कृषि संशोधन बिल 2020 जन जागरूकता अभियान


आज कृषि संशोधन बिल 2020 जन जागरूकता अभियान के सम्बध मे भाजपा जिला अध्यक्ष आदरणीय बबला शुक्ला जी के नेतृत्व में आठनेर नगर मंडल मासोद मंडल एवं प्रभात पट्टन मंडल में बिल के संबंध में बूथ कार्यकर्ता और बूथ प्रभारियों से संवाद किया

इस दौरे में मासौद मंडल के प्रभारी देवी सिंह ठाकुर अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला अध्यक्ष अभीजर हुसैन आठनेर मंडल के प्रभारी किशोर मोहबे सहित तीनों मंडलों के अध्यक्ष गोवर्धन रानी विजय घोड़की राजेश सोनारे उपस्थित रहे

MULTAPI SAMACHAR

NEWS RIPOTOR (RAHUL SARODE)

तिल तिल मरते लोग, तड़पते लोग, फिर भी नहीं डरते लोग


यह है मध्य प्रदेश की जनता सब कुछ जानने लगी है

एक कदम सतर्कता एवं स्वच्छता की ओर

साथ ही पहचानने लगी है आए देखें चुनावी दंगल

मुलतापी समाचार

देर से ही सही समझ में आ रहा है जन मानस के

कोरोना ने छीनी हमारी खुशियां रोज़गार और तोड़े हमारे सपने।
मौत के आंकड़े धीरे-धीरे बढ़ते जा रहे, सौ से पहुंचे हज़ार और हज़ार से लाख में, यह सिलसिला बदस्तूर अब भी जारी है।आश्चर्य इस बात का है, जब लॉक डाउन की जरूरत नहीं थी तब सरकार ने लॉक डाउन लगाएं। 25 मार्च 2020 को भारत में केवल 571 कोरोना के मामले सामने आए थे, सरकार ने ताबड़तोड़ तरीके से पूरे भारत में एक साथ लॉकडाउन लगा दिया था, आज की स्थिति यह है, रोज़ तकरीबन 50 हज़ार से 60 हज़ार मामले दर्ज हो रहे हैं, कोरोना वायरस के कारण एक लाख नौ हज़ार लोगों ने अपनी जान‌ गवाई।
कोरोना वायरस संक्रमण ने पूरे भारत को अपनी चपेट में ले चुका है। हर रोज़ मौत के आंकड़े सैकड़ों की संख्या में बढ़ते जा रहे हैं, हज़ारों की संख्या में संक्रमितों के। इन सबके बीच उम्मीद की बात सिर्फ़ इतनी है कि बहुत से मामलों में लोग ठीक भी हुए हैं।
कोरोना वायरस से संक्रमित हर शख़्स का एक अलग अनुभव है, कुछ में इसके बेहद सामान्य या फिर यूं कहें कि बेहद कम लक्षण नज़र आते है, तो कुछ में यह काफी गंभीर, कुछ तो ऐसे मामले भी सामने आए हैं, जिनमें लक्षण वो थे ही नहीं जिनके बारे में स्वास्थ्य विभाग सचेत करता रहा है, लेकिन एक बार ये पता चल जाए कि आप संक्रमित हैं, तो अस्पताल जाने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं बचता है।
पर चुनाव के समय हमारे नेताओं को इन सब बातों से कोई लेना-देना नहीं, उनका लक्ष्य केवल चुनाव जीतना कोरोना से हमें कोई लेना देना नहीं।
कोरोना वायरस के बीच देश में पहला चुनाव और उप चुनाव होने जा रहा है, महामारी के बीच चुनाव आयोग की सबसे बड़ी चिंता यही थी कि चुनाव टाले जाएं या नहीं, महामारी में बड़े उतार-चढ़ाव दिख रहे है, फिर भी चुनाव की तारीख घोषित कर दी गई। मघ्य प्रदेश में उपचुनाव के दौरान सरकार ने नया फरमान जारी कर दिया पहले केवल 100 लोग चुनावी सभा में शामिल हो सकते थे, अब नए फरमान के अनुसार जितने लोग चाहें वह चुनावी रैलियों में जा सकते हैं, नेता जी के भाषण पर खूब तालियां बजा सकते हैं, बस सामाजिक दूरी का ध्यान रखना होगा। जब हमारे नेता सामाजिक दूरी का ध्यान नहीं रखते, तो आम जनता से क्या उम्मीद लगा सकते हैं। इसके बावजूद मध्य प्रदेश के नेता उप चुनाव की तैयारियों में लग गए हैं, सामाजिक दूरी का मखौल उड़ाते नेता, फिर से नेताओं की नौटंकी शुरू हो गई, लोगों को रिझाने के लिए नोट बाटे जा रहे हैं, लोगों के पैर छू छू कर वोटों की भीख मांग रहे हैं नेता। ऐसा लगता है,इन नेताओं से कोरोना वायरस डरता है, नेताओं के चेहरे से मास्क गायब, मास्क नहीं लगाने की मजबूरी नेताजी बड़े भोले अंदाज में बताते हैं, अगर जनता चेहरा नहीं देखेगी तो वोट कैसे देगी। नेताजी भूल गए कोरोना वायरस को।
गरीब जनता को खूब गले लगा रहे हैं, गरीबो के बच्चों को गोद में लेकर उनके गालों को चूम रहे हैं, बच्चे की बहती नाक अपने रुमाल से पोछ कर अपना प्यार जनता पर लुटा रहे हैं। चुनाव हारने का डर नेताजी से ज्यादा उनकी पत्नी यानि मेमसाब को है, मेम साहब की रातों की नींद उड़ गई है, रात में बुरे बुरे सपने आते हैं, कि नेताजी चुनाव हार गए हैं, मेम साहब के ऐशो आराम खत्म हो गए हैं , मेम साहब की एक आवाज़ पर नौकर और नेताजी के चमचे दौड़कर मेमसाब की सेवा में लग जाते हैं, मेम साहब की एक आवाज़ पर चार चार गाड़ियां खड़ी हो जाती है, मेम साहब को रात में नेताजी के साथ नोट गिनने की मशीन पर नोट गिनने में बहुत मजा आता है, अगर नेताजी चुनाव हार जाएंगे, तो यह सब ऐशो आराम खत्म, इसलिए यह सब नौटंकी चुनाव के समय गरीब जनता के सामने की जाती है। यह प्यार केवल चुनाव जीतने तक सीमित रहता है। चुनाव जीतने के बाद नेताजी को गरीब जनता से एलर्जी हो जाती है, जब जनता नेताजी के पास पंहुचती है, तो नेता जी पहचान ने से इनकार कर देते हैं।
प्रदेश में उप चुनाव को लेकर नेताजी, लोगों को जोड़ने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं । कोई नोट बांट रहा हैं, कोई जनता के पैर पड़ कर माफी मांग रहा हैं, कोई मास्क और सैनिटाइजर बांट रहा हैं, इन हथकंडो के सहारे वोट जुटाने की जुगत में लग गए हैं। भागवत कथा, यज्ञ और भंडारे में लोगों को खास तवज्जो मिल रही है। कोई खिचड़ी बंटवा रहा, तो कोई दाल-बाफले की पार्टी दे रहा है। इतना ही नहीं साड़ी बंटवाने से लेकर धार्मिक यात्राएं के वादे भी किए जा रहे है। उपचुनाव में जबर्दस्त घमासान की उम्मीद है।
एक नेता जी ने लोगों के लिए प्रसाद से लेकर साबूदाने की खिचड़ी तक की व्यवस्था की है।
पर नेताजी कोरोना की बीमारी को भूल गए हैं, सामाजिक दूरी की धज्जियां उड़ाई जा रही है नेताजी के साथ उनके चमचों का हुजूम चल रहा है, जिनको रोज़ के ₹500 मिलते हैं, ना नेताजी के चेहरे पर मास्क होता है और ना ही उनके चमचों के।
वहीं आम जनता अगर गलती से बगैर मास्क के बाहर निकलती है, तो उनके ऊपर चालानी कार्रवाई की जाती है, रात 8:00 बजे पुलिस की गाड़ियों के सायरन बजना शुरू हो जाते हैं, छोटी-छोटी दुकानों से लेकर रोज़ कमाने खाने वाले ठेले वालों की जबरन दुकानें बंद करवाते हैं और ठेले हटवाते हैं, कोरोना का डर दिखाते हैं। ऐसा लगता है रात 8:00 बजे के बाद ही कोरोना वायरस के कीटाणु सक्रिय हो जाते हैं, इसीलिए पुलिस प्रशासन 8:00 बजे से पहले दुकानें बंद करवाना शुरू कर देते है, जितनी सख्ती आम लोगों के साथ और गरीब व्यापारियों के साथ होती है, उतनी सख्ती उप चुनाव के समय नेताओं के साथ हो तो माने के इंसाफ सबके लिए बराबर है ।

उपचुनाव में हमने देखा,
एक नेता जैसा आदमी ।
एक गरीब के पैर पर पड़ा
था, मुझे आश्चर्य हुआ
पता चला वह,
चुनाव में खड़ा था।। *जय हिंद जय भारत* *डॉ जाकिर शेख सब एडिटर मध्य प्रदेश*

प्रदेश में रुक-रुककर बारिश होने की संभावना, मौसम विभाग ने बुधवार से शुक्रवार बारिश होने की आसंका जताई, देखे किन शहरों में होगी अधिक बारिश


भोपाल Weather Alert। बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम के कारण दक्षिणी मप्र में भी बरसात का सिलसिला शुरू हो गया है। इसी क्रम में मंगलवार को इंदौर में 18 मिमी. बरसात हुई। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक बुधवार से शुक्रवार तक भोपाल, इंदौर, होशंगाबाद, जबलपुर संभाग में रुक-रुककर बारिश होने की संभावना है। इस दौरान कहीं-कहीं तेज बौछारें भी पड़ सकती हैं।

बंगाल की खाड़ी में बना है गहरा अवदाब का क्षेत्र

मौसम विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी उदय सरवटे ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में बना गहरा अवदाब का क्षेत्र तेलंगाना के खम्मम के पास पहुंचकर अवदाब में तब्दील हो गया है। इस सिस्टम के बुधवार को गहरा कम दबाव के क्षेत्र में परिवर्तित होकर पश्चिम,उत्तर-पश्चिम की दिशा में आगे बढ़ने की संभावना है। इससे दो-तीन दिन तक दक्षिणी मप्र में बरसात होगी।

इंदौर, भोपाल, जबलपुर और होशंगाबाद संभागों में बारिश की संभावना

विशेषकर भोपाल, इंदौर, जबलपुर, होशंगाबाद संभाग में कई स्थानों पर बुधवार से लेकर शुक्रवार तक बारिश होने की संभावना है। इसी क्रम में मंगलवार को भोपाल में बादल छाए रहे। गरज-चमक की स्थिति भी बनी। इंदौर में मंगलवार को सुबह 8.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक 18 मिमी. बरसात हुई।

ज्ञापन सौंपने के लिए दो दिन पूर्व प्रस्तुत करना होगा आवेदन


जिला जेल से शिवाजी चौक के बीच नहीं होगी नारेबाजी

ज्ञापन सौंपने मात्र पांच व्यक्ति ही जा पायेंगे

अनुविभागीय दण्डाधिकारी बैतूल श्री सीएल चनाप ने बताया कि कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह द्वारा दिए गए आदेशानुसार संयुक्त जिला कार्यालय भवन बैतूल में ज्ञापन सौंपने के पूर्व सक्षम प्राधिकारी अनुविभागीय दण्डाधिकारी, सह इंसिडेंट कमांडर बैतूल से ज्ञापन हेतु निर्धारित समय से दो कार्य दिवस पूर्व आवेदन प्रस्तुत करना होगा।

उक्त आवेदन पत्र में ज्ञापन सौंपने वाले पांच व्यक्तियों का नाम, पता एवं मोबाइल नंबर का उल्लेख किया जाना अनिवार्य होगा। ज्ञापन सौंपने की दिनांक एवं समय का उल्लेख करना आवश्यक होगा।

अनुमत समय से अधिकतम 30 मिनट तक का विलंब स्वीकार किया जा सकेगा, किन्तु उससे अधिक विलंब स्वीकार योग्य नहीं होगा। विधिवत् अनुमति प्राप्त करना होगी।

कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम हेतु शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों (एसओपी) का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाना अनिवार्य होगा।

ज्ञापन सौंपने की कार्यवाही के दौरान जिला जेल से शिवाजी चौक बैतूल के बीच किसी भी प्रकार से नारेबाजी नहीं की जाएगी तथा लाउड स्पीकर (लोक संबोधन प्रणाली) बाजे-ढोल तथा ध्वनि उत्पन्न करने वाले अन्य संसाधनों का उपयोग पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।

संयुक्त जिला कार्यालय भवन बैतूल के बाउण्ड्रीवॉल के मुख्य प्रवेश द्वार के भीतर सक्षम अधिकारी द्वारा अनुमत अधिकतम पांच व्यक्तियों के अतिरिक्त किसी भी व्यक्ति का प्रवेश पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।

सौ व्यक्तियों का ही सम्मेलन/एकत्रीकरण सोशल डिस्टेंसिंग/एसओपी का पालन किया जाना अनिवार्य होगा।

जिले में मवेशियों में लम्पी स्किन डिसिज का प्रकोप


मुलतापी समाचार

Betul News

जिले के अधिकतर गांवों में मवेशियों में फैली लम्पी स्किन डिसिज पशुपालकों के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। इस बीमारी के मुख्य लक्षणों में देखा गया है कि पशु को 2-3 दिनों तक बुखार रहता है। पशु के शरीर की त्वचा पर छोटी-छोटी गांठे बन जाती है और पशु के एक पैर पर सूजन भी देखी जाती है। हालांकि इस बीमारी में मृत्युदर बहुत ही कम है, परन्तु इस बीमारी के कारण पशुओं की दुग्ध उत्पादन में बहुत कमी आ जाती है और कभी-कभी गर्भपात भी हो जाता है।यह एक संक्रामक विषाणु रोग है, जो गौवंशीय एवं भैंसवंशीय में मच्छरों, मक्खियों और किलनी द्वारा बीमार पशुओं से स्वस्थ पशुओं में फैलता है।

अत: बीमार पशु को स्वस्थ पशु से अलग बांधकर इस बीमारी को रोका जा सकता है।उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं डॉ. केके देशमुख ने पशुपालकों से अपील की है कि इस बीमारी के लक्षण पशुओं में नजर आते ही जिला पशु चिकित्सालय या अपने नजदीकी पशु चिकित्सालय को तुरंत सम्पर्क करें एवं इस बीमारी को फैलने से रोकने के लिए बीमार पशुओं को स्वस्थ पशुओं से अलग रखा जाए एवं पशुओं की आसपास की जगहों की अच्छे से कीटनाशक से साफ-सफाई की जाए ताकि पशुओं के आस-पास मक्खी, मच्छर, किलनी, गोचड़ी आदि समाप्त किए जा सके तथा इस बीमारी को और फैलने से रोका जा सके।

विभागीय योजनाओं की समीक्षा बैठक आयोजित


Multapi Samachar

Betul News जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एमएल त्यागी द्वारा मंगलवार को जिला पंचायत के सभाकक्ष में विभागीय योजनाओं की समीक्षा की गई। बैठक में कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा बैतूल एवं मुलताई संभाग तथा सभी जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, सहायक यंत्रियों एवं योजनाओं के प्रभारी अधिकारी उपस्थित रहे।बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री त्यागी ने गरीब कल्याण रोजगार अभियान अंतर्गत चयनित कार्यों की कार्यवार समीक्षा करते हुए कहा कि अभियान अवधि समाप्ति की ओर है।

अत: इस समय-सीमा में चिन्हित कार्यों को पूर्ण कर भौतिक एवं वित्तीय प्रगति के लक्ष्य प्राप्त करना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने सभी सहायक यंत्रियों को निर्देश दिए कि वर्षाकाल समाप्ति पर है, अत: सभी स्टाप डेम में कड़ी शटर लगवाएं एवं बोरी बंधान इत्यादि के माध्यम से वर्षा जल को रोकने हेतु आवश्यक कदम तत्काल उठाएं। उन्होंने 31 अक्टूबर तक कार्रवाई का प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश सभी सहायक यंत्रियों को दिए। उन्होंने मनरेगा अंतर्गत श्रम नियोजन को बढ़ाने और अपूर्ण कार्यों को पूर्ण करने हेतु भी निर्देश दिए।

हादसा – ट्रैक्टर पलटने से 6 लोग घायल, 4 गंभीर, ढलान के कारण घटी दुर्घटना


कृषि कार्य कर घर की ओर लौट रहे मजदूर

मुलतापी समाचार

साईंखेड़ा थाना अंतर्गत ससुन्द्रा बेरियर के पास खापा मुलताई मार्ग पर ढलान होने के कारण एक ट्रैक्टर थ्रेशर शहित अनियंत्रित होकर रोड के किनारे पलट गया, जिसमें सवार 6 लोग घायल हो गए।प्राप्त जानकारी के अनुसार घायलों में चार की हालत गंभीर बताई जा रही है, जिन्हें जिला चिकित्सालय से रैफर किया गया है और इन्हें निजी चिकित्सालय में भर्ती करवाया गया है। सभी खेत से कार्य पूर्ण कर घर की ओर लौट रहे थे। घटना सोमवार शाम 5 बजे की है।

घटना के तत्काल बाद साईंखेड़ा थाना स्टॉप घटनास्थल पर पहुंचा तथा गंभीर घायलों को तत्काल 100 डायल की सहायता से जिला चिकित्सालय भेजा गया। अन्य घायलों को निजी वाहन की सहायता से बैतूल जिला चिकित्सालय भेजा गया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार ढलान होने के कारण ट्रैक्टर के ब्रेक नहीं लग पाए और ट्रैक्टर अनियंत्रित हो गया, जिसके चलते यह दुर्घटना घटी। दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल राजेश उम्र 24 वर्ष राहुल उम्र 16 वर्ष प्रकाश उम्र 15 वर्ष सुनील उम्र 38 साल है वही मामूली चोट गोपाल उम्र 15 साल चंदन उम्र 28 वर्ष निवासी साईं खेड़ा थाना बताए जा रहे हैं।

पॉलीटेक्निक महाविद्यालय में 10वीं की मैरिट के आधार पर प्रवेश


विद्यार्थियों को वेरीफिकेशन के लिए नहीं जाना होगा हेल्प सेंटर

Multapi Samachar

आयुक्त एवं अध्यक्ष काउंसलिंग समिति, तकनीकी शिक्षा संचालनालय के द्वारा जारी समय सारणी के अनुसार इस वर्ष मध्यप्रदेश के पॉलीटेक्निक महाविद्यालयों में प्रवेश पीपीटी परीक्षा के आधार पर न होकर कक्षा 10वीं की मैरिट सूची के आधार पर होगा। इस हेतु विद्यार्थी को 10वीं कक्षा के साथ विज्ञान एवं गणित विषय में पृथक उत्तीर्ण होना आवश्यक होगा।

प्रवेश के इच्छुक विद्यार्थी 19 अक्टूबर 2020 तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर 23 अक्टूबर 2020 तक प्राथमिकता क्रम का ऑनलाइन चयन लॉक कर सकते हैं। कोविड-19 महामारी की वजह से इस वर्ष दस्तावेज सत्यापन हेतु विद्यार्थियों को हेल्प सेंटर जाने की आवश्यकता नहीं है। बैतूल सोनाघाटी स्थित शासकीय पॉलीटेक्निक महाविद्यालय में डिप्लोमा इंजीनियरिंग हेतु मैकेनिकल, इलेक्ट्रीकल, इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड टेलीकम्युनिकेशन एवं कम्प्यूटर साइंस ब्रांच संचालित की जा रही है।

बांग्लादेश में बलात्कारियों को फांसी दी जाएगी, शेख हसीना ने दी मंजूरी


asian countries News : बांग्लादेश में बलात्कारियों को दी जाएगी फांसी, शेख  हसीना कैबिनेट ने दी विधेयक को मंजूरी - bangladesh cabinet approves death  penalty in rape cases | Navbharat ...

Multapi Samachar

ढाका
बांग्लादेश में हाल ही में यौन हमलों की कई घटनाएं सामने आने पर सड़कों और सोशल मीडिया पर जनाक्रोश भड़कने के बाद मंत्रिमंडल ने बलात्कार के मामलों में अधिकतम सजा उम्र कैद से बढ़ाकर मृत्युदंड करने को सोमवार को मंजूरी दी। मंत्रिमंडलीय प्रवक्ता खांडकर अनवारूल इस्लाम ने बताया कि राष्ट्रपति अब्दुल हामिद महिला एवं बाल उत्पीड़न अधिनियम में संशोधन संबंधी अध्यादेश जारी कर सकते हैं क्योंकि संसद का सत्र नहीं चल रहा है।

पहले अधिकतम सजा उम्रकैद थी
इस संशोधन का ब्योरा तत्काल सामने नहीं आया है लेकिन इस्लाम ने कहा कि मंत्रिमंडल इस प्रस्ताव पर राजी था कि बलात्कार के मामले की सुनवाई जल्द हो। वर्तमान कानून के तहत बलात्कार के मामलों में अधिकतम सजा उम्रकैद है। हालांकि जिस मामलों में पीड़िता की मौत हो जाती है, वहां मृत्युदंड की अनुमति है।

अध्यादेश जारी कर सकते हैं राष्ट्रपति
कानून मंत्री अनीसुल हक ने कहा कि राष्ट्रपति मंगलवार को अध्यादेश जारी कर सकते हैं। हाल के सप्ताहों में हिंसक यौन हमलों के बाद राजधानी ढाका और अन्यत्र जबर्दस्त प्रदर्शन हुए। महिलाओं के अधिकारों के लिए संघर्ष करने वाले संगठन आइन-ओ-सालिश केंद्र के मुताबिक देश में जनवरी से अगस्त के बीच बलात्कार की 889 घटनाएं हुईं और कम से कम 41 पीड़िताओं की जान चली गयी।

हाल में ही भड़का था जनआक्रोश
हाल के दिनों में तब जनाक्रोश भड़का जब फेसबुक पर एक वीडियो आया और उसमें एक दक्षिण-पूर्वी जिले में कुछ लोगों को एक महिला को निर्वस्त्र करके उसपर हमला करते देखा गया है। देश के मानवाधिकार आयोग के अनुसार इस महिला से एकसाल में बार बार बलात्कार किया गया और उसे आतंकित किया गया। एक अन्य कांड में एक महिला को कार से घसीटकर कॉलेज के डॉर्मेट्री में ले जा गया और उससे सामूहिक बलात्कार किया गया।