छात्र संगठन:फिर छिंदवाड़ा यूनिवर्सिटी बदलने की उठाई मांग


छिंदवाड़ा यूनिवर्सिटी बदलने की मांग छात्र संगठन द्वारा लगातार उठाई जा रही है। शुक्रवार को भी अभाविप के छात्र-छात्राओं ने छिंदवाड़ा यूनिवर्सिटी पर भेदभाव करने का आरोप लगाते हुए बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी को यथावत रखने की मांग करते हुए एसडीएम सीएल चनाप को ज्ञापन दिया। नगर मंत्री अंकित हारोडे ने बताया छिंदवाड़ा यूनिवर्सिटी होने से बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। यातायात को देखते हुए छिंदवाड़ा के लिए केवल एक ट्रेन का उपलब्ध होना, परीक्षा लेट फीस बरकतउल्ला से 70 प्रतिशत ज्यादा लिया जाना सहित अन्य परेशानी हो रही है। जिला संयोजक नीलेश गिरी गोस्वामी ने बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी को यथावत रखने की मांग की। इस दौरान रूपेश पवार, देवेंद्र धुर्वे, आयुषी अतुलकर, पराग यादव, प्रियंका गुप्ता, अभिषेक छेरकी, प्रशांत पवार, मोहित सोने, अंकित चौहान सहित संगठन के पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

धान एवं मोटा अनाज उपार्जन के लिए 15 अक्टूबर तक होगा पंजीयन


बैतूल। खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 के अंतर्गत समर्थन मूल्य पर धान एवं मोटा अनाज (ज्वार व बाजरा) का उपार्जन किया जाना है। इन फसलों के उपार्जन के लिए इस वर्ष समस्त इच्छुक कृषकों के नवीन पंजीयन 15 अक्टूबर तक किए जा रहे हैं। जिले के कृषक एमपी किसान एप, ई-उपार्जन मोबाइल एप, ई-उपार्जन कियोस्क कॉमन सर्विस सेंटर/लोक सेवा केंद्र एवं निर्धारित प्राथमिक कृषि साख संस्थाओं में पंजीयन करवा सकते हैं। पंजीयन हेतु जिले में समिति स्तर पर 15 पंजीयन केंद्र बनाए गए है। इनमें आदिम जाति सेवा सहकारी समिति बैतूल, पापुलर विपणन संस्था बैतूल, आदिम जाति सेवा सहकारी समिति शाहपुर, भौंरा, घोड़ाडोंगरी, रानीपुर एवं सीताकामथ, सारनी, चोपना, पाढर, रतनपुर, चिल्लौर, मुलताई, दुनावा, सेवा सहकारी समिति चोपना एवं महतपुर शामिल हैं। जिला आपूर्ति अधिकारी ने किसानों से पंजीयन की अंतिम तिथि 15 अक्टूबर के पहले अपनी उपज का अनिवार्य रूप से पंजीयन करवाने की अपेक्षा की है।

NEWS EDITOR

RAHUL SARODE