‘जेब में चाकू रखें लड़कियां, हमलावर को मार डालें’, UP के मंत्री का सुझाव


यूपी में बड़े पैमाने पर शक्ति मिशन चल रहा है. इस अभियान के जरिये योगी सरकार हर बेटी-हर महिला के सम्मान और सुरक्षा सुनिश्चित करने की प्रतिबद्धता जता रही है लेकिन इसी कार्यक्रम में यूपी के एक मंत्री ने ये कह डाला कि लड़कियों को अपनी सुरक्षा के लिए चाकू रखना चाहिए. मंत्री ने लड़कियों को यहां तक सुझाव दिया कि आत्मरक्षा में वो हमलावरों को मार डालें. देखें

bRAKING News: बैतूल जिला अस्पताल के गेट पर ही बच्चे को जन्म दिया प्रसूता ने, फर्श पर हो गया प्रसव, जिला अस्‍पताल में हो रही बडी लापरवाही


आरोप है कि जिला अस्‍पताल के कर्मचारी मरीजों की नही करते परवाह, न ही मरीजों का सही से इलाज करते है

मरीजों को करते है अंदेखा

नर्सों को कहने पर बदतमीजी करनेे लगती हैै

आये दिन जिला अस्‍पताल प्रबंधन पर लग रहें है गंभीर अरोप

मुलतापी समाचार

Betul News

District Hospital Betul

जिला अस्पताल में डाक्टर समेत स्वास्थ्यकर्मियों की बड़ी लापरवाही सोमवार रात 11 बजे सामने आई है। यहां प्रसव के लिए पहुंची एक गर्भवती को समय पर भर्ती नहीं किया गया, जिसकी वजह से उसने प्रसूति वार्ड के गेट पर ही बच्चे को जन्म दे दिया। फर्श पर पड़े नवजात को बिलखता और प्रसूता को बेहोश अवस्था मे देखकर आसपास मौजूद लोगों ने जब शोर मचाया और इसका विरोध किया तब जाकर प्रसूति वार्ड के स्टाफ ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया।

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो थोड़ी देर प्रसूता को अस्पताल में नहीं भर्ती किया जाता तो उसकी जान भी जा सकती थी। इस मामले में 108 एम्बुलेंस, सुरक्षा गार्ड, वार्ड बॉय सहित ड्यूटी डॉक्टर की लापरवाही सामने आ रही है। सीएमएचओ प्रदीप धाकड़ ने बताया कि मामला गंभीर है, वे स्वयं अस्पताल जाकर जांच करेंगे।

दरअसल बैतूल से 12 किमी दूर बोड़ी गांव की वृद्धा मुन्नी बाई प्रसव पीड़ा से तड़पती अपनी बेटी को लेकर 108 एम्बुलेंस से जिला अस्पताल पहुची थी। गांव से आशा कार्यकर्ता ने भी उसे अकेले भेज दिया। एम्बुलेंस चालक ने गर्भवती को प्रसूति वार्ड के गेट पर ही उतार दिया और वृद्ध महिला को पर्ची बनवाने के लिए ट्रामा सेंटर से दूर मुख्य अस्पताल भेज दिया। इस बीच गर्भवती गेट पर ही आधे घंटे तक तड़पती रही और गेट के बाहर ही बच्चे को जन्म दे दिया। समय पर उपचार नहीं मिल पाने के कारण उसका काफी रक्तस्राव भी हो गया जिससे वह बेहोश हो गई।

जिला अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती मरीजों के परिजनों और अन्य लोगों की नजर जब प्रसूता पर पड़ी तो उन्होंने हंगामा कर दिया, जिसके बाद नींद से जागे अस्पताल प्रशासन ने प्रसूता को भर्ती कराया। ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर रंजीत राठौर का कहना है कि 108 एंबुलेंस चालक की लापरवाही है। जब मरीज की कंडीशन सीरियस थी तो चालक को इसकी जानकारी स्टाफ को देनी थी लेकिन वह प्रसूता को गेट पर ही उतार कर भाग गया। अस्पताल के सिविल सर्जन अशोक बारंगा का कहना है कि उन्हें इसकीं जानकारी नही है, ऐसा हुआ है तो पता लगाते है किसकी गलती है।

Bhopal News सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना मुश्किल ही नही नामुकिंन है,- कहा समिति ने : भेल दशहरा मैदान में नहीं होगा रावण दहन:


  • अन्य जगह… कहीं पर सीमित लोगों को एंट्री, तो कहीं पर सिर्फ समिति सदस्य ही रहेंगे माैजूद
  • इस बार छोला को छोड़ कहीं भी नहीं निकलेगा चल समारोह, बिट्‌टन मार्केट में कैसे मनेगा दशहरा, बैठक के बाद लेंगे निर्णय

विजया दशमी 26 अक्टूबर को है। शहर में करीब 13 प्रमुख स्थानों पर रावण दहन होता है, लेकिन भेल (गोविंदपुरा) दशहरा मैदान में इस बार रावण दहन नहीं होगा। गोविंदपुरा दशहरा महोत्सव समिति का कहना है कि ऐसे हालात में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना मुश्किल है। वहीं बिट्‌टन मार्केट में दशहरा उत्सव को लेकर बैठक में निर्णय होना बाकी है। इसके अलावा शहर में दशहरा उत्सव मनाया जाएगा, लेकिन छोटे रूप में।

शहर में सबसे बड़ा रावण कलियासोत में बनाया जाएगा, जिसकी ऊंचाई 50 फीट रहेगी। इसके साथ मेघनाद और कुंभकर्ण के 30-30 फीट के पुतले बनाए जाएंगे। समितियाें का कहना है कि एक-दो अतिथियोंं को छोड़कर हमने किसी आमजन को आमंत्रित नहीं किया है, सिर्फ समितियों के सदस्य ही उत्सव में शामिल रहेंगे। इधर, बागमुगालिया, नयापुरा कोलार रोड, कोहेफिजा, गांधी नगर, विजय नगर लालघाटी, करोंद, अयोध्या बायपास व नेवरी दशहरा मैदान में भी सादगी के साथ दशहरा मनाया जाएगा।

शहर में इन प्रमुख स्थानाें पर होता है रावण दहन… समितियों ने कहा- सावधानी के साथ निभाएंगे परंपरा

  • बिट्टन मार्केट...अरेरा उत्सव समिति के अध्यक्ष राजेश व्यास ने बताया कि जल्द बैठक कर निर्णय लेंगे कि दशहरा कैसे मनाएंगे।
  • छोला… हिंदू उत्सव समिति के अध्यक्ष कैलाश बेगवानी ने बताया कि 25 फीट के मेघनाद, कुंभकर्ण के पुतलों का दहन भी किया जाएगा। समिति के लोग ही मौजूद रहेंगे।
  • टीटी नगर… नागरिक कल्याण समिति के राजेश वर्मा सोनी ने बताया कि केवल कुछ अतिथि और समिति के लोग ही आयोजन में उपस्थित रहेंगे।
  • भेल, गोविंदपुरा… गोविंदपुरा दशहरा महोत्सव समिति ने इस बार दशहरा नहीं मनाने का निर्णय लिया है। पिपलानी रामलीला समिति के महामंत्री एसपी साहू व गोविंदपुरा समिति के सुभाष पगारे ने बताया कि भेल प्रबंधन से चर्चा के बाद यह फैसला लिया है।
  • कोलार… आयोजन समिति के रवींद्र यति ने बताया कि आयोजन केवल प्रतिकात्मक रूप से ही होगा। समिति के लोग ही मौजूद रहेंगे।
  • बैरागढ़… नवयुवक सभा समिति के उपाध्यक्ष वासुदेव वाधवानी ने बताया कि परंपरा कायम रहे, इसलिए समिति के लोग ही उपस्थित रहेंगे।
  • अशोका गार्डन… दशहरा उत्सव समिति के अध्यक्ष पप्पू राय ने बताया कि आयोजन में शासन की गाइडलाइन का पालन करते हुए बहुत कम लोग ही शामिल किए जाएंगे।
  • जंबूरी मैदान… भेल हिंदू उत्सव समिति के संरक्षक नरेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि समिति आमजन को आमंत्रित नहीं करेगी।
  • अवधपुरी… दशहरा उत्सव समिति के संरक्षक गणेशराम ने बताया कि कोविड गाइडलाइन का पालन करेंगे।
  • एमवीएम… सांस्कृतिक उत्सव समिति के अध्यक्ष कृष्णकांत चौरसिया ने बताया कि समिति कुछ अतिथियों को ही बुलाएगी।
  • कलियासोत… जनश्री कल्याण समिति के तत्वावधान में यहां दशहरा मनाया जाएगा। अध्यक्ष रामदयाल प्रजापति ने बताया कि रावण के अलावा कुंभकर्ण और मेघनाद के 30-30 फीट ऊंचे पुतले रहेंगे। गेट पर सैनिटाइजर की व्यवस्था की जाएगी।
  • शाहपुरा… दशहरा उत्सव समिति के अध्यक्ष भारत सिंह पाल ने बताया कि इस बार मैदान में केवल 200 लाेगों के बैठने के लिए ही व्यवस्था की जाएगी।