सैंया भए कोतवाल तो डर काहे का सटीक बैठता है सलैया छतरपुर ग्राम पंचायत


क्या पंचायती राज में कार्यवाही के नाम पर मजाक किया जाता है

अपने हीं मद मस्ती में चलते हैं पंचायती राज के कार्य

एक कदम सतर्कता एवं स्वच्छता की ओर

चला रहा ग्रामीण सहायक रोजगार दो पंचायतों को l

ग्राम पंचायत सूचना के अधिकार के अधिकारियों को बना रखा है बाबूजी

सलैया के साथ ही साथ छतरपुर ग्राम वासी है त्रस्त

Multapi Samachar

घोड़ाडोंगरी ! मध्यप्रदेश के बैतूल जिला घोड़ाडोंगरी विकासखंड में आए दिन नए-नए कारनामे होते रहते हैं। कोई रोड का रोड हजम कर जाता है, तो कोई रोड़ की नालिया कोई चौपाल तो कोई तालाब रिकवरी नाम मात्र की जाती है। देखने में यह भी आया है कि पंचायती राज के कई कर्मचारी नालियों को तो पूरी तरह से हजम कर चुके हैं। तो कहीं खेत तालाब के नाम पर किस्तों में पूरी राशि हजम कर ली जाती है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पंचायतों में आजकल एक दौर चल पड़ा है शासकीय फंड को किस तरह से हजम किया जाए। छतरपुर ग्राम पंचायत क्षेत्र के अंदर 3 तालाब बनाए गए क्या पंचायत राज के सक्षम अधिकारियों द्वारा ग्राम पंचायत छतरपुर की ग्राम पंचायत देखा किस तरह से छतरपुर ग्राम वासी ग्राम पंचायत छतरपुर से त्रस्त है।


हमने भाग 2 में दर्शाया था आर ई एस तालाबों की एक बाढ़ सी आई। जिसको पाने के लिए क्षेत्र के छूट भैय्ये नेताओं में एक होड़ सी लगी हुई थी। पर छूट भैय्ये नेताओं के चलते आर ई एस तालाबों में शासकीय फंड का किस तरह से दुरुपयोग किया गया। आर ई एस के ग्रामीण यंत्री किस तरह से अपनी नजरें चुराए आईने के सामने खड़े रहते कतरा रहे हैं। जिन्हें खुद होश नहीं है आर ई एस तालाबों का कार्य में किस तरह से लूट की गई, नतीजा यह हुआ क्षेत्र के कई तालाबो की हल्की सी बारिश ने पंचायती राज के अधिकारियों के साथ ही साथ पंचायत के यंत्री हो या आर ई एस के उपयंत्री की पोल खोलते हुए भ्रष्टाचार किस तरह किया गया प्रशासन को सच का आइना दिखाया। क्षेत्र वासियों में आक्रोश देखने को मिल रहा है, पंचायती राज के प्रति। वरिष्ठ सूचना के अधिकार के अधिकारियों को जिसे पंचायती राज में सचिव के नाम से जाना जाता है कद्र नहीं करते हुए ग्रामीण सहायक रोजगार को दिए जा रहे हैं दो-दो ग्राम पंचायते। जिसका नतीजा छतरपुर ग्राम पंचायत में देखने को मिल रहा है पूरी दुनिया जहां कोविड-19 कोरोना महामारी से जूझ रही है वही ग्राम पंचायत सलैया के ग्रामीण सहायक रोजगार महेश मन्नासे एवं सरपंच द्वारा दी गई स्कूल चलाने की आज्ञा आशा कार्यकर्ता ग्राम स्वस्थ एवं तदर्थ समिति छतरपुर को जो अपने घर के प्रांगण में शाला एक से पांचवीं कक्षा तक चला रही है। ना सोशल डिस्टेंस है, ना मास्क, नाही सेनीटाइजर जहां देश एवं प्रदेश की सरकार बच्चों एवं बुजुर्गों को लेकर चिंतित है वहीं दूसरी ओर देश एवं प्रदेश सरकार की चिंताओं को ताक पर रखते हुए ग्रामीण सहायक रोजगार महेश मन्नास एवं सरपंच छतरपुर ग्राम शाला खुलवा कर कोरोना महामारी को आमंत्रण दे रहे हैं।

सच को सच झूठ को झूठ लिखता हूं इसलिए लोगों को मैं बुरा लगता हूं

विगत 5 वर्षों की ग्राम पंचायत सलैया एवं छतरपुर की जांच पंचायती राज के सक्षम अधिकारियों द्वारा को जाए कई बड़े मामले सामने आ सकते हैं। जिसे बड़े पैमाने पर पंचायती राज के फंड को किस तरह से हजम किया गया ग्रामीण सहायक रोजगार महेश मन्नासे द्वारा।

डॉ जाकिर शेख एडिटर मध्य प्रदेश

मुलतापी समाचार द्वारा शोक संदेश विज्ञापन एड हेतु संपर्क करें 9753903839

प्रदेश जनसंपर्क में अपर आयुक्त कमरे के सामने पत्रकार ने तोड़ा दम bhopal


क्या मध्यप्रदेश जनसंपर्क ने निकलवा दिया पत्रकार का जनाजा ?

Multapi Samachar

मनीष कुमार राठौर

भोपाल । मध्यप्रदेश जनसंपर्क सरकार का ऐसा विभाग जहाँ बाबूक्रेसी के आगे प्रदेश के पत्रकार नतमस्तक है, सरकारें अति है चली जाती है परंतु घूसखोरी और भ्रष्टाचारी के भस्मासुर यही जमे रहते है । इनके आगे किसी की एक नही चलती यह चलते है तो सिर्फ गाँधी छाप कागज, चाहे वो अधिकारी हो या कर्मचारी सभी एक ही थाली के चट्टे बट्टे है । परंतु मध्यप्रदेश के जनसंपर्क ने आज इंसानियत की भी सारी हदें पार कर दी संचालनालय ने बात दिया कि यहाँ सिर्फ आधिकारिक दस्तावेज नही गाँधी छाप कागज चलते है ।

क्या है मामला ? दैनिक हमारा स्वराज के सूत्रों की माने तो शुक्रवार की शाम 5 बजे मासिक पत्रिका के संपादक योगेश दीक्षित मिलने के लिए अपर आयुक्त के दफ्तर के बाहर अपनी बारी का इंतजार करते करते इतने चिंतित हो गए कि ह्रदयघात से असामयिक निधन हो गया ।

परंतु सूत्रों की माने तो ह्रदयघात नही हत्या है ? क्योंकि एक अधिकारी से मुलाकात करने के लिए 70 वर्षीय पत्रकार को घंटों इंतजार करना पड़ता है । स्व. दीक्षित 15 अगस्त 2020 को विज्ञापन नही मिलने को लेकर चिंतित थे । सूत्रों की माने तो 15 अगस्त को उन्होंने विज्ञापन के लिए आवेदन दिया था

*परंतु मध्यप्रदेश जनसंपर्क संचालनालय की दमनकारी नीतियों के आगे छोटे और मंझले समाचार पत्र पत्रिकाओं को दबाया जाता है उन्हें नियम और कानून बताये जाते है परंतु दागदार दमन लेकर बैठे भस्मासुरों के आगे किसी की नही चलती क्योंकि जनसंपर्क विभाग ने पिछले कई वर्षों में ऐसे अनगिनत घोटालों को अंजाम दिया है जो जग जाहिर है ।*

क्या विज्ञापन के नाम पर पत्रकार की पत्रकारिता को पलीता जनसंपर्क विभाग ने लगाया है ? ऐसा ही कुछ स्व. योगेश दीक्षित के साथ हुआ जहाँ कागजात होने के बाद भी उनका विज्ञापन नही हुआ था जिसके लिए वो विभाग में बार बार अर्जी लगा रहे थे । परंतु बाबूक्रेसी के आगे 70 वर्षीय पत्रकार की एक न चली और अपर आयुक्त के दफ्तर पर दम तोड़ दिया । वही आननफानन में आयुक्त जनसम्पर्क डॉ सुदामा खाड़े ने 4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत कर दुख व्यक्त ।

अगले अंक में देखिए – क्या पत्रकार बीमा योजना में जनसंपर्क विभाग की मिलीभगत से बीमा कंपनी ने ठगा पत्रकारों को ?

मुलतापी समाचार द्वारा शोक संदेश विज्ञापन एड हेतु संपर्क करें 9753903839

अतिवृष्टि एवं पीले मोजेक रोग से खराब हुई फसलों का सर्वे करने पहुंच रहे पटवारी


मुलताई। अत्यधिक बारिश के चलते फसल बर्बाद होने से किसान परेशान हैं। जिसके बाद अब किसानों द्वारा मुआवजे की मांग की जा रही है। प्रशासन ने भी अब फसलों का सर्वे शुरू कराया है। शासन के निर्देशानुसार ग्राम दुनावा, मूसाखापा आदि ग्रामों में पटवारी तथा कृषक मित्र के द्वारा मक्का एवं सोयाबीन फसलों का सर्वे किया गया। जिसमें यह पाया गया कि अतिवृष्टि के कारण मक्के की खड़ी फसल बर्बाद हो गई एवं जमीन पर बिछ गई है। सोयाबीन की फसलों में भी पीला मोजेक रोग के लक्षण दिखाई दे रहे हैं। सोयाबीन में फल्लियां भर नहीं पा रही हैं।मक्के की फसल जमीन पर गिरने की वजह से उससे पैदावार संभव नहीं होगी। सर्वे के दौरान किसान अनुपम कड़वे, देवेंद्र विश्वकर्मा, कृष्णा माटेकर, नारायण सरोदे सहित पटवारी ज्ञानराव वरकड़े तथा कृषक मित्र संतोष पाटेकर एवं शिव प्रसाद पंवार उपस्थित थे।

शिवा पवार, न्यूज एडिटर, मुलताई, मुलतापी समाचार

मुलतापी समाचार द्वारा शोक संदेश विज्ञापन एड हेतु संपर्क करें 9753903839

मध्य प्रदेश में नई शिक्षा नीति लागू, 7 सितंबर से ऑनलाइन क्लास चालू होगी


भोपाल: मध्य प्रदेश में नई शिक्षा नीति 2020 लागू कर दी गई है। इसके आदेश शुक्रवार देर रात माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव ने जारी कर दिए हैं। इसके अनुसार 7 सितंबर से ऑनलाइन क्लास चालू हो जाएगी। इसमें ऑनलाइन एसेसमेंट भी शामिल रहेगा।

माध्यमिक शिक्षा मंडल के अध्यक्ष राधेश्याम जुलानिया ने बताया कि 7 सितंबर से ऑनलाइन शिक्षा सत्र शुरू किया जा रहा है। सुबह 7:00 बजे से 10:00 बजे तक 3 घंटे दूरदर्शन पर पाठ्य सामग्री का प्रसारण कक्षा बार किया जाएगा। सभी छात्रों को होम असाइनमेंट पूरा करना अनिवार्य होगा। इसी से उनका मूल्यांकन किया जाएगा। बिना होम असाइनमेंट पूरा किए कोई भी आगे नहीं जा सकेगा। इसके लिए प्रत्येक विषय को 10 यूनिट में बांटकर प्रत्येक यूनिट के बाद होम असाइनमेंट दिया जाएगा। होम असाइनमेंट छात्रों को माध्यमिक शिक्षा मंडल ऐप और पोर्टल के माध्यम से सीधा मिलेगा।

मुलतापी समाचार

मुलतापी समाचार द्वारा शोक संदेश विज्ञापन एड हेतु संपर्क करें  9753903839
मुलतापी समाचार द्वारा शोक संदेश विज्ञापन एड हेतु संपर्क करें 9753903839

मध्यप्रदेश में दुर्गा प्रतिमाऐ स्थापित हो सकती हैं दुर्गा उत्सव मनाने की मिली छूट पंडालों में 100 से ज्यादा शामिल नहीं हो सकते


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

भोपाल: अनलाक- 4 में प्रदेश में दुर्गा उत्सव मनाने एवं सार्वजनिक दुर्गा प्रतिमाएं स्थापित करने की छूट मिल गई है। जिसमें अधिकतम 100 लोग शामिल हो सकते हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार को समीक्षा बैठक में यह बात कही।

दुर्गा उत्सव आयोजन में इसकी सख्ती रहेगी कि कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग अनिवार्य रूप से करना होगा। प्रतिमा विसर्जन के संबंध में बाद में गाइडलाइन जारी की जाएगी।

बैठक में यह भी तय हुआ कि अब घर-घर सैंपल लेने की प्रक्रिया बंद होगी। फीवर क्लीनिक पर जांच तथा सलाह की सभी व्यवस्थाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना को फैलने से रोकने के लिए संस्थागत क्वारंटाइन और सघन कांट्रैक्ट टेसिंग की प्रक्रिया जारी रहेगी।

मुलतापी समाचार