्पताल के डॉक्टर आनंद जायसवाल ने बताया कि अजय की डायाफ्राम को लकवा मार गया है और अब उन्हें अपनी पूरी जिंदगी वेंटिलेटर पर रहना होगा क्योंकि यह नस अपने आप ठीक नहीं हो पाती है! हेयर कट के बाद जो गर्दन की मसाज की जाती है उससे गर्दन के जोड़ों ,आसपास के टिश्यू ,मांसपेशियों और नसों को नुकसान पहुंचने का खतरा रहता है,! इसलिए कभी भी नाइ से गर्दन की मसाज नहीं करवाना चाहिए!

मुलतापी समाचार

एक बाइक पर टंकी के ऊपर बैग रखकर, छह लोग सवार


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

दमोह: बाइक चालकों द्वारा यातायात नियमों को ठेंगा दिखाया जा रहा है! उधर बच्चों की जान परवाह किए बिना एक बाइक पर 6 लोग सवार होकर निकल रहे हैं! रविवार दोपहर ऐसा ही कुछ नजारा शहर के कीर्ति स्तंभ चौराहे के पास देखने को मिला जबलपुर नाका की ओर से एक बाइक पर सवार होकर 6 लोग एक साथ निकले! बाइक पर तीन बच्चे एक महिला दो पुरुष सवार थेऔरटंकी के ऊपर बैग रखा था! ऐसे में जरा सी चूक होने पर दुर्घटना हो सकती थी!

मुलतापी समाचार

जिसमें जोश है वह बुजुर्ग भी युवा है, आलस्यवान युवा बुजुर्ग के समान होता है


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

दमोह: छात्र क्रांति दल सर्व कल्याण समिति द्वारा देश के महापुरुषों एवं वीर क्रांतिकारियों को समर्पित आयोजन दी जीनियस ऑफ दमोह जिला स्तरीय सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण एवं प्रतिभा सम्मान समारोह रविवार को मानस भवन में किया गया! कार्यक्रम में मुख्य अतिथि वीर क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद के पौत्र एवं हिंदुस्तान रिपब्लिकन आर्मी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमित आजाद रहे! इस मौके पर आजाद ने संबोधित करते हुए कहा हम युवाओं को ही क्रांतिकारियों के इतिहास को जन-जन तक पहुंचाने की बागडोर संभालना होगी!

युवा वर्ग राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका का निर्वहन करता है! हम सभी का कर्तव्य है कि हम देश के महापुरुषों एवं वीर क्रांतिकारियों के बताए गए मार्ग पर चलें एवं राष्ट्रभक्ति की ज्वाला जीवंत बनाए रखें! उन्होंने सभी से निवेदन किया कि अपने बेटों को मां भारती की सेवा मे भेजने से रोकें मत, उन्हें भारतीय सेना में भेजें! ताकि वे हमारे देश की सेवा कर सकें! उन्होंने कहा कि केवल भारत में ही हमारी संस्कृति सुरक्षित है, तिलक लगाना हमारी संस्कृति का हिस्सा है, जहां भी हम जाते हैं तिलक लगाकर स्वागत होना हमारे संस्कारों की निशानी है! उन्होंने युवाओं से कहा कि रोजाना एक मिनट यह जरूर सोचें कि हम अपने देश के लिए क्या कर रहे हैं और क्या कर सकते हैं हमें अपने देश के बारे में अच्छे से अच्छा करना है!

इस मौके पर कार्यक्रम अध्यक्ष पूर्व कृषि मंत्री डॉ रामकृष्ण कुसमरिया ने कहा कि मैं संगठन सदस्यों को बधाई देता हूं कि उन्होंने दमोह की पावन धरा पर वीर क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद के पौत्र को आमंत्रित किया! हमारा सौभाग्य है कि भारत मां के वीर सपूत चंद्रशेखर आजाद ने मध्यप्रदेश की पावन धरा पर जन्म लिया! इस प्रकार के आयोजन निश्चित ही समाज को जागरूक करने में मील का पत्थर साबित होंगे! इस मौके पर विशिष्ट अतिथि जिला सहकारी बैंक प्रशासक गौरव पटेल हटा विधायक पीएल तंतबाय, नपा अध्यक्ष मालती असाटी, पूर्व नपा अध्यक्ष मनु मिश्रा, वरिष्ठ अधिवक्ता आलोक श्रीवास्तव, जिला महिला सशक्तिकरण प्रभारी ग्रीस मिश्रा की उपस्थिति रही!

मुलतापी समाचार

किसान एमपी ऑनलाईन के कियोस्क सेंटर से प्राप्त कर सकते हैं भू-अभिलेख की प्रतिलिपियां


https://mpbhulekh.gov.in

किसान एमपी ऑनलाईन के कियोस्क सेंटर से
प्राप्त कर सकते हैं भू-अभिलेख की प्रतिलिपियां

प्रदेश में किसानों को भू-अभिलेखों की प्रतिलिपियां प्राप्त करने के लिए परेशान न होना पड़े, इसके लिए राजस्व विभाग द्वारा किसानों को नवीन सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। अभी किसानों को भू-अभिलेख खसरा एवं बी-1 की प्रतिलिपि तहसील स्थित आईटी सेन्टरों तथा लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से आवेदन करने पर तुरंत उपलब्ध कराई जा रही है। इसी दिशा में एक ओर कदम बढ़ाते हुए राजस्व विभाग द्वारा भू-अभिलेखों की प्रति निर्धारित दरों पर भू-स्वामियों को प्रदाय करने के लिए एमपी ऑनलाईन को प्राधिकृत सेवा प्रदाता नियुक्त किया गया है।आयुक्‍त भू-अभिलेख मध्‍यप्रदेश के निर्देशानुसार जिले के सभी एमपी ऑनलाईन कियोस्क केन्द्रों पर एमपी बेवजीआईएस सॉफ्टवेयर के माध्यम से आम नागरिकों को शासन द्वारा निर्धारित दरों पर भू-अभिलेख की प्रतिलिपियां प्रदाय करना प्रारंभ किया जा रहा है। जिससे किसानों को भू-अभिलेख खसरा एवं बी-1 की प्रतिलिपि प्राप्त करने के लिए तहसीलों में नहीं आना पड़ेगा। किसान अपने निकटतम एमपी ऑनलाईन कियोस्क से भू-अभिलेख की प्रतिलिपि प्राप्त कर सकेगा।

भू-अभिलेखों की प्रतिलिपियों के लिए निर्धारित दरशासन द्वारा एमपी ऑनलाईन कियोस्क के माध्यम से प्रतिलिपि प्राप्त करने के लिए दरें निर्धारित की गई हैं। जिसके तहत एक साला/पांच साला खसरा या खाता जमाबंदी, अधिकार अभिलेख, खेवट के प्रथम पृष्ठ के लिए 30 रूपए तथा प्रत्येक अतिरिक्त पृष्ठ के लिए 15 रूपए फीस निर्धारित की गई है। इसी प्रकार वाजिब-उल-अर्ज, निस्तार पत्रक के प्रथम पृष्ठ के लिए 30 रूपए एवं प्रत्येक अतिरिक्त पृष्ठ के लिए 15 रूपए और ए-4 आकार के नक्शे की प्रति के प्रथम पृष्ठ के लिए 30 रूपए तथा प्रत्येक अतिरिक्त पृष्ठ के लिए 15 रूपए की दर निर्धारित की गई है।

घर पर भी प्राप्त सकते हैं भू-अभिलेख की प्रतियां
भू-अभिलेखों की प्रतिलिपि प्राप्त करने के लिए किसान चाहें तो उन्हें एमपी ऑनलाईन कियोस्क या तहसील स्तर पर आईटी केन्द्र पर जाने की भी आवश्यकता नहीं है। किसान अपने घर से ही इंटरनेट के माध्यम से https://mpbhulekh.gov.in पोर्टल पर जाकर भू-अभिलेखों की डिजिटल हस्ताक्षर युक्त प्रतिलिपि ऑनलाईन पेमेंट कर प्राप्त कर सकते हैं।

मुलतापी समाचार बैतूल