Category Archives: ताजा खबर

रोजगार मेले में 416 आवेदन आए, 105 अभ्यर्थियों को जॉब ऑफर मिला


मूलतापी सामाचार

जिला मुख्यालय स्थित ओपन ऑडिटोरियम में शुक्रवार को रोजगार कार्यालय के पीपीपी पार्टनर यशस्वी अकादमी फॉर टैलेंट मैनेजमेंट द्वारा रोजगार मेला आयोजित किया गया। इस मेले में विभिन्न कंपनियों में 105 अभ्यर्थियों को जॉब ऑफर किए गए।

यशस्वी अकादमी के हेड कॉल सेंटर एण्ड ऑपरेटर श्री सिद्धार्थ श्रीवास्तव ने बताया कि रोजगार मेले में 416 अभ्यर्थियों द्वारा रोजगार के लिए आवेदन दिए गए, जिनमें से 105 अभ्यर्थियों को विभिन्न कंपनियों के लिए जॉब ऑफर मिले हैं। इसमें संजीरा पीथमपुर कंपनी में 29 एवं जय के. बायोटेक कंपनी में 76 अभ्यर्थियों को जॉब ऑफर किया गया है। श्री श्रीवास्तव ने बताया कि मेले में 150 अभ्यर्थियों को विभिन्न कंपनियों द्वारा शॉर्टलिस्ट किया गया है, जिनको आगामी दिनों में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इंटरव्यू लेकर जॉब ऑफर किया जा सकेगा।

RAHUL SARODE

कलेक्टर कार्यालय में प्रदर्शन करते हुए राज्यपाल के नाम कलेक्टर महोदय को ज्ञापन सौपा


मुलतापी समाचार (राहुल सारोडे)

मध्य प्रदेश में राजभवन द्वारा IUMS इंटीग्रेटेड यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट सिस्टम ( एकीकृत विश्वविद्यालय प्रबंध प्रणाली) लागू किये जाने के विरुद्ध आज अभाविप ने जिला केंद्र पर कलेक्टर कार्यालय में प्रदर्शन करते हुए राज्यपाल के नाम कलेक्टर महोदय को ज्ञापन सौपा। प्रदर्शन में

जिला संयोजक निलेश गिरी गोस्वामी ने बताया की IUMS लागू होने का अर्थ है शिक्षा का व्यापारीकरण जो मध्यप्रदेश के विद्यार्थियों के हित मे नही
नगर मंत्री अंकित हरोड़े ने बताया कि
सभी विश्वविद्यालयों का नियंत्रण किसी एक विश्वविद्यालय के पास रहेगा तो एकाधिकार की समस्या रहेगी।
नगर सह मंत्री आयुषी अतुलकर ने बताया कि
IUMS राष्ट्रीय शिक्षा नीति की इस मूल भावना के विपरीत है।
जिले के अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे। इन सभी विषयों को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने ज्ञापन दिया साथ ही अगर IUMS निरस्त नहीं किया गया तो विद्यार्थी परिषद उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगी।

प्रतिमाओंं की स्थापना की, मंदिरों में सोशल डिस्टेंस के बैनर लगाए


नवरात्र के पहले दिन शनिवार को शहर के दुर्गा मंदिरों में रौनक रही, वहीं शहर में 100 से अधिक जगहों पर दुर्गा पंडालों में देवी की प्रतिमाएं स्थापित की गईं। एक दिन पहले शुक्रवार रात से ही प्रतिमाएं लाने का सिलसिला चालू हो गया था। मंदिरों में भी भक्तों की भीड़ देखने को मिली हालांकि एहतियात के तौर पर हिदायत वाले बैनर भी लगाए गए थे। सुबह से ही देवी प्रतिमाओं को जल चढ़ाने श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती रही।
गंज के माता-मंदिर मे सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए श्रद्धालुओं ने दर्शन किए। मंदिर पर जगह-जगह बैनर लगाए गए थे। इनमें कोरोना को लेकर स्पष्ट हिदायतें थी।
कोठी बाजार दुर्गा मंदिर में हुए कीर्तन, परिसर में विराजीं मां दुर्गा
कोठी बाजार के बेहद पुराने दुर्गा मंदिर में दिन भर कीर्तन चलते रहे। महिलाओं ने दिन भर भजन गाए। हालांकि मंदिर प्रबंधन ने बेहद कम संख्या में महिलाओं को एकत्रित होने संबंधी निर्देश दिए थे इस कारण संख्या कम रही। मंदिर परिसर में ही देवी प्रतिमा की स्थापना भी की गई।

मंदिरों में यह लिखे मिलेे निर्देश

  • मंदिर में प्रवेश करने वाले व्यक्ति मास्क लगाकर ही मंदिर में प्रवेश करें।
  • हैंड सैनिटाइजर का उपयोग जरूर करें।
  • सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखें। अन्य लोगों से 6 फीट की दूरी बनाए रखें।
  • कोरोना से संबंधित शासन के दिशा- निर्देशों का ध्यान रखें।

कृषि संशोधन बिल 2020 जन जागरूकता अभियान


आज कृषि संशोधन बिल 2020 जन जागरूकता अभियान के सम्बध मे भाजपा जिला अध्यक्ष आदरणीय बबला शुक्ला जी के नेतृत्व में आठनेर नगर मंडल मासोद मंडल एवं प्रभात पट्टन मंडल में बिल के संबंध में बूथ कार्यकर्ता और बूथ प्रभारियों से संवाद किया

इस दौरे में मासौद मंडल के प्रभारी देवी सिंह ठाकुर अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला अध्यक्ष अभीजर हुसैन आठनेर मंडल के प्रभारी किशोर मोहबे सहित तीनों मंडलों के अध्यक्ष गोवर्धन रानी विजय घोड़की राजेश सोनारे उपस्थित रहे

MULTAPI SAMACHAR

NEWS RIPOTOR (RAHUL SARODE)

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला बैतूल ने माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान जी को कलेक्टर जिला बैतूल द्वारा ज्ञापन सौपा


MULTAPI SAMCHARA

आज अखिलभारतीय विद्यार्थीपरिषद जिलाबैतूल ने माननीय श्री शिवराजसिंह चौहान जी को कलेक्टरजिला बैतूल द्वारा ज्ञापन सौपा जिला संयोजक निलेश गिरी गोस्वामी ने बताया कि उपरोक्त विषय अंतर्गत विनम्र निवेदन है कि बैतूल जिले के समस्त महाविद्यालय को सत्र 2019/20 छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय में शामिल किया गया है इससे पूर्व बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के अधीन था जिससे विद्यार्थी सुविधा अनुसार विश्वविद्यालय से आवागमन कर लिया करते थे। परंतु अब विद्यार्थियों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है जिसके बिंदु कुछ इस प्रकार हैं
1:- विद्यार्थियों को बस एवं ट्रेनो की उचित व्यवस्था ना होना।
2:- बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय के बदले छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय का अधिक शुल्क लिया जाना।
3:- जनजातीय बाहुल्य जिला होने के कारण विद्यार्थियों की आर्थिक स्थिति ठीक ना होना।
4:- छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय में छात्रों की समस्याओं के लिए हेल्प लाइन न. ना होना।
5:- सत्र 2019/20 बैतूल जिले के विद्यार्थियों के साथ भेदभाव करते हुए विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम उतीर्ण न होना।
6:- कोविड-19 के चलते छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय की सबसे बड़ी समस्या सामने यह आई की लेट फीस अधिक होने के कारण कई विद्यार्थी परीक्षा देने से वंचित रह गये।
महोदय जी सभी विषयों को ध्यान में रखते हुए आपको अवगत कराते हैं कि जब से छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय से बैतूल जिले के सभी महाविद्यालय को जोड़ा गया है तब से जिले के कई विद्यार्थियों को ऐसी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। विषयांतर्गत अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद आप से यह मांग करती है कि

बैतूल के सभी महाविद्यालय को पुनः बरकतउल्ला विश्वविद्यालय से जोड़ा जाए या बैतूल जिले में सभी महाविद्यालयों की सुविधा के लिए विश्वविद्यालय केंद्र बनाया जाए, अन्यथा संभागीय स्तर पर नर्मदा पुर संभाग का नर्मदा पुर बनाया जाए, अन्यथा संभागीय स्तर पर नर्मदा पुर संभाग का नर्मदा पुर विश्वविद्यालय बनाने की मांग करते हैं।

महोदय जी इन सभी विषयों से विद्यार्थी परिषद आपको अवगत कराती है की विद्यार्थियों की इन समस्याओं को हमारे द्वारा आपके समक्ष रखा जा रहा है अतः आपसे निवेदन है कि विषय को ध्यान में रखते हुए हमारी मांगों को जल्द से जल्द पूर्ण किया जाए अन्यथा विद्यार्थी परिषद संभागीय स्तर पर उग्र आंदोलन के लिए बाध्य रहेगी।

RAHUL SARODE

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js
<script data-ad-client="ca-pub-1045913405696148" async src="https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js"></script>

छत्रपति शिवाजी युवा संगठन जि बैतूल मुलताई के सदस्यों ने सांसद डी डी उइके जी को सौंपा ज्ञापन


मूलताई। (मुलतापी सामाचार)

छत्रपति शिवाजी युवा संगठन जि बैतूल मुलताई के सदस्यों ने आज बैतूल में मा.सांसद डी.डी.उईके जी, नरेश फाटे जी, भैय्या बबला शुक्ला जी, भैय्या कमलेश लोखंडे जी, भैय्या भवानी गांवडे जी, भैय्या कृष्णा गायकी जीभैय्या गोवर्धन राणे जी, राजेश हिंगवे जी से सप्रेम भेंट की व सांसद महोदय जी को छत्रपति शिवाजी महाराज जी का छायाचित्र भेंट किया. .

जिस दौरन संगठन की बैठकों के लिये सभाकक्ष व मुलताई में कई वर्षो सें लम्बवत् छत्रपति शिवाजी महाराज जी की मूर्ती स्थापित करने के लिये ज्ञापन दिया।।

NEWS EDITOR

RAHUL SARODE

धान एवं मोटा अनाज उपार्जन के लिए 15 अक्टूबर तक होगा पंजीयन


बैतूल। खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 के अंतर्गत समर्थन मूल्य पर धान एवं मोटा अनाज (ज्वार व बाजरा) का उपार्जन किया जाना है। इन फसलों के उपार्जन के लिए इस वर्ष समस्त इच्छुक कृषकों के नवीन पंजीयन 15 अक्टूबर तक किए जा रहे हैं। जिले के कृषक एमपी किसान एप, ई-उपार्जन मोबाइल एप, ई-उपार्जन कियोस्क कॉमन सर्विस सेंटर/लोक सेवा केंद्र एवं निर्धारित प्राथमिक कृषि साख संस्थाओं में पंजीयन करवा सकते हैं। पंजीयन हेतु जिले में समिति स्तर पर 15 पंजीयन केंद्र बनाए गए है। इनमें आदिम जाति सेवा सहकारी समिति बैतूल, पापुलर विपणन संस्था बैतूल, आदिम जाति सेवा सहकारी समिति शाहपुर, भौंरा, घोड़ाडोंगरी, रानीपुर एवं सीताकामथ, सारनी, चोपना, पाढर, रतनपुर, चिल्लौर, मुलताई, दुनावा, सेवा सहकारी समिति चोपना एवं महतपुर शामिल हैं। जिला आपूर्ति अधिकारी ने किसानों से पंजीयन की अंतिम तिथि 15 अक्टूबर के पहले अपनी उपज का अनिवार्य रूप से पंजीयन करवाने की अपेक्षा की है।

NEWS EDITOR

RAHUL SARODE

भीषण सड़क हादसा दुनावा छिंदवाड़ा हाईवे पर दो की मौत


कार और बाइक की भिड़ंत में उड़े परखच्चे

मुलतापी समाचार

आशीष पवार, दुनावा

छिंदवाड़ा नेशनल हाइवे पर दुनावा के पास हुआ हादसा , जिसमे बाइक दुनावा की ओर से मुलताई जा रहा था और कार सवार मुलताई की ओर से आने वाली कार ने दुनावा के पास भिड़ंत हो गई।

दुनावा रिन घाट पर कार से भीषण हादसा जिसमे बाइक चालाक बंटी देशमुख एंव सुदामा कौशिक की मौत दोनों दुनावा निवासी है और वे अपनी मोटर साइकल से मुलताई जा रहे थे एंव मुलताई से तेज रफ़्तार से आ रही कार पहले रोड के साईड से लगी रेलिंग से टकराई और फिर मोटर साईकिल को चपेट में ले लिए जिससे दोनों दुनावा निवासी को काफी गंभीर चोटे आई एंव उनकी दुखद म्रत्यु हो गई कार चालाक भी घायल है।

बंटी देशमुख ओर साथी सुदामा कौशिक की सड़क दुर्घटना में मौत

राष्ट्रीय वंचित पार्टी ने मध्य प्रदेश में बजाई खतरे की बि‍गूल, बड़ी लड़ाई जीतने के लिए तैयारी


RVP राष्ट्रीय अध्यक्ष सुशील कुमार यादव

RVP के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुशील कुमार यादव  की  करीब दो हजार कि.मी. लम्बी चुनावी यात्रा

बुंदेलखंड से होते हुए चंबल के बीहड़ों में वंचितों के बीच दो दर्जन से अधिक सभाएं, सुनने के लिए आतुरता दिखी

Multapi Samachar

Bhopal (Madhya Pradesh, India) अभी हाल ही के दिनों में राष्ट्रीय वंचित पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुशील कुमार यादव  ने  करीब दो हजार कि.मी. से ज्यादा की चुनावी यात्रा की है। यह यात्रा करीब पूरे चार दिनों तक नॉन स्टाप चली। यात्रा का शुभारंभ भोपाल से विदिशा से होते हुए टीकमगढ़ और राजा राम की नगरी ओरछा से हुआ। फिर यात्रा समूचे बुंदेलखंड से होते हुए चंबल के बीहड़ों में वंचितों और संसाधनों से विहीन लोगों का हाल जानने के लिए पहुंची। चार दिनों के दौरान राष्ट्रीय वंचित पार्टी के मुखिया सुशील कुमार यादव ने दो दर्जन से अधिक जनसभाएं की। दस हजार से अधिक लोगों से प्रत्यक्ष और लाखों लोगों से अप्रत्यक्ष संवाद स्थापित किया।

उपचुनाव पर पड़ेगा प्रभाव

पूरे संवाद की थीम वंचितों के हक और उन्हें मिलने वाले अधिकारों पर आधारित थी। बुंदेलखंड और चंबल मध्य प्रदेश के वही अंचल हैं, जहां गरीबी, बेकारी, नशा व अपराध की जड़ें काफी गहराई तक घर कर गर्इं हैं। राजनीतिक गलियारों में वंचितों के लिए किए गए इस दौरे को लेकर कई तरह की चर्चाएं हो रही है। सभी विश्लेषक अपनी-अपनी नजर से इस यात्रा की विवेचना कर रहे हैं। बात कुछ भी हो लेकिन श्री यादव ने जिस तरह से प्रदेश के इन दो हिस्सों में वंचितों की फौज तैयार की है, यह आने वाले दिनों में बड़े राजनीतिक दलों के लिए खतरे की घंटी हो सकती है। इसका प्रभाव न सिर्फ वर्तमान उपचुनाव में पड़ेगा बल्कि आने वाले राजनीतिक कालखंड में भी पड़ेगा।

अंगारा बनेगा दीया

यह दौरा सिर्फ वर्तमान का कोई राजनीतिक दौरा नहीं बल्कि जनमत निर्माण का एक बड़ा सूत्र है। तभी तो जनसंवाद और जनसंपर्क के साथ-साथ वंचितों के हक के लिए लड़ने वालों की जिम्मेदारियां इन क्षेत्रों में सतत तय की जा रही हैं। राष्ट्रीय वंचित पार्टी के रूप में वंचितों के लिए जलने वाला ये दीया आने वाले समय में अंगारा बनकर नशा, अपराध, बेरोजगारी, बेकारी समेत भ्रष्टाचार को जलाकर राख कर सकता है। इस दल ने वंचितों व दलितों का निर्धारण जन्म के अधार पर नहीं संसाधनों के आधार पर किया है। इस कारण पार्टी हर एक पिछड़े को वंचित और दलित कह रही है।

युवाओं ने गर्मजोशी से स्वागत किया राष्ट्रीय अध्यक्ष सुशील कुमार यादव। साथ में वरिष्ठ संपादक जयसिंह चौहान।

बदलाव चाहता है वंचित

पार्टी के कार्यकर्ताओं का कहना ये भी है कि हमारी कौम हर एक समाज और जाति में है। हम सब पार्टी के शीर्ष नेतृत्व में वंचितों के हक के लिए लड़ते रहेंगे। अभी तो ये शुरूआत है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता दिनेश सिंह सिकरवार एडवोकेट का कहन है कि सुशील कुमार यादव की चुनावी यात्रा से साफ हो गया है कि वंचित आज भी वंचित है। वह बदलाव चाहता है। राष्ट्रीय वंचित पार्टी इस बदलाव का वाहक बनेगी।

वंचितों ने खाट पर दरी बिछाकर बैठाया जो सबसे बड़ा सम्मान है।

सुख-दुख का भागीदार

राष्ट्रीय वंचित पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी और जाने-माने पत्रकार जयसिंह चौहान कहते हैं कि किसी भी पार्टी के एजेंडे में वंचित है ही नहीं। केवल आरवीपी ने वंचितों को एजेंडे में लिया है। हम कहते हैं कि वंचित ही दलित है। मतलब जो भूखा है, रोजगारविहीन है, कष्ट में है, वही दलित है। इसका जाति से कोई लेना-देना नहीं है। अन्य दलों के लिए दलित  जाति से है भले ही वह आईएएस और आईपीएस हो क्यों न। राष्ट्रीय अध्यक्ष सुशील कुमार यादव की लम्बी यात्रा ने वंचितों को नया सूरज दिखाया है। उनमें यह आशा जगी है कि कोई है तो है जो उनकी बात कह रहा है, उनके बीच जा रहा है और उनकी सुख-दुख का भागीदार है।    

आईटीबीपी के जवानों ने 15 घंटे पैदल चलकर एक महिला की जान बचाई


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

भारतीय सेना के जवान बॉर्डर पर देश की रक्षा करने के साथ ही मौका आने पर वो आम लोगों के लिए संकटमोचक बनकर सामने आते हैं। ऐसी ही एक खबर उत्तराखंड के पिथौरागढ़ से आई है। यहां इंडो तिब्बत बॉर्डर पुलिस के जवानों ने एक घायल महिला को कंधों पर उठाकर 40 किलोमीटर का सफर 15 घंटे में पैदल पूरा किया, और उसे अस्पताल पहुंचाया।

गुरुवार को यह महिला एक पहाड़ी से गिरकर घायल हो गई थी। इस दुर्घटना में उसका पैर टूट गया था। 14 वी बटालियन आईटीबीपी के जवानों ने सभी कठिनाइयों का सामना करते हुए उसे इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया।

गौरतलब है कि लपसा गांव पिथौरागढ़ के दूरदराज इलाके में स्थित है। बारिश और बाढ़ के कारण यहां लैंडस्लाइड भी हुआ है। जिसकी वजह से रास्ता टूट गया है। लगातार दो दिनों तक आईटीबीपी के जवानों ने हेलीकॉप्टर को इलाके में लैंड कराने की कोशिश की लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली। इसके बाद घायल महिला को पैदल ही अस्पताल पहुंचाने का फैसला लिया गया। आईटीबीपी के 25 जवानों ने घायल महिला को स्ट्रेचर पर रखा और 40 किलोमीटर दूर अस्पताल पहुंचाया। आईटीबीपी के जवानों की काबिले तारीफ है।

मुलतापी समाचार