Category Archives: बडी खबर

हेटी में ट्रांसफार्मर से तार क्यो काटा कहने पर की किसान की पत्नी से मारपीट


मुलतापी समाचार

मुलताईं। थाना क्षेत्र के ग्राम करपा में ट्रांसफार्मर पर तार लगाने की बात को लेकर जहां भतीजे ने चाचा की हत्या कर दी। वही रविवार ग्राम
हेटी में एक किसान द्वारा ट्रांसफार्मर से मोटर का तार क्यो काटा कहा तो किसान की पत्नी के साथ लकडी एवं पत्थर से मारपीट कर मुंह पर चोट पहुंचाई है। ग्राम हेटी निवासी गोकुल पिता श्याम देवासे ने थाने में लिखित आवेदन देकर बताया कि उसके खेत में बिजली का ट्रांसफार्मर स्थित है।ग्राम हैटी निवासी तीरन देवासे उसके खेत में स्थित ट्रांसफार्मर में चालू लाइन में डीओ से छेड़छाड़ कर रहा था तथा गोकुल एवं अन्य लोगों की मोटर के तार काट दिए तो गोकुल ने कहा की मोटर के तार क्यों काटे तो तीरन ने गोकुल की पत्नी को लकड़ी एवं पत्थर से मारपीट का मुंह पर चोट पहुंचाई जिससे कि गोकुल की पत्नी का मुंह फट गया तथा गोकुल के साथ गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी दी।पुलिस द्वारा मामले में जांच की जा रही है।

जुंआरियों के लिए जंगल सुरक्षित अड्डा बना- टेटरमाल और बोड़ रोड़ जंगल


मुलतापी समाचार

बैतूल । बीजादेही थाना क्षेत्र इन दिनों जुएं के अड्डे चलाने वालों को सबसे सुरक्षित जोन नजर आने लगा है। अब जो जानकारी चर्चाओं में सामने आ रही है उसके अनुसार जुंआरियों ने टेटरमाल और बोड़ के जंगल को अपना नया सुरक्षित अड्डा बना रखा है। यहां भी लग्जरी गाडिय़ों की आवाजाही शुरू हो गई है। कहा जा रहा है कि इटारसी, होशंगाबाद, लोकल शाहपुर, भौंरा, चोपना आदि क्षेत्र से भारी संख्या में जुंआरी टू-व्हीलर और फोर व्हीलर से जंगल में मंगल मनाने जा रहे है। 

  जिस तादाद में इन लोगों की आवाजाही हो रही है उससे आसपास के आदिवासी दहशत में है। बताया जा रहा है कि कि इसकी सूचना ग्राम कोटवारों के माध्यम से पुलिस तक भी पहुंच चुकी है, लेकिन पता नहीं क्यों जुंआरियों में पुलिस को लेकर जरा भी खौफ नहीं है। जुएं के अड्डे चलाने वाले जुंआरियों को भरोसा दिलाते है कि कोई परमिशन जैसी चीज है। जिससे जुंआरियों में पुलिस को लेकर खौफ नहीं है। हालांकि जुएं के अड्डे चलाने वाले झूठ भी बोल सकते है, लेकिन लोगों का मानना है कि जब तक पुलिस की दबिश नहीं होगी। तब तक जुंआरियों में खौफ पैदा नहीं होगा और यह अड्डे ऐसे ही चलते रहेंगे। 
एक अनुमान के मुताबिक यहां पर हर दिन 1 लाख से लेकर 5 लाख रूपये तक की नाल ही कट रही है। यदि नाल से जुएं की फड़ का अंदाजा लगाया जाए तो यह लाखों में होगी। इतने बड़े पैमाने पर जुएं के अड्डे चलने से कई तरह के असामाजिक तत्वों की आवाजाही इस ग्रामीण क्षेत्र में बढ़ रही है। जुएं के अड्डे पर खाने-पीने के लिए हर तरह का साजो साज सामान उपलब्ध है। इससे समझ आता है कि बौड़ और टेटरमाल के जंगल में एक तरह का खुला केसिनों ही चल रहा है।

भतीजे ने चाचा को पैसो के विवाद के चक्कर मौत के घाट उतारा, चचेरा भी गंभीर हालत में नागपुर भर्ती कराया


Multapi Samachar

Multai News

मुलताई थाना क्षेत्र के ग्राम करपा में खेत में लगे ट्रांसफार्मर में लगाने के लिए खरीद कर लाए तार के रुपए मांगने की बात पर हुए विवाद में भतीजे ने अपने चाचा और चचेरे भाई पर पत्थर और लकड़ी से हमला कर दिया। घटना में गंभीर चोट आने से बुजुर्ग चाचा की घटना स्थल पर ही मौत हो गई जबकि चचेरा भाई गंभीर रूप से घायल हो गया। 
    थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी ने बताया ग्राम करपा निवासी रामसिंह बुवाडे 65 साल और उसके भाइयों के खेत में लगे बिजली कनेक्शन एक ही ट्रांसफार्मर से जुड़े हैं। शनिवार को रामसिंह का पुत्र गोलू 30 साल ट्रांसफार्मर में लगाने के लिए तार खरीद कर लाया था। शनिवार दोपहर में खेत में गोलू ने तार खरीदने की एवज मे लगी राशि अपने चचेरे भाई राकेश से मांगी। राकेश ने तत्काल राशि देने से इनकार किया। गोलू ने बिजली का उपयोग नहीं करने की बात कही। इस बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद के दौरान रामसिंह भी खेत में ही मौजूद था। रामसिंह ने गोलू की बात का समर्थन किया तो राकेश ने   लकड़ी और पत्थर से रामसिंह के साथ मारपीट की। मारपीट में रामसिंह को सिर मे गंभीर चोट आने से उसकी घटना स्थल पर ही मौत हो गई। विवाद में बीच बचाव कर रहा गोलू भी गंभीर रूप से घायल हो गया। परिजन गोलू को गंभीर अवस्था में उपचार के लिए सरकारी अस्पताल लाए।  घटना की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची। टीआई श्रीसोलंकी ने बताया
 रामसिंह की बहू घटना के दौरान खेत में ही मौजूद थी। उसने राकेश द्वारा मारपीट करने की जानकारी दी है। अभी रामसिह  की बहू से पूछताछ की जा रही है। मारपीट की घटना में राकेश के अलावा और भी लोग  शामिल थे क्या इसकी जानकारी ली जा रही है।  वहीं राकेश की तलाश की जा रही है। घटना में घायल गोलू की हालत गंभीर होने से उसे नागपुर के अस्पताल में उपचार के लिए ले गया है। घटना की सूचना पर पुलिस ने मर्ग कायम किया है।

33 हजार कीमत की 42 सैगोन चरपट से भरी गाड़ी आधी रात में पकड़ी


42 चरपट ले जाते हुए पकड़ाए सागौन चोर

वाहन में सब्जी के कैरेट के नीचे छिपाकर रखे थे सागौन चरपट

सावलमेंढा वन परीक्षेत्र सामान्य द्वारा की गई एक और बड़ी कार्रवाई

आठनेर। वन सुरक्षा चौकी अंधेर बावड़ी परिक्षेत्र सामान्य में पदस्थ अमले ने शनिवार रात्रि में महाराष्ट्र राज्य की सीमा से लगे क्षेत्र के सागौन माफिया को रंगे हाथों पकड़ने में कामयाबी हासिल की है। यह क्षेत्र महाराष्ट्र की सीमा से सटे होने के कारण चोरी की घटना को अंजाम देते रहते थे। शनिवार मध्य रात्रि 2 से 3 बजे के बीच वन कर्मियों की सक्रियता से अंधेर बावड़ी से साकली वन मार्ग गौली मोहल्ला के पास वाहन क्रमांक एमएच 27 बी एक्स 1530 पिक अप 207 टाटा वाहन में सब्जी के खाली कैरेट के नीचे नीचे छुपा कर रखी 42 नग सागौन की चरपट जो 0.813 घन मीटर थी जिसकी कीमत 33 हजार आंकी गई, चोरी से ले जाते हुए पकड़ा गया। वन क्षेत्र के डिप्टी रेंजर संतोष मवासे ने बताया कि उक्त वाहन हुसैन खान अमरावती निवासी का है जिसकी तलाश की जा रही है। ज्ञात हो कि पिछले माह भी सावलमेंढा परीक्षेत्र सामान्य में पदस्थ डिप्टी रेंजर संतोष कुमार मवासे एवं वन रक्षक राजेश पंचोली के संयुक्त प्रयासों से क्षेत्र के ग्राम दाबोना में वाहन क्रमांक एमएच 27 ए 4430 को पकड़कर 31 नग 0.716 घन मीटर वनोपज जप्त कर कार्यवाही की थी। उसके बाद 28 सितंबर को वाहन क्रमांक एमएच 26 टी 1697 टाटा सुमो जीप से 30 नग 0.633 घन मीटर जप्त कर कार्यवाही की थी। इसी प्रकार शनिवार 8 नवंबर को बोथी अंधेरबावड़ी साकली के बीच शनिवार को वन सुरक्षा चौकी स्टाफ बाबजयी बेलकुंड के साथ गस्ती करते हुए सागौन चोरों को पकड़ा। इस कार्यवाही से चोरों के हौसले पस्त हुए है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बैतूल में इस सत्र की फीस वृद्धि के विषय मे निदेशक महोदय जी को ज्ञापन सौपा।


✍️ राहुल सारोडे

बैतूल मुल्ताई। (मुलतापी समाचार) आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बैतूल ने स्वामी विवेकानंद महाविद्यालय में इस सत्र की फीस वृद्धि के विषय मे निदेशक महोदय जी को ज्ञापन सौपा। जिसमें महाविद्यालय प्रशासन ने विद्यार्थियों को लिखित में यह आस्वासन दिया कि 22 नवंबर को कॉलेज की बैठक में कॉलेज प्रशासन एवं विद्यार्थियों के हित को देखते हुए फीस कम की जायेगी।

नगर मंत्री अंकित हरोड़े ने बताया कि आज से पहले भी अभाविप नगर का प्रतिनिधि मंडल प्रिंसिपल महोदय से मुलाकात कर इस विषय को अवगत कराया गया था, उन्होंने कुछ दिनों का अस्वासन दिया था परंतु अस्वासन पूर्ण नही किया गया

इसलिए आज अभाविप कॉलेज के विद्यार्थियों के साथ परिसर में उग्र प्रदर्शन के लिए उपस्थित रही। एवं 22 तारीख को विद्यार्थियों को देखते हुए फीस नही कम की गई तो अभाविप उग्र आंदोलन के लिए बाध्य रहेगी। इसकी जिम्मेदारी कॉलेज प्रशासन की होगी।

मध्यप्रदेश में फिर हुआ महिला पर एसिड अटैक , करवा चौथ की रात आरोपी प्रेमी ने नर्स महिला बिस्तर सहित जलाया


नर्स पर एसिड अटैक:एसिड डालने के बाद आरोपी भाग निकला जिस बिस्तर पर नर्स सोई थी वह जल गया

जला बिस्तर व कंबल जब्त, हत्या के प्रयास व एसिड अटैक की धारा में केस

एसिड अटैक के कारण 35 वर्षीय नर्स गंभीर स्थिति में है। तेजनकर अस्पताल में साथ काम करने वाली नर्सों ने बताया स्थिति इतनी गंभीर है कि वह बात तक नहीं कर पा रही है। पुलिस ने आरोपी मुकेेश को हिरासत में ले लिया है।

सांईधाम कॉलोनी में हेमराज प्रजापति का मकान है यहीं पर नर्स व मुकेश ने 11 महीने पूर्व किराए से मकान लिया था। घटना के बाद नीलगंगा पुलिस ने जला हुआ बिस्तर, कंबल व मग्गा भी जब्त किया है, जिसमें एसिड होना प्रतीत हो रहा है।

अस्पताल पहुंचे सीएसपी रवींद्र वर्मा ने युवती की हालत को लेकर डॉक्टरों से बात की। वर्मा ने कहा कि आरोपी पर धारा 307 व एसिड अटैक की धारा 326 ए में केस दर्ज कर लिया है। आरोपी को दबिश देकर हिरासत में ले लिया गया है।

पिता बोले- आरोपी ने कायराना काम किया, फांसी की सजा हो : पिता ने कहा आरोपी मुकेश उनके गांव का ही है और खुद भी शादीशुदा है। उसने शंका में बेटी को इस मानसिकता से जला दिया कि उसके बाद उसे कोई देखे तक नहीं।

वह बेटी के साथ 13 साल से रहा लेकिन कायराना कृत्य करने से पहले जरा भी उसका दिल नहीं पसीजा। उसे फांसी की सजा हो।

एक्टर विजय राज पर लगा छेड़छाड़ का आरोप, पुलिस ने किया गिरफ्तार


बॉलीवुड एक्टर विजय राज को पुलिस ने महाराष्ट्र के गोंदिया जिले से गिरफ्तार किया है। विजय पर फिल्म की महिला क्रू मेंबर के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगा है।हालांकि बाद में विजय को जमानत मिल गई। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि सोमवार को महिला ने पुलिस में अभिनेता के खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत की थी।

महिला ने आरोप लगाया कि राज ने सोमवार को मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले में फिल्म ‘शेरनी की शूटिंग के दौरान उनसे छेड़छाड़ की। उन्होंने बताया कि अभिनेता के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। राज को गोंदिया के एक होटल से गिरफ्तार किया गया जहां क्रू सदस्य ठहरे हुए हैं।

विरोध के बाद भी हल नहीं, मक्का के दामों में सुधार नहीं


✍️ राहुल सारोडे

बैतूल मुलताई (मूलतापी सामाचार)। सोयाबीन की जगह मक्का उत्पादन को फायदेमंद मान रहे किसान अब पछताने को मजबूर हैं। एक ओर जहां शासन द्वारा भावांतर या समर्थन मूल्य पर मक्का की खरीदी नहीं की जा रही है वहीं दूसरी ओर मंडी में इसके बेहद कम दाम मिल पा रहे हैं। सोमवार को विरोध जताने के बाद भी स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ। यही कारण है कि अब किसानों को उनका हक दिलाने भारतीय किसान संघ द्वारा मोर्चा संभाला जा रहा है। संघ की इसे लेकर बुधवार को महत्वपूर्ण बैठक रखी गई है।

बीते कई सालों से जिले के किसान सोयाबीन का उत्पादन कर रहे थे। इसके चलते जमीन की उर्वरा क्षमता खत्म होती जा रही थी और उत्पादन में भी कमी आ रही थी। इसे देखते हुए कृषि विज्ञानियों और कृषि विभाग ने किसानों को सोयाबीन की जगह मक्का का उत्पादन करने की सलाह दी थी। उनकी सलाह को सिर आंखों पर रखते हुए किसानों ने पिछले कुछ सालों में मक्का का रकबा काफी बढ़ा लिया है। यही कारण है कि सीजन आते ही मंडी में मक्का का अंबार लग जाता है। पहले शासन ने किसानों को उचित दाम दिलाने के लिए भावांतर भाव योजना के तहत मक्का की खरीदी की, लेकिन इस साल शासन की किसी योजना का अता-पता नहीं है। शासन ने मक्का का समर्थन मूल्य 1850 रुपये प्रति क्विंटल घोषित तो कर दिया पर समर्थन मूल्य किसानों को दिलवाने के लिए कोई प्रयास नहीं किए जा रहे हैं। यही कारण है कि किसानों को औने-पौने दामों पर मक्का बेचना पड़ रहा है। इसे लेकर सोमवार को किसानों ने जमकर विरोध जताया। हंगामे को देखते हुए एसडीएम सीएल चनाप को भी मंडी पहुंचना पड़ा। इसके बावजूद मंगलवार को स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ। आज भी मक्का के दाम में कोई इजाफा नहीं हो सका।

आज यह रहे मक्का के दाम

मंगलवार को कृषि उपज मंडी में 7166 मक्का की आवक हुई जबकि सभी तरह की जिंसों की 15344 बोरे आवक हुई। मक्का के आज न्यूनतम दाम 1000 रुपये और उच्चतम दाम 1409 रुपये रहे वहीं प्रचलित मूल्य 1320 रुपये रहा। इससे पहले सोमवार को 14011 बोरे मक्का और सभी तरह की जिंसों की 30463 बोरे आवक हुई थी। मक्का का न्यूनतम मूल्य 1002 रुपये और उच्चतम मूल्य 1401 रुपये रहा वहीं प्रचलित मूल्य 1350 रुपये रहा। जाहिर है कि आज भी दाम में कोई सुधार नहीं हुआ और किसानों को समर्थन मूल्य से काफी कम दामों पर अपनी मक्का बेचना पड़ रहा है।

अब किसान संघ उठाएगा किसानों की मांग

मंडी में भी उपज के वाजिब दाम नहीं मिल पाने का देखते हुए अब भारतीय किसान संघ द्वारा इस मुद्दे को उठाया जा रहा है। इस सिलसिले में संघ की महत्वपूर्ण बैठक 4 नवंबर को दोपहर 12.30 बजे से कृषि उपज मंडी बडोरा में रखी गई है। इसमें जिला एवं तहसील के सभी कार्यकर्ताओं को बुलाया गया है। संघ के जिला मंत्री मनोज नावंगे ने बताया कि मक्का के समर्थन मूल्य से कम दामों पर बिकने को लेकर पहले प्रशासन को ज्ञापन सौंपा जाएगा। इसके बावजूद यदि स्थिति नहीं सुधरती है तो फिर बैठक में जो भी निर्णय लिया जाएगा, उसके अनुसार कदम उठाए जाएंगे। यदि जरुरत पड़ी तो आंदोलन भी किया जाएगा।

वे बोले…

मक्का के कम दाम मिलने और किसानों के विरोध को देखते हुए इस संबंध में वरिष्ठ कार्यालय और जिला प्रशासन को पत्र लिखा गया है। व्यापारियों से भी चर्चा की गई है, लेकिन उनका कहना है कि अभी बाजार में मक्का के कम ही रेट चल रहे हैं। इसलिए वे अधिक दाम नहीं दे पा रहे हैं। इस संबंध में शासन स्तर से जो भी निर्देश प्राप्त होंगे, उसके अनुसार कार्यवाही की जाएगी।

एसके भालेकर, सचिव, कृषि उपज मंडी, बडोरा, बैतूल

किसकी होंगी जीत ओर किसकी होंगी हार ‘कमल’ या ‘कमल नाथ’ की होंगी सरकार, जनता का फैसला मंगलवार को


मुलतापी समाचार

प्रदेश की सत्ता का भविष्य तय करने वाले 19 जिलों की 28 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए मंगलवार को मतदान किया जाएगा। इसमें 63 लाख से ज्यादा मतदाता अपने मताधिकार के जरिये तय करेंगे कि प्रदेश में ‘कमल’ की सरकार बरकरार रहेगी या कमल नाथ को ताज मिलेगा। कोरोना संकट के कारण मतदान सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक किया जा सकेगा। इस बार एक घंटे का समय बढ़ाया गया है।

अंतिम एक घंटे में सामान्य मतदाताओं के अलावा कोरोना पॉजिटिव या असामान्य तापमान वाले मतदाताओं को मतदान का अलग से अवसर दिया जाएगा। सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुख्ता इंतजाम कर लिए गए हैं। कोरोना गाइडलाइन का पालन करवाने की व्यवस्था की गई है। शाम तक 12 मंत्रियों सहित 355 प्रत्याशियों का भविष्य ईवीएम में कैद हो जाएगा।

40 फीसद मंत्रियों का भविष्य दांव पर

MP Assembly By Elections:  'कमल' की सरकार या कमल नाथ को ताज, जनता का फैसला मंगलवार को

12 मंत्रियों सहित 355 प्रत्याशियों का भविष्य ईवीएम में होगा कैद – कोरोना संकट के कारण सुबह सात से शाम छह बजे तक होगा मतदान।

MP Assembly By Elections भोपाल

उपचुनाव में शिवराज सरकार के 34 में से 40 फीसद मंत्रियों का भविष्य दांव पर है। दो पूर्व मंत्रियों (गोविंद सिंह राजपूत और तुलसीराम सिलावट) को छह माह में विधायक नहीं बन पाने के संवैधानिक प्रविधान की वजह से इस्तीफा देना पड़ा, वे चुनाव मैदान में हैं।

साथ ही 12 गैर विधायक मंत्री भी चुनाव मैदान में हैं। उपचुनाव के नतीजों से इन सभी का राजनीतिक भविष्य तय होगा। दरअसल, इन सभी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस छोड़ी थी और विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। सत्ता का समीकरण साधने के लिए भाजपा ने 14 पूर्व विधायकों को मंत्री बनाया और 

National हाईवे पर पुलिस ने भेड़ बकरियों से भरा ट्रक पकड़ा 24 घंटे से खड़े ट्रक में भरी बकरियों  में  से 2 बकरियों की हुईं मौत


प्रशासन ने की कोई व्यवस्था

मुलताई news

मुलतापी समाचार

 नेशनल हाईवे से भेड़ बकरियों को भरकर जा रहे ट्रक को पुलिस ने पकड़ा। और  ट्रक को एक्सीलेंस स्कूल के खेल मैदान पर खड़ा करा दिया। 22  घंटे से अधिक समय से खेल मैदान पर खड़े ट्रक में भरी बकरियों को चारा पानी नहीं मिलने  से दो बकरियों की मौत हो गई। और तीन बकरियां अचेत हो गई।
     रविवार रात 10 बजे के दरमियान खुरई से भेड़ बकरी भरकर हैदराबाद जा रहा ट्रक फोरलेन मार्ग के बायपास से गुजर रहा था। उसी दौरान पुलिस ने ट्रक को पकड़ा और एक्सीलेंस स्कूल के खेल मैदान पर लाकर खड़ा करने के बाद ट्रक चालक को थाने में ले गया। रविवार रात भर और सोमवार पूरे दिन ट्रक खेल मैदान पर खड़ा रहा। लेकिन 24 घंटे कार्रवाई करने में  बिता दिए इस दौरान ट्रक में भरी भेड़ बकरियों के लिए पानी आदि की व्यवस्था नहीं होने से दो बकरियों की मौत हो गई। ट्रक के साथ चल रहे मजदूर संतोष किरार ने बताया कि रविवार रात 10 बजे से ट्रक खड़ा है। 

इस संबंध में थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी ने बताया कि बकरा बकरी का अवैध परिवहन करने सहित अन्य धाराओं के तहत ट्रक चालक के खिलाफ केस दर्ज कर कोर्ट में प्रस्तुत किया है। 250 बकरा बकरी और भेड़ जप्त की है। ट्रक से बकरा बकरी और भेड़ उतारने के बाद भूख प्यास से मर रही है। इसकी जवाबदारी ट्रक मालिक की है।