बैतूल जिले की जनता को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता में कोई दिक्कत तो नहीं है


मुलतापी समाचार

स्वास्थ्य सुविधाओं के माकूल प्रबंध रहें

लॉक-डाउन व्यवस्था का प्रभावी पालन हो- कलेक्टर



कोरोना संक्रमण से बचाव के दृष्टिगत जिले में प्रभावशील लॉक-डाउन व्यवस्था के दौरान आमजन को बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने एवं स्वास्थ्य सुविधाओं के उचित प्रबंध बनाए रखने के दृष्टिगत कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने सोमवार को जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने कहा कि जिले में लॉक-डाउन व्यवस्था में कोई ढिलाई न हो, परन्तु इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि आमजन को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुचारू बनी रहे। बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी एवं अपर कलेक्टर श्री जेपी सचान भी मौजूद थे।

बैठक में कलेक्टर ने सब्जी एवं दूध की डोर-टू-डोर सप्लाई व्यवस्था की जानकारी लेते हुए कहा कि इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि उक्त सामग्री लोगों को उचित दरों पर ही मिले। साथ ही सामग्री की गुणवत्ता भी अच्छी हो। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने कहा कि रबी फसल की कटाई में किसानों को किसी तरह की कोई दिक्कत न आए, इस बात के लिए कृषि विभाग पूरी तरह सजग रहे। हार्वेस्टर एवं थ्रेसर की नियमानुसार उपलब्धता रहे। किसानों को कीटनाशक एवं अन्य कृषि आदानों की डोर-टू-डोर उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए भी कृषि विभाग कार्य योजना बनाए। इस दौरान उन्होंने कहा कि दवाइयों की दुकानें खुली रहे एवं आमजन को सुगमता से उपलब्ध हो। जरूरी खाद्य वस्तुओं की भी डोर-टू-डोर सप्लाई सुनिश्चित की जाए।

पशु चिकित्सा विभाग की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने पशुओं चारा एवं अन्य खाद्य सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करने के संबंध में उपसंचालक पशु चिकित्सा से चर्चा की। इसके अलावा मेडिकल स्टोर्स से पशुओं की आवश्यक दवाइयों की उपलब्धता बनाए रखने के लिए भी निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि पशुपालकों द्वारा उत्पादित दुग्ध, अण्डा एवं अन्य सामग्री खराब न हो तथा समय पर उपभोक्ताओं को उपलब्ध कराई जा सके, इसके लिए विभाग समुचित कार्ययोजना तैयार करे।

बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिला स्तर पर स्थापित कॉल सेंटर में प्राप्त हो रही समस्याओं/शिकायतों के उचित संधारण कर निराकरण की व्यवस्था की जाए। कलेक्टर ने मुख्य नगरपालिका अधिकारी से दीनदयाल रसोई से उपलब्ध कराई जा रही भोजन व्यवस्था की भी समीक्षा की। साथ ही कहा कि लॉक डाउन एवं प्रशासन द्वारा समय-समय पर जारी किए जाने वाले अन्य निर्देशों का निरंतर एनाउंसमेंट कराया जाए। इस दौरान उन्होंने जिले में वैकल्पिक क्वारेंटाइन सेंटर तैयार रखने की व्यवस्था की भी समीक्षा की।

दमोह वासियों के लिए जानलेवा साबित हो सकते हैं आने वाले दिन


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

दमोह: आने वाले दिन दमोह वासियों के लिए जानलेवा साबित हो सकते हैं! ऐसा इसलिए क्योंकि जहां लाकडाउन को लेकर पुलिस.और प्रशासनिक अमला लोगों को घरों में रहने की सलाह दे रहा है, वहीं दूसरी तरफ बाहर से आने वाले मजदूरों को शहर के भीतर लाकर उनकी जांच की जा रही है! ऐसे में बाहर से आए इन मजदूरों में यदि एक भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित निकल आएगा, तो दमोह शहर व पूरे जिले पर संकट आ सकता है!

स्थानीय अस्पताल चौराहे के समीप बने मानस भवन कांप्लेक्स परिसर में स्वास्थ विभाग के कर्मचारी मौजूद थे! जिनके हाथ में टेंपरेचर मशीन और कुछ दस्तावेज थे, जिसमें संबंधित व्यक्तियों की जानकारी दर्ज की जा रही थी, और उनकी स्क्रीनिंग कर उनका टेंपरेचर चेक किया जा रहा था! यहां पर पहुंचे मजदूरों में बड़ी संख्या में जिले के एक हिस्से से दूसरे हिस्से में मजदूरी करके लौट रहे मजदूर थे! इसके अलावा महाराष्ट्र से अपने वाहन से यूपी जा रहे एक परिवार को अस्पताल चौराहे के समीप लाया गया! जिसमें महिलाएं, बच्चे, युवा सभी शामिल थे और उनकी भी जांच की गई! इन लोगों ने बताया कि वह 5 दिन पहले महाराष्ट्र से यूपी के लिए रवाना हुए थे!महत्वपूर्ण बात यह है कि वर्तमान में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीज मुंबई में ही मिल रहे हैं! ऐसे में एक दर्जन से ज्यादा लोगों को शहर के बीच में लाकर उनकी जांच कराना सबसे बड़ा जोखिम भरा हो सकता है! यदि इन सदस्यों में से किसी एक में भी पॉजिटिव संक्रमण पाया जाता है और दो-चार दिन में उसका प्रभाव स्थानीय व्यक्ति पर हो जाता है तो स्थिति भयावह हो सकती है!

मुलतापी समाचार

युवक ने पुलिस से मंगवाए समोसे, नाली साफ करने की मिली सजा


मुलतापी समाचार. मनोज कुमार अग्रवाल

लाकडाउन के दौरान किसी को भी कोई परेशानी न हो इसके लिए देश भर में पुलिस प्रशासन जरूरी सामान को लोगों तक पहुंचाने की कोशिश कर रहा है! इसी का फायदा उठाते हुए यूपी के रामपुर में एक शरारती शख्स ने मजाक में जिला प्रशासन के कंट्रोल रूम में फोन कर समोसे और पान की मांग की! गंभीर हालत में ऐसी मजाक से नाराज पुलिस ने इस शख्स के पास जाकर कड़ी चेतावनी दी! साथ ही सामाजिक रूप से शर्मिंदा करने के लिए उससे नाली भी साफ करवाई!

मुलतापी समाचार

अस्पताल प्रशासन कर रहा नजरअंदाज कोरोना के प्रति बड़ी लापरवाही, हो सकती हैं बडी घटना


मुलतापी समचार

मुलताई समुदायिक स्वास्थ केन्द्र की फ़ोटो है जहाँ बाहर गांव शहर से लोग कोरोना चेक करने भीड लगाकर धूप में घंटे खड़े रहते है

यह मुलताई का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र है जहां मरीजों और कोरोना की जांच के लिए बाहर से आगे लोग घंटे लम्बी लाइन में खड़े रहते हैं टाइमिंग 8:00 बजे 10:30 बजे तक उसके बाद भी मुख्य डॉक्टर का पता नहीं यहां कोरोना वायरस के प्रति न हीं हॉस्पिटल मैनेजमेंट डॉक्टर सजग हैं और ना ही पबल्कि, कोई सोशल डिस्टेंस नहीं, कोई सेनेटाइजर की व्यवस्था नहीं, लोग भीड़ लगाकर खड़े रहते हैं यह सब देख कर बड़ा आश्चर्य हो रहा है यहां सारे विश्व के देश कोरोना के लिए लड़ रहा है वही यहाँ बहुत लापरवाही की जा रही है।

कोई सुविधा नही मुलताई सामूदायिक हॉस्पिटल मुलताई में पर्ची काटने के लिए घण्टों लाईन में भीड लगाकर खड़े रहते मरीज


यह खबर अगर कोई मुलताई के सीनियर अधिकारी देख रहा हो तो यहां पुलिस प्रशासन की मदद से लोगों में कम से कम सोशल डिस्टेंस का ख्याल रखा जाए और हॉस्पिटल में डैली सेनेटाइजर की व्यवस्‍था की जाए एवंं पर्ची बनाने वालाेें की संख्‍या बडाई जाए और इस विषय को गंभीरता सेे लेवे यहां अभी भी लोग बिल्कुल भी सजग नहीं है रोना के प्रति ज्यादा से ज्यादा शेयर करें जनता मेें जागरुक होंंवेे।

भारत अगर नहीं संभला तो हर गांव होगा कोरोना का गढ़


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

भारत में कोरोना के चलते 32 लोगों की मौत हो चुकी है! जबकि 1190 लोग इससे संक्रमित हैं! डब्ल्यूएचओ की चीफ डॉ सौम्या स्वामीनाथन ने कहा है कि अगर लोग social distancing का ख्याल नहीं रखेंगे तो यह भारत के लिए बड़ा खतरा बन सकता है!जो लोग प्रवासी व मजदूर हैं,वह लॉक डाउन में अपने घरों के लिए पैदल निकल चुके हैं! इनसे इसका खतरा और भी बढ़ सकता है!देश के ग्रामीण इलाकों में बड़े पैमाने में इसकी जांच होनी चाहिए!

मुलतापी समाचार

बैतूल में दोनों कोरोना संदिग्धों की रिपोर्ट निगेटिव


बैतूल जिले वासियों के लिए राहत की खबर है कि जिला अस्पताल बैतूल में कोरोना संदिग्ध दोनों मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई है। जिसके बाद जिले में किसी भी व्यक्ति को कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए हैं। हालांकि कोरोना संदिग्ध दोनों मरीजों को लेकर जिले वासियों में जहां ओर दहशत का माहौल उत्पन्न हो गया था और रिपोर्ट को लेकर काफी चिंता सता रही थी, वहीं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन में अब साफ हो गया है, कि जिले में कोई भी व्यक्ति कोरोना से संक्रमित नहीं है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग अधिकारी डॉ. जी.सी. चौरसिया ने ताजा हेल्थ बुलेटिन मैं बताया है कि जिले में विदेश यात्रा करके आए लोगों की संख्या 90 है। जिसमें से विभाग द्वारा 72 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा चुका है। 58 लोगों को होम आइसोलेशन में जबकि 14 लोगों होम आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर चुके हैं। 90 में से शेष 18 लोगों ने विदेश यात्रा की जानकारी दी है जो बैतूल जिलें के निवासी है किंतु अन्य स्थानों पर निवासरत है और जिले में नहीं आए हैं। जिनका सतत परीक्षण किया जा रहा है, एवं कोरोना वायरस से बचाव एवं नियंत्रण संबंधी सलाह भी दी जा रही है।

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल

बैतूल वासीयों के लिए खुशखबरी- दोनो रिपोर्ट निगेटिव


बैतुल- जिले वासियों के लिए ये राहत भरी खबर है कि जिला अस्पताल के कोरोना वार्ड में भर्ती किये गए दोनो मरीजो की रिपोर्ट नेगेटिव आई है । यानी कि अभी तक जिले में किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण नही पाए गए ।

गौर तलब है कि इन दोनों मरीजो को लेकर जिले वासियों में जहां दहशत का माहौल उतपन्न था तो रिपोर्ट को लेकर लोगो मे काफी उत्सुकता भी नजर आ रही थी ।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मेडिकल बुलेटिन में इसकी जानकारी भी सार्वजनिक की गई है।

बताया जा रहा है कि अभी तक जिले में कुल 72 मरीजो के स्वास्थ्य का परीक्षण किया गया ।

58 लोगो को आइसोलेशन में रखा गया तो विदेशों से लौटे 90 लोगो मे से 72 को होम आइसोलेट में रखा गया।

सी एम एच ओ द्वारा कहा गया है कि , बाहर से आने वाले व्यक्तियों के स्वास्थ्य की भी लगातार जांच की जा रही है । उन्हें संक्रमण से बचाव सम्बन्धी सलाह भी दी जा रही है ।

शिवा पवार मुलतापी समाचार बैतूल

लॉक-डाउन के दौरान मरीजों को टेलीमेडिसिन से उपचार हेतु 20 चिकित्सकों के मोबाइल नम्बर जारी


टेलीमेडिसिन एक ऐसी व्यवस्था हैं जिसमे चिकित्सा विशेषज्ञों की वीडियो कोंफ्रेंस के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में अपनी सेवा प्रदान करते हैं.

Multapi Samachar

टेलीमेडिसिन  एक ऐसी व्यवस्था हैं जिसमे चिकित्सा विशेषज्ञों की वीडियो कोंफ्रेंस के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में अपनी सेवा प्रदान करते हैं

जिसका मध्‍यप्रदेेश मेंं टोल फ्री नं. 104, 181 है

बैतूल जिले के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जी.सी. चौरसिया ने बताया कि टेलीमेडिसिन पद्धति से उपचार की सुविधा मुहैैैैया कराई जा रही ि‍जिसकास्वास्थ्य विभाग बैतूल द्वारा 20 चिकित्सकों की टीम तैयार की गई है जिनके नम्बर जारी किये हैं,

बैतूल जिले की जनता के लिए स्‍वास्‍थ्‍य विभाग द्वारा विशेष टेलीमेडिसिन टीम तैयार की गई है आपनेे ब्‍लाक स्‍तर के डॉ. के फोन नं. पे संंपर्क कर सुझाव लेकर मेडिकल से दवा क्रय ले सकते है। जिससे सामान्‍य बिमार व्‍यक्ति को इलाज मुहैैैैया हो जायेगा और सरल तरिके से कोरोना वायरस के बडते लक्षण से बचनेे केे लिए शासन ने लॉकडॉन ि‍किया हुआ है इस स्‍थिती से उभरने के लिए आमजन को सरल इलाज मिल सके टेलीमेडिसिन अपनाया जा रहा है, जनता से भी अपील की जा रही है कि सर्दी,खांसी सर्दद, जैसी बिमारी के लिए घर से ना निकले अपने क्षेत्रीय डॉ से फोन पर इलाज कराएं ।

बैतूल जिले के मरीज उपचार हेतु इन नम्बरों पर सम्पर्क सकते हैं।

डॉ. एम.आर. बागद्रे मो.नं. 7987004731 बैतूल, डॉ. राहुल शर्मा 8770971307 बैतूल।

डॉ. अरूण अटल 9981873800 भैंसदेही, डॉ. तरूण कुमार 8962247395 भैंसदेही।

डॉ. आकाश गेंदा 9140914746 भीमपुर।

डॉ. तरूण साहू 8236991218 चिचोली

डॉ. व्हीएन झरबड़े 9171568890 घोड़ाडोंगरी, डॉ. स्वीटी सेन 7898740945 घोड़ाडोंगरी।

डॉ. चन्द्रभान ठाकुर 7415523024 मुलताई, डॉ. राजाराम धुर्वे 9407296862 मुलताई।

डॉ. पल्लव अमृत फले 900974966 मुलताई, डॉ. रघुवीर सिंह निगम 7987851859 मुलताई।

डॉ. आकांक्षा जोशी 8349718336 प्रभात पट्टन।

डॉ. मनोज खरे 8518911908 सेहरा, डॉ. पी. तिवारी 9899640234 सेहरा।

डॉ. आशीष गोनांडे 9584575621 सेहरा।

डॉ. विजय सिंह 9424471028 शाहपुर, डॉ. यूपा वर्मा 9009334583 शाहपुर।

डॉ. अक्षय सावातुल 7772966817 शाहपुर, डॉ. एस.के. रघुवंशी 9406622372 शाहपुर।

जाने यह क्‍या है और कैैैैसे काम करता हैैं…….

टेलीमेडिसिन की क्या आवश्यकता हैं ?
भारत वर्ष में चिकित्सा विशेषज्ञों की कमी हैं, चिकित्सा विशेषज्ञों ग्रामीण /अर्ध शहरी क्षेत्रों में जाना नही चाहते हैं, उनकी सेवाए बड़े शहरों तक ही सिमित रह जाती हैं , ग्रामीण /अर्ध शहरी क्षेत्रों के रोगियों को बड़ी बीमारियों के परामर्श के लिए बड़े शहरों में जाना पड़ता हैं, जिससे उनका समय और धन का अधिक व्यय होता हैं, उस समय और धन को बचाने के लिए टेलीमेडिसिन की आवश्यकता हैं.

टेलीमेडिसिन कैसे कार्य करता हैं?

नर्सिगकर्मी/पेरामेडीकलकर्मी/फार्माकर्मी मेडिकल लोज के अनुसार क्लिनिक प्रक्टिस के लिए अधिकृत नही हैं, नर्सिंगकर्मी/पेरामेडिकलकर्मी/फार्माकर्मियों को मेडिकल में स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिग (कार्डियोलोजिस्ट, न्यूरो सर्जन, पीडियाट्रिक्स, ओर्थोपोंडिक्स, गायनोलोजिस्ट, गेस्ट्रोलोजिस्ट) विभागों में ट्रेनिग दिलवाकर उन को ग्रामीण /अर्धशहरी क्षेत्रों में टेलीमेडिसिन सेन्टर खोलकर, ग्रामीण और अर्धशहरी क्षेत्रों में चिकित्सा विशेषज्ञ से विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से रोगियों को कंसल्टिंग, दवाईयां, जाँचे, की सुविधा प्रदान करते हैं.

टेलीमेडिसिन के फायदे

स्वास्थय देखभाल की गुणवक्ता में सुधार, चिकिस्ता त्रुटियों को रोकना, स्वास्थ्य देखभाल लागत कम करना, प्रसासनिक दक्षताओ वृद्धि,  कागजी कारवाई घटाना, सस्ती देखभाल के लिए पहुच बढाना…

आज से यह शहर 3 दिन के लिए रहेगा पूरा बंद


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

इंदौर: देशभर में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए 21 दिन का लॉकडाउन जारी है ! इसके बावजूद देश के अधिकांश इलाकों में लापरवाही के मामले सामने आ रहे हैं! नतीजा संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं, इसी कारण से आज से मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाले इंदौर में देश का सबसे सख्त लाकडाउन रहेगा! अगले 3 दिन तक यहां दूध- सब्जी, किराना सहित कोई भी सामान नहीं मिलेगा! यह शहर पूरी तरह से कर्फ्यू में ग्रस्त रहेगा!

मुलतापी समाचार

चैत्र नवरात्रि: नवरात्रि के छठवें दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है! इस दिन प्रसाद में शहद का प्रयोग करें! मां की पूजा करते हुए हाथों में फूल लेकर देवी को प्रणाम करें और उनका मंत्र उच्चारण करें! इसके अलावा इस मंत्र का जाप करें

कात्यायनी महामाये महायोगिन धीश्वरी

नंद गोप शतम् देवी पतिम में कुरुते नमः

चंद्रहासोज्जवलकरा शार्दुलवरवाहिना

कात्यायनी शुभम दद्दादेवी दानव घातनी !

मुलतापी समाचार