सभी कृषि उत्पादों की एमएसपी पर खरीद करने के लिए विशेष सत्र बुलाकर कानून बनाए सरकार


Multapi Samachar

मुलताईं। न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों के खेतों की सभी फसले खरीदी करने के लिए विशेष सत्र बुलाकर कानून बनाये जाने की मांग को लेकर बुधवार की किसान संघर्ष समिति द्वारा प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौपा है । बुधवार को एमएसपी अधिकार दिवस पर किसंस के जिला उपाध्यक्ष लक्ष्मण बोरबन,महामंत्री भागवत परिहार, जौलखेड़ा के पूर्व सरपंच किशोर बढ़िए, विनोदी महाजन,मनोज पंवार के नेतृत्व में मंडी पंहुचकर सौपे ज्ञापन में बताया कि अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति की अपील पर देश के 250 किसान संगठनों के द्वारा आज 14 अक्टूबर 2020 को एमएसपी अधिकार दिवस देश भर में आयोजित किया गया है। किसान संगठनों को एमएसपी अधिकार दिवस आयोजित करने की आवश्यकता इसलिए पड़ी है क्योंकि जिन कृषि उत्पादों का एमएसपी सरकार द्वारा घोषित किया गया है उन कृषि उत्पादों की एमएसपी पर मंडी में खरीद नही होने के चलते किसानों को मजबूरी में बहुत कम दाम पर कृषि उत्पाद बेचने को मजबूर होना पड़ रहा है।
मध्य प्रदेश में सोयाबीन और मक्का का सर्वाधिक उत्पादन होता है। सोयाबीन की एमएसपी 3880 रूपये होने के बावजूद व्यापारियों द्वारा 3000 से 3300 रूपये के रेट पर खरीदी की जा रही है। जिससे किसानों को 400 से 900 रूपये प्रति क्विंटल नुकसान हो रहा है। मध्य प्रदेश में सोयाबीन का कुल उत्पादन 115 लाख टन होता है, इसका अर्थ यह है कि किसानों को केवल सोयाबीन की फसल पर अरबों रूपये का नुकसान हो रहा है । इसी तरह मक्का की एमएसपी 1850 है लेकिन मक्का 700 रुपये क्विंटल के रेट पर बिक रही है| देश भर में 272 लाख टन मक्का उत्पादन करने वाले किसानों की लाखों करोड़ की लूट हो रही है।
इस समय गेहूं 1925 रुपये समर्थन मूल्य पर बिकने की जगह 1400 से 1500 रुपये क्विंटल बिक रहा है। मध्यप्रदेश के ग्रामीण इलाकों में 1200 रुपये तक गांव में व्यापारी खरीद रहे हैं।
धान की एमएसपी 1868 रू प्रति क्विंटल है लेकिन केरल ,छत्तीसगढ़ को छोड़ कर यह रेट भी किसानों को कही नहीं मिल रहा है। किसानों के लिए यह भयावह स्थिति है क्योंकि आपकी सरकार द्वारा डीजल के दाम बढ़ा दिए जाने, महंगाई बढ़ने तथा प्राकृतिक आपदा में खेती नष्ट होने के चलते किसानों की आर्थिक हालत चरमरा गई है।
आमदनी दुगनी होने की जगह आधी होने की स्थिति बन रही है । यह हालत उन कृषि उत्पादों की है जिनकी एमएसपी जारी की गई है।
किसान संघर्ष समिति, अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति फल, सब्जी सहित सभी कृषि उत्पादों की एमएसपी पर खरीद सुनिश्चित करने तथा एमएसपी के नीचे खरीद करने वाले व्यापारियों पर मुकदमा दर्ज कर जुर्माना लगाने एवं जेल भेजने की कार्यवाही की मांग करती रही है। सरकार द्वारा किसान ,किसानी और गांव खत्म करने एवं कृषि क्षेत्र को कारपोरेट के हवाले करने के लिए तीन किसान विरोधी बिल लाए गए हैं। जिसका अध्यादेश लाने के बाद से ही देश के अधिकांश किसान संगठन विरोध कर रहे हैं क्योंकि वे न केवल मंडी और एम एस पी व्यवस्था को खत्म करने की मंशा से लागू किये है । इसके साथ साथ तीनों कानून भारत के संविधान की धारा 14 ,19 और 21 पर कुठाराघात करते हैं।
किसान संघर्ष समन्वय समिति द्वारा विरोध स्वरूप 9 अगस्त से राष्ट्रव्यापी आंदोलन की शुरुआत की गई है जो निरंतर जारी है। आपकी सरकार के द्वारा बार-बार कहा जा रहा है कि मंडी कायम रहेगी तथा एमएसपी जारी रहेगी लेकिन एमएसपी संबंधित किसी कानून के अभाव में किसानों को एमएसपी नहीं मिल पा रही है। इस कारण आज एमएसपी अधिकार कार्यक्रम देशभर में आयोजित किया गया हैं। हम एक देश मे सभी कृषि उत्पादों की घोषित एमएसपी पर खरीद चाहते हैं।
ज्ञापन के माध्यम से केंद्र सरकार से मांग की है कि अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के द्वारा संसद में प्रस्तुत लाभकारी मूल्य गारंटी बिल को संसद का विशेष सत्र बुलाकर पारित करें ।जिससे कि न्यू इंडिया में किसानों की आत्महत्याओं एवं किसान,किसानी और गांव को नष्ट होने से रोका जा सके।

BRAKING NEWS किसान ने घर के पीछे खेत मे लगाकर रखे थे गांजे के पेड़,एसडीओपी ने मौके पर पहुचकर की कार्रवाई


25 हजार रुपए के गांजे के 58 पेड़ खेत से उखाड़कर किए जब्त

MULTAPI SAMACHAR

मुलताईं।थाना क्षेत्र बोरदेही के ग्राम तरोडा बुजुर्ग में एक किसान द्वारा अपने घर के पीछे खेत मे गांजे के पेड़ लगाकर रखे थे। सूचना मिलने पर एसडीओपी नम्रता सोंधिया द्वारा मौके पर पहुचकर बोरदेही एवं मुलताईं पुलिस के सहयोग से आरोपी के घर के पीछे खेत मे लगें गांजे के 58 पेड़ आरोपी के सामने उखड़वाकर जब्त किए है। जब्त गांजे की कीमत 25 हजार रुपए होना बताई जा रही है। गौरतलब है कि जिला पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद के निर्देशन में जिले भर में पुलिस द्वारा अपराधों पर नियंत्रण लगाने के लिए अच्छी कार्रवाई की जा रही है।

मंगलवार को मुलताईं एसडीओपी नम्रता सोंधिया द्वारा बोरदेही क्षेत्र के ग्राम तरोडा बुजुर्ग में आरोपी के घर की पीछे खेत से गांजे के पेड़ जब्त किए है।एसडीओपी नम्रता सोंधिया ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम तरोडा बुजुर्ग में एक ग्रामीण द्वारा घर के पीछे खेत मे गांजे के पेड़ लगाए है। सूचना मिलने पर एसडीओपी नम्रता सोंधिया बोरदेही थाने के उपनिरीक्षक नेपाल सिंह ठाकुर,ए एसआई शेरसिंह परते,आरक्षक विवेक,सुभाष,राधेश्याम,सेवाराम एवं मुलताईं थाने से प्रधान आरक्षक महेश,आरक्षक संजीत जाट,नीलेश सोनी,अग्नेश चौरे,रामानंद,गोपाल, मंगेश,ग्राम तरोडा बुजुर्ग आरोपी होशियार सिंह पिता झलक मरकाम 50 साल के घर के पीछे पहुचे तो आरोपी पुलिस को देखकर इधर उधर होने की कोशिश कर रहा था। जिससे नाम पता पूछकर तलाशी ली गई तो आरोपी के पास से कुछ नही मिला।

आरोपी के घर के पीछे खेत मे तलाशी लेने पर गांजे के 58 पेड़ लगे हुए दिखाई दिए।जिसे पुलिसकर्मियों द्वारा उखाड़कर गांजे का वजन करने पर 2 किलो 20 ग्राम निकला। जिसकी कीमत 25 हजार रुपए होना बताई जाती है। पुलिस द्वारा गांजा जब्त कर आरोपी होशियार सिंह पिता झलक मरकाम के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार किया है।

6 साल से फरार दुर्घटना के मामले का स्थाई वारंटी पकड़ाया


मुलताई सिविल कोर्ट में पेस जमानत हुई खारिज

Multapi Samachar

मुलताईं। थाना क्षेत्र में दुर्घटना के मामले में फरार चल रहे 6 साल से फरार एक स्थाई वारंटी को मुलताईं पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी मुलताईं के न्यायालय में पेश किया है।टीआई सुरेश सोलंकी ने बताया कि न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी मुलताईं के न्यायालय में विचाराधीन दुर्घटना प्रकरण में आरोपी अजय पिता अजाबराव कवड़कर 38 वर्ष निवासी नेहरूवार्ड मुलताईं के पेशी पर नही जाने के कारण से न्यायालय द्वारा वर्ष 2014 में स्थाई गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। जिसके चलते पुलिस को आरोपी अजय की तलाश थी।मंगलवार को पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली की आरोपी अजय अपने घर आया हुआ है।सूचना मिलने पर टीआई सुरेश सोलंकी,प्रधान आरक्षक राजेन्द्र सराठे, आरक्षक मिथिलेश,अविनेश,शिवम मीणा ,मंगेश मौके पर पहुचे और घेराबंदी कर आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया है।

cmho धाकड़ नर्स सुष्मिता के बिच क्‍या संबध थे? पुलिस करेगी सुष्मिता के परिजनों के सामने पड़ोसियों के बयान दर्ज


हादस या हत्‍या नर्स सुष्मिता की कार एक्‍सीडेंट पुलिस कर रही गहन जाच पडताल

डॉ धाकड़ व सुष्मिता की कार दुर्घटना स्थल का पुलिस ने किया रिक्रिएशन सुष्मिता के परिजनों के सामने पुलिस करेगी पड़ोसियों के बयान दर्ज   

पिता को हो रहा सक, डॉ धाकड क्‍वाटर पर जाया करते थे क्‍यों?

डॉ धाकड़ पर कोई भी मामला दर्ज नही

बैतूल मप्र- रविवार की रात जिला अस्पताल के मुख्य स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी प्रदीप धाकड़ व स्टाफ नर्स सुष्मिता गौतम की कार दुर्घटना ग्रस्त हुई थी जिसमे नर्स सुष्मिता की इलाज के दौरान मौत हो गई थी| कार दुर्घटना की जांच पुलिस कर रही है साथ ही सुष्मििता के पड़ोसी यो से भी पुलिस पूछताछ  करेगी की डॉ धाकड़ सुष्मिता के घर आते जाते थे|  

पुलिस की टीम ने और बारीकी से दुर्घटना स्थल पर जांच की है सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिस स्विफ्ट कार क्रमांक MP49- C 4249 में डॉ धाकड़ और नर्स सुष्मिता थे कार को किसी भी अन्य वाहन ने टक्कर नही मारी थी तेज रफ्तार कार  डॉ धाकड़ से अनियंत्रित हुई थी और सड़क से उतरकर सड़क की साइड पटरी पर चली गई और पलट गई थी|

पहली पलटी में ही कार की छत पुलिया से टकराई और फिर दुसरीं पलटी में सीधे नाले में गिर गई होगी जब पहली पलटी में पुलिया से कार की छत टकराई  थी तभी सुष्मिता को गम्भीर चोट लगी हालांकि पुलिस हर एंगल से जांच ही रही है डॉ धाकड़ ने पुलिस को अपने बयान में कहा है कि ट्रक का लाइट सामने से पड़ा और ट्रक ने टक्कर मारी | 

दुर्घटना ग्रस्त कार का इंसयोरेन्स भी नही है स्विफ्ट कार जो कि सीएमएच ओ के भाई सुरेंद्र धाकड़ के नाम से  रजिस्टर्ड है और कार का इंसयोरेन्स भी समाप्त हो चुका है मप्र परिवहन विभाग के पोर्टल पर  यूनाइटेड इंडिया इंसयोरेन्स जबलपुर से बीमा जारी होने की तारीख 25-5-2019 से 25-5-2020 तक ही दिखा रहा है बीमा रिन्यू की नई तारीख नही दिखाई दे रहा इसका मतलब कार का बीमा भी 25 मई को ही समाप्त हो गया है हो जानकारों के अनुसार यह भी सकता हो परिवहन विभाग का पोर्टल अपडेट न हो पोर्टल के हिसाब से तो बीमा समाप्त हो गया |सीएमएचओ धाकड़ की गलती से ही कार दुर्घटनाग्रस्त हुई जिसमें नर्स सुष्मिता की मौत हुई है | पुलिस ने अभी तक डॉ धाकड़ पर कोई भी मामला दर्ज नही किया है |

इनका कहना 

सीएमएचओ प्रदीप धाकड़ नर्स सुष्मिता के क्वाटर पर आते जाते थे ऐसी जानकारी लगी है गुरुवार को मृतका सुष्मिता गौतम के परिजन बैतूल आ रहे है उनकी मौजूदगी में सुष्मिता के पड़ोसियों के बयान लिए जाएंगे

संतोष पन्द्रे टी आई कोतवाली बैतूल

Betul News सांसद की अनुशंसा से 65 करोड की 112 नल जल योजनाएं स्वीकृत


Multapi Samachar

बैतूल। क्षेत्रीय भाजपा सांसद दुर्गादास उइके की अनुषंसा पर राज्य शासन ने जल जीवन मिषन अंतर्गत बैतूल जिले में 112 नल जल योजनाओ के लिए लगभग 65 करोड रू. (6509.52 लाख रू.) स्वीकृत किए गए है। इन नल योजनाओ से 31 हजार 529 नल कनेक्षन प्रस्तावित है। प्राप्त जानकारी के अनुसार आमला विधानसभा के आमला ब्लाक में हसलपुर (लक्ष्मण नगर योजना) 11.27 लाख रू., रम्भाखेडी (केदारखेडा योजना ) 25.03 लाख रू. , बोथिया ब्राम्हणवाडा 27.44 लाख रू., जम्बाडीखुर्द (सेमरिया खुर्द) 28.97 लाख रू. ठानी (खतेडा योजना ) 32.33 लाख रू. रानीडोगरी 34.29 लाख रू., ससुन्द्रा 35.00 लाख रू., ठानी 35.42 लाख रू. रंभाखेडी 35.42 लाख रू, अम्बाडा 35.42 लाख रू, जम्बाडीखुर्द 36.03 लाख रू, हसलपुर 39.05 लाख रू, बाबरबोह 40.23 लाख रू., रमली 41.16 लाख, अंधारिया 41.22 लाख रू., खेडलीबाजार 88.37 लाख रू, नरेरा 108.49 लाख, आमला विधासभा के घोडाडोगरी ब्लाक के छतरपुर 35.42 लाख रू. मुलताई विधानसभा के मुलताई ब्लाक के जामगांव (गोपालतलाई योजना) 12.77 लाख रू., बानूर (उमनपेठ योजना) 19.83 लाख, सोनोरा (खडआमला )19.91 लाख रू, गौला (रावा योजना ) 22.67 लाख रू, बानूर 33.59 लाख रू, सोनोरा 34.76 लाख रू. वलनी (पारेगांव योजना) 38.03 लाख रू, गौला 49.26 लाख , वलनी 49.77 लाख, खेडीकोर्ट 174.81 लाख , हेटी 54.74 लाख, सर्रा 64.75 लाख, प्रभात पटटन ब्लाक के खडकी (सावरी योजना) 7.11 लाख , खडकी (घाना योजना) 10.91 लाख, खेडीरामोसी (चिचखेडा योजना ) 14.42 लाख, गाडरा (बिछुआ योजना)16.34 लाख, गंगापुर (कुम्भीखेडा योजना ) 16.82 लाख, खेडीरामोसी (जामगांव योजना) 18.96 लाख, गंगापुर (सिरखेड योजना) 20.59 लाख, गंगापुर 25.42 लाख, खेडीरामोसी 29.37 लाख, तिवरखेड 49.46 लाख, नरखेड 105.66 लाख, वंडली 77.24 लाख, घोडाडोगरी विधानसभा के घोडाडोगरी ब्लाक मेंढापानी (मर्दवानीमाल) 57.65 लाख, दुधावानी 59.88 लाख, सिवनपाट (कटंगी येाजना) 72.74 लाख, सलैया 76.96 लाख, रानीपुर 77.33 लाख, बांसपुर 83.67 लाख, पाढर 139.95 लाख, घोडाडोगरी 282.99 लाख, झोली (झोली नं.2 योजना) 31.26 लाख, हीरापुर (हीरापुर 2 योजना) 42.75 लाख, फूलगोहान (खकरा कोयलारी योजना) 42.96 लाख , चिचोली ब्लाक के कुरसना (आलमगढ योजना) 53.38 लाख, दुधिया 60.82 लाख , आलमपुर 66.17 लाख, चुनाहजूरी 79.22 लाख, नसीराबाद 90.17 लाख, चुडिया 100.52 लाख, चिरापाटला 133.85 लाख, जोगली 134.35 लाख, शाहपुर ब्लाक के बीजादेही 53.47 लाख, धपाडा ( धपाडामाल योजना ) 76.98 लाख, भौरा 154.87 लाख, सिलपटी 91.05 लाख, कुण्डी (बाकाखोदरी योजना ) 34.6 लाख,  शाहपुर (बरबटपुर योजना) 40.18 लाख, कुप्पा  49.16 लाख, बैतूल विधानसभा के बैतूल ब्लाक के सेहरा 155.90 लाख, आठनेर ब्लाक के पाढुर्णा 2.46 लाख, सावंगी 7.07 लाख, बरखेड (जामापाटी योजना) 14.05 लाख, माण्डवी 16.46 लाख, धनोरा (टिपनापुर योजना) 20.46 लाख, कोयलारी (राबडया योजना) 26.29 लाख, पाढुर्णा (पातरा योजना) 28.87, बोरगांव (जूनावानी योजना) 30.59 लाख, सातनेर 41.29 लाख, भैसदेही विधानसभा के भीमुपर ब्लाक के चांदू 59.69 लाख, सिंगारचावडी 68.64 लाख, दामजीपुरा 83.51 लाख, कुण्डबकाजन 86.41 लाख, कासमारखांडी 89.74 लाख, रतनपुर 90.80 लाख, चिल्लौर 98.50 लाख, पलस्या 110.85 लाख, झापल 111.00 लाख, रंभा 146.93 लाख, पिपरिया 161.58 लाख, रातामाटी 168.74 लाख, भीमपुर 195.15 लाख, चुनालोहमा 239.72 लाख,, भैसदेही ब्लाक के घुडियानई 9.63 लाख, चिल्कापुर (गुदगांव योजना) 19.89 लाख, विजयग्राम ( बालनेर योजना) 21.8 लाख, काटोल 29.89 लाख, देडपानी (काबरारैयत) 30.02 लाख, घुडिया नई ( बडगांव योजना) 33.84 लाख, बोरगांव ( लायवानी योजना ) 43.66 लाख , देडपानी 47.81 लाख, पारडी 48.27 लाख, बोथिया ( सायगोहान योजना) 48.74 लाख, विजयग्राम 49.02 लाख, नवापुर 49.08 लाख, सावलमेंढा 49.68 लाख, भैसदेही ( गारपठार योजना ) 61.77 लाख, भैसदेही विधानसभा के अंतर्गत आठनेर ब्लाक के बाोथी ( कोकाढाना योजना) 5.57 लाख, टेमनी ( धावडी योजना ) 6.07 लाख, मेंढा छिंदवाड 13.39 लाख, अक्कलवाडी ( चैगढ योजना ) 24.75 लाख, कावला 27.64 लाख, हिडली 49.89 लाख

मुलताई में ब्लू गैंग का किया गया गठन


अवैध शराब बिक्री पर लगेगी रोक

मुलतापी समााचार

मुलताई । पुलिस अधीक्षक महोदय के द्वारा बैतूल जिले में किए गए नवाचार के तहत श्रीमान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय के निर्देशन में थाना मुलताई में ब्लू गैंग टीम का गठन किया गया इस टीम के गठन का मुख्य उद्देश्य अवैध शराब बिक्री पर रोक लगाने एवं जनता को जागरूक करने हेतु जागरूक कार्यक्रम करना है ।

Baba Ramdev हाथी पर बैठकर योग, नीचे गिरे, नीचे गिरे, मथुरा के आश्रम का Video Viral


योग करते समय बाबा रामदेव हाथी के ऊपर से गिरे

Baba Ramdev Viral Video:

योग गुरु बाबा रामदेव योग करने का कोई मौका नहीं छोड़ते हैं। जहां भी हो, वे योग करना शुरू कर देते हैं और लोगों को इसके लिए प्रेरित करते हैं। मथुरा में ऐसे ही एक मौके पर Baba Ramdev हाथी पर बैठकर योग कर रहे थे। तभी एक हादसा हो गया। योग करते समय हाथी थोड़ा हिला डूला तो Baba Ramdev का संतुलन बिगड़ गया और वे हाथी से नीचे गिर गए। यह आयोजन एक आश्रम में हो रहा था। हालांकि Baba Ramdev इतने एक्टिव हैं कि उन्होंने तत्काल हालात संभाल लिए। वे गिरने के तत्काल बाद खड़े गए है और ठहाका लगाकर हंंसने लगे। Baba Ramdev का यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। आप भी देखें।

वीडियो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर जबरदस्त कमेट्स आ रहे हैं। बाबा रामदेव जिस तेजी के साथ अपने पैरों पर खड़े हुए, उसकी भी तारीफ हो रही है। यूजर्स लिख रहे हैं कि ऐसा केवल बाबा रामदेव कर सकते हैं। एक अन्य यूजर ने लिखा, योग करें मगर सावधानी से , संतुलन खराब होने से शरीर को नुकसान भी हो सकता है, बाबा रामदेव #हाथी पर #योग करते हुए, वैसे हाथी से गिरे फिर भी बच गए।