Category Archives: मध्‍यप्रदेश मुख्‍यमंत्री, MP CM ,

MP मैं पटवारियो पर शिवराज सरकार हुई सख्त, जारी की हेल्पलाइन नंबर


मुलतापी समाचार

मध्यप्रदेश सरकार पटवारियों के भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है, अब गावं में किसानो से कोई भी पटवारी अगर जमीन नपित करने या नामांतरण के लिए रिश्वत् मांगता है, तो इसे रोकने सरकार द्वारा हेल्पलाइन नंबर : 96305 24516 जारी किया गया है, कोई भी भूमि स्वामी इस नंबर पर पटवारी के विरुद्ध शिकायत दर्ज करा सकते है

महात्मा गांधी ग्राम सेवा केंद्र के vle कर्मचारियों को 8 माह से नही मिला मानदेय – कलेक्टर को सौपा ज्ञापन


बैतूल के कर्मचारियों को 8 माह से नही मिली तन्खा

जिले में कार्यरत ग्रामस्तरिय vle को प्रोजेक्ट के माध्यम से अभी तक नही मिला मानदेय के तहत आज बैतूल कलेक्टर ऑफिस में संघठन तैयार कर vle द्वारा ज्ञापन सौंपा गया

पंचायती राज एव ग्रामीण विकास विभाग की परियोजना महात्मा गांधी ग्राम सेवा केंद्र परियोजना में पंचायत स्तर पर केंद्र संचालन हेतु चयनित जिले की 99 पंचयात के VLe ग्रामीण स्तरीय उयदमी को 8 माह से नही मिला मानदेय।

मध्यप्रदेश पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग एवं सीएससी ई-गवर्नेस इंडिया लिमिटेड के माध्यम से बैतूल जिले के सभी जनपदो की चयनित 99 ग्राम पंचायतो में ग्राम पंचायत भवन से ग्राम पंचायत के डिजिटलाइजेसन एवं ग्राम पंचायत स्तर पर आमजनो को G2G, G2B, B2C,G2C सेवाए उपलब्ध कराये जाने हेतु 99 VLE का चयन किया गया था |
वर्तमान मे महात्मा गांधी ग्राम सेवा केंद्र (CSC 2.0) परियोजना अंतर्गत सभी ग्राम पंचायतो से चयनित VLE अपनी सेवाए विगत 8 माह (जुलाई – अगस्त 2020) से पुरी निष्ठा और ज़िम्मेदारी से प्रदान कर रहे है |

सभी VLE के द्वारा शासन की “ आयुष्मान आपके द्वार “ योजना मे भी जिले की विभिन्न ग्राम पंचायतों मे निशुल्क आयुष्मान कार्ड बनाकर हितग्राहियो को लाभ प्रदान कर रहे हैं, किन्तु विगत 8 माह से मानदेय न मिलने के कारण हमारे सामने रोजी-रोटी व परिवार पालने का सकंट उत्पन्न हो रहा हैं | कर्मचारियों में मानदेय न मिलने के कारण रोष व्याप्त है।

Betul नए कलेक्टर होंगे मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस के बेटे IAS अफसर अमनवीर सिंह


इससे पहले सतना में नगर निगम आयुक्त पदस्थ रहें।

सतना नगर निगम के नवागत आयुक्त 2013 बैच के आईएएस अफसर अमनवीर सिंह बैस

Ias अमनवीर सिंह बेस ने पदभार समहलते ही पूछा ऐसा सवाल , अधिकारियों के उड़गये होस । सतना नगर की समस्या पर पूछे कई सवाल, जिनमे रोड की समस्या प्रमुख थी कि रोड में इतने गड्ढ़े क्यों, अधिकारीयो में हड़बड़ाहट मच गयीं थी । देने लगे थे उलटे पुल्टे सवाल।

मप्र CM – बैतूल और नीमच के कलेक्टर पर गिरी गाज, गुना-निवाड़ी के एसपी भी हटाए गये


Breaking news

Multapi samachar

सीएम की आज हुई वीसी के बाद दो कलेक्टर और दो एसपी पर गिरी गाज, अभी हो रहे हैं हटाने के आदेश खबर सूत्रों के हवाले से प्राप्त

जिले के लोव पर्दशन के कारण बैतूल कलेक्टर हटाये गए,

कार्य मे लापरवाही बरतने के कारण, 11 माह के कार्यकाल में ही हटा दिए गए ,

बीजेपी जनप्रतिनिधियों की नाराजगी भी बन है शक्ति प्रमुख वहज

सीएम की कलेक्टर, कमिश्नर कॉन्फ्रेंस के बाद बैतूल कलेक्टर राकेश सिंह और नीमच कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे पर गाज गिरी है और इनके हटाने के आदेश जारी हो रहे हैं। इसी प्रकार
निवाड़ी एसपी वाहिनी सिंह और गुना एसपी राजेश सिंह भी हटाए जा रहे है। गुना सीएसपी टीएस बघेल भी हटाए जा रहे है। बताया गया है कि कार्य में लापरवाही के चलते सीएम ने सख़्त एक्शन लिया है।

कमजोर प्रदर्शन करने वाले अधिकारियों पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की नाराजगी भारी पड़ गई। कलेक्टर-कमिश्नर, आइजी और पुलिस अधीक्षक के साथ वीडियो कांफ्रेंस खत्म होने पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को बैतूल कलेक्टर राकेश सिंह और नीमच कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे को हटाने के निर्देश दे दिए। वहीं, बोहरा धर्म गुरू सैयदना साहब का नाम एफआइआर में शामिल करने पर गुना पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह और नगर पुलिस अधीक्षक नेहा पच्‍चीस‍िया को हटाने का आदेश दिया। निवाड़ी की पुलिस अधीक्षक वाहिनी सिंह को भी हटाने के लिए कहा। इनके तबादला आदेश जारी कर द‍िए गए हैं । राजेश सिंह और वाहिनी सिंह को पुल‍िस मुख्‍यालय में सहायक पुलि‍स महान‍िरीक्षक बनाया गया है जबकि‍ नेहा को भी पुल‍िस मुख्‍यालय में उप पुल‍िस अधीक्षक बनाया गया है।

राज्य निर्वाचन आयोग ने 3 महीने के लिए टाले नगरीय निकाय चुनाव, 20 फरवरी के बाद होंगे चुनाव


मुलतापी समाचार

भोपाल. मध्यप्रदेश में कोरोना के फिर से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए राज्य निर्वाचन आयोग ने नगरीय निकाय और त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों को टाल दिया है। फिलहाल इन चुनावों को टाला गया है । चुनाव कब कराए जाएंगे इस पर राज्य निर्वाचन आयोग 20 फरवरी के बाद निर्णय लेगा। राज्य निर्वाचन आयोग का कहना है कि कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच वर्तमान परिस्थितियों में चुनाव कराना संभव नहीं है।

तीन महीने के लिए टले निकाय चुनाव


राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से शनिवार को नगरीय निकाय चुनाव और त्रि स्तरीय पंचायत चुनावों को टाले जाने के संबंध में आदेश जारी किया गया । इस आदेश में आयोग ने लिखा है राज्य के कुल 407 नगरीय निकायों में से 307 का कार्यकाल 25 सितंबर 2020 को समाप्त हो गया है और 8 नगरीय निकायों का कार्यकाल जनवरी और फरवरी 2021 में पूरा हो रहा है। त्रिस्तरीय पंचायतों में पंच, सरपंच, जनपद सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्यों का कार्यकाल भी मार्च 2020 में समाप्त हो चुका है । इनके साथ ही 29 नवगठित नगर परिषदों का निर्वाचन भी कराया जाना है। चुनाव आयोग चुनाव कराने के लिए पूरी तरह से तैयार है। राज्य सरकार प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण की स्थिति पर नजर रखे ऱ जब भी आंकड़ों तथा अपनी तैयारी के हिसाब से सरकार ये तय करेगी कि अब चुनाव कराए जा सकते हैं तो राज्य निर्वाचन आयोग को सूचित करे, आयोग तत्काल चुनाव कराने के लिए तैयार है।राज्य निर्वाचन आयोग अध्यक्ष ने ये कहा
राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने जानकारी दी है कि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा वर्तमान परिस्थितियों का आंकलन करने के बाद यह पाया गया है कि कोविड-19 के संक्रमण में निरंतर वृद्धि तथा जन-स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिगत स्वतंत्र एवं निष्पक्ष निर्वाचन प्रक्रिया सम्पादित किये जाने की स्थिति वर्तमान में नहीं है। अत: भारत के संविधान के अनुच्छेद 243-K एवं 243-ZA में प्राप्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए नगरीय निकायों के माह दिसम्बर-2020 एवं जनवरी-2021 में प्रस्तावित आम निर्वाचन, नगर परिषद नरवर जिला शिवपुरी को छोड़कर (माननीय उच्च न्यायालय के निर्णय अनुसार), 20 फरवरी 2021 के बाद कराये जायेंगे। इसी तरह इन्हीं परिस्थितियों के मद्देनजर त्रि-स्तरीय पंचायतों के माह दिसम्बर-2020 एवं जनवरी-2021 में प्रस्तावित आम निर्वाचन माह फरवरी-2021 के बाद कराये जायेंगे।

नवजात बच्चे को मृत घोषित कर पिता द्वारा समशान में दफनाने वक्त जिन्दा हो गया – गंजबासौदा


गंजबासौदा. डॉक्टरों और नर्सों की लापरवाही के मामले सामने आते रहते हैं। लेकिन मध्य प्रदेश के विदिशा जिले से जो घटना देखने को मिली उसने सारी हदें पार कर दीं। जहां नर्स ने इलाज के दौरान नवजात बच्चे को मृत घोषित कर दिया।

परिवार के सदस्य दुखी थे और बच्चे को दफनाने गए। परी तैयार हो गई, गड्ढे को भी खोदा, लेकिन जैसे ही उसने नवजात बच्चे को नीचे रखा, उसके हाथ और पैर हिलने लगे।

नर्स ने बताया कि बच्चे की मौत हो गई हैं, तब मां को नही हुआ यकीन

दरअसल, लापरवाही का यह मामला विदिशा जिले के गंजबासौदा अस्पताल का है। जहां संगीता नाम की महिला की डिलीवरी के बाद बच्चे की तबीयत बिगड़ गई। कुछ घंटों के बाद, नर्स ने बच्चे को मृत बताया और उसे परिवार को सौंप दिया।

प्रसूति को यकीन नहीं था कि उसका बच्चा इस दुनिया में नहीं है। वह इलाज की गुहार लगाती रही, लेकिन उसे मृत घोषित कर दिया।

जब किसी ने भगवान का चमत्कार कहा, तो किसी ने कहा

नवजात के पिता बबलू प्रजापति ने कहा कि मेरे बच्चे को नर्स रानी कुशवाहा ने मृत घोषित कर दिया था। हमने भी सही काम किया और दफन की तैयारी की। लेकिन उस समय, परमेश्वर का ऐसा चमत्कार हुआ कि वह साँस लेने लगा और वह हिलने लगा।

तो हम हैरान थे, कुछ कहने लगे कि यह भगवान का चमत्कार है। लेकिन कुछ ने कहा कि यह सब डॉक्टरों की गलती से किया गया था।

पूरी तरह से स्वस्थ हैं मासूम

अस्पताल की नर्स और स्टाफ की लापरवाही की शिकायत जिला चिकित्सा अधिकारी से की। जिसके बाद इस मामले पर कार्रवाई की गई थी। वहीं, जब बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर महेंद्र बाजोरिया और डॉक्टर अतुल जैन ने बच्चे की जांच की, तो वह सांस ले रहा था। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की रिक्त पदों की पूर्ति के अभियान की समीक्षा


मुलतापी समाचार

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड और विभाग स्तर पर रिक्त पदों की भर्ती के लिए की जा रही कार्यवाही की जानकारी अधिकारियों से प्राप्त की। उन्होंने रिक्त पदों की पूर्ति के लिए संचालित अभियान की समीक्षा की। बैठक में जेल, स्वास्थ्य, कृषि, पुलिस विभाग में रिक्त पदों की पूर्ति के संबंध में की जा रही कार्यवाही की जानकारी दी गई।बैठक में बताया गया कि गृह विभाग में आरक्षकों के 6 हजार 800 पदों, स्वास्थ्य विभाग में 2249 पदों और कृषि और किसान कल्याण विभाग में 800 पदों के लिए रिक्रूटमेंट टेस्ट की तैयारी हो गई है। उपयंत्री के ग्रुप 3 रिक्रूटमेंट टेस्ट 52 पदों के लिए हो रहे हैं। इसी तरह ग्रुप-2 एवं सब ग्रुप-4 के रिक्रूटमेंट टेस्ट हो रहे हैं जिनसे 240 पदों की पूर्ति हो सकेगी। जेल प्रहरी के 282 पदों के लिए रिक्रूटमेंट टेस्ट हो रहे हैं। बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस और विभिन्न विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

सम्पूर्ण प्रदेश में 16 सितम्बर को मनेगा अन्न उत्सव


प्रदेश के 37 लाख नये हितग्राहियों को होगा राशन वितरण आरंभ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की तैयारियों की समीक्षाऑटो चालकों को हितग्राही सूची में जोड़ने के निर्देश

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 16 सितम्बर का दिन प्रदेश के 37 लाख लोगों के लिए आशा-उत्साह और आनंद का दिन है। इन सभी को पात्रता पर्ची प्रदान कर अन्न उत्सव के अंतर्गत राशन वितरण आरंभ किया जाएगा। कोरोना काल में यह बड़ी राहत है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हितग्राहियों की पात्रता श्रेणी के अंतर्गत ऑटो चालकों को जोड़ने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान 16 सितम्बर को प्रदेश में खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत सम्मिलित हुए 37 लाख नए हितग्राहियों को पात्रता पर्ची और राशन वितरण कार्यक्रम के लिए जारी तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इसके बाद भी जो जरूरतमंद होगा उसे इस अभियान से जोड़ा जाएगा। राज्य सरकार हर गरीब के साथ खड़ी है। कार्यक्रम आयोजन में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग तथा नगरीय निकायों का भी सहयोग लिया जाएगा। बैठक में खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह भी उपस्थित थे।

समन्वय भवन में आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे

मुख्यमंत्री श्री चौहानअन्नपूर्णा योजना के अंतर्गत अन्न उत्सव के नाम से आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम का मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 16 सितम्बर को प्रात: 11.45 बजे भोपाल के समन्वय भवन में शुभारंभ करेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान हितग्राहियों से चर्चा भी करेंगे। प्रदेश के प्रत्येक जिले में आयोजित कार्यक्रम में राज्य के मंत्रीगण, सांसद तथा विधायकगण एक साथ राशन वितरण का शुभारंभ करेंगे। इसके साथ ही सभी ग्राम पंचायतों और वार्डों में भी अन्न उत्सव मनाया जाएगा। राज्यस्तरीय कार्यक्रम और मुख्यमंत्री के उद्बोधन का सीधा प्रसारण दूरदर्शन सहित सभी प्रमुख इलेक्ट्रॉनिक चेनल्स और वेबकॉस्ट के माध्यम से फेसबुक/टि्वटर पर सीधा प्रसारण होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए है कि सभी आयोजन स्थल पर कोरोना से बचाव की सावधानियों का अनिवार्यत: पालन सुनिश्चित किया जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आयोजन में दिव्यांगजन, वृद्धजन, महिलाओं आदि की सुविधा का ध्यान रखने के निर्देश भी दिए।9 जिलों में जुड़े एक लाख से अधिक हितग्राहीबैठक में जानकारी दी गई कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत फेरी वाले, हम्माल, तुलावटी, केश शिल्पी, बीपीएल कार्ड धारक, बीड़ी श्रमिक, साइकिल रिक्शा और हाथ ठेला चालक जैसी 25 श्रेणी के 37 लाख पात्र हितग्राही अन्न उत्सव से लाभान्वित होंगे। प्रदेश में इन्दौर, मुरैना, जबलपुर, भोपाल, ग्वालियर, भिण्ड, छिंदवाड़ा, छतरपुर तथा सागर में एक-एक लाख से अधिक नवीन हितग्राहियों को जोड़ा गया है। प्रदेश में 25 हजार 176 उचित मूल्य दुकानें संचालित हैं। मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित बैठक में अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्री मनोज श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति श्री फैज अहमद किदवई तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

तकनीकी शिक्षा की छात्राओं और दिव्यांग बच्चों के लिये प्रगति एवं सक्षम छात्रवृत्ति योजना


नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर ऑनलाइन कर सकेंगे आवेदन

Multapi Samachar

MP मध्‍यप्रदेश भोपाल। छात्राओं को तकनीकी शिक्षा के माध्यम से सशक्त करने तथा विशेष रूप से दिव्यांग बच्चों को तकनीकी शिक्षा के लिये प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से प्रगति तथा सक्षम छात्रवृत्ति योजना लागू है। दोनों योजनाओं के तहत 50 हजार रुपये प्रति वर्ष की छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् द्वारा दी जाने वाली छात्रवृत्ति के लिये अब इच्छुक विद्यार्थी नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

प्रमुख सचिव, तकनीकी शिक्षा श्रीमती देशमुख ने बताया कि प्रगति छात्रवृत्ति योजना के तहत स्नातक तथा डिप्लोमा करने वाली प्रथम तथा द्वितीय वर्ष की छात्राएँ, जिनकी वार्षिक पारिवारिक आय 8 लाख से कम हो, छात्रवृत्ति के लिये आवेदन कर सकती हैं। प्रगति छात्रवृत्ति योजना के तहत प्रतिवर्ष 10 हजार 500 छात्रवृत्ति दिये जाने का प्रावधान है, जिसमें 5 हजार स्नातक स्तर के तथा 5 हजार छात्रवृत्ति डिप्लोमा की छात्राओं को दिया जायेगा। प्रगति छात्रवृत्ति योजना के तहत 50 हजार रुपये प्रतिवर्ष दिये जायेंगे।सक्षम छात्रवृत्ति योजना के तहत विशेष रूप से दिव्यांग बच्चे, जो 40 प्रतिशत विकलांगता के साथ तकनीकी शिक्षा की पढ़ाई कर रहे हैं, उन्हें इस छात्रवृत्ति का लाभ मिलेगा। आठ लाख रुपये से कम वार्षिक पारिवारिक आय वाले प्रथम एवं द्वितीय वर्ष के छात्र इस योजना के तहत 50 हजार रुपये प्रतिवर्ष छात्रवृत्ति के लिये आवेदन कर सकते हैं।

प्रदेश में 16 सितम्बर से जनकल्याण पखवाड़ा AWW में बटेगा दुध


प्रधानमंत्री श्री मोदी के जन्म दिवस पर आँगनबाडिय़ों में होगा दुग्ध वितरण : मुख्यमंत्री श्री चौहान

पं. दीनदयाल उपाध्याय के जन्म दिवस 25 सितम्बर तक जनकल्याण कार्यक्रमों की श्रृंखला

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में 16 सितम्बर से जनकल्याण के कार्यक्रमों की श्रृंखला प्रारंभ हो रही है। यह श्रृंखला पं. दीनदयाल उपाध्याय के जन्म दिवस 25 सितम्बर तक निरंतर चलेगी।मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 16 सितम्बर को मध्यप्रदेश के करीब 37 लाख ऐसे गरीब भाई-बहनों को राशन का वितरण शुरु किया जा रहा है, जिनके पास पात्रता पर्ची नहीं है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 17 सितम्बर को प्रधानमंत्री श्री मोदी का जन्म दिवस है।

प्रधानमंत्री श्री मोदी ने सदैव गरीब वर्ग के कल्याण को प्राथमिकता दी है। इस नाते उनके जन्म दिवस पर प्रदेश के सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों में बच्चों को पोषण आहार के साथ ही दूध का वितरण भी प्रारंभ किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 18 सितम्बर को प्रदेश के 20 लाख किसानों के खातों में फसल बीमा योजना की राशि 4600 करोड़ रूपये खातों में अंतरित की जायेगी। कोरोना के संकट और हाल ही में हुई अतिवर्षा की परिस्थितियों में किसानों को मिल रही यह राशि उनके लिए राहतकारी होगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 19 सितम्बर को वनाधिकार के पट्टे पात्र आदिवासी भाईयों-बहनों को प्रदान किए जाएंगे। इसके साथ ग्रामीण क्षेत्र में रेहड़ी वाले, फल बेचने वाले, खिलौने बेचने वाले और अन्य स्ट्रीट वेंडर्स को 10 हजार रुपये की ब्याज मुक्त ऋण राशि का वितरण किया जाएगा। इसी क्रम में 20 सितम्बर को संबल योजना के हितग्राहियों को लाभान्वित करने का कार्य भी किया जाएगा। प्रदेश में 21 सितम्बर को स्व-सहायता समूहों को मजबूत बनाने का नया अभियान शुरु हो रहा है। इसके अंतर्गत अलग-अलग स्व-सहायता समूहों के खाते में 150 करोड़ रुपये की राशि जमा कराई जाएगी। मेधावी विद्यार्थियों को लेपटॉप के लिए राशि वितरण का कार्य 22 सितम्बर को किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 23 सितम्बर को प्रदेश में प्रधानमंत्री किसान योजना के हितग्राहियों को किसान क्रेडिट कार्ड दिया जाएगा। इसके अलावा किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर कर्ज देने के लिए सहकारी बैंकों को 800 करोड़ रुपये की राशि दी जा रही है। एकात्म मानववाद के प्रणेता एवं समाज में आर्थिक रूप से सबसे कमजोर तबके के कल्याण का विचार देने वाले पं. दीनदयाल उपाध्याय की जयंती 25 सितम्बर के अवसर पर राज्य सरकार द्वारा बिजली के बिलों में दी गई रियायत के कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।जनकल्याण कार्यक्रम

16 सितम्बर- पात्रता पर्ची एवं खाद्यन्न वितरण।

17 सितम्बर- आँगनवाड़ी केन्द्रों में दुग्ध वितरण आरंभ।

18 सितम्बर- फसल बीमा योजना के 4600 करोड़ रूपये किसानों के खाते में अंतरण।19 सितम्बर- वनाधिकार पट्टों का वितरण तथा पथ विक्रेताओं ऋण राशि वितरण।

20 सितम्बर- संबल योजना के हितग्राहियों के लिए कार्यक्रम।

21 सितम्बर- स्व-सहायता समूहों के खातों में 150 करोड़ रुपये जमा करना।

22 सितम्बर- मेधावी विद्यार्थियों को लेपटॉप वितरण।

23 सितम्बर- प्रधानमंत्री किसान योजना के हितग्राहियों को किसान क्रेडिट कार्ड।

25 सितम्बर- बिजली बिलों में रियायत।