पूर्व जिलापंचायत उपाध्यक्ष राजा पवार ने कोरोना से लड़ने 31 हजार रुपये का सहायता राशी प्रदान की


मुलतापी समाचार

राजा पवार जिला पंचायत द्वारा अनुविभागीय अधिकारी चनाप जी को चेक प्रदान करते हुए

मुलताई । देेेेश में कोरोना वायरस के संंक्रमण के प्रभाव से बचने के प्रयास रत हैैै, प्रदेश में २१ दिन का लॉकडाउन की इस मुसकिल की घडी में नगर के समाज सेवक अपने-अपने तरह से जरूरत मंदों को सेवा प्रदान कर रहें है इसी तारतम्‍य में पूूर्व जिला पंचायत उपाध्‍यक्ष राजा पवार द्वारा कोरोना वायरस से प्रदेश एवं देश में आयी इस संकट की घड़ी में 31000 ₹की सहायता राशि का चेक अनुविभागीय अधिकारी जी को सौपा ।

इस दौरान अनुविभागीय अधिकारी से मुलताई क्षेत्र में चल रहे सहायता कार्यो अनाज- भोजन आदि वितरण संबंधी चर्चा हुई .

वहींं नगर के युवाओं और समाज सेवकों गरीब परि‍वार की अनाज वितरण कर सहायता की और नगर सेवकों में सेनेटाइजर वितरण कर सभी जनता से अपने घरों में रहनेे का निवेदन किया।

सड़क दुर्घटना में कार सवार ASI की मौत हो


दुर्घटना ग्रस्‍त कार की फोटो गुना

मुलतापी समाचार

गुना| मध्य प्रदेश के गुना में एक सड़क दुर्घटना में कार सवार एएसआई की मौत हो गई। वही हादसे में एएसआई के बेटा-बहू और पोता-पोती गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी घायलों को गुना से ग्वालियर रेफर कर दिया गया है। यह परिवार कार से भोपाल से भिंड के लहार जा रहा था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार परिवार के साथ भिंड जा रहे एएसआई को कार दुर्घटना में मौत हो गई है। वहीं एएसआई के परिवार के चार अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसा बुधवार सुबह करीब साढ़े सात बजे बैतूल नेशनल हाईवे-46 पर चांचौड़ा धाना क्षेत्र के ग्राम बरखेड़ाखुर्द के पास हुआजब एएसआई रामशंकर शर्मा की कार अनियंत्रित होकर पतट गई। इस हादसे में एएसआई रामशंकर शर्मा की मौके पर मौत हो गई। मिती जानकारी के अनुसार वह भिंड के तहार क्षेत्र के रहने वाले थे। शर्मा भोपात की पुलिस लाइन में पदस्थ थे

हादसे के बाद सभी घायलों को गुना से ग्वालियर रेफर कर दिया गया है। कार सवार बुधवार तड़के भोपाल से भिंड के लहार जाने के लिए कार क्रमांक एमपी 04 सीटी 7627 से निकले थे। कार में एएसआई का बेटा राघवेंद्र शर्मा (30), बहू रेखा शर्मा (29), पोती एंजित (8) और दो साल का पोता पार्थ थे।

Multapi Samachar

Chhindwara: 9 संदिग्धों के सेम्पल जांच के लिए जबलपुर लैब भेजे गए


कोरोना वायरस के मरिजों के फाइल फोटो

मुलतापी समाचार Chhindwara News

छिंदवाड़ा। शहर के अमन मोहल्ला स्थित एक धार्मिक स्थल में छत्तीसगढ़ के कोरबा से आए लोगों का मंगलवार को स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। स्वास्थ्य परीक्षण के दौरान 9 लोग संदिग्ध मिले है। एहतियात के तौर पर इन सभी लोगों को जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में लाकर भर्ती कराया गया है। आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कराए गए सभी लोगों के सेम्पल के लिए गए है। अस्पताल प्रबंधन द्वारा रात को ही सेम्पल जांच के लिए जबलपुर मेडिकल कॉलेज भेजे गए।


अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि रविवार को अमन मोहल्ला स्थित एक धार्मिक स्थल में कुछ लोगों के ठहरने होने की सूचना मिली थी। जिसके बाद यहां स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजकर दस लोगों की जांच कराई गई। यहां छत्तीसगढ़ के कोरबा निवासी 9 लोग मिले है। जिनका स्वाव और ब्लड सेम्पल जांच के लिए जबलपुर मेडिकल कॉलेज भेजा गया है। गुरुवार को सेम्पल की जांच रिपोर्ट आने तक एहतियात के तौर पर सभी जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। सभी लोग पिछले 10 से 12 दिनों से धार्मिक स्थल में ही रह रहे थे। जिसका रिकार्ड पुलिस और प्रशासन के पास भी नहीं था।

बड़कुही से तीन को भेजा जिला अस्पताल-
बड़कुही पुलिस ने मंगलवार को तीन लोगों को स्वास्थ्य परीक्षण के लिए जिला अस्पताल भेजा है। पुलिस ने बताया कि परिवार का मुखिया दिल्ली में आयोजित बैठक में शामिल होकर बीती 10 मार्च को बड़कुही लौटा था। एहतियात के तौर पर पुलिस ने दिल्ली से लौटे शख्स, उसकी पत्नी और एक अन्य को स्वास्थ्य जांच के लिए जिला अस्पताल भेजा है।


सौंसर से एक संदिग्ध को भेजा जिला अस्पताल-
सौंसर के गोटी गांव से एक संदिग्ध को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। वह चेन्नई की एक कंपनी में काम करता था। 20 दिन पूर्व वह अपने गांव आया था। पिछले 12 दिनों से बीमार संदिग्ध को होम आईसोलेशन में रखा गया था। जिसे एहतियात के तौर पर मंगलवार को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। चिकित्सकों की टीम द्वारा संदिग्ध की जांच की जा रही है।


दिल्ली से लौटे लोगों को तलाश रही पुलिस-

दिल्ली में एक धार्मिक संगठन की बैठक में शामिल होने प्रदेश से भी कई लोग गए थे। बताया जा रहा है कि पुलिस और प्रशासन यह जानकारी जुटा रहा है कि छिंदवाड़ा जिले से कितने लोग इस बैठक में शामिल होने गए थे। ऐसे लोगों की तलाश कर पुलिस उनका स्वास्थ्य परीक्षण करा रही है। मंगलवार को दिल्ली से लौटे बड़कुही के एक शख्स और उसके पूरे परिवार का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है।

Indore से क्वारंटाइन से भागा युवक बाइक से पहुंचा Bhopal, कोरोना से संक्रमित मिला


Multapi Samachar

भोपाल। इंदौर के एक क्वारंटाइन सेंटर से भागकर भोपाल पहुंचा युवक कोरोना से संक्रमित मिला है। उसे सोमवार को इलाज के लिए एम्स में भर्ती कराया गया है। युवक लंदन (यूके) से मुंबई आया था। यहां से 24 मार्च को दिल्ली आने के बाद उसी दिन इंदौर पहुंचा। विदेश यात्रा की हिस्ट्री की वजह से उसे इंदौंर में क्वारंटाइन किया गया था। वहां से वह 29 मार्च को भागा और अपने दोस्त की बाइक से छिपते हुए भोपाल पहुंचा। यहां 30 मार्च की सुबह 6ः30 बजे वह इलाज के लिए बाइक से ही जेपी अस्पताल पहुंचा। यहां इमरजेंसी में देखने के बाद डॉक्टरों ने इलाज के लिए एंबुलेंस से एम्स रेफर कर दिया। यहां सोमवार को ही उसके सैंपल लेकर जांच की गई। सोमवार देर रात आई रिपोर्ट में वह कोरोना वायरस से संक्रमित मिला। युवक की हालत ठीक है। युवक के भाई का घर वेदवती परिसर अवधपुरी में है। क्वारंटाइन से भागने के चलते युवक पर एफआईआर कराने की तैयार प्रशासन ने की है।

भोपाल से मंगलवार को 87 सैंपल लिए गए हैं। इनकी रिपोर्ट बुधवार को आएगी। शहर में अब तक मिले चारों पॉजिटिव मरीजों का इलाज एम्स में चल रहा है। उधर, एम्स के आईसोलेनशन वार्ड में भर्ती नीमच के 22 साल के एक युवक की सोमवार को मौत हो गई है। उसकी कोरोना वायरस की जांच निगेटिव आई है।

इलाज के बाद अशोका लेक व्यू में क्वारंटाइन होंगे हमीदिया के डॉक्टर-नर्स

हमीदिया अस्पताल के डॉक्टर व नर्स संदिग्ध व पॉजिटिव मरीजों के इलाज के बाद होटल अशोका लेक व्यू समेत तीन होटलों में क्वांरटाइन में रहेंगे । इसके लिए पूरा होटल चिकित्सा शिक्षा विभाग ने ले लिया है। अब यहां पर अन्य लोग नहीं रुक पाएंगे। इसके अलावा लाल घाटी स्थित आरके रीजेंसी और निर्मल होटल को भी लिया गया । हमीदिया अस्पताल में संदिग्ध या पॉजिटिव मरीज भर्ती होने के बाद इलाज में लगे डॉक्टर, नर्स व अन्य स्टाफ घर नहीं जाएंगे। उन्हें अस्पताल से होटल लाने व छोड़ने के लिए दो बसें भी चलाई जाएंगी। बस के ड्राइवर, क्लीनर भी क्वारंटाइन रहेंगे। हफ्ते भर इलाज के बाद भी उन्हें घर जाने की अनुमति नहीं होगी। न ही वह अपने परिवार के लोगों से मिल सकेंगे।

हमीदिया में संदिग्धों के आज से लिए जाएंगे सैंपल

हमीदिया अस्पताल में अब कोरोना की जांच की सुविधा शुरू हो गई है। लिहाजा संदिग्ध मरीजों को भर्ती कर सैंपल लिया जाएगा। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उनका इलाज भी शुरू कर दिया जाएगा। फिलहाल तीन शिफ्ट में 18 डॉक्टर, नर्स व अन्य कर्मचारियों की ड्यूटी आइसोलेशन वार्ड में लगाई गई हैं

मुलतापी समाचार

बैैैैैतूल जिला अस्‍पताल में डॉ.बारंगा को फिर सौंपी कमान, सिविल सर्जन को हटाया


मुलतापी समाचार

बैतूल। जिला अस्पताल में सिविल सर्जन की कार्यप्रणाली से पूरी व्यवस्था चरमरा जाने के कारण प्रशासनिक अधिकारी और जनप्रतिनिधियों की नाराजगी सामने आई। कोरोना संकट से निपटने के लिए जिला अस्पताल अब तक माकूल इंतजाम नहीं कर पाया है जिसके चलते शासन ने सिविल सर्जन को हटाकर मूल पद पर भेज दिया है। जिला अस्पताल की कमान एक बार फिर से पैथोलॉजिस्ट डॉक्टर अशोक बारंगा को सौंपी गई है। अपर संचालक स्वास्थ्य सेवाएं सपना एम लोवंशी ने 31 मार्च को जारी आदेश में सर्जरी विशेषज्ञ प्रदीप धाकड़ को सिविल सर्जन पद से हटाकर जिला अस्पताल में सर्जरी विशेषज्ञ के पद पर पदस्थ करने के साथ पैथोलॉजिस्ट अशोक बारंगा को सिविल सर्जन जिला अस्पताल बनाया है।

Bhopal कलेक्टर एवं डीआईजी ने सीमा नाकों व सम्पूर्ण शहर का भ्रमण कर चेकिंग व लॉकडाउन व्यवस्था का जायजा लिया


कोरोना की रोकथाम व शहर में सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर अधिकारियों ने सीमा नाकों व सम्पूर्ण शहर का भ्रमण कर चेकिंग व लॉकडाउन व्यवस्था का जायजा लिया-

भोपाल : डीआईजी शहर श्री इरशाद वली, कलेक्टर भोपाल श्री तरुण पिथोड़े व एसपी नार्थ श्री शैलेंद्र सिंह चौहान ने आज दोपहर शहर में लगे विभिन्न चेकिंग पॉइंट व नाकों का भ्रमण किया व सम्पूर्ण शहर में भ्रमण कर लॉकडाउन स्थिति का जायजा लिया। उपरांत भोपाल जिले की सभी सीमाओं पर बने चेकिंग नाकों का निरीक्षण कर सुरक्षा व चेकिंग व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान विभिन्न पॉइंट/नाकों पर चेकिंग में लगे अधिकारी/कर्मचारियों को ब्रीफ़ कर कोरोना से बचाव के सभी उपायों एवं विशेषकर सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान रखकर संवेदनशीलता व गहनता से वाहनों/लोगों की चेकिंग करने हेतु दिशा निर्देश दिए गए। भारत सरकार की एडवायजरी अनुसार लॉकडाउन के सभी नियमों का सख्ती से अनिवार्यत पालन करवाने एवं बगैर अनुमति/इमरजेंसी बाहरी वाहनों शहर बिल्कुल भी प्रवेश न होने देने हेतु निर्देशित किया गया।

दर्दनाक हादसा : विदिशा में तेज रफ्तार बोलेरो ने तीन बच्चों को रौंदा, तीनों की मौत


Vidisha Accident

मुलतापी समाचार

विदिशा। जिले के उनारासी कलां थाना थाना क्षेत्र में बुधवार दोपहर करीब 12 बजे उनारासी कला – तीतर बर्री रोड पर ग्राम कालादेव के समीप एक बोलेरो वाहन ने साइकल से खेत लौट रहे एक ही परिवार के तीन बच्चों को रौंद दिया। जिसमें मौके पर ही तीनों बच्चों की मौत हो गई। इनकी उम्र 12 वर्ष, 10 वर्ष और 8 वर्ष बताई गई है। इनमें दो लड़के और एक लड़की शामिल है। ये आपस मे सगे भाई बहन थे। जानकारी के अनुसार कालादेव के किसान फतेह सिंह के दो पुत्र और एक बेटी बुधवार की सुबह खेत पर चना बीनने गए थे। वे दोपहर को चना लेकर साइकिल से वापस घर लौट रहे थे। इसी दौरान पीछे से तेज रफ्तार से आ रहे बोलेरो वाहन ने इन बच्चों को टक्कर मार दी।

बच्चें दूर उछलकर फीका गए, वहीं बोलेरो वाहन भी अनियंत्रित होकर पेड़ से टकरा गया। एक्सीडेंट के बाद वाहन में सवार तीन लोग फरार हो गए। आसपास के खेत में फसल काट रहे मजदूरों ने इन बच्चों को लटेरी अस्पताल पहुंचाया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया। यह वाहन बीनागंज के निखिल राजपूत के नाम रजिस्टर्ड होना बताया गया है। फतेहसिंह के सिर्फ तीन ही बच्चे थे। इस दर्दनाक हादसे ने उनका पूरा परिवार छीन लिया। पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच में जुटी है। लटेरी में बच्चों का पीएम किया जा रहा है। उनारासी कलां थाना प्रभारी बनवारीलाल यादव के मुताबिक वाहन चालक पर प्रकरण दर्ज कर उसकी तलाश की जा रही है।

MP क्या 14 अप्रैल के बाद भी बढ़ सकती है लॉकडाउन की डेट? सरकार ने जारी किया 3 महीने का प्लान


मुलतापी समाचार

  • चीन से निकले कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तबाही मचा दी
  • भारत में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1000 के पार पहुंच गई
  • लॉकडाउन के दूसरे दिन ही सरकार ने राहत पैकेज का ऐलान किया

नई दिल्ली। चीन के वुहान से निकले कोरोना वायरस ( Coronavirus In China ) ने पूरी दुनिया में तबाही मचा दी है। भारत में कोरोना ( Coronavirus In India ) संक्रमित मरीजों की संख्या 650 के पार पहुंच गई है।

हालांकि भारत में अभी कोरोना वायरस ( Coronavirus ) दूसरी स्टेज में है। विशेषज्ञों के अनुसार भारत जल्द ही कोरोना की तीसरी स्टेज में प्रवेश कर सकता है।

यही वजह है कि भारत सरकार ( Modi Goverment ) ने देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लागू कर दिया है। लॉकडाउन ( Lockdown ) के दूसरे दिन ही मोदी सरकार ने देशवासियों के लिए राहत पैकेज का ऐलान किया।

लेकिन सरकार ने इस पैकेज में जिस तरह से हर योजना को आगामी तीन महीने के लिए तैयार किया है, उसने कई सवालों को जन्म दे दिया है।

दरअसल, केंद्र सरकार की प्लानिंग देख ऐसा लग रहा है, जैसे यह लॉकडाउन 21 दिनों से अधिक होने वाला है।

आपको बता दें कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरो नावायरस के प्रकोप के खिलाफ सरकार द्वारा छेड़ी गई जंग से प्रभावित गरीबों और मजदूरों की कठिनाइयों को देखते हुए गुरुवार को 1,70,000 करोड़ रुपये के राहत पैकेज के रूप में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज की घोषणा की।

वित्तमंत्री ने कहा कि इस पैकेज के तहत गरीबों और दिहाड़ी मजदूरों को सीधे उनके बैंक खाते में नकद राशि का हस्तांतरण कर उनको खाद्य सुरक्षा प्रदान की जाएगी

आपको बता दें कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरो नावायरस के प्रकोप के खिलाफ सरकार द्वारा छेड़ी गई जंग से प्रभावित गरीबों और मजदूरों की कठिनाइयों को देखते हुए गुरुवार को 1,70,000 करोड़ रुपये के राहत पैकेज के रूप में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज की घोषणा की।

वित्तमंत्री ने कहा कि इस पैकेज के तहत गरीबों और दिहाड़ी मजदूरों को सीधे उनके बैंक खाते में नकद राशि का हस्तांतरण कर उनको खाद्य सुरक्षा प्रदान की जाएगी

लेकिन सरकार ने राहत पैकेज में जिस तरह से तीन महीनों की योजनाओं का ऐलान किया है, उससे यह अटकलें लगने लगी हैं कि सरकार आगे की तैयारियों के साथ बढ़ रही है।

मुलतापी समाचार

कृषि‍ उपज मंडी में गेहूंं का समर्थन मूल्य पर उपार्जन कार्य स्थगित


कृषि‍ उपज मंडी बैतूल में गेहूंं की फसल आगामी आदेश तक खरदी नहीं कि जायेगी

मुलतापी समाचार

बैतूल । जिला आपूर्ति अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार रबी विपणन वर्ष 2019-20 के अंतर्गत जिले में 01 अप्रैल 2020 से प्रस्तावित गेहूं उपार्जन कार्य को कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए आगामी आदेश तक स्थगित किया गया है। उपार्जन कार्य की आगामी तिथि पृथक से अवगत कराई जाएगी।

सार्वजनिक धार्मिक आयोजन, पूजन, भंडारे की अनुमति नहीं


धार्मिक आयोजन, पूजन, भंडारे की फाइल फोटो

मुलतापी समाचार

बैतूल। कलेक्टर एवं दंडाधिकारी श्री राकेश सिंह ने लोगों से कि दुर्गाष्टमी अथवा रामनवमी के दौरान एक एवं दो अप्रैल को अपने घरों में ही रह कर पूजा आराधना करने का आग्रह किया है. उन्होंने स्पष्ट किया है कि इस दौरान किसी भी प्रकार के सार्वजनिक धार्मिक उत्सवों , पूजन अथवा भंडारों के आयोजन की कतई अनुमति नहीं दी जाएगी .निर्देशों का उल्लंघन कर आयोजन करने वालों को प्रतिबंधात्मक धाराओं में तत्काल गिरफ्तार किया जाएगा. इस आदेश में किसी भी प्रकार की छूट अथवा अपालन बर्दाश्त नहीं होगा