जनपद पंचायत ने शुरू किया फ्यूमीगेशन मशीन का प्रयोग


रोंढा बैतूल – जनपद पंचायत बैतूल द्वारा विश्वव्यापी संक्रामक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए फ्यूमीगेटींग मशीन द्वारा फ्यूमीगेशन का कार्य किया जाता है । फ्यूमीगेशन मशीन एक प्रकार की धुआँ मशीन है जिसके द्वारा धुआं निकलता है और इस धुएँ के सम्पर्क से मक्खी, मच्छर सहित अन्य छोटे हानिकारक जीव नष्ट हो जाते है। जिससे किसी भी प्रकार की बीमारी से लोगों को बचाया जा सकता है। इस मशीन में केमिकल के रूप में IBN और सोडियम हाइपो का छिड़काव किया जाता है एवं घोलक के रुप में डीजल एवं पानी का भी उपयोग किया जाता है। जनपद पंचायत के CEO श्री के. एस. चौहान ने बताया है कि इस मशीन का उपयोग ग्रामीण क्षेत्र की ग्राम पंचायत रोंढा से प्रारंभ किया जा रहा है आगे आने वाले समय में इस धुआँ मशीन का प्रयोग बैतूल जिलें के सभी गांवों में किया जाएगा। ताकि सभी लोगों को मच्छर, मक्खी और अन्य हानिकारक जीवों से लोगों की रक्षा की जा सके। इस कार्य में ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष तरुण कालभोर, जनपद सदस्य लोकेश बारंगे, ग्राम पंचायत कर्मचारी अलकेश हजारे, प्रदीप डिगरसे उपस्थित रहे।

प्रदीप डिगरसे बैतूल मुलतापी समाचार

एक विवाह ऐसा भी 2.


मंगल परिणय के बंधन में बंधे वर-वधू

लॉक डाउन के बीच पूर्णिमा और भानूप्रताप बंधे मंगल परिणय के बंधन में।

बैतूल रोंढा – बैतूल मुख्यालय से 10 किलोमीटर दूर ग्राम रोंढा में विश्वव्यापी संक्रामक महामारी कोरोना वायरस और प्रशासन के निर्देशानुसार लॉक डाउन के नियमों का पालन करते हुए घर के भीतर ही वर-वधू ने सात फेरे लिए, जिसमें ग्राम रोंढा की पूर्णिमा और समीपस्थ ग्राम नयेगाँव के भानू प्रताप का विवाह पंडित जी द्वारा पूरे विधि-विधान और मंत्रोच्चार के साथ अग्नि के सात फेरे लेकर संपन्न कराया गया। विवाह के दौरान वर – वधू पक्ष से लगभग पाँच-पाँच सदस्य ही शादी में शामिल रहे। जिसमें वर – वधू के माता-पिता, भाई-बहन और मंत्रोचार के लिए पंडित जी मौजूद रहे। विवाह के दौरान वर-वधू सहित सभी उपस्थित लोगों ने सोशल डिस्टेंस और मास्क भी लगाए रखा। सभी मेहमानों को सैनिटाइजर से हाथ साफ करवाया गया। सभी उपस्थित परिजनों ने नवविवाहित युगल दंपति को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी।

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल

मुलताई – ताप्ती वाहिनी संगठन द्वारा बिरूलबाजार में चलाया जा रहा अभियान


Mutapi samachar

मुलताई। विकासखंड की ग्राम पंचायत बिरूलबाजार में ग्रामीणों को कोरोना महामारी के प्रति जागरूक करने के लिए ग्राम की दीवारों पर स्लोगन लिख कर ग्रामीणों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है। ताप्ती वाहिनी संगठन की रेशमा खान एवं राधा बरोदे ने बताया कि उनके द्वारा ग्रामीणों को कोरोना के प्रति घर-घर जा कर एक मीटर की दूरी से बचाव के बारे में जानकारी दी जा रही है। साथ ही मध्यप्रदेश जनअभियान परिषद कि मदद से कोरोना वायरस के प्रति जागरूकता हेतू पूरे गांव में विभिन्ना प्रकार के स्लोगन दिवारों पर लेखन किया जा रहा है। कोरोना वायरस से बचाव हेतू जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है जिसमें ग्रामीणों को सामाजिक दूरी बनाकर रहने हेतू प्रेरित किया गया। साथ ही यह भी समझाया गया कि लॉकडाउन का पालन करें, बहुत जरूरी हो तभी घर से बाहर निकलें , मास्क का उपयोग करें, मास्क ना हो तो सूती गमछे से चेहरे को ढक़े, बार बार साबून से हाथों धोये तभी हम कोरोना महामारी से जीतेंगे। मध्यप्रदेश जनअभियान परिषद कि प्रभात पट्टन ब्लाक समन्वय राधा बरोदे ने बताया कि पूरे ब्लाक मे कोरोना महामारी को लेकर दीवार लेखन और जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है,वही स्वच्छ भारत मिशन के ब्लाक समन्वय उपेन्द्र दुबे द्वारा सभी को स्वच्छता रखने हेतू आग्रह किया जा रहा है।

हमीदिया भोपाल में कोरोना संक्रमण से पिडित मरीजों की मौत की संख्या में कमी नहीं आ रही


HAMIDIYA BHOPAL COVID-19

https://www.covid19india.org/

हमीदिया अस्पताल भोपाल में कोरोना संक्रमण से पिडित मरीजों की मौत की संख्या में कमी नहीं आई शासन के प्रयास में कमी नजर आ रही है। अव्यवस्था का अम्बार नजर आ रहा है बिते 3 दीनो मे कोई सुखद समाचार नही प्राप्त हुए। ना कोई आला अधिकारियों को इस बात का पता है और ना ही किसी ने सुध लेने की जरूरत समझी पुछने पर बस इतना ही कहा जाता है कि हम प्रयास कर रहे हैं और मरीजों की संख्या में कमी आएगी किन्तु देखने में ऐसा नहीं है परिस्थिति विपरीत है जांच की रिपोर्ट आने में भी ज्यादा समय लग रहा है जिससे जो मरीज संग्धित है उन्हें भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है एक ओर तो जहाँ हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान व्यवस्था को परिपूर्ण बनाने की बात कही है जबकि कुछ भी ऐसा नहीं हुआ है प्रदेश के लगभग सभी सरकारी अस्पतालों में इलाज के लिए ऐसे ही हालात का सामना करना पड़ रहा है यदि इस प्रकार चलता रहा तो 3 मई तक प्रदेश में लोकडाऊन की अवधि को समाप्त करने का प्रयास सफल हो पायेगा या नहीं यह विचारणीय है

गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट विधि विधान के साथ खोले गए


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

उत्तराखंड: कोरोना वायरस और lockdown के बीच विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट गंगा पूजन, गंगा सहस्रनाम पाठ एवं विशेष पूजा अर्चना के बाद वैदिक मंत्र उच्चारण के साथ रोहिणी अमृत योग की शुभ बेला पर रविवार दोपहर 12:35 बजे कपाट खोल दिए गए! इस दौरान सोशल डिस्टेंस का पूर्ण रूप से अनुपालन किया गया तथा सभी के द्वारा मास्क अनिवार्य रूप से पहने गए!

इसके पहले 25 अप्रैल को मां गंगा जी की डोली उनके मायके व शीतकालीन प्रवास मुखबा से भैरोंघाटी के लिए रवाना हुई थी! भैरव मंदिर में रात्रि विश्राम के बाद मां गंगा जी की डोली आज प्रातः 7:00 बजे गंगोत्री के लिए रवाना हुई!

उधर यमुनोत्री धाम के कपाट भी सादगी पूर्ण ढंग से खोल दिए गए हैं! मां यमुना जी की डोली आज प्रातः 8:15 बजे खरसाली से यमुनोत्री धाम के लिए विदा हुई! यमुनोत्री धाम पहुंचने के बाद विशेष पूजा अर्चना व वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ 12:41 बजे मंदिर के कपाट सादगी पूर्ण ढंग से दर्शनार्थियों के लिए खोल दिए गए हैं!

इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से तृतीया महापर्व की शुभ बेला पर मंदिर समिति गंगोत्री को 11 सो रुपए दान स्वरूप दिए गए पता पहली पूजा प्रधानमंत्री की तरफ से हुई!

इस अवसर पर गंगोत्री में उपजिलाधिकारी देवेंद्र सिंह नेगी, सीएमओ डॉ डीपी जोशी, सीओ कमल पवार, मंदिर समिति के अध्यक्ष सुरेश सेमवाल, यमुनोत्री धाम में उप जिलाधिकारी सोहन सैनी, यमुनोत्री मंदिर समिति के उपाध्यक्ष जगमोहन उनियाल सचिव कृतेस्वर उनियाल सहित मंदिर समिति के पदाधिकारी तीर्थ पुरोहित मौजूद थे!

मुलतापी समाचार

किसान ने लगाया अनानास के स्वाद का तरबूज


Multapi Samachar

बैतूल। ग्राम झगड़िया मंडई के किसान श्याम पवार ने अनूठा प्रयोग करते हुए पीले रंग का पाइन एप्पल के स्वाद का तरबूज अपने खेत में लगाया है। यह तरबूत बाजार में आने से लोगों में कौतूहल का विषय बना हुआ है। अब इस तरबूज की डिमांड बढ़ रही है। प्रगतिशील किसान श्याम पवार द्वारा दूसरे साल यह तरबूज लगाया गया है। उन्होंने बताया कि पिछले साल उन्होंने यह तरबूज लगाने की शुरूआत की थी। यह अन्य किस्मों से काफी अलग है। पहली किस्म लाल और अत्यधिक मिठास भरी हुई है और दूसरी पीली पाइन एप्पल के स्वाद के मिठास के साथ कभी स्वाद न भूलाने वाली है। उन्होंने अपने 5 एकड़ खेत में इस तरबूज की फसल लगाई है। काटने पर इसका रंग पीला दिखता है।

जबलपुर में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 64 पर पहुंचा


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

जबलपुर: मध्यप्रदेश के जबलपुर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है! जबलपुर में अभी तक कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 64 हो गई है, जिसमें 7 स्वस्थ होकर घर लौट आए हैं, वही एक महिला की मृत्यु हो गई है!

बताया जा रहा है कि जबलपुर में कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या के साथ ही शहरवासियों की टेंशन भी बढ़ने लगी है! आज रविवार को कोरोना के 5 positive मामले सामने आए हैं! लगातार बढ़ रही इस संख्या के चलते शहर में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया है!

मुलतापी समाचार