कलेक्टर ने की अपील देखे Video


बैतूल कलेक्‍टर का संदेश

Multapi Samachar

माननीय प्रधानमंत्री जी दिनांक 12 सितंबर, 2020 दिन शनिवार को प्रातः 11:00 बजे प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण अंतर्गत प्रदेश में नव निर्मित 1.75 लाख आवासों का गृह प्रवेश कार्यक्रम ऑनलाइन करेंगे। माननीय मुख्यमंत्री जी भी इस अवसर पर ऑनलाइन उपस्थित रहेंगे। कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने समस्त जिलेवासियों से अपील की है कि कृपया वे सभी https://pmevents.ncog.gov.in/ इस लिंक पर अपना पंजीयन आज ही करवाएं तथा पंजीयन उपरांत प्राप्त लिंक पर जाकर निर्धारित दिनांक को कार्यक्रम को लाइव देखें।

कान्हावाड़ी के किशन धुर्वे का तैयार हुआ पक्का आशियाना


प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना से हुए लाभान्वित

मुलतापी समाचार

बैतूल। जिले के विकासखण्ड घोड़ाडोंगरी के ग्राम कान्हावाड़ी निवासी श्री किशन धुर्वे का अपना पक्का आशियाना बनाने का सपना पूरा हो गया है। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत मकान निर्माण के लिए उनको एक लाख 20 हजार रूपए की राशि के साथ-साथ 15 हजार रूपए मजदूरी एवं 12 हजार रूपए शौचालय निर्माण के लिए मिले। जिससे उनका सुंदर, सुविधायुक्त एवं पक्का मकान तैयार हो गया।

सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी बताते हैं कि श्री किशन धुर्वे को मकान के साथ-साथ उज्जवला योजना से गैस कनेक्शन, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, सार्वजनिक वितरण प्रणाली (खाद्यान्न पर्ची) सहित अन्नपूर्णा योजना (पात्रता पर्ची) का भी लाभ प्राप्त हो रहा है।

NEET exam शामिल होने वाले विद्यार्थियों के लिए वाहन सुविधा


Multapi Samachar

Betul News नीट परीक्षा में सम्मिलित होने वाले परिक्षार्थियों को मध्य प्रदेश शासन के द्वारा परीक्षा केंद्र शहर तक भेजने की व्यवस्था किए जाने अंतर्गत जिले से लगभग 1800 परीक्षार्थियों को प्रदेश के विभिन्न शहरों में स्थित परीक्षा केंद्रों के लिए 12 सितंबर 2020 को रवाना किया जाएगा।जिला शिक्षा अधिकारी श्री एलएल सुनारिया ने बताया कि परीक्षा में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों द्वारा इस हेतु रजिस्ट्रेशन कराया गया था। जिन परीक्षार्थियों के द्वारा रजिस्ट्रेशन नहीं भी कराया गया था, उनके द्वारा संपर्क किए जाने पर रजिस्ट्रेशन संबंधी जानकारी देकर रजिस्ट्रेशन करवाया गया एवं इन परीक्षार्थियों को विभिन्न परीक्षा केंद्रों के शहरों में भेजने के लिए कलेक्टर श्री राकेश सिंह के मार्गदर्शन में वाहनों की व्यवस्था की गई है।

12 सितंबर प्रात: 7 बजे से इन वाहनों को विभिन्न शहरों हेतु रवाना किया जाएगा, इसके लिए शिक्षा विभाग द्वारा प्रबंध किए गए हैं।श्री सुनारिया ने बताया कि रजिस्ट्रेशन कराए गए परिक्षार्थियों से संपर्क कर जानकारी ली जा कर उनसे कहा गया है कि जो परीक्षार्थी शासन के द्वारा प्रदत्त इस सुविधा का लाभ लेना चाहते हैं वह 12 सितंबर को उत्कृष्ट विद्यालय, बस स्टैंड के पास बैतूल पहुंचकर आवश्यक औपचारिकताएं पूरी कराते हुए उन्हें आवंटित परीक्षा केंद्र के शहर हेतु की गई परिवहन सुविधा का लाभ उठाएं।

सुविधा के अंतर्गत परीक्षार्थी को अपने साथ एक परिजन को लेकर जाने की सुविधा प्रदान की गई है। वर्तमान में वर्षा ऋतु, रास्ते में लगने वाला समय, पहाड़ी नाले, जाम की स्थिति इत्यादि को देखते हुए परीक्षार्थियों को परीक्षा दिवस के एक दिन पूर्व 12 सितंबर 2020 को ही परीक्षा शहर तक भिजवाने की व्यवस्था किए जाने के निर्देश हैं। इसी प्रकार परीक्षा केंद्र स्थित शहर में जाम की स्थिति न बने, साथ ही परीक्षार्थी सार्वजनिक परिवहन का उपयोग कर परीक्षा केंद्र तक सुविधाजनक ढंग से पहुंच सके, इस हेतु बाहर के जिलों से आने वाले वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था पृथक से की गई है।

होम आईसोलेशन के संबंध में दिशा निर्देश


स्वास्थ्य विभाग द्वारा होम आईसोलेशन के दिशा निर्देशों की जानकारी

मुलतापी समाचार

मध्‍यप्रदेश, भोपाल। कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्ति जो लक्षण रहित हों अथवा अत्यंत कम लक्षण जैसे- मात्र सर्दी, खांसी, गले में खराश तथा शरीर का तापमान 100 डिग्री फेरेनहाइट से कम होना, एस.पी.ओ.टू. 95 प्रतिशत से अधिक होना। कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्ति को सांस लेने में कोई तकलीफ न होना, सीने में जकडऩ दर्द जैसे लक्षण न होना। कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्ति की आयु 60 वर्ष से कम हो तथा डायबिटीज, हाईपरटेंशन, अंग प्रत्यारोपण, कैंसर तथा, एच.आई.व्ही. इत्यादि से ग्रसित न हो, को ही होम आइसोलेट किया जायेगा।

उपचार प्रदाय करने वाले चिकित्सक द्वारा उसका परीक्षण कर प्रमाणित किया गया हो।होम आइसोलेशन हेतु व्यक्ति एक पृथक हवादार शौचालय युक्त कक्ष में रहे। संक्रमित व्यक्ति होम आइसोलेशन अवधि में अपने कमरे से बाहर न निकले, अपने कमरे में ही खाना खाये तथा अन्य व्यक्तियों के सीधे सम्पर्क में न आये। घर के अन्य सदस्यों विशेषकर वृद्ध, गर्भवती महिलाएं बच्चों से दूरी बनायें।

सामाजिक धार्मिक कार्यक्रमों में सम्मिलित नहीं होना चाहिये। पर्याप्त संतुलित आहार तथा तरल पेय पदार्थों का सेवन करें, समुचित आराम करें तथा व्यक्तिगत सुरक्षा व साफ सफाई पर ध्यान दें। अपने कपड़ों, कमरे के आमतौर पर छुये जाने वाली सतहों (दरवाजे के हैंडल, बिजली के बटन आदि) तथा शौचालय की सफाई एक प्रतिशत सोडियम हाईपोक्लोराईट साल्यूशन से करें।

चिकित्सकीय परामर्श के अनुरूप औषधियों का सेवन जारी रखें।वृद्ध संक्रमित व्यक्तियों की देखभाल घर के युवा सदस्य करें। देखभालकर्ता सदैव तीन परत मास्क का उपयोग करें। संक्रमित व्यक्ति को भोजन, पानी, औषधियां आदि देते समय दूरी बनाये रखें। घर से बाहर न निकलें तथा अतिथियों को घर पर आमंत्रित न करें।

देखभाल के दौरान सर्दी, खांसी, बुखार, गले में खराश आदि उत्पन्न होने पर तुरन्त एवं लक्षण रहित होने पर सम्पर्क दिनांक के 5 वें से 10 वें दिन के भीतर कोविड-19 की जांच समीप के फीवर क्लीनिक में करायें।ऐसे लक्षण जिनके प्रति सजग रहकर चिकित्सकीय परामर्श लेना जरूरी है- सांस लेने में कठिनाई, निरंतर दर्द/छाती में दबाव/भारीपन, मानसिक भ्रम या सचेत होने में कठिनाई, होंठ/चेहरे का नीला पडऩा आदि।

तकनीकी शिक्षा की छात्राओं और दिव्यांग बच्चों के लिये प्रगति एवं सक्षम छात्रवृत्ति योजना


नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर ऑनलाइन कर सकेंगे आवेदन

Multapi Samachar

MP मध्‍यप्रदेश भोपाल। छात्राओं को तकनीकी शिक्षा के माध्यम से सशक्त करने तथा विशेष रूप से दिव्यांग बच्चों को तकनीकी शिक्षा के लिये प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से प्रगति तथा सक्षम छात्रवृत्ति योजना लागू है। दोनों योजनाओं के तहत 50 हजार रुपये प्रति वर्ष की छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् द्वारा दी जाने वाली छात्रवृत्ति के लिये अब इच्छुक विद्यार्थी नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

प्रमुख सचिव, तकनीकी शिक्षा श्रीमती देशमुख ने बताया कि प्रगति छात्रवृत्ति योजना के तहत स्नातक तथा डिप्लोमा करने वाली प्रथम तथा द्वितीय वर्ष की छात्राएँ, जिनकी वार्षिक पारिवारिक आय 8 लाख से कम हो, छात्रवृत्ति के लिये आवेदन कर सकती हैं। प्रगति छात्रवृत्ति योजना के तहत प्रतिवर्ष 10 हजार 500 छात्रवृत्ति दिये जाने का प्रावधान है, जिसमें 5 हजार स्नातक स्तर के तथा 5 हजार छात्रवृत्ति डिप्लोमा की छात्राओं को दिया जायेगा। प्रगति छात्रवृत्ति योजना के तहत 50 हजार रुपये प्रतिवर्ष दिये जायेंगे।सक्षम छात्रवृत्ति योजना के तहत विशेष रूप से दिव्यांग बच्चे, जो 40 प्रतिशत विकलांगता के साथ तकनीकी शिक्षा की पढ़ाई कर रहे हैं, उन्हें इस छात्रवृत्ति का लाभ मिलेगा। आठ लाख रुपये से कम वार्षिक पारिवारिक आय वाले प्रथम एवं द्वितीय वर्ष के छात्र इस योजना के तहत 50 हजार रुपये प्रतिवर्ष छात्रवृत्ति के लिये आवेदन कर सकते हैं।

प्रदेश में 16 सितम्बर से जनकल्याण पखवाड़ा AWW में बटेगा दुध


प्रधानमंत्री श्री मोदी के जन्म दिवस पर आँगनबाडिय़ों में होगा दुग्ध वितरण : मुख्यमंत्री श्री चौहान

पं. दीनदयाल उपाध्याय के जन्म दिवस 25 सितम्बर तक जनकल्याण कार्यक्रमों की श्रृंखला

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में 16 सितम्बर से जनकल्याण के कार्यक्रमों की श्रृंखला प्रारंभ हो रही है। यह श्रृंखला पं. दीनदयाल उपाध्याय के जन्म दिवस 25 सितम्बर तक निरंतर चलेगी।मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 16 सितम्बर को मध्यप्रदेश के करीब 37 लाख ऐसे गरीब भाई-बहनों को राशन का वितरण शुरु किया जा रहा है, जिनके पास पात्रता पर्ची नहीं है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 17 सितम्बर को प्रधानमंत्री श्री मोदी का जन्म दिवस है।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने सदैव गरीब वर्ग के कल्याण को प्राथमिकता दी है। इस नाते उनके जन्म दिवस पर प्रदेश के सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों में बच्चों को पोषण आहार के साथ ही दूध का वितरण भी प्रारंभ किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 18 सितम्बर को प्रदेश के 20 लाख किसानों के खातों में फसल बीमा योजना की राशि 4600 करोड़ रूपये खातों में अंतरित की जायेगी। कोरोना के संकट और हाल ही में हुई अतिवर्षा की परिस्थितियों में किसानों को मिल रही यह राशि उनके लिए राहतकारी होगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 19 सितम्बर को वनाधिकार के पट्टे पात्र आदिवासी भाईयों-बहनों को प्रदान किए जाएंगे। इसके साथ ग्रामीण क्षेत्र में रेहड़ी वाले, फल बेचने वाले, खिलौने बेचने वाले और अन्य स्ट्रीट वेंडर्स को 10 हजार रुपये की ब्याज मुक्त ऋण राशि का वितरण किया जाएगा। इसी क्रम में 20 सितम्बर को संबल योजना के हितग्राहियों को लाभान्वित करने का कार्य भी किया जाएगा। प्रदेश में 21 सितम्बर को स्व-सहायता समूहों को मजबूत बनाने का नया अभियान शुरु हो रहा है। इसके अंतर्गत अलग-अलग स्व-सहायता समूहों के खाते में 150 करोड़ रुपये की राशि जमा कराई जाएगी। मेधावी विद्यार्थियों को लेपटॉप के लिए राशि वितरण का कार्य 22 सितम्बर को किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 23 सितम्बर को प्रदेश में प्रधानमंत्री किसान योजना के हितग्राहियों को किसान क्रेडिट कार्ड दिया जाएगा। इसके अलावा किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर कर्ज देने के लिए सहकारी बैंकों को 800 करोड़ रुपये की राशि दी जा रही है। एकात्म मानववाद के प्रणेता एवं समाज में आर्थिक रूप से सबसे कमजोर तबके के कल्याण का विचार देने वाले पं. दीनदयाल उपाध्याय की जयंती 25 सितम्बर के अवसर पर राज्य सरकार द्वारा बिजली के बिलों में दी गई रियायत के कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।जनकल्याण कार्यक्रम

16 सितम्बर- पात्रता पर्ची एवं खाद्यन्न वितरण।

17 सितम्बर- आँगनवाड़ी केन्द्रों में दुग्ध वितरण आरंभ।

18 सितम्बर- फसल बीमा योजना के 4600 करोड़ रूपये किसानों के खाते में अंतरण।19 सितम्बर- वनाधिकार पट्टों का वितरण तथा पथ विक्रेताओं ऋण राशि वितरण।

20 सितम्बर- संबल योजना के हितग्राहियों के लिए कार्यक्रम।

21 सितम्बर- स्व-सहायता समूहों के खातों में 150 करोड़ रुपये जमा करना।

22 सितम्बर- मेधावी विद्यार्थियों को लेपटॉप वितरण।

23 सितम्बर- प्रधानमंत्री किसान योजना के हितग्राहियों को किसान क्रेडिट कार्ड।

25 सितम्बर- बिजली बिलों में रियायत।

नई योजना से छात्रावासों को सीधे खाते में राशि देना हुआ संभव


आदिम-जाति कल्याण विभाग में एकीकृत छात्रावास योजना

Multapi Samachar

आदिम-जाति कल्याण विभाग में छात्रावासों के संचालन को सुविधाजनक बनाने के लिये एकीकृत छात्रावास योजना शुरू की गई है। योजना के क्रियान्वयन से अब विभाग के छात्रावासों में बजट की राशि प्रति छात्रावास के मान से उनके बैंक खातों में पहुँच सकेगी।विभाग द्वारा प्रदेश के आदिवासी क्षेत्रों में 199 जूनियर छात्रावास, 979 सीनियर छात्रावास, 152 महाविद्यालयीन छात्रावास और 218 उत्कृष्ट छात्रावास संचालित किये जा रहे हैं। इन छात्रावासों में स्वीकृत सीटों की संख्या 81 हजार 804 है। पूर्व में प्रत्येक छात्रावास के लिये प्रत्येक योजना क्रमांक एवं व्यय के अन्य मद प्रचलित थे। इस व्यवस्था से छात्रावासों के बैंक खातों में राशि पहुँचने में अनावश्यक विलंब होता था। इन दिक्कतों को दूर करने के लिये में इस वित्तीय वर्ष से विभाग एकीकृत छात्रावास योजना क्रमांक 9673 के नाम से परिवर्तित की गई है।पूर्व में अलग-अलग छात्रावासों की व्यय राशि अलग-अलग शीर्ष में आती थी, जबकि राशि का उपयोग सभी छात्रावासों में एक ही था। एकीकृत छात्रावास योजना से पृथक-पृथक छात्रावासों में बजट की गणना, बजट का प्रावधान, स्वीकृति एवं देयकों के माध्यम से राशि का आहरण आदि कार्यों में सरलीकरण हुआ है। विभाग के सॉफ्टवेयर एमपीटीएएएस परियोजना के माध्यम से एक ही पूल एकाउंट में सभी राशियों का आहरण के बाद जमा किये जाने से छात्रावासों को सीधे बैंक खाते में राशि जारी किया जाना संभव हुआ है।आदिम-जाति कल्याण विभाग ने छात्रावासों का एकीकरण किये जाने के साथ ही छात्रावासों में विभिन्न वर्गों के विद्यार्थियों को प्रवेश देने के लिये नवीन नियम बनाये गये हैं, जिसमें अनुसूचित-जनजाति, अनुसूचित-जाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक कल्याण और घुमक्कड़ एवं अद्र्ध-घुमक्कड़ जनजाति के विद्यार्थियों को छात्रावासों में प्रवेश दिया जा सकेगा। इस नियम के बन जाने से छात्रावासों में रिक्त रहने वाली सभी सीटों को भरा जा सकेगा।

राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है सितंबर माह -पोषण गीत Video


पोषण पर चर्चा Awc. पोहर Sec. साईखेड़ा Icds मूलताई

Multapi Samachar

पोषण अभियान के अंतर्गत महिलाओं और बच्चों के पोषण स्तर में सुधार हेतु इस वर्ष भी सितम्बर माह को राष्ट्रीय पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य जन आंदोलन और जनभागीदारी से कुपोषण को मिटाना है। इस वर्ष पोषण माह 2020 दो मुख्य उद्देश्यों पर आधारित है- पहला उद्देश्य अति कुपोषित बच्चों को चिन्हित कर उनकी मॉनिटरिंग करना तथा दूसरा उद्देश्य किचन गार्डन को बढ़ावा देने के लिए पौधरोपण अभियान संचालित करना है।

पोषण पर चर्चा Awc. पोहर Sec. साईखेड़ा Icds मूलताई

जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बीएल विश्नोई ने पोषण माह के दौरान सघन अभियान संचालित कर बच्चों की ग्रोथ मॉनिटरिंग सुनिश्चित करने के लिए सभी महिला एवं बाल विकास विभाग के सभी परियोजना अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। कोरोना संक्रमण काल में बच्चों की ग्रोथ मॉनिटरिंग पर प्रभाव पड़ा है। उन्होंने बच्चों को सूचीबद्ध करने, शारीरिक माप का रिकार्ड संधारण करने, गंभीर कुपोषित बच्चों का पोषण प्रबंधन तथा निगरानी एवं मूल्यांकन सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए हैं।