स्टेशन पर मां ने तोड़ा दम, अनजान मासूम मां के कफन को हटाने की करती रही कोशिश


Multapi Samachar

पटना। कोरोना की त्रासदी के बीच देश के कई हिस्सों से मानवता को शर्मसार करने वाले और इंसानियत को झकझोर कर देने वाले किस्से सामने आ रहे हैं। दर्द का मंजर भी कुछ ऐसा है कि हर किसी का दिल पसीज जाए। देश में इस समय सबसे ज्यादा खराब हालत प्रवासी मजदूरों की है, जो हालात के हाथों का खिलौना बनकर रह गए हैं। हाथों का काम छीन चुका है और पेट भरने के लिए उनको काफी मशक्कत करना पड़ रही है। ऐसे में एक दिल दहलाने वाला वाकिया मुजफ्फरपुर से आया है, जहां मां की स्टेशन पर मुश्किल हालात में मौत हो गई, वहीं पास में मासूम अपनी मां की मौत से अनजान उसके कफन से खेल रही थी।

लंबे सफर की तकलिफों से तोड़ा दम

मृतक महिला प्रवासी कामगार परिवार से थी और वह सोमवार को प्रवासियों के चलाई गई स्पेशल ट्रेन से मुजफ्फरपुर आई थी, लेकिन भयानक गर्मी को वह सहन नहीं कर पाई यातनादायक सफर से उसने दम तोड़ दिया। महिला के परिजनों के मुताबिक ट्रेन में खाने -पीने का अभाव और गर्मी होने की वजह से वह बीमार हो गई थी। मृतक महिला गुजरात से आई थी। जब मृतका के शरीर को स्टेशन पर रखा गया तो अपनी मां की मौत से अनजान मासूम मां के शव पर डाले गए कफन से खेलने लगी और उसको हटाने की कोशिश करने लगी।

स्टेशन पर जिसने भी इस दर्दनाक मंजर को देखा उसका दिल पसीज गया। इसी ट्रेन में एक और मासूम ने गर्मी और भूख-प्यास की वजह से दम तोड़ दिया। गौरतलब है लंबे समय से चले आ रहे लॉकडाउन की वजह से देशभर में फैले हुए प्रवासी मजदूरों के सब्र का बांध टूट चुका है। वे हर हाल में अपने घर पहुंचना चाहते हैं। इनमें से ज्यादातर बिहार और उत्तर प्रदेश से संबंध रखते हैं। सरकार ने सख्त नियमों के साथ देशभर के प्रवासी मजदूरों को घर भेजने की व्यवस्था की है। इसके लिए बसें और रेलों को चलाया गया है, लेकिन समुचित व्यवस्था न होने की वजह से मुसाफिरों का काफी तकलिफों का सामना करना पड़ रहा है।

कंटेन्मेंट क्षेत्रों में कोरोना वायरस निगरानी समितियां गठित


कोरोना संक्रमण नियंत्रण हेतु जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में अभिनव प्रयोग

कंटेन्मेंट क्षेत्रों में कोरोना वायरस निगरानी समितियां गठित

समितियों में शामिल ग्राम रक्षा समिति के सदस्य राउण्ड-द-क्लॉक करेंगे गश्त

कलेक्टर श्री राकेश सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री डीएस भदौरिया द्वारा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण से प्रभावित कंटेन्मेंट क्षेत्रों में सतत् निगरानी के लिए अभिनव प्रयोग किया गया है। अब कंटेन्मेंट क्षेत्रों वाले गांवों में कोरोना वायरस निगरानी समिति निरंतर गश्त कर लोगों का आवागमन रोकेगी एवं सोशल डिस्टेंसिंग व अन्य सुरक्षात्मक उपाय सुनिश्चित करेगी। इन समितियों में ग्राम पंचायत क्षेत्र के सरपंच, वहां पदस्थ कर्मचारी, ग्राम कोटवार एवं ग्राम सुरक्षा समिति के सदस्य शामिल किए गए हैं। समितियों ने कंटेन्मेंट क्षेत्रों में कार्य करना भी प्रारंभ कर दिया है। ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों की आठ-आठ घंटे की ड्यूटी लगाई गई है। तयशुदा ड्यूटी अनुसार सदस्य दिन-रात गांव में कोरोना से सुरक्षात्मक उपाय के लिए सेवाएं दे रहे हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्रामीण क्षेत्र हीरावाड़ी के लिए गठित कोरोना वायरस निगरानी समिति में तीन दल बनाए गए हैं। समिति में सरपंच श्री बुन्देलसिंह नर्रे, सचिव श्री काशीराम यादव, एएनएम श्रीमती अनिता श्रीवास्तव, आशा कार्यकर्ता श्रीमती संगीता हाथिया एवं ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों को शामिल किया गया है। हीरावाड़ी से कुही जाने वाले रास्ते पर समिति सदस्यों सहित ग्राम रक्षा समिति के सदस्य श्री कपिल हाथिया, श्री जसमीत सिनोटिया, श्री राकेश सिनोटिया, श्री दीपक मलैया, श्री रोहित मलैया व श्री रितिक मलैया निगरानी करेंगे। इसी प्रकार हीरावाड़ी से मयावानी जाने वाले रास्ते पर ग्राम रक्षा समिति के सदस्य श्री रूपेश मलैया, श्री प्रमोद मलैया, श्री उत्तम चौरे, श्री विकास चौरे, श्री सचिन चौरे, श्री सतीश हाथिया, श्री अरविंद चौरे व श्री सद्दाम राठौर निगरानी के लिए नियुक्त किए गए हैंं। मेहकार से हीरावाड़ी जाने वाले रास्ते पर ग्राम कोटवार श्री मोहन जावलकर व ग्राम रक्षा समिति के सदस्य श्री राजेश नर्रे, श्री विनोद नर्रे, श्री निखिल नर्रे, श्री प्रकाश नर्रे एवं श्री गणेश नर्रे निगरानी के लिए तैनात किए गए हैं।

ग्राम कतिया कोयलारी के लिए गठित कोरोना निगरानी समिति में सरपंच श्रीमती शीला नर्रे, सचिव श्री दिलीप यादव, एएनएम श्रीमती अनिता श्रीवास्तव, आशा कार्यकर्ता श्रीमती स्नेहलता कुमरे एवं ग्राम रक्षा समिति सदस्यों को शामिल किया गया है। कतिया कोयलारी जोड़ पर समिति सदस्यों सहित ग्राम कोटवार श्री संदीप सरनेकर, श्री संजू हाथिया, श्री किशन, श्री दुर्गेश ब्रह्मे, ग्राम रक्षा समिति सदस्य श्री काशीराम यादव, श्री मनोज यादव एवं श्री संजय यादव निगरानी के लिए नियुक्त किए गए हैंं। ग्वालदेव बाबा के पास जुवाड़ी रास्ते पर ग्राम रक्षा समिति के सदस्य श्री मनेश मर्सकोले, श्री अजय राक्से, श्री विनोद राक्से एवं श्री तुलसी नागवंशी निगरानी के लिए नियुक्त किए गए हैं। मेहकार की ओर जाने वाले रास्ते पर ग्राम रक्षा समिति सदस्य श्री संदीप तुमड़ाम, श्री दीपक तुमड़ाम, श्री गणपत नर्रे एवं श्री सुग्रीव उइके निगरानी के लिए तैनात किए गए हैं। छुरी की ओर जाने वाले रास्ते पर ग्राम कोटवार श्री मनफुल धारनेकर, ग्राम रक्षा समिति के सदस्य श्री प्रदीप नागवंशी, श्री अर्जुन नर्रे व श्री संतोष नर्रे निगरानी करेंगे।

ग्राम शोभापुर के लिए गठित कोरोना वायरस निगरानी समिति में सरपंच श्री बीजालाल धुर्वे, सचिव श्री राजकुमार नागवंशी, आशा कार्यकर्ता श्रीमती रेखा धुर्वे व ग्राम रक्षा समिति सदस्यों को शामिल किया गया है। माता मंदिर मेन चौक पर ग्राम कोटवार श्री सुखनंदन करछले एवं ग्राम रक्षा समिति सदस्य श्री हेमराज बारसे, श्री सतीश बारसे व श्री मंगलू बारसे निगरानी करेंगे। ग्राम महेन्द्रवाड़ी रोड पर ग्राम रक्षा समिति सदस्य श्री अभिलाष धुर्वे व श्री कमलेश बारसे निगरानी करेंगे। माता मोहल्ला के लिए ग्राम रक्षा समिति सदस्य श्री नीलेश बारसे, श्री मुकेश बारसे, श्री रामपाल बारसे एवं श्री बलराम निगरानी करेंगे। रतनपुर चौराहे के लिए ग्राम रक्षा समिति सदस्य श्री अलकेश मर्सकोले, श्री राजकुमार मर्सकोले, श्री संजय नवड़े एवं श्री वीरेन्द्र उइके निगरानी करेंगे। मेहकार नदी पुल पर ग्राम कोटवार श्री मनोहर धारनेकर, श्री टीकाराम नागले, ग्राम रक्षा समिति सदस्य अलकेश सोलंकी, श्री राहुल सोलंकी, श्री नीलेश मर्सकोले, श्री संदीप मर्सकोले, श्री आशीष धुर्वे व श्री देवेन्द्र मर्सकोले निगरानी करेंगे।

कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने बताया कि इन समितियों में कंटेन्मेंट क्षेत्रों में तैनाती से जिले में पदस्थ प्रशासनिक एवं पुलिस विभाग के अमले को अन्य कार्यों के लिए समय मिल सकेगा।

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार 9584390839