Jammu Kashmir- शोपियां में आतंकियों से सुरक्षाबलों की मुठभेड़ जारी, अब तक मारे गए 9 आतंकी


Shopian Encounter: सुरक्षाबलों ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए शोपियां में अब तक 9 आतंकी मार गिराए हैं।

Multapi Samachar

जम्मू। एक तरफ पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा वहीं दूसरी तरफ जम्मु-कश्मीर में एक बार फिर से आंतकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हो रही है। इस मुठभेड़ में अब तक 4 आतंकियों के मारे जाने की सूचना है। इस तरह पिछले 24 घंटों में सुरक्षाबलों ने शोपियां में ही दो अलग-अलग मुठभड़ों में 9 आतंकियों को मार गिराया है। इलाके में रविवार को भी मुठभेड़ हुई थी और इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने 5 आतंकियों को मार गिराया है। इनमें हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर भी शामिल है। मुठभेड़स्थल से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद भी बरामद किया गया। इसके बाद आज भी सुबह से ही शोपियां के पिंजोरा में मुठभेड़ हो रही थी। इस मुठभेड़ में सफलता हासिल करते हुए पुलिस और सेना ने संयुक्त रूप से 4 आतंकी मारे हैं।

रविवार को मारे गए थे 5 आतंकी

इससे पहले रविवार को भी 5 आतंकी मारे गए थे। मारे गए आतंकी घाटी में बड़ी वारदात अंजाम देने के लिए घुसे थे। 10 घंटे तक जारी रही मुठभेड़ में एक मकान भी क्षतिग्रस्त हुआ। इसके अलावा शरारती तत्वों ने मुठभेड़ में बाधा डालने के लिए सुरक्षाबलों पर पथराव किया। अफवाह फैलने से रोकने के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई।

बता दें कि सुरक्षाबलों को रविवार रात सूचना मिली थी कि शोपियां के रेबन गांव में कुछ आतंकी छिपे हुए हैं। इसके बाद आधी रात को पुलिस, सेना की एक राष्ट्रीय राइफल्स और केंद्रीय पुलिस बल की संयुक्त टीम ने गांव को घेर लिया था। सुबह होने तक का इंतजार किया गया। आतंकी गांव में एक घर में छिपे थे। सुबह करीब साढ़े सात बजे सुरक्षाबलों को देख आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी।

रिहायशी क्षेत्र होने के कारण सुरक्षाबल पूरी सतर्कता के साथ गोलाबारी कर रहे थे। इस दौरान सुरक्षाबलों ने 15 लोगों को गोलीबारी के बीच बाहर सुरक्षित निकाला। मुठभेड़ शाम करीब पांच बजे तक चली। दो आतंकी ठिकाने से बाहर भागने की कोशिश में मारे गए और तीन अंदर ही। जब गोलाबारी बंद हुई तो सुरक्षा बल क्षतिग्रस्त हो चुके मकान में पहुंचे। वहां पांच आतंकियों के शव मिले। इनकी पहचान हिजबुल के कमांडर फारूक अहमद भट्ट उर्फ नल्ली, ओबेद मलिक, इशहाक, आदिल हुसैन और बिलाल अहमद के रूप में हुई है।

ए-प्लस प्लस श्रेणी का आतंकी था नल्ली

सूत्रों के अनुसार, ए-प्लस प्लस श्रेणी के आतंकी नल्ली को आतंकी नवीद बाबू की गिरफ्तारी के बाद कुलगाम व पुलवामा की कमान सौंपी गई थी। वह यारीपोरा का रहने वाला है। दो हफ्ते पहले यारीपोरा में सुरक्षाबलों से हुई मुठभेड़ के दौरान भाग निकलने में कामयाब हो गया था। इसके अलावसा वह 2015 से दक्षिण कश्मीर में सक्रिय था।

कई बड़े आतंकी मारे जा चुके

कश्मीर में सुरक्षाबलों ने रणनीति के तहत आतंकरोधी ऑपरेशन तेज कर रखे हैं। दो महीने में हिजबुल, जैश और लश्कर के वांछित आतंकी मारे जा चुके हैं। चार जून को सुरक्षाबलों ने जैश कमांडर अब्दुल रहमान उर्फ फौजी को दो अन्य आतंकियों के साथ मार गिराया था। आइईडी बनाने में माहिर फौजी ने 28 मई को पुलवामा दोहराने की साजिश रची थी, जिसे सुरक्षाबलों ने नाकाम कर दिया था।

Indian Railway – Train में Ticket Reservation के नियम बदले, अब देनी होगी ये जानकारी, इस दिन से बुक होंगे तत्काल टिकट


मुलतापी समाचार Multapi Samachar

देश में 1 जून से शुरू हो 200 यात्री ट्रेनों में अब तत्काल टिकट बुकिंग Tatkal Ticket की सुविधा भी जल्द मिल सकती है। साथ ही ट्रेनों में आम टिकट बुकिंग के लिए भी नियमों में बदलाव कर दिया है। हालांकि, रेलवे में 31 मई से 120 दिन पहले रेल आरक्षण सेवा बहाल होने के साथ ही तत्काल टिकटों की बुकिंग का भी ऐलान कर दिया था। लेकिन बाद में इसमें बदलाव किया गया और नई तारीख सामने आई है। खबरों के अनुसार, अब यात्री 29 जून से ट्रेन में तत्काल टिकट बुक कर सकेंगे। इसके साथ ही टिकट बुंकिंग के कुछ नए नियम भी आए हैं। IRCTC से टिकट बुकिंग के नियमों की जानकारी हम आपके लिए लेकर आए हैं।

30 जून से कर सकेंगे यात्रा

ट्रेनों में तत्काल टिकट की बुकिंग 29 जून को शुरू होगी और यात्री एक दिन पहले रेलवे के काउंटरों या अधिकृत एजेंटों से तत्काल टिकट बुक करा सकते हैं। तत्काल टिकटों की बुकिंग को लेकर रेलवे प्रशासन ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। इसको लेकर स्पेशल ट्रेनों के टिकटों की बिक्री की समीक्षा भी शुरू कर दी है।

जरूरी होगी यह जानकारी

– अब टिकट बुक करने के लिए यात्री को अपना पहचान पत्र देने के साथ ही अपना पूरा पता, मकान नंबर, गली, कॉलोनी और तहसील तक की जानकारी देनी होगी।

– टिकट बुकिंग के समय मोबाइल नंबर भी वही देना होगा जो आप यात्रा के समय अपने साथ लेकर चलने वाले हैं।

– यात्री रिजर्वेशन काउंटर्स से टिकट ले या फिर IRCTC की वेबसाइट से या ऐप से, उनसे यह सारी जानकारी देना जरूरी होगी।

– इस फार्म को भरने में यात्रियों को 70 सेकंड से ज्यादा समय नहीं लगेगा, ऐसे में टिकट बुकिंग में देरी नहीं होगी।

– रेलवे ने इसके लिए अपने सॉफ्टवेयर में भी बदलाव करवाया है।

– इस बदलाव का असर स्टेशन पर रिजर्वेशन की प्रक्रिया में पड़ेगा। रेलवे के नए फार्म में यात्री को अपनी पूरी जानकारी देनी होगी तभी टिकट बुक होगा।

MP Shajapur – बुजुर्ग मरीज को बिल वसूली के लिए ही बनाया था बंधक


MULTAPI SAMACHAR

Shajapur News : शाजापुर। अस्पताल का बिल नहीं चुकाने से बुजुर्ग मरीज को बंधक बनाने के मामले में शाजापुर के साथ ही राजगढ़ प्रशासन भी जांच कर रहा है। शनिवार रात और रविवार को राजगढ़ व शाजापुर के अधिकारियों की टीम बुजुर्ग के गांव रनारा पहुंची और बयान लिए।

बुजुर्ग मरीज और बेटी ने अस्पताल प्रबंधन द्वारा बिल की राशि नहीं चुकाने से बंधक बनाने के आरोप दोहराए हैं। राजगढ़ प्रशासन ने पीड़ित को छह हजार रुपए आर्थिक सहायता दी है। साथ ही शासकीय योजनाओं के तहत अन्य लाभ देने की कवायद भी चल रही है। इधर, शाजापुर प्रशासन अब तक जांच में ही जुटा है। जिम्मेदार कार्रवाई को लेकर स्पष्ट बताने से बच रहे हैं।

राजगढ़ जिले के गांव रनारा निवासी लक्ष्मीनारायण दांगी को पेट में तकलीफ होने से 1 जून को शाजापुर के निजी अस्पताल में भर्ती कि या गया था। आराम होने के बाद वे घर जाना चाहते थे, लेकिन अस्पताल का बिल नहीं चुकाने से स्टाफ ने उन्हें जाने नहीं दिया। मरीज की बेटी सीमा का कहना है कि अस्पताल वालों ने पिता को पलंग पर रस्सी से बांध दिया था। दो बार हमने यहां रुपए जमा कि ए थे। हमारे पास रुपए नहीं थे, लेकिन अस्पताल वाले 11 हजार रुपए मांग रहे थे।

शनिवार को मामले ने तूल पकड़ा और मुख्यमंत्री ने अस्पताल पर कड़ी कार्रवाई किए जाने को लेकर ट्वीट किया। शनिवार रात खिलचीपुर एसडीएम रमेश पांडे, तहसीलदार एवं छापीहेड़ा नायब तहसीलदार मोहित सीनम छापीहेड़ा के समीपस्थ रनारा पहुंचे और लक्ष्मीनारायण दांगी एवं उनकी बेटी सीमा के बयान लिए। रविवार को शाजापुर के नायब तहसीलदार ब्रजेश मालवीय सहित अन्य अधिकारियों की टीम भी रनारा पहुंची और बुजुर्ग व बेटी के बयान लिए।

बीपीएल कार्ड है, पर सुविधा नहीं

बुजुर्ग की आर्थिक स्थिति खराब है। उसके पास बीपीएल कार्ड है, किंतु योजनाओं के लाभ से वंचित है। ना तो इलाज कराने के लिए आयुष्मान योजना का कार्ड बना है और ना ही प्रधानमंत्री आवास की लाभ उन्हें मिल सका है। प्रशासन द्वारा आयुष्मान कार्ड बनवाने और पीएम आवास देने की कवायद की जा रही है।

“अस्पताल का पक्ष भी जाना जाए”

निजी अस्पताल पर लगे आरोप और जांच बैठाए जाने को लेकर शाजापुर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन का कहना है कि अस्पताल प्रबंधन और डॉक्टर का पक्ष जाने बगैर सिर्फ मरीज, अटेंडर और सोशल मीडिया की कूटरचित कहानी के आधार पर कोई कार्रवाई की गई तो कड़ा विरोध करेंगे। जरूरत पड़ने पर सभी सामान्य और इमरजेंसी सेवाओं को तत्काल बंद कर दिया जाएगा। जिला प्रशासन से अनुरोध है कि मेडिकल टीम से मामले की निष्पक्ष जांच करवाई जाए। जांच समिति में एसोसिएशन का भी एक प्रतिनिधि शामिल हो। एसोसिएशन के सचिव डॉ. प्रवीण सिंह के नाम से यह मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

सहायता की है

जानकारी लगने के बाद शनिवार रात एसडीएम व हम रनारा गए थे। बुजुर्ग व उनकी बेटी ने बिल की राशि के लिए शाजापुर के निजी अस्पताल में बंधक बनाने की बात कही है। प्रारंभिक तौर पर 6 हजार की आर्थिक मदद की है। आयुष्मान योजना कार्ड व पीएम आवास के लिए प्रयास किए जाएंगे।

– मोहित सीनम, नायब तहसीलदार छापीहेड़ा

मैं वहां पहुंचा था मामले में संबंधितों के बयान लिए हैं। रिपोर्ट वरिष्ठ अधिकारियों को सौंपेगे। कार्रवाई उन्हें ही करना है।

– ब्रजेश मालवीय, नायब तहसीलदार

छात्र नेता ग़ौरव झारखड़िया बैठे एक दिवसीय आंशिक अनशन पर फ़ीस बृद्धि के विरोध में…


छात्र नेता ग़ौरव झारखड़िया बैठे एक दिवसीय आंशिक अनशन पर फ़ीस बृद्धि के विरोध में…

बड़ागाँव – पिछले दिनो बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति ज़ी द्वारा एक फ़रमान जारी करके विश्वविद्यालय के अनेक विभाग़ो की फ़ीस वृद्धि की गई थी इस फ़ैसले का विरोध अपने अपने ढंग से विभिन्न छात्र संगठन कर रहें हैं इसी बीच कोंग्रेस की छात्र इकाई भी इस मुद्दे को लपकते हुए अपना विरोध प्रदर्शन अपने ढंग से किया बुंदेलखंड NSUI के प्रदेश महासचिव श्री गौरव झारखड़िया जी के नेतृत्व में उनके साथ अमित तिवारी व शिवम उपाध्याय व आदि लोगो ने गाँधीवादी तरीक़े सोशल डिसटेंसिंग का पालन करते हुए व शान्तिप्रिय ढंग से एक दिवसीय अनशन किया

NSUI क़े प्रदेश महासचिव ग़ौरव झारखड़िया ने अपने वक्तव्य में कहा हैं की देश क़ोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा हैं, लोगों के पास कोई काम धन्धे नही बचे हैं लोकडाऊन के चलते लोग़ अपनी २ वक़्त की रोटी की आशा करे या अपने बच्चों की फ़ीस भरें इस विपदा की घड़ी में विश्वविद्यालय द्वारा ऐसा आदेश आना बुंदेलखंड के छात्रों के साथ अन्याय हैं और Nsui छात्रों के साथ यह अन्याय हरगिज़ नही होने देंगी विश्वविद्यालय क़े कुलपति महोदय से विनम्रता पूर्वक फीस वृद्धि को वापस लेने की मांग की है यदि महोदय द्वारा जल्द ही इस पर कोई सुनवाई नही हुई तो बुंदेलखंड NSUI का एक एक कार्यकर्ता सड़को पर आकर उग्र आंदोलन को वाध्य होगा….

विश्व साइकिल दिवस पर अनोखी जानकारी


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

इंदौर: शुरुआत में साइकिल का भी नंबर होता था, और सड़क पर चलाने के लिए प्रतिवर्ष नगरीय निकाय को साइकिल का टैक्स देना होता था। रसीद पर साफ लिखा होता था यह नंबर प्लेट दूसरे को बेच नहीं सकते और ना ही दूसरी साइकिल पर इस्तेमाल कर सकते हैं। देखिए यह रसीद

मुलतापी समाचार