किसकी होंगी जीत ओर किसकी होंगी हार ‘कमल’ या ‘कमल नाथ’ की होंगी सरकार, जनता का फैसला मंगलवार को


मुलतापी समाचार

प्रदेश की सत्ता का भविष्य तय करने वाले 19 जिलों की 28 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए मंगलवार को मतदान किया जाएगा। इसमें 63 लाख से ज्यादा मतदाता अपने मताधिकार के जरिये तय करेंगे कि प्रदेश में ‘कमल’ की सरकार बरकरार रहेगी या कमल नाथ को ताज मिलेगा। कोरोना संकट के कारण मतदान सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक किया जा सकेगा। इस बार एक घंटे का समय बढ़ाया गया है।

अंतिम एक घंटे में सामान्य मतदाताओं के अलावा कोरोना पॉजिटिव या असामान्य तापमान वाले मतदाताओं को मतदान का अलग से अवसर दिया जाएगा। सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुख्ता इंतजाम कर लिए गए हैं। कोरोना गाइडलाइन का पालन करवाने की व्यवस्था की गई है। शाम तक 12 मंत्रियों सहित 355 प्रत्याशियों का भविष्य ईवीएम में कैद हो जाएगा।

40 फीसद मंत्रियों का भविष्य दांव पर

MP Assembly By Elections:  'कमल' की सरकार या कमल नाथ को ताज, जनता का फैसला मंगलवार को

12 मंत्रियों सहित 355 प्रत्याशियों का भविष्य ईवीएम में होगा कैद – कोरोना संकट के कारण सुबह सात से शाम छह बजे तक होगा मतदान।

MP Assembly By Elections भोपाल

उपचुनाव में शिवराज सरकार के 34 में से 40 फीसद मंत्रियों का भविष्य दांव पर है। दो पूर्व मंत्रियों (गोविंद सिंह राजपूत और तुलसीराम सिलावट) को छह माह में विधायक नहीं बन पाने के संवैधानिक प्रविधान की वजह से इस्तीफा देना पड़ा, वे चुनाव मैदान में हैं।

साथ ही 12 गैर विधायक मंत्री भी चुनाव मैदान में हैं। उपचुनाव के नतीजों से इन सभी का राजनीतिक भविष्य तय होगा। दरअसल, इन सभी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़ी थी और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। सत्ता का समीकरण साधने के लिए भाजपा ने 14 पूर्व विधायकों को मंत्री बनाया और 

National हाईवे पर पुलिस ने भेड़ बकरियों से भरा ट्रक पकड़ा 24 घंटे से खड़े ट्रक में भरी बकरियों  में  से 2 बकरियों की हुईं मौत


प्रशासन ने की कोई व्यवस्था

मुलताई news

मुलतापी समाचार

 नेशनल हाईवे से भेड़ बकरियों को भरकर जा रहे ट्रक को पुलिस ने पकड़ा। और  ट्रक को एक्सीलेंस स्कूल के खेल मैदान पर खड़ा करा दिया। 22  घंटे से अधिक समय से खेल मैदान पर खड़े ट्रक में भरी बकरियों को चारा पानी नहीं मिलने  से दो बकरियों की मौत हो गई। और तीन बकरियां अचेत हो गई।
     रविवार रात 10 बजे के दरमियान खुरई से भेड़ बकरी भरकर हैदराबाद जा रहा ट्रक फोरलेन मार्ग के बायपास से गुजर रहा था। उसी दौरान पुलिस ने ट्रक को पकड़ा और एक्सीलेंस स्कूल के खेल मैदान पर लाकर खड़ा करने के बाद ट्रक चालक को थाने में ले गया। रविवार रात भर और सोमवार पूरे दिन ट्रक खेल मैदान पर खड़ा रहा। लेकिन 24 घंटे कार्रवाई करने में  बिता दिए इस दौरान ट्रक में भरी भेड़ बकरियों के लिए पानी आदि की व्यवस्था नहीं होने से दो बकरियों की मौत हो गई। ट्रक के साथ चल रहे मजदूर संतोष किरार ने बताया कि रविवार रात 10 बजे से ट्रक खड़ा है। 

इस संबंध में थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी ने बताया कि बकरा बकरी का अवैध परिवहन करने सहित अन्य धाराओं के तहत ट्रक चालक के खिलाफ केस दर्ज कर कोर्ट में प्रस्तुत किया है। 250 बकरा बकरी और भेड़ जप्त की है। ट्रक से बकरा बकरी और भेड़ उतारने के बाद भूख प्यास से मर रही है। इसकी जवाबदारी ट्रक मालिक की है।