ताश के पत्ते की तरह ढेर हुई, चक्रवर्ती तूफान के रास्ते में आने वाली हर वस्तु

मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

पश्चिम बंगाल: भीषण चक्रवर्ती तूफान के तटों से टकराते ही इसने भीषण तबाही मचाना शुरू कर दिया है। मिनटों में सैकड़ों पेड़ जड़ों से उखड़ गए हैं, तूफान की चपेट में आने से दो लोगों की मौत की सूचना है। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवात की गति इस 155 से 185 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है। पश्चिम बंगाल के कई जिलों में तेज हवाएं और भारी बारिश शुरू हो गई है। कोलकाता के समीपवर्ती दक्षिण 24 परगना जिले और पूर्वी मिदनापुर के तटीय भाग दीघा और हल्दिया में भारी बारिश शुरू हो गई है।

भारतीय मौसम विभाग IMD ने बताया है कि समुद्र में 3 से 5 मीटर तक ऊंची लहरें उठ रही हैं। तूफान के कारण पश्चिम बंगाल के तटवर्ती जिलों में तेज हवाओं के चलते पेड़ उखड़ गए हैं। बिजली के खंभे गिरने से कस्बों और गांव में स्थितियां ज्यादा खराब हो गई है।

मुलतापी समाचार