भोपाल में 10 दिन का लॉक डाउन बड़ाा 24 जुलाई से


Lock Down in Bhopal

भोपाल। राजधानी में बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए 24 जुलाई से दस दिन का पूर्ण लाॅक डाउन लगाया जा रहा है। गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने मीडिया से बातचीत करते हुए यह जानकारी दी है। उन्‍होंने बताया कि रात आठ बजे से लॉक डाउन लागू कर दिया जाएगा।

कोरोना को लेकर हुई समीक्षा बैठक के बाद तय किया गया है कि भोपाल में 24 जुलाई से 10 दिनों के लिए पूरी तरह लॉक डाउन रहेगा। इस दौरान न तो कोई भोपाल में प्रवेश कर पाएगा और ना ही यहां से बाहर जा सकेगा। दवा, दूध, सब्जी और सरकारी राशन की दुकान खुली रहेंगी। आने-जाने के लिए पहले की तरह ही पास जारी होंगे।

नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि सभी सरकारी राशन दुकान संचालकों को कहा गया है कि वे गरीबों को जुलाई माह का राशन दो दिन के भीतर वितरित कर दें। उद्योग और सरकारी दफ्तर खुलेंगे। सरकारी दफ्तरों में सिर्फ चुनिंदा स्टाफ को ही आने की अनुमति होगी।

आगामी मंगलवार को होने वाली कैबिनेट बैठक भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ही होगी। डॉ मिश्रा ने बताया कि रक्षाबंधन का त्यौहार आ रहा है ऐसे में बहनें त्योहार को दूरी से मनाने का मध्य मार्ग देखें। प्रदेश में कल 747 कोरोना पॉजिटिव प्रकरण सामने आए थे। वहीं, पांच सौ अस्सी स्वस्थ होकर घर लौटे स्वस्थ होने की दर 67 फीसद हुई है। वहीं, मृत्यु दर में भी सुधार हुआ है। यह अब 3.8 फीसद है। गृहमंत्री ने कहा सभी से आग्रह है कि सभी लोग 10 दिन का राशन लेकर रख लें।

उल्‍लेखनीय है कि राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमण थम नहीं रहा है। बुधवार को भोपाल में 116 पॉजिटिव मरीजों के मिलने की पुष्टि हुई है। वहीं बुधवार को ही 54 मरीज कोरोना से ठीक होकर घर भी लौटे हैं।

इससे पहले पुराने शहर के प्रमुख बाजारों में बुधवार से पांच दिन तक (26 जुलाई) तक लॉकडाउन का निर्णय लिया गया था। बीते सात दिन में यहां 46 से अधिक कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। इस कारण जिला प्रशासन ने व्यापारी संघों के साथ बैठक लेकर कोतवाली, मंगलवार व हनुमानगढ़ थाना क्षेत्र के बाजारों में लॉकडाउन रखने का निर्णय लिया था। हालांकि, कई व्यापारिक संघ लॉकडाउन को लेकर गुस्से में थे। उनका कहना है कि कोरोना का संक्रमण राजधानी में सभी जगह है। ऐसे में सिर्फ पुराने शहर के बाजार बंद रखना उचित नहीं है। लॉकडाउन हो तो सभी बाजारों में लागू किया जाए।