BJP मुख्यालय में बिहार की जीत का जश्न


मुलतापी समाचार

Bihar Election Result: बिहार में किसकी सरकार बनेगी और विपक्ष में कौन बैठेगा, आखिरकार ये तय हो गया. करीब 18 घंटे की काउंटिंग के बाद बिहार विधानसभा चुनावों के नतीजों की तस्वीर साफ हो गई. NDA 125 सीटों के साथ सत्ता बचाने में कामयाब रहा, लेकिन सबसे ज्यादा नुकसान उठाने वाली पार्टी नीतीश कुमार की जेडीयू 43 सीटों पर आ गई. वहीं, बीजेपी को 21 सीटों का फायदा हुआ और ये 74 सीटों पर पहुंच गई. इस चुनाव में आरजेडी सबसे बड़ा दल बनकर उभरा, जिसे 75 सीटें मिलीं. उसके नेतृत्व वाले महागठबंधन ने 110 सीटें हासिल कीं.

दिनभर जारी कांटे की टक्कर के बीच आखिरकार नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने 243 में से 125 सीटें जीतकर बहुमत का आंकड़ा (122) पार कर लिया. राज्य में भी नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनने जा रही है. इस बीच पीएम मोदी आज शाम 6 बजे बीजेपी हेडक्वॉर्टर पहुंचेंगे और बिहार चुनाव में जीत को लेकर कार्यकर्ताओं को संदेश देंगे.

पुलिस पर आरोप, युवक की मौत थाने मे मारपीट के कारण, पारधी समाज में आक्रोष,अंतिम संस्‍कार से किया इंंकार


Multai Samachar

मुलताई।मुलताई से 4 किलोमीटर दूर पारधी ढाने में एक पारधी की मौत हो गई। पारधियों का आरोप है कि पुलिस प्रताडऩा से पारधी ढाने में शंकर उर्फ नागराज पिता जुगरु की मौत हुई है।शंकर की पत्नी बिजली ने बताया कि 15 दिन पहले पट्टन चौकी पुलिस द्वारा शंकर पारधी से मारपीट की थी, जिसके बाद से वह बीमार था। मारपीट में उसका हाथ टूट गया था और पसलियों में दर्द था। उसके द्वारा खून की उल्टी की गई थी। पट्टन चौकी पुलिस के मारपीट करने वाले पुलिसकर्मियों ने कहा था कि वह घायल पारधी का इलाज कराएंगे, लेकिन इलाज नही कराया, पैसे भी नहीं दिए, जिसके कारण उसकी मौत हो गई।पारधियों का कहना है कि जब तक पट्टन चौकी के पुलिस कर्मियों पर कार्यवाही नहीं होगी, मृतक की अंत्येष्टि नहीं करेंगे। स्थिति देखते हुए मौके पर पुलिस बल तैनात किया गया है।

मृतक के शव को पीएम के लिए मुलताई अस्पताल लाया गया है, लेकिन परिजनों ने कार्रवाई नही होने तक अंतिम संस्कार से मना कर दिया है। इधर पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मृतक के खिलाफ पुलिस में शिकायत आई थी। पूछताछ के लिए पुलिस लाई थी, लेकिन वो भागकर आ गया था। पुलिस के द्वारा कोई मारपीट नहीं की गई, लेकिन पीएम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारण स्पष्ट हो जाएंगे और पूरे मामले की जांच की जाएगी।