Category Archives: कलेक्टर MP

कलेक्टर ने फायर एनओसी के लिए नगरपालिका से मांगी भवनों की जानकारी


15 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले आवासीय भवनों, शैक्षणिक संस्थाओं, सभा भवनों इत्यादि के लिए लेना होगी फायर एनओसी

ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से जारी होंगे अनापत्ति प्रमाण पत्र

नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के निर्देशानुसार एनबीसी 16 के भाग-4 के अनुसार 15 मीटर या अधिक ऊंचाई के आवासीय उपयोग के भवन, होटल, शैक्षणिक, संस्थागत, व्यावसायिक, मर्केन्टाइल, औद्योगिक, स्टोरेज, हैजार्ड्स एवं मिश्रित उपयोग के भवन (किसी एक तल या अधिक तल का फ्लोर एरिया 500 वर्ग मीटर से अधिक), शैक्षणिक भवन (जिनकी ऊंचाई 09 मीटर से अधिक है),

सभी सभा भवन, आकस्मिक सभा उपयोग के भवन (जिनके किसी तल का क्षेत्रफल 300 वर्ग मीटर से अधिक है), भवन जिसमें दो या अधिक बेसमेंट है अथवा एक बेसमेंट का क्षेत्रफल 500 वर्ग मीटर से अधिक है, के लिए फायर एनओसी लेना आवश्यक है।जिला कलेक्टर द्वारा ग्रामीण क्षेत्र से आने वाले समस्त प्रकार के प्रकरणों हेतु फायर अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा। कलेक्टर द्वारा पेट्रोलियम तथा एक्सप्लोसिव एक्ट संबंधी शहरी क्षेत्रों के प्रकरण पूर्वानुसार ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से संभागीय संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एवं विकास को प्रेषित किए जाएंगे।

संभागीय संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एवं विकास द्वारा संबंधित शहरी क्षेत्रों से आने वाले समस्त प्रकार के प्रकरणों हेतु फायर अनापत्ति प्रमाण पत्र ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से जारी किया जाएगा।राज्य शासन द्वारा घोषित ‘अग्निशमन प्राधिकारी’ द्वारा मध्यप्रदेश भूमि विकास नियम 2012 के नियम 87(3) के प्रावधान अनुसार नेशनल बिल्डिंग कोड के भाग-04 में उल्लेखित अग्नि सुरक्षा उपायों के प्रावधान अनुसार ‘फायर अनापत्ति प्रमाण पत्र’ स्वीकृत किया जाएगा।नगरीय प्रशासन एवं विकास के निर्देशानुसार ई-नगरपालिका के माध्यम से ऑनलाइन फायर अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए मानक प्रक्रिया का निर्धारण किया जा चुका है और सभी जिला कलेक्टरों को लॉग-इन तथा पासवर्ड प्रदाय किए जा चुके हैं।कलेक्टर श्री राकेश सिंह एवं प्रशासक नगरपालिका बैतूल द्वारा उपरोक्त निर्देशानुसार फायर एनओसी जारी करने हेतु नगर पालिका से भवनों की जानकारी मांगी गई है।

100 से अधिक जनसमूह के कार्यक्रम के लिए अनुमति लेना आवश्यक, नई गाइडलाइन जारी


धार्मिक स्थलों पर फेस मास्क लगाना एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूरी

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह द्वारा जिले में सामाजिक/शैक्षणिक/खेल/ मनोरंजन/सांस्कृतिक/राजनैतिक/रामलीला एवं रावण दहन आदि के लिए आगामी आदेश तक के लिए अतिरिक्त आदेश जारी किए गए हैं।

सामाजिक, शैक्षणिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, राजनैतिक, रामलीला एवं रावण दहन आदि कार्यक्रमों के खुले मैदान में जनसमूह के संबंध में

खुले मैदान में उक्त प्रकार के कार्यक्रमों के लिए मैदान के आकार को दृष्टिगत रखते हुए तथा फेस मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, सेनेटाइजेशन एवं थर्मल स्केनिंग की व्यवस्था के पालन करने की शर्त पर 100 से अधिक संख्या के जनसमूह के कार्यक्रमों के लिए संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर से अनुमति प्राप्त की जाएगी।उपरोक्त प्रकार के कार्यक्रम कन्टेन्मेंट जोन में आयोजित नहीं किए जा सकेंगे।इस प्रकार के कार्यक्रमों के आयोजन के लिए आयोजकों को संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर को लिखित में आवेदन करना आवश्यक होगा तथा आवेदन में कार्यक्रम की तिथि, समय, स्थान एवं संभावित संख्या का उल्लेख करना आवश्यक होगा।

संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर द्वारा प्राप्त आवेदन पत्र पर विचारोपरान्त कार्यक्रम की लिखित अनुमति प्रदान की जाएगी, जिसमें उक्त संख्या एवं शर्तों का पालन कराने की जवाबदारी आयोजकों की होगी।उक्त प्रकार के आयोजनों की वीडियोग्राफी आवश्यक रूप से कर आयोजकों को कार्यक्रम समाप्ति के 48 घंटों में प्रति संबंधित संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर को अनिवार्यत: उपलब्ध करानी होगी।

जिले में आगामी आदेश तक धार्मिक स्थलों पर मेलों के आयोजन आदि पर प्रतिबंध रहेगा। जिले में जिन स्थानों पर पूर्व से मेलों आदि का आयोजन होता रहा है, उन स्थानों को चिन्हित कर उक्त मेलों आदि में भाग लेने वाले श्रद्धालुओं को संंबंधित संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर द्वारा उचित माध्यम से समय पूर्व सूचित कराया जाएगा।धार्मिक स्थलों पर जहां बंद कक्ष अथवा हॉल में श्रद्धालु एकत्र होते हैं, वहां संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर द्वारा कुल उपलब्ध स्थान के आधार पर इस प्रकार अधिकतम सीमा नियत की जा सकेगी, जिसमें उपलब्ध स्थान में श्रद्धालुओं के मध्य दो-गज दूरी सुनिश्चित करते हुए पूजा/अर्चना की जा सके।

किन्तु उक्त संख्या किसी भी स्थिति में एक समय में 200 से अधिक नहीं होगी। साथ ही धार्मिक स्थल प्रबंधन को यह सुनिश्चित करना होगा कि कोविड-19 रोकथाम के तारतम्य में फेस मास्क की बाध्यता एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन धर्मावलंबियों द्वारा किया जाए।बिना अनुमति 100 से अधिक जनसमूह के कार्यक्रम करने अथवा प्रदत्त अनुमति में उल्लेखित शर्तों के उल्लंघन करने अथवा उपर्युक्त कण्डिका में उल्लेखित कार्य में शर्तों का उल्लंघन करने पर संबंधितों के विरूद्ध धारा 188 भारतीय दण्ड विधान के अंतर्गत वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

कलेक्टर के आदेशानुसार समूचे जिले में दुकानें, बाजार, मॉल अपने निर्धारित समय तक खुले रह सकेंगे।

सीएल चनाप बने बैतूल SDM


Multapi Samachar

सीएल चनाप संयुक्‍त कलेक्‍टर, जिला मुख्‍यालय बैतूल से बने बैतूल एसडीएम, इससे पूर्व चनाप जी मुलताई के एसडीएम भी रह चुकेें हैं राज‍ीव रंजन पाण्‍डेय, संयुक्‍त कलेक्‍टर पद पर पदस्‍थ जिन्‍हे जिला मुख्‍यालय बैतूल पद पर नवीन पद स्‍थापना दी गई। डिप्टी कलेक्टर अनिल सोनी को  शाहपुर एसडीएम बनाया गया हैं। कलेक्टर राकेश सिंह ने बुधवार को इसके आदेश जारी किए हैं। अनिल सोनी पूर्व में घोड़ाडोंगरी तहसीलदार भी रह चुके हैं। प्रमोशन होने के बाद उनका तबादला जिले के बाहर हो गया था। जिले में वापस आने पर वर्तमान में वे जिला मुख्यालय पर डिप्टी कलेक्टर के पद पर पदस्थ थे। नए आदेश के तहत उन्हें एसडीएम बनाया गया हैं।

कलेक्टर ने की अपील देखे Video


बैतूल कलेक्‍टर का संदेश

Multapi Samachar

माननीय प्रधानमंत्री जी दिनांक 12 सितंबर, 2020 दिन शनिवार को प्रातः 11:00 बजे प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण अंतर्गत प्रदेश में नव निर्मित 1.75 लाख आवासों का गृह प्रवेश कार्यक्रम ऑनलाइन करेंगे। माननीय मुख्यमंत्री जी भी इस अवसर पर ऑनलाइन उपस्थित रहेंगे। कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने समस्त जिलेवासियों से अपील की है कि कृपया वे सभी https://pmevents.ncog.gov.in/ इस लिंक पर अपना पंजीयन आज ही करवाएं तथा पंजीयन उपरांत प्राप्त लिंक पर जाकर निर्धारित दिनांक को कार्यक्रम को लाइव देखें।

bETUL NEWS -किसानों के हित में प्रदर्शन पर कांग्रेस का प्रदर्शन ज्ञापन, खराब फसलों की जलाई होली


Multapi Samachar

बैतूल। अति बारिश के चलते जिले के सभी ब्लॉकों में सोयाबीन और मक्के की फसल खराब होने के बाद किसानों को उचित मुआवजा दिए जाने की मांग भी तेज हो गई है। आज जिले के कांग्रेसजनों ने कलेक्टरेट कार्यालय के सामने एकत्रित होकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए किसानों की अनदेखी करने का आरोप लगाया और 40 हजार रूपए प्रति हेक्टेयर का मुआवजा किसानों को दिए जाने के लिए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी सौंपा।

इस प्रदर्शन में खासतौर से देखने में आया कि फसलें खराब होने के बाद चिंतित किसान जैसे ही प्रशासन को ज्ञापन सौंपने जिला मुख्यालय पहुंचे, वैसे ही इस मुद्दे को हथियाने के उद्देश्य से कई वरिष्ठ कांग्रेस नेता आगे-आगे होने लगे और देखते ही देखते किसानों की दुखती रग को राजनीति का हथियार बनाते हुए कांग्रेसजनों ने इस प्रदर्शन को हथिया लिया और बेचारे पीडि़त किसान अधिकारियों को अपनी व्यथा ढंग से सुना भी नहीं सके। कलेक्टरेट कार्यालय में भी बेचारे किसान चुपचाप पीछे खड़े रहकर तमाशा देखते रहे और फोटो खिंचाने की होड़ में कांग्रेसी ही अधिकारियों को इन किसानों की व्यथा सुनाते नजर आए। खासबात यह है कि ज्ञापन सौंपने के तत्काल बाद कांग्रेस के नेता मौके से चलते बने।

जानकारी कें मुताबिक सैकड़ों की संख्या में हाथों में खराब हुई फसल लेकर किसान कलेक्टरेट कार्यालय में एकत्रित हुए, जहां ज्ञापन के दौरान किसानों का नेतृत्व कर रहे कांगे्रसजनों ने जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर बताया कि अतिबारिश के चलते जिले के अधिकांश क्षेत्रों में सोयाबीन की फसल पीला मोजेक नामक बीमारी के चलते नष्ट हो गई है। हालात यह है कि अब यह फसल किसानों के कोई काम की नहीं रह गई। प्रदर्शन को उग्र करने के उद्देश्य से कांग्रेसजनों ने खराब फसल को आग भी लगा दी, ताकि मीडिया में इस मामले को अच्छे से अच्छा कवरेज मिल सके।

स्वतंत्रता दिवस समारोह के जिला स्तरीय कार्यक्रम में कलेक्टर करेंगे ध्वजारोहण


नहीं होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम

Multapi Samachar

राज्य शासन ने प्रदेश में 15 अगस्त 2020 को स्वतंत्रता दिवस समारोह के आयोजन के सिलसिले में रूपरेखा तय कर दी है। राज्य-स्तर, जिला, जनपद पंचायत और पंचायत मुख्यालयों पर किये जाने वाले आयोजन शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप ही आयोजित किये जायेंगे।राज्य-स्तर पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान प्रात: 9 बजे के पूर्व शहीद स्मारक में पुष्प अर्पित करेंगे। तदुपरांत मुख्यमंत्री प्रात: 9 बजे मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में ध्वजारोहण करेंगे एवं प्रदेश की जनता को संबोधित करेंगे। उक्त संबोधन प्रदेश के सभी जिलों में लाइव टेलीकास्ट के माध्यम से सुना जा सकेगा। बैतूल में जिला स्तर पर कलेक्टर कार्यालय में कलेक्टर श्री राकेश सिंह द्वारा ध्वजारोहण किया जायेगा। सलामी के बाद राष्ट्रगान का गायन होगा।

कलेक्टर कार्यालय में मुख्यमंत्री का संबोधन सुनने के इंतजाम किये जायेंगे।जिला पंचायत कार्यालयों में जिला पंचायत अध्यक्ष/ प्रशासनिक समिति के प्रधान द्वारा औपचारिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जायेगा तथा कार्यक्रम में राष्ट्रीय गान गाया जायेगा। इसी प्रकार जनपद पंचायत कार्यालय में जनपद पंचायत अध्यक्ष/प्रशासनिक समिति के प्रधान तथा पंचायत कार्यालय में सरपंच/प्रशासनिक समिति के प्रधान द्वारा औपचारिक रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जायेगा तथा कार्यक्रम में राष्ट्रीय गान गाया जायेगा। जिला, जनपद, ग्राम पंचायत में निर्वाचित अध्यक्ष/प्रशासनिक समिति के प्रधान के उपलब्ध न होने पर कार्यालय प्रमुख द्वारा ध्वजारोहण किया जायेगा। नगर निगम/ नगरपालिक/ नगर परिषद कार्यालय में महापौर/अध्यक्ष राष्ट्रीय ध्वज फहरायेंगे। शेष नगरीय निकायों में आयुक्त/ मुख्य नगरपालिका अधिकारी द्वारा ध्वजारोहण किया जायेगा।जिला-स्तर पर कलेक्टर कार्यालय/ जिला पंचायत/ नगर निगम/ नगरपालिका/ नगर परिषद/ जनपद पंचायत/ ग्राम पंचायत कार्यालयों में ध्वजारोहण और राष्ट्रगान का कार्यक्रम प्रात: 8.45 बजे तक अनिवार्य रूप से पूर्ण किया जाना चाहिये ताकि मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश की जनता के नाम संबोधन को सुना और देखा जा सके।सभी शासकीय कार्यालयों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराये जायें।

कार्यालय प्रमुख प्रात: 8 बजे अपने विभाग के सीमित संख्या में अधिकारियों-कर्मचारियों की मौजूदगी में कार्यालय भवन पर राष्ट्रीय ध्वज फहरायेंगे।जारी दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि स्वतंत्रता दिवस पर जिला एवं जनपद स्तर पर कोई भी सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाये। स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में जन-सामान्य एवं स्कूली बच्चों को शामिल न किया जाये। कार्यक्रम स्थल पर प्राथमिक चिकित्सा की व्यवस्था अनिवार्य रूप से रखी जाये। स्वतंत्रता दिवस पर किसी सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जायेगा। कार्यक्रम स्थल पर हेण्ड सेनेटाइजर, मास्क एवं सामाजिक दूरी का विशेष ध्यान रखना होगा।

14 एवं 15 अगस्त की रात्रि में होगी रोशनी

स्वतंत्रता दिवस-2020 के अवसर पर प्रदेश में स्थित मुख्य सार्वजनिक भवनों एवं राष्ट्रीय महत्व की इमारतों में 14 एवं 15 अगस्त 2020 की रात में प्रकाश की व्यवस्था की जाये। कोविड-19 संक्रमण के संबंध में भारत सरकार के गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी सभी दिशा-निर्देशों एवं राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी किये गये निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाये।

जिले में अति वर्षा की स्थिति को देखते हुए हाईअर्ल्‍ट के आदेश-कलेक्‍टर


नदी-नालों, पुल-पुलियाओं पर सतत् निगरानी रखी जाए-कलेक्टर

Multapi Samachar

जिले में 24 घंटे से लगातार हो रही तेज बारिश के चलते नदी नालें मेें बाढ़ संभावित क्षेत्रों कोई दुर्घटना घटीत ना हो जाये जिसके लिएहोमगार्ड तैनात किये है।

मुलताई हालही में हुए महिलावाडी की घटना को ध्‍यान में रखते हुए उठाये प्रमुख कदम

बैैैैतुल कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने जिले में अति वर्षा की स्थिति को देखते हुए समस्त मैदानी अमले को सजग रहने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि बाढ़ संभावित चिन्हित स्थानों पर सतत् निगरानी रखी जाए, साथ ही संभावित जलभराव वाले स्थानों पर भी संबंधित अधिकारी सतत् नजर रखें। मैदानी अमला मुख्यालय पर रहे, अपनी ड्यूटी मुस्तैदी से करे एवं निरंतर अपना फोन चालू रखें। किसी भी आपात स्थिति में तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी जाए। कलेक्टर ने कहा कि पुल-पुलियाओं पर तैनात कर्मचारी सतत् अपनी ड्यूटी पर मौजूद रहें। कोई भी कर्मचारी अपनी ड्यूटी में लापरवाही न करे। उन्होंने कहा कि बाढ़ संभावित क्षेत्रों में होमगार्ड की ड्यूटी लगाई जाए। जल संसाधन विभाग, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा तथा ग्राम पंचायतें बांधों, जलाशयों एवं अन्य जल संरचनाओं पर सतत् निगरानी रखे, ताकि वहां अति वर्षा की स्थिति में कोई खतरे की स्थिति निर्मित न हो।

मुलतापी समाचार

कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम हेतु ‘सहयोग से सुरक्षा अभियान’ में सभी से भागीदारी की अपील-कलेक्टर


#MPFightsCorona

कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने सहयोग से सुरक्षा अभियान से संबंधित अपील एवं शपथ जन-जन तक पहुंचाने की अपेक्षा की है एवं यह भी कहा है कि ज्यादा से ज्यादा लोग यह शपथ लें एवं शपथ पर अपने हस्ताक्षर करें।

Multapi Samachar

Betul जिले में कोविड-19 के प्रकरण लगातार पाए जा रहे हैं। कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने अनलॉक पश्चात् विशेष सावधानियां एवं आमजन के व्यवहार परिवर्तन की आवश्यकता को देखते हुए ‘सहयोग से सुरक्षा अभियान’ में सभी से सक्रिय भागीदारी की अपील की है। यह अभियान 15 अगस्त से प्रारंभ किया जाएगा। अभियान की थीम ‘सहयोग से सुरक्षा’ एवं पंच लाइन ‘सहयोग और समर्थन से ही विजय-कोरोना समाप्ति का दृढ़ निश्चय’ होगी।कलेक्टर ने बताया कि अभियान के शुभारंभ अवसर पर 15 अगस्त को जिले के प्रत्येक शहर एवं ग्राम स्तर पर एक अपील जारी की जाना है। उक्त अपील स्थानीय स्तर पर विभिन्न सामाजिक एवं व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधियों, गणमान्य धर्मगुरुओं, वरिष्ठजन, कोरोना वारियर, कोरोना से जंग जीतकर आए योद्धाओं के हस्ताक्षर कराकर जारी की जाएगी। अपील पर अधिक से अधिक लोगों से हस्ताक्षर करवाकर जिले के फेसबुक पेज, ट्वीटर, अन्य विभागों के सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अपलोड की जाएगी। शुभारंभ के अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं गणमान्य नागरिकों द्वारा शपथ का भी वाचन किया जाएगा। शासकीय कार्यालयों में भी शपथ का वाचन होगा।

ग्रामीण क्षेत्रों में हाट-बाजारों में भी ध्वनि विस्तारक यंत्रों एवं अन्य माध्यमों से अधिक से अधिक लोगों को अभियान के तहत जागरूक किया जाएगा।शपथ एवं अपील जन-जन तक पहुंचाने की अपेक्षा

मुलतापी समाचार

आधी सवारी बैठाने के साथ सवारी बसों के संचालन की अनुमति जिला कलेक्टर


लॉकडाउन व्यवस्थाओं में परिवर्तनजिले के अंदर 50 प्रतिशत् क्षमता के साथ किया जा सकेगा सवारी बसों का संचालन
बेतूल कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह ने सोमवार 01 जून को जारी आदेश में जिले में प्रभावशील लॉकडाउन व्यवस्था में परिवर्तन करते हुए आदेश दिया है कि जिले के अंदर 50 प्रतिशत् क्षमता के साथ बसों को संचालन किया जा सकेगा। समस्त प्रकार की आर्थिक गतिविधियां, दुकान, बाजार, प्रतिष्ठान, संस्थान रात्रि 9 बजे से प्रात: 5 बजे तक की अवधि को छोडक़र शासन के अन्य आदेशों एवं निर्देशों के अध्यधीन जारी रहेंगे। व्यक्तियों एवं वस्तुओं का राज्य के अंदर एवं राज्य के बाहर आवागमन बिना किसी ई-पास या अनुमोदन के जारी रहेगा।

होम क्वारेंटाइन व्यक्ति को अपने घर के अंदर रहना जरूरी


प्रथम उल्लंघन पर होगा दो हजार रूपए का जुर्माना

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह ने स्वास्थ्य आयुक्त मप्र के निर्देशों का हवाला देते हुए बताया कि जो भी व्यक्ति जिले में बाहर से प्रवेश करने के कारण या प्रथम मेडिकल परीक्षण में लाक्षणिक कारणों से क्वारेंटाइन किए जाने के लिए चिन्हित किये जाते हैं, उन्हें अनिवार्यत: होम क्वारेंटाइन/संस्थागत क्वारंटाइन में रहना होगा।उन्होंने बताया कि कोविड-19 के तहत ऐसा व्यक्ति जिसे होम क्वारेंटाइन हेतु चिन्हित किया गया है, उसे अनिवार्यत: अपने घर के अंदर ही रहना होगा तथा घर के अन्य सदस्यों से सामाजिक दूरी बनाकर रहना होगा। उसके घर के सामने तदाशय की पीली पर्ची चिपकाई जाएगी।यदि कोई व्यक्ति स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा दिए गए विकल्प के अनुसार वचनबद्ध होने से इंकार करता है तो उसे अनिवार्यत: संस्थागत क्वारेंटाइन किया जाएगा एवं वह व्यक्ति ऐसा होने के लिए बाध्य होगा।कोई व्यक्ति जिसने होम क्वारेंटाइन रहने का वचनपत्र दिया है। यदि वह होम क्वारेंटाइन का पालन नहीं करता है, घर से बाहर निकलना पाया जाता है तो उसके ऐसे प्रथम उल्लंघन पर उसके विरूद्ध दो हजार रूपए की शास्ति/दण्ड अधिरोपित करते हुए राशि ली जाएगी। इस राशि को संबंधित स्थानीय निकाय, ग्राम पंचायत अथवा नगरीय निकाय प्राप्त करेंगे। यदि संबंधित व्यक्ति शास्ति राशि जमा करने से इंकार करता है तो भू-राजस्व की बकाया की भांति उससे उक्त राशि की वसूली की कार्रवाई की जाएगी।होम क्वारेंटाइन का दूसरी बार उल्लंघन करने पर ऐसे व्यक्ति को अनिवार्यत: संस्थागत क्वारेंटाइन में रखा जाएगा। समस्त मैदानी अधिकारी, इंसिडेंट कमांडर/कार्यपालिक मजिस्टे्रट के नेतृत्व में इसके लिए उत्तरदायी होंगे एवं इसका पालन कराएंगे।कलेक्टर ने कहा है कि यह आदेश आम जनता को संबोधित है। वर्तमान में ऐसी परिस्थितियां नहीं है और ना ही संभव है कि इस आदेश की पूर्व सूचना प्रत्येक व्यक्ति या समूह को दी जाकर सुनवाई की जा सके। अत: दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 (2) के तहत यह आदेश एकपक्षीय पारित किया गया है। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 तथा एपिडेमिक एक्ट 1897 के तहत मप्र शासन द्वारा जारी किए गए विनियम दिनांक 23 मार्च 2020 की कंडिका 10 के अंतर्गत भारतीय दण्ड संहिता की धारा 187, 188, 269, 270, 271 के अंतर्गत दण्डनीय है एवं उल्लंघनकर्ता के विरूद्ध इन धाराओं के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी। यह आदेश 28 मई 2020 से आगामी आदेश पर्यन्त प्रभावशील रहेगा।