MP sheopur: कोरोना संदिग्ध की स्क्रीनिंग करने के लिए गए डॉक्टर और पुलिस दल पर हमला, वीडियों देखें


Coronavirus Sheopur News :

Multapi samachar

श्योपुर जिले में हमले में पुलिस कर्मी घायल हो गया.

श्योपुर-विजयपुर। इंदौर से आए युवक की स्क्रीनिंग करने श्योपुर के गसवानी कस्बे में पहुंची स्वास्थ्य और पुलिस टीम पर पथराव कर दिया गया। पथराव से बचने के लिए डॉक्टर व पुलिसकर्मी इधर-उधर भागे लेकिन, सिर में पत्थर लगने से एक एएसआई घायल हो गए। श्योपुर पुलिस ने स्क्रीनिंग टीम पर हमले को लेकर एक महिला सहित चार लोगों पर सरकारी कार्य में बाधा, पथराव व आपदा प्रबंधन अधिनियम की धाराओं के तहत एफआइआर दर्ज कर ली है।

गसवानी निवासी गोपाल पिता गंगाराम शिवहरे इंदौर में मजदूरी करता है। लॉकडाउन में वह एक माह से इंदौर में फंसा हुआ था। बुधवार अल सुबह वह किसी तरह गसवानी पहुंच गया। पड़ोसियों ने पंचायत को गोपाल के पहुंचने की सूचना दी। पंचायत के सहायक सचिव विश्राम आदिवासी ने सूचना स्वास्थ्य विभाग व गसवानी थाने को दी। डॉ. पवन उपाध्याय टीम लेकर गोपाल के घर पहुंचे लेकिन, उसके स्वजनों ने उसे घर में छिपा दिया और स्क्रीनिंग के लिए तैयार नहीं हुए।

डॉक्टर ने सूचना थाने में दी तो एएसआई श्रीराम अवस्थी तीन-चार आरक्षकों के साथ मौके पर पहुंच गए। घर पर पुलिस व जांच टीम को देखकर गंगाराम भड़क गया और वह अपने बेटे को घर से बाहर निकालने को राजी नहीं हुआ। पुलिस ने घर में घुसने का प्रयास किया तो गंगाराम ने एक पत्थर उठाकर फेंका जो एएसआई श्रीराम अवस्थी के सिर में लगा।

इसके बाद गंगाराम ने दो-तीन पत्थर और फेंके जो एएसआई के पैरों में लगे। मौके का फायदा उठाकर स्वजनों ने गोपाल को घर से भगा दिया। गसवानी थाना प्रभारी बृजमोहन रावत ने बताया कि गंगाराम, उसकी पत्नी राधाबाई, बेटा गोपाल व आशीष के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली है।पुलिस ने गंगाराम व आशीष को गिरफ्तार कर लिया जबकि राधाबाई व गोपाल घर से भाग गए।

मध्यप्रदेश में डॉक्टरों, पुलिस या सफाई कर्मचारियों पर यह पांचवां हमला है. 17 मार्च को देवास जिले में दो सफाई कर्मचारियों पर हमला किया गया था. मामले में एक मौलाना के अलावा एक व्यक्ति और उसके दो बेटों सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया गया था. उनमें से एक आरोपी पर रासुका के तहत कार्रवाई की गई. इन घटनाओं से पहले एक अप्रैल को इंदौर के टाट पट्टी बाखल में दो महिला डॉक्टरों पर हमला किया गया था और सात अप्रैल को इंदौर के चंदन नगर में एक पुलिस कांस्टेबल पर हमला किया गया था. दोनों घटनाओं में 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया, जिनमें से आठ के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) की कार्रवाई की गई.

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में भी 6 अप्रैल की रात को तलैया क्षेत्र में हिस्ट्रीशीटर शाहिद कबूतर और उसके साथियों ने पांच सरकारी कर्मचारियों पर हमला किया था. अगले दिन शाहिद कबूतर, उसके साथी मोहसिन कचौड़ी सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

Video देखें

इनका कहना है

इंदौर से आए गोपाल शिवहरे की जानकारी मिलते ही पहले स्वास्थ्य विभाग की टीम उसकी स्क्रीनिंग के लिए गई थी, लेकिन गोपाल को घर में छिपाकर उसके पिता ने पथराव शुरू कर दिया। एक बड़ा पत्थर मेरे सिर में लगा और दो-तीन पांव में लगे।

-श्रीराम अवस्थी, घायल, एएसआई, श्योपुर

गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने की सराहना

गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने एएसआई राम अवस्थी और सरकारी हॉस्पिटल में पदस्थ डॉक्टर पवन उपाध्याय से फोन पर बात कर उनकी कर्तव्य परायणता की सराहना की । साथ ही वैश्विक महामारी कोरोना महा संकट के दौरान में विकृत मानसिकता के लोगों पर सरकार की ओर से सख्त कार्रवाई करने की बात भी कही।

Multapi Samachar

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s