कोरोना संकट से देश को उबरने के लिए राज्यों को 11,092 करोड़ रुपए देगा गृह मंत्रालय


Multapi Samachar

नई दिल्ली। देश में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए राज्यों और केंद्रशासित राज्यों को गृह मंत्रालय ने राज्य आपदा जोखिम प्रबंधन कोष से 11, 092 रुपए जारी करने की मंजूरी दी है। राजधानी दिल्ली समेत पूरे देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रही महामारी से निपटने के लिए गृह मंत्री ने शुक्रवार को यह अहम फैसला लिया।

गौरतलब है स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक देश में कुल 2322 कोविड-19 के मामले सामने आ चुके हैं और अब तक कुल 62 कोरोना संक्रमित लोगों की देश में मौत हो चुकी है। हालांकि इस दौरान कुल 162 कोरोना संक्रमित मरीजों को ठीक भी किया गया है, जो अब अपने घरों में जा चुके हैं।

देश में कोरोना के सर्वाधिक मामले महाराष्ट्र में पाए गए हैं, जहां कुल 335 मामले उजागर हुए हैं जबकि 335 मामलों के साथ तमिलनाडु दूसरे नंबर पर हैं और केरल तीसरे नंबर हैं, जहां अब तक 286 मामले सामने आए हैं। सरकार ने उक्त कदम इसलिए उठाया है जिससे राज्य सरकारें इस महामारी के बढ़ते प्रकोप को कम करने के लिए जरूरी कदम उठा सकें।

भारत में तेजी से कोरोना संक्रमित मामलों की वृद्धि के लिए सीधे-सीधे तब्लीगी जमात जिम्मेदार पाए गए हैं। राजधानी दिल्ली के निजामुद्दीन पश्चिम में तब्लीगी जमात का मरकज देश के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार के प्रमुख केंद्र के तौर पर सामने आया है। एक से 15 मार्च के बीच यहां हजारों लोग एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हुए थे। कई राज्यों में इनमें से कई प्रतिभागी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

कोरोना महामारी से जंग में राज्यों को 11,092 करोड़ देगा

केंद्र गृह मंत्री अमित शाह ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों देखते हुए राज्यों में क्वारंटीन सेंटर स्थापित करने समेत दूसरे जरूरी कार्यों को लिए 11,092 करोड़ रुपए जारी करने का फैसला लिया है। भारत सरकार की ओर से 2020-21 के लिए स्टेट डिजास्टर रिस्क मैनेजमेंट फंड (SDRMF) के तहत राज्यों को पहली किस्त की मंजूरी दी गई है। सरकार ने ये कदम इसलिए उठाया है जिससे राज्य सरकारें इस महामारी के बढ़ते प्रकोप को कम करने के लिए जरूरी कदम उठा सकें।

महाराष्ट्र में सर्वाधिक 335 कोरोना संक्रमित मरीजों के मामले सामने आए

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक देश में कुल 2322 कोविड-19 के मामले सामने आ चुके हैं और अब तक कुल 62 कोरोना संक्रमित लोगों की देश में मौत हो चुकी है। हालांकि इस दौरान कुल 162 कोरोना संक्रमित मरीजों को ठीक भी किया गया है, जो अब अपने घरों में जा चुके हैं। देश में कोरोना के सर्वाधिक मामले महाराष्ट्र में पाए गए हैं, जहां कुल 335 मामले उजागर हुए हैं जबकि 335 मामलों के साथ तमिलनाडु दूसरे नंबर पर हैं और केरल तीसरे नंबर हैं, जहां अब तक 286 मामले सामने आए हैं।

राज्यों में क्वारंटीन सेंटर खोलने समेत अन्य कार्यों के लिए दी गई मंजूरी

राजधानी दिल्ली समेत पूरे देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रही महामारी से निपटने के लिए गृह मंत्री अमित शाह ने यह अहम फैसला इसलिए उठाया है जिससे राज्य सरकारें इस महामारी के बढ़ते प्रकोप को कम करने के लिए जरूरी कदम उठा सकें। इनमें राज्यों में महामारी के शिकार मरीजों के लिए क्वारंटीन सेंटर खोलने समेत अन्य जरूरी कार्य किए जा सकेंगे।

360 विदेशियों को ब्लैक लिस्ट में डालने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है

कोरोना वायरस के मद्देनजर देश की सीमाएं सील होने से पहले ही यहां से जा चुके ऐसे 360 विदेशियों को ब्लैक लिस्ट में डालने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है जिन्होंने भारत में तब्लीगी जमात की गतिविधियों में हिस्सा लिया था। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय ने उन 960 विदेशियों को प्रत्यर्पित किए जाने की बात को भी खारिज कर दिया जो पर्यटन वीजा पर यहां आए थे और तब्लीगी गतिविधियों में शामिल थे।

तब्लीगी जमात पर वीजा शर्त उल्लंघन व आपदा प्रबंधन के तहत कार्रवाई

मंत्रालय ने कहा कि इन लोगों के खिलाफ पहले ही विदेशी अधिनियम के तहत वीजा शर्तों के उल्लंघन और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। मंत्रालय ने कहा कि सभी पुलिस महानिदेशकों और पुलिस आयुक्तों को ऐसे मामलों में सख्त कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया है। गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने कहा कि इस स्तर पर प्रत्यर्पण का कोई सवाल ही नहीं, जब प्रत्यर्पण होगा तो वह स्वास्थ्य दिशानिर्देश के मानकों के मुताबिक होगा।

तब्लीगी जमात के कार्यक्रम की वजह से भारत में बढ़े कोरोना के मामले

निजामुद्दीन पश्चिम में तबलीगी जमात का मरकज देश के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार के प्रमुख केंद्र के तौर पर सामने आया है। एक से 15 मार्च के बीच यहां हजारों लोग एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हुए थे। कई राज्यों में इनमें से कई प्रतिभागी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों और इस बीमारी के खिलाफ अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मियों पर कथित हमले के मामलों में सख्त कार्रवाई करने को भी कहा है। मंत्रालय ने स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र से जुड़े लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा है।

मुलतापी समाचार

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s