सम्पूर्ण प्रदेश में 16 सितम्बर को मनेगा अन्न उत्सव


प्रदेश के 37 लाख नये हितग्राहियों को होगा राशन वितरण आरंभ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की तैयारियों की समीक्षाऑटो चालकों को हितग्राही सूची में जोड़ने के निर्देश

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 16 सितम्बर का दिन प्रदेश के 37 लाख लोगों के लिए आशा-उत्साह और आनंद का दिन है। इन सभी को पात्रता पर्ची प्रदान कर अन्न उत्सव के अंतर्गत राशन वितरण आरंभ किया जाएगा। कोरोना काल में यह बड़ी राहत है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हितग्राहियों की पात्रता श्रेणी के अंतर्गत ऑटो चालकों को जोड़ने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान 16 सितम्बर को प्रदेश में खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत सम्मिलित हुए 37 लाख नए हितग्राहियों को पात्रता पर्ची और राशन वितरण कार्यक्रम के लिए जारी तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इसके बाद भी जो जरूरतमंद होगा उसे इस अभियान से जोड़ा जाएगा। राज्य सरकार हर गरीब के साथ खड़ी है। कार्यक्रम आयोजन में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग तथा नगरीय निकायों का भी सहयोग लिया जाएगा। बैठक में खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह भी उपस्थित थे।

समन्वय भवन में आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे

मुख्यमंत्री श्री चौहानअन्नपूर्णा योजना के अंतर्गत अन्न उत्सव के नाम से आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम का मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 16 सितम्बर को प्रात: 11.45 बजे भोपाल के समन्वय भवन में शुभारंभ करेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान हितग्राहियों से चर्चा भी करेंगे। प्रदेश के प्रत्येक जिले में आयोजित कार्यक्रम में राज्य के मंत्रीगण, सांसद तथा विधायकगण एक साथ राशन वितरण का शुभारंभ करेंगे। इसके साथ ही सभी ग्राम पंचायतों और वार्डों में भी अन्न उत्सव मनाया जाएगा। राज्यस्तरीय कार्यक्रम और मुख्यमंत्री के उद्बोधन का सीधा प्रसारण दूरदर्शन सहित सभी प्रमुख इलेक्ट्रॉनिक चेनल्स और वेबकॉस्ट के माध्यम से फेसबुक/टि्वटर पर सीधा प्रसारण होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए है कि सभी आयोजन स्थल पर कोरोना से बचाव की सावधानियों का अनिवार्यत: पालन सुनिश्चित किया जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आयोजन में दिव्यांगजन, वृद्धजन, महिलाओं आदि की सुविधा का ध्यान रखने के निर्देश भी दिए।9 जिलों में जुड़े एक लाख से अधिक हितग्राहीबैठक में जानकारी दी गई कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत फेरी वाले, हम्माल, तुलावटी, केश शिल्पी, बीपीएल कार्ड धारक, बीड़ी श्रमिक, साइकिल रिक्शा और हाथ ठेला चालक जैसी 25 श्रेणी के 37 लाख पात्र हितग्राही अन्न उत्सव से लाभान्वित होंगे। प्रदेश में इन्दौर, मुरैना, जबलपुर, भोपाल, ग्वालियर, भिण्ड, छिंदवाड़ा, छतरपुर तथा सागर में एक-एक लाख से अधिक नवीन हितग्राहियों को जोड़ा गया है। प्रदेश में 25 हजार 176 उचित मूल्य दुकानें संचालित हैं। मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित बैठक में अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्री मनोज श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति श्री फैज अहमद किदवई तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

जेईई एवं नीट परीक्षा में जिले से बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों ने कराया पंजीयन


1350 विद्यार्थियों को अन्य स्थानों पर परीक्षा देने जाने के लिए प्रशासन द्वारा की गई परिवहन सुविधा

Multapi Samachar

जेईई एवं नीट परीक्षार्थियों को शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई परिवहन सुविधा दिए जाने के अंतर्गत बैतूल जिले से सर्वाधिक लगभग 1800 परीक्षार्थियों ने पंजीयन कराया गया। निर्धारित पोर्टल पर पंजीयन के अतिरिक्त भी परीक्षा हेतु रवाना किए जाने के दिनांक को भी परीक्षार्थी उपस्थित होते रहे जिन्हें तत्काल रजिस्टर करवाते हुए परिवहन सुविधा अंतर्गत सम्मिलित किया गया। यही कारण रहा कि बैतूल जिले से प्रदेश में सर्वाधिक लगभग 1350 परीक्षार्थियों को जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में बनाई गई रणनीति के तहत विभिन्न वाहनों से परीक्षा शहरों के लिए रवाना किया गया। यही नहीं कर्नाटक स्थित परीक्षा केंद्र का चयन करने वाले परीक्षार्थी को उनके दो परिजन उनकी माताजी एवं भाई के साथ जाने की इच्छा प्रकट करने पर रेलवे के माध्यम से उन्हें रिजर्वेशन करा कर भेजा गया।मध्यप्रदेश शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई इस सुविधा का लाभ जिले के सुदूर सुदूरवर्ती क्षेत्रों के बच्चों द्वारा प्रमुखता से उठाया गया।

जेईई परीक्षा में भी प्रत्येक दिन, 31 अगस्त से 5 सितंबर तक बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों को इस सुविधा का लाभ प्रदान किया गया। बैतूल जिले में ही 3 परीक्षा केंद्र होने के बावजूद बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों के केंद्र बड़े शहरों में होने से उन्हें वहां भेजा गया। कलेक्टर श्री राकेश सिंह के उत्कृष्ट मार्गदर्शन में एक विस्तृत योजना बनाई जाकर सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी को नोडल अधिकारी का दायित्व सौंपा गया। कलेक्टर एवं सीईओ द्वारा इस कार्य के सुचारू क्रियान्वयन के लिए अधिकारियों का एक कोर ग्रुप का गठन भी किया गया, जिसमें जिला शिक्षा अधिकारी, सहायक आयुक्त आदिम जाति कल्याण विभाग, जिला परिवहन अधिकारी, जिला परियोजना समन्वयक, उपसंचालक सामाजिक न्याय को सम्मिलित किया गया तथा योजनानुसार किए जा रहे कार्यों की प्रतिदिन समीक्षा भी की गई।

जिला परिवहन अधिकारी श्रीमती रंजना भदौरिया, अनुभाग अधिकारी बैतूल श्री आरआर पांडे द्वारा पर्याप्त संख्या में वाहन उपलब्ध कराए गए। जिला खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी द्वारा वाहनों में ईंधन की समुचित व्यवस्था करवाए जाने में पूर्ण सहयोग प्रदान किया गया। जिला शिक्षा अधिकारी श्री एलएल सुनारिया ने जिला परियोजना समन्वयक श्री सुबोध शर्मा के साथ मिलकर प्रतिदिन की व्यवस्था के लिए योजना अनुसार कार्य किया गया। सर्व शिक्षा अभियान के अमले द्वारा मुस्तैदी से कार्य किया गया। लगभग 20 जन शिक्षक, अनेक शिक्षकों को निश्चित योजना के तहत कार्य आवंटित किए गए जिससे प्रत्येक परीक्षार्थी से बात की जाकर उनके जाने आने, साथ जाने वाले परिजन इत्यादि की जानकारी, परीक्षा शहर से वापस आने तक इस पर नजर रखी जाती रही।

11 सितंबर से युद्ध स्तर पर जारी इस प्रक्रिया का समापन 14 सितंबर प्रात: 7:00 बजे, परीक्षा केंद्र शहरों से परीक्षार्थियों के वापस लौटने तक निरंतर जारी रहा। जिले के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा इस कार्य के लिए, इस कार्य से संबंधित समस्त शिक्षकों जन शिक्षकों, अधिकारियों, कर्मचारियों को अपने इस रचनात्मक जज्बे को बनाए रखने हेतु शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए प्रशंसा की गई। परीक्षार्थियों के लिए शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई सुविधा के मूल स्वरूप में हितग्राहियों तक पहुंचा पाने में उच्च जिला प्रशासनिक अधिकारियों के कुशल मार्गदर्शन के साथ, जिला शिक्षा अधिकारी श्री एलएल सुनारिया, डीपीसी श्री सुबोध शर्मा, उपसंचालक सामाजिक न्याय श्री संजीव श्रीवास्तव, प्राचार्य उत्कृष्ट विद्यालय श्री राकेश दीक्षित, परीक्षा प्रभारी श्री मनोहर उघड़े के अतिरिक्त जन शिक्षक श्री संजीव धुर्वे, श्री ललित आजाद, बड़ी संख्या में सक्रिय शिक्षकों की रचनात्मक भूमिका रही।

कृषक पुरस्कार एवं कृषक समूह- आत्मा अंतर्गत सर्वोत्तम पुरस्कार


मुलतापी समाचार

सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन (आत्मा) अंतर्गत सर्वोत्तम कृषक पुरस्कार हेतु वर्ष 2019-20 में कृषकों द्वारा अपनाई गई कृषि तकनीकी, उपज एवं उत्पादकता के आधार पर प्रत्येक विकासखण्ड से कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, मत्स्य पालन एवं कृषि यंत्रों का उपयोग करने वाले कृषकों का चयन किया जाना है। प्रत्येक विकासखण्ड से सर्वोच्च अंक प्राप्त करने वाले कृषक का चयन जिला कलेक्टर सह अध्यक्ष आत्मा गवर्निंग बोर्ड की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा किया जाएगा।

इच्छुक कृषक, पुरस्कार हेतु प्रविष्टियां निर्धारित प्रपत्र में मय संलग्न दस्तावेजों के साथ बंद लिफाफे में 25 सितंबर 2020 तक संबंधित विकासखण्ड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी/ब्लॉक टेक्नॉलॉजी मैनेजर आत्मा को कार्यालय में प्रस्तुत करेंगे।इच्छुक कृषक, सर्वोत्तम कृषक पुरस्कार एवं जिला स्तरीय सर्वोत्तम कृषक समूह पुरस्कार के आवेदन पत्र विकासखण्ड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी के कार्यालय/ब्लॉक टेक्नॉलॉजी मैनेजर आत्मा से प्राप्त कर सकते हैं। आवेदन पत्र भरने हेतु संबंधित वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी एवं ब्लॉक टेक्नॉलॉजी मैनेजर आत्मा आवश्यक सहयोग प्रदान करेंगे।

जिले के कोरोना संक्रमित मरीजों की हाईटेक कोविड कमाण्ड कन्ट्रोल सेन्टर से अब की जायेगी निगरानी


जिले के एसटीडी कोड (07141) तथा नंबर 1075 डायल करने पर कॉल सीधे जिला स्तरीय कोविड कमाण्ड कन्ट्रोल सेन्टर पर कनेक्ट

मुलतापी समाचार

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले के कोरोना संक्रमित मरीजों की अब हाईटेक कोविड कमाण्ड कंट्रोल सेंटर से निगरानी की जाएगी। कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने हाईटेक कोविड कमाण्ड सेन्टर के संबंध में समीक्षा करते हुये विस्तृत निर्देश दिये एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप कुमार धाकड़ द्वारा इस संबंध में शनिवार समस्त खंड चिकित्सा अधिकारियों एवं कोविड संबंधित अन्य कर्मचारियों की बैठक ली गई।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप कुमार धाकड़ ने बताया कि जिला मुख्यालय पर कोविड कमाण्ड कन्ट्रोल सेन्टर 24&7 संचालित रहेगा। इसके लिये आवश्यक चिकित्सक व स्टॉफ की पृथक-पृथक शिफ्ट में ड्यूटी लगाई गई है। कोविड कमाण्ड कन्ट्रोल सेन्टर हेतु राज्य स्तर पर एकल (कॉमन) नंबर 1075 होगा। नागरिक द्वारा जिले के एसटीडी कोड (07141) तथा नंबर 1075 डायल करने पर कॉल सीधे जिला स्तरीय कोविड कमाण्ड कन्ट्रोल सेन्टर पर कनेक्ट होगी। सेन्टर से होम आईसोलेटेड कोविड पॉजिटिव मरीज के पर्यवेक्षण हेतु, वीडियो कॉलिंग का प्रबंधन किया गया है। ऐसे कोविड पॉजिटिव मरीज जिन्हें होम आईसोलेशन में रखा गया है, को कोविड कमाण्ड, कन्ट्रोल सेन्टर में तैनात किये गये चिकित्सक के द्वारा एक दिन में दो बार वीडियो कॉल किया जायेगा।

इसके लिये उपलब्ध कराये गये नंबर पर व्हाट्सअप इन्स्टाल कर, वीडियो कॉलिंग सेवा उपयोग की जा रही है। कोविड-19 पॉजिटिव मरीज से वीडियो कॉलिंग के माध्यम से बात कर कोविड कमाण्ड कन्ट्रोल सेन्टर पर नियुक्त चिकित्सक उनकी चिकित्सकीय स्थिति की जानकारी प्राप्त करेंगे। उक्त मॉनिटरिंग हेतु सार्थक पोर्टल पर कोविड कमाण्ड कन्ट्रोल सेन्टर जिले के समस्त होम आईसोलेटेड मरीजों की लाइन लिस्ट देखी जा सकेगी तथा प्रत्येक दिवस में 2 बार होम आईसोलेटेड मरीजों की चिकित्सकीय स्थिति संबंधित सूचकांकों की प्रविष्टि सार्थक पोर्टल पर की जा सकेगी। सेन्टर पर एक एम्बुलेंस रहेगी एवं आवश्यकतानुसार तत्काल मरीज को अस्पताल मे भेजा जायेगा। कोविड कमाण्ड कन्ट्रोल सेन्टर के माध्यम से जिले में निर्धारित कोविड संस्थाओं में रिक्त बेड की मॉनीटरिंग भी की जायेगी।सीएमएचओ ने बताया कि जिले में संचालित फीवर क्लीनिक मे सर्दी-जुकाम, खांसी, बुखार, सांस लेने में परेशानी जैसी समस्याओं से पीडि़त मरीजों की आरएटी और आरटीपीसीआर से जांच की सुविधा प्रारंभ कर दी गई है, जिससे अब 10 से 20 मिनिट में पॉजिटिव या नेगेटिव का परिणाम मिल जायेगा।

किसी भी व्यक्ति को सर्दी, खांसी, बुखार होने पर तत्काल फीवर क्लीनिक पर सम्पर्क करें एवं स्वास्थ्य जांच कराएं। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु प्रत्येक व्यक्ति मास्क का उपयोग करें। सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए थोड़े-थोड़े समय में साबुन और सेनेटाइजर या साबुन से हाथ साफ करें।

कोरोनाकाल में राज्य शासन ने 17 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षकों और 99 उप पुलिस अधीक्षकों के तबादले किये


राज्य सरकार द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक स्तर और उपपुलिस अधीक्षक स्तर के एक सैकड़ा अधिकारियों के तबादले कर दिए गए है।

इन तबादलों का असर बैतूल जिले पर भी पड़ा है जहाँ देवनारायण यादव उपुअ जिला बैतूल से सहायक सेनानी हॉक फोर्स में पदस्थ किया गया है।

और संतोष कुमार पटेल उपुअ जिला बैतूल से सहायक सेनानी 13 वाहिनी, विसबल ग्वालियर में नवीन पदस्थापना की गई है।

और सुश्री सुरभि मीना उपुअ जिला रायसेन से उपपुलिस अधीक्षक महिला अपराध प्रकोष्ठ बैतूल में पदस्थ किया गया है।

राज्य शासन ने सोमवार रात 17 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षकों और 99 उप पुलिस अधीक्षकों के तबादले किये हैं।

बैतूल जिले में कोरोना का कोहराम जारी, मौतों की संख्या 27


बैतूल जिले से जहाँ कोरोना संक्रमण बेकाबू होता जा रहा है. आज जिले में बढ़े रिकॉर्ड 59 मरीज से आंकड़ा पहुंचा1171

रविवार को पाथाखेड़ा निवासी डिप्टी रेंजर और एक अन्य वृद्ध की कोरोना से मौत होने के कारण आँकड़ा 27 तक पहुंच चुका है. जबकि 764 लोग स्वस्थ होकर अपने घर लौटे हैं. कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या इतनी अधिक हो रही है कि शासन प्रशासन के पास कंटेनमेंट जोन बनाने के लिए बैरिकेड तक खत्म हो चुके हैं रविवार को जिले के दो विधायक और दो टीआई कोरोना संक्रमित पाए गए है. भैसदेही विधायक धरमूसिंग सिरसाम अपने परिवार के पांच सदस्यों के साथ कोरोना पॉजिटिव पाए गए है. घोड़ाडोंगरी विधायक ब्रह्मा भलावी भी कोरोना पॉजिटिव हुए है. बैतूलबाजार और शाहपुर थाना प्रभारी भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आए हैं. आठनेर ब्लॉक में तीन सहकारिता विभाग के कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव होने से हड़कंप मच गया है. जिले में जनप्रतिनिधियों और कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव प्राप्त होने से कोरोना का संक्रमण और भी बढ़ता जा रहा है.