जरूरतमंदों की सेवा के लिए सामने आए क्षत्रिय पवार समाज के युवा


बैतूल के केसरबाग में दीनदयाल रसोई तैयार कर भोजन के पैकेट तैयार करते हुए पवार समाज के युवा

केसरबाग में फरिस्‍तों के सहयोग से अब तक 1लाख से ज्‍यादा भाेेेेजन के पेकेट बनाकर जरूरत मंद परिवारों के लिए व्‍यवस्‍था की गई

मुलतापी समाचार

बैतूल। शहर में संचालित दीनदयाल रसोई गरीबों एवं जरूरतमंदों के लिए सहायता का एक पर्याय बनकर उभरी है जिसके माध्यम से जरूरतमंदों को दीन और रात का भोजन घर घर पहुंचा कर दिया जा रहा है। दीनदयाल रसोई के माध्यम से प्रतिदिन भोजन के करीब 5000 पैकेट बांटे जा रहे हैं । वही अतित पवार द्वारा मिली जानकारी के अनुसार की यह दीनदयाल रसोई, केसरबाग में जन सहयोग से संंचालित किया जा रहाा हैै जिसमे पिछले माह के 27 मार्च 2020 से अब तक 20 दिनों में 1.00 लाख से ज्‍यादा भोजन के पैकेट तैयार कर निर्धन परिवारों के लिए व्‍यवस्‍था कर वितरण किये गये। और यह कार्यक्रम आगामी लॉकडाउन के खत्‍म होते तक जरूरतमंदों की सहायता हेतू सुचारू रूप से संचालित होते रहेंगा।

इस कड़ी में जरूरत मंदों एवं गरीबों की सेवा के लिए क्षत्रिय पवार समाज के युवाओं ने आगे आकर अपना योगदान भी सुनिश्चित किया इसमें मुख्य रूप से अतीत पवार, रितेश कुमार, आशीष खपरिये, पिंटू परिहार, अनिल खवसे, राहुल पवार, जीवन बुआड़े, चेतन देशमुख ,राम पवार, श्याम पवार, आशीष कोड़ले, शिवा पवार ,संजीव पवार, महेन्द्र पवार आदि ने अपना योगदान दिया।

मनमोहन पंवार (संपादक)

मुलतापी समाचार

कोरोना वायरस #covid_19 :स्वास्थ्य विभाग हेल्थ बुलेटिन बैतूल


बैतूल : मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जी.सी. चौरसिया ने आज दिनांक 15.04.2020 का नोवल कोरोना वायरस कोविड-19 का हेल्थ बुलेटिन जारी किया है। आई.डी.एस.पी. से प्राप्त बिन्दुवार जानकारी सायं 4 बजे की स्थिति में इस प्रकार है:-

  1. क्वारेंटाईन में भर्ती नागरिकों की संख्या-108
  2. आयसोलेशन में भर्ती मरीज संख्या- 4
  3. होम आयसोलेशन संख्या- 3137
  4. होम आयसोलेशन से डिस्चार्ज संख्या- 1728
  5. आज दिनांक तक लिये गये कुल सेम्पल संख्या- 129
  6. आज लिये गये सेम्पल संख्या- 2
  7. रिपोर्ट अप्राप्त संख्या- 51
  8. आज दिनांक तक पॉजिटिव आये सेम्पल संख्या- 01
  9. आज दिनांक तक नेगेटिव आये सेम्पल संख्या- 77
  10. आज दिनांक तक कोरोना से मृत्यु संख्या- 00
  11. आयसोलेशन से डिस्चार्ज संख्या- 13
  12. आयसोलेशन से रेफर संख्या- 01
  13. स्क्रीनिंग किये गये कुल मरीज संख्या- 29309
  14. सामान्य सर्दी, खांसी, बुखार के मरीज संख्या- 2014

डॉ. चौरसिया ने बताया कि विभाग द्वारा नागरिकों का सतत् परीक्षण किया जा रहा है एवं कोरोना वायरस से बचाव एवं नियंत्रण संबंधी सलाह दी जा रही है।

शिवा पवार मुलतापी समाचार बैतूल

इधर-उधर या सार्वजनिक थूका तो होगा जुर्माना, इन चीजों पर और भी सख्त हुई सरकार


Multapi Samachar

नई दिल्ली, बीते मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में लॉकडाउन के दूसरे चरण की घोषणा कर दी है। ऐसे में आज लॉकडाउन के बीच किन्हें छूट मिलने जा रही है इसकी गाइडलाइंस जारी हो गई हैं। इसके अनुसार फिलहाल परिवहन पर पूरी तरह रोक जारी रहेगी। राज्यों के बॉर्डर भी सील ही रहेंगे। यानी बस, मेट्रो, हवाई और ट्रेन सफर पूरी तरह बंद ही रहेगा। इसके अलावा स्कूल, कॉलेज कोचिंग सेंटर भी बंद ही रहेंगे। वहीं किसानी से जुड़े कामों को छूट जारी रहेगी। इसके साथ ही मुंह कवर करना अब जरूरी कर दिया गया है। इधर उधर थूकने वालों पर जुर्माना भी लगेगा।

गाइडलाइन में साफ कर दिया गया है कि शादियां फिलहाल किसी समारोह के साथ आयोजित नहीं हो सकतीं। जिम व धार्मिक स्थान पूरी तरह बंद रहेंगे। राजनीतिक और खेल आयोजन पर भी रोक। इसके अलावा मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है। निर्देशों के अनुसार किसानों और कृषि मजदूरों को हार्वेस्टिंग से जुड़े काम करने की छूट रहेगी। कृषि उपकरणों की दुकानें, उनके मरम्मत और स्पेयर पार्ट्स की दुकानें भी खुली रहेंगी। खाद, बीज, कीटनाशकों के निर्माण और वितरण की गतिविधियां चालू रहेंगी, इनकी दुकानें खुली रहेंगी। कटाई से जुड़ी मशीनों (कंपाइन) के एक राज्य से दूसरे राज्य में मूवमेंट पर कोई रोक नहीं रहेगी।

3 मई तक ये गतिविधियां प्रतिबंधित रहेंगी-

1) सुरक्षा उद्देश्यों और कुछ अन्य अपवादों को छोड़कर घरेलू, अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्राओं पर प्रतिबंध।

2)ट्रेन की यात्राएं बंद।

3) सार्वजनिक परिवहन और मेट्रो रेल सेवाएं व बसें बंद रहेंगी।

4) मेडिकल जरूरतों के अलावा इंटर डिस्ट्रिक्ट और इंटरस्टेट मूवमेंट की इजाजत नहीं होगी।

5) शैक्षिक, प्रशिक्षण, कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे।

6) सिर्फ जिन्हें अनुमति हो वो औद्योगिक और व्यावसायिक गतिविधियों हो सकेंगी ।

7) हॉस्पिटेलिटी सेवाएँ प्रतिबंधित रहेंगी।

8) टैक्सी, ऑटोरिक्शा, साइकिल रिक्शा और कैब बंद रहेंगे।

9) सिनेमा हॉल, मॉल, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर्स, बार और ऑडिटोरियम बंद रहेंगे।

10) सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्य बंद रहेंगे।

11) धार्मिक मण्डली सख्त वर्जित है।

12) अंतिम संस्कार में 20 से अधिक लोग नहीं जा सकेंगे।

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया गया है। मंगलवार को घोषणा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि संक्रमण पर रोक लगाने में लॉकडाउन के प्रभावी नतीजे मिले हैं। प्रधानमंत्री ने करीब 25 मिनट के राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि दूसरे चरण में लॉकडाउन का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंने कहा था कि 20 अप्रैल से कुछ इलाकों में छूट भी दी जा सकती है।

बता दें कि कोरोना वायरस का संक्रमण भारत में लगातार बढ़ रहा है। देश में पिछले 24 घंटे में 1076 पॉजिटिव मामले सामने आने के बाद कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 11439 हो गई है। वहीं, पिछले 24 घंटे में कोरोना से 38 लोगों की मौत हुई है, जिससे कोविड-19 महामारी से मरने वालों का आंकड़ा 377 पहुंच गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना वायरस के कुल 11439 मामलों में से 9756 एक्टिव केस हैं। इसके अलावा, 1305 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार सुबह 8 बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना वायरस से सर्वाधिक 178 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। यहां अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 3124 हो गई है। 

आज से प्रारंभ समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी


कृषि बुलेटिन –

जिले में 79 केंद्रों पर होगी खरीदी

गेहूं का समर्थन मूल्य 1925 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित

मुलतापी समाचार

बैतूल। राज्य शासन द्वारा रबी विपणन वर्ष 2020-21 में गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीदी बुधवार 15 अप्रैल से शुरू की जा रही है। किसानों की सुविधा के लिए जिले में 79 खरीदी केन्द्र बनाए गए हैं। इस बार सरकार द्वारा गेहूं का समर्थन मूल्य 1925 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है।

कलेक्टर राकेश सिंह ने बताया कि उपार्जन केंद्रों पर केवल एसएमएस प्राप्त किसानों के ही उपज की तौल की जाएगी। ऐसे किसान जिन्हें एसएमएस नहीं होता है, उन्हें केन्द्र पर आने की अनुमति नहीं रहेगी। मार्ग में कोरोना जांच बैरियर पर विक्रय हेतु ले जाने के लिए जिन वाहनों का उपयोग किया जा रहा है उनके साथ में पंजीकृत मोबाइल पर प्राप्त एसएमएस होना अनिवार्य है, अन्यथा उन्हें उपज बेचने जाने की अनुमति नहीं होगी। लघु सीमांत किसानों को प्राथमिकता के आधार पर एनआईसी भोपाल से एसएमएस भेजे जाएंगे। एसएमएस प्राप्त किसानों के नाम एवं मोबाइल नंबर उपार्जन केन्द्र की लॉगिन पर प्रदर्शित कराए गए हैं। जिन्हें उपार्जन प्रभारी द्वारा एसएमएस प्राप्त किसानों के मोबाइल पर उपज विक्रय करने तथा केन्द्र पर अकेले उपस्थित होने की सूचना दी जाएगी। उनि‍ि‍ साथ वृद्ध, बच्चों, अस्वस्थजनों को उपार्जन केन्द्र पर लाने की अनुमति नहीं होगी।

एक उपार्जन केन्द्र पर प्रारंभ में 6 किसानों को प्रतिदिन एसएमएस किए गए हैं जो कि सुबह या दोपहर दो पाली के लिए 3-3 किसानों के तौल के लिए होंगे। यदि एसएमएस प्राप्त किसान उन्हें दी गई तारीख पर उपज बेचने हेतु उपस्थित नहीं होते हैं तो उन्हें आगामी तारीख का एसएमएस जारी किया जाएगा।

उपार्जन केन्द्र पर आने वाले किसानों तथा केन्द्र पर कार्यरत कर्मचारियों के मध्य न्यूनतम 3-3 मीटर की दूरी बनाए रखना अनिवार्य है। स्कन्ध की गुणवत्ता परीक्षण एवं कृषक तौल पर्ची और बिल जारी करने वाले ऑपरेटर तथा कर्मचारी के पास एक से अधिक किसान उपस्थित नहीं रहेंगे, इसके लिए 3-3 मीटर की दूरी पर चूने द्वारा बनाए गए गोले में खड़े रहने की व्यवस्था रहेगी। किसानों सहित कर्मचारियों एवं हम्मालों के लिए मास्क का उपयोग करना एवं सेनेटाइजर्स अथवा साबुन से हाथ साफ करना आवश्यक रहेगा। उपार्जन केंद्रों पर आने वाली तकनीकी समस्याओं एवं शिकायतों को दर्ज कर त्वरित निराकरण हेतु जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है, जिसका दूरभाष क्रमांक 07141-238632 है, जो प्रातः 8 बजे से रात्रि 8 बजे तक संचालित रहेगा।

जिले में खेतों में पककर खड़ी है गेहूं की फसल नहीं मिल रही कटाई मशीन, प्रशासन को नहीं फिक्र


खेतों में बारूद बनकर खड़ी गेहूं की फसलें,

कृषि विभाग के अफसरों ने नहीं बनाई कोई व्यवस्था, कागजी दावे करने में जुटे अफसर

सांसद और विधायक भी नहीं फिक्रमंद, कमिश्नर से किसानों ने मांगी मदद

मुलतापी समाचार

बैतूल। लॉकडाउन के कारण जिले में गेहूं की फसल कटाई खासी प्रभावित हो रही है। खेतों में सूखकर बारूद जैसी स्थिति में पहुंच चुकी गेहूं की फसल काटने के लिए न तो हार्वेस्टर मिल पा रहे हैं और न ही मजदूर। लगातार बढ़ता तापमान और खेतों में लग रही आग की घटनाओं से किसान दहशत में एक- एक दिन हार्वेस्टर मिलने के इंतजार में काट रहे हैं। हद तो यह है कि जिले के कृषि विभाग ने किसानों को फसल कटाई में मदद करने की न तो अब तक कोई योजना बनाई है और न ही उसे यह पता है कि जिले में कितने हार्वेस्टर हैं और कितने कटाई करने में जुटे हुए हैं। जबकि प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन में भी किसानों को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए उन्हें फसल कटाई में पूरा सहयोग देने के लिए प्रशासन को स्पष्ट निर्देश दिए हैं। किसानों की फसल कटाई के लिए अब तक सांसद और विधायकों द्वारा कोई मदद नहीं की गई है जिससे आहत होकर किसानों ने अब नर्मदापुरम संभाग के कमिश्नर से मदद करने की गुहार लगाई है।

जिले में इस बार 2.26 लाख हेक्टेयर से भी अधिक रकबे में गेहूं की फसल की बोवनी हुई है। अब तक करीब 60 प्रतिशत क्षेत्र में ही गेहूं की फसलों की कटाई का काम पूरा हो पाया है। लॉकडाउन के कारण जिले में आसपास के जिलों के अलावा पंजाब, राजस्थान एवं महाराष्ट्र से हार्वेस्टर पहुंच नहीं पाए। जिला प्रशासन ने भी लॉकडाउन के प्रारंभ होने के बाद जिले में हार्वेस्टरों की उपलब्धता के लिए कोई प्रयास नहीं किए, जिससे केवल स्थानीय लोगों के पास मौजूद हार्वेस्टरों पर ही पूरी कटाई की जिम्मेदारी आ गई है।

हार्वेस्टर संचालक जहां अपनी मनमानी पर उतारू हो गए हैं वहीं मनमाना दाम भी वसूलने लगे हैं। किसानों को कटाई का आश्वासन देने के बाद भी 8 से 10 दिन बीत जाने पर उनके खेतों में कटाई करने नहीं पहुंच रहे हैं। ग्राम उमनबेहरा के किसान पंकज चौधरी ने बताया कि अब तक वे एक दर्जन हार्वेस्टर संचालकों से संपर्क कर चुके हैं। सब आश्वासन दे रहे हैं लेकिन कटाई कोई भी नहीं कर रहा है। इटारसी में भी अपने रिश्तेदारों से संपर्क कर वहां से हार्वेस्टर भेजने की गुहार लगाई जा रही है लेकिन कोई उम्मीद नजर नहीं आ रही है। ग्राम सिंगनवाड़ी के किसान राजीव वर्मा ने बताया कि गेहूं की कटाई के लिए वे भी पिछले 11 दिन से लगातार हार्वेस्टर की तलाश कर रहे हैं लेकिन अब तक नहीं मिल पाया है और फसल खेत में खड़ी हुई है। किसानों की माने तो संकट के इस दौर में कृषि विभाग के अधिकारी लापरवाह बने हुए हैं। कृषि विभाग के मुखिया को यह तक नहीं पता है कि जिले में अब तक कितने क्षेत्र में कटाई हो चुकी है। फसल कटाई के लिए कितने हार्वेस्टर चल रहे हैं और कहां पर किसान एक पखवाड़े से इंतजार कर रहे हैं। यही स्थिति विभाग के मैदानी अमले की भी हो रही है, उनके अनुसार विभाग की ओर से कोई निर्देश ही जारी नहीं किए गए हैं।

डीडीए को किसानों के फोन का इंतजारः ‘नवदुनिया’ ने जब उप संचालक कृषि केपी भगत से जिले में गेहूं की कटाई के संबंध में चर्चा की तो उन्होंने दावा कर दिया कि मात्र 20 प्रतिशत कटाई बाकी है और हार्वेस्टर चल रहे हैं। किसानों को हार्वेस्टर न मिलने के संबंध में उन्होंने यह दावा किया कि आज तक एक भी किसान ने उनसे संपर्क ही नहीं किया। कुल कितने हार्वेस्टर जिले में चल रहे हैं इसके संबंध में उन्होंने कहा कि वे पता करके बता देंगे।

अब तक दो दर्जन खेतों में राख हो गई फसलें: जिले में अब तक दो दर्जन से अधिक खेतों में आग लगने के कारण फसलें राख होने की घटनाएं घटित हो चुकी हैं। किसानों की मानें तो कटाई के लिए न तो मजदूर मिल पा रहे हैं और न ही हार्वेस्टर वाले कटाई करने के लिए तैयार हो रहे हैं। अज्ञात कारणों से आग लगने की घटनाएं हो रही हैं और किसानों के सामने कोई विकल्प ही नहीं है। शाहपुर से सचिन शुक्ला ने बताया कि क्षेत्र में 20 प्रतिशत फसल कटाई अब भी बाकी रह गई है। घोड़ाडोंगरी से विनोद पातरिया ने बताया कि ब्लॉक में 40 प्रतिशत खेतों में फसल खड़ी हुई है, हार्वेस्टर नहीं मिल रहे हैं जिससे किसान हैरान-परेशान हो रहा है। मुलताई से राकेश अग्रवाल ने बताया कि आमला ब्लॉक में 40 प्रतिशत खेतों में फसल लगी हुई है जबकि मुलताई और प्रभातपट्टन ब्लॉक में 30 प्रतिशत कटाई बाकी रह गई है।

सरकार अधिवक्ताओं पर भी ध्यान दे, अब अभिभाषक संघ देगा सम्मान सामग्री


लॉकडाउन की अवधि 03 मई बढ़ने से कई अधिवक्ताओं पर जीवनयापन का संकट गहराया

अधिवक्ताओं को दी जा रही सम्मान सामग्री।

मुलतापी समाचार

मुलताई। सरकार द्वारा लॉकडाउन की अवधि लगातार बढ़ाई जा रही है, जिसमें गरीबों का तो ध्यान रखा जा रहा है लेकिन मध्यम वर्ग की बिलकुल भी परवाह नहीं की जा रही है। जिससे मध्यम वर्ग पर जीवनयापन का संकट गहरा गया है। इधर लॉकडाउन की अवधि बढ़ने से ग्रामीण क्षेत्रों सहित कई अधिवक्तागण ऐसे भी हैं, जिनके सामने आजीविका की परेशानी खड़ी हो गई है। एक प्रतिष्ठित पेशा करने से वे किसी के सामने अपनी समस्या भी नहीं रख पा रहे हैं, ऐसी स्थिति में परेशान अधिवक्ताओं के लिए अभिभाषक संघ द्वारा सहयोग के हाथ बढ़ाए गए हैं। अभिभाषक संघ के अध्यक्ष गिरधर यादव द्वारा इस विषम परिस्थिति में जरूरतमंद अधिवक्ताओं को सम्मान सामग्री देने की व्यवस्था की गई है, जिसमें दैनिक जरूरतों की सामग्री रखी गई है।

गिरधर यादव ने बताया कि जरूरतमंद अधिवक्ता अभिभाषक संघ के किसी भी पदाधिकारी से संपर्क करके सामग्री प्राप्त कर सकता है। उन्होंने बताया कि उन्हें अधिवक्ताओं के सम्मान का पूरा ख्याल है, इसलिए जो जरूरत की सामग्री दी जा रही है, उसे सम्मान सामग्री ही कहा जा रहा है। अभिभाषक संघ के पदाधिकारियों ने बताया कि जिन्हें सामग्री दी जाएगी उनका ना ही नाम बताया जाएगा और ना ही कोई फोटो खींचा जाएगा, इसके लिए उन्हें मात्र एक साधारण आवेदन संघ को देना होगा। जिससे उन्हें तत्काल सामग्री मिल जाएगी।

इस सहयोग में यह भी पूरा ख्याल रखा जाएगा कि किसी भी अधिवक्ता के सम्मान को ठेस ना पहुंचे। संघ के पदाधिकारियों के अनुसार जो अधिवक्ता सक्षम हैं या जिनके पास चौपहिया वाहन हैं उन्हें इस सुविधा से अलग रखा गया है। उन्होंने बताया कि लगभग एक महीने से न्यायालय में कार्य नहीं करने से अधिवक्ता अपने घरों में बैठे हैं। अभिभाषक संघ का उद्देश्य है कि जो अधिवक्ता सिर्फ इसी पेशे पर निर्भर है उन्हें कुछ सहयोग मिल सके।

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध क्राइम ब्रांच ने किया मामला दर्ज-


सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध क्राइम ब्रांच ने किया मामला दर्ज :-

भोपाल : दिनाँक 15 अप्रैल 2020 – कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु लॉक डाउन के दौरान जिला दण्डाधिकारी एवं कलेक्टर भोपाल द्वारा धारा 144 ipc के तहत आदेश जारी किए गए है, जिसका उल्लंघन कर व्हाट्सएप, फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक, भड़काऊ मैसेज/वीडियो डालने वालों के खिलाफ भोपाल पुलिस द्वारा सख्त वैधानिक कार्रवाई की गई है। माह मार्च एवं अप्रैल में धारा 188, 295, 501, 502(2) ipc के तहत 8 अपराध दर्ज किये गए है एवं 10 लोगों के खिलाफ धारा 107, 116(3) crpc के तहत कार्यवाही की गई है, इस तरह कुल 18 लोगों के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई की जा चुकी है।

इसी क्रम में थाना क्राइम ब्रांच को एक शिकायती आवेदन प्राप्त हुआ, जिसकी जांच पर पाया गया कि अज्ञात व्यक्ति द्वारा अपने ट्वीटर अकॉउंट पर डॉक्टर समुदाय के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी पोस्ट की गई थी, जिससे उक्त समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाने एवं  वैमनस्य की स्थिति पैदा होने की संभावना को दृष्टिगत रखते हुए अज्ञात आरोपी के विरुद्ध थाना क्राइम ब्रांच में धारा 501, 505(2) भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर सख्त कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

अतः सभी नागरिकों से अपील है कि सोशल मीडिया पर किसी भी प्रकार आपत्तिजनक टिप्पणी, न्यूज, मैसेज, वीडियो आदि पोस्ट न करें। ऐसा करने वालों के विरुद्ध धारा 188 के तहत सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

इस तरह के आपत्तिजनक टिप्पणी, मैसेज, वीडियो एवं अफवाह भरे वीडियो/मैसेज आदि सोशल मीडिया पर नजर आते है तो उन्हें बगैर पुष्टि के फारवर्ड बिल्कुल नही करें एवं हेल्पलाइन/व्हाट्सएप नंबर 7049106300 पर सूचित करें। सूचना देने वाले व्यक्ति का नाम गोपनीय रखा जाएगा। भोपाल पुलिस आपकी सुरक्षा एवं सहयोग में सदैव तत्पर हैं।

शिवा पवार मुलतापी समाचार बैतूल

20 अप्रैल तक मंडी नहीं करेंगे गेहूं की खरीदी, बैठक में व्यापारियों ने दी सहमति, बाद में ज्ञापन सौंपा


एसडीएम ने मंडी में अनाज खरीदी के लिए व्यापारियों ने से की चर्चा

एसडीएम के सामने व्यापारियों ने दी सहमति, कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा, कहा- नहीं करेंगे गेहूं की खरीदी

20 अप्रैल तक मंडी में खरीदी कार्य नहीं करेंगे व्यापारी

मुलतापी समाचार

हरदा। समर्थन मूल्य पर बुधवार से गेहूं खरीदी का कार्य शुरू हो जाएगा। इसके लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन को 3 मई तक जारी रखने का एलान कर दिया है। इन सब के बीच किसानों की परेशानी को देखते हुए जिला प्रशासन ने व्यापारियों से मंडी में खरीदी कार्य शुरू करने के लिए मंगलवार को मंडी प्रांगण के विश्राम गृह में सुबह 11 बैठक का आयोजन किया। जिसमें एसडीएम हरिसिंह चौधरी, मंडी सचिव किशोर माहेश्वरी सहित दो दर्जन से अधिक व्यापारी शामिल हुए।

बैठक में व्यापारियों ने भी खरीदी कार्य शुरू करने पर अपनी सहमति प्रदान की। इस दौरान मंडी सचिव द्वारा भी मंडी में खरीदी व्यवस्था के नियम बना दिए गए। दोपहर करीब 1 बजे बैठक खत्म हो गई। इसके बाद व्यापारियों ने कलेक्टर के नाम कलेक्ट्रेट में और मंडी सचिव को ज्ञापन सौंपा, जिसमें 20 अप्रैल तक खरीदी कार्य नहीं करने में अपनी असमर्थता जता दी। हालांकि सुबह बैठक में खरीदी कार्य को लेकर नियम भी बना दिए गए थे। व्यापारियों का मानना है, कि प्रधानमंत्री द्वारा 20 अप्रैल तक सख्ती से साथ लॉकडाउन के पालन करने को कहा गया है, ऐसी स्थिति में खरीदी करना मुश्किल होगा।

ग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन ने सौंपा ज्ञापनः ग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन द्वारा कलेक्टर के नाम एक ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें बताया कि मंगलवार दोपहर 11 बजे एसडीएम ने बैठक का आयोजन किया। जिसमें व्यापारियों ने मंडी को सुचारू रूप से चलाने में सहमति दी है। लेकिन कलेक्टर द्वारा जारी 28 मार्च के आदेश में यह लिखा गया था, कि अनाज आदि को लॉकडाउन से मुक्त रखा गया है। इसके विपरीत सौभाग्य लक्ष्मी फूड्स के ऊपर अनुचित प्रकार से कार्रवाई करते हुए एफआईआर दर्ज करवा दी गई है। जिसे निरस्त कर सिर्फ मंडी शुल्क वसूल किया जाए। साथ ही व्यापारियों ने 20 अप्रैल तक खरीदी में असमर्थता जताई है।

हम्मालों ने भी काम नहीं करने लिखकर दियाः दोपहर में एसडीएम की बैठक के बाद तवा हम्माल मजदूर पंचायत समिति द्वारा मंडी सचिव को लिखित आवेदन दिया गया। जिसमें बताया कि 15 अप्रैल से मंडी में हम्माली कार्य करने को कहा जा रहा है, लेकिन इस पर हम्मालों ने अपनी अस्वीकृति दी है। संगठन ने बताया कि जिले में धारा 144 लगी हुई है। जगह-जगह पुलिस पूछताछ कर रही है। हम्माली काम से रोज मंडी में देर रात तक आना-जाना लगा रहता है। सुरक्षा की दृष्टि से काम करने में असमर्थता जताई है।

बैठक में यह तय हुआ था

1. रोजाना मंडी में 100 किसानों को बुलाया जाएगा।

2. कलेक्ट्रेट तरफ का मंडी गेट बंद रखा जाएगा।

3. किसानों को सेंटमेरी स्कूल के गेट के पास टोकन दिया जाएगा।

4. एक ट्रॉली पर दो किसान ही मान्य किए जाएंगे।

5. सुबह 8 बजे से पहले मंडी में ट्रॉली लाना प्रतिबंधित रहेगा।

6. किसानों को मोबाइल पर एसएमएस भेजकर बुलाया जाएगा।

7. कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए मास्क अनिवार्य होगा।

जिले की चारों मंडियों के व्यापारियों ने लिखकर दिया है, जिसमें 20 अप्रैल तक खरीदी कार्य करने में व्यापारियों ने असमर्थता जताई है। साथ ही तवा हम्माल संघ द्वारा भी खरीदी कार्य में हिस्सा नहीं लेने की बात लिखकर दी है। बिना हम्मालों के मंडी में कार्य करना असंभव है। आगामी 20 तारीख तक व्यापारियों ने खरीदी कार्य बंद रखने का लिखकर दिया है।

किशोर माहेश्वरी, मंडी सचिव हरदा

रबी की फसल उपार्जन तहसीलदार ने किया कृषि उपज मंडी का निरीक्षण-भैंसदेही


मुलतापी समाचार

भैंसदेही। उपार्जन नीति अनुसार भैंसदेही तहसील अंतर्गत 15 अप्रैल से प्रारंभ हो रहे रबी विपणन वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन कार्य की तैयारियों शुरू कर दी गई है। मंगलवार तहसीलदार भैंसदेही ओमप्रकाश चोरमा द्वारा प्राथमिक सहकारी संस्था भैंसदेही एवं पूर्णा सहकारी विपणन संस्था भैंसदेही के उपार्जन स्थल कृषि उपज मंडी भैंसदेही पहुंच कर उक्त संस्थाओं द्वारा की गई तैयारियों की जानकारी ली गई। स्थल निरीक्षण के दौरान तहसीलदार चोरमा ने एनालॉग मॉइश्चर मीटर, इलेक्ट्रॉनिक तोल कांटा, छन्नाा, बारदान, तिरपाल, सिलाई मशीन, कंप्यूटर, लैपटॉप, बैट्री आदि के साथ किसानों की सुविधाओं के साधन कुर्सी, पेयजल, शौचालय आदि की व्यवस्था का जायजा लिया । मौके पर उक्त दोनों संस्थाओं एवं मंडी के कर्मचारी मौजूद थे।

स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर ग्रामीणों को दी जा रही सेहत की समझाइस


मुलतापी समाचार

बैतूल।  भीमपुर ब्लाक में कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा डोर टू डोर जाकर कोरोना वायरस से बचाव संबंधित जानकारी दी जा रही है। खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ पंकज बाथम ने बताया कि कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए पूरे ब्लॉक में 12 टीम बनाई है। टीम में सभी प्रशिक्षित कर्मचारी है। टीम द्वारा दामजीपूरा से लगी महाराष्ट्र बॉर्डर, देसली से लगी खंडवा बॉर्डर और पूरे ब्लॉक में कर्मचारी तैनात कर कार्य कराया जा रहा है। बाहर से आने वाले एवं ब्लाक के पाए जाने वाले मरीजों की तत्काल स्क्रीनिंग कर उपचार किया जा रहा है।सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भीमपुर के सेक्टर आदर्श धनोरा में वरिष्ठ एवं अनुभवी स्वास्थ्य कार्यकर्ता श्रवण परते द्वारा सेक्टर स्तरीय टीम के साथ ग्राम आदर्श धनोरा, लक्कड़ जाम, हिड़ली, चिखली, माकड़ा, गुराडिया, बक्का, भाडरी में कोरोनावायरस महामारी से बचने के लिए ग्रामीणों को जरूरी समझाइश दी जा रही है। खंड चिकित्सा अधिकारी ने एमपीडब्ल्यू श्रवण परते को उप स्वास्थ्य केंद्र चिखली के साथ-साथ उप स्वास्थ्य केंद्र आदर्श धनोरा में आगामी आदेश तक कार्य करने के लिए निर्देशित किया है। श्री परते ने बताया स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा ग्रामीणों को कोरोनावायरस की जानकारी देते हुए इससे बचने के उपाय बताए जा रहे हैं। इस उपाय को ग्रामीणों के द्वारा अपनाया जा रहा है।

यह है उपाय स्वास्थ्य कार्यकर्ता श्री परते ने बताया कि ग्रामीणों को बताया जा रहा है कि सभी को अपने घरों में रहना है, एक दूसरे से 1 मीटर की दूरी बना कर रखना है, बार-बार हाथ साबुन से धोना है या सैनिटाइजर का उपयोग करना है, होम मेकर या अच्छे मास्क लगाना है, सर्दी खांसी बुखार आने पर ग्राम आरोग्य केंद्र पर तत्काल जांच करना है आदि उपाय बताए जा रहे हैं। माकिंग कार्य आजाद सिंह राजपूत द्वारा स्वास्थ्य टीम के साथ किया जा रहा है। सेक्टर स्तरीय दल में स्वास्थ्य कार्यकर्ता श्रवण परते आदर्श धनोरा, श्रीमती पदमा बावसे एलएचवी, श्रीमती शकुन परिहार एएनएम धनोरा, श्रीमती सुखशांति उइके एएनएम, शकुंतला पांसे, मंजू बाला छवलिया, सहयोगी गंगा यादव आशा कार्यकर्ता माया वैश्य शामिल है।