विशेष महिला विधिक साक्षरता शिविर आयोजित


Multapi Samachar

Betul News : जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा बुधवार को ग्राम दनोरा में विधिक जागरूकता से महिलाओं का सशक्तिकरण विषय पर विशेष महिला विधिक साक्षरता शिविर आयोजित किया गया। शिविर में प्राधिकरण के सचिव/अपर जिला न्यायाधीश श्री मनोज कुमार मण्डलोई, जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री मिथिलेश डेहरिया, महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री बीएल विश्नोई, रिसोर्स पर्सन अधिवक्ता श्रीमती योगिता डोंगरे, अधिवक्ता सुश्री शीतल गोस्वामी, ग्राम पंचायत सरपंच, सचिव सहित परियोजना पर्यवेक्षिकाएं, आशा कार्यकर्ता, पैरालीगल वालेंटियर्स एवं ग्रामीण महिलाएं उपस्थित रहीं।

शिविर को संबोधित करते हुए प्राधिकरण के सचिव श्री मण्डलोई ने कहा कि विधिक जागरूकता से ही महिलाओं का सशक्तिकरण संभव है और सशक्त महिला से समाज में जागृति आती है। इसी उद्देश्य से राष्ट्रीय महिला आयोग के समन्वय से महिलाओं के लिए ग्राम दनोरा में यह शिविर आयोजित किया गया है। उन्होंने कहा कि प्राय: यह देखा गया है कि महिलाएं अपने अधिकारों के लिए कानून के ज्ञान के अभाव के चलते आवाज नहीं उठा पाती, इसी के चलते वह कई परेशानियों का सामना करती है। ऐसे में विधिक सेवा संस्था उन्हें न्याय दिलाने का कार्य करती है।
जिला विधिक अधिकारी श्री मिथिलेश डेहरिया द्वारा महिलाओं को दहेज प्रतिषेध अधिनियम, पॉक्सो एक्ट, विवाह की आयु, बाल विवाह आदि के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि विधिक सहायता के महत्व को समझाते हुए बताया कि महिलाएं कानूनों के प्रति जागरूक होगी, तब ही अपने हितों एवं अधिकारों का उपयोग भली-भांति कर सकेगी।

महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री बीएल विश्नोई ने विभाग द्वारा संचालित की जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं तथा वन स्टॉप सेंटर की सेवाएं प्राप्त करने के संबंध में जानकारी दी। रिसोर्स पर्सन अधिवक्ता श्रीमती योगिता डोंगरे एवं सुश्री शीतल गोस्वामी द्वारा उपस्थित महिलाओं को संविधान के मौलिक अधिकार, मौलिक कत्र्तव्य, दहेज प्रताडऩा, घरेलू हिंसा, भ्रूण हत्या एवं लैंगिंक शोषण, पॉक्सो एक्ट, दहेज हत्या तथा भरण-पोषण कानूनों की महत्वपूर्ण जानकारी दी गई एवं मध्यप्रदेश अपराध पीडि़त प्रतिकर योजना पर चर्चा की गई। कार्यक्रम को पैरालीगल वालेंटियर श्रीमती चन्द्रप्रभा चौकीकर तथा सुश्री पूनम ने भी संबोधित किया।

शिविर में पोषण आहार माह अंतर्गत पोषण स्टॉल भी लगाए गए, जिसमें महिला एवं बाल विकास विभाग की पर्यवेक्षिका श्रीमती तिवारी द्वारा पोषण आहार बनाने का तरीका और पोषण आहार व्यंजनों का प्रदर्शन भी किया गया। शिविर में लगभग 60 महिला प्रतिभागियों की उपस्थिति रहीं, जिन्हें कोरोना महामारी के संबंध में बचाव के रोकथाम हेतु सेनेटाइज करने के उपरांत ही कार्यक्रम स्थल में प्रवेश कराया गया।

Manmohan Pawar (Chif Editor )

Multapi samachar

9753903839

MP सकल अनाज दलहन तिलहन व्या पारी महासंघ समिति का अनिश्चित काल तक मंडी बंद


मध्य प्रदेश अनाज एवम् तिलहन व्यापारी संघ द्वारा पूरे प्रदेश में सरकार के कृषि नीतियों के विरोध में मंडी बंद रखने का ऐलान किया है जिसके समर्थन में बैतूल अनाज व्यापारी संघ द्वारा मंडी को अनिश्चित काल तक बंद रखने का फैसला किया है।

प्रदेश सरकार मंडी बोर्ड के हठधरमी रवैये के खिलाफ एवं प्रदेश के किसानों की सुरक्षा देने वाली मंडियों को सुरक्षित करने के लिए 50 पैसे मंडी शुल्‍क के लिये 24 सितम्‍बर  गुरूवार से म.प्र. कि सम्‍स्‍त मंडियों में अनिश्चितकाल के लिये पूर्ण रूप से बंद रहेंगी।

इंदौर म.प्र. सकल अनाज दलहन तिलहन व्‍यापारी महासंघ समिति के अध्‍यक्ष गोपालदास अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश सरकार से जून से लगातार पत्राचार व सम्‍पर्क का प्रयास किया गया प्रदेश के मुख्‍यमंत्री एवं कृषिमंत्री व्‍यापारी महासंघ को आश्‍वासन देते रहे। महासंघ सरकार व कृषि विभाग पर विश्‍वास  करता रहा अब सबर का बांध टूट चुका क्‍योंकि ऐसा लगने लगा कि प्रदेश सरकार कर्मचारियों खासकर मंडी बोर्ड के अधिकारियों के दबाव में कार्य करते हुए प्रदेश के किसानों के हितों का ध्‍यान न रखकर मंडियों को बर्बाद करना चाहती है। यदि मंडियों में व्‍यापार नहीं होगा तो मंडी शुल्‍क कहा से आयेगा। व्‍यापारियों में व्‍यापार व्‍यवसाय व मंडी किसान को सुरक्षित करे के लिए मंडी शुल्‍क 50 पैसे करने का प्रस्‍ताव सरकार को दिया है। उसी प्रकार निराश्रित शुल्‍कव अनुज्ञा पत्र की आवश्‍यकता को भी समाप्‍त करने कि बात रखी है। परन्‍तु म.प्र. कृषि उपज मंडी बोर्ड के कर्मचारियों की मांग के लिये तुरन्‍त बोर्ड मिटिंग कर निर्णय लिया परन्‍तु व्‍यापारियों कि मांग 50 पैसे मंडी शुल्‍क पर जो कि किसानों के हित सुरक्षा को ध्‍यान में रखकर की गई है उस पर निर्णय नहीं किया गया। इसलिये 24 सितम्‍बर  से प्रदेश कि मंडियॉ पूर्ण रूप से अनिश्चित काल के लिये बंद रहेगी। इसके लिये प्रदेश सरकार जवाब देह होगी।                           

फेसबुक पर मा दुर्गा जी पर आपत्तिजनक पोस्ट शेयर करने पर बैतूल के हिन्दू युवाओं में आक्रोश


बैतूल:- सोशल मीडिया पर हिन्दू धर्म पर आपत्तिजनक पोस्ट शेयर करने वाले व्यक्ति पर कारवाही हेतु बैतूल के हिन्दू युवाओं द्वारा एसपी ऑफिस में ज्ञापन दिया गया।
सोशल मीडिया फ़ेसबुक पर निमनवाडा निवासी कृष्णा झरबडे नामक व्यक्त ने हिन्दू धर्म एवं देवी देवताओ पर आपत्तिजनक पोस्ट शेयर की है जिससे हिन्दू समाज व बैतूल के हिन्दू युवाओं की भावनाओ को ठेस पहुंची है, आज बैतूल के हिन्दू युवाओं द्वारा आपत्तिजनक पोस्ट शेयर करने वाले व्यक्ति पर कड़ी से कड़ी धारा लगाने और कारवाही करने हेतु ज्ञापन एसपी को सौंपा गया।
युवाओं ने ज्ञापन के जरिए सोशल मीडिया पर हिन्दू धर्म के बारे में गलत बाते शेयर करने वाले लोगों पर कड़ी कारवाही हेतु मांग की गई है।
आदर्श अग्निहोत्री (किट्टू), निक्की राजपूत, सागर करकरे, सागर शेशकर, आशीष कोडले, संकेत राजपूत, मनोज अमरूते,अजय शाहू, अक्षय,फलक, श्रेयांश, आदि ने, हिन्दू धर्म का अपमान करने वालो का विरोध जताते हुए उनपर कड़ी कारवाही करने हेतु मांग की है।
युवाओं का कहना है अगर आगे भी इस ही तरह हिन्दू धर्म पर गलत बाते पोस्ट की गई तो इसका बड़ा विरोध करते हुए आंदोलन किया जाएगा।

शिवा पवार मुलतापी समाचार बैतूल

प्रदेश में 5 हजार आदिवासी युवाओं को दिलाया जायेगा कौशल उन्नयन प्रशिक्षण


कौशल प्रशिक्षण के संबंध में व्यापक जानकारी के लिये तैयार की जा रही है वेबसाइट

Multapi Samachar

प्रदेश में इस वर्ष आदिम जाति कल्याण विभाग के अन्तर्गत संचालित मध्यप्रदेश रोजगार एवं प्रशिक्षण परिषद (मेपसेट) के माध्यम से 5 हजार आदिवासी वर्ग के शिक्षित बेरोजगार युवक-युवतियों को कौशल उन्नयन विकास का प्रशिक्षण दिलाया जायेगा। यह प्रशक्षिण केन्द्र सरकार के कौशल उन्नयन विकास मंत्रालय द्वारा निर्धारित मापदंडों के अनुसार दिलाया जायेगा।

मेपसेट द्वारा पिछले दो वर्षों में 20 हजार से अधिक आदिवासी युवाओं को रोजगारमूलक कौशल विकास का प्रशिक्षण दिलाया जा चुका है। प्रशिक्षण प्राप्त करने वालों में 6 हजार 200 आदिवासी युवतियाँ भी हैं। मेपसेट द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त 3,400 युवाओं को स्वयं का रोजगार शुरू करने के लिये आदिवासी वित्त विकास निगम के माध्यम से 91 करोड़ 62 लाख रुपये का ऋण व अनुदान उपलब्ध कराया गया है।

मेपसेट के प्रशिक्षण कार्यक्रम के संचालन के लिये मेप आईटी के माध्यम से पोर्टल डेव्हलप कराया जा रहा है। पोर्टल के माध्यम से प्रशिक्षण कार्यक्रमों की मॉनीटरिंग, रजिस्ट्रेशन और स्व-रोजगार की समस्त प्रक्रियाएँ ऑनलाइन होंगी। इसके साथ ही मेपसेट द्वारा वेबसाइट भी तैयार की जा रही हैं। इस वेबसाइट में जनजाति वर्ग के युवाओं के उत्थान के लिये संचालित योजनाओं की जानकारी इस वेबसाइट पर उपलब्ध होगी। प्रशिक्षण कार्यक्रमों के मूल्यांकन के लिये नार्बाड के सहयोगी प्रोजेक्ट मेनेजमेन्ट यूनिट को अनुबंधित किया गया है।

पवारी भाषा और संस्कृति ज्ञान परीक्षा -व्कि‍ज प्रतियो‍गीता


प्रतियोगिता में क्षेत्र ,उम्र और लिंग का कोई बंधन नहीं है

प्रतियोगिता के प्रथम पाँच विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत

प्रश्नावली हल करके सुखवाड़ा के व्हाट्सएप्प नंबर 9425392656 पर 30 सितम्बर 2020 तक उपलब्ध कराने का अनुरोध

मुलतापी समाचार

भोपाल। गाँव में निवासरत होने और शिक्षा तथा रोजगार के लिए शहर का रुख करने वाले पवार जन अपनी जमीन ,भाषा और संस्कृति से कितने जुड़े हैं यह जानने के उद्देश्य से पवारी भाषा और संस्कृति ज्ञान परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। राष्ट्रीय भर्तृहरि -विक्रम -भोज पुरस्कार समिति भारत और सुखवाड़ा ई -दैनिक और मासिक भारत के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस प्रतियोगिता में क्षेत्र ,उम्र और लिंग का कोई बंधन नहीं है। पोवारी ,पंवारी, भोयरी और पवारी भाषा और संस्कृति में समानता होने के साथ -साथ मूल शब्द लगभग एक से ही हैं।
प्रतियोगिता के प्रथम पाँच विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जायेगा और ई -प्रशस्ति पत्र भी दिया जायेगा। 85 % या उससे अधिक अंक प्राप्त करने वाले शेष सभीप्रतिभागियों को ई -प्रशस्ति पत्र दिया जायेगा। प्रश्नावली को कॉपी पेस्ट करके और हल करके सुखवाड़ा के व्हाट्सएप्प नंबर 9425392656 पर अनिवार्यतः 30 सितम्बर 2020 के शाम 5 बजे तक उपलब्ध कराना सुनिश्चित करने का अनुरोध है।

पवारी भाषा और संस्कृति ज्ञान परीक्षा प्रश्नावली

  1. प्रतिभागी का नाम
  2. उम्र
  3. गाँव /शहर का नाम
  4. व्हाट्सप्प न
  5. प्राप्ताँक ————-(मूल्यांकनकर्त्ता के उपयोग हेतु )
  1. पखवाड़ा या पाक्षिक को पवारी भाषा में कहा जाता है ——
  2. अधिकमास या मलमास को पवारी भाषा में कहा जाता है ——–
  3. आई अखाड़ी आया सन, गई ————— गया सन।(कहावत पूरी करिये)
  4. रफाड़ में बैलों को चरने के लिए बाँधी गई लम्बी रस्सी कहलाती है ——-
  5. “इत सी गई उगी मुगी, उत सी आई गाल फुगी” पहेली का उत्तर है ——
  6. गूँजे- पपड़ी मुख्यतः किस त्योहार से जुड़े हुए व्यंजन हैं ——
  7. नदी नाले में अस्थायी रूप से सिंचाई के लिए बनाया गया अस्थायी कुँआ कहलाता है —-
  8. “हरि लिली पति रे मरो देवता भोली या बिनती भली रे देव” लोकगीत किस अवसर पर गया जाता है –
  9. सेवा भगत, सेवा भगत सम्बोधन का उपयोग किस यात्रा के दौरान किया जाता है
  10. दीपावली के कितने दिन बाद मुलताई का कार्तिक मेला प्रारम्भ होता है –
  11. .मुलताई तहसील से निकलने वाली दो पवित्र नदियों के नाम हैं –
  12. बालाघाट जिले के पवार किस नदी विशेष के नाम से जाने जाते हैं –
  13. आम की —— ——और ———- गिरने के बाद आम को उतारा जाता है।
  14. बाट की लाड न लाहुरया लिहे ओ लाहुरया लिहे ओ -गीत किस अवसर पर गाया जाता है-
  15. विवाह अवसर पर काज करते समय गाये जाने वाले गीत के बोल हैं –
  16. बैलगाड़ी में क्रमशः आगे अधिक भार और पीछे अधिक भार होने पर दर्शाने हेतु किन शब्दों का उपयोग करते हैं –
  17. पान्ढुर्णा का प्रसिद्ध गोटमार मेला किस तिथि को आयोजित होता है –
  18. गाँव के बाहर जानवरों के खड़े रहने हेतु सुरक्षित स्थान कहलाता है –
  19. गाँव में बारात पहुँचने पर बारात का स्वागत कर उसे लाने की रस्म कहलाती है –
  20. .”टाली” गाय को और “खुखड़ा” मुर्गा को कहा जाता है। यह किस भाषा के शब्द है –
  21. “खांसी खोखला घेऊन जाय नारबोद” प्रभाती किस तिथि पर गायी जाती है –
  22. गाँव की सीमा रेखा को —————- कहते हैं।
  23. नदी में बाढ़ आती है और नाले में ——————-
  24. मसाला बाँटने वाले पत्थर कहलाते हैं ————– —————
  25. पत्थर की हाथ चक्की ——————– कहलाती है और मिट्टी की हाथ चक्की ————————-कहलाता है।
  26. ओखली का जोड़ीदार —————- और मोट के चका का जोड़ीदार —————–
  27. बैलों को हल में जोतने पर जोत बांधते हैं और बैलगाड़ी में जोतने पर ————————
  28. फाड़ा में कुल नग होते हैं ————-और ठाना में कुल नग होते हैं —————-
  29. कूड़ो से छोटा माप पायली ,पायली से छोटा माप —————— और उससे छोटा ————–
  30. मोजना याने —————डंगेला याने——————-
  31. आठ हाथ काकड़ी ———————-हाथ बीजा। (मुहावरा पूरा करिये।)
  32. “एक हाथ लकड़ी दो हाथ छिल्पा”का अभिप्राय है —————————-
  33. “कुल्हाड़ी को एक वार सी झाड़ नी कटत” का अर्थ है ——————-
  34. “आम उतर जाना” का अभिप्राय है ——————–
  35. नागर की मूठ होती है और बक्खर का —————- होता है।
  36. महिलाओं की पिवसी होती है और पुरुषों की ————————–
  37. आंजुर याने अंजुलि और ठोमा याने ————–
  38. औकार याने ——————-
  39. पेज़ कोदो कुटकी सावा से बनती है और ढासला ————— और ————— से
  40. गुड़ का बड़ा और भारी जमाव ————– कहलाता है और छोटी तथा हल्की जमाव ———————–
  41. तरल गुड़ ——————— कहलाता है और चाके में जमे गुड़ के ऊपर जमी हलकी परत कहलाती है ————–
  42. बफोड़ी बनाने के लिए प्रयुक्त बर्तन————— और प्रक्रिया ———————–
  43. पगड़ी को पवारी में कहते हैं ————————-
  44. रस्सी आटने वाला चक्र कहलाता है ——————-
  45. “भाई भरय एक बार, भाभी भरय बार बार”.पहेली का अर्थ है —————-
  46. “तू चल्यो समधी तू चल्यो रे तू ते नाचत चल्यो ,हाथ म दोना ले चल्यो रे , पातर चाटत चल्यो ” लोकगीत कब गाया जाता है ————————
  47. हँसी ख़ुशी और स्वस्थ सुखी के संदेशे के लिए पवारी का एक शब्द है ————————–
  48. मराठी भजन के साथ मंजीरे और पवारी भजन के साथ —————————बजायी जाती है।
  49. पवारी में गर्मी और ठण्ड की ऋतु को कहते हैं —-
  50. दीमक का घर कहलाता है——————– और चूहे का घर कहलाता है ——————

मनमोहन पंवार ,प्रधान संपादक, मुलतापी समाचार

इंदौर के भवरकुआ पास खंडहर के अंदर खुन से लथपथ मिली बच्ची की इलाज के दौरान मौत


इंदौर में खंडहर के अंदर रक्तरंजिश मिली बच्ची की इलाज के दौरान मौत
इंदौर में बच्ची की मौत के बाद परिजनों ने भंवरकुआ थाना में किया हंगामा।

चचेरी चाचा ने की घिनौनी  हरकत

इंदौर न्‍यूज

Indore Crime News: 

मुलतापी समाचार

इंदौर । भंवरकुआ थाना क्षेत्र में बुधवार रात खंडहर के अंदर रक्तरंजित हालत में मिली सात साल की मासूम की इलाज के दौरान मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। बच्ची की मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया। उन्होंने आरोपित पर हत्या और दुष्कर्म का मामला दर्ज करने की मांग को लेकर घेराव किया। दुष्कर्म की धारा लगने से पहले पुलिस मासूम की रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

जानकारी के मुताबिक बुधवार को वह कई घंटों से घर से लापता थी। उसके दूर के रिश्ते में चाचा लगने वाला युवक उसे बिस्किट दिलवाने के बहाने ले गया और उसे ईंट मारकर घायल कर दिया। आरोपित उसे मरा समझ कर भाग आया। लोगों ने सीसीटीवी कैमरों में उसे बच्ची को ले जाते हुए देखा था। आरोपित को पीट-पीटकर पुलिस के हवाले कर दिया। बच्ची को एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया है, जहां बुधवार सुबह उसकी मौत हो गई।

एसपी पश्चिम क्षेत्र महेशचंद्र जैन के अनुसार घटना रात साढ़े सात बजे की है। यहां रहने वाली बालिका घर से गायब हो गई थी। अपने स्तर पर तलाशने के बाद स्वजन ने हमें सूचना दी। करीब साढ़े नौ बजे घर से कुछ दूरी पर मौजूद एक खंडहरनुमा मकान में वह घायल अवस्था में पड़ी थी। उसके सिर पर चोट के निशान थे और खून बह रहा था। उसे तत्काल एप्पल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। मामले में उसके दूर के रिश्ते में चाचा लगने वाले युवक को हिरासत में लिया गया है। आरोपित की उम्र 20 साल है। वह एक कंपनी में नौकरी करता है।

पटवारी साथी सचिन शाक्य पर हमला मतलब हमारे संवर्ग पर हमला



ऐसी परिस्थिति मैं जो जिला एवं प्रांतीय आव्हान पर म.प्र. पटवारी संघ का साथ न दे

उस गद्दार को संघ के माध्यम से पटवारी संघ से निष्कासित किया जाना चाहिए।

एक कदम सतर्कता एवं स्वच्छता की ओर

सचिन शाक्या पर हमलावर को सजा मिलनी ही चाहिए

मुलतापी समाचार

घोड़ाडोंगरी । बैतूल जिला घोड़ाडोंगरी विकासखंड के पटवारी संघ ने ज्ञापन के माध्यम से तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा घोड़ाडोंगरी से मांग की है….. भिंड जिले के साथी पटवारी सचिन शाक्या पर अपराधिक प्रवृत्ति के अपराधियों द्वारा हमला किया गया….. जहां शासन की ओर से 307 की धारा नहीं लगाई गई….. जिसका घोड़ाडोंगरी पटवारी संघ पुरजोर विरोध करता है….. जब तक अपराधियों को धारा 307 के साथ गिरफ्तार किया नहीं जाता….. जिसे प्रशासन को ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराते हुए घोड़ाडोंगरी के समस्त पटवारी संघ ने प्रांतीय आवाहन पर 23/9/2020 से 25/9/2020 तक तीन दिवस का सामूहिक अवकाश पर जाने का ने निर्णय किया…..अपराधियों के ऊपर धारा 307 लगाई जाए साथ ही अपराधियों की गिरफ्तारी की जाए….. घोड़ाडोंगरी तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा को ज्ञापन के माध्यम से मांग करते हुए…. घोड़ाडोंगरी विकासखंड के समस्त पटवारी संघ ने निर्णय लिया है कि मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के प्रशिक्षण का बहिष्कार करते हुए समस्त पटवारी संघ ने तीन दिवसीय अवकाश पर जाने का फैसला किया है…..

ज्ञापन के साथ विरोध प्रदर्शन करते हुए पटवारी संघ के समस्त साथी उपस्थित रहे….. हरिओम चौरे तहसील अध्यक्ष टिकारी, रामलाल कुमरे सचिव घोड़ाडोंगरी, सरक्षक परसराम उपराले, गंगाधर धोटे, शिव लाल धुर्वे, अजय जावलकर उपाध्यक्ष, राजीक अली उपाध्यक्ष, भारती सरियम उपाध्यक्ष, रामदास परते सचिव, सुनीता परते सचिव, मनीषा पंवार कोषाध्यक्ष, सुरेश मिश्रा, प्रवक्ता रूपेश सलामे, वंदना भूमर कर संगठन मंत्री, राकेश देशमुख, नीतू विश्वकर्मा प्रचार मंत्री, अंकिता बनाफर मीडिया प्रभारी उपस्थित रहे…..

सीहोर से अयोध्या राम मंदिर की पैदल यात्रा


मुलतापी समाचार

नवीन जयसवाल

सीहोर । महामृत्युंजय ट्रस्ट के स्वामी ज्ञानानंद सरस्वती महाराज द्वारा राम रथ यात्रा सीहोर के प्रसिद्ध प्राचीन श्री चिंतामन गणेश मंदिर से प्रारंभ होकर अयोध्या कूच करेगी ।

यात्रा के प्रारम्भ में श्री स्वामी जी सीहोर प्रत्येक घर भिक्षाटन करेंगें, जिसमे निःशुल्क हस्त रेखा एवं कुण्डली देखकर भक्तो को जीवन को शुखमय बनाने हेतु मार्ग प्रशस्त करंगे । जन सहयोग से प्राप्त दान से मंदिर निर्माण एवं जन सेवा का संकल्प लिए श्री स्वामी जी के द्वारा यात्रा के अगले पड़ाव में सीहोर जिले के प्रत्येक गांव में जाकर ग्रामीण जनो की नि:शुल्क कुण्डली देखकर, जीवन को सुगम बनाने के लिए मार्गदर्शन दिया जाएगा और भिक्षाटन का कार्यक्रम भी किया जाएगा ।

यात्रा के अगले पड़ाव में सीहोर से आयोध्या मार्ग में आने वाले प्रत्येक नगर ,ग्राम , कस्बे में हवन, पूजन एवम निःशुल्क हस्त रेखा, कुण्डली के माध्यम से भक्तों के जीवन से कष्ट दूर करते हुए यह यात्रा अयोध्या पहुचेगी, जहा स्वामी ज्ञानानंद सरस्वती महाराज जी 2 चांदी की शिला राम मंदिर में दान कर अपने संकल्प को पूर्ण करंगे।

किशोरावस्था पोषण covid-19 में स्वास्थ्य एवं स्वच्छता पर वेबनार


केवल 2 घंटे में यह वेबिनार शुरू होगा

चैम्पियन कोशोरियां भी वेबनार में होगी शामिल, अनुभव सांझा

अपने- अपने क्षेत्र की किशोरियों को विशेष रूप से भाग लेने को कहें क्योंकि इस वेबिनार में विशेषज्ञों सत्र के साथ=साथ कुछ चैम्पियन कोशोरियां भी अपने अनुभव एवं विचार बतायेंगी जो कि अन्य किशोरियों हेतु अत्यंत उपयोगी होगा |

ख़बरें आँगन की
(पोषण माह – 2020)
ऑनलाइन सिरीज़ में महत्वपूर्ण वेबिनार
विषय: किशोरावस्था पोषण covid-19 में और इसके बाद
किशोरावस्था स्वास्थ्य एवं स्वच्छता
अनिवार्य प्रतिभागी : यह वेबिनार किशोरियों एवं शौर्यदलों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है, अतः सबको बताएं, आमंत्रित करें और अधिक से अधिक संख्या में भाग लें |
विशेष प्रतिभागी : परियोजना अधिकारी, पर्यवेक्षक, आंगनवाडी कार्यकर्ता
दिनांक: 24 सितम्बर, 2020, समय: 12 बजे दिन से
ऑनलाइन लिंक :
यूट्यूब चैनल https://www.youtube.com/watch?v=qsImer_JMhk
फेसबुक पेज https://www.facebook.com/MPWCD/posts/3462075710565399
ट्विटर : https://twitter.com/MP_WCD
नोट: इस वेबिनार की सूचना WCD, भोपाल प्रधान कार्यालय से पत्र क्रमांक/मबानि/संचार/2020-21/3685, दिनांक: 29/08/2020 द्वारा सभी जिलों को भेजी जा चुकी है|

पूरक पोषण आहार क्विज़ प्रतियोगिता – पोषण माह


समय पर ऊपरी आहार की शुरूआत पर क्विज (केवल 22 से 35 वर्ष के युवा पुरुषों (केवल पिता) के लिए)

अंतिम तिथि: 30 सितम्बर 2020 

मुलतापी समाचार द्वारा जनहित में जारी

इस क्विज़ का आयोजन महिला एवं बाल विकास विभाग, मध्यप्रदेश के द्वारा पोषण माह 2020 के अवसर पर किया जा रहा है | पोषण माह का आयोजन पूरे देश एवं मध्यप्रदेश में शिशु, बच्चों, किशोरियों एवं गर्भवती तथा धात्री माताओं के पोषण के सम्बन्ध में जनजागरूकता फ़ैलाने के उद्देश्य से किया जाता है ताकि कुपोषण, खून की कमीं, जन्म के समय शिशु का कम वजन और पोषण से सम्बंधित अन्य समस्याओं के विरुद्ध कार्य किया जा सके | इस क्विज में वैकल्पिक प्रकार के प्रश्नों को शामिल किया गया है जिनका विषय समय पर शिशु के ऊपरी आहार की शुरूआत है | कृपया क्विज में भाग लेने से पहले नियम शर्तें अच्छे से पढ़ लें |

नियम एवं शर्तें :

  • क्विज में भाग लेने की अंतिम तिथि 30 सितम्बर है |
  • इस क्विज में 30 प्रश्न हैं जिनका उत्तर 10 मिनिट में देना हैं |
  • विजेता का चयन सबसे ज्यादा प्रश्नों के सही उत्तर देने के आधार पर होगा |
  • यदि एक से अधिक प्रतिभागी सबसे अधिक सही उत्तर देते हैं तो उत्तर देने में लिए गए कम समय के आधार पर विजेता का चयन होगा |
  • विजेता को प्रमाण पत्र दिया जायेगा |
  • नियम शर्तें स्वीकार करने के पश्चात् ही प्रश्न आना शुरू होंगे |
  • प्रश्न सिर्फ हिंदी भाषा में ही उपलब्ध हैं |
  • एक प्रतिभागी एक बार ही भाग ले सकता है | एक से अधिक एंट्री भरने पर एंट्री निरस्त कर दी जाएगी |
  • एक बार एंट्री जमा करने के पश्चात् किसी भी तरह के संशोधन की अनुमति नहीं होगी |
  • यह प्रतियोगिता सिर्फ मध्यप्रदेश के निवासियों हेतु है |
  • प्रतियोगिता में केवल नवजात युवा पिता हेतु ही है (22 वर्ष से 35 वर्ष के पुरुषों हेतु)

पूरक अहार क्विज प्रतियोगिता