अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला बैतूल ने माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान जी को कलेक्टर जिला बैतूल द्वारा ज्ञापन सौपा


MULTAPI SAMCHARA

आज अखिलभारतीय विद्यार्थीपरिषद जिलाबैतूल ने माननीय श्री शिवराजसिंह चौहान जी को कलेक्टरजिला बैतूल द्वारा ज्ञापन सौपा जिला संयोजक निलेश गिरी गोस्वामी ने बताया कि उपरोक्त विषय अंतर्गत विनम्र निवेदन है कि बैतूल जिले के समस्त महाविद्यालय को सत्र 2019/20 छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय में शामिल किया गया है इससे पूर्व बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के अधीन था जिससे विद्यार्थी सुविधा अनुसार विश्वविद्यालय से आवागमन कर लिया करते थे। परंतु अब विद्यार्थियों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है जिसके बिंदु कुछ इस प्रकार हैं
1:- विद्यार्थियों को बस एवं ट्रेनो की उचित व्यवस्था ना होना।
2:- बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय के बदले छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय का अधिक शुल्क लिया जाना।
3:- जनजातीय बाहुल्य जिला होने के कारण विद्यार्थियों की आर्थिक स्थिति ठीक ना होना।
4:- छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय में छात्रों की समस्याओं के लिए हेल्प लाइन न. ना होना।
5:- सत्र 2019/20 बैतूल जिले के विद्यार्थियों के साथ भेदभाव करते हुए विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम उतीर्ण न होना।
6:- कोविड-19 के चलते छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय की सबसे बड़ी समस्या सामने यह आई की लेट फीस अधिक होने के कारण कई विद्यार्थी परीक्षा देने से वंचित रह गये।
महोदय जी सभी विषयों को ध्यान में रखते हुए आपको अवगत कराते हैं कि जब से छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय से बैतूल जिले के सभी महाविद्यालय को जोड़ा गया है तब से जिले के कई विद्यार्थियों को ऐसी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। विषयांतर्गत अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद आप से यह मांग करती है कि

बैतूल के सभी महाविद्यालय को पुनः बरकतउल्ला विश्वविद्यालय से जोड़ा जाए या बैतूल जिले में सभी महाविद्यालयों की सुविधा के लिए विश्वविद्यालय केंद्र बनाया जाए, अन्यथा संभागीय स्तर पर नर्मदा पुर संभाग का नर्मदा पुर बनाया जाए, अन्यथा संभागीय स्तर पर नर्मदा पुर संभाग का नर्मदा पुर विश्वविद्यालय बनाने की मांग करते हैं।

महोदय जी इन सभी विषयों से विद्यार्थी परिषद आपको अवगत कराती है की विद्यार्थियों की इन समस्याओं को हमारे द्वारा आपके समक्ष रखा जा रहा है अतः आपसे निवेदन है कि विषय को ध्यान में रखते हुए हमारी मांगों को जल्द से जल्द पूर्ण किया जाए अन्यथा विद्यार्थी परिषद संभागीय स्तर पर उग्र आंदोलन के लिए बाध्य रहेगी।

RAHUL SARODE

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js
<script data-ad-client="ca-pub-1045913405696148" async src="https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js"></script>

सीएमएचओ की दुघर्टना ग्रस्त कार में मौजूद स्टाफ नर्स की हुई मौत


बैतूल–बैतूल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रदीप धाकड़ की कार अनियंत्रित होकर एक पुलिया के नीचे नाले में जा गिरी। इस हादसे में डॉ प्रदीप धाकड़ और कार में उनके साथ बैठी एक स्टाफ नर्स घायल हो गए थे । जिसमें शासकीय जिला अस्पताल में इलाज के दौरान स्टाफ नर्स की मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के मुताबिक डॉ प्रदीप धाकड़ एक नर्स के साथ शाहपुर से बैतूल की तरफ अपनी निजी कार से आ रहे थे । तभी उड़दन गाँव के पास एक पुलिया पर सामने से आ रहे ट्रक ने उनकी कार के काफी नजदीक से कट मारी जिससे उनका नियंत्रण छूट गया और कार  लगभग 10 फीट नीचे  पुलिया से नीचे जा गिरी और नाले में गिरी । हादसे में डॉ प्रदीप धाकड़ को सिर और सीने पर चोट लगी वहीं नर्स गंभीर घायल हो गई थी । राहगीरों ने पुलिस को फोन पर घटना की जानकारी दी जिसके बाद दोनों को जिला अस्पताल लाया गया और डॉक्टरों की टीम उनके इलाज में जुट गई । स्टाफ नर्स की हालत गंभीर होने से उसे आईसीयू में भर्ती किया गया था जहाँ उसकी देर रात मौत हो गई। कोतवाली थाना पुलिस घटना की जांच कर रही है। 

शांति समिति की बैठक मैं हुई अशांति, हुआ हंगामा, पंडालो में जुआ खिलाने का आरोप


पंडालों में जुआ खिलाने के आरोप पर पूर्व पार्षद ओर मंडलों के सदस्यों के बीच हुआ विवाद

नवरात्रि पर्व के दौरान आयोजन को लेकर निर्धारित गाइड लाइन का पालन कराने के लिए थाना परिसर में आयोजित शांति समिति की बैठक में पूर्व पार्षद द्वारा पंडाल में जुआ खिलाए जाने के आरोप लगाए जाने पर पूर्व पार्षद और मंडल के सदस्यों के बीच जमकर विवाद हो गया। एसडीओपी और थाना प्रभारी के हस्तक्षेप के बाद विवाद शांत हुआ। 
     रविवार शाम में थाना परिसर में एसडीओपी नम्रता सोंधिया,तहसीलदार सुधीर जैन,थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी, नगर पालिका सीएमओ आरसी गव्हाड़े   की उपस्थिति में बैठक का आयोजन हुआ। बैठक में नगर के दुर्गा मंडलों के सदस्य भी उपस्थित थे। बैठक में पूर्व पार्षद उमेश बेलदार ने आरोप लगाते हुए कहा कि 90 प्रतिशत मंडलों द्वारा पांडाल में नवरात्रि के दौरान जुआ खिलवाया जाता है। आयोजन कर्ता लाखों रुपए की नाल निकालते हैं। इस आरोप पर दुर्गा मंडल के सदस्य डीके कालभोर आक्रोशित हो गए और उन्होंने कहा कि जुआ खिलाए जाने का आरोप लगाकर मंडलों को बदनाम किया जा रहा है। पूर्व पार्षद आरोप लगाने के साथ उन मंडलों का नाम भी ले जहां जुआ खिलाया जाता है। हम 40 साल से दुर्गा प्रतिमा विराजित कर रहे हैं। इस बात पर बैतूल रोड दुर्गा उत्सव मंडल के चिंटू खन्ना सहित अन्य मंडलों के सदस्यों ने भी आपत्ति जाहिर की।

एसडीओपी नम्रता सोंधिया ने दोनों पक्षों को शांत कराकर विवाद शांत कराया। साथ ही शांति समिति की बैठक में ऐसे विवाद को उचित नहीं बताते हुए कहा कि उपस्थित सदस्यों का यह व्यवहार खेद जनक है। आगामी समय में शांति समिति की बैठक में ऐसे विवाद होने की स्थिति में बैठक का आयोजन नहीं किया जाएगा। बैठक का उद्देश्य सभी सदस्यों को शांतिपूर्वक अपने सुझाव देना होता है।

ओर कहा कि जहाँ भी जुआ खेला जाएगा वहाँ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

बैठक में तहसीलदार सुधीर जैन ने कहां की निर्धारित गाइड लाइन का पालन कर आयोजन करें। प्रतिमा विसर्जन के दौरान डीजे प्रतिबंधित रहेगा। वही रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउड स्पीकर पर भी प्रतिबंध रहेगा। एसडीओपी सुश्रीसोंधिया ने कहां पांडाल निर्धारित गाइडलाइन के अनुसार 30 बाई 45 फीट का रहेगा। चल समारोह प्रतीकात्मक रूप से आयोजित होंगे। प्रतिमा विसर्जन के लिए केवल 10 लोगों को जाने की अनुमति रहेंगी। कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए आयोजन स्थल पर भीड़ ना हो। सभी मास्क अनिवार्य रूप से पहने। सोशल डिस्टेंस का जिम्मेदारी से पालन करें। बैठक में कांग्रेस नेता शमीम खान,संजय अग्रवाल,नितेश साहू,किशोरसिंह परिहार रावण दहन समिति के पप्पू अरोरा सहित अन्य सदस्यों ने अपने विचार रखे। पप्पू अरोरा ने बताया इस बार कोविड-19 के चलते रावण दहन का कार्यक्रम बड़े स्तर पर आयोजित नहीं किया जा रहा है। केवल प्रतीकात्मक रूप से रावण दहन कर आयोजन की परंपरा का निर्वहन किया जाएगा