शांति समिति की बैठक मैं हुई अशांति, हुआ हंगामा, पंडालो में जुआ खिलाने का आरोप


पंडालों में जुआ खिलाने के आरोप पर पूर्व पार्षद ओर मंडलों के सदस्यों के बीच हुआ विवाद

नवरात्रि पर्व के दौरान आयोजन को लेकर निर्धारित गाइड लाइन का पालन कराने के लिए थाना परिसर में आयोजित शांति समिति की बैठक में पूर्व पार्षद द्वारा पंडाल में जुआ खिलाए जाने के आरोप लगाए जाने पर पूर्व पार्षद और मंडल के सदस्यों के बीच जमकर विवाद हो गया। एसडीओपी और थाना प्रभारी के हस्तक्षेप के बाद विवाद शांत हुआ। 
     रविवार शाम में थाना परिसर में एसडीओपी नम्रता सोंधिया,तहसीलदार सुधीर जैन,थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी, नगर पालिका सीएमओ आरसी गव्हाड़े   की उपस्थिति में बैठक का आयोजन हुआ। बैठक में नगर के दुर्गा मंडलों के सदस्य भी उपस्थित थे। बैठक में पूर्व पार्षद उमेश बेलदार ने आरोप लगाते हुए कहा कि 90 प्रतिशत मंडलों द्वारा पांडाल में नवरात्रि के दौरान जुआ खिलवाया जाता है। आयोजन कर्ता लाखों रुपए की नाल निकालते हैं। इस आरोप पर दुर्गा मंडल के सदस्य डीके कालभोर आक्रोशित हो गए और उन्होंने कहा कि जुआ खिलाए जाने का आरोप लगाकर मंडलों को बदनाम किया जा रहा है। पूर्व पार्षद आरोप लगाने के साथ उन मंडलों का नाम भी ले जहां जुआ खिलाया जाता है। हम 40 साल से दुर्गा प्रतिमा विराजित कर रहे हैं। इस बात पर बैतूल रोड दुर्गा उत्सव मंडल के चिंटू खन्ना सहित अन्य मंडलों के सदस्यों ने भी आपत्ति जाहिर की।

एसडीओपी नम्रता सोंधिया ने दोनों पक्षों को शांत कराकर विवाद शांत कराया। साथ ही शांति समिति की बैठक में ऐसे विवाद को उचित नहीं बताते हुए कहा कि उपस्थित सदस्यों का यह व्यवहार खेद जनक है। आगामी समय में शांति समिति की बैठक में ऐसे विवाद होने की स्थिति में बैठक का आयोजन नहीं किया जाएगा। बैठक का उद्देश्य सभी सदस्यों को शांतिपूर्वक अपने सुझाव देना होता है।

ओर कहा कि जहाँ भी जुआ खेला जाएगा वहाँ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

बैठक में तहसीलदार सुधीर जैन ने कहां की निर्धारित गाइड लाइन का पालन कर आयोजन करें। प्रतिमा विसर्जन के दौरान डीजे प्रतिबंधित रहेगा। वही रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउड स्पीकर पर भी प्रतिबंध रहेगा। एसडीओपी सुश्रीसोंधिया ने कहां पांडाल निर्धारित गाइडलाइन के अनुसार 30 बाई 45 फीट का रहेगा। चल समारोह प्रतीकात्मक रूप से आयोजित होंगे। प्रतिमा विसर्जन के लिए केवल 10 लोगों को जाने की अनुमति रहेंगी। कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए आयोजन स्थल पर भीड़ ना हो। सभी मास्क अनिवार्य रूप से पहने। सोशल डिस्टेंस का जिम्मेदारी से पालन करें। बैठक में कांग्रेस नेता शमीम खान,संजय अग्रवाल,नितेश साहू,किशोरसिंह परिहार रावण दहन समिति के पप्पू अरोरा सहित अन्य सदस्यों ने अपने विचार रखे। पप्पू अरोरा ने बताया इस बार कोविड-19 के चलते रावण दहन का कार्यक्रम बड़े स्तर पर आयोजित नहीं किया जा रहा है। केवल प्रतीकात्मक रूप से रावण दहन कर आयोजन की परंपरा का निर्वहन किया जाएगा

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s