हाइट कम लेकिन सोच कही ज्‍यादा, 3 फीट 3 इंच लेकिन कुर्सी है बहुत बड़ी, अपनी मेहनत और लगन से आरती बनी IAS अफ़सर


मंजिल उन्हीं को मिलती है, जिनके सपनों में जान होती है,

पंख से कुछ नहीं होता, हौसलों से उड़ान होती है

यह कहावत सच साबीत कर के बतायी है आरती ने

Multapi Samachar

ईश्वर ने सभी को अलग अलग रंग रूप दिया है, इसी रंग रूप के साथ हम अपना जीवन जीते हैं. इंसानों में रंग, कद आदि का फर्क होता है. हालाँकि कई लोग अपने रंग रूप और कद काठी को लेकर बहुत चिंतित रहते हैं. और उन्हें लगता है कि ज़िन्दगी में कुछ बनने के लिए अच्छा दिखना, अच्छी हाइट होना और साफ़ रंग होना बहुत ज़रूरी होता है, लेकिन ये बात जरा भी सही नहीं है. इंसान का कद काठी, रंग रूप चाहे कैसा भी हो, अगर कुछ कर दिखाने का जुनून मन में ठान लिया जाए तो हर लक्ष्य आसान हो जाता है. दरअसल, आज हम आपको ऐसी ही एक लड़की आरती डोगरा कि सच्ची कहानी बताने जा रहे हैं. आरती का कद बहुत छोटा होने के बावजूद भी हौसले बहुत बुलंद थे, उसी हौसले से उन्होंने IAS अधिकारी का पद पाकर अपने छोटे कद से जुड़ी सभी भ्रांतियों के खिलाफ उदाहरण पेश किया है.

3 फुट 3 इंच की है इनकी हाइट

बता दें उत्तराखंड स्थित देहरादून शहर में आरती का जन्म हुआ था. इनके पिताजी का नाम राजेंद्र डोगरा है जो कि भारतीय सेना में कर्नल के पद पर कार्यरत हैं तथा माताजी का नाम श्रीमती कुमकुम डोगरा है और वे एक विद्यालय में प्रधानाध्यापिका हैं. जब इनका जन्म हुआ था उसी वक़्त इनके माता पिता को डॉक्टर ने कहा था कि आरती को शारीरिक रूप से कमजोरी है. तब आरती के माता पिता ने निर्णय किया कि अब वे दूसरी संतान को जन्म नहीं देंगे और केवल आरती का ही ठीक प्रकार से ध्यान रखकर उसे हर सुख सुविधा और अच्छी शिक्षा प्रदान करेंगे.

ग्रेजुएशन के बाद UPSC की तैयारी शुरू की

आरती की शुरुआती शिक्षा उत्तराखंड में देहरादून के ही एक नामी विद्यालय वेल्हम गर्ल्स स्कूल से हुई थी. फिर इन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी स्थित लेडी श्रीराम कॉलेज ऑम कामर्स में एडमिशन लेकर अर्थशास्त्र से ग्रेजुएशन पूरी की. इसके बाद इन्होंने UPSC की परीक्षा कि तैयारी शुरू कर दी. फिर साल 2006 में पहली ही बार में इन्होंने IAS की परीक्षा पास करके अपने सारे परिवारजनों का सर गर्व से ऊंचा कर दिया. इस पद को पा कर इन्होंने एक मिसाल प्रस्तुत की.

स्वच्छता के लिए चलाया ‘बंको बिकाणो’ अभियान

इनकी पोस्टिंग जब बीकानेर में हुई तब वहाँ की स्थिति सुधारने के लिए इन्होंने ‘बंको बिकाणो’ अभियान चलाया था. इसके अन्तर्गत इन्होंने वहाँ के निवासियों से स्वच्छता रखने का अनुरोध किया और खुली जगहों पर शौच ना जाने को भी कहा. उन्होंने इस अभियान के तहत ग्रामों में शौचालयों का निर्माण करवाया. इसमें करीब 195 ग्राम पंचायतों को कवर किया गया था. यह अभियान काफ़ी सफल रहा, जिसका अनुसरण अन्य जिलों द्वारा भी किया गया. देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने भी इस अभियान की बहुत सराहाना की थी.

सफलता के आड़े नहीं आने दिया कद

आईएएस आरती डोगरा कि हाइट कम है इसलिए वे जहाँ भी जाती थीं, उन्हें तरह-तरह की नेगेटिव बातें सुनने को मिलती थी, परन्तु उन्होंने इन सब पर ध्यान ना देकर अपने लक्ष्य को ही अपना मकसद बना लिया था और उसी के लिए मेहनत में लगी रहती थीं. उन्होंने ठान लिया था कि अब उन्हें अपने जीवन में कुछ बनकर दिखाना है ताकि ऐसी संकीर्ण मानसिकता वाले लोगों को सबक मिल सके, लोग जान पाएँ की हर मनुष्य अपनी काबिलियत के दम पर ऊंचे से ऊंचा मुकाम हासिल कर सकता है, चाहे उसकी शारीरिक संरचना या कद काठी कैसी भी क्यों ना हो. उन्होंने अपने लक्ष्य को ध्यान में रखा और सारी बातें भूल कर उसे पाने के लिए मेहनत की.

इनकी तरह कम हाइट वाले लाखों लोग देश में हैं, जो अपनी हाइट को लेकर परेशान रहते हैं और कई बार हीन भावना का शिकार हो जाते हैं. उन सब को आरती डोगरा से सीख लेनी चाहिए और आत्मविश्वास के साथ अपने लक्ष्य को पाने के लिए कर्म करते रहना चाहिए. अपने लक्ष्य के प्रति हमेशा समर्पित और ईमानदार रहना चाहिए.

breaking news : MP- पूर्व पीएचई मंत्री एवं मुलताई विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुखदेव पांसे जी की कोरोना टेस्‍ट रिपोर्ट आई पॉजिटिव- ट्वीट कर की अपील


मध्य प्रदेश के पूर्व पीएचई मंत्री एवं बैतूल जिले के मुलताई विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुखदेव पांसे

भोपाल स्टाफ कोरोना पॉजिटिव पाए गए

पूर्व पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे जी की आज कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट

Multapi Samachar

 बैतूल अभी प्राप्त जानकारी के अनुसार मुलताई विधानसभा क्षेत्र से विधायक एवं मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार में रहे पूर्व पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे जी की आज कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट प्राप्त हुई है

गौरतलब है कि इससे पूर्व में भी सुखदेव पांसे जी ने अपना कोरोना टेस्ट करवाया था जिसमें उनकी रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई थी परंतु उपचुनाव को लेकर लगातार दौरे को लेकर चलते हो सकता है किसी कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आने से आज उनका दूसरे टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है

कोरोना वायरस की जद में आने वाले राजनेताओं की फेहरिस्त में एक नया नाम और जुड़ गया है। श्री पांसे ने स्वयं ट्वीट करके उक्ताशय की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 टेस्ट कराने पर वे और उनका भोपाल स्टाफ कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। पता चला है कि उनके भोपाल स्थित निवास के गार्ड, ड्राइवर और खानसामा की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। उन्होंने अपील की है कि पिछले 5-6 दिनों में उनके संपर्क में जो भी लोग आए हैं वह अपना ध्यान रखें और जरूरत पड़ने पर अपना कोरोना टेस्ट करवा लें ।

श्री पांसे ने बताया कि वे अगले 15 दिनों तक क्वारन्टीन रहेंगे। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में अब तक कई मंत्रियों सहित भाजपा कांग्रेस के कई विधायक कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। मुलताई विधायक सुखदेव पांसे बैतूल जिले में कोरोना पॉजिटिव होने वाले दूसरे विधायक हैं। इसके पूर्व बैतूल विधायक निलय डागा की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी।

Betul News जनसहयोग से किया मंदिर पहुँच मार्ग का निर्माण देखे Video


बैतूल ब्लॉक के ग्राम रोंढा में दिव्य हनुमान जी का प्राचीन मंदिर पूरे गांव के लिए श्रृद्धा और आस्था का प्रतीक है। जो गांव के मुख्य मार्ग से लगभग 400 फीट दूर बीच खेत में स्थित है जहां पर प्रतिदिन लोग पूजा करने के लिए जाते हैं। शनिवार और मंगलवार भक्तों की अच्छी खासी भीड़ होती है। परन्तु लगातार बरसात के चलते मंदिर पहुचने वाले भक्तों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है ऐसी स्थिति को देखते हुए ग्राम के जागरूक युवाओं ने अपने आर्थिक जनसहयोग से 2 फीट चौड़ी और 400 फीट लंबी कच्ची पगडंडी का निर्माण किया। और धार्मिक आस्था और विश्वास के चलते गांव के आधा सैकड़ा से ज्यादा लोग इस कार्य में आगे आए और हनुमान जी महाराज के मंदिर तक जाने का रास्ता तैयार हो गया अब भक्तों को इस दिव्य प्राचीन हनुमान मंदिर तक आने जाने में किसी भी समस्या का सामना नहीं करना पड़ रहा है जिससे सभी श्रृध्दालु भक्तों ने खुशी जताई है।

इस कार्य को करने के लिए प्रवीण छोटू चौधरी, राजेश लालू डिगरसे, खेमराज डिगरसे,शैलेंद्र मोनू पवार, पंकज चौधरी, सुनील देवासे, कुलदीप डिगरसे,चुन्नीलाल चौधरी, कृष्ण कुमार देवासे, हेमंत देवासे, प्रदीप डिगरसे, बलराम डोगरदिए, हरीश ढोबारे, वीरेंद्र ओमकार, रवि कालभोर, श्रीपत डिगरसे, बंसी गोहिते, सतीश चौधरी, पोखराज डोगरदिए, तोषण खपरिये, डॉ. मनीष हजारे, लोकेश सोनी,दुर्गा कसरादे, कृष्ण कुमार डोगरदिए, लीलाधर डिगरसे, सुनील ढोबारे, नितीन देशमुख, ललीत बारंगे, जय कालभोर, अजय कालभोर, फुस्या ओमकार, मोहनलाल डोगरदिए सहित अनेक युवाओं का सराहनीय सहयोग रहा।

Video

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल 9584390839

जेएच महाविद्यालय में ऑनलाइन प्रवेश लेने हेतु दिशा-निर्देश जारी


बैतूल :- प्राचार्य जयवंती हॉक्सर शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय डॉ. विजेता चौबे ने बताया महाविद्यालय में प्रवेश सत्र 2020-21 के लिए ऑनलाइन प्रवेश हेतु प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों के लिए प्रवेश संंंबंधी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा जारी प्रवेश समय सारणी अनुसार आवंटित महाविद्यालय के पाठ्यक्रमानुसार प्रवेश शुल्क पोर्टल पर दर्ज है। प्रवेश शुल्क की आधी राशि का भुगतान एमपी ऑनलाइन के ई-प्रवेश पोर्टल पर प्रदत्त शुल्क लिंक से ऑनलाइन शुल्क नेट बैंकिंग/एटीएम डेबिट/क्रेडिट कार्ड/यूपीआई वॉलेट अथवा अधिकृत कियोस्क के माध्यम से जमा कर सकते हैं तथा महाविद्यालय में शैक्षणिक कार्य आरंभ होने पर शेष शुल्क की राशि दो किश्तों में प्रवेशित महाविद्यालय में ऑनलाइन जमा की जाएगी।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना एवं मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना के पात्र आवेदक प्रवेश शुल्क भुगतान के समय पोर्टल पर योजना का चयन कर नि:शुल्क प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं।

कोविड-19 के परिप्रेक्ष्य में स्नातक/स्नातकोत्तर के पाठ्यक्रमों में ऑनलाइन शुल्क जमा करने के उपरांत शैक्षणिक सत्र आरंभ होने पर कार्यालय आयुक्त उच्च शिक्षा विभाग द्वारा घोषित समय सीमा में प्रवेश प्राप्त करने वाले महाविद्यालय में उपस्थित होकर मूल टीसी एवं अन्य दस्तावेज जमा करेंगे, तभी प्रवेश नियमित माना जाएगा। समय सीमा में दस्तावेज जमा न करने की स्थिति में आवेदक का प्रवेश स्वत: निरस्त माना जाएगा।

छात्र-छात्राएं इस संबंध में महाविद्यालय के ऑनलाइन डेस्क सेंटर के अधिकारियों प्रो. बीआर खातरकर मो.-9425656890, डॉ. जीपी साहू मो.- 9424405544 अथवा प्रो. राजेश शेषकर मो.-9926453906 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

शिवा पवार मुलतापी समाचार बैतूल