पत्रकारों को कोविड-19 कव्हरेज में सहयोग के लिये कलेक्टरों को निर्देश – प्रसचिव जनसंपर्क


Multapi Samachar

Bhopal  सचिव जनसंपर्क ने पत्रकारों को कोविड-19 कव्हरेज में सहयोग के लिये कलेक्टरों को दिये निर्देश
भोपाल (हेडलाईन)।  सचिव जनसम्पर्क पी. नरहरि ने पत्रकारों को कोविड-19 संक्रमण के दौरान समाचार कव्हरेज में सहयोग के लिये जिला कलेक्टरों को निर्देश जारी किये हैं। कलेक्टरों से कहा गया है कि राज्य शासन द्वारा पत्रकारों को जारी अधिमान्यता कार्ड को प्राथमिकता दी जाये।

मीडिया संस्थानों अथवा समाचार पत्र कार्यालयों में कार्यरत ऐसे कर्मचारी, जो कोरोना कव्हरेज में सक्रिय रूप से कार्यरत हैं, उनके संस्थान द्वारा जारी फोटोयुक्त परिचय-पत्र को मान्यता दी जाये।

यदि किसी पत्रकार के पास ये दोनों दस्तावेज नहीं हैं, तो जिले के जनसम्पर्क अधिकारी से प्रमाणित कराकर कलेक्टर स्वयं फोटोयुक्त परिचय-पत्र जारी करें।
सचिव पी. नरहरि ने कलेक्टरों से कहा है कि इन तीनों दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज रखने वाले पत्रकारों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाते हुए समाचार संकलन की अनुमति दी जाये।

उन्होंने कहा कि यह भी उचित होगा कि ऐसे पत्रकारों से उनके वाहन के लिये अलग से अनुमति पत्र की मांग न की जाये।

कोरोना न्‍यूज – छिन्‍दवाडा में मिला कोरोना पॉजिटिव मरिज


मुलतापी समाचार

छिन्‍दवाडा। आईसीएमआर में आज जबलपुर सहित आसपास के जितों से आई 34 रिपोर्ट को टेस्ट किया गया जिसमें की 1 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।पॉजिटिव आई रिपोर्ट छिंदवाड़ा स्थित एक गाँव में रहने वाले युवक की बताई जा रही है।

इंदौर में काम करता है 36 वर्षीय युवक,20 मार्च को आया था छिंदवाड़ा…. जानकारी के मुताबिक छिंदवाड़ा निवासी युवक 20 मार्च को अपने गाँव आया था। युवक को सर्दी-बुखार और खाँसी आने के कारण छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। 36 साल के युवक की आज जबलपुर आईसीएमआर में रिपोर्टटेस्ट हुई जहाँ युवक कोरोना वायरस पॉजिटिव आया है। वर्तमान में कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीज छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज में ही भर्ती

कोरोना वायरस संबंधित आईसीएमआर से मिली आज की रिपोर्ट इस प्रकार है……. अभी तक आईसीएमआर में हुए कुत टेस्ट-186 कुत पॉजिटिव रिपोर्ट-09जबलपुर(08)छिंदवाड़ा(01) आज हुए कुल कोरोना वायरस टेस्ट-34 आज पॉजिटिव रिपोर्ट-01(छिंदवाड़ा)

मप्र CM शिवराज सिंह ने सख्‍त लहजे में कहा – दोषि‍यों को बख्‍शा नहीं जाएगा


डॉक्‍टरों पर हमला करने वालों के खिलाफ होगी राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून केे अंतर्गत कार्रवाई

मुलतापी समाचार

भोपाल,इंदौर (Indore) में कोरोना संक्रमण की स्क्रीनिंग करने पहुंची डॉक्टरों की टीम पर हमले को लेकर सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने सख्त रुख अख्तियार किया है. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ लड़ने वाले डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, आशा और उषा कार्यकर्ता, राजस्व अमला, नगरीय निकाय के कर्मचारियों से अपील की है कि वे कोरोना के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखें. उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की है.

शिवराज ने इंदौर की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए कहा कि घटना में शामिल सभी अराजक तत्वों को किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ा जाएगा. पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है. कुछ को गिरफ्तार किया गया है. उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है. सीएम ने कहा कि ऐसे लोग केवल मुट्ठी भर हैं, जो मानवता की सेवा करने वालों के खिलाफ ऐसा रवैया अख्तियार कर रहे हैं. फिर भी पीड़ित मानवता को बचाने के लिए आपके काम में कोई बाधा डालेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. दोषियों को किसी भी कीमत पर छोड़ा नहीं जाएगा. सीएम ने कहा कि, ‘लोगों की जिंदगी के लिए जरूरी है कि आप अपने काम में जुटे रहें. मैं आपकी कर्तव्यनिष्ठा को प्रणाम करता हूं. मैं और पूरा प्रदेश आपके साथ है.’

वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने भी इंदौर की घटना को कायराना करतूत करार दिया है. उन्होंने कहा कि डॉक्टर्स पर हमले की घटना कायराना करतूत है. डॉक्टर इस वक्त मानवता की सेवा के लिए अपनी जान जोखिम में डालकर इलाज का काम कर रहे हैं. ऐसे में डॉक्टरों पर हमले करने वाले बख्शे नहीं जाएंगे, दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी घटना की निंदा की है. उन्होंने ट्वीट किया है कि, ‘प्रदेश के इंदौर के रानीपुरा में पूर्व में व कल टाटपट्टी बाखल में स्वास्थ्य कर्मियों के साथ हुए दुर्व्यवहार व पथराव की घटना बेहद दुःखद व निंदनीय. ऐसा कृत्य करने वाले समाज, इंसानियत व मानवता के दुश्मन.’

दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि, ‘संकट की इस घड़ी में अपनी जान जोखिम में डालकर जनता की सुरक्षा कर रहे व अपने कर्तव्यों का पालन कर रहे डॉक्टर्स, स्वास्थ्य कर्मियों व प्रशासन के अधिकारियों का सभी को आगे आकर सहयोग करना चाहिए और उनके सेवा के जज़्बे को सलाम करना चाहिए.’

दरअसल इंदौर के टाट पट्टी बाखल इलाके में बीते दिनों एक शख्स की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई थी. उसके संपर्क में जो लोग भी आए थे, स्वास्थ्य विभाग की टीम उनकी स्क्रीनिंग के लिए गई थी, लेकिन सहयोग तो दूर लोगों ने स्वास्‍थ्य विभाग की टीम का विरोध करना शुरू कर दिया. इसके बाद भीड़ गुस्सा गई और टीम के साथ मारपीट की. मारपीट के बाद भीड़ ने टीम के सदस्यों पर पथराव कर दिया. गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए इस इलाके को सील किया गया था और सुरक्षा के लिए बैरिकेडिंग भी की गई थी, जिसे गुस्साई भीड़ ने तोड़ दिया था.

Coronavirus in Indore : इंदौर में मरीजों का आंकड़ा बडा , छह की हालत अभी भी गंभीर


इंदौर में कोरोना के कहर से दो लेागों की और मौत, अब तक पांच लोगों की इस वायरस से गई जान।

मुलतापी समाचार

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Coronavirus in Indore गुरुवार सुबह इंदौर में कोरोना संक्रमण से 2 मौत और हो गई। मृतक 65 वर्षीय महिला निवासी खजराना और 54 वर्षीय पुरुष मोती तबेला निवासी हैं। अभी छह मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है। इंदौर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 75 हो चुकी है।

सूत्रों के अनुसार इन सभी से संक्रमित होने वाले लोगों की जानकारी तो मिल रही है, लेकिन नए मरीज किसके संपर्क में आए यह जानकारी नहीं मिल रही है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अभी भी अपर सेकेंड स्टेज में ही इसे नियंत्रण में लाने का विश्वास दिला रहे हैं।

सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जड़िया के अनुसार जो लोग पॉजिटिव मिल रहे हैं उनमें से कई लोग पहले से ही आइसोलेशन और क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती हैं। इससे इनके कम्युनिटी में संक्रमण फैलाने की संभावना कम होगी। इंदौर में कोरोना से पहली मौत 25 मार्च को 65 वर्ष पुरुष निवासी सिलावटपुरा की हुई थी।

उसके बाद 30 मार्च को राजकुमार कॉलोनी निवासी 41 वर्षीय पुरुष की मौत हुई थी। 30 मार्च को 49 वर्ष की महिला निवासी धार रोड की मौत हो चुकी है। 24 मरीजों की हालत में सुधार एमजीएम मेडिकल कॉलेज से मिली जानकारी के अनुसार 24 मरीजों की हालत में सुधार नजर आ रहा है। 8 मरीजों की हालत गंभीर थी जिनमें से दो की मौत हो चुकी है।

अभी भी 6 मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है। अन्य मरीजों की हालत स्थित है। 17 मरीजों को किया शिफ्ट भोपाल एम्स द्वारा भेजी गई 40 जांच रिपोर्ट में से 17 पॉजिटिव मरीज सामने आए थे। दो दिनों से लिस्ट नहीं मिलने से इन्हें असरावद के सेंटर में ही रखा गया था। इनमें से 11 एक ही परिवार के थे। इनके अलावा भी 8 अन्य पॉजिटिव मरीजों को शिफ्ट किया गया है।

मरीजों के परिजन क्वारंटाइन

टाटपट्टी बाखल में अपर कलेक्टर दिनेश जैन और एडिशनल एपी राजेश व्यास और अन्य अधिकारियों व जवानों की मौजूदगी में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सर्वे शुरू किया है। यहां से गुरुवार को 11 और लोगों को चोइथराम अस्पताल के पास अमरदास बैंक्वेट हॉल में क्वारंटाइन किया।

वहीं दौलतगंज में कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के परिवार से पत्नी, बच्चों सहित 4 और स्नेहलतागंज से 5, लोगों को एमटीएच हॉस्पिटल में क्वारंटाइन किया गया है। अपर कलेक्टर पवन जैन ने बताया कि इलाके में सख्ती से कर्फ्यू का पालन कराया जा रहा है।

मुलताई त. में दीवार ढहने से मलबे में दबी महिला


मुलतापी समाचार

मुलताई। महिला को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया।

मुलताई।मुलताई थाना क्षेत्र के ग्राम बोरगांव में मकान की दिवार ढहने से एक महिला मलबे में दब गई। जिसे गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है। संजीवनी 108 के ईएमटी महेश झलिये ने बताया कि अनीता पति शिवदास उम्र 35 वर्ष निवासी बोर गाव अचानक दीवार गिरने से मलबे में दब गई। जिसे ग्रामीणों ने बमुश्किल बहार निकाला। अनीता का पैर टूट गया एवं कमर में चोट आई है। अनीता पति शिवदास का प्राथमिक उपचार करते हुए मुलताई अस्पताल में भर्ती किया गया, जहा से उसे बैतूल रेफर किया गया है।

मुलताई गणेश मंडल के सदस्यों ने परिजनों को दी आर्थिक मदद


मुलतापी समाचार

मुलताई। मुलताई के पारेगांव रोड निवासी रमन शर्मा का लंबी बीमारी के चलते मंगलवार को निधन हो गया था। स्व. रमन शर्मा के परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। ऐसे में बुधवार को गांधी चौक गणेश उत्सव मंडल द्वारा स्व. रमन शर्मा के परिवार को 8100 रुपये की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की। मंडल के नवनीत चंदेल, सुमित शिवहरे, प्रशांत भार्गव, पंकज अग्रवाल, विनय खंडेलवाल, मोनू मिश्रा, पवन जैन, रोहित मिश्रा, अमन शर्मा, सौरभ खंडेलवाल, गुड्डू रस्तोगी ने राशि एकत्रित कर पीडि़त परिवार को प्रदान करते हुए आगे भी यथासंभव सहायता का आश्वासन दिया। गांधी चौक के गणेश मंडल द्वारा हमेशा ही जन सेवा के प्रकल्प चलाए जाते है। मंडल द्वारा इसके पूर्व एक महिला को मदद दी गई थी, उसका मकान आगजनी में जलकर खाक गया था, तब मंडल के सदस्यों ने एक बड़ी राशि देकर महिला की मदद की थी। एक बार फिर मंडल के सदस्य जरूरतमंद परिवार की मदद के लिए आगे आया है। परिजनों ने मंडल के सदस्यों का आभार व्यक्त किया है।

लॉकडाउन में भी पीथमपुर से चौथिया गांव पहुंचे 10 लोगों का कराया स्वास्थ्य परीक्षण


मुलतापी समाचार

इंदौर में कोरोना फैलने से दहशत में है क्षेत्र के लोग

मुलताई। इंदौर क्षेत्र में कोरोना फैलने से क्षेत्र के लोग भी दहशत में है, क्योंकि मुलताई क्षेत्र से बड़ी संख्या में लोग पीथमपुर इंदौर में कार्यरत हैं। लॉकडाउन के बाद लगातार उस क्षेत्र से लोगों का मुलताई वापस आना लगा हुआ है। ऐसे में डर है कि यदि एक भी संक्रमित नगर में आ गया तो यहां भी यह गंभीर बीमारी फैलने में देर नहीं लगेगी। नगर के समीपस्थ ग्राम चौथिया से भी कई लोग पीथमपुर में कार्य कर रहे हैं। बुधवार पीथमपुर से ग्राम चौथिया में 10 लोग पहुंचे जिनको पंचायत द्वारा पहले स्वास्थ्य परीक्षण के लिए मुलताई स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया गया। इसके लिए सभी लोगों के पहले पास बनाए गए जिसके बाद स्वास्थ्य परीक्षण हुआ।

मुलताई किसान नेता प्रहलाद अग्रवाल का निधन


मुलताई गोलीकांड में हो चुकी है आजीवन कारावास की सजा

मुलतापी समाचार

मुलताई। मुलताई के किसान नेता और डाक्टर सुनीलम के प्रमुख सहयोगी प्रहलाद स्वरूप अग्रवाल का बुधवार की सुबह 11 बजे निधन हो गया। स्व. प्रहलाद अग्रवाल मुलताई गोलीकांड मामले में आजीवन कारावास की सजा भी हो चुकी है। मुलताई गोलीकांड में उन्होंने किसानों की आवाज उठाई थी और आंदोलन को जिंदा रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। किसान संघर्ष समिति के फाउंडर सदस्य रहे प्रहलाद अग्रवाल मुलताई के पूर्व विधायक डॉ. सुनीलम के विश्वासपात्र एवं प्रमुख साथी माने जाते हैं। सुनीलम जब मुलताई आए थे, तब प्रहलाद अग्रवाल ने ही उन्हें आश्रय दिया था एवं उनके भोजन आदि की व्यवस्था भी वह ही करते थे। किसान नेता प्रहलाद अग्रवाल ने किसानों के लिए कई आंदोलनों में हिस्सा लिया। 1998 के बाद जब तक क्षेत्र में सुनीलम पूरी तरह से सक्रिय रहे, पुलिस प्रशासन की सबसे तेज नजर प्रहलाद अग्रवाल पर ही रहती थी। लॉकडाउन के कारण नगर एवं क्षेत्र के अधिकांश लोग उनके अंतिम दर्शन नहीं कर पाए एवं उनकी अंतिम यात्रा में भी शामिल नहीं हो पाए।

जरूरत मंदों को करा रही भोजन महिला समाज सेवी


मुलतापी समाचार

मुलताई क्षेत्र की यह पहली लड़की है जिसका नाम पल्‍लवी यादव है जो कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के चलते जरूरत मंदो को भोजन बाटा है।

देश भर में मरकज तब्लीगियों पर कसा शिकंजा, प्रारंभ हुआ सर्च ऑपरेशन


देश में फैला रहा कोराना मरकज तब्‍लीगियों द्वारा

Tablighi Markaz Nizamuddin:

मुलतापी समाचार

दिल्ली के निजामुद्दीन के Tablighi Markaz से लोगों को निकालने के बाद केंद्र सरकार ने यहां से विभिन्न राज्यों में गए उनके नुमाइंदों की तलाश तेज कर दी है। कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने सभी राज्यों के पुलिस प्रमुखों (डीजीपी) और मुख्य सचिवों को इसे जल्द से जल्द पूरा करने को कहा है। Tablighi Markaz के कारण पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस पीड़ित 376 नए मरीज सामने आए हैं। Tablighi Markaz में शामिल विदेशियों को वीजा नियमों के उल्लंघन का दोषी पाया जाता है तो उनके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई भी की जाएगी। विदेश मंत्रालय ने संबंधित देशों में अपने दूतावासों को इस बारे में जानकारी भी दे दी है।

वरना फिर सकता है पानी

बुधवार को सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और पुलिस महानिदेशकों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बैठक में कैबिनेट सचिव ने विभिन्न राज्यों में फैले Tablighi Markaz के लोगों के खतरे से आगाह किया। राजीव गौबा ने राज्यों को कहा कि इन Tablighi Markaz के लोगों की युद्धस्तर पर खोजकर उन्हें अलग-थलग करना जरूरी है, वरना अभी तक की सारी कोशिशों पर पानी फिर सकता है।

Tablighi Markaz वालों ने बिगाड़े हालात

Tablighi Markaz के लोगों की आपराधिक लापरवाही के कारण कोरोना के केस की संख्या तेजी से बढ़ने का हवाला देते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि उनके संपर्क में आने के कारण दिल्ली से 18, जम्मू-कश्मीर में 23, तेलंगाना में 20, आंध्र प्रदेश से 43, अंडमान-निकोबार से नौ, तमिलनाडु से 110 और पुडुचेरी से दो नए मामले सामने आए हैं। इसके अलावा कई अन्य जगहों पर अतिरिक्त सैंपल की टेस्टिंग की जा रही है। जहां भी ये मामले मिले हैं, वहां उनके संपर्क में आने वालों की पहचान के लिए सघन अभियान शुरू कर दिया गया है। ताकि जरूरत के मुताबिक उन्हें आइसोलेशन में रखने से लेकर अस्पताल में भर्ती तक किया जा सके।

उन्होंने कहा कि यदि Tablighi Markaz के कारण फैले कोरोना को छोड़ दें, तो पूरे देश में स्थिति नियंत्रण में है। उनके अनुसार कोरोना को फैलने से रोकने में लॉकडाउन का असर निश्चित रूप से सामने आएगा, सिर्फ लोगों का इसका कड़ाई से पालन करने की जरूरत है।