Multai News : SDM  को सब्जी व्यपारियो ने स्थान परिवर्तन होने पर सौपा ज्ञापन, कहां लगाये दुकान


सब्जी फुटकर विक्रेता जगह न होने के कारण ट्रक के नीचे बैठ कर दुकान लगाने को मजबूर

मुलताई SDM कोर को हरी सब्जी विक्रेता हाट बाजार लगाने हेतु ज्ञापन देते हुए

स्कूल मैदान बच्चों के खेलने के लिए हैं सब्जी बेचने के लिए नही, पुराने जगहों से बाजार हटा रही हैं सरकार, कहां लगाये दुकान…

मुलताई: नगर में सोमवार को सब्जी व्यापारियों ने तहसील कार्यालय पहुंचकर स्कूल मैदान में सब्जी बाजार नहीं लगाने को लेकर एसडीएम आईएएस हरसिमरन प्रीत कौर को ज्ञापन सौंपा हैं. ज्ञापन में बताया गया कि वर्तमान में मुलताई शहर में बैतूल रोड़, थाना रोड एवं नागपुर नाके पर तीन जगह सब्जी बाजार लग रहा है, जिसके चलते नगर में भीड़ भाड़ नहीं हो रही है.

अचानक नगर पालिका द्वारा नागपुर नाके पर लगी सब्जी की दुकानों को हटाया जा रहा है जिसके चलते सब्जी विक्रेताओं में हड़कंप मच गया है. ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई है कि या तो शहर में सभी सब्जी दुकानों को एक जगह पर लगवाया जाए या फिर जहां वर्तमान में दुकानें लग रही है, वहीं लगाने की अनुमति दी जाए. लेकिन एसडीएम ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए मुख्य मार्गों पर सब्जी बाजार लगाने की अनुमति नहीं दी जावेगी.

bETUL NEWS -किसानों के हित में प्रदर्शन पर कांग्रेस का प्रदर्शन ज्ञापन, खराब फसलों की जलाई होली


Multapi Samachar

बैतूल। अति बारिश के चलते जिले के सभी ब्लॉकों में सोयाबीन और मक्के की फसल खराब होने के बाद किसानों को उचित मुआवजा दिए जाने की मांग भी तेज हो गई है। आज जिले के कांग्रेसजनों ने कलेक्टरेट कार्यालय के सामने एकत्रित होकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए किसानों की अनदेखी करने का आरोप लगाया और 40 हजार रूपए प्रति हेक्टेयर का मुआवजा किसानों को दिए जाने के लिए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा।

इस प्रदर्शन में खासतौर से देखने में आया कि फसलें खराब होने के बाद चिंतित किसान जैसे ही प्रशासन को ज्ञापन सौंपने जिला मुख्यालय पहुंचे, वैसे ही इस मुद्दे को हथियाने के उद्देश्य से कई वरिष्ठ कांग्रेस नेता आगे-आगे होने लगे और देखते ही देखते किसानों की दुखती रग को राजनीति का हथियार बनाते हुए कांग्रेसजनों ने इस प्रदर्शन को हथिया लिया और बेचारे पीडि़त किसान अधिकारियों को अपनी व्यथा ढंग से सुना भी नहीं सके। कलेक्टरेट कार्यालय में भी बेचारे किसान चुपचाप पीछे खड़े रहकर तमाशा देखते रहे और फोटो खिंचाने की होड़ में कांग्रेसी ही अधिकारियों को इन किसानों की व्यथा सुनाते नजर आए। खासबात यह है कि ज्ञापन सौंपने के तत्काल बाद कांग्रेस के नेता मौके से चलते बने।

जानकारी कें मुताबिक सैकड़ों की संख्या में हाथों में खराब हुई फसल लेकर किसान कलेक्टरेट कार्यालय में एकत्रित हुए, जहां ज्ञापन के दौरान किसानों का नेतृत्व कर रहे कांगे्रसजनों ने जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर बताया कि अतिबारिश के चलते जिले के अधिकांश क्षेत्रों में सोयाबीन की फसल पीला मोजेक नामक बीमारी के चलते नष्ट हो गई है। हालात यह है कि अब यह फसल किसानों के कोई काम की नहीं रह गई। प्रदर्शन को उग्र करने के उद्देश्य से कांग्रेसजनों ने खराब फसल को आग भी लगा दी, ताकि मीडिया में इस मामले को अच्छे से अच्छा कवरेज मिल सके।

Breaking News बैतूल फोरलेन कोसमी डेम के पास चलती बाइक में साड़ी का पल्‍लू फसने से गिरी महिला – मौत


मुलतापी समाचार रोड हादसा

बाईक में पल्लू फसने के कारण कोसमी डेम के पास हुई दुर्घटना में महिला की मौत

अपील बाइक चलाते समय हेल्‍मेट लगाये, और पिछे बैठे महिलाएं अपने साडी पल्‍लू का जरूर ध्‍यान रखे , दूर्घटना से देर भली

Multapi Samachar

बैतूल । बैतूल भोपाल फोरलेन पर कोसमी डेम के पास हाइवे पर महिला कोदारोटि की रहने वाली है की बाइक से गिरने कारण मौत प्राप्‍त जानकारी अनुसार बाइक बैतूल भोपाल की ओर जा रही थी तभी कोसमी डेम केे पास पहुंचते ही बाइक मे साडी का पल्‍लू आ जाने के कारण कारण चेनस्‍पाकिटआचान रूक गया गाडी अचानक पूरी तरह जगह पर रूक गयी गाडी जगह पर गिर गई जिससे पिछे बैठी महिला रोड पर गिर जाती है जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई है जिसके बाद महिला की घटनास्‍थल पर ही मौत हो गई है जिसके बाद वहां खडे लोगो ने 108 एम्‍बूलेंस को सहायता हेतु बलाया जिससे उन्‍हे अस्‍पताल भेजा गया।

महिला कोदारोटि की है रामकली बाई सोनी आज अपने बड़े बेटे के साथ सांईखेड़ा मायके में अपने पिताजी की बरसी में आई थी वापस लौटते समय बाईक में पल्लू फसने के कारण कोसमी डेम के पास घटना घट गई जिसमें मौके पर ही इन्होंने दम तोड़ दिया ईश्वर इनकी मृत आत्मा को शाँति प्रदान करे।

मुलतापी समाचार

 रुद्राक्ष बोरिकर, बैतूल द्वारा प्राप्‍त

मुलताई सीएमओ राहुल शर्मा का”सूर्यपुत्री मां ताप्ती उद्गम स्थल सेवा समिति” द्वारा सम्मान कर मां ताप्ती जी का छायाचित्र भेंट किया।


मुलताई।नगर पालिका मुलताई CMO राहुल जी शर्मा का टिमरनी क्षेत्र में स्थानांतरण होने पर “सूर्यपुत्री मां ताप्ती उद्गम स्थल सेवा समिति” द्वारा सम्मान कर मां ताप्ती जी का छायाचित्र भेंट किया। आप सदा प्रगति पथ पर सफलता प्राप्त करें,ऐसी समिति की ओर से मंगल शुभकामनाएं हैं।आपका कार्यकाल मां ताप्ती के श्री क्षेत्र के लिए के विकास में बहुत महत्वपूर्ण रहा, इसी के साथ सीएमओ महोदय ने कार्यकर्ताओं के साथ अपने अनुभव साझा किये।
जिसमें हेमंत शर्मा, पंजाबराव चिकाने, हनी भार्गव,डॉ ठाकुर जी,मनीष माथनकर, त्रिभुवन देशमुख आदि समिति के कार्यकर्ता उपस्थित थे।

शिवा पवार, न्यूज एडिटर, मुलताई, मुलतापी समाचार

खदानों में 75 प्रतिशत् रोजगार प्रदेश के मूल निवासियों को देना होगा – मुख्यमंत्री श्री चौहान


दागी अधिकारियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

खनिज संबंधी संपूर्ण प्रक्रिया पारदर्शी व ऑनलाइन हो

गौण खनिज नियम तथा जिला खनिज प्रतिष्ठान नियम में प्रस्तावित संशोधनों पर हुआ प्रस्तुतीकरण

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि गौण खनिज खदानों के लीज धारकों को 75 प्रतिशत रोजगार प्रदेश के मूल निवासियों को देना होगा। दागी अधिकारियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, भ्रष्ट अधिकारियों को तत्काल सेवा से पृथक किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि खनिज से संबंधित समस्त प्रक्रियाओं को पारदर्शी बनाते हुए ऑनलाइन व्यवस्था सुदृढ़ की जाए। प्रदेश में उपलब्ध मुख्य खनिज तथा गौण खनिज, रायल्टी का बड़ा स्रोत है। उत्खनित खनिज की शत-प्रतिशत रायल्टी राज्य को प्राप्त हो, इसके लिए हमें हरसंभव प्रयास करना होंगे। राज्य शासन खनिज संसाधनों की सुरक्षा व प्रबंधन के लिए पृथक बल बनाने पर भी विचार कर सकती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में गौण खनिज नियम तथा जिला खनिज प्रतिष्ठान नियम में प्रस्तावित संशोधनों पर विचार-विमर्श कर रहे थे।अवैध रेत खदानों को वैधानिक प्रक्रिया में लाया जाएगा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि रेत रायल्टी का बड़ा स्रोत है। इससे जुड़ी अवैध गतिविधियों के कारण जो रायल्टी राज्य सरकार को प्राप्त नहीं हो रही है, उसे राज्य निधि में लाने के लिए वैधानिक विकल्प विकसित कर उनका क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाना आवश्यक है। अवैध रेत खदानों को वैधानिक प्रक्रिया में लाया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिन जिलों के खनिज प्रतिष्ठान में अधिक राशि आती है उसका सार्थक उपयोग सुनिश्चित करने के लिए राज्य स्तर से गाइडलाइन तथा प्राथमिकताएं निर्धारित करना आवश्यक है।बैठक में जिला खनिज प्रतिष्ठान की वार्षिक प्राप्तियों और उनके उपयोग पर विचार-विमर्श हुआ। जिला खनिज प्रतिष्ठान के वार्षिक कार्य की योजनाओं का अनुमोदन राज्य स्तर से कराने, राज्य खनिज निधि में जिला खनिज प्रतिष्ठान से अंतरित की जाने वाली राशि को बढ़ाने तथा राज्य निधि में एकत्रित राशि से किए जाने वाले विकास कार्यों के अनुमोदन तथा पर्यवेक्षण के लिए समिति गठित करने के प्रस्ताव पर चर्चा हुई। जिला निधि में जिला कलेक्टर तथा प्रभारी मंत्री के अधिकार और राज्य निधि के प्रबंधन के संबंध में भी विचार-विमर्श हुआ।31 मुख्य खनिजों को गौण खनिज में शामिल करने का प्रस्ताव

बैठक में 31 मुख्य खनिजों को गौण खनिज में शामिल करने, ग्रेनाइट, मार्बल, फर्शी-पत्थर के वेस्ट के निराकरण, शासकीय भूमि पर फर्शी पत्थर व पत्थर की खदानों को नीलामी के स्थान पर लीज से आवंटित करने, लीज स्वीकृति की शक्तियों के निर्धारण और गौण खनिज की रॉयल्टी दर के पुनरीक्षण पर भी चर्चा हुई।निर्मित रेत (एम-सैंड) की रॉयल्टी दर पर चर्चा

नदी की रेत के विकल्प एम-सैंड (निर्मित रेत) की रॉयल्टी दर पर भी चर्चा हुई। उल्लेखनीय है कि इसे नवीन गौण खनिज के रूप में शामिल किया जा रहा है। यह लोक निर्माण विभाग के एस.ओ.आर. में भी शामिल है।बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, खनिज साधन मंत्री श्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह, सचिव खनिज साधन श्री सुखवीर सिंह तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Betul – 73 सालो से अभी तक ग्राम घोघरा में नहीं पहुंच पायी बिजली


आदिवासी ग्रामीण बिजली के लिए मौहताज कई सालों से

नेता आते है वादे कर जाते है लेकिन बिजली की पोल तक नही लगा पाये है?

मुलतापी समाचार

मध्‍यप्रदेश विधानसभा क्षेत्र घोड़ाडोंगरी के ग्राम पंचायत रामपुरके अन्र्तगत आने वाले ग्राम घोघरा भतोडी गांव आज भी अंधेरे में है। जहां ना ही बिजली हैं और ना ही ग्राम में पहुंचने के लिए पक्की सड़क,जयस संगठन के निरीक्षण में पाया गया की रामपुर पंचायत में घोघरा सहित दो और गांव है जहां बिजली और सड़क नहीं है और इन गांवों की जनसंख्या लगभग तीन हजार है। देश को आजादी मीलने के आज 73 सालो के बाद भी ग्रामीण अंधेरे में अपना जीवन यापन कर रहे हैं

समाज सेवी लक्ष्मण नर्रे ने बताया कि ग्राम कई सालों से अंधेरे में रहने को मजबूर है एवं विकास का दम भरने वाली सरकार भी गांव में अब बिजली की व्यवस्था नहीं करा पाई है। कई मूलभूत सुविधा है जो गांव आने से पहले ही बीच में दम तोड़ देती है। ग्रामीणों ने बताया कि क्षेत्रीय विधायक व शासन प्रशासन को कई बार गांव की समस्या से अवगत कराया गया, लेकिन उन्होंने आज तक गांव की समस्याओं पर ध्यान नहीं दिया।

विधायक द्वारा भी मिले हैं तो, सिर्फ आश्वासन


लक्ष्मण मालवीय द्वारा बताया गया कि यहां प्राथमिक और मिडिल स्कूल है परंतु एक ही शिक्षक है। इसके अलावा अन्य प्रभार भी शिक्षक के पास है शिक्षा के क्षेत्र में परिवर्तन के लिए शिक्षक सूत्रधार होता है यदि बच्चे शिक्षा से वंचित रह जाएंगे, तो ग्राम का विकास कैसे हो पाएगा। सरकार पंचायतों में बहुत सारी योजनाएं चला रही है। लेकिन ग्राम के युवा वर्ग एवं कृषकों को भी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। साथ ही जयस संगठन के कार्यकर्ताओं ने अधिकारों के बारे में बताते हुए कहा कि हमें अधिकारों के साथ कर्तव्यो पर भी ध्यान देना होगा। तभी हमारा ग्राम उन्नति करेगा। इसी दौरान जयस संगठन जिला उपाध्यक्ष रितेश परते, जगदीश नर्रे,लक्ष्मण मालवीय, सचिन, बसंत, हलदार, स्वरूप,संदीप,प्रकाश, व अन्य कार्यकर्ता तथा ग्रामवासी उपस्थित थे।

सरकार से अपील है समस्‍या का जल्‍द से जल्‍द समाधान कर आदिवासी ग्राम वासि‍यों को रोशनी प्रदान करें

मुलतापी समाचार द्वारा जनता केे हित के बातेे लेकर आपके सामने

लाइक, शेयर, कमेंट जरूर करें

आपके क्षेत्र की समाचार प्रकाशन के लिए समंपर्क जरूर करें

मुलतापी समाचार द्वारा शोक संदेश विज्ञापन एड हेतु संपर्क करें 9753903839
मुलतापी समाचार द्वारा शोक संदेश विज्ञापन एड हेतु संपर्क करें 9753903839

आरोन गुना में RSS पूर्व प्रचारक एवं समाजसेवी आदरणीय श्री चेतन जी भार्गव समेत 100 साथियों पर षड्यंत्र पूर्वक एफ आई आर दर्ज।


मुलताई ।आज हिंदू संगठनों के द्वारा मुलताई में आरोन गुना में पूर्व प्रचारक एवं समाजसेवी आदरणीय श्री चेतन जी भार्गव पर मास्क वितरण एवम कोरोना बचाव हेतु समझाइश देने के दौरान आरोन थाना प्रभारी द्वारा षडयंत्र पूर्वक श्री चेतन जी एवं 100 साथियो पर 30/07/2020 FIR दर्ज की गई।
जबकि आरोन में राजनीतिक दलों के द्वारा गांव गांव एवं शहरों में चुनाव प्रचार कर हजारो की भीड़ एकत्र कर लॉकडाउन के नियमो का उल्लंघन किया गया,जिसके विरुद्ध सबंधित लोगो पर कोई कार्यवाही नही की गई,इससे स्पस्ट होता है कि श्री चेतन जी भार्गव एवं 100 साथियो पर षडयंत्र पूर्वक FIR हुई है।जिसके विरोध में मुलताई नगर के हिन्दू संगठन ने अनुविभागीय अधिकारी मुलताई को सौपा एवम FIR वापस लेने की मांग की जिसमें हेमन्तसिंह जी राजपूत,रितेश जी विश्वकर्मा,दीपेंद्र पटाडे,रोहित चिकाने,विपिन सोनी,विशाल शितोले,पिंटू पाटील, देवेश चंडालिया आदि।

शिवा पवार, न्यूज एडिटर, मुलताई, मुलतापी समाचार

Govt. Job : रेलवे, 1,40,640 पदों के लिए 2.40 करोड़ से ज्यादा कैंडिडेट्स ने किया आवेदन, अब 15 दिसंबर से परीक्षा आयोजित करेगा


NTPC- GROUP D भर्ती 2019 के लिए 15 दिसंबर से परीक्षा आयोजित करेगा

मुलतापी समाचार

रेल सरकारी जॉब समाचार

कोरोना के कारण स्थगित हुई परीक्षाएं अब अनलॉक के साथ एक फिर शुरू हो चुकी है। इसी क्रम में भारतीय रेलवे भी अपनी स्थगित हुई नॉन-टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी (NTPC) और Group D भर्ती 2019 के लिए परीक्षा का आयोजन कराने जा रहा है। रेलवे ने दोनों भर्तियों की कुल 1,40,640 रिक्तियों को भरने के लिए प्रथम चरण की परीक्षा आयोजित कराने की तैयारी शुरू कर दी है। इस बारे में जानकारी देते हुए रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने कहा कि भारतीय रेलवे 15 दिसंबर, 2020 से 1.40 लाख पदों पर भर्ती के लिए कंप्यूटर आधारित परीक्षा का पहला चरण आयोजित करेगा।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्विटर पर दी जानकारी

रेलवे अध्यक्ष ने यह भी बताया कि 1.40 लाख पदों पर भर्ती के लिए जारी किए गए नोटिफिकेशन के लिए 2.40 करोड़ से ज्यादा आवेदन प्राप्त हुए थे। इन रिक्तियों के लिए होने वाली परीक्षा को कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन के चलते स्थगित कर दिया गया था। इससे पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी ट्विटर के जरिए जानकारी दी थी कि रेलवे 15 दिसंबर, 2020 से अधिसूचित 1,40,640 रिक्तियों के लिए कंप्यूटर आधारित टेस्ट शुरू करेगा। जिसमें नॉन-टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी (NTPC) (गार्ड, क्लर्क आदि), आइसोलेटिड एंड मिनिस्ट्रियल और लेवल-1 के ट्रैक मेंटेनर, पॉइंट्समैन आदि पद शामिल हैं।

जेईई मेन और नीट- यूजी के बाद अब होगी रेलवे की परीक्षा

रेलवे की इन भर्तियों में NTPC के कुल 35,208 पद और ग्रुप डी लेवल-1 के कुल 1,03,769 पद शामिल हैं। कोरोना काल में आयोजित हो रही जेईई मेन और नीट- यूजी के बाद अब रेल मंत्रालय ने भी परीक्षा की घोषणा की। दरअसल, ECA और फिर कोविड-19 महामारी के कारण भर्ती परीक्षा की तारीख को लेकर कोई जानकारी नहीं दी जा रही थी।

वहीं, अब सुरक्षित तरीके से चल रही जईई मेन और 13 तारीख को होने वाली नीट को देखते हुए रेलवे ने भी सीबीटी-1 के लिए तारीख जारी कर दी है। फिलहाल आवेदकों को पोस्ट वाइज एग्जाम शेड्यूल, शिफ्ट और एडमिट कार्ड का इंतजार है। जिसके बारे में आने वाले समय में सूचित करने की बात कही गई है।

अतिथि शिक्षकों का हो रहा शोषण, फिर कैसा शिक्षक दिवस शिक्षकों ने सौंपा ज्ञापन


मुलतापी समाचार

बैतूल। संयुक्त अतिथि शिक्षक संघ बैतूल द्वारा अतिथि शिक्षकों की नियमितिकरण की मांग को लेकर शनिवार मुख्यमंत्री के नाम से जिला प्रशासन और भाजपा के जिला अध्यक्ष बबला शुक्ला को ज्ञापन सौंपा।संघ के जिला अध्यक्ष केसी पंवार व चिंताराम हारोड़े ने बताया कि अतिथि शिक्षक विगत 13 वर्षो से अल्पवेतन पर शासकीय शालाओं में अध्यापन कार्य कर रहें हैं। वेतन के नाम पर मात्र वर्ग 3 को पांच हजार, वर्ग 2 को सात हजार रूपए, वर्ग 1 को नौ हजार रूपए दिया जा रहा है। वेतन में से भी छुट्टियों को वेतन नहीं मिलता है। प्रमोद जागरे व अब्रान शाह ने बताया कि अतिथि शिक्षक का पद भी स्थाई नहीं होता है। इन 13 वर्षो में आंदोलन, हड़ताल व धरना प्रदर्शन, भुख हड़ताल के माध्यम से मांग की गई परन्तु कोई निष्कर्ष नहीं निकला।

मुख्यमंत्री सिर्फ घोषणा और आश्वासन ही देते रहें हैं। अनिल चौकीकर व प्रकाश सूर्यवंशी ने बताया कि हमारी मांगों को ना मानने का खामियाजा प्रदेश सरकार को उपचुनाव में उठाना पड़ेगा। दयानंद साहू व कैलाश पाटिल ने बताया कि अतिथि शिक्षकों को शोषण हो रहा है ऐसे में शिक्षक दिवस मनाना बेमानी लगता है। अतिथि शिक्षकों की मांग पर बबला शुक्ला ने कहा कि वे अतिथि शिक्षकों की बात को मुख्यमंत्री तक पहुंचाएंगे। ज्ञापन सौंपते समय अजाबराव पाटिल, दुर्गेश मनोटे, माधोसिया मन्नासे, खेमराज झरबड़े, आनंद भौंडे, राजेश ठाकरे, बसंत विश्वकर्मा, राजेश बर्डे, विमल चंदेलकर, राजेश चौकीकर, अखलेश सोनपुरे, नारायण हुरमाड़े, राजेन्द्र मालवीय, योगेश वामनकर, विजय डोंगरे, धमेन्द्र साहू, दीपक गोचरे, राजू पंडागरे, आशीष कोकने, मुनीराज हारोड़े मौजूद थे। 

MP कोरोना काल में छिंदवाड़ा जिला अस्पताल की घोर लापरवाही पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के क्षेत्र का हाल बेहाल


आखिर अर्चना की माँ की मौत का कौन है जिम्मेदार ?

छिंदवाड़ा सीएमएचओ डॉ. गिरीश चौरसिया के राज में मरीजों का बुरा हाल, मर रहे लोग

Multapi Samachar

MP भोपाल। छिंदवाड़ा । मध्यप्रदेश सरकार के राज में जिला अस्पतालों के हालात बद से बदत्तर है । आख़िर अधिकारी कर्मचारी की लापरवाही के कारण हो रही मौतों का कौन है जिम्मेदार ? किसकी है जवाबदेही ? किस पर विश्वास करें प्रदेश की जनता काँग्रेस या भाजपा या ये दोनों दल है एक ही थाली के चट्टे बट्टे ? देश प्रदेश की सभी वर्ग की जनता आर्थिक तंगी बेरोजगारी से जूझ रही है । आखिर गंभीर हालातों को कब संभालेगी सरकार । बात चाहे जनसंपर्क में गए पत्रकार की हो या सरकारी अस्पताल में गए गरीब मजदूर की दशा एक जैसी है । छिंदवाड़ा जिला अस्पताल का हाल बेहाल हो चुका है आये दिन नितनये कारनामे सामने आते है चाहे वो वेंटिलेटर खरीदने का हो या मरीजों को सुविधाएं ना देने पर हमेशा सुर्खियों में बना रहता है, छिंदवाड़ा मुख्य चिकित्सा एवं स्वस्थ्य अधिकारी डॉ. गिरीश चौरसिया मुख्य चिकित्सा के राज में ऐसे क्षेत्र की जनता त्रस्त है । पीड़ित वीडियो बना बना कर अपनी सोशल मीडिया पर वायरल कर रहे है ।
परंतु सीएमएचओ के कान पर जूं तक नही रेंग रही है आखिर ऐसे कौन शक्ति काम कर रही है जिससे जनता त्रस्त है और सीएमएचओ मस्त है ।
इसकी कड़ी में आज एक वीडियो कोविद19 संक्रामित लड़की ने भेजा है जिसमें छिंदवाड़ा जिला अस्पताल की पोल खोल के रख दी है। अस्पताल में मरीजों के साथ कैसा व्यवस्था हो रहा है और उन्हें क्या सुविधाएं मिल रही है इसका उदाहरण इस वीडियो में देखने को मिलता है ।

क्या कहा वीडियो में अर्चना ने ?

अर्चना के द्वारा बताया गया कि 31 अगस्त को उनके माता-पिता एवं अर्चना की कोविड रिपोर्ट पजीटिव आई थी इसके उपरांत तीनों को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया अंजू की माता हार्ड पेशेंट थी जिसके चलते उन्हें आईसीयू वार्ड में रखा गया था बीती रात 5 अगस्त 2020 को रात्रि 3:30 पर अर्चना की मां को प्यास लगी थी उनके द्वारा अस्पताल के आईसीयू वार्ड के नर्स स्टाफ को पानी के लिए आवाज दी गई किंतु जिला अस्पताल के आईसीयू वार्ड में कोई भी स्टाफ का कर्मचारी मौजूद नहीं था इसके बाद अर्चना को फोन लगाया गया अर्चना ने सिविल सर्जन को फोन से संपर्क किया किंतु सिविल सर्जन द्वारा नाम मात्र की तसल्ली दी गई कि हमारे द्वारा स्टाफ को पहुंचाया जा रहा है इसके बाद दूसरी बार पुनः अर्चना ने सिविल सर्जन को फोन लगाया 4:00 बजे कि मेरी माता जी को बहुत जोरों से प्यास लगी है उनको पानी दे दिया जाए दूसरी बार पुनः सिविल सर्जन द्वारा तसल्ली दी गई किंतु पानी नहीं दिया गया ना ही कोई स्टाफ आईसीयू वार्ड में पहुंचा अर्चना की माता ने बिना पानी पिए तड़प तड़प कर जिला अस्पताल के आईसीयू वार्ड में बिना डॉक्टरों की अस्पताल के स्टाफ की लापरवाही के चलते जान गवा दी

अर्चना के द्वारा सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल किया गया है उस पर अर्चना द्वारा बताया गया कि 31 अगस्त की रात्रि को जब उन्हें अस्पताल पर भर्ती किया गया था उस समय अस्पताल पर उनके फादर को आईसीयू वार्ड पर रखा गया जब उनके फादर को आईसीयू वार्ड पर ले जाया गया था तो उससे पहले आईसीयू वार्ड में एक कोरोनावायरस को वेंटिलेटर ऑक्सीजन लगाया गया था किंतु उस मरीज वेंटिलेटर पाइप ऑक्सीजन से निकल गया था तो अर्चना के पिता द्वारा अस्पताल में मौजूद वार्ड बॉय को इसकी जानकारी दी गई वार्ड बॉय की लापरवाही की उन्होंने अर्चना के पिता को बोला कि आप ही पाइप लगा दीजिए एक मरीज जो खुद अस्पताल पर भर्ती हुआ है जिसे मैं मेडिकल की कोई जानकारी नहीं है उसे जिला अस्पताल का स्टाफ दूसरे मरीज को वेंटीलेटर ऑक्सीजन पाइप लगाने को बोलता है और इसी के चलते उस मरीज की जान चली गई एक बेटी का सवाल है कि मामा मुख्यमंत्री के राज्य पर मरीजों के साथ खिलवाड़ क्यों किया जा रहा है क्या हमारे साथ या जनता के साथ जिला अस्पतालों पर इस प्रकार से बदतर हालत क्यों है

क्या कहना है ।

छिंदवाड़ा कलेक्टर को कॉल किया गया परंतु उन्होंने उठाया नही

वीडियो सामने आया है जिसमें गंभीर आरोप लगे है, जाँच के बाद लापरवाही सामने आने पर संबंधित पर कार्यवाही की जायेगी ।

सौरभ कुमार सुमन छिंदवाड़ा जिलाधीश

कॉल किया गया परंतु काल रिसीव नही किया गया |

डॉ. गिरीश चौरसिया मुख्य चिकित्सा एवं स्वस्थ्य अधिकारी छिंदवाड़ा

अगले अंक में पढ़िए – कोरोना संक्रमित मरीजों की शिकायतों पर सोता छिंदवाड़ा प्रशासन

मनीष कुमार राठौर

‘शोक संंदेेेेश