महारष्ट्र, गुजरात, केरल प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के प्रयासों में तेजी


  • लॉकडाउन में फंसे मजदूरों को उनके घर पहुंचाने का काम जारी
  • मध्य प्रदेश में महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान से 2,400 मजदूर वापस आए

कोरोना वायरस से निपटने से लिए देश भर में लागू लॉकडाउन को एक महीने से ज्यादा समय हो गया है. ऐसे में देश के अलग-अलग राज्यों में फंसे हुए मजदूरों को प्रदेश सरकारें लाने की दिशा में सक्रिय हो गई हैं. उत्तर प्रदेश से लेकर मध्य प्रदेश, पंजाब सहित तमाम राज्यों में बस भेजकर बैतूल जिले के मजदूरों को लाने की कवायद शुरू कर दी है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर लॉकडाउन की अवधि को 17 मई तक बढ़ाने की अनुमति दी गयी. ऐसे में प्रवासी मजदूर के बाहर रहते हुए लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला लिया गया तो हालात बेकाबू हो सकते हैं. इसीलिए अब राज्य सरकार ने दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों को भी वापस लाने का सिलसिला शुरू कर दिया है. इसमें सभी राज्य सरकारों ने आपसी समन्वय के साथ प्रवासियों मजदूरों को एक दूसरे राज्य के बार्डर पर बस ओर ट्रेन के माध्यम से पहुंचाने का काम किया जा रहा हैं. जिसके पस्चात बैतूल जिले की प्रवासी मजदूरों को ट्रेन रूट आने पर उन्हें भोपाल और खंडवा जबलूर, रीवा आदि स्टेसनों पर उताकर थर्मलस्क्रेनिग करवाकर विभागों द्वारा बस के माध्यम से उन्हें बैतूल जिले के कंट्रोल रूम में लाया जा रहा है जहाँ उनका स्वास्थ्य विभाग द्वारा ओर महिला बाल विकास द्वार सूची तैयारी कर उन्हें अलग अलग तहसील में गांव नगर गंतव्य स्थान तक छोड़ा जा रहा है जिसके पश्चताप आशा कार्यकर्ता और आगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा उन मजदूरों को स्कूल में कोरेंटीने किया जा रहा है ।

इसके साथ ही महिला एवं बाल विकास की टीम द्वारा महारष्ट्र से आये प्रवासी मजदूरों लाने और उनके गतंव्य स्थान तक छोड़े गी। जिसमे महिला एवं बाल विकास के जिला परियोजना सहायक मनमोहन पवार की कोरोना वारियर्स जिला स्तरीय कंट्रोल रूम में ड्यूटी लगाई गई हैं जिसमे प्रवासी मजदूरों की स्वास्थ विभाग द्वारा थर्मल स्क्रेनिग कर जानकारी एकत्रित कर दीनदयाल रसोई से भोजन करवाकर उन्हें अपने गंतव्य स्थान गांव नगर छोड़ा जा रहा है

भाजपा ने घोषित किए 24 जिलाध्यक्षों के नाम, बैतूल में आदित्य शुक्ला बने जिलाध्यक्ष


भोपाल. भाजपा ने एक साल पहले बने जिलाध्यक्ष विकास वीरानी को हटाकर सुमित पचौरी को भोपाल शहर भाजपा की कमान दे दी है। भाजपा ने 24 जिलाध्यक्षों की घोषणा की है, इसमें 22 को बदल दिया गया है। सिर्फ सतना में नरेंद्र त्रिपाठी और नरसिंहपुर में अभिलाष मिश्रा को रिपीट किया गया है। इस सूची में युवा मोर्चा में रहे नेताओं को जिलाध्यक्ष बनाया गया है। इसमें गौरव रणदिवे, दिलीप पांडे, राजू यादव, गौरव सिरोठिया समेत कुछ नेता शामिल हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने इन नियुक्तियों में युवाओं को मौका दिया है। ज्यादातर लोगों की उम्र 40 से 50 के बीच है।


सूची इस प्रकार है   

ग्वालियर शहर में कमल माखीजानी व ग्रामीण में कौशल शर्मा, सागर में गौरव सिरोठिया, टीकमगढ़ में अमित नूना, दमोह में प्रीतम लोधी, रीवा में डाॅ. अजय सिंह पटेल, सतना में नरेंद्र त्रिपाठी, शहडोल में कमल प्रताप सिंह,  उमरिया मेें दिलीप पांडे, सिवनी  में आलोक दुबे, नरसिंहपुर में अभिलाष मिश्रा, भोपाल नगर में सुमित पचौरी, होशंगाबाद में माधव अग्रवाल, बैतूल में आदित्य शुक्ला, रायसेन में जयप्रकाश किरार, इंदौर नगर में गौरव रणदिवे व ग्रामीण में राजेश सोनकर, बुरहानपुर में मनोज लदवे, झाबुआ में लक्ष्मण नायक, धार में राजू यादव, आगर में गोविंद सिंह बरखेड़ी, देवास में राजीव खंडेलवाल, मंदसौर में नानालाल अठौलिया और नीमच में पवन पाटीदार को जिलाध्यक्ष बनाया गया है।

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल