Category Archives: कोरोना सैनिक

पवार समाज के युवाओं नें मास्क वितरण एवं ग्रामों में सैनिटाइज़र का किया छिडकाव कर समाज सेवा की

Multapi Samachar

Multai : क्षत्रिय पंवार समाज बैतूल के युवाओं द्वारा मुलताई तहसील के ग्राम माथनी एवं सेन्द्रिया में मास्क वितरण का कार्य एवं सैनिटाइज़र का कार्य किया गया तथा ग्रामवासियों को कोरोना वायरस रोकथाम के लिए उपायोंं बताये साथ ही इस वैश्‍यविक माहामारी से बचाव के लिए जानकारीयां दी गयी, जिसमें सभी युवाओं ने उत्साह पूर्वक भाग लिया जिसमें प्रमुख रूप से मधुकर पंवार, जीवन बुवाड़े,आशीष कोड़ले ,राहुल पंवार, चंद्रकिशोर देशमुख, अंकित बोबड़े,योगेश खपरिये, प्रवीण पंवार, राजेन्द्र पंवार,अरविंद पंवार, राजू पंवार,नीलेश पंवार, विवेक पंवार,सुनील पंवार की उपस्थिति रही

मुलतापी समाचर

मनमोहन पंवार ( प्रमुख संपादक)

घोड़ाडोंगरी ब्लॉक में स्वास्थ विभाग ने रेड जोन से आए 35 लोगों के लिए सैंपल

मुलतापी समाचार


घोडाडोंगरी । घोड़ाडोंगरी ब्लॉक में रेड जोन से आए 35 लोगों का   सैंपल लिया गया। बीएमओ डॉ संजीव शर्मा  ने बताया चोपना- हीरापुर क्षेत्र में 16 लोगो,पाढर क्षेत्र में 10 एव आम ढाना क्षेत्र में 9 लोगो के सैम्पल लिए गए है। 
 हीरापुर एवं चोपना क्षेत्र में डॉ आदित्य बघेल एवं डॉ मनोज कुमार सूर्यवंशी ने गांव पहुंच रेड जोन से आए लोगों का रेंडम सैंपल लिया। इस दौरान हीरापुर एवं चोपना क्षेत्र में कुल 16 लोगों के सैंपल लिए गए। घोड़ाडोंगरी ब्लॉक में अब तक 12 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इनमें अधिकांश रेड जोन मुंबई से आए हैं।इसके चलते स्वास्थ विभाग की टीम रेड जोन से आने वाले लोगों का रेंडम टेंपल ले रही है। डॉ मनोज कुमार सूर्यवंशी ने बताया कि हीरापुर एवं चोपना क्षेत्र में शुक्रवार को रेड जोन से आए लोगों में से रेंडम 16 लोगो का सैंपल लिया गया। इस सैंपल को जांच के लिए भोपाल भेजा जाएगा।

घोड़ाडोंगरी ब्लॉक में स्वास्थ विभाग ने रेड जोन से आए 35 लोगों के लिए सैंपल

मुलतापी समाचार


घोडाडोंगरी । घोड़ाडोंगरी ब्लॉक में रेड जोन से आए 35 लोगों का   सैंपल लिया गया। बीएमओ डॉ संजीव शर्मा  ने बताया चोपना- हीरापुर क्षेत्र में 16 लोगो,पाढर क्षेत्र में 10 एव आम ढाना क्षेत्र में 9 लोगो के सैम्पल लिए गए है। 
 हीरापुर एवं चोपना क्षेत्र में डॉ आदित्य बघेल एवं डॉ मनोज कुमार सूर्यवंशी ने गांव पहुंच रेड जोन से आए लोगों का रेंडम सैंपल लिया। इस दौरान हीरापुर एवं चोपना क्षेत्र में कुल 16 लोगों के सैंपल लिए गए। घोड़ाडोंगरी ब्लॉक में अब तक 12 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इनमें अधिकांश रेड जोन मुंबई से आए हैं।इसके चलते स्वास्थ विभाग की टीम रेड जोन से आने वाले लोगों का रेंडम टेंपल ले रही है। डॉ मनोज कुमार सूर्यवंशी ने बताया कि हीरापुर एवं चोपना क्षेत्र में शुक्रवार को रेड जोन से आए लोगों में से रेंडम 16 लोगो का सैंपल लिया गया। इस सैंपल को जांच के लिए भोपाल भेजा जाएगा।

प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए कार्यरत विधिक सेवा प्राधिकरण- श्री अमर नाथ

बैतूल – अपर जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री मनोज कुमार मण्डलोई ने बताया कि नागपुर तथा इंदौर हाईवे पर प्रतिदिन पैदल या अन्य साधनों से अपने घरों की ओर जाने वाले प्रवासी मजदूरों को किसी भी प्रकार की सहायता मुहैया कराने के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा हेल्प डेस्क शुरू की गई है।

इस हेल्प डेस्क का शुभारंभ गुरूवार 21 मई को जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री अमर नाथ द्वारा किया गया। इस दौरान श्री अमर नाथ ने कहा कि सम्पूर्ण देश में लॉक-डाउन होने के कारण बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर तथा अन्य लोग जिले की सीमाओं से होकर अपने घरों को लौट रहे हैं। ऐसी विकट परिस्थिति में प्रवासियों को उनका सफर आसान बनाने के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बैतूल द्वारा सूखी खाद्य सामग्री, फल, चप्पलें, ओआरएस, सेनेटरी पेड इत्यादि बांटे जा रहे हैं। इस पांच दिवसीय हेल्प डेस्क में पैरालीगल वालेंटियर्स द्वारा स्वैच्छिक सेवाएं दी जा रही है। प्रवासी मजदूरों को नि:शुल्क राष्ट्रीय हेल्प लाइन नंबर 15100 की जानकारी दी जा रही है। यदि प्रवासियों को राशन, मेडिकल इत्यादि की समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो वे राष्ट्रीय हेल्प लाइन नंबर से सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल 9584390839

चेन्नई में फंसे प्रवासी मजदूर वापस लौटे बैतूल सहीत तीन जिले के है मजदूर आए

चेन्नई में फंसे ४७ प्रवासी मजदूर वापस लौटे बैतूल, छिन्दवाड़ा और खंडवा के है मजदूर

मुलतापी समाचार

बैतूल। लॉकडाउन के चलते देश के विभिन्न राज्यों में फंसे हुए मजदूरों को श्रमिक ट्रेनों के जरीए उनके घरों तक पहुंचाए जाने का सिलसिला लगातार जारी है। चेन्नई में पिछले 54 दिनों से फंसे यात्रियों को लेकर आज सुबह एक श्रमिक एक्सप्रेस बैतूल पहुंची। इस ट्रेन में बैतूल के साथ छिंदवाड़ा और खंडवा जिले के मजदूर भी बैतूल स्टेशन पर उतरे। मजदूरों के बैतूल स्टेशन पर पहुंचने की सूचना मिलते ही बैतूल एसडीएम राजीव रंजन पांडे के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम भी रेलवे स्टेशन पहुंच गई थी। टे्रन से सभी मजदूरों के उतरने के बाद इन प्लेटफॉर्म पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर बैठाया गया और सभी मजदूरों का स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा परीक्षण किया गया। स्वास्थ्य परीक्षण करने के बाद मजदूरों को अपने-अपने गंतव्य स्थानों की ओर रवाना किया।

रेलवे के अधिकारियों ने सांध्य दैनिक खबरवाणी को बताया कि चेन्नई से चलकर रीवा जाने वाली श्रमिक एक्सप्रेस से बैतूल स्टेशन पर कुल 81 यात्रियों को उतरना था, लेकिन इस ट्रेन से केवल 47 यात्री ही उतरे है, जिसमें छिंदवाड़ा जिले के सबसे ज्यादा 34 मजदूर शामिल है। इसके अलावा बैतूल के विभिन्न क्षेत्रों में रहने वाले 11 और खंडवा के 2 मजदूर शामिल है। इन मजदूरों को बसों के माध्यम से अपने-अपने जिलों के लिए रवाना किया गया। बैतूल के मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण कराने के साथ ही इन्हें सुरक्षा की दृष्टि से छात्रावास में क्वारंटाइन किया गया है।

महारष्ट्र, गुजरात, केरल प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के प्रयासों में तेजी

  • लॉकडाउन में फंसे मजदूरों को उनके घर पहुंचाने का काम जारी
  • मध्य प्रदेश में महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान से 2,400 मजदूर वापस आए

कोरोना वायरस से निपटने से लिए देश भर में लागू लॉकडाउन को एक महीने से ज्यादा समय हो गया है. ऐसे में देश के अलग-अलग राज्यों में फंसे हुए मजदूरों को प्रदेश सरकारें लाने की दिशा में सक्रिय हो गई हैं. उत्तर प्रदेश से लेकर मध्य प्रदेश, पंजाब सहित तमाम राज्यों में बस भेजकर बैतूल जिले के मजदूरों को लाने की कवायद शुरू कर दी है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर लॉकडाउन की अवधि को 17 मई तक बढ़ाने की अनुमति दी गयी. ऐसे में प्रवासी मजदूर के बाहर रहते हुए लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला लिया गया तो हालात बेकाबू हो सकते हैं. इसीलिए अब राज्य सरकार ने दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों को भी वापस लाने का सिलसिला शुरू कर दिया है. इसमें सभी राज्य सरकारों ने आपसी समन्वय के साथ प्रवासियों मजदूरों को एक दूसरे राज्य के बार्डर पर बस ओर ट्रेन के माध्यम से पहुंचाने का काम किया जा रहा हैं. जिसके पस्चात बैतूल जिले की प्रवासी मजदूरों को ट्रेन रूट आने पर उन्हें भोपाल और खंडवा जबलूर, रीवा आदि स्टेसनों पर उताकर थर्मलस्क्रेनिग करवाकर विभागों द्वारा बस के माध्यम से उन्हें बैतूल जिले के कंट्रोल रूम में लाया जा रहा है जहाँ उनका स्वास्थ्य विभाग द्वारा ओर महिला बाल विकास द्वार सूची तैयारी कर उन्हें अलग अलग तहसील में गांव नगर गंतव्य स्थान तक छोड़ा जा रहा है जिसके पश्चताप आशा कार्यकर्ता और आगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा उन मजदूरों को स्कूल में कोरेंटीने किया जा रहा है ।

इसके साथ ही महिला एवं बाल विकास की टीम द्वारा महारष्ट्र से आये प्रवासी मजदूरों लाने और उनके गतंव्य स्थान तक छोड़े गी। जिसमे महिला एवं बाल विकास के जिला परियोजना सहायक मनमोहन पवार की कोरोना वारियर्स जिला स्तरीय कंट्रोल रूम में ड्यूटी लगाई गई हैं जिसमे प्रवासी मजदूरों की स्वास्थ विभाग द्वारा थर्मल स्क्रेनिग कर जानकारी एकत्रित कर दीनदयाल रसोई से भोजन करवाकर उन्हें अपने गंतव्य स्थान गांव नगर छोड़ा जा रहा है

पत्रकारों हेतु कोरोना कोविड-19 स्क्रीनिंग रविवार

पत्रकारों हेतु कोरोना कोविड-19 स्क्रीनिंग 10 मई को दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक

बैतूल – मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जीसी चौरसिया ने बताया कि जिले के पत्रकारों हेतु कोरोना वायरस कोविड-19 स्क्रीनिंग 10 मई 2020 रविवारको दोपहर 12 से 2 बजे तक आयोजित की गई है। यह स्क्रीनिंग जिला टीकाकरण कार्यालय, आई.पी.पी.-6 कक्ष कारगिल चौक बैतूल में रखी गई है। इच्छुक पत्रकार उपस्थित होकर अपनी स्क्रीनिंग करा सकते हैं।

मुलतापी समाचार बैतूल

लॉकडाउन में फंसे प्रवासी मजदूरों और छात्रों को लाने के लिए चलाई ट्रेन, राज्यों से किराया वसूलेगी रेलवे, देखे वीडियों

मुलतापी समाचार

रेलवे (Railway) ने कहा कि ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेन के किराए में नियमित स्लीपर क्लास के टिकटों की कीमत के अलावा 30 रुपये सुपरफास्ट चार्ज और खाने व पानी के लिए 20 रुपये का अतिरिक्त शुल्क लिया जाएगा.

नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) को रोकने के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन में फंसे मजदूरों की घर वापसी के लिए सरकार ने बड़ा फैसला किया है. गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) ने रेलवे को प्रवासी मजदूरों और छात्रों को लाने के लिए स्पेशल ट्रेन (Train) चलाने की मंजूरी दे दी है. इसके बाद रेलवे ने स्पेशल ट्रेनों के टिकटों का किराया वसूलने का फैसला किया है. रेलवे एक अधिकारी ने कहा कि लॉकडाउन में फंसे प्रवासी कामगारों को लाने के लिए वह राज्यों से किराया वसूला जाएगा.

रेलवे ने कहा कि ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेन के किराए में नियमित स्लीपर क्लास के टिकटों की कीमत के अलावा 30 रुपये सुपरफास्ट चार्ज और खाने व पानी के लिए 20 रुपये का अतिरिक्त शुल्क लिया जाएगा. इसमें लंबी दूरी की ट्रेनों में भोजन और पीने का पानी शामिल होगा.

विशेष ट्रेन चलाने की अनमित

बता दें कि लॉकडाउन के कारण देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे हुए लाखों प्रवासी मजदूरों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य लोगों को बुधवार को कुछ शर्तों के साथ उनके गंतव्यों तक जाने की अनुमति दी है. आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि प्रवासी मजदूरों, तीर्थयात्रियों, छात्रों और विभिन्न स्थानों पर फंसे अन्य लोगों के आवागमन को रेल मंत्रालय द्वारा चलाई जाने वाली विशेष ट्रेनों के माध्यम से अनुमति है. उन्होंने कहा कि रेल मंत्रालय आवागमन को लेकर राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ समन्वय के लिए नोडल अधिकारी नामित करेगा.

तेलंगाना से झारखंड के लिए चली पहली ट्रेन
प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए तेलंगाना में लिंगमपल्ली (Lingampalli (Hyderabad) से झारखंड के हटिया तक (Hatia (Jharkhand) 1200 प्रवासियों को ले जाने वाली पहली ट्रेन शुक्रवार सुबह 4:50 बजे चली. 24 कोच की ट्रेन आज रात 11 बजे झारखंड के हटिया पहुंचेगी. दिशानिर्देशों के अनुसार क्वारंटीन आदि सहित सभी उचित प्रक्रिया का पालन किया जाएगा. लिंगमपल्ली (हैदराबाद) से हटिया (झारखंड) तक जो विशेष ट्रेन चलाई गई वो तेलंगाना सरकार के अनुरोध पर और रेल मंत्रालय के निर्देशानुसार चलाई गई है.

महिला एवं बाल विकास विभाग ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 1 लाख 65 हजार 600 रूपए की एक दिन के वेतन राशि दी

डीपीओ बीएल विश्नोई जी और साथी सहयोगी टीम द्वारा बैतुल नगर में नागरिकों को हस्तनिर्मित माक्स वितरण करते हुए

MP Betul Fights Corona covid 19

मुलतापी समाचार

जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्री बीएल विश्नोई से प्राप्त जानकारी के अनुसार विभाग के समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा कोविड-19 बीमारी में सहायता हेतु मुख्यमंत्री राहत कोष में एक दिन का वेतन 1 लाख 65 हजार 600 रूपए की राशि प्रदान की गई।

साथ ही कोरोना संक्रमण से बचने के लिए महिला एवं बाल विकास कार्यालय बैतूल की ओर से पोषण अभियान अंतर्गत RTE के तहत 3 से 6 वर्ष की आयु वर्गके बच्‍चों को मिलने वाले नाश्‍ता और गर्म पका भोजन व्‍यवस्‍था प्रभावित होने के कारण रेडी-टू-ईट का वितरण घर घर जाकर किया एवं कोविड 19 के बचाव के लिए स्वंय के द्वारा मास्क बनाकर वितरण करनेे की व्‍यवस्‍था की गई है और साथ ही इस तपती गर्मी में आंगनवाडी केन्‍द्राेें पर पक्षियों के लिए की दाने पानी की व्यवस्था की जा रही है।

इन्हे गांवों व शहर में जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाया जा रहा है। उनसे यह अपील भी की जा रही है कि मास्क लगाकर ही रहें। महिला एवं बाल विकास कार्यालय के जिला कार्यक्रम अधिकारी बीएल विश्‍नोई जी ने बताया कि संस्थान की ओर से 10 हजार से अधिक मास्क वितरित किए जा चुंके है। इसके लिए मास्क की सिलाई का काम स्‍वयं आंगनवाडी कार्यकता द्वारा किलया गया है। जैसे जैसे मास्क तैयार होते जा रहे हैं उनका वितरण भी किया जा रहा है। यदि अधिक मास्क की जरूरत रही तो और मास्क भी सिलाकर वितरित किए जाएंगे। जिसमें जिला अधि‍कारी विश्‍नोई जी एवं एकीकृत बाल विकास परियोजना बैतूल की ओर से अधिकारी कल्‍पना जोनथन, एवं ब्लाक की समस्त परियोजनों में आंगनवाडी कार्यकता द्वारा मास्क बनाकर बांटेे गये।

सफाई कर्मचारियों का पुष्प वर्षा कर सम्मान किया

मुलतापी समाचार


मुलताई। भारतवासियों द्वारा पूरे देश में चल रहे लॉक्डाउन के समय अपनी जान जोखिम में डालकर सेवा दे रहे सभी स्वास्थ्यकर्मी पुलिसकर्मी एवं सफ़ाई कर्मचारियों का सम्मान किया किया जा रहा है जिसके चलते आज अनुसया सेवा संगठन द्वारा अनुसया मंदिर के सामने पुष्प वर्षा कर मंदिर के पुजारी मुन्नालाल साहू द्वारा अपनी शादी की सालगिरह पर श्री फल देकर नपा कर्मचारियों का सम्मान किया जो इस संकट की घड़ी में देश की व हमारी सेवा कर रहे है येसे पालन कर्ताओ का सम्मान करना उनका स्वाग्त करना समाज के सभी वर्ग का दाइत्व बनता है
अनुसया सेवा संगठन सभी से अपील करता है की इस कोरोना महामारी से बचने के लिए सभी अपने घर में ही रहे और शासन प्रशासन का सहयोग करे और मास्क लगाए सुरक्षित रहे
अनुसया सेवा संगठन के कार्यकर्ता :- कृष्णा साहू,रितिक जोशी, राजेश साहू, महेश छिपने,पवन साहू आदि उपस्तिथ