प्रसव पूर्व तैयारी नही , महिला हुई परेशान, दिया रास्ते मे बच्चे को जन्म,108 कर्मचारियों ने फिर दिया मानवता का परिचय


मुलतापी समाचार

बैतूल। आमला संजीवनी 108 एम्बुलेंस ने कोरोना संक्रमण काल के समय फिर अपनी उपयोगिता को सिद्ध की है बोरदेही थाना के खाण्डे पिपरिया ग्राम के ईश्वर धुर्वे ओर पत्नी शांति बाई 23 वर्ष जो 9 माह की गर्भवती थी अपने पति के साथ दोपहर में रतेडा खुर्द से खारी ग्राम के लिए पैदल ही जा रहे थे कि रास्ते मे ही शांति बाई को प्रसव पीड़ा शुरु हो गई और महिला द्वारा रास्ते मे ही एक बच्चें को जन्म दिया उसके बाद पति ईश्वर धुर्वे द्वारा 108 पर कॉल कर एम्बुलेंस को बुलवा कर मदद माँगी और आमला की जननी को केस मिला और वो बताई हुई जगह के लिए रवाना हो गई लेकिन रास्ता खराब होने की वजह से एवम छोटी गाड़ी होने की वजह एम्बुलेंस घटना स्थल पर नही पहुच पा रही थी तभी जननी के पायलट द्वारा 108 के जिला प्रभारी से संपर्क कर पूरी घटना की जानकारी दी जिला प्रभारी हरीश तावड़े ने भी तुरंत आमला लोकेशन की 108 को घटना स्थल के लिए रवाना किया 108 के स्टॉफ रूपेश पाठेकर ओर नितिन सोनकर द्वारा घटना स्थल पर पहुँचने के लिए एम्बुलेंस लेकर रवाना हुए लेकिन रास्ता नही होने की वजह से 108 के स्टॉफ द्वारा महिला को पैदल ही लाने का निर्णय लिया गया जननी पायलट और 108 के स्टाफ ओर महिला के पति ने मिलकर महिला को स्पाइन बोर्ड पर लिटा कर 1 किमी पैदल चल कर एम्बुलेंस तक लाया गया और महिला को आमला के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया जहां बच्चे और माँ दोनो ही सुरक्षित है। अगर 108 के स्टॉफ द्वारा महिला को नही लाया जाता तो माँ और बच्चे को काफी खामियाजा भुगतना पड़ता जहाँ एक ओर कोरोना वायरस के चलते लोग भयभीत है वही 108 के स्टाफ द्वारा अपने कार्य को दोगुनी जिम्मेदारी से निभा रहे है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s