मामा-भांजी के पवित्र रिस्ते को किया शर्मसार


बैतूल – वर्दीवाले ने बेहद पवित्र रिश्ते को भी नापाक कर दिया। एमपी पुलिस के एक आरक्षक पर आरोप है कि वह अपनी भांजी के साथ तीन दिनों तक रेप करता रहा। आरक्षक ने भांजी को बाजार में बेचने का भी प्रयास किया। पीड़िता ने रायसेन जिले के उदयपुरा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। आरोपी आरक्षक बैतूल के शाहपुर में पदस्थ है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया हैं । थाने के प्रधान आरक्षक ने बैतूल जिले के शाहपुर थाने में पुलिस आरक्षक के पद पर तैनात सियाराम पटेल बीते 11 मार्च 2020 को अपनी भांजी को पढ़ाने के लिए लाया। रायसेन जिला के उदयपुरा तहसील क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली युवती का पुलिस आरक्षक से रिश्ता मामा-भांजी का है। आरक्षक की पत्नी यानी युवती की मामी बरेली में रहती है। पीड़िता युवती के मुताबिक उसकी मामी भी कुछ दिनों तक उसके साथ रही लेकिन बाद में वह बरेली चली गईं। 
पीड़िता ने बताया कि बीते 15 मई को आरोपी आरक्षक मामा ने उसका सौदा किसी से फोन पर किया। फोन पर बात करते हुए उसने सुन लिया तो वह भागने का प्रयास की लेकिन उसने उसे पकड़ लिया। पीड़िता ने बताया कि पुलिस लाइन में बंदी बनाकर तीन दिनों तक मामा ने उसके साथ रेप किया।
पीड़िता के अनुसार किसी तरह वह चुपके से किसी की मोबाइल लेकर अपनी दूसरी मामी को फोन पर सारी आपबीती बताई। सारा मामला जानकर घरवाले अवाक रह गए। मंझले मामा व मामी आकर उसे वहां से ले गए। 18 मई को पीड़िता बैतूल से उनके पास गई।
इसके बाद पीड़िता ने रायसेन के उदयपुरा थाने में आरोपी आरक्षक के खिलाफ रेप का केस दर्ज कराया। पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच के लिए केस को बैतूल जिले के संबंधित थाने में केस डायरी भेज दी है। आरक्षक को उदयपुरा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। शनिवार की रात में आरोपी आरक्षक को गंज पुलिस थाना के हवाले कर दिया गया। इसके बाद उसे बैतूल जिला लाया गया। पुलिस उसे रिमांड पर लेने की कोशिश करेगी।

प्रदीप डिगरसे बैतूल 9584390839

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s