हेटी में ट्रांसफार्मर से तार क्यो काटा कहने पर की किसान की पत्नी से मारपीट


मुलतापी समाचार

मुलताईं। थाना क्षेत्र के ग्राम करपा में ट्रांसफार्मर पर तार लगाने की बात को लेकर जहां भतीजे ने चाचा की हत्या कर दी। वही रविवार ग्राम
हेटी में एक किसान द्वारा ट्रांसफार्मर से मोटर का तार क्यो काटा कहा तो किसान की पत्नी के साथ लकडी एवं पत्थर से मारपीट कर मुंह पर चोट पहुंचाई है। ग्राम हेटी निवासी गोकुल पिता श्याम देवासे ने थाने में लिखित आवेदन देकर बताया कि उसके खेत में बिजली का ट्रांसफार्मर स्थित है।ग्राम हैटी निवासी तीरन देवासे उसके खेत में स्थित ट्रांसफार्मर में चालू लाइन में डीओ से छेड़छाड़ कर रहा था तथा गोकुल एवं अन्य लोगों की मोटर के तार काट दिए तो गोकुल ने कहा की मोटर के तार क्यों काटे तो तीरन ने गोकुल की पत्नी को लकड़ी एवं पत्थर से मारपीट का मुंह पर चोट पहुंचाई जिससे कि गोकुल की पत्नी का मुंह फट गया तथा गोकुल के साथ गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी दी।पुलिस द्वारा मामले में जांच की जा रही है।

गौ क्रांति दल ने गौ पूजा कर मनाई गोपाष्टमी


मुलतापी समाचार

मुलताई न्यूज़

मुलताई। पवित्र नगरी मुलताईं में रविवार को गौक्रान्ति दल द्वारा गौ शाला पहुंचकर गायों की पूजा कर गोपाष्टमी का पर्व मनाया गया। रविवार की सुबह गौक्रान्ति दल के दिनेश कालभोर,रितेश पठाड़े,सुरेश बुवाड़े,लोकेश बोबडे,रोहित करदाते, मुकेश कामडी, जय कालभोर नफ़र में स्थित कांजी हॉउस गौशाला पहुचे। जहां पर सभी कार्यकर्ताओ द्वारा गौ पूजन कर परिक्रमा की गई।दिनेश कालभोर ने बताया कि नगर के साथ साथ ग्रामो में गौ क्रांति दल की इकाई के सदस्यो ने भी गायों की पूजा की। उन्होंने कहा कि परम्परानुसार गोपाष्टमी पर गाय बछड़ो की पूजा करने करने से मनचाहे फल की प्राप्ति होती है।वहीं कामधेनु चौक पर गौमाता की प्रतिमा
रखकर पूजन किया गया।

महिला ने घर मे घुसकर मारपीट करने के लगाए आरोप


मुलताईं। नगर में निवास करने वाली एक महिला ने राजीवगांधी वार्ड के कुछ लोगो पर घर मे घुसकर मारपीट करने के आरोप लगाए है।राजीव गांधी वार्ड निवासी महिला अनिता कवड़कार ने थाने में आवेदन देकर बताया कि शनिवार की दोपहर 2 बजे वह मनोज साबले के घर पर आकर देवकी कालभोर,फुला कालभोर,दिनेश कालभोर एवं मोहल्ले की करीब 10-12 महिलाओ ने उसके साथ गाली गलौज कर मारपीट की एवं उसकी बेटी से भी मारपीट की। जिन्हें अमरलाल और उसकी पत्नी द्वारा भेजे जाने के आरोप लगाए है।

Corona virus covid 19- बाजार, शादी समारोहों एवं अन्य आयोजनों में सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क का उपयोग जरूरी


Multapi samachar

बाजार, शादी समारोहों एवं अन्य आयोजनों में सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क का उपयोग जरूरी
विवाह समारोह सीमित आमंत्रितों के साथ किए जाने की अपील


नियमों का पालन नहीं किए जाने पर होगी सख्त कार्रवाई


जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में हुआ कोरोना से बचाव के लिए अपनाई जाने वाली आगामी रणनीति पर विचार मंथन

बैतूल, कोरोना संक्रमण से बचाव के चलते जिले में सार्वजनिक स्थानों, बाजारों, व्यापारिक प्रतिष्ठानों, शादी समारोहों एवं अन्य आयोजनों में सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराया जाएगा। सभी स्थानों पर मास्क का उपयोग किया जाना जरूरी होगा। इसके अलावा हाथों के सेनेटाइजेशन के भी इंतजाम अनिवार्य रूप से करना होंगे। शनिवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में कलेक्टर राकेश सिंह के साथ विधायक आमला डॉ. योगेश पण्डाग्रे, पूर्व विधायक हेमन्त खण्डेलवाल, समूह के सदस्य अरूण गोठी, पुलिस अधीक्षक सुश्री सिमाला प्रसाद एवं सीईओ जिला पंचायत एमएल त्यागी ने कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रति अपनाई जाने वाली आगामी रणनीति पर विचार किया।

इस दौरान क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप द्वारा जिले के निवासियों से अपील की गई कि वे अपने परिवारों-रिश्तेदारों में होने वाले विवाह समारोह सीमित आमंत्रितों की उपस्थिति में सम्पन्न कराएं। इन समारोहों में अनावश्यक भीड़ इकट्ठी न करें। साथ ही कोरोना से बचाव के सभी नियमों का पालन सुनिश्चित करे। समूह के सदस्यों द्वारा मैरिज गार्डन एवं शादी आयोजन स्थलों के प्रबंधकों से भी कहा गया कि वे उनके यहां आयोजित होने वाले विवाह समारोहों में कोरोना से बचाव के शासन के सभी निर्देशों का पालन सुनिश्चित करें।


बैठक में इस बात पर विशेष जोर दिया गया कि बाजार एवं व्यापारिक प्रतिष्ठानों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो। प्रत्येक दुकान में हाथ सेनेटाइज करने के इंतजाम रखे जाएं और बिना मास्क लगाए व्यक्तियों को प्रवेश नहीं दिया जाए। इसके अलावा आमजन से भी अपील की गई कि वे अनावश्यक रूप से बाजार न जाएं, न ही भीड़ का हिस्सा बनें। आवश्यक जरूरतों से यदि बाजार अथवा सार्वजनिक स्थान पर जाते हैं तो मास्क का उपयोग आवश्यक रूप से करें, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें। साथ ही अपने हाथ नियमित रूप से साबुन अथवा सेनेटाइजर से साफ करते रहें। प्रयास करें कि बाजार सपरिवार न जाकर जिनको जरूरत है परिवार के वे सदस्य ही बाजार जाएं।


जिले में समस्त धार्मिक एवं सामाजिक आयोजनों के लिए अनुमति लेना अनिवार्य होगा। इन आयोजनों में मास्क लगाने की अनिवार्यता एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाना आयोजक की जवाबदेही होगी। इसके अलावा हाथों के सेनेटाइजेशन करने के इंतजाम रखना भी आवश्यक होगा। यह भी स्पष्ट किया गया कि विवाह समारोह के आयोजन के लिए अनुमति लेना आवश्यक नहीं होगा, परन्तु इन आयोजनों में सोशल डिस्टेंसिंग एवं अन्य दिशा-निर्देशों का पालन किया जाना आवश्यक होगा। विवाह समारोहों अथवा धार्मिक, सामाजिक आयोजनों का जिले के प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा समय-समय पर निरीक्षण किया जाएगा। यदि किसी स्थान पर कोरोना से बचाव के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन पाया जाता है तो संबंधित के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।


होटल-रेस्टॉरेंट के संचालकों से भी अपील की गई है कि वे अपने प्रतिष्ठानों में भीड़ न होने दें एवं सोशल डिस्टेंसिंग व कोरोना से बचाव के नियमों का पालन सुनिश्चित करे।
बैठक में कलेक्टर ने जिले के प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए कि कंटेन्मेंट क्षेत्रों में कोरोना से बचाव के दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करवाया जाए। जो मरीज पॉजिटिव पाए जाते हैं, उनसे पूरी तरह निर्धारित प्रतिबंधों का पालन करवाया जाए। कलेक्टर ने समस्त नगरीय क्षेत्रों में कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक रूप से मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने एवं हाथों के सेनेटाइजेशन सुनिश्चित करने संबंधी जागरूकता लाने के नगरीय निकायों के अधिकारियों को निर्देश दिए।


बैठक में अपर कलेक्टर श्री जेपी सचान, समूह के सदस्य डॉ. अरूण जयसिंग, श्री ब्रजआशीष पाण्डे, संयुक्त कलेक्टर श्री एमपी बरार एवं श्री राजीव रंजन पाण्डे, एसडीएम श्री सीएल चनाप सहित संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

जुंआरियों के लिए जंगल सुरक्षित अड्डा बना- टेटरमाल और बोड़ रोड़ जंगल


मुलतापी समाचार

बैतूल । बीजादेही थाना क्षेत्र इन दिनों जुएं के अड्डे चलाने वालों को सबसे सुरक्षित जोन नजर आने लगा है। अब जो जानकारी चर्चाओं में सामने आ रही है उसके अनुसार जुंआरियों ने टेटरमाल और बोड़ के जंगल को अपना नया सुरक्षित अड्डा बना रखा है। यहां भी लग्जरी गाडिय़ों की आवाजाही शुरू हो गई है। कहा जा रहा है कि इटारसी, होशंगाबाद, लोकल शाहपुर, भौंरा, चोपना आदि क्षेत्र से भारी संख्या में जुंआरी टू-व्हीलर और फोर व्हीलर से जंगल में मंगल मनाने जा रहे है। 

  जिस तादाद में इन लोगों की आवाजाही हो रही है उससे आसपास के आदिवासी दहशत में है। बताया जा रहा है कि कि इसकी सूचना ग्राम कोटवारों के माध्यम से पुलिस तक भी पहुंच चुकी है, लेकिन पता नहीं क्यों जुंआरियों में पुलिस को लेकर जरा भी खौफ नहीं है। जुएं के अड्डे चलाने वाले जुंआरियों को भरोसा दिलाते है कि कोई परमिशन जैसी चीज है। जिससे जुंआरियों में पुलिस को लेकर खौफ नहीं है। हालांकि जुएं के अड्डे चलाने वाले झूठ भी बोल सकते है, लेकिन लोगों का मानना है कि जब तक पुलिस की दबिश नहीं होगी। तब तक जुंआरियों में खौफ पैदा नहीं होगा और यह अड्डे ऐसे ही चलते रहेंगे। 
एक अनुमान के मुताबिक यहां पर हर दिन 1 लाख से लेकर 5 लाख रूपये तक की नाल ही कट रही है। यदि नाल से जुएं की फड़ का अंदाजा लगाया जाए तो यह लाखों में होगी। इतने बड़े पैमाने पर जुएं के अड्डे चलने से कई तरह के असामाजिक तत्वों की आवाजाही इस ग्रामीण क्षेत्र में बढ़ रही है। जुएं के अड्डे पर खाने-पीने के लिए हर तरह का साजो साज सामान उपलब्ध है। इससे समझ आता है कि बौड़ और टेटरमाल के जंगल में एक तरह का खुला केसिनों ही चल रहा है।