अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला पुलिस अधिकारी सम्‍मान समाज सेवकों द्वारा


मुलतापी समाचार

मां ताप्‍ती की छाया चित्र भेट कर सम्‍मान करते हुए ताप्‍ती ब्रिगेट टीम मुलताई

मुलताई । अंतराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर माँ ताप्ती ब्रिगेड मुलतापी द्वारा नगर की प्रशासनिक व्यवस्था को उत्कृष्ट रूप से संचालित करने वाली मुलताई तहसील की SDOP मैडम सुश्री नम्रता सोंधिया को माँ ताप्ती का छायाचित्र व पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया गया ।
इस अवसर पर SDOP मैडम ने अपने अनुभव व कार्यशैली से अवगत कराया ।
व अपने व्यक्तिगत अनुभव साझा किए ।
व सामाजिक कार्यो के लिए माँ ताप्ती ब्रिगेड की सराहना की ।
एवम अपराध मुक्त समाज को जागरूक करने की अपील की।

इस अवसर पर संघटन के पवन पाठेकर , ऋषभ पाटनकर , अनीस साहू , सौरभ कड़वे , सोनू धनराज , विक्की पवार , गगन बारस्कर , लोकेश डोंगरे उपस्थित हुए ।

महिला दिवस पर महिलाओ को सम्मानित करे पोधा रोपण किया


महिलाओं को सम्‍मानित कर पौधे वितरण करते हुए
पौधा रोपण करते हुए महिला समह के साथ संकल्‍प लिया

मुलतापी समाचार

मुलताई। आज अनुसया सेवा संगठन द्वारा महिला दिवस के अवसर पर वार्ड कि महिलाओ सम्मानित कर पोधा रोपित किया गया साथ हि संगठन के सदस्य द्वावा महिलाओ कि सुरक्षा का संकल्प लिया व सभी महिलाओं द्वारा महिला दिवस के अवसर पर पोधे रोपित किये गये साथ ही सभी के द्वारा पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लिया अनुसया सेवा संगठन द्वारा निरन्तर हर शुभ कार्य पर रोपित किये जा रहे हैं व सभी को संकल्प दिलााया गया कि हर शुभ कार्य पर एक पोधा अवस्य लगाये जिसमे संगठन के सदस्य कृष्णा साहू, मोहित साहू, दिपेश छिपने, रितिक जोशि,सोनल साहू,विकरान्त मन्शुरे व उपा छिपने,फुल्वन्ति साहू,सरोज मन्सुरे, निता मन्शुरे, विनिता छिपने, प्रिति छिपने, राजि साहू आदि महिलाये उपस्थित हुए।

अंराष्‍ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला कुली का सम्‍मान


दुर्गा की जीवनी विशेष अवशर पर

दुर्गा बोरवार बैतूल स्टेशन की पहली महिला कुली  है  का भी सम्‍मान किया गया

दुर्गा ने कुली का बिल्ला पाने चार साल तक किया संघर्ष / दुर्गा ने कुली का बिल्ला पाने चार साल तक किया संघर्ष

Betul News – पिता बीमारी से बिस्तर पर पड़े थे। परिवार के खाने के भी लाले पड़ गए थे। ऐसे में परिवार की बेटी ने पिता की जगह कुली बनना…

दुर्गा ने कुली का बिल्ला पाने चार साल तक किया संघर्ष
कुली का काम करते हुए दुर्गा रेलवे स्‍टेशन बैतूल में एक मात्र महिला

पिता बीमारी से बिस्तर पर पड़े थे। परिवार के खाने के भी लाले पड़ गए थे। ऐसे में परिवार की बेटी ने पिता की जगह कुली बनना तय किया। रेलवे अधिकारियों ने ताने दिए लड़की कैसे कुली का काम कर सकती है। चार साल तक रेलवे अधिकारियों के चक्कर काटते हुए संघर्ष किया और आखिरकार रेलवे ने उसे बिल्ला दिया और वह कुली बनकर दुनिया के साथ घर का भी बोझ उठा रही है।

यह कहानी है बैतूल स्टेशन पर कुली का काम करने वाली दुर्गा बोरवार की। दुर्गा के पिता मुन्ना बोरवार बैतूल स्टेशन पर कुली का काम करते थे। अचानक पिता को पैर की बीमारी ने जकड़ लिया और उन्होंने बिस्तर पकड़ लिया। परिवार की पूरी जिम्मेदारी दुर्गा पर आ गई। दुनिया की परवाह नहीं करते हुए दुर्गा ने स्टेशन पर पिता की जगह कुली बनने का फैसला लिया। 2007 से 2011 तक स्टेशन पर कुली का बिल्ला पाने के लिए संघर्ष किया। इसमें सभी ने सहयोग किया। साल 2011 में दुर्गा को कुली नंबर 11 का बिल्ला मिला। इसके बाद से वह लगातार कुली का काम करके अपने परिवार का भरण-पोषण कर रही है।

लड़की कैसे करेगी कुली का काम

दुर्गा ने बताया कुली का बिल्ला हासिल करने के लिए बैतूल से नागपुर स्टेशन तक गुहार लगाई। नागपुर के रेलवे अधिकारियों ने कहा लड़की कैसे कुली का काम करेगी। उसे बिल्ला देने में आनाकानी करने लगे। बैतूल के समाजसेवी सहित स्टेशन के अधिकारियों ने उसे कुली बनने में मदद की। पहले जब स्टेशन पर वह सामान ढोने का काम करने लगी तो यात्री भी हिचकिचाते थे लड़की कैसे सामान ढोएगी, लेकिन धीरे-धीरे यात्री भी उससे सामान ढुलवाने लगे।

मेहनत आैर लगन

दुर्गा बोरवार

बैतूल स्टेशन की पहली महिला कुली है दुर्गा, पिता की बीमारी के कारण परिवार के भरण-पोषण के लिए बनी कुली

बैतूल. रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को बोझ उठाती कुली दुर्गा।

बड़ी बहन व बच्चों की है जिम्मेदारी

दुर्गा ने बताया 2017 में उसके माता-पिता का निधन हो गया। इसके बाद से बड़ी बहन राजकुमारी तथा उसके दो बच्चों की जिम्मेदारी उस पर आ गई है। यात्रियों का सामान ढोकर वह बड़ी बहन व उसके बच्चों की पढ़ाई की जिम्मेदारी संभाल रही है। दुर्गा ने बताया स्टेशन पर 6 से 7 हजार रुपए प्रतिमाह कमा लेती है। इसमें परिवार का खर्चा चल जाता है। दुर्गा ने बताया बड़ी बहन के बच्चे ही उसके लिए सब कुछ हैं। वह शादी नहीं करना चाहती।

महिला दिवस पर अतिथि विद्वानों ने किया मुण्डन


अतिथि विद्वानों ने कराया मुण्डन

मुलतापी समाचार

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के शाहजहानी पार्क में आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला अतिथि विद्वानों व पुरुष अतिथि विद्वानों ने मुंडन करवाया। यहां बीते 90 दिनों से अतिथि विद्वानों द्वारा मध्यप्रदेश सरकार के खिलाफ आंदोलन जारी हैं। अतिथि विद्वान नियमितिकरण की मांग को लेकर पिछले 3 महीनों से धरने पर बैठे हैं, लेकिन अब तक मप्र सरकार की ओर से इस संबंध में कोई कार्यवाही नहीं की गई है।
तीन माह से समय समय पर सरकार के नेता और मंत्रीयों द्वारा अतिथि विद्वानों के पास आकर उन्हें भरोसा तो दिलाते रहे हैं, लेकिन उनके द्वारा की गई मांगों को अभी तक पूरा नहीं किया जा सका हैं। इसी से नाराज होकर आज महिला दिवस पर महिला अतिथि विद्वानों सहित पुरुष अतिथि विद्वानों ने भी मुंडन करवाया।

कटनी से आई अतिथि विद्वान नीना सिंह ने मुंडन के बाद बातचीत के दौरान बताया कि तमाम कोशिशों के बावजूद सरकार की ओर से सकारात्मक रवैया नहीं आने पर ही हमें ये कदम उठाना पड़ा। इससे पहले भी महिला अतिथि विद्वान डॉ. शाहीन खान ने 19 फरवरी को और लक्सारी दास ने 2 मार्च को मुंडन कराया था। नीमा सिंह ने बताया कि उन्होंने सरकार की शोषणकारी नीति के कारण मुंडन कराया है।

इस दौरान एक अर्थी का भी निर्माण किया गया, जिस पर मप्र शासन के नाम से पर्चे लगे हुए थे। इसके साथ ही वहां शिक्षक भर्ती की अर्थी लिखा एक पोस्टर भी लगाया गया।

उनका कहना था कि हमारी मांगे तो मुख्यरूप से वहीं हैं जो इस सरकार ने वादा किया था, लेकिन इसके बावजूद सरकार की ओर से अपना वादा पूरा नहीं किया जा रहा है। जिसके चलते सभी अतिथि विद्वान महिला अतिथि विद्वानों ने आह्वान किया है कि यदि राज्य सरकार ने वचनपत्र अनुसार हमारा नियमितीकरण का वादा नही निभाया तो हम दिल्ली की ओर कूच करेंगे और अपने आंदोलन को विस्तृत करते हुए अगला मुंडन दिल्ली में किया जाएगा।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर जिला चिकित्सालय में कार्यक्रम आयोजित


अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर –

महिला स्वास्थ्य माह का शुभारंभ
महिला रक्तदान शिविर आयोजित आईसीएचएच यूनिट एवं पिंक वैक्सीन कैरियर की शुरुआत

बैतूल — अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर रविवार 08 मार्च को महिला स्वास्थ्य माह का शुभारंभ, महिला रक्तदात्रियों एवं समाज में उल्लेखनीय योगदान देने वाली महिलाओं का सम्मान, आईसीएचएच यूनिट का शुभारंभ, पिंक वेक्सीन कैरियर का शुभारंभ जिला चिकित्सालय बैतूल में विधायक आमला डॉ. योगेश पण्डाग्रे, पूर्व विधायक श्री विनोद डागा, कलेक्टर श्री राकेश सिंह द्वारा किया गया। इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती श्रद्धा जोशी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जीसी चौरसिया, सिविल सर्जन डॉ. प्रदीप धाकड़ सहित चिकित्सकगण व अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे। इस दौरान महिला रक्तदान शिविर भी आयोजित किया गया।

कार्यक्रम में अतिथियों द्वारा स्वास्थ्य विभाग अंतर्गत बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सकों डॉ. प्रतिभा रघुवंशी, डॉ. अंकिता सीते, डॉ. ईशा डेनियल, जिला विस्तार एवं माध्यम अधिकारी श्रीमती श्रुति गौर तोमर, श्रीमती मधुमाला शुक्ला के अतिरिक्त समाज में उल्लेखनीय योगदान देने वाली श्रीमती आभा तिवारी, श्रीमती कमला बाई उइके, श्रीमती संगीता पहाड़े, एएनएन के पद पर चयनित 13 आशा कार्यकर्ताओं तथा प्रशिक्षक के पद पर चयनित चार आशा सहयोगियों सहित 39 महिला रक्तदात्रियों को सम्मानित किया गया।

इस दौरान आईसीएचएच एकीकृत हीमोग्लोबिनोपैथी एवं हीमोग्लोबिन केंद्र का शुभारंभ भी अतिथियों द्वारा किया गया। सिकलसेल थैलेसीमिया के ऐसे पंजीकृत बच्चे जो रक्ताधान हेतु सुबह आते हैं एवं उनकी शाम को छुट्टी होती है, को लाभ प्रदाय किए जाने हेतु, साथ ही संभावित सिकलसेल मरीजों की जांच सुविधा, कंफर्ममेंट्री टेस्ट, परिवार की स्क्रीनिंग, उपचार की पूरी सुविधा यहां उपलब्ध रहेगी। आईसीएचएच के नोडल अधिकारी शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. जगदीश घोरे हैं।

कार्यक्रम में पिंक वैक्सीन केरियर का भी शुभारंभ किया गया। यह मध्यप्रदेश का नवाचार है, जिसे शीघ्र ही संपूर्ण बैतूल जिले के सभी प्रसव केंद्रों पर उपलब्ध करवाया जाएगा। इससे हमें सभी बच्चों का जन्म के समय का टीकाकरण, 24 घंटे के अंदर करने में सहायता मिलेगी और इससे अपेक्षित है कि जीरो डोज़, संस्थागत प्रसव पश्चात जन्मे सभी बच्चों को मिल पायेगा और जीरोडोल विथ जीरो एरर की अवधारणा को सार्थक कर पायेंगे। पिंक रंग के वैक्सीन कैरियर ही इसलिए ताकि प्रसव केंद्र पर जीरो डोज़ दिया जाना है और प्रसव केंद्र पर पिंक रंग का वैक्सीन कैरियर बच्चों की माता आदि महिलाओं को अच्छा लगेगा। महिलाओं का सबसे पसंदीदा रंग गुलाबी होता है जीरो डोज़ टीकाकरण कार्नर पर यह पिंक वैक्सीन कैरियर सबका ध्यान आकर्षित करेगा। पिंक वैक्सीन कैरियर से वैक्सीन पाने वाला बच्चा स्वस्थ भी होगा।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक आमला डॉ. योगेश पण्डाग्रे ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज के समय में महिलाएं पुरुषों से किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। समाज के तथा देश के विकास में इनका अनुकरणीय योगदान है ।

पूर्व विधायक श्री विनोद डागा ने कहा कि महिलाओं का लिंगानुपात सही हो सकेगा तभी यह दिवस सालों साल मनाया जाता रहेगा। ऐसा हमारा संकल्प हो कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा महिलाओं को बेहतर इलाज उपलब्ध करा सकें, ताकि वे जीवन में हमेशा निरोगी एवं सुखी रहें ।

कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने कहा कि इस दिवस का विशेष महत्व इसलिए भी है क्योंकि समाज में महिलाओं की उल्लेखनीय भागीदारी है। जिले का जन्म के समय का लिंगानुपात एक चिंता का विषय है, इसको संतुलित बनाने के लिए कार्य किया जाना जरूरी है। परिवार में बच्चियों की शिक्षा, रोजगार में आना इत्यादि बेहद जरूरी है। साथ ही एमटीपी न हो इसके लिए समाज में जागरूकता बहुत जरूरी है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जीसी चौरसिया ने कहा कि 8 मार्च 2020 अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की इस वर्ष की थीम आईएम जनरेशन इक्वेलिटी रियलाईजिंग वीमन राइट है। इस वर्ष स्वास्थ्य विभाग द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को महिला स्वास्थ्य माह के रूप में मनाया जा रहा है। इसके तहत 11 मार्च 2020 से 31 मार्च 2020 तक प्रत्येक बुधवार, गुरूवार एवं शनिवार को समस्त स्वास्थ्य संस्थाओं, हेल्थ एण्ड वैलनेस सेंटर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, सिविल अस्पताल एवं जिला अस्पताल पर एनीमिया उच्च रक्तचाप, डायबिटीज, सरवाईकल कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर एवं ओरल कैंसर जैसी बीमारियों की पहचान एवं उपचार हेतु स्क्रीनिंग की जाएगी। समस्त महिला अधिकारी-कर्मचारियों की जांच की जाकर उपचार हेतु चिन्हांकित स्टाफ की अन्य जांच की जाकर पॉजीटिव केसेस का एडवांस ट्रीटमेंट किया जाएगा।

मुलतापी समाचार बैतूल

निःशुल्क आयुर्वेदिक उपचार शिविर का हुआ आयोजन


निःशुल्क आयुर्वेदिक उपचार शिविर बगडोना

मुलतापी समाचार

बगडोना। निःशुल्क आयुर्वेदिक उपचार समिति के तत्वाधान में रविवार को क्षत्रिय पवार समाज संगठन ब्लॉक घोड़ाडोंगरी के मंगल भवन में 08.03.2020 को प्रातः 11:00 बजे से शिविर का शुभारंभ हुआ उक्त शिविर में वेद पुनाराम जी पवार, डॉक्टर हरेंद्र सिंह राणा डॉक्टर गेंदलाल पंवार, डॉक्टर सोनू एवं रितु साहू दंत चिकित्सक ने अपनी सेवाएं प्रदान की । इस निशुल्क शिविर में निर्धन परिवार व सभी आवश्यक लोगों ने लाभ लिया। पवार समाज के अध्यक्ष ने बताया कि यह शिविर मानव सेवा के कल्याण के लिए एवं सभी की निरोगी काया के लिए सेवाभावी लोगों के द्वारा आयोजित किया जाता है। आप सभी गणमान्य बंधुओं से निवेदन है कि उक्त शिविर में आप सभी तन मन धन से सहयोग कर इस पुनीत कार्य को आगे बढ़ाने में सहयोग कर सकते है। मानव सेवा ही सच्ची सेवा है इस भाव को लेकर आप सभी इसमें सहयोग प्रदान करें साथ ही आप सभी सामाजिक बंधु माताये बहनें अगले शिविर में समय दान हेतु सादर आमंत्रित हैं। यह 25 वाँ शिविर आप सभी की सेवा के लिए था सभी बंधुओं से निवेदन है कि पुनीत कार्य में सहयोग कर पुण्य लाभ अर्जित करें इस शिविर में प्रेम पंचकर्म के डाक्टर हरेंद्र सिंह राणा ,वंदना राणा, मनीषा राजुरकर,सिजू जोसेफ एवं पुरी टीम का विशेष सहयोग रहा।

मुलतापी समाचार बैतूल

अंराष्‍ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मातृ शक्ति सम्मेलन का आयोजन


विधायक निलय डागा द्वारा दीप प्रज्जवलन करते हुए

उत्कृष्ट महिलाओं का हुआ सम्मान समारोह

कलेक्‍टर राकेश सिंह एवं जिला पंचायत सीईओ एमएल त्‍यागी जी द्वारा दीप प्रज्जवलन करते हुए

बैतूल। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आज दोपहर 12 बजे रामकृष्ण बगिया सिविल लाइन बैतूल में मातृ शक्ति सम्मेलन आयोजित किया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि विधायक बैतूल निलय डागा शामिल हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता कलेक्टर राकेश सिंह ने की। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि समाजसेवी श्रीमती दीपाली डागा, श्रीमती पूनम पटेल, श्रीमती नीलम वागद्रे एवं श्रीमती मीनाक्षी शुक्ला उपस्थित थी। 


कार्यक्रम की शुरूआत विधायक निलय डागा द्वारा दीप प्रज्जवलन कर की गई। इस मौके पर कार्यक्रम को संबोधित कर उन्होंने सबसे पहले कार्यक्रम में उपस्थित सभी महिलाओं को महिला दिवस की शुभकामनाएं दी और कहा कि आज किसी भी क्षेत्र में महिलाएं पुरूषों से कम नहीं है। सभी क्षेत्रों में महिलाओं का प्रतिनिधित्व और संचालन बढऩा मातृशक्ति का ही एक जीता जागता स्वरूप है। समाचार लिखे जाने तक कार्यक्रम चल रहा था। 

महिला दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कलेक्टर राकेश सिंह ने कहा कि आज के दौर में पुरूषों के मुकाबले महिला लिंगानुपात कम होना सबसे ज्यादा चिंता का विषय है. उन्होंने कहा की 1000 बच्चों में 917 बच्चियां जन्म ले रही हैं, इस पर जब बात होती है तो कारण आते हैं शिक्षा का अभाव, समृद्धि का अभाव, हम सोचते हैं कि जैसे-जैसे समाज मे विकास होगा ये सुधरेगा. लेकिन दुर्भाग्य है ऐसा सही नही है. जैसे-जैसे समृद्धि बढ़ती है समाज में बालिकाओं के जन्म के प्रति जो रुचि है वो और कम होते चली जाती है, जो चिंता का विषय है. कलेक्टर ने कहा कि सबसे अच्छा अनुपात छत्तीसगढ़ का है. ये बहुत चिंता का विषय है कि समृद्धि के साथ ये अनुपात नीचे चला जा रहा है. सारे सोशल इंडेक्स समृद्धि के साथ अच्छे होने लगते हैं.

कार्यक्रम के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं का सम्मान किया गया जिसमें मेें सर्वप्रथम जिले की एक मात्र पत्रकार महिला गौरिबाला एवं दुर्गा बोरवार बैतूल स्टेशन की पहली महिला कुली  है  का भी सम्‍मान किया गया और प्रतिभावान स्‍कुली छात्राओं, कराटे चेंपियन, ब्‍लॉक सीडीपीओं, सुपरवाईजरों, आंगनवाडी कार्यकताओं का प्रस्‍सति पत्र भेटकर किया गया।

महिला दिवस के अवसर पर निकाली बाइक रैली


मुलतापी समाचार. मनोज कुमार अग्रवाल

इंदौर; महिला दिवस के अवसर पर आज तेरापंथ महिला मंडल द्वारा बाइक रैली निकाली गई! मंडल के पदाधिकारियों के अनुसार संपूर्ण देश में मंडल की 460 शाखाओं में इस रैली का आयोजन किया गया जिसमें 70 हजार महिलाओं ने भाग लिया! रैली के बाद प्रीतमलाल दुआ सभागृह में महिलाओं का सम्मान भी किया गया!

मुलतापी समाचार

बुंदेलखंड की महिलाएं दूसरों को दे रही रोजगार


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

बुंदेलखंड में एक समय था जब महिलाएं घर के अंदर कैद थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है! महिलाएं समाज सेवा के साथ-साथ दूसरों को रोजगार के साधन उपलब्ध कराने में भी पुरुषों से एक कदम आगे हैं! महिलाओं की पहल पर कई गांव में रोजगार के साधन उपलब्ध हो रहे हैं वृद्ध महिलाओं को भी सुविधाएं मिल रही है!

छतरपुर की स्कूल संचालिका उर्मिला साहू शहर को स्वच्छ बनाने और पॉलिथीन मुक्त बनाने का अभियान चला रही है! वह सुबह से अन्य महिलाओं के साथ पॉलिथीन साफ करती है और लोगों को पॉलीथिन का उपयोग न करने की सलाह भी देती है!

दमोह बटियागढ़ ब्लॉक के बकायन की आरती पौराणिक स्वयं चलता फिरता बैंक बन गई है! उन्होंने सेंटर के माध्यम से तकरीबन 10 ग्रामों के 20 किलोमीटर सर्किल एरिया में 400 से ज्यादा खातेदारों को जोड़ा और एक मल्टीनैशनल कंपनी की तरह बैंक की सभी सेवाएं उपभोक्ताओं के घर जाकर देती हैं!

सागर जिले के चांदपुर गांव में किसान परिवार की बहू रजनी तिवारी बेहद गरीबी से सक्षम होने के सुखद सफर को बयां करती है! अपने आत्मबल और मेहनत के दम पर वे न सिर्फ आत्मनिर्भर बनी बल्कि 428 गरीब परिवारों की महिलाओं को भी स्वरोजगार से जोड़कर सक्षम बनाया!

मुलतापी समाचार

परीक्षा से होने वाले तनाव से छुटकारा पाने हेतु निःशुल्क सहायता और सलाह प्राप्त करें


multapisamachar.com

छात्र-छात्राओं के तनाव प्रबंधन हेतु माध्यमिक शिक्षा मंडल का टोल फ्री नंबर है- 18002330175

पर्सनल और केरियर काउंसलिंग के लिए श्रीमती हेमलता डोंगरे का व्यक्तिगत नंबर है 7000896481
भोपाल। श्रीमती हेमलता डोंगरे तनाव प्रबंधन सलाहकार और हेल्पलाइन काउंसलर हैं। परीक्षा में और परीक्षा के दौरान छात्र छात्राओं को तनाव होना एक आम समस्या होती है। परीक्षा के पूर्व घबराहट, याद किया हुआ भूल जाना भी आम बात है। श्रीमती हेमलता डोंगरे द्वारा सुखवाड़ा को सूचित किया गया कि समाज के कोई भी छात्र-छात्रा जो तनाव से मुक्त होना चाहते हैं टोल फ्री नंबर 18002330175 पर कॉल करके निशुल्क सहायता और सलाह प्राप्त कर सकते हैं। माध्यमिक शिक्षा मंडल मध्यप्रदेश भोपाल के इस टोल फ्री नंबर पर सुबह 8:00 बजे से शाम के 8:00 बजे तक सेवाएं उपलब्ध रहती है और इस अवधि में विभिन्न सलाहकार छात्र -छात्राओं की समस्याओं का निदान करते रहते हैं।

पर्सनल और केरियर काउंसलिंग के लिए श्रीमती हेमलता डोंगरे के व्यक्तिगत नंबर 7000896481 पर संपर्क किया जा सकता है।
श्रीमती हेमलता डोंगरे के सामाजिक सरोकार और समाज प्रेम को नमन् करते हुए उज्ज़्वल भविष्य की कामना करता है।

आशा है, समाज के छात्र-छात्राएं श्रीमती डोंगरे की भावनाओं का सम्मान करते हुए तनाव से मुक्त होकर परीक्षा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का प्रयास करेंगे।