राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री , मुख्यमंत्री, कलेक्टर भोपाल आदि सभी को लिखा पत्र


प्रति,
महामहिम राष्ट्रपति/मान प्रधानमंत्री/मंत्री मानव संसाधन विकास विभाग/मुख्यमंत्री/ मुख्य सचिव मप्र/प्रमुख सचिव स्वास्थ्य विभाग/संभाग आयुक्त भोपाल/आयुक्त नगर निगम भोपाल/कलेक्टर भोपाल

Multapi Samachar

MANIT (मैनिट) मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान भोपाल परिसर को कोरोना वायरस के संक्रमितों के लिए क्वारन्टीन सेंटर क्यों नहीं बनाना चाहिए?
महोदय,
आपसे निवेदन है कि मैनिट एवं किसी भी शिक्षण संस्थानों को किसी दूसरे कार्यों में ना लगाया जाए।शिक्षा से ही राष्ट्र का निर्माण होता है और हम दुनिया के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए तैयार होते हैं।
कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हम सरकार के साथ हैं जिसके लिए अल्पकालिक और दीर्घकालिक योजना बनाकर लड़ने की आवश्यकता है, जिससे जन जीवन सामान्य हो जाये।
हमे विश्वास है कि आप हमारे सुझावों पर गंभीरता से विचार कर जनहित में उचित निर्णय लेंगे।

  1. मैनिट एक राष्ट्रीय शिक्षण संस्थान है जहां देश /विदेश के लगभग 5000 छात्र अध्यनरत हैं, सरकार इस संस्थान के संचालन करने के लिए करोङो रुपये खर्च करती है।छात्र भी शुल्क जमा करते हैं।इसलिए शिक्षा के अलावा किसी दूसरे कार्यों में इस संस्थान का उपयोग नही करना चाहिए।
  2. शासकीय योजनाओं के कार्यों में शिक्षकों को लगाने का दुष्परिणाम यह है कि देश की शिक्षा व्यवस्था अच्छी नहीं है।
  3. मैनिट के शिक्षकों और कर्मचारियों को होस्टल के छात्रों के सामान पैकिंग में लगाया जा रहा है।
  4. शिक्षा के हित में शिक्षा से जुड़े
    अधिकारियों और कर्मचारियों को दूसरे कार्यों में नहीं लगाना चाहिए।
  5. शिक्षकों को उनकी गुणवत्ता बढ़ाने के लिए अपडेट रखने के लिए सुविधाओं और अवसर उपलब्ध कराना चाहिए, भले ही इस बावत उन्हें लक्ष्य देना चाहिए।
  6. मैनिट परिसर शहर के बीच में है और घनी आबादी(झुग्गी बस्तियों) से घिरा हुआ है।
    7.घनी आबादी (झुग्गी बस्तियों) से सफाई कर्मचारी, माली, गार्ड्स,सब्जी भाजी वाले आवश्यक रूप से आना जाना करते हैं।जिनके माध्यम से भोपाल के अन्य क्षेत्रों में कोरोना वायरस का संक्रमण फैल सकता है।
  7. मैनिट परिसर ग्रीन जोन में आता है परंतु क्वारन्टीन सेंटर बनाने से मैनिट परिसर के रेड जोन में परिवर्तित होने की आशंका है।
  8. भोपाल शहर के बाहरी क्षेत्रों में पर्याप्त खाली भवन उपलब्ध हैं इसके अलावा कई स्कूल,कालेज, अस्पताल आदि भी हैं।
  9. मैनिट परिसर रिहायसी क्षेत्र है जहां फैकल्टी, कर्मचारी और अधिकारी निवासरत हैं।
    11.क्वारन्टीन सेंटर बनाने के समाचार के बाद कई छात्रों और उनके सगे संबंधी भोपाल रेड जोन से आकर अपना सामान होस्टल से लेकर जा रहे हैं।जिससे बहुत लोगों का आना जाना लगा रहता है जिससे परिसर में संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है।जबकि पहले किसी भी बाहरी लोगों का आना जाना प्रतिबंधित था।
  10. होस्टल क्र 7 (गर्ल्स हॉस्टल) कॉलोनी सेक्टर में होने से कॉलोनी के निवासी भी संक्रमित हो सकते हैं।
  11. शहर के बाहरी क्षेत्रों में क्वारन्टीन सेंटर के लिए विकल्प हैं तो शहर के बीच में सेंटर बनाना समझदारी नहीं हैं।
    14.छात्रों/छात्राओं के व्यक्तिगत सामान को उनके अनुपस्थिति में छूना अनैतिक और अवैध भी है।
  12. मैनिट की सुरक्षा व्यवस्था ठीक नहीं होने से छात्रों के सामान सुरक्षित रहने में संदेह है।मैनिट परिसर में दो शिक्षकों के यहां चोरी हो चुकी है और एक शिक्षक की कार जला दी गई थी परंतु कोई प्रभावी कार्यवाही नहीं हुई।हमारा सामान सुरक्षित रहने की संभावना कम है।
  13. शिक्षण संस्थानों को कोई बड़ी मजबूरी हो उसी स्थिति में ऐसे कार्यों में लगाना चाहिए।शिक्षा अत्यंत महत्वपूर्ण कार्य है क्योंकि इसी से देश का निर्माण होता है इसलिए इन्हें सिर्फ और सिर्फ शिक्षा देने के लिए ही जिम्मेदारी तय करना चाहिए।जिसके लिए उनकी स्थापना हुई है।
  14. शिक्षण संस्थानों को लगातार आधुनिक तकनीक से अपडेट करते रहना चाहिए इसके लिए छात्रों और शिक्षकों को पर्याप्त सुविधाएं और अवसर उपलब्ध कराना चाहिए।जिससे हम दुनिया के अच्छे संस्थानों से प्रतिस्पर्धा कर सकें।
  15. भारत सरकार के मापदंड अनुसार क्वारन्टीन सेंटर बनाने के लिए जो गाइड लाइन दी गई है उस मापदंड में मैनिट परिसर को क्वारन्टीन सेंटर नहीं बना सकते हैं।
  16. क्वारन्टीन सेंटर अनिश्चित समय के लिए बनेगा क्योंकि बार बार स्थान परिवर्तन करने से शासकीय राशि का दुरुपयोग होगा।
    20.भोपाल शहर के ग्रीन जोन में परिवर्तित होने के बावजूद क्वारन्टीन सेन्टर की आवश्यकता पड़ेगी क्योंकि रेड जोन से जो भी नागरिक आएंगे उन्हें सावधानी के तौर पर क्वारन्टीन करने की आवश्यकता रहेगी।
    21.देश/विदेश के विभिन्न क्षेत्रों से छात्रों के आने पर उन्हें भी तो क्वारन्टीन करने की आवश्यकता रहेगी।
    22.सभी विकल्प खत्म होने पर मैनिट होस्टल के बदले LRC बिल्डिंग और NTB का उपयोग करना चाहिए।
    हम मैनिट के प्रत्येक छात्र और शिक्षक कोरोना वायरस के खिलाफ सरकार और प्रशासन को तन, मन और धन से सहयोग कर रहे हैं और भविष्य में भी करेंगे परंतु सरकार और प्रशासन को भी हमारी भावनाओं के अनुसार उचित निर्णय लेना चाहिए और मैनिट परिसर के लोगों के जीवन को संकट में नहीं डालना चाहिए।
    संक्रमण को खत्म करने के लिए हम स्थाई सोलुशन की दिशा में सरकार का ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं।ताकि भोपाल और देश जल्दी से जल्दी कोरोना वायरस से मुक्त हो और जनजीवन सामान्य हो।
    निवेदक
MANIT (मैनिट) मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान भोपाल परिसर को कोरोना वायरस के संक्रमितों के लिए क्वारन्टीन सेंटर क्यों नहीं बनाना चाहिए?

मैनिट के छात्र,शिक्षक, कर्मचारी, एवं उनके परिवार एवं
शरद सिंह कुमरे
पर्यावरण बचाओ आंदोलन
जागो भारत अभियान
भोपाल
9406533671,9303119212

हम विरोध नहीं परमानेंट सोलुशन की बात कर रहे हैं।
मैनिट में सुरक्षा व्यवस्था बहुत दयनीय है।2 फैकल्टीज के यहां चोरी हो चुकी है और एक फैकल्टी की कार जला चुके है परंतु कुछ नहीं हुआ।
मेरी कार की बैटरी 2 बार चोरी हुई थी मुझे नई बैटरी सुरक्षा एजेंसी ने दिया।क्योंकि मैंने इनकी शिकायत की थी।
मेरी सलाह है कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए प्रशासन को अल्पकालिक और दीर्घकालिक योजना बनाना चाहिए।यह लंबा चलेगा।क्वारन्टीन सेंटर एक बार बन गया तो यह लंबा चल सकता है और फिर कॉलेज तब तक बंद रखना पड़ेगा।
कॉलेज के फैकल्टी सब काम छोड़कर समान पैक करने, ताले तुड़वाने,समान की पैकिंग आदि में लग रहे हैं।
पढ़ाई बहुत बुरी तरीके से प्रभावित होगी।छात्रों का कैरियर बर्बाद हो जाएगा।
विकल्प बहुत हैं।
गांव में शासकीय स्कूल के शिक्षकों को सभी शासकीय योजनाओं के लिए व्यस्त रखा जाता है इसलिए शासकीय स्कूल बर्बाद हो चुके हैं।
लॉक डाउन पीरियड में शिक्षकों को नई तकनीकों को डेवेलोप करके छात्रों के एग्जाम, टेस्ट, campus selection aadi विषयों पर अपनी ऊर्जा का उपयोग करना चाहिए था।
कृपया बड़ा सोचें और देश भर के शिक्षा और शिक्षकों को दूसरे काम में ना लगाएं।
हाउसिंग बोर्ड के पास बहुत क्वाटर हैं, उन्होंने आफर भी किया था परंतु प्रशासन अपनी सुविधा के लिए शहर के बीच वाले स्थान को चुना है जबकि भारत सरकार के मापदंड अनुसार मैनिट को क्वारन्टीन सेन्टर नहीं बना सकते है।
मैं गाइड लाइन की प्रति प्रेसित कर रहा हूँ।हाइलाइटेड पार्ट को देखिए।
यह मुद्दा सिर्फ होस्टल खाली करने का नहीं है यह देश की शिक्षा व्यवस्था को बचाने की भी होना चाहिए।🙏🙏🙏

विद्युत विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों का सम्मान किया


Multapi Samachar

Amla News मध्यप्रदेश मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लि आमला नगर और ग्रामीण के अधिकारी और कर्मचारियों का सम्मान आज आमला नगर की अग्रणी संस्था सुषमा महिला जन कल्याण समिति आमला द्वारा किया गया।

कोरोना संकट के बीच हमारे कोरोना वारियर्स लगातार निर्भीकता के साथ काम कर रहे है।विपरीत परिस्थितियों के बीच मुस्तैदी के साथ डटे हुए है।विद्युत विभाग के हमारे कर्मचारी लाइनमैन सहित पूरा अमला आज सेवा भावना से लगा हुआ है।इन सभी कोरोना वारियर्स का आज सम्मान किया गया।समिती द्वारा नीलकंठ लिल्होरे प्रबंधक आमला ग्रामीण,इंद्रपाल सिंह भलावी सहायक प्रबंधक आमला ग्रामीण,ओमप्रकाश कुमरे सहायक प्रबंधक बोरधई,सहित राजकुमार नकुल प्रबंधक आमला नगर,चेतना सावनेरे सहायक प्रबंधक आमला नगर सहित महेंद्र कुमार सोनी,संदीप सिंधिया आदि का स्मृति चिन्ह प्रदाय कर सम्मानित किया गया।साथ ही समस्त लाइनमेन, कार्यालयीन कर्मचारी सहित समस्त कर्मचारियों का गमछा श्री फल तथा मास्क प्रदाय कर सम्मान किया गया।

इस अवसर पर समिति की अध्यक्ष आराधना मालवीय,सहयोगी मनीष मिसर भाजपा आई टी सेल सह संयोजक, मनोज विश्वकर्मा,यशवंत यादव भाजपा ग्रामीण मंडल अध्यक्ष आमला,महेश मर्सकोले पूर्व मंडल महामंत्री,अकरम खान,मोहन देवड़े आदि के हस्ते सम्मान किया गया।सभी पर पुष्प वर्षा कर भी सम्मान किया गया।इस अवसर पर अपने उद्बोधन में आराधना मालवीय मनीष मिसर ,यशवंत यादव,मनोज विश्वकर्मा,ने कहा की विद्युत विभाग के हमारे कर्मचारी सर्दी गर्मी बरसात आदि किसी भी मौसम में किसी भी समय तत्परता के साथ काम मे लगे रहते है।आज कोरोना संकट के समय भी उसी लगन और धैर्य के साथ अपने काम मे जुटे है।हम इनके कुशल कार्यो की सराहना करते है।

कांग्रेस ने मध्य प्रदेश के 11 जिला/ शहर अध्यक्षों के नाम घोषित


मध्य प्रदेश –
कांग्रेस ने मध्य प्रदेश के 11 जिला/ शहर अध्यक्षों के नाम घोषित किए…

भोपाल। कांग्रेस ने मध्य प्रदेश के 11 जिला/ शहर अध्यक्षों के नाम घोषित किए हैं। आल इंडिया कांग्रेस कमेटी के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने लेटर जारी कर इसकी सूचना दी है। इनके नाम इस प्रकार हैं

1- श्योपुर में अतुल चौहान

2- ग्वालियर ग्रामीण में अशोक सिंह

3- विदिशा में कमल सिलाकरी

4- सीहोर में बलबीर तोमर

5- रतलाम शहर में महेंद्र कटारिया

6- शिवपुरी में श्रीप्रकाश शर्मा

7- गुना शहर में मानसिंह पसरोदा

8- गुना ग्रामीण में हरी विजयवर्गीय

9- होशंगाबाद में सत्येंद्र फौजदार

10- सिंगरौली शहर में अरविंद सिंह चंदेल

11- देवास ग्रामीण में अशोक पटेल

आधी सवारी बैठाने के साथ सवारी बसों के संचालन की अनुमति जिला कलेक्टर


लॉकडाउन व्यवस्थाओं में परिवर्तनजिले के अंदर 50 प्रतिशत् क्षमता के साथ किया जा सकेगा सवारी बसों का संचालन
बेतूल कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह ने सोमवार 01 जून को जारी आदेश में जिले में प्रभावशील लॉकडाउन व्यवस्था में परिवर्तन करते हुए आदेश दिया है कि जिले के अंदर 50 प्रतिशत् क्षमता के साथ बसों को संचालन किया जा सकेगा। समस्त प्रकार की आर्थिक गतिविधियां, दुकान, बाजार, प्रतिष्ठान, संस्थान रात्रि 9 बजे से प्रात: 5 बजे तक की अवधि को छोडक़र शासन के अन्य आदेशों एवं निर्देशों के अध्यधीन जारी रहेंगे। व्यक्तियों एवं वस्तुओं का राज्य के अंदर एवं राज्य के बाहर आवागमन बिना किसी ई-पास या अनुमोदन के जारी रहेगा।

जनपद सदस्‍य के भाई की घर में घुसकर दिन दहाडे हत्‍या, दिल दहलानेे वाली तस्‍वीर


बैतूल। चोपना थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक गांव में अज्ञात आरोपियों ने दिन दहाड़े घर में घुसकर युवक की हत्या कर दी। इस हत्या की घटना से पूरे गांव में सनसनी फैल गई। जानकारी लगते ही सारनी एसडीओपी और चोपना थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे और जायजा लिया।

सारनी एसडीओपी अभयराम चौधरी ने बताया कि चोपना के बिष्णुपुर में अज्ञात 3 आरोपियों ने दिन दहाड़े घर में घुसकर महादेव पिता हलदर उम्र 40 की हत्या कर दी। वारदात के समय मृतक घर में सो रहा था। दोपहर को अज्ञात तीन लोग नकाब पहनकर घर पहुंचे। उन्होंने युवक महादेव पर कुल्हाड़ी, फावड़े से हमला कर उसकी हत्या कर दी। हत्या से घर में मौजूद लोगों में चीख पुकार मच गई। घटना के बाद से ही अरोपी मौके से भाग निकले।

जानकारी लगते ही दल-बल के साथ पुलिस मौके पर पहुंची और घटना का जायजा लेते हुए मर्ग कायम किया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया और अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धारा 302 के तहत मामला पंजीबद्ध कर जांच शुरू कर दी है। एसडीओपी श्री चौधरी ने बताया कि शीघ्र ही आरोपियों का सुराग लगाकर उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। 

युवक की गला काटकर हत्या, वेेयरहाउस संचालक के आंगन में मिला शव


चीचली में शनिवार रात बाबई के प्लाइवुड दरवाजा दुकानदार की लाश वेयरहाउस संचालक के घर के आंगन में मिलने से सनसनी फैल गई

मुलतापी समाचार Multapi Samachar

होशंगाबाद. चीचली में शनिवार रात बाबई के प्लाइवुड दरवाजा दुकानदार की लाश वेयरहाउस संचालक के घर के अांगन में मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस के मुताबिक बाबई इंदाैरी चाैक निवासी प्रदीप उर्फ कल्लू पिता रमेश मीना (30) की धारदार हथियार से हत्या की गई। प्रदीप की प्लाइवुड से बने दरवाजे, खिड़की की दुकान है। प्रदीप का शव वेयरहाउस संचालक रामेश्वरम मीना के घर के आंगन में मिला। पुलिस के मुताबिक रामेश्वर के बेटे ललित से प्रदीप का तीन दिन पहले विवाद हुआ था। शुक्रवार को प्रदीप अपने चार दोस्तों के साथ खेत पर पार्टी कर रहा था तब वहां रात करीब 8 बजे एक बार फिर विवाद हुआ। प्रदीप की बोलेरो में तोड़फोड़ की गई और उसकी हत्या कर दी गई। जिनके अांगन में शव मिला वे पुलिस काे घर में नहीं मिले।

दक्षिण-पश्चिम मानसून में सभी जगह सामान्य वर्षा होने की संभावना: मौसम विभाग


..
नई दिल्ली 1 जून। दो महीने की चिलचिलाती गर्मी के बाद देश को अब राहत मिलने के आसार हैं. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया है कि मानसून ने भारत में दस्तक दे दी है. विभाग ने बताया है कि दक्षिण-पश्चिम मानसून केरल पहुंच गया है. जल्द ही यह देश के दूसरे राज्यों में भी पहुंच जाएगा.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि उत्तर भारत में “सामान्य से ज्यादा” बारिश हो सकती है जबकि मध्य भारत और दक्षिणी प्रायद्वीप में “सामान्य” बरसात का अनुमान है. बहरहाल, पूर्वी और पूर्वोत्तरी भारत में देश के अन्य हिस्सों की तुलना में कम बारिश होने की संभावना है.भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा है कि भारत में 2020 के दक्षिण-पश्चिम मानसून में सामान्य वर्षा होने की संभावना है. औसतन देश में 96% से 104 फीसदी बरसात की संभावना है. IMD ने कहा है कि भारत के पश्चिमी तट पर अगले कुछ दिनों में सायक्लोन जैसी स्थिति बन सकती है. इस पर लगातार नज़र रखी जा रही है. कल तक स्पष्ट जानकारी हो जाने की उम्मीद है.

पवार समाज के युवाओं नें मास्क वितरण एवं ग्रामों में सैनिटाइज़र का किया छिडकाव कर समाज सेवा की


Multapi Samachar

Multai : क्षत्रिय पंवार समाज बैतूल के युवाओं द्वारा मुलताई तहसील के ग्राम माथनी एवं सेन्द्रिया में मास्क वितरण का कार्य एवं सैनिटाइज़र का कार्य किया गया तथा ग्रामवासियों को कोरोना वायरस रोकथाम के लिए उपायोंं बताये साथ ही इस वैश्‍यविक माहामारी से बचाव के लिए जानकारीयां दी गयी, जिसमें सभी युवाओं ने उत्साह पूर्वक भाग लिया जिसमें प्रमुख रूप से मधुकर पंवार, जीवन बुवाड़े,आशीष कोड़ले ,राहुल पंवार, चंद्रकिशोर देशमुख, अंकित बोबड़े,योगेश खपरिये, प्रवीण पंवार, राजेन्द्र पंवार,अरविंद पंवार, राजू पंवार,नीलेश पंवार, विवेक पंवार,सुनील पंवार की उपस्थिति रही

मुलतापी समाचर

मनमोहन पंवार ( प्रमुख संपादक)

कलेक्टर ने कंटेंनमेंट क्षेत्र बैरागढ़ का किया निरीक्षण


काँटेन्मेंट क्षेत्र में सख्ती से लागू हो लॉक डाउन

Multapi Samachar

Bhopal भोपाल कलेक्‍टर ने एसडीएम को दिए निर्देश बैरागढ़ क्षेत्र अंतर्गत संत नगर में लगातार मिल रहे कोरोना मरीजों के मिलने पर आज कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री तरुण पिथोड़े द्वारा निरीक्षण किया गया।

कलेक्टर ने एसडीएम और अन्य अधिकारियों को निर्देशित किया है कि क्षेत्र में पाए गए कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की शीघ्र पहचान कर उन्हें आइसोलेट, क्वॉरेंटाइन और स्वास्थ्य उपचार देने के लिए अस्पतालों में भर्ती कराने के बाद नियमित लोगो को समझाइश दी जाये, साथ ही क्षेत्र में यदि किसी को सर्दी खांसी, बुखार आ रहा है तो पहचान होने पर सभी व्यक्तियों की स्क्रीनिंग, जांच और उपचार किया जाए। लोगों को अन्यत्र स्थान पर भेजा जाए, जिससे संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में लाउडस्पीकर से एलाउंसमेंट किया जाए।सभी लोगों को समझाईश दी जाए की आप अपने घरों में रहें। मास्क अनिवार्य रूप से लगाएं। अपने आप को सेनिटाइज करते रहे। सोशल डिस्टेंसिंग का अक्षर:श पालन करें।

कलेक्टर ने सर्विलांस टीम को निर्देश दिए कि संक्रमित व्यक्तियों की कॉनटेक्ट हिस्ट्री और ट्रेसिंग की जाए जिससे अन्य व्यक्तियों की पहचान सरलता से की जा सके और कोरोना से संबंधी लक्षण दिखने पर आइसोलेशन और संस्थागत क्वॉरेंटाइन में रखा जा सकें।

पुलिस को निर्देशित किया कि सभी क्षेत्रों में बैरिकेडिंग कर आवागमन को पूर्ण रूप से प्रतिबंधित कर दिया जाए। दैनिक वस्तुओं की उपलब्धता के लिए नगर निगम द्वारा प्रतिदिन इन क्षेत्रों में वस्तुओं का विक्रय सुनिश्चित किया जाए, जिससे संबंधित क्षेत्र के व्यक्तियों को इन प्रतिबंधित क्षेत्रों से बाहर जाने से रोका जा सके।

उन्होंने आमजनों को समझाइश देते हुए कहा कि आप लोग 14 दिनों तक अपने घरों में सुरक्षित रहेंगे बाहर नही निकलेंगे तो संक्रमण की चेन को तोड़ने में मदद मिलेगी जिससे इस संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है।

किसानों लाभ की खबर- मिलेगा 0% ब्याज दर पर लोन, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने की घोषणा


मध्‍यप्रदेश (Madhya Pradesh) के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा

Multapi Samachar

किसान न्‍यूज

मध्‍यप्रदेश (Madhya Pradesh) के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Dr. Narottam Mishra) ने प्रदेश में चल रहे कोरोना के संकट काल के बीच प्रदेश में किसानों के लिए बड़ा फैसला लिया है।

सरकार ने किसानों (Farmers) के लिए 0% ब्याज दर पर सहकारी बैंकों के माध्यम से पुनः लोन देने की सुविधा शुरू की है। सरकार द्वारा दोबारा शुरू की गई इस व्यवस्था से किसान बैंक जा कर सीधे लोन ले सकेंगे। सरकार के इस फैसले के बाद प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व की कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) पर जम कर हमला बोला है। मंत्री मिश्रा ने पूर्व सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि, पूर्व की कमलनाथ सरकार ने बैंक बर्बाद हो गए है कह कर भ्रम फैलाया था, लेकिन सच्चाई सबके सामने है। कांग्रेस की सरकार ने  0% ब्याज की योजना बंद कर दी थी।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी ने फिर योजना चालू कर दी है।

0% ब्याज दर योजना कांग्रेस सरकार ने की थी बंद

मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार आने के बाद ही शिवराज सरकार की किसानों 0% योजना को बंद कर दिया था, कमलनाथ सरकार ने ऋण माफी योजना लेकर आई थी।लेकिन अब एक फिर प्रदेश में बीजेपी सरकार आने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने योजना को वापस चालू कर दिया है।

रबी और खरीफ फसलों पर नही लगेगा ब्याज

सरकार की इस योजना से प्रदेश के किसानों को पहले की तरह प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों और जिला सहकारी बैंक से 0% ब्याज पर लोन मिलेगा। वहीं सरकार ने फैसला किया है कि 2019-20 में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों से किसानों द्वारा लिए गए रबी और खरीफ फसलों के लिए लिए गए लोन पर कोई ब्याज नही लिया जाएगा।

मुलतापी समाचार