Category Archives: शासकीय

कोरोना के चलते मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों के हित में लिया बड़ा फैसला


◾मुख्यमंत्री श्री Shivraj Singh Chouhan ने विद्यार्थियों के हित में लिया बड़ा निर्णय

◾स्नातक प्रथम, द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर के परीक्षाथियों को अगली कक्षा में दिया जाएगा प्रवेश

◾गत वर्ष/सेमेस्टर के अंकों के आधार पर होगा मूल्यांकन।
परीक्षा देने का भी रहेगा विकल्प

कोरोना संकट के मद्देनजर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा महाविद्यालयीन विद्यार्थियों के हित में बड़ा निर्णय लिया है। अब स्नातक प्रथम एवं द्वितीय वर्ष तथा स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर के परीक्षार्थियों को, बिना परीक्षा दिए, उनके गत वर्ष/सेमेस्टर के अंकों/आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अगली कक्षा/सेमेस्टर में प्रवेश दिया जाएगा। साथ ही स्नातक अंतिम वर्ष एवं स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर के परीक्षार्थियों के पूर्व वर्षों/ सेमेस्टर्स में से सर्वाधिक अंक प्राप्त परीक्षा परिणाम को प्राप्तांक मानकर अंतिम वर्ष/सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम घोषित किये जाएंगे। ऐसे परीक्षार्थी जो परीक्षा देकर अपने अंकों में सुधार चाहते हैं, उनके पास परीक्षा देने का विकल्प भी रहेगा। वे आगामी घोषित तिथि पर ऑफलाइन परीक्षा दे सकेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में कोरोना के परिप्रेक्ष्य में विश्वविद्यालयीन परीक्षाओं के संचालन तथा शालाओं को प्रांरभ करने के संबंध में आयोजित बैठक ले रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा श्री अनुपम राजन, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा श्रीमती रश्मि अरूण शमी आदि उपस्थित थे।

शालाएं खोलने के संबंध में 31 जुलाई को समीक्षा उपरांत निर्णय

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में शालाओं को खोलने के संबंध में 31 जुलाई को समीक्षा कर निर्णय लिया जाएगा। 12वीं कक्षा के ऐसे विद्यार्थी जो किसी कारणवश 12वीं की परीक्षा नहीं दे पाए हैं उनके लिए एक बार फिर परीक्षा आयोजित होगी। प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा ने बताया कि अगले हफ्ते से बच्चों को किताबों का वितरण कराने की व्यवस्था की जा रही है।

प्रदेश में स्नातक, स्नातकोत्तर के 17 लाख 77 हजार परीक्षार्थी

प्रदेश में वर्तमान शैक्षणिक सत्र में स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर पर कुल 17 लाख 77 हजार परीक्षार्थी हैं। इनमें स्नातक प्रथम वर्ष में 5 लाख 25 हजार 200, स्नातक द्वितीय वर्ष में 5 लाख 7 हजार 269, स्नातक तृतीय वर्ष में 4 लाख 30 हजार 298, स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर में 01 लाख 72 हजार 634, स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर में 01 लाख 41 हजार 599 परीक्षार्थी हैं। बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में परीक्षार्थियों की कुल संख्या 03 लाख 47 हजार 554, जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर में 2 लाख 63 हजार 05, विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन में 01 लाख 83 हजार 37, रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर में 2 लाख 25 हजार 197, महाराजा छत्रसाल विश्वविद्यालय छतरपुर में 01 लाख 52 हजार 230, देवी अहिल्या बाई विश्वविद्यालय में 3 लाख 55 हजार 379, अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय रीवा में 01 लाख 97 हजार 901 तथा छिंदवाड़ा विश्वविद्यालय में 54 हजार 697 विद्यार्थी हैं।

10वीं एवं 12वीं के परिणाम जुलाई में अपेक्षित

प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा ने बताया कि प्रदेश में 10वीं एवं 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं सम्पन्न हो चुकी है, 10वीं के परिणाम जुलाई के प्रथम सप्ताह में तथा 12वीं के परिणाम जुलाई के तृतीय सप्ताह में अपेक्षित है। प्रदेश में लॉकडाउन की अवधि में रेडियो, टी.वी. एवं मोबाइल के माध्यम से शैक्षणिक गतिविधियां संचालित हैं।

बुधवार से जिलें के मुख्य मार्गों की सभी तरह की दुकानें एवं बाजार पूरी तरह बंद रहेगे।


बुधवार से जिलें के मुख्य मार्गों की सभी तरह की दुकानें एवं बाजार पूरी तरह बंद रहेगे।

नगरीय क्षेत्रों में किराना व्यवसायियों द्वारा प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक की जा सकेगी होम डिलेवरी

मोहल्ला एवं रहवासी बस्तियों की एकल दुकानें प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक ही खुल सकेंगी।

दो गज की दूरी के नियम का कड़ाई से पालन करना अनिवार्य होगा।

आदेश का उल्लंघन करने वालों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत दण्डनीय कार्यवाही की जाएँगी।

बैतूल कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह ने जिले में प्रभावशील लॉक-डाउन के दौरान व्यवस्थाओं में आवश्यक परिवर्तन किया है। मंगलवार को जारी आदेश के तहत नगरीय क्षेत्रों में सभी तरह के मुख्य सडक़ों की दुकानें एवं बाजार आगामी आदेश तक पूरी तरह से बंद रहेंगे।

कलेक्टर द्वारा जारी आदेशानुसार समस्त नगरीय क्षेत्रों से सब्जी/फलों का विक्रय मात्र डोर-टू-डोर होगा। यह विक्रय मात्र अनुमति प्राप्त वाहनों/ठेलों एवं दो पहिया वाहनों के किसानों द्वारा किया जाएगा। दो पहिया वाहनों के विक्रेता कृषकों को किसी अनुमति की आवश्यकता नहीं होगी।

सभी प्रकार के पोल्ट्री उत्पाद, अंडा, मछली विक्रय की दुकानें, नगरीय क्षेत्रों में किराना व्यावसायियों द्वारा माल/सामग्री वितरण की डोर-टू-डोर डिलेवरी, नगरीय क्षेत्रों में ट्रांसपोर्ट व्यवसायियों द्वारा माल की लोडिंग/अनलोडिंग प्रात: 7 बजे से 11 बजे तक की जा सकेगी।

नगरीय क्षेत्रों में दो पहिया वाहनों में आपातिक एवं मेडिकल इमरजेंसी के लिए ही निकला जा सकेगा एवं मात्र रोगी साथी को ले जाने के लिए दो सवारी की अनुमति होगी।

नगरीय क्षेत्रों में चार पहिया वाहनों पर भी आवागमन अत्यावश्यक कारणों से ही अनुमत होगा, जिसमें मेडिकल इमरजेंसी प्रमुख है।
दवाई की दुकानें एवं सभी प्रकार के नर्सिंग होम, अस्पताल, क्लीनिक पूर्ववत् खुले रहेंगे।

समस्त प्रकार के शासकीय कार्य एवं उसमें लगे कर्मी, अधिकारी/कर्मचारी वाहन पूर्वानुसार आवागमन कर सकेंगे।

अत्यावश्यक सेवा होने से सायं 7 बजे से प्रात: 7 बजे का प्रतिबंध भी इससे संबंधित व्यक्तियों एवं वाहनों पर लागू नहीं होगा।

किसी भी प्रकार के होटल, रेस्टोरेंट, खाने-पीने की दुकानें, सेलून, पार्लर, पान-गुटखा किसी भी तरह रोड के किनारे लगाई जाने वाली दुकानें, सभी हाट बाजार बंद रहेंगे।

नगरीय क्षेत्रों में एमपी ऑनलाइन कियोस्क केन्द्र,
सभी प्रकार की मशीनरी, घरेलू उपकरण रिपेयर करने वाले मैकेनिक, प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन, कारपेंटर, समस्त प्रकार की कृषि उपकरण यंत्र संबंधी दुकानें, खाद-बीज, कीटनाशक, कृषि के यंत्र व औजार, कृषि कार्य के ट्रैक्टर, मोटर पंप की छोटी रिपेयर दुकानें प्रात: 7 बजे से प्रात: 11 बजे तक खुल सकेंगी।

गेहूं उपार्जन एवं इसमें लगे समस्त प्रकार के कर्मी भी नगरीय क्षेत्रों में अपना पहचान पत्र दिखाते हुए आवागमन कर सकेंगे। अत्यावश्यक सेवा होने से सायं 7 बजे से प्रात: 7 बजे का प्रतिबंध भी इससे संबंधित व्यक्तियों एवं वाहनों पर लागू नहीं होगा।

यह आदेश 13 मई 2020 से आगामी आदेश पर्यन्त प्रभावशील रहेगा।

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल

गांव गांव में कोरोना वायरस की जांच


मुलतापी समाचार

मुलताई स्वास्थ्य विभाग द्वारा आज ग्राम महिलाडी में मुलताई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की टीम द्वारा कोरोनावायरस की जांच की गई गांव के बाहर से आए लोगों शहरों भोपाल नागपुर इंदौर से आए खासतौर से लोगों की जांच की गई साथ ही गांव में रह रहे अन्य सभी लोगों की जांच की गई स्वास्थ्य विभाग को अंदेशा था कि गांव में बाहरी शहरों से लोग पलायन कर आ रहे हैं उनकी सूचना पर गांव के लोगों की स्वास्थ्य जांच की गई इसी तरह स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बताया कि हर गांव की जांच होना प्रारंभ कर दिया गया है खास तौर पर जो बाहर से आ रहे हैं उन लोगों की जांच प्राथमिकता से की जाएगी

वह सभी लोग जो इंदौर भोपाल नागपुर से गांव आ रहे हैं उन्हें हिदायत दी गई है कि वह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्वयं से आकर करुणा की जांच करावे और 15 दिन तक आशी लेशन कैरोटीन अपने घर में सदस्यों से दूरी बनाकर रखें बार बार हाथ धोएं संक्रमण के फैलाव से बच्चे मुलतापी समाचार

मुलताई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए हिदायत बरती गई


मुलताई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों को एक 1 मीटर की दूरी पर खड़ा कर श्रंखला में ओपीडी की पर्ची बनाएगी
मुलताई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना वायरस कोविद 19 के लक्षणों की जांच के लिए एक अलग से विभाग गठित किया गया जिसमें आज समुदाय स्वास्थ्य केंद्र में आए मरीजों को जागरूक करते हुए थर्मल स्क्रीनिंग जांच की गई

Multapi Samachr

मुलताई। आज मुलताई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अस्पताल में हिदायत भर्ती गई जिसमें अस्पताल आए मरीजों को एक 1 मीटर की दूरी पर खड़ा रखवाया गया जिससे कोई मरीज एक दूसरे के संपर्क में न आ सके और ओपीडी की पर्ची बनाई गई जिसके बाद एक-एक कर कोर्ण आपको भी की थर्मल मशीन द्वारा प्रत्येक मरीज की जांच की गई नगर ग्राम में आए शहरों से मजदूरी दिहाड़ी पर काम करने वाले कंपनी में काम करने वाले मजदूरों की जांच की गई वहीं अस्पताल प्रबंधन द्वारा हिदायत दी गई कि कोरोना को भी नहीं का लक्षण बहुत ही घातक है हमें बार बार हाथ धोना चाहिए सर्दी खासी जुखाम हो तो तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए कोरोना के संक्रमण से ग्रसित होने से बचना है अपने घरों में ही रहना है और धोनी दूरी बनाए कर रहना है साथ ही जांच करने आए मरीजों को अपना टेंपरेचर लिखा हुआ पर्चा दिया गया और कोरोना वायरस लक्षण एवं बचाव से संबंधित पंपलेट पर्चा भी बांटा गया जिसमें कोरो वायरस के लक्षण बुखार आना सिर दर्द नाक बहना जुकाम सांस लेने में तकलीफ फांसी जले खराश सीने में जकड़न आदि लक्षण बताए गए हैं और उससे बचाव करने के लिए कोर्णाक से बचाव के लिए क्या करें कैसे करें बचाव के बारे में बताया गया संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क में आने से बच्चे नियमित रूप से दिन में कई बार हाथों को साबुन एवं साफ पानी से धोएं बिना हाथ धोए अपना आंख मुंह एवं नाक को न छुएं संक्रमित सामग्रियों के संपर्क में आने से बचे बाद आंख या नाक छूने से बचें, जिससे संक्रमण की चैन से बच सकें बताया गया

थर्मल स्क्रीन कर कोरोना वायरस की जांच करते हुए मुलताई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना वायरस के लिए अलग से विभाग सेंटर गठित किया गया

कोरोना वायरस कैसे फैलता है संक्रांति व्यक्ति के खुली जगह में चिकने वह खास ने से संक्रमित व्यक्ति से हाथ मिलाने गले आदि लगने से संक्रमित जगह के संपर्क में आने से बाद में बिना हाथ धोए अपनी आंखों एवं नाक को छूने से कोरोना वायरस तीव्र गति से फैलता है जिसका हवा में मौजूद रहना भी बताया गया है अधिक जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर 104 पर संपर्क करके जानकारी हासिल कर सकते हैं यह जानकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मुलताई द्वारा प्रदत की गई

वही मुलताई अस्पताल में करुणा को वेद वायरस के लक्षण से बचने के लिए सैनिटाइज का छिड़काव किया गया अस्पताल को सैनिटाइज किया गया जिससे अस्पताल में भर्ती मरीजों को वायरस लक्षणों से बचाया जा सके ओपीडी में आए मरीजों को संक्रमण से बचाया जा सके

टोटल लॉक डाउन, धारा 144 लागू


बैतूल जिलें को टोटल लॉक डाउन घोषित किया गया, जिससे लोग घर से नहीं निकल सकेंगे,

बैतूल कलेक्टर एवं दंडाधिकारी राकेश सिंह ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने की दृष्टिकोण से दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 में प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुये संपूर्ण बैतूल जिले की समस्त राजस्व सीमाओं में आगामी आदेश तक प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये है। जिसके अंतर्गत जिले में तत्काल प्रभाव से टोटल लाक डाउन घोषित किया गया है। टोटल लॉक में किसी भी व्यक्ति को अपने घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। जिले की सभी सीमाएं सील की गई है, किसी भी माध्यम सड़क एवं रेल से जिले की सीमा में बाहरी लोगों का आवागमन प्रतिबंधित किया गया है। जिले में निवासरत नागरिकों का जिले की सीमा के बाहर जाना तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित किया गया है। जिले के समस्त शासकीय,अर्द्ध शासकीय कार्यालय बंद किए गये हैं । अति आवश्यक सेवा वाले विभाग जैसे राजस्व,स्वास्थ्य, पुलिस, विद्युत,दूरसंचार, नगरपालिका, पंचायत आदि इससे मुक्त रहेंगे और मेडिकल दुकानों तथा हॉस्पिटलों को छोड़कर शेष समस्त व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद किए गए हैं।

घर-घर जाकर दूध बांटने वाले दूध विक्रेता एवं न्यूज़पेपर हॉकर प्रातः 6:30 बजे से 9:30 बजे तक टोटल लॉक डाउन प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे । यह आदेश में आम जनता को संबोधित किया गया है क्योंकि वर्तमान में ऐसी परिस्थिति नहीं है और ना ही यह संभव है कि इस आदेश की पूर्व सूचना प्रत्येक व्यक्ति को दी जाए । अतः आदेश एकपक्षीय पारित किया गया है। इस आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी। यह आदेश 22 मार्च से आगामी आदेश तक लागू रहेगा।

मुलतापी समाचार बैतूल

मुलताई नगरीय सौंदर्यीकरण हेतु विकास की गंगा बहेंगी -पांसे


एक ओर नई सौगात मुलताई के लिए होने रुके काम

मुलतापी समाचार

श्रम एवम पीएचई विभाग के मंत्री सुखदेव पांसे (मध्य प्रदेश शासन)

Multapi Samachar
BETUL, Multai मुलताई विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं द्वारा सुखदेव पांसे को विधायक एवं मुख्यमंत्री माननीय कमलनाथजी के द्वारा श्री पांसे को केबीनेट मंत्री बनाए जाने के बाद क्षेत्र में विकास की गंगा बहने लगी है। क्षेत्र के विकास कार्य में सड़क, पुल, पुलिया, बिजली के लिए लाखों रूपए के निर्माण कार्य के साथ-साथ 371 करोड़ रू. की नलजल योजना शामिल है। क्षेत्र के संवेदनशील विधायक श्री पांसे हमेशा क्षेत्र के विकास के लिए प्रयासरत रहते है।

इसी तारतम्य में नगर के सौंदर्यीकरण हेतु नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा एक करोड़ 50 लाख रूपए की सौगात मुलताई नगर को दी गई है। जिसकी स्वीकृति आदेश 16 मार्च को आदेश क्रमांक 4008/07-3/2020 दिनांक 16 मार्च को जारी हो चुका है। उक्त जानकारी देते हुए जिला कांग्रेस प्रवक्ता हेमंत पगारिया ने बताया कि इस राशि से मुलताई नगर के सूर्यनारायण तालाब, बिरूल रोड तालाब के घाट का सौंदर्यीकरण एवं इंदिरा गांधी वार्ड के पास पार्क का सौंदर्यीकरण एवं विकास किया जाएगा। इस सौगात से मां ताप्ती की नगरी और अधिक सौंदर्य एवं स्वच्छ बनेगी। मुलताई नगर को यह सौगात मिलने पर मुलताई नगर में हर्ष की लहर व्याप्त है। नगरवासियों ने पीएचईमंत्री श्री सुखदेव पांसे एवं नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह का आभार व्यक्त किया।

ब्लाक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष किशोर सिंह परिहार ने कहा कि श्री पांसे हर समय क्षेत्र के विकास के लिए प्रयासरत रहते है। वे इस क्षेत्र में विकास पुरूष के नाम से स्थापित हो चुके है।

मंत्री पी सी शर्मा का बयान…


कोंग्रेस बहुमत में है।

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर बोला हमला की चोर कह रहे है कि हम पर हमला हो जाएगा।

हॉर्स ट्रेडिंग कर रही है बी जे पी और राज्यपाल पर दबाब बना रही है।की जल्दी फ्लोर टेस्ट कराओ।

बंगलुरु मे विधायको की पत्रकार वार्ता पर बोले कि बंदूक की नोक पर उनसे बुलवाया जा रहा है। पत्रकार वार्ता करनी है तो भोपाल आकर करे।

मुलतापी समाचार का वीडियो चैनल देखें पढ़े लाईक शेयर करें सब्सक्राइब करें

वीडियो देखे के लिंक पर जाएं बटन दबाए

जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा गृह भेंट कर की पोषण अभियान की समीक्षा


मुलतापी समाचार

लाड़ली लक्ष्‍मी योजना से लाभान्वित परिवारों, एवं गर्भवती महिलाओं परिवारों के सदस्‍यों से गृह भेंटकर करते हुए

मुलताई । जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बीएल विश्नोई द्वारा बाल विकास परियोजना कार्यालय गोडाउन का निरीक्षण किया गया। निरीक्षरण के दौरान  उन्हाेने लाड़ली लक्ष्‍मी योजना, प्रधान मंत्री मातृत्‍व योजना, सुकन्‍या योजना , साॅाझा चूल्‍हा व्‍यवस्‍था, पोषण पुनर्वास केन्‍द्र, संबंधि लक्ष्‍य पूर्ति एवं समीक्षा प्रत्‍येक सेक्‍टर स्‍तर पर की गई एवं जिन सेक्‍टरों की लक्ष्‍य पूर्ति में कमी पाई गई उन्‍हें एक सप्‍ताह पूर्व पूर्ण करने हेतू निर्देश दिये गये। 

जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा मुलताई बालविकास परियोजना की अधिकारी एवं परवेक्षकों से योजनाओं समीक्षा बैठक करते हुए

दिनांक 8 मार्च से 22 मार्च तक पोषण अभ‍ियान अंतर्गत पोषण प्रदर्शन, पोषण जागरूकता के कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं। अत: जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा भी आज लाड़ली लक्ष्‍मी योजना से लाभान्वित परिवारों, एवं गर्भवती महिलाओं परिवारों के सदस्‍यों से भेंटकर विस्‍तृत जानकारी दी गई। 

विश्नोई द्वारा बाल विकास परियोजना कार्यालय गोडाउन का निरीक्षण करेते हुए

सीसेम अभियान द्वारा अति गंभीर कुपोसित बच्‍चाें का समुदाय आधारित प्रबंधन की भी समीक्षा की गई। परियोजना अधि‍कारी प्रमिला माकोंडे द्वारा बताया गया कि समयावधि में लक्ष्‍य पूर्ति कर ली जावेगी

कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने समर्थन मूल्य पर रबी उपार्जन की तैयारियों की समीक्षा


समीक्षा बैठक लेते कलेक्टर श्री राकेश सिंह

कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने कहा कि

उपार्जन केन्द्रों पर छाया, पानी के माकूल प्रबंध हो। किसानों को गेहूं बेचने में कोई असुविधा न हो। साथ ही समर्थन मूल्य पर रबी उपार्जन की तैयारियों की समीक्षा।

बैतूल — कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने सोमवार को समर्थन मूल्य पर रबी उपार्जन कार्य की समीक्षा करते हुए कहा कि जिले में सुनियोजित रणनीति तैयार कर उपार्जन कार्य प्रारंभ किया जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर छाया एवं पेयजल के माकूल प्रबंध हों। अधिकारी इस बात पर विशेष ध्यान दें कि उपार्जन केन्द्रों पर अपनी फसल बेचने आने वाले किसानों को किसी तरह की असुविधा न हो, वे अपनी उपज सुविधापूर्ण ढंग से बेच सकें। उन्होंने कहा कि उपज तुलाई के उपरांत परिवहन, भण्डारण एवं समय पर भुगतान के लिए भी अधिकारियों को पूरी तरह सजग रहना होगा। समीक्षा बैठक में अपर कलेक्टर श्री साकेत मालवीय सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

बैठक में जिला आपूर्ति अधिकारी द्वारा बताया गया कि जिले में 25 मार्च से 22 मई के बीच समर्थन मूल्य रबी उपार्जन प्रस्तावित है। जिसके लिए 74 उपार्जन केन्द्र बनाये गये हैं। इनमें 32 गोदाम स्तरीय उपार्जन केन्द्र होंगे। उन्होंने बताया कि जिले में अभी तक लगभग 14 हजार किसानों का पंजीयन हो चुका है। पंजीयन से छूटे किसानों का भी शीघ्रता से पंजीयन कराया जा रहा है। इस वर्ष 1925 रूपए प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी प्रस्तावित है। खरीदी की गई उपज का परिवहन नागरिक आपूर्ति निगम के माध्यम से कराया जाएगा। जिले में पर्याप्त बारदानों की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जा रही है। भण्डारण के लिए जिले में 84 हजार मैट्रिक टन गोदाम क्षमता उपलब्ध है। इसके अलावा मुलताई एवं शाहपुर में 20-20 हजार मैट्रिक टन क्षमता वाले केप का भी निर्माण कराया जाएगा। कलेक्टर ने कहा कि केप निर्माण समय पर पूर्ण हों, इस बात के लिए संबंधित अधिकारी ध्यान दें। उन्होंने भुगतान प्रक्रिया की जानकारी लेते हुए कहा कि किसानों को समय पर भुगतान सुनिश्चित हो, इस बात के लिए भी अधिकारियों द्वारा सजगता से कार्य करना होगा। साथ ही भुगतान डिजीटल बैंकिंग के माध्यम से सीधे किसानों के खातों में जमा हो। बैठक में बताया गया कि प्रत्येक खरीदी केन्द्र पर एफएक्यू परीक्षण के लिए एक-एक एक्जामिनर तैनात होगा। साथ ही सुव्यवस्थित खरीदी की व्यवस्था पर निगरानी के लिए एक-एक नोडल अधिकारी की भी तैनाती की जाएगी। बैठक में कृषि, सहकारिता, मार्कफेड, नागरिक आपूर्ति निगम, कृषि उपज मण्डी, परिवहन सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

मुलतापी समाचार बैतूल

सघन मॉनीटरिंग कर अधिकतम पोषण परिणामों में सुधार लाया जाए – कलेक्टर श्री राकेश सिंह


पोषण पखवाड़ा पर अंतर्विभागीय समन्वय बैठक आयोजित

बैतूल — बैतूल कलेक्टर श्री राकेश सिंह ने कहा कि जिले में 08 मार्च से 22 मार्च तक संचालित होने वाले पोषण पखवाड़े के दौरान अधिकतम पोषण परिणामों में सुधार लाने के लिए अभियान में पुरूषों की सहभागिता सुनिश्चित की जाए। साथ ही सघन मॉनीटरिंग के माध्यम से अभियान को सफल बनाया जाए। श्री सिंह सोमवार को जिला मुख्यालय पर पोषण पखवाड़ा के तहत आयोजित अंतर्विभागीय समन्वय समिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में अपर कलेक्टर श्री साकेत मालवीय भी मौजूद थे।

बैठक में जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री बीएल विश्नोई ने बताया कि पोषण पखवाड़े का मुख्य उद्देश्य पोषण के परिप्रेक्ष्य जीवन के प्रथम 1000 दिवस के दौरान स्वास्थ्य एवं पोषण आवश्यकता पर जागरूकता, गर्भावस्था देखभाल एवं जन्म के प्रथम दो वर्ष के दौरान सतत् स्तनपान तथा सही समय पर ऊपरी आहार एवं उसकी निरंतरता, एनीमिया या शरीर में खून की कमी को दूर करने के लिए एनीमिया मुक्त भारत के दिशा-निर्देशानुसार आयरन सेवन एवं खाद्य विविधता, पांच वर्ष तक के बच्चों की शारीरिक वृद्धि में निगरानी, किशोरी-शिक्षा, पोषण शिक्षा का अधिकारी, सही उम्र में विवाह, सफाई एवं स्वच्छता एवं पोषण जागरूकता (स्वस्थ खाओ-फूड फोर्टिफिकेशन एवं पोषण जागरूकता पर जागरूकता लाना है।

पखवाड़े के दौरान मुख्यत: दस थीमों पर आधारित कार्यक्रम होंगे, जिनमें प्रसव पूर्व स्वास्थ्य-पोषण देखभाल, आयरन एवं कैल्शियम दवाओं का सेवन, शीघ्र और सतत् स्तनपान, सही उम्र में पूरक आहार की शुरुआत एवं उसकी निरंतरता, पांच वर्ष की आयु तक नियमित शारीरिक वृद्धि निगरानी, पूर्ण टीकाकरण, विटामिन-ए अनुपूरण, दस्त प्रबंधन एवं ओआरएस तथा जिंक का उपयोग, एनीमिया रोकथाम एवं डिवार्मिंग, किशोरी आहार शिक्षा और सही उम्र में विवाह, स्वच्छता एवं साफ-सफाई तथा पोषण जागरूकता-स्वस्थ खाना एवं फूड-फोर्टिफिकेशन शामिल हैं।
बैठक में बताया गया कि उक्त थीमों पर जिला स्तर से लेकर ग्राम स्तर तक विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इस दौरान आकाशवाणी, दूरदर्शन एवं एफएम रेडियो से निरंतर कार्यक्रमों के प्रसारण पर भी सहयोग लिया जाएगा।

अभियान को सफल बनाने के लिए कलेक्टर श्री राकेश सिंह की अध्यक्षता में मीडिया वर्कशॉप भी आयोजित की गई, जिसमें मीडियाकर्मियों से उक्त पखवाड़े को सफल बनाने की अपील की गई। कार्यशाला में डिस्ट्रिक्ट लीड राष्ट्रीय पोषण अभियान डॉ. सुषमा तायवाड़े द्वारा पावर पाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से पोषण पखवाड़े की जानकारी दी गई।

मुलतापी समाचार बैतूल