महा आरती का आयोजन कार्तिक पूर्णिमा के पावन अवसर पर ताप्ती तट माक्स एवम सोसाल डिस्टनसिंग के साथ


कोरोना कोविद 19 वायरस के कारण महाआरती आयोजन समिति ने आयोजन पर रोक लगा रखी थी, जिसे कल दिन सोमवार शाम को कार्तिक पूर्णिमा के पावन अवसर पर महाआरती करने का निर्णय लिया गया है , साथ ही महाआरती आयोजन समिति ने ताप्ती भक्तो से आरती में माक्स के साथ, शोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का आग्रह किया।

कार्तिक पूर्णिमा के पावन एवं मंगल पर्व पर कल दिनांक 30 नवम्बर को शाम 5 बजे से माँ ताप्ती तट पर सुन्दरकाण्ड एवं महाआरती का आयोजन होने जा रहा है हम सभी महाआरती मे पहुच कर पुण्यलाभ प्राप्त करे।

कृपया सोशलडिस्टेन्श एवं मास्क का प्रयोग करके पधारे ।

निवेदक: सूर्यपुत्री माँ तापी उद्गम स्थल सेवा समिति ( श्री क्षेत्र मूलतापी)

बीमा पॉलिसी नहीं भरपने पर भी बंद नही होंगी, प्रीमियम राशि भी कम कर सकते है


अब किस्त नहीं देने पर बीमा पॉलिसी नहीं होगी बंद

कोरोना वायरस की वजह या ज्यादा खर्च की वजह से अधिकांस लोग बीमा पॉलिसी की किस्त समय पर नहीं भर पा रहे हैं, इसलिए बीमा कंपनियों ने इसमें बदलाव कर दिया है, जिसके मुताबिक अब 5 सालों के बाद बीमाधारक प्रीमियम की राशि को 50% तक घटा सकता है, यानी कि वह आधी किस्त के साथ ही पॉलिसी जारी रख सकता है।

रक्तदान शिविर में आदिवासी समाज के युवाओं ने बढ़-चढ़कर के भाग लिया, जनजाती गौरव सप्ताह के रूप में मनायेेेेगें


आज जन जाती विकास मंच द्वारा रक्तदान शिविर लगाया गया जिसमें आदिवासी समाज के युवाओं ने बढ़-चढ़कर के भाग लिया यह रक्तदान शिविर जनजाती गौरव सप्ताह के उपलक्ष में मैं मनाया गया जिसमें जनजाती समाज के युवा सेवा भावी नागरिक अन्य समाज के युवाओं की गरिमा मयी उपस्थिति में रक्तदान का कार्यक्रम किया गया

पूर्व में भी जनजाति गौरव सप्ताह के अंतर्गत बेतुल ज़िले के लगभग 9०० गाँव में भारत माता आरती एवं जनजाति समाज के वीर पुरुष , समाज सुधारक जैसे रानीदुर्गावती, टंट्या मामा भिल, भगवान बिरसा मुंडा, झलकारी बाई के जीवन चरित्र के बारे में लोगों को बताया गया जिससे अपने समाज के महापुरुषों की गौरव गाथा को जानकार समाज में काफ़ी उत्साह का माहौल उत्पन्न हुआ। रक्तदान करने में अहम भूमिका आदिवासी युवाओं की थी जिसमें अभिषेक परते गोलू उइके देवेंद्र धुर्वे विजय मसराम नीलू कुमरे दिलीप परते एवं अन्य आदिवासी युवा उपस्थित हुए एवं 25 से 30 यूनिट रक्तदान किया गया

12 घण्टे से पीएम कराने मृत बेटी को सीने से लगाकर अस्पताल में बैठे रही नाबालिग मां,लिखा पढ़ी में ढला दिन,


यह खबर आपको झकझोर देगी की किस तरह जिला अस्पताल प्रशासन की संवेदनाएं मर गई है ।

मुलतापी समाचार

बैतूल ।जिला अस्पताल में एक नाबालिग मां अपनी मृत बच्ची को सीने से लगाकर 12 घण्टे इन्तेज़ार करती रही कि कोई तो उसका पुरसाने हाल पूछेगा ।कोई तो मदद के लिए आएगा ।कोई तो मृत बच्ची ओर उसे उसके गांव तक छुड़वायगा । भूखे प्यासे उसने एक जगह बैठे बैठे ही पूरा दिन बिता दिया ।सिपाही आया तो वह भी 3 घण्टे तक डॉक्टरों को ही ढूंढता रहा । यह मामला आज का ही है ।जिला अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड के सामने बीते बारह घण्टे से अपनी मृत बच्ची को लेकर बुआ के साथ बैठी नाबालिग मां का है । आमला थाना क्षेत्र के की आदिवासी युवती के पिता ने मार्च में गांव के ही सजातीय युवक की थाने में शिकायत की थी कि उसकी बेटी के साथ युवक ने दुराचार किया है ।दुराचार की शिकायत के बाद युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जंहा से उसे जेल भेज दिया गया फिलहाल युवक जेल में है । इधर दुराचार की शिकार नाबालिग मां बन गई । युवती ने गांव में ही 4 दिन पूर्व बच्ची को जन्म दिया बच्ची 7 माह की थी इसलिए उसे जिला अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड में भर्ती रखा गया जंहा आज सुबह लगभग 5 बजे मौत हो गई ।

सुबह पांच बजे से शाम पांच बजे तक नाबालिग मां इस इन्तेज़ार में भूखे प्यासे अपनी बुआ के साथ बैठे रही । पीड़ित की बुआ ने बताया कि सुबह से बैठे है लेकिन कोई यह नही बता रहा कि हम को गांव कब और कौन छोड़ेगा ।यह पूछने पर की सुबह से खाना खाया या नही तो उनका जवाब था कि खाना तो आया था लेकिन लिखा पढ़ी में खाना नही ले पाए इस लिए भूखे ही बैठे हुए है सुबह चाय भर पी थी । मौके पर मौजूद प्रत्यक्ष दर्शी के मुताबिक डॉक्टरों ने मृत बच्ची का वजन किया आधार कार्ड अन्य कागज़ात देखे तब जाकर पूरी लिखा पढ़ी की गई शाम लगभग 5 बजे मृत बच्ची को पोस्टमार्टम के लिये भेजा गया ।तब तक भी किसी डॉक्टर या स्टाफ ने मानवता नही दिखाई किसी ने यह भी न पूछा कि सुबह से तुमने खाया या नही कुछ मिला या नही ।

इनका कहना है । मृत बच्ची का डीएनए टेस्ट होना था कागज़ी कार्यवाही में समय लगता है ।सिपाही डॉक्टर को नही ढूढ़ पाया यह उसकी गलती है ।ड्यूटी डॉक्टर की कोई लापरवाही नही है उसके लिए केसुअलटी पहली प्राथमिकता है ।इसमें प्रबंधन की कोई लापरवाही नही है ।

डा अशोक बारंगा सिविल सर्जन जिला अस्पताल बैतूलई

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ श्रद्धांजलि देने पहुंचे बैतूल, डागा परिवार से करी भेट


बैतूल। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आज एक दिवसीय दौरे पर बैतूल पहुंचे थे. यहां वे वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक विनोद डागा को श्रद्धांजलि देने पहुंचे. पूर्व विधायक विनोद डागा की 12 नवंबर को दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गई थी. उनकी मौत के बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ शोकाकुल परिवार से मिलने आएंगे. कमलनाथ हैलीपैड से सीधे डागा हाउस पहुंचे. शोकाकुल परिवार से करीब आधा घंटे मिले. श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बैतूल विधायक निलय डागा से बात की. फिर हेलीपैड के लिए रवाना हो गए.


केंद्र सरकार द्वारा पारित किसान विरोधी बिलों को रद्द कराने,कृषि उत्पादों को लागत से डेढ़ गुना दाम पर खरीद को सुनिश्चित करने की मांग को लेकर दिल्ली में किसानों की रैली में शामिल होने जा रहे कर्नाटक के किसान संगठन,कर्नाटक राज्य रैयत संघ,  कर्नाटक जनशक्ति,आशा,किसान स्वराज महिला किसान अधिकार मंच सहित अन्य  संगठनों के किसान नेताओं ने मंगलवार को बस स्टैंड पर स्थित शहीद किसान स्तम्भ पहुचकर शहीद किसानों को श्रद्धांजलि अर्पित की । जत्थे में शामिल किसान नेताओं द्वारा शहीद मनोज चौरे के स्तम्भ पर भी श्रद्धांजलि अर्पित की। श्रद्धांजलि देने के बाद जत्था इटारसी के लिए रवाना हो गया।
         जत्थे का नेतृत्व कर रही कविता श्रीनिवासन ने कहा केंद्र सरकार ने असंवैधानिक तरीके से कार्पोरेट को लाभ पंहुचाने की मंशा से तीन किसान कानून बनाए है। जो किसान विरोधी है।किसानों की स्थिति बहुत खराब है आत्महत्या करने को मजबूर हैं।बिजली संशोधन बिल 2020 किसान,आम जनता के खिलाफ है। इसलिए हम केन्द्र सरकार तक अपनी आवाज पंहुचाने दिल्ली जा रहे है। 
         छिंदवाड़ा से किसान संघर्ष समिति की प्रदेश उपाध्यक्ष आराधना भार्गव ने कहा सभी कृषि उत्पादों की लागत से डेढ़ गुना दाम पर खरीद सुनिश्चित की जानी चाहिए। नए किसान कानून से जमाखोरी के साथ महंगाई भी बढ़ेगी। इसका खामियाजा किसान,मजदूर और आम जनता  को भुगतना पड़ेगा। ठेका खेती कानून से किसान ,किसानी और गांव का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। समिति के जिलाध्यक्ष जगदीश दोड़के ने कहा देश भर के 300 से ज्यादा किसान संगठनों के व्यापक समन्वय अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर  26 नवम्बर को देशव्यापी मजदूर-किसान हड़ताल और 26 और 27 नवम्बर को देश में अभूतपूर्व किसान आंदोलन होने जा रहा है । 26 नवंबर को करीब 10 लाख से ज्यादा किसान दिल्ली पहुंचेंगे। किसानों के आंदोलन का मजदूर संगठनों ने भी समर्थन किया है।  26 नवंबर को होने वाली मजदूर हड़ताल का किसान संगठनों ने समर्थन किया है। इस तरह से पहली बार देश के किसान और मजदूर एक साथ केंद्र की सरकार के खिलाफ सड़कों पर आंदोलन कर रहे हैं।इस दौरान किसान संघर्ष समिति के लक्ष्मण बोरबन,डखरू महाजन,अजाबराव बनखेड़े,शेषराव बनखेड़े, मोटू गढ़ेकर,तीरथसिंह,भागवत परिहार,भीमसेन पंवार सहित क्षेत्र के किसान शामिल थे।

दुनावा ऑटो से महुआ की अवेध शराब लेकर आये 3 युवकों सहित पकड़ा


मुलताई पुलिस अवेध शराब सहित ऑटो को पकड़ा

ऑटो से कच्ची महुआ की शराब का परिवहन करते 3 युवक पकड़ाए

ऑटो जब्त,तीनों युवकों पर केस दर्ज

ऑटो से कच्ची शराब का अवेध परिवहन कर रहे 3 युवकौं को पुलिस द्वारा कामथ तिराहे पर वाहनों की चेकिंग के दौरान पकड़ने मे सफलता हासिल की है।  टीआई सुरेश सोलंकी ने बताया सोमवार  रात मे मुखबिर से सूचना मिली कि तीन युवक ग्राम दुनावा की ओर से ऑटो से शराब लेकर आ रहे हैं। सूचना पर सहायक उपनिरीक्षक एमएल गुप्ता, आरक्षक शिवम,सुनील,मिथिलेश,वाहन चालक प्रधान आरक्षक रविन्द्र नागले ग्राम कामथ तिराहे पर पहुंचे। और वाहनों की जांच कर रहे थे। इस दौरान सामने से आ रहे ऑटो को रोकने का प्रयास किया तो ऑटो चालक ऑटो लेकर  भागने लगा जिसे घेराबंदी कर रोका। चालक ने अपना नाम पवन पिता सुरेश पवार 26 साल निवासी गांधी वार्ड निवासी बताया उसके साथ नवीन पिता गणेश एवं अंकुश पिता शंकर निवासी गांधी वार्ड भी ऑटो में सवार थे। ऑटो में जांच के दौरान  दो बड़े ट्यूब मे और चार केन में अवैध कच्ची शराब भरी थी। पुलिस द्वारा तीनों युवकों को गिरफ्तार कर उनके पास से 9 हजार 8 सौ रूपए कीमत की 98 लीटर कच्ची महुआ शराब एवं ऑटो जब्त कर पवन,नवीन और अंकुश के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत केस दर्ज किया है।

मेजर ध्यानचंद हॉकी स्टेडियम पर हॉकी फीडर सेंटर चयन ट्रायल आयोजित


बैतूल न्यूज़

मुलतापी समाचार

जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी सुश्री मनु धुर्वे ने बताया कि जिले में मेजर ध्यानचंद हॉकी स्टेडियम पर हॉकी के प्रतिभावान खिलाडिय़ों के लिए हॉकी फीडर सेंटर 2020-21 हेतु खिलाडिय़ों का चयन ट्रायल आयोजित किया गया। फीडर सेंटर में खिलाडिय़ों के चयन हेतु 47 बालिका एवं 60 बालकों ने अपना पंजीयन करवाया। खिलाडिय़ों की संख्या को देखते हुए चयन ट्रायल दो चरणों में सम्पन्न की जा रही है।

चयन ट्रायल का प्रथम चरण 24 नवंबर को आयोजित किया गया, जिसमें खिलाडिय़ों के दस्तावेजों का सत्यापन एवं फिजीकल टेस्ट लिया गया। फिजीकल टेस्ट में खिलाडिय़ों द्वारा शटल रन, फ्लाइंग स्टार्ट, रनिंग, मेडिसिन बॉल थ्रो इत्यादि परीक्षण दिया गया।

चयन ट्रायल के द्वितीय चरण में 25 नवंबर को खिलाडिय़ों का स्किल टेस्ट लिया जाएगा, जिसमें खिलाडिय़ों को ग्राउण्ड पर बॉल के साथ हिट, स्लेप, ड्रिब्लिंग, स्कूल इत्यादि परीक्षण देना होगा एवं अंत में एक प्रेक्टिस मैच द्वारा खिलाडिय़ों की अन्य स्किल्स का भी परीक्षण होगा।
फीडर सेंटर चयन ट्रायल में चयन उपरांत चयनित खिलाडिय़ों को मप्र शासन खेल और युवा कल्याण विभाग भोपाल से प्रदाय सुविधाओं का लाभ दिया जाएगा।

हॉकी फीडर सेंटर में खिलाडिय़ों के चयन ट्रायल हेतु जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी की अध्यक्षता में चयन समिति निर्धारित की गई, जिसमें प्राचार्य शासकीय एमएलबी विद्यालय बैतूल श्री नरेन्द्र सिंह ठाकुर, क्रीड़ा अधिकारी शासकीय जेएच महाविद्यालय सुश्री नीलिमा पीटर, क्रीड़ा प्रभारी शिक्षा विभाग श्री जगदीप वर्मा, पीटीआई शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मुलताई श्रीमती रश्मि बाथरे, हॉकी प्रशिक्षक श्री रिशु सिंह, जिला हॉकी संघ अध्यक्ष श्री अक्षय वर्मा, सचिव श्री जगेन्द्र तोमर एवं हॉकी प्रमोटर श्री हेमन्तचंद दुबे व सदस्य शामिल रहे।
विभाग की ओर से श्री हेमन्त विश्वकर्मा, श्री राधेलाल बनखेड़े एवं जिला प्रशिक्षक श्री महेन्द्र सोनकर द्वारा चयन ट्रायल में सहयोग दिया गया।

Betul पुरूष नसबंदी पखवाड़े के बेहतर संचालन हेतु अंतर्विभागीय समन्वय बैठक आयोजित


मुलतापी समाचार

मनीष राठौर

स्वास्थ्य विभाग द्वारा 21 नवंबर से 4 दिसंबर तक पुरूष नसबंदी पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है, जिसकी मुख्य थीम ‘‘परिवार नियोजन में पुरूषों की सांझेदारी, जीवन में लाये स्वास्थ्य और खुशहाली’’ है। सोमवार 23 नवम्बर को कलेक्टोरेट सभाकक्ष में पुरूष नसबंदी पखवाड़े के सफल क्रियान्वयन हेतु अंतर्विभागीय समन्वय बैठक कलेक्टर श्री राकेश सिंह की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक को संबोधित करते हुये कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि परिवार कल्याण कार्यक्रम में पुरूषों की भागीदारी बढ़ाई जाने हेतु सार्थक प्रयास किये जायें। कोविड-19 महामारी संबंधी दिशा निर्देशों का पालन करते हुये नसबंदी सेवा प्रदायगी निश्चित दिवसों में चिन्हित स्वास्थ्य संस्थाओं पर सतत् उपलब्ध है। परिवार के पुरूषजन आगे आएं एवं पुरूष नसबंदी का लाभ उठाएं। इस हेतु आवश्यक जानकाारियों का अन्य विभागों के माध्यम से भी प्रचार-प्रसार किया जाये। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री एम.एल. त्यागी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण मौजूद थे।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रदीप कुमार धाकड़ ने बताया कि पुरूष नसबंदी पखवाड़े का आयोजन दो चरणों में क्रियान्वयित किया जा रहा है। मोबेलाईजेशन अथवा सामाजिक जागरूकता की गतिविधियां 21 से 27 नवम्बर तक एवं सेवा प्रदायगी गतिविधियां 28 नवम्बर से 4 दिसम्बर तक जिसके तहत् 28 नवम्बर को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सेहरा, 01 दिसम्बर को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मुलताई (मुलताई एवं आमला हेतु) एवं प्रभात पट्टन, 02 दिसम्बर को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र आठनेर एवं भैसदेही, 03 दिसम्बर को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सेहरा एवं चिचोली एवं 04 दिसम्बर को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र चिचोली (भीमपुर हेतु) एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र घोड़ाडोंगरी (घोड़ाडोंगरी एवं शाहपुर हेतु) में पुरूष नसबंदी की निशुल्क सेवाएं प्रदान की जाएगी। शासन द्वारा पुरूष हितग्राहियों को क्षतिपूर्ति राशि रूपये 2000/- एवं प्रेरक को 300/-रूपये प्रदान किये जायेंगे। परिवार को सीमित करने हेतु पुरूष नसबंदी एक बेहतर विकल्प है आगे आयें एवं शासन के परिवार कल्याण कार्यक्रम में अपनी भागीदारी निभायें।