Breaking एयर इंडिया का विमान रनवे पर फिसला 2 हिस्से टूटा, पायलेट सहित 14 लोगो की मौत


एयर इंडिया प्लान क्रेश केरल में

14 लोगों मौत 50 लोगों की गंभीर हालत

वंदे भारत मिशन के तहत दुबई से आए विमान में कुल 191 यात्री बैठे थे प्लेन में

केरल के कोझीकोड में रनवे पर विमान के फिसलने का मामला सामने आया है. कोझीकोड के करीपुर हवाई अड्डे पर एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान उतरते समय रनवे पर फिसल गया. यह विमान दुबई से यात्रियों को लेकर आ रहा था. बताया जा रहा है कि विमान में 191 यात्री सवार थे. फिलहाल, विमान के फिसलने के कारणों का पता नहीं चल सका है. इस घटना में कितने लोग हताहत हुए हैं, इसकी अभी तक कोई सूचना नहीं है. यह हादसा भारी बारिश के बीच रात 7 बजकर 40 मिनट के बाद हुआ. मौके पर मौजूद कर्मचारी बचाव कार्य में लगे हुए हैं.

https://twitter.com/ANI/status/1291769860897136640?s=20https://twitter.com/ANI/status/1291769860897136640?s=20

केरल के कोझीकोड एयरपोर्ट पर एयर इंडिया का विमान हादसे का शिकार ,190 यात्री सवार थे


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

नई दिल्ली: केरल में कोझीकोड एयरपोर्ट पर शुक्रवार शाम एयर इंडिया का एक विमान रनवे पर फिसल गया। यह विवान दुबई से यात्रियों को लेकर आ रहा था। इस विमान में 190 यात्री सवार थे। बताया जा रहा है कि विमान भारी बारिश के कारण रनवे पर फिसल गया। हादसे में पायलट की मौत हो गई है और कई यात्रियों के घायल होने की खबर है।

हादसे के बाद राहत और बचाव कार्य के लिए टीमें पहुंच गई है। फायर बिग्रेड और एंबुलेंस की गाड़ियां घटनास्थल पर मौजूद हैं।

मुलतापी समाचार

Sushant Singh केस : केंद्र सरकार ने भी सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की अर्जी, पक्षकार बनाने की मांग


बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) – फाइल फोटो

Multapi Samachar

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत मामले (Sushant Singh Rajput) में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अर्जी दाखिल कर दी है

नई दिल्ली:  बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत मामले (Sushant Singh Rajput) में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अर्जी दाखिल कर दी है. केंद्र सरकार ने इस केस में पक्षकार बनाने की मांग की है. आज सुशांत राजपूत केस में पूछताछ के लिए बॉलीवुड एक्ट्रेस और एक्टर की कथित गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती प्रवर्तन निदेशालय पहुंच गई हैं. उनके साथ उनेके पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती और भाई शोविक चक्रवर्ती भी ED दफ़्तर में पहुंचे हैं. बता दें कि ईडी ने मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है.

सुशांत सिंह सुसाइड मामले में शुक्रवार को पूछताछ होनी थी और इसके लिए अभिनेत्री को समन जारी किया गया था लेकिन उन्होंने ED से इसे टालने के लिए कहा था. रिया की ओर से कहा गया था कि चूंकि उनकी याचिका सुप्रीम कोर्ट में लंबित है, लिहाजा पूछताछ को टाला जाए. रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने कहा था, ‘अभिनेत्री ने सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई की वजह से अपने बयान की रिकॉर्डिंग को स्थगित करने का अनुरोध किया है.’ लेकिन जानकारी मिली कि ED ने रिया के निवेदन को ठुकरा दिया था, जिसके बाद रिया ईडी के ऑफिस पहुंची हैं.

आर्थिक अपराध मामलों की जांच करने वाली एजेंसी ED ने मामले में 15 करोड़ रुपए के ‘संदिग्ध लेनदेन’ को लेकर केस दर्ज किया है. एजेंसी ने पूछताछ के लिए रिया को सुबह 11.30 बजे दफ्तर आने का वक्त दिया था. रिया इसके कुछ मिनटों बाद ईडी ऑफिस पहुंचती दिखीं. उनके वकील सतीश मानशिंदे ने कहा, ‘रिया चक्रवर्ती कानून का पालन करने वाली नागरिक हैं. जब ईडी ने मीडिया में यह जानकारी दी कि पूछताछ को टालने वाले आग्रह को खारिज कर दिया है तो वो तय वक्त पर पूछताछ के लिए पहुंच गई हैं.’

दिवंगत एक्टर के परिवार की ओर से रिया चक्रवर्ती पर पैसे निकलवाने, धोखाधड़ी और मानसिक प्रताड़ना देकर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का केस दर्ज कराया है. ईडी ने इस मामले में सुशांत राजपूत के दोस्त सिद्धार्त पिठानी और रिया की पूर्व मैनेजर श्रुति मोदी को भी समन किया है. जानकारी है कि एजेंसी रिया से 15 करोड़ के ‘संदिग्ध लेन-देन’ को लेकर दर्ज किए गए मनी लॉन्डरिंग केस को लेकर सवाल पूछ सकती है. एजेंसी ने सुशांत के परिवार की ओर से बिहार पुलिस में दर्ज कराए गए एफआईआर पर संज्ञान लिया था.

बता दें कि रिया ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर बिहार में दर्ज मामले को मुंबई ट्रांसफर करने की मांग की है. ईडी के अलावा इस मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी CBI ने भी एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती समेत 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. रिया चक्रवर्ती और पांच अन्य के खिलाफ खुदकुशी के लिए उकसाने, आपराधिक षड्यंत्र रचने, चोरी, धोखाधड़ी और धमकी देने समेत अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज किया गया है. बिहार पुलिस की FIR के आधार पर CBI ने केस दर्ज किया है.  सीबीआई की एसआईटी की टीम सुशांत राजपूत मामले की जांच कर रही है.  इसमें डीआईजी मनोज शशिधर और एसपी नूपुर प्रसाद शामिल हैं. बिहार पुलिस ने 25 जुलाई को भारतीय दंड संहिता( IPC) की धारा 341, 348, 380, 406, 306, 506, 420,120B में केस दर्ज किया था. सीबीआई की एफआईआर में भी यहीं धाराएं लगाई गई हैं

Breaking महिलावाड़ी में बहा मुलताई निवासी लक्की का शव बोकाखेडी की नदी में मिला, एक ग्रामीण की तलाश जारी


बोकाखेडी डेम से अबतक दो शव बरामद हुए अन्‍य की खोज जारी

बाढ़ में बहे लोग मुलताई निवासी  युवक का मिला शव  एक ग्रामीण की अभी भी तलाश 


नदी में बहे व्यक्ति की लाश बुकखेड़ी डेम में मिली। दो बाइक नाले मेेेें म‍िली।

मुलताई। छिंदवाड़ा हाईवे से ग्राम महिलावाड़ी जाने वाले मार्ग पर स्थित कालापाठा डैम नदी पर बनी पुलिया पर बुधवार रात में हुई तेज बारिश के चलते बह रहे पानी के बहाव की चपेट में आने से मुलताई निवासी युवक बाइक समेत बह गया था वहीं इसी पुलियापर बाढ़ की चपेट में आने से ग्राम खड़क वार निवासी  दो ग्रामीण भी बाइक समेत बह गए थे गुरुवार दोपहर में एक ग्रामीण का शव बुका खेड़ी डैम में  गोताखोरों ने खोज लिया था जबकि मुलताई निवासी युवक और एक ग्रामीण की तलाश जारी थी  एसडीएम सी एल चनाप ने बताया कि शुक्रवार सुबह पुलिया से लगभग 500 मीटर दूर ग्रामीणों को मुलताई निवासी लक्की पिता कैलाश बारंगे का शव मिला है

बोकाखेडी डेम से अबतक दो शव बरामद हुए अन्‍य की खोज जारी


       गौरतलब है कि नगर के कन्या हायर  सेकेंडरी स्कूल के पास रहने युंवक लक्की  बारंगे  बुधवार रात में महिलावाडी के पास नदी की पुलिया पर तेज पानी के  बहाव में  बाइक समेत बह गया।  जबकि दूसरी बाईक पर सवार गजामारढाना (खड़कवार)  निवासी कृष्णा डिगरसे और रघुनाथ देशमुख  भी पुलिया पार करने के दौरान तेज बहाव के चपेट में आ जाने से  बाईक समेत बह गए  गुरुवार सुबह एस डी आरएफ की टीम द्वारा मोटर बोट से और गोताखोरों ने डैम में खोजबीन आरंभ की दोपहर में ग्राम गजामार ढाना निवासी रघुनाथ देशमुख 50 साल शव  मिल गया था लेकिन शाम तक लक्की  बारंगे और कृष्णा का पता नहीं चल पाया था रात में खोज अभियान  रोक दिया गया था एसडीएम श्री चनाप ने बताया कि शुक्रवार सुबह  ग्रामीणों को लक्की की बाईक जिस  स्थल पर नदी में मिली थी उससे कुछ दूरी पर लक्की बारंगे का शव मिला है जबकि कृष्णा की तलाश की जा रही है

  खोजबीन के दौरान युवक की बाइक के साथ एक और बाइक नदी के बहाव में फंसी मिली। ऐसी स्थिति में दो लोगों के बहने की आशंका बनी हुई है। 

बताया जा रहा है कि मूलताई का युवक लक्की बारंगे अपने दोस्त आकाश विश्वकर्मा और दीपेश धारपुरे के साथ बुधवार को ग्राम परसठानी गया था। रात में तीनों लोग बाइक से मुलताई लौट रहे थे। रात में तेज बारिश होने के चलते महिलावाड़ी मार्ग पर स्थित पुलिया पर पानी का तेज बहाव होने के बावजूद लक्की बारंगे बाइक लेकर पुलिया पार करने की जिद करने लगा। जिस पर आकाश और दीपेश बाइक पर से उतर गए। लक्की बाइक लेकर पुलिया पर पहुंच गया । पानी के तेज बहाव में वह बाइक समेत बह गया। आकाश और दीपेश भागकर ग्राम महिला वाड़ी पहुंचे और सरपंच दिनेश पठाडे को जानकारी दी। दिनेश पठाडे ग्रामीणों के साथ मौके पर पहुंचे। 

  पुलिस को सूचना देने के साथ ग्रामीणों के साथ नदी किनारे खोजबीन भी की सूचना पर एएसआई रणधीरसिंह राजपूत भी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों के साथ नदी में खोजबीन की तो लक्की बारंगे की बाइक हौंडा शाइन के साथ एक और बाइक नदी में मिली । सरपंच दिनेश पठाडे ने बताया दूसरी बाइक हीरो सीडी डीलक्स है। पंजीयन नंबर के आधार पर बाइक स्वामी गजामारढाना (खड़कवार)  निवासी कृष्णा डिगरसे के नाम से पंजीकृत है। इस आधार पर कृष्णा के परिजनों को सूचना देकर मौके पर बुलाया परिजनों ने बताया कि कृष्णा बुधवार को बैंक से रुपए निकालने मुलताई गया था। कृष्णा की पत्नी कविता ने पुलिस को बताया कि बुधवार रात 9  बजे मोबाइल पर कॉल किया तो स्विच ऑफ आया। गुरुवार सुबह करीब 11 बजे एनडीआरएफ और नगर रक्षा के गोताखोर बुकखेड़ी डेम में व्यक्ति की डेड बॉडी निकली गई। वहीं बाइक पर सवार युवक का पता नहीं चल पाया है।

बायो फ्यूल से जल्‍द दौडेंगे वाहन


रतनजोत से बायो फ्यूल के लिए सहायक

रतनजोत से बायो फ्यूल का उत्पादन कर राज्य को प्रदूषित मुक्त करना राज्य सरकार के लिए दूर की कौड़ी साबित हो रहा है।

राजस्‍थान में वाहनों का बायो डीजल हुआ सरकार के लिए दूर की कौड़ी

Multapi Samachar

रतनजोत से बायो फ्यूल का उत्पादन कर राज्य को प्रदूषित मुक्त करना राज्य सरकार के लिए दूर की कौड़ी साबित हो रहा है। सरकार ने रतनजोत की खेती को प्रोत्साहन देने के कई प्रयास किए, लेकिन इसकी खरीद दर कम होने के कारण किसानों में इसके प्रति रुझान कम है। एेसे में सरकार के पास ज्यादा से ज्यादा पौधों को लगाकर उत्पादन कर फ्यूल प्राप्त करना ही उपाय रहा गया है। उल्लेखनीय है कि सरकार ने बायो फ्यूल को प्रोत्साहन देकर वर्ष 2022 तक डीजल की खपत 10 फीसदी कम करने का लक्ष्य रखा है।

सरकार की समितियों ने रतनजोत की खरीद दर 12 रुपए प्रति किलोग्राम निर्धारित की है, वहीं राजस संघ इसे 15 रुपए व मंडी समितियां 18 रुपए प्रति किग्रा की दर से खरीद रही है। एेसे में सरकार की मुश्किल यह है कि रतनजोत का ज्यादा मात्रा में कैसे संग्रहण किया जाए, क्योंकि काफी कम संख्या में इसकी खेती कर रहे किसान भी अच्छे दाम पाने के लिए कृषि उपज मंडियों का रुख कर रहे हैं।

अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने इस बारे में केन्द्र सरकार से बात की गई थी, तो सरकार का कहना है कि किसानों को बाध्य नहीं कर सकते, वे जहां चाहे उत्पाद को बेच सकते हैं। एेसे में सरकार के पास एक ही विकल्प है कि इसके अधिक-अधिक पौधे को लगाकर उत्पादन करें। सरकार ने अभी तक इसको अनुपयोगी भूमि पर ही लगाया है, कृषि भूमि पर इसकी खेती पर कोई चर्चा नहीं हुई।

अधिकारियों के अनुसार सरकार इसकी खरीद मूल्य को भी बढऩे में सक्षम नहीं है। वर्तमान में इसका खरीद मूल्य 12 रुपए प्रति किग्रा है, जिसे 15 रुपए प्रति किग्रा तक खरीद सकते हैं। एेसे में प्लांट में फ्यूल बनाने के लिए मशीन, मजदूर, बिजली आदि खर्चों के बाद एक लीटर बायो फ्यूल की सरकारी लागत करीब 38 रुपए एवं निजी कम्पनी की लागत 40 रुपए आती है जिसे 44 रुपए प्रति लीटर में बेचा जाता है। अगर इसका खरीद मूल्य कृषि उपज मंडी के बराबर किया जाता है लागत बढ़ जाएगी। एेसे में कम मूल्य पर बायो फ्यूल प्राप्त करना आसान नहीं होगा। जानकारों को कहना है कि उदयपुर संभाग में भारी मात्रा में रतनजोत का उत्पादन होता है, जिसमें से मात्र 10-15 प्रतिशत ही उपयोग हो पा रहा है। सरकार इस ओर ध्यान दे तो बायो फ्यूल उत्पादन बढ़ सकेगा। हालांकि राजस संघ के अधिकारियों का कहना है कि मात्र 10 प्रतिशत की रतनजोत बच पाती है बाकि उपयोग में आ रही है।

अब होगी नीलामी शुरू

एकमात्र वन उपज मंडी उदयपुर में कुछ मात्रा में ही नीलामी हो पाती है। जल्द ही ढंग से नीलामी शुरू होगी, जिससे रतनजोत का भाव बढ़ेगा। इससे किसान और उत्पाद मंडी की ओर आकर्षित होंगे, मगर यह स्थिति भी सरकारी स्तर पर बायो फ्यूल उत्पादन की मुश्किलें बढ़ाएगी।

कृषि उपज मंडी

व न उपज मंडी के बनने के 18 माह में 17-20 रुपए किलो ग्राम के अनुसार कृषि उपज मंडी ने 1 करोड़ 70 लाख रुपए की 10731 क्विंटल रतनजोत की खरीद-फरोख्त हुई जिससे 2 लाख 71 हजार रुपए की मंडी शुल्क प्राप्त की। सर्वाधिक आवक अक्टूबर व दिसम्बर में होती है।

12 जिलों से प्राप्त किया रतनजोत (मेट्रिक टन में)

2011-12 90.709

2012-13 103.390

2013-14 1100

2014-15 2144.73

2015-16 1005

राजस संघ उदयपुर ने इतना प्राप्त किया

2009-10 7889.32 12 रुपए किग्रा

2010-11 738 9.30 रुपए किग्रा

2011-12 907 12 रुपए किग्रा

2012-13 83 15 रुपए किग्रा

(क्विंटल में)

राजस संघ के दायरे में

कोटड़ा, झाड़ोल, सलूम्बर, सिरोही (आबू रोड), गोगुंदा, कुम्भलगढ़, पीपलखूंट, घाटोल, घंटाली, रवागुड़ा, कुशलगढ़, प्रतापगढ़ आदि।

जिले में काफी मात्रा में रतनजोत का उत्पादन हो रहा है। मंडी ने भी कई गुना ज्यादा रतनजोत की खरीदी की है। आने वाले समय में पूर्णत: नीलामी प्रक्रिया होने के बाद किसानों को अच्छा भाव मिल पाएंगा।

भगवान सहाय जाटवा, सचिव, कृषि उपज मंडी, उदयपुर

बाजार मूल्य को ध्यान में रखकर ही समिति की ओर से मूल्य का निर्धारण किया जाता है। इसे फ्यूल के अलावा दूसरे उपयोग में भी लिया जाता है। इसका व्यापार करने के लिए किसानों को बाध्य नहीं कर सकते।

सुरेन्द्रसिंह राठौड़, बायोफ्यूल प्राधिकरण।

मुलतापी समाचार

विश्व स्तनपान सप्ताह के अंतर्गत परामर्श सत्र आयोजित


Multapi Samachar

जिला चिकित्सालय के ट्रामा सेंटर में गुरूवार को विश्व स्तनपान सप्ताह के अंतर्गत स्तनपान परामर्श सत्र आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप कुमार धाकड़ द्वारा गर्भवती माताओं एवं स्तनपान करने वाली माताओं को मां के दूध के महत्व पर विशेष समझाईश दी गई। डॉ. धाकड़ द्वारा आईएमएस एक्ट (इन्फेन्ट मिल्क सब्सिटीट्यूट) (स्तनपान संरक्षण अधिनियम 2003) के बारे में जानकारी देते हुये बताया गया कि इस अधिनियम का उल्लंघन करने वालों को तीन वर्ष का कारावास एवं 5000 रूपए तक के जुर्माने का प्रावधान है। अधिनियम के तहत् शिशु दूध, पूरक शिशु आहार एवं दूध की बोतले बनाने वाले जो दो वर्ष तक की आयु वाले बच्चों के लिये किसी भी नाम से आहार के प्रयोग को बढ़ावा देते हैं तथा 6 माह की आयु से पहले शिशु आहार के प्रयोग को बढ़ावा देते हैं उनके विरूद्ध कार्यवाही का प्रावधान है।

गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली माताओं को पौष्टिक आहार के सेवन के लिये प्रेरित किया गया।सिविल सर्जन डॉ. अशोक बारंगा ने बताया कि मां के दूध में सभी तरह के कार्बोहाइट्रेड एवं विटामिनों का समावेश होता है एवं इसके पिलाने से बच्चे को किसी प्रकार के संक्रमण का भय नहीं होता। इसके सेवन से बच्चे बीमारियों से बचे रहते हैं।जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. अरविन्द कुमार भट्ट ने बताया कि कोरोना काल में विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

कोविड संक्रमित मॉ के द्वारा भी समय-समय पर 20 सेकेण्ड तक हाथों की सफाई एवं मास्क का उपयोग कर शिशु को स्तनपान कराया जा सकता है।स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. रेणुका गोहिया ने स्तनपान के महत्व पर विस्तार पूर्वक विस्तृत जानकारी दी। जन्म के तुरंन्त बाद 1 घन्टे के भीतर मां का पहला गाढ़ा पीला दूध (जिसे कोल्स्ट्रम कहते हैं) के पिलाने से शिशु को होने वाले लाभ, शिशु का शारीरिक मानसिक विकास, रोग प्रतिरोधक क्षमता का बढऩा, शिशु की पाचन शक्ति को बढ़ाना, स्तनपान से माता को होने वाले लाभ जैसे स्तन केैंसर, अंडाशय के कैंसर से बचाव की जानकारी दी। स्तनपान से मां के स्तनों में होने वाली तकलीफ एवं बीमारियों से भी संरक्षण होता है। लगातार 6 माह तक केवल स्तनपान करवायें तथा किसी प्रकार की घुट्टी, शहद गुड़ का पानी, शक्कर का पानी, ऊपरी दूध आदि शिशु को नहीं दिया जाना चाहिये तथा स्तनपान से सम्बधित भ्रांतियों का निवारण किया गया। छ: माह के पश्चात् शिशु को स्तनपान के साथ ठोस एवं नरम उपरी आहार जैसे- दूध, दलिया, खिचड़ी, सत्तु एवं उबले एवं मसले फल, सब्जियां इत्यादि नरम पोषण आहारों का सेवन कराना अति आवश्यक होता है जिससे शिशु का शरीरिक एवं मानसिक विकास भलीभांति होता है।जिला मीडिया अधिकारी श्रीमती श्रुति गौर तोमर द्वारा बताया गया कि वर्ष 2020 की थीम सपोर्ट ब्रेस्ट फीडिंग फॉर अ हेल्दियर प्लेेनेट अर्थात स्तनपान दिवस ध्येेय वाक्य एक स्वस्थ ग्रह के लिये स्तनपान का समर्थन है।

स्तनपान शिशु, माता, परिवार एवं समुदाय के लिये किस प्रकार लाभकारी है तथा शिशु की जीवन क्षमता को किस प्रकार बढ़ाता है, के संबंध में जानकारी दी।उप जिला विस्तार एवं माध्यम श्रीमती अभिलाषा खर्डेकर द्वारा स्तनपान दिवस पर शिशु को स्तनपान करवाने का सही तरीका, जन्म के तुरन्त बाद 1 घन्टे के भीतर स्तनपान करवाने का महत्व तथा 6 माह तक स्तनपान करवाने से मां एवं शिशु को जीवन संजीवनी लाभ के बारे में जानकारी दी गई।उक्त परामर्श सत्र में महिलाओं की जिज्ञासाओं एवं प्रश्नों का समाधान भी किया गया। सत्र में डी.पी.एम. डॉ. विनोद शाक्य एवं उप मीडिया अधिकारी श्री महेशराम गुबरेले, गर्भवती माताएं, स्तनपान कराने वाली माताएं तथा उनके परिजन उपस्थित रहे।

मुलतापी समााचार

MP किसान अपनी फसलों का बीमा 18 अगस्त तक करवा सकते हैं – मंत्री श्री पटेल


किसान अपनी फसलों का बीमा 18 अगस्त तक करवा सकते हैं – मंत्री श्री पटेल

किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने बताया कि किसान अपनी फसलों का बीमा 18 अगस्त 2020 तक करा सकते हैं। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनान्तर्गत किसान फसलों का बीमा करवाकर लाभ ले सकते हैं। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि जो किसान 31 जुलाई तक फसल बीमा नहीं करवा पाये हैं, ऐसे किसानों के लिये फसल बीमा की तारीख बढ़ाकर 18 अगस्त कर दी गई है। उन्होंने किसानों से आव्हान किया कि समय रहते फसल बीमा करायें।

सदर अंडर ब्रिज के नीचे 14 साल की नाबालिग का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म


बेखोफ घुमरहे आरोपीयों की अभी तक गिफ्तारी नहींं हुई

पीड़िता द्वारा बताई गई झोपड़ी को पुलिस ने किया सील।

दिनो दिन बैतूल में बडते जा रहा है दुष्‍कर्म मामला

Multapi Samachar

बैतूल । शहर की एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। कोतवाली पुलिस द्वारा मामला दर्ज कर कुछ संदेहियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। इस मामले को लेकर शहर के 2-3 स्थानों को भी पुलिस ने सील किया है। इस मामले की जानकारी मिलने पर बैतूल पहुंचे होशंगाबाद रेंज के आईजी अविनाश शर्मा भी कोतवाली थाना पहुंचे और घटना की जानकारी प्राप्त कर शीघ्र आरोपितों की गिरफ्तारी सहित आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए। पुलिस द्वारा जारी प्रेस नोट में बताया गया है कि कोतवाली थाना में शिकायत की गई थी कि 3 अगस्त की रात 11.30 बजे कुछ आरोपितों ने शहर की 14 वर्षीय लड़की का अपहरण कर लिया था।

इस मामले परिजनों की रिपोर्ट पर पुलिस ने धारा 363 का मामला दर्ज किया। वह 5 अगस्त की सुबह किसी तरह उनके चंगुल से छूटकर अपने घर पहुंची। उसने परिजनों को अपहरण करने वालों के द्वारा उसके साथ सामूहिक दुष्कृत्य किए जाने की जानकारी दी। पीड़िता ने आरोपितों की संख्या 5 से 6 तक बताई है। पुलिस को दिए बयान में पीड़िता ने उसके साथ सदर अंडर ब्रिज के नीचे 4-5 अगस्त की रात सामूहिक दुष्कृत्य की बात कही है।

पीड़िता द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और अतिक्रमण कर बनाई गई झोपड़ी को सील कर दिया है। आरोपितों के खिलाफ धारा 376 (डीए) एवं 5 (जी)/6 पॉक्सो एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर पीड़िता का मेडिकल परीक्षण जिला अस्पताल से कराया और न्यायालय में कलमबंद बयान भी कराए। एडीशनल एसपी श्रद्धा जोशी ने बताया कि इस मामले में कुछ संदेहियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है वहीं अन्य संदेहियों की तलाश के लिए पुलिस टीम रवाना की गई है।

मुलतापी समााचार

Corona को LOCK DOWN से नहीं, प्रबंधन से नियंत्रित किया जाएगा- कलेक्टर राकेश सिंह


BETUL / MULTAPI SAMACHAR

कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमण अब लॉकडाउन की बजाय बेहतर प्रबंधन से नियंत्रित किया जाएगा, जिसके लिए समूचे जिले में निगरानी व्यवस्था को मजबूत किया गया है। जिले में प्रवेश करने वाली समस्त सीमाओं पर चेकपोस्ट बनाए गए हैं, जहां बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी संकलित की जा रही है। ऐसे लोगों के नाम एवं पते संबंधित नगरीय निकाय / ग्राम पंचायत को प्रदाय किए जाते हैं। नगरीय निकाय/ग्राम पंचायत बाहर से आने वाले लोगों को 14 दिनों के लिए होम क्वारेंटाइन करते हैं। होम क्वारेंटाइन व्यवस्था पर निगरानी के लिए समूचे जिले में बड़ी संख्या में अधिकारियों-कर्मचारियों की तैनाती की गई है। ये अधिकारी सतत् भ्रमण कर लोगों का होम क्वारेंटाइन सुनिश्चित करवा रहे हैं।

मुलतापी समाचार

Ram jan bhumi पूजन, आरती, दीप प्रज्जवलित कर मनाया मंदिर निर्माण का जश्न


बैतूल। Multapi Samachar

अयोध्या में भगवान श्री राम जन्म भूमि मंदिर निर्माण की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बुधवार को आधार शिला रखने के बाद से ही पूरे देश में उत्साह का वातावरण है। बैतूल जिले में भी मंदिर निर्माण का शिलान्यास होते ही उत्साह का माहौल है। इस अवसर पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी जिले में मिठाई वितरण एवं दीप प्रज्जवलित कर जश्न जगह-जगह मनाया।

जिला मुख्यालय पर भाजपा जिला कार्यालय विजय भवन में सायं जश्न मनाया गया। सांसद दुर्गादास उइके, विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे, प्रदेश कोषाध्यक्ष हेमंत खंडेलवाल, जिला अध्यक्ष आदित्य बबला शुक्ला, पूर्व सांसद सुभाष आहूजा, पूर्व जिलाध्यक्ष वसंत बाबा माकोडे, वरिष्ठ नेता रमेश मिश्रा की उपस्थिति राम दरबारके छायाचित्र पर माल्यार्पण कर पूजन आरती की गई और दीप प्रज्जवलित किए गए।

कार्यकर्ताओं ने पटाखे फोड़कर और मिठाई वितरित कर जश्न मनाया। इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष मिश्रा, विक्रम वैद्य, नागरिक बैंक अध्यक्ष अतीत पवांर, राजेश आहूजा, अरूण श्रीवास्तव, अबिजर हुसैन, नितिन गौतम, दिपक सलूजा, सतीष बडोनिया, के.एल.सोलंकी, भगवानसिंह भारद्वाज, राजा साहू, राजसिंह परिहार, पूरन साहू, दीपक माथनकर, सतीष जौंधलेकर, रितेष पंवार, अनंतराम साहू, बंटी मालवीय, दिलीप सतीजा, देवेन्द्र मालवीय, महेश्वर सिंह चंदेल, इंदी वालिया, दिलीप जावंजाल, राहूल मिश्रा, आषीष पंवार, ओमप्रकाष मालवी इत्यादि सहित पार्टी कार्यकर्ता उपस्थित थे।