प्रसव पूर्व तैयारी नही , महिला हुई परेशान, दिया रास्ते मे बच्चे को जन्म,108 कर्मचारियों ने फिर दिया मानवता का परिचय


मुलतापी समाचार

बैतूल। आमला संजीवनी 108 एम्बुलेंस ने कोरोना संक्रमण काल के समय फिर अपनी उपयोगिता को सिद्ध की है बोरदेही थाना के खाण्डे पिपरिया ग्राम के ईश्वर धुर्वे ओर पत्नी शांति बाई 23 वर्ष जो 9 माह की गर्भवती थी अपने पति के साथ दोपहर में रतेडा खुर्द से खारी ग्राम के लिए पैदल ही जा रहे थे कि रास्ते मे ही शांति बाई को प्रसव पीड़ा शुरु हो गई और महिला द्वारा रास्ते मे ही एक बच्चें को जन्म दिया उसके बाद पति ईश्वर धुर्वे द्वारा 108 पर कॉल कर एम्बुलेंस को बुलवा कर मदद माँगी और आमला की जननी को केस मिला और वो बताई हुई जगह के लिए रवाना हो गई लेकिन रास्ता खराब होने की वजह से एवम छोटी गाड़ी होने की वजह एम्बुलेंस घटना स्थल पर नही पहुच पा रही थी तभी जननी के पायलट द्वारा 108 के जिला प्रभारी से संपर्क कर पूरी घटना की जानकारी दी जिला प्रभारी हरीश तावड़े ने भी तुरंत आमला लोकेशन की 108 को घटना स्थल के लिए रवाना किया 108 के स्टॉफ रूपेश पाठेकर ओर नितिन सोनकर द्वारा घटना स्थल पर पहुँचने के लिए एम्बुलेंस लेकर रवाना हुए लेकिन रास्ता नही होने की वजह से 108 के स्टॉफ द्वारा महिला को पैदल ही लाने का निर्णय लिया गया जननी पायलट और 108 के स्टाफ ओर महिला के पति ने मिलकर महिला को स्पाइन बोर्ड पर लिटा कर 1 किमी पैदल चल कर एम्बुलेंस तक लाया गया और महिला को आमला के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया जहां बच्चे और माँ दोनो ही सुरक्षित है। अगर 108 के स्टॉफ द्वारा महिला को नही लाया जाता तो माँ और बच्चे को काफी खामियाजा भुगतना पड़ता जहाँ एक ओर कोरोना वायरस के चलते लोग भयभीत है वही 108 के स्टाफ द्वारा अपने कार्य को दोगुनी जिम्मेदारी से निभा रहे है।

लॉक-डाउन के दौरान खेती-किसानी, समेत ये सेवाएं-गतिविधियां 20 अप्रैल से होंगी चालू, देखिए पूरी लिस्ट


लॉक-डाउन के दौरान 20 अप्रैल से व्यवस्थाओं में परिवर्तन

Multapi Samachar

Betul News. lock-down. Covid d-19

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के दृष्टिगत जिले में प्रभावी लॉक-डाउन के दौरान जिला आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में लिए गए निर्णय अनुसार 20 अप्रैल 2020 से की जाने वाली व्यवस्थाओं के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने बताया कि जिले में धारा 144 का प्रतिबंधात्मक आदेश 20 अप्रैल 2020 से निरन्तर प्रभावशील रहेगा, जो 03 मई तक लॉक-डाउन अवधि में चलेगा। नवीन व्यवस्था 20 अप्रैल 2020 से लागू होगी, परन्तु नियमों एवं सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन होगा। दो पहिया एवं चार पहिया वाहन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे एवं जो वाहनधारी छूट की श्रेणी में है, उन्हें अपना परिचय पत्र दिखाना होगा। दो पहिया वाहन में एक से अधिक सवारी नहीं हो सकेगी।

उन्होंने बताया कि 20 अप्रैल 2020 से लॉकडाउन के संबंध में कोविड-19 के प्रोटोकॉल के पालन एवं व्यवस्थाओं हेतु आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में लिए गए निर्णयानुसार आवश्यक वस्तुओं के प्रदाय एवं विभिन्न प्रकार की गतिविधियों के संबंध में बैतूल जिले के समस्त नगरीय क्षेत्रों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में (भैंसदेही नगरीय क्षेत्र एवं उससे जुड़ा हुआ कंटेन्मेंट एरिया छोडक़र) विभिन्न व्यवस्थाएं इस प्रकार रहेंगी-

दूध एवं समाचार पत्र की होम डिलेवरी वितरण का समय प्रात: 6 बजे से सुबह 9 बजे तक रहेगा।

किराना की मोहल्ला दुकानें प्रात: 7 बजे से सायं 4 बजे तक खुली रहेगी।
प्रत्येक प्रतिष्ठान स्वामी एवं दुकानदार को सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्यत: पालन करना होगा एवं इस संबंध में संबंधित नगरीय निकाय/ग्राम पंचायत के अधिकारी/कर्मचारी के निर्देशों का पालन भी करना होगा।

किराने की होम डिलेवरी हेतु माल वाहन/लोडिंग ऑटो का समय प्रात: 7 बजे से सायं 4 बजे तक रहेगा। इस कार्य में सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्यत: पालन करना होगा।

पशु आहार एवं अण्डा की होम डिलेवरी प्रात: 7 बजे से सायं 10 बजे तक रहेगा। इस कार्य में पूर्णत: सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

खाद, बीज फसल की दवाई दुकानें, कृषि संयंत्र एवं कृषि अनुशांषिक सामग्री विक्रय करने वाली दुकानें प्रात: 10 बजे से सायं 4 बजे तक पूर्णत: सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए खुली रहेगी।

सब्जी की होम डिलेवरी एवं किसान समृद्धि बाजार के माल वाहनों से बिक्री करने की वर्तमान व्यवस्था से हो रही होम डिलेवरी पूर्णत: सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए प्रात: 7 बजे से सायं 4 बजे तक की अनुमति रहेगी।

कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि 20 अप्रैल 2020 से 03 मई 2020 तक विभिन्न गतिविधियों में सोशल डिस्टेंसिंग एवं अन्य सुरक्षात्मक उपाय के साथ विभिन्न प्रकार की छूट एवं गतिविधियों की अनुमति होगी, जिसके तहत-

सार्वजनिक स्थानों में फेस कवर/फेस मास्क लगाना अनिवार्य है। सभी सार्वजनिक स्थानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा एवं एक-दूसरे से न्यूनतम 6 फुट की दूरी रखनी होगी।

किसी भी स्थान पर एक समय में सामाजिक दूरी के साथ जो 6 फुट है, 5 से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं होंगे।

सार्वजनिक स्थानों पर थूकना दण्डनीय है। किसी भी प्रकार के शराब, गुटखा एवं तम्बाकू व इसके उत्पादों की बिक्री पूर्णत: प्रतिबंधित है।

कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि 20 अप्रैल 2020 से 03 मई 2020 तक वर्तमान में लागू लॉकडाउन समस्त जिले में यथावत प्रभावी रहेगा एवं निम्नलिखित गतिविधियां पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगी-

सार्वजनिक यातायात, प्लेन, ट्रेन का परिचालन पूरी तरह से बंद रहेगा।

सभी तरह के शैक्षिक, प्रशिक्षण, कोचिंग संस्थान पूरी तरह से बंद रहेंगे।

सभी तरह के औद्योगिक एवं वाणिज्यिक गतिविधियां एवं संस्था जिनको विशिष्ट रूप से छूट दी गई है, को छोडक़र पूरी तरह से बंद रहेंगे।
छूट प्राप्त होटल, लॉज को छोडक़र यह प्रतिष्ठान भी पूरी तरह से बंद रहेंगे।

सभी तरह के ऑटो रिक्शा, साइकिल रिक्शा एवं टैक्सी, कैब भी पूरी तरह से बंद रहेंगे।

सभी तरह के सिनेमा हॉल, शॉपिंग काम्पलेक्स, मॉल, जिम, खेलकूद की गतिविधियां, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, ऑडिटोरियम, मैरिज हॉल भी पूर्ण रूप से बंद रहेंगे।

समस्त प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं धार्मिक समागम पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे।

सभी प्रकार के धार्मिक स्थल, पूजा के स्थान आमजनों के लिए बंद रहेंगे एवं किसी भी तरह का धार्मिक समागम या एकत्रीकरण नहीं होगा। किसी भी उल्लंघन पर अत्यंत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

मृत्यु की दशा में शव यात्रा में अधिकतम 20 व्यक्तियों की अनुमति होगी।

उपरोक्त के अतिरिक्त सोशल डिस्टेंसिंग एवं कार्य स्थलों, फैक्टरियों, स्थापनाओं में विहित प्रक्रियाओं (जिसकी सूचना देकर पृथक-पृथक अनुमति लेनी होगी एवं जिसके प्रबंध पूर्व से करने होंगे) का पालन करते हुए निम्नलिखित गतिविधियां संचालित रहेगी-

हेल्थ सर्विसेज चालू रहेंगीं

खेती से जुड़ी सभी गतिविधियां चालू रहेंगी। किसानों और कृषि मजदूरों को हार्वेस्टिंग से जुड़े काम करने की छूट रहेगी।

कृषि उपकरणों की दुकानें, उनके मरम्मत और स्पेयर पाटर््स की दुकानें खुली रहेंगी।

खाद, बीज, कीटनाशकों के निर्माण और वितरण की गतिविधियां चालू रहेंगी, इनकी दुकानें चालू रहेंगी।

कटाई से जुड़ी मशीनों (कंबाइन) के एक राज्य से दूसरे राज्य में मूवमेंट पर कोई रोक नहीं रहेगी।

मछली पालन से जुड़ी गतिविधियां, ट्रांसपोर्ट चालू रहेगी।

दूध और दुग्ध उत्पाद के प्लांट और इनकी सप्लाई चालू रहेगी।

मवेशियों के चारा से जुड़े प्लांट, रॉ मटेरियल की सप्लाई चालू रहेगी।

ग्रामीण क्षेत्रों में (जो म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन या म्यूनिसिपलिटी के तहत न हों) काम करने वाले उद्योगो को छूट रहेगी।

दवा, फार्मा, मेडिकल डिवाइसेज समेत जरूरी सामानों के निर्माण और रॉ मटेरियल्स से जुड़ी इकाइयों को छूट रहेगी।

सडक़ की मरम्मत और निर्माण को छूट, जहां भीड़ नहीं हो।

बैंक शाखाएं, एटीएम, पोस्टल सर्विसेज चालू रहेंगी।

ऑनलाइन टीचिंग और डिस्टेंस लर्निंग को प्रोत्साहित किया जाएगा।

मनरेगा के काम की इजाजत रहेगी, सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करते हुए।

मनरेगा के कामों को सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करते हुए किया जाएगा।

मनरेगा में सिंचाईं और वाटर कंजर्वेशन से जुड़े कामों को प्राथमिकता दी जाएगी।

तेल और गैस सेक्टर का ऑपरेशन चलता रहेगा, इनसे जुड़ी ट्रांसपोर्टेशन, डिस्ट्रिब्यूशन, स्टोरेज और रिटेल से जुड़ी गतिविधियां चलती रहेंगी।

जरूरी सामानों जैसे पेट्रोलियम और एलपीजी प्रोडक्ट्स, दवाओं, खाद्य सामग्रियों के ट्रांसपोर्टेशन को इजाजत रहेगी।

सभी ट्रकों और गुड्स कैरियर व्हीकल्स को छूट रहेगी, एक ट्रक में दो ड्राइवरों और एक हेल्पर की इजाजत।

इस बार ट्रकों के मरम्मत की दुकानों को भी छूट।

हाईवेज पर ढाबे भी खुले रहेंगे, ताकि ट्रकर्स को दिक्कत न हो। ट्रक, गुड्स कैरियर की सुविधा हेतु कार्यपालिक मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधिकारी चिन्हित ढाबों को खोलने की अनुमति देंगे एवं चिन्हित मैकेनिक की दुकानें खुली रहेगी।

रेल्वे की मालगाडिय़ों को छूट बरकरार।

सभी जरूरी सामानों की सप्लाई चैन की इजाजत।

प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को छूट, डीटीएच और केबल सर्विसेज को भी छूट।

ई-कॉमर्स कंपनियों की गतिविधियों, इनके ऑपरेटरों की गाडिय़ों को छूट, इसके लिए इजाजत लेनी होगी।

सरकारी काम में लगी डेटा और कॉल सेंटर सर्विसेज को इजाजत।

प्राइवेट सिक्योरिटी सर्विसेज को इजाजत।

हॉस्पिटल, नर्सिंग होम, क्लीनिक, डिस्पेंसरी, केमिस्ट शॉप, मेडिकल लैब सेंटर खुले रहेंगे। पैथ लैब, दवाई से जुड़ी कंपनी खुली रहेगी।

बैंक, एटीएम आदि भी खुले रहेंगे। पोस्ट ऑफिस, एलपीजी, पेट्रोल-डीजल सप्लाई जारी रहेगी।

स्कूल, कॉलेज भी बंद रहेंगे। सिनेमा हॉल, मॉल्स, शॉपिंग काम्पलेक्स, जिम, खेल परिसर, स्वीमिंग पुल, बार बंद रहेंगे।

सामाजिक, राजनीतिक, खेल, धार्मिक समारोह, धार्मिक स्थल, प्रार्थना स्थल बंद रहेंगे।

राष्ट्रीय वंचित पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने लॉक डाउन पालन करने कीअपील


राष्ट्रीय वंचित पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने लॉक डाउन पालन करने की अपील करते हुए शासन को सहयोग

मुलतापी समाचार

मध्‍यप्रदेश। राष्ट्रीय वंचित पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुशील कुमार यादव जी का कहना है लॉक डाउन के चलते एक बार फिर तीन मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है इसका हम सम्मान करते हैं और हमारे सभी वंचित भी हमारा सभी लोगों से निवेदन है सरकार के आदेशों का पालन करें और पुलिस प्रशासन डॉक्टर सफाई कर्मचारियों का हमें सम्मान करना चाहिए ऐसे कोरोना संक्रमण के चलते हमारे पुलिस प्रशासन डॉक्टर सफाई कर्मचारी अपनी जान को जोखिम में डालकर जनता की सेवा में लगे ऐसे लोगों के लिए हम ईश्वर से लंबी उम्र की कामना करते हैं हमारा राष्ट्रीय वंचित पार्टी का हर कार्यकर्ता दिन और रात वंचितों की सेवा में लगा हुआ है

20 अप्रैैल को आभार स्वरूप एक दीया पुण्य सलिला माँ ताप्ती के नाम जलाए


मुलतापी समाचार

बैतूल। पुण्य सलिला माँ सूर्यपुत्री ताप्ती जागृति समिति मध्यप्रदेश ने ताप्तीचंल में बसे बैतूल जिले के दस जनपदो की सभी 556 ग्राम पंचायतो के 1,473 गांवो में रहने वाली तथा बैतूल, मुलताई, चिचोली, आमला, सारनी, भैसदेही, आठनेर, बैतूल बाजार की शहरी जनता से अपील की है कि आने वाले सोमवार दिनांक 20 अप्रेल 2020 को प्रात: स्नान – ध्यान कर एक दीया (दीपक) माँ पुण्य सलिला सूर्यपुत्री ताप्ती के नाम का सुबह 7 बजे एवं शाम 7 बजे जला कर माँ ताप्ती का आभार व्यक्त करे। 

माँ पुण्य सलिला सूर्यपुत्री के तेज एवं तप के कारण बैतूल जिले में ग्रीष्म ऋतु के माह अप्रेल की 20 तारीख के बाद बैतूल जिला पूर्ण रूप में कोरोना नामक महामारी के प्रकोप से मुक्त होकर आरेंज से ग्रीन में आ जाएगा. माँ सूर्यपुत्री ताप्ती जागृति समिति के प्रदेश अध्यक्ष रामकिशोर पंवार के अनुसार बैतूल जिले ने प्रधानमंत्री के आह्वान पर ताली एवं थाली बजाने के आद 9 मिनट के लिए बिजली का लॉक डाउन करके दीपक जलाए है। 

 जिले की जनता को एक बार मोक्ष दायनी, संकट हरिणी, पाप नाशिनी, पुण्य सलिला माँ सूर्यपुत्री ताप्ती जिसके पावन जल का जिले की आधी से ज्यादा आबादी पेयजल के रूप में उपयोग करती है उस आधी आबादी को पूरी आबादी के संग माँ ताप्ती का आभार मानते हुए माता रानी के सम्मान में एक दीया जलाना चाहिए. जननी से बड़ी जन्मभूमि होती है और जननी और जन्मभूमि के आंचल में अमृत रूपी दुध की धारा बहाने वाली माँ सूर्यपुत्री ताप्ती के प्रति हमें सदैव कृतज्ञ रहना चाहिए। 

श्री पंवार ने विश्वास जताया कि बैतूल जिले की धर्म प्रेमी जनता जिले की सीमा में लगभग 250 किलो मीटर के क्षेत्र में बहने वाली माँ ताप्ती के सम्मान में दीया जलाने की अपील का शत् प्रतिशत पालन करेगें।

कृषि उपज मंडी बड़ोरा बैतूल में शनिवार का भाव


बैतूल बड़ोरा — आज का मंडी भाव 18/04/2020 दिन शनिवार

गेहूँ की आवक 1026 बोरे जिसका न्यूनतम भाव 1626 रुपये अधिकतम भाव 1826 रुपये और प्रचलित भाव 1743 रुपये रहा।

मक्का की आवक 288 बोरे जिसका न्यूनतम भाव 1231 रुपये अधिकतम भाव 1301 रुपये और प्रचलित भाव 1250 रुपये रहा।

चना की आवक 16 बोरे जिसका न्यूनतम भाव,अधिकतम भाव और प्रचलित भाव एक ही 3876 रुपये रहा।

तुअर की आवक 17 बोरे जिसका न्यूनतम भाव, अधिकतम भाव और प्रचलित भाव एक ही रुपये 4401 रहा।

मुलतापी समाचार बैतूल

भारत में कमजोर हो रहा कोरोना, 47 जिलों में कोई नया केस नहीं


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के खिलाफ केंद्र सरकार ने 112 सेवा को पूरे देश में लागू कर दिया है! 112 पर फोन लगाकर कोई भी व्यक्ति कोरोना वायरस के संकट में मदद ले सकता है! इस नंबर से स्वास्थ्य सेवा के साथ ही पुलिस ,एंबुलेंस और फायर बिग्रेड की सेवा ली जा सकती है! 112 इंडिया मोबाइल ऐप के जरिए भी इसका फायदा उठाया जा सकता है! स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश में कोरोना से ठीक होने वालों का आंकड़ा 1992 पहुंच गया है! ठीक होने वालों का प्रतिशत भी बढ़कर 13.85 फ़ीसदी बढ़ गया है! बीते 24 घंटों में 991 नए केस सामने आए हैं और 43 की मौत हुई है! इसके साथ ही देश में कुल कोरोना मरीजों की संख्या 14378 पहुंच गई है! देश में कोरोनावायरस से मरने वालों का आंकड़ा 480 पहुंच गया है!

23 राज्यों के 47 जिले ऐसे हैं जहां कोई नया केस सामने नहीं आया है! सरकार ने पूरी कोशिश की है कि जरूरी चीजों की आपूर्ति जारी रहे! विदेश के जो लोग भारत में फंस गए हैं, उनकी वीजा की अवधि 3 मई तक बढ़ा दी है!

मुलतापी समाचार

गोद में एक साल की बच्ची, साइकल से नासिक से आये एमपी – पति-पत्नी


मुलतापी समाचार

मध्‍यप्रदेश न्‍यूज

लॉकडाउन के दूसरे चरण में भी प्रवासी मजदूरों का पलायन थमा नहीं है। महाराष्ट्र के नागपुर और नासिक में काम करने वाले मध्य प्रदेश के कई मजदूर सड़क के रास्ते अपने घर लौट रहे हैं। इनमें से किसी के पास साइकल है तो कोई पैदल ही चल पड़ा।

3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाए जाने के बाद कई मजदूर परिवारों के सब्र का बांध टूट गया है। ऐसी ही एक फैमिली नासिक से 5 दिन पहले साइकिल के सहारे सतना के लिए निकली है। इन्हें उम्मीद है कि घर तक पहुंचने में 6 दिन और लगेंगे। इस दम्पती के साथ उनका सालभर का बच्चा भी है। अपने बच्चे को गोद में उठाए कभी पैदल..तो कभी साइकिल पर बैठी मिली महिला ने कहा, ‘क्या करती..ऐसे तो भूखों मर जाते?

सतना, मध्य प्रदेश. लॉक डाउन के कारण देशभर में हजारों गरीब मजदूर अपने घरों से दूर दूसरे राज्यों में फंसे हैं। गाड़ियां बंद होने और सीमाएं सील होने से वे अपने घरों तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। लेकिन सैकड़ों मजदूर ऐसे भी हैं, जो पैदल ही अपने घरों की ओर निकल पड़े हैं। वे लगातार चल रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि आज नहीं तो कल, वे अपने घर तक पहुंच ही जाएंगे। ऐसी ही एक मजदूरी फैमिली 5 दिन पहले महाराष्ट्र के नासिक से मध्य प्रदेश के सतना जिले में स्थित अपने गांव के लिए निकली है। पति रुक-रुककर पत्नी को पीछे बैठाकर साइकिल खींचता है। पत्नी की गोद में सालभर का बच्चा है। दम्पती का सफर अभी आधा ही हुआ है। यानी गांव तक पहुंचने में अंदाजा 6 दिन और लगेंगे। ज्यों-ज्यों घर करीब आ रहा है, इस दम्पती के चेहरे की चमक बढ़ती जा रही है।

और हम क्या करते फिर… यह दम्पती नागपुर में मजदूरी करता था। काम बंद होने से रोटी की फिक्र होने लगी। कुछ दिन जैसे-तैसे चलता रहा, लेकिन फिर सब्र जवाब दे गया। इसके बाद इस फैमिली ने साइकिल से ही अपने घर निकलने की ठानी। महिला ने कहा कि वो लोग कब तक इंतजार करते..ऐसे तो भूखे ही मर जाते।

शिवराज ने कहा कि मजदूरों को खाते में 1000 रुपए डालेंगे.. इस बीच मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हर मजदूर के खाते में 1000 रुपए डालेंगे, तो उन्हें खाने की दिक्कत न हो। वहीं, हर राज्य मजदूरों के लिए खाने और रुकने का इंतजाम भी कर रहे हैं, लेकिन मजदूर चिंतित हैं। बेकार बैठे मजदूरों को अब अपने घरों की चिंता सताने लगी है।

डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए दिया मकान,घर को क्वारंटाइन सेन्टर बनाया


मुलतापी समाचार

समीर पाठक

घोड़ाडोंगरी। लॉक डाउन में जनता और सरकार की मदद के लिए अनेकों दानवीर भामाशाह के रूप में सामने आ रहे हैं इसी कड़ी में घोड़ाडोंगरी के युवा समाजसेवी समीर पाठक ने अपना बजरंग कॉलोनी स्तिथ सर्वसुविधा से युक्त 7 कमरो सहित बड़े हॉल और टॉयलेट युक्त घर स्वास्थ्य विभाग को क्वारंटाइन सेन्टर के रूप में उपयोग करने के लिए निशुल्क उपलब्ध कराया है।

मुख्यालय का सरकारी अस्पताल जो कि इन दिनों साफ-सफाई और अच्छे इलाज के लिए जिले में चर्चित है अपने कुशल प्रबंधन और कार्यशैली से अस्पताल को नई रौनक देने वाले डॉक्टर संजीव शर्मा द्वारा कोरोना संक्रमण के इलाज मैं लगे डॉक्टरों को उनके परिवार की सुरक्षा के चलते घोड़ाडोंगरी में ही एक अलग निवास स्थान रहने के लिए चयनित किया गया है ताकि कोरोना मरीजों के इलाज के बाद उन्हें इस घर में परिवार से अलग रखा जाए ताकि डॉक्टरों का परिवार संक्रमण से पीड़ित ना हो जाए। वही ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी संजीव शर्मा द्वारा बताया गया कि कल से हमारी तैयारी प्रारंभ कर दी जावेगी उक्त घर को कर्मचारियों के रहने के लिए चिन्हित किया गया है। युवा समाजसेवी समीर पाठक ने कहा कि जनसेवा के लिए धन की नही आत्म बल की आवश्यकता होती है।

kovid-19 इंदौर में फि‍र हुई घटना स्वास्थ्यकर्मियों पर चाकू से हमला


Multapi Samachar

इंदौर के विनोबा नगर में सर्वे कर रहे डॉक्टर, टीचर, पैरामेडिकल और आशा कार्यकर्ताओं पर अचानक ही पारस नाम के एक युवक ने हमला कर दिया.

इंदौर. कोरोना संक्रमण के इस दौर में हमारे लिए अपनी जान जोखिम में डाल कर जंग लड़ रहे डॉक्टर्स, चिकित्साकर्मी और पुलिसकर्मियों के साथ बदसलूकी और अभद्रता की वारदातें रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. एक बार फिर ऐसी ही खबर इंदौर से है. यहां पर एक बार फिर सर्वे कर रही स्वास्‍थ्य विभाग की टीम पर हमला किया गया. इस बार हमला एक बदमाश ने किया. इस दौरान उसने चाकू लेकर टीम पर हमला बोल दिया, बीच बचाव करने आए पड़ोसियों को चाकू लगा और वे घायल हो गए हैं. इसके साथ ही एक स्वास्‍थ्य कर्मी के सिर और हाथ पर चोट आई है.

हाइलाइट्स

  • इंदौर के विनोबा नगर में मेडिकल टीम से बदसलूकी
  • अपराधी पारस यादव पर है आरोप
  • अधिकारियों ने कहा कि सिर्फ आरोपी ने तोड़ा है मोबाइल
  • अपराधी का पड़ोसी से चल रहा था विवाद
  • टीम शामिल डॉक्टर ने कहा कि हमारी टीम पर पत्थर फेंके गए

नशे की हालत में था हमलावर
इंदौर के विनोबा नगर में सर्वे कर रहे डॉक्टर, टीचर, पैरामेडिकल और आशा कार्यकर्ताओं पर अचानक ही पारस नाम के एक युवक ने हमला कर दिया. इस दौरान वो नशे की हालत में था. बताया जा रहा है कि वो नशा बेचने का ही काम करता है, हमला करने पर स्‍थानीय लोगों ने जब उसे रोकने की कोशिश की तो उनको भी मारने के लिए वो चाकू लेकर दौड़ा. हमले में स्‍थानीय लोगों के साथ्‍ एक स्वास्‍थ्यकर्मी भी घायल हो गया है.

पहले भी हो चुका हमला
इससे पहले इंदौर के ही टाट पट्टी बाखल इलाके में भी स्वास्‍थ्य जांच के लिए गई टीम पर लोगों ने हमला कर दिया था. इस दौरान लोगों ने टीम के पहुंचते ही पथराव और विरोध शुरू कर दिया था. पूरे इलाके में उस दौरान जमकर हंगामा हुआ. तनाव को देखते हुए बड़ी तादाद में पुलिस बल को तैनात किया गया था. टाट पट्टी बाखल इलाके में बीते दिनों एक शख्स की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई थी. उस मरीज के संपर्क में जो लोग भी आए स्वास्थ्य विभाग की टीम उनकी स्क्रीनिंग के लिए गयी थी, लेकिन सहयोग करने के बजाए इलाके के लोग स्वास्थ्य विभाग की टीम का विरोध करने पर आमादा हो गए थे. धीरे-धीरे शुरू हुआ विरोध तेज होता गया और बात पथराव तक आ पहुंची. कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए इस इलाके को कैंटोमेंट घोषित किया गया था. सुरक्षा के लिहाज से बेरिकेडिंग की गई थी, लेकिन गुस्साई भीड़ ने बेरिकेड भी तोड़ दिए थे.

डॉक्टरों पर थूंका भी था
वहीं शहर के रानीपुरा इलाके में कुछ दिन पहले जांच के लिए गए डॉक्टरों पर स्‍थानीय लोगों ने थूंक दिया था. इसके बाद डॉक्टरों ने मामले की शिकायत पुलिस से की थी.

Indore me Help k liye aap in numbers par call kr sakte h


*सभी आदरणीय निम्न नंबर्स आप अधिक से अधिक अपने पास भी रखें और संभव हो तो शेयर भी कर सकते हैं।

  1. ग्रीन अस्पतालों में इलाज से संबंधित यदि शिकायत हो तो चंद्रमौली शुक्ला जी 94068 01008 पर या 0731 25883838 एवम अपर कलेक्टर संतोष टैगोर 98263 81964
  2. कोरोना कॉल सेंटर07312567 3333
  3. Mp कॉल सेन्टर 104 एवम 181
  4. हेल्पलाइन नंबर 0731 253 7253 और भोपाल स्तर पर 0755 252 7177
  5. व्हाट्सएप पर सलाह और ब्लड बैंक एवं टेलीमेडिसिन 7489 244 895
  6. ब्लड बैंक नंबर 92002 50000 98276 66866 70245 12345 731 600 8099 731 400 2816
  7. पुलिस का कोरोना हेल्प लाइन नंबर 70491 24 444704 912 4445 डायल 100
  8. ई पास के लिए 0755 141 1180
  9. निगम की किराना सामग्री आपूर्ति प्रबंधन अपर आयुक्त श्रंगार श्रीवास्तव 94259 20720
  10. किराना या अन्य जरूरी सामग्री की होम डिलीवरी की मंजूरी के लिए एडीएम बीबीएस तोमर 94250 65613
  11. नगर निगम द्वारा गरीब बस्ती जरूरतमंद में सामग्री वितरण के लिए अपर आयुक्त संदीप सोनी 98260 23539
  12. नगर निगम से फ्री सामान के लिए 0731 475 8822 और खरीदने संबंधी समस्या को लेकर 0731 258 3839
  13. दुग्ध विक्रेता संघ से संबंधित समस्या के लिए भारत मथुरावाला 94253 17121
  14. कलेक्टोरेट का कंट्रोल रूम भोजन एवं इलाज को लेकर यदि समस्या हो तो आप 0731 236 3009 9425 06427 387 200 888888 पर फोन लगा सकते हैं
  15. बिजली समस्या हेल्पलाइन नंबर अधीक्षण यंत्री अशोक शर्मा 1989 983 837 एवं 19 12