20 अप्रैल तक मंडी नहीं करेंगे गेहूं की खरीदी, बैठक में व्यापारियों ने दी सहमति, बाद में ज्ञापन सौंपा


एसडीएम ने मंडी में अनाज खरीदी के लिए व्यापारियों ने से की चर्चा

एसडीएम के सामने व्यापारियों ने दी सहमति, कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा, कहा- नहीं करेंगे गेहूं की खरीदी

20 अप्रैल तक मंडी में खरीदी कार्य नहीं करेंगे व्यापारी

मुलतापी समाचार

हरदा। समर्थन मूल्य पर बुधवार से गेहूं खरीदी का कार्य शुरू हो जाएगा। इसके लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन को 3 मई तक जारी रखने का एलान कर दिया है। इन सब के बीच किसानों की परेशानी को देखते हुए जिला प्रशासन ने व्यापारियों से मंडी में खरीदी कार्य शुरू करने के लिए मंगलवार को मंडी प्रांगण के विश्राम गृह में सुबह 11 बैठक का आयोजन किया। जिसमें एसडीएम हरिसिंह चौधरी, मंडी सचिव किशोर माहेश्वरी सहित दो दर्जन से अधिक व्यापारी शामिल हुए।

बैठक में व्यापारियों ने भी खरीदी कार्य शुरू करने पर अपनी सहमति प्रदान की। इस दौरान मंडी सचिव द्वारा भी मंडी में खरीदी व्यवस्था के नियम बना दिए गए। दोपहर करीब 1 बजे बैठक खत्म हो गई। इसके बाद व्यापारियों ने कलेक्टर के नाम कलेक्ट्रेट में और मंडी सचिव को ज्ञापन सौंपा, जिसमें 20 अप्रैल तक खरीदी कार्य नहीं करने में अपनी असमर्थता जता दी। हालांकि सुबह बैठक में खरीदी कार्य को लेकर नियम भी बना दिए गए थे। व्यापारियों का मानना है, कि प्रधानमंत्री द्वारा 20 अप्रैल तक सख्ती से साथ लॉकडाउन के पालन करने को कहा गया है, ऐसी स्थिति में खरीदी करना मुश्किल होगा।

ग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन ने सौंपा ज्ञापनः ग्रेन मर्चेंट एसोसिएशन द्वारा कलेक्टर के नाम एक ज्ञापन सौंपा गया। जिसमें बताया कि मंगलवार दोपहर 11 बजे एसडीएम ने बैठक का आयोजन किया। जिसमें व्यापारियों ने मंडी को सुचारू रूप से चलाने में सहमति दी है। लेकिन कलेक्टर द्वारा जारी 28 मार्च के आदेश में यह लिखा गया था, कि अनाज आदि को लॉकडाउन से मुक्त रखा गया है। इसके विपरीत सौभाग्य लक्ष्मी फूड्स के ऊपर अनुचित प्रकार से कार्रवाई करते हुए एफआईआर दर्ज करवा दी गई है। जिसे निरस्त कर सिर्फ मंडी शुल्क वसूल किया जाए। साथ ही व्यापारियों ने 20 अप्रैल तक खरीदी में असमर्थता जताई है।

हम्मालों ने भी काम नहीं करने लिखकर दियाः दोपहर में एसडीएम की बैठक के बाद तवा हम्माल मजदूर पंचायत समिति द्वारा मंडी सचिव को लिखित आवेदन दिया गया। जिसमें बताया कि 15 अप्रैल से मंडी में हम्माली कार्य करने को कहा जा रहा है, लेकिन इस पर हम्मालों ने अपनी अस्वीकृति दी है। संगठन ने बताया कि जिले में धारा 144 लगी हुई है। जगह-जगह पुलिस पूछताछ कर रही है। हम्माली काम से रोज मंडी में देर रात तक आना-जाना लगा रहता है। सुरक्षा की दृष्टि से काम करने में असमर्थता जताई है।

बैठक में यह तय हुआ था

1. रोजाना मंडी में 100 किसानों को बुलाया जाएगा।

2. कलेक्ट्रेट तरफ का मंडी गेट बंद रखा जाएगा।

3. किसानों को सेंटमेरी स्कूल के गेट के पास टोकन दिया जाएगा।

4. एक ट्रॉली पर दो किसान ही मान्य किए जाएंगे।

5. सुबह 8 बजे से पहले मंडी में ट्रॉली लाना प्रतिबंधित रहेगा।

6. किसानों को मोबाइल पर एसएमएस भेजकर बुलाया जाएगा।

7. कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए मास्क अनिवार्य होगा।

जिले की चारों मंडियों के व्यापारियों ने लिखकर दिया है, जिसमें 20 अप्रैल तक खरीदी कार्य करने में व्यापारियों ने असमर्थता जताई है। साथ ही तवा हम्माल संघ द्वारा भी खरीदी कार्य में हिस्सा नहीं लेने की बात लिखकर दी है। बिना हम्मालों के मंडी में कार्य करना असंभव है। आगामी 20 तारीख तक व्यापारियों ने खरीदी कार्य बंद रखने का लिखकर दिया है।

किशोर माहेश्वरी, मंडी सचिव हरदा

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s