मुलताई SDM के आदेश की धज्जियां उड़ाकर गुमराह करते उन्ही के कर्मचारी


मुलताई SDM और तहसील कार्यालय बाबुओं के भरोसे जाँच

बीते 24 दिन बाद भी एक टेबल से दूसरे टेबल नही बदल पा रही फ़ाइल, क्या ये डिजिटल भारत है ?

मुलतापी समाचार

मुलताई । डब्ल्यूसीएल विभाग में फर्जी नोकरी करते पाए गए मारुति धोटे जो कि फर्जी नाम अमृत से नॉकरी रहा था । जिसकी शिकायत कमलेश अड़लक ने की थी। जिसके बाद जाँच में डब्ल्यूसीएल में फर्जी नोकरी करते पाए जाने पर मारोती धोटे को बर्खास्त कर दिया । जबकि फर्जी मारोती धोटे का का राशन कार्ड और वोटर आईडी कार्ड निरस्त कर दिया गया है ।

मुलताई कार्यालय का क्या है मामला ?

शिकायतकर्ता के द्वारा बैतुल जिला कलेक्टर को फर्जी जाति प्रमाणपत्र की शिकायत की गई थी जिसकी जांच के लिए मुलताई SDM मैडम ने 24/11/2020 को पटवारी को पत्र लिखा जिसकी जाँच कर पटवारी को 28/1/12020 तक कार्यलय में सौपने के लिए आदेश किया गया था । परंतु लापरवाह पटवारी द्वारा 4/12/2020 को कार्यलय में जाति प्रमाण विभाग में जमा किया गया परंतु कार्यलय में बैठे बेले बाबू जी द्वारा 24 दिन बिताने के बाद भी आज तक SDM मैडम तक जाँच रिपोर्ट नही पहुंचा पाये । क्या गंभीर मामलों में भी कार्यलय में बैठे बेले बाबू जैसे व्यक्ति लापरवाही बरते देखें जा सकते है ? SDM कार्यलय में बेले बाबू के कारण आज भी अधिकारी को गुमराह किया जा रहा है । एक तरफ तो प्रशासन कार्य के लिए गंभीरता दिखता है वही उसी कार्यलय में एक टेबल से फ़ाइल दूसरे टेबल तक जाने में 24 दिन लग जाते है ।

क्या कहना ।

आज तक मेरे पास कोई फ़ाइल नही आई जाति प्रमाणपत्र से संबंधित जबकि मेरे द्वारा दो बार अवाक जावक में दिखावा चुके है ।

SDM मुलताई

मेरे द्वारा 4 तारिक को जांच रिपोर्ट जमा की जा चुकी है ।

मुकेश भरत पटवारी

हिन्दू युवा एकता सम्मेलन बैठक में निर्णय बैतूल में होगा


मुलतापी समाचार

प्रदेश में मुख्यमंत्री और कलेक्टर महोदय को ज्ञापन देकर हो रही घटनाओं से अवगत करायेगा और अगर इसके बाद भी कोई सुधार नहीं हुआ तो एक बड़े आन्दोलन की घोषणा

6 फरवरी 2021 दिन रविवार को हिंदू युवा एकता सम्मेलन का आयोजन

मध्य भारत प्रान्त की बैठक संपन्न

बैतूल, राष्ट्रीय हिंदू सेना की भोपाल में मध्य भारत प्रान्त की बैठक श्री राम मंदिर गुरूबक्श में संपन्न हुई बैठक राष्ट्रीय अध्यक्ष हिन्दू सुरेंद्र सिंह परमार मुख्य रूप से उपस्थित हुए थे
बैठक को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा राष्ट्रीय हिंदू सेना का मुल उद्देश्य हिन्दुत्व का प्रचार प्रसार अखंड राष्ट्र एकता तथा राष्ट्र सेवा है, संगठन के सभी सैनिक मित्रों का धैर्य हिंदू धर्म की सेवा तथा सनातन संस्कृति को प्रत्येक जनमानस तक पहुंचाना है गौ रक्षा करना तथा गौ हत्या रोकना और उसके लिए अभियान चलाना यह संगठन का निर्णय है, धर्म प्रचार के कार्यक्रम करवाना जैसे राम चरित्र मानस सुंदरकांड भागवत संवाद संत महात्माओं के सत्संग समाज, में धर्मांतरण जैसी प्रवक्ताओं को रोकने के लिए जन जागृति फैलाना देश के महापुरुषों की जन्म जयंती तथा पुण्यतिथि मना कर उनके उपदेशों को लोगों तक पहुंचाना हमारा मूल मंत्र हमें गर्व है हम हिंदू हैं की भावना को चरितार्थ करते हुए देश को फिर से मानवता की भावनाओं से जोड़कर एक अखंड राष्ट्र बनाना है विभिन्न राष्ट्रीय कार्यक्रम दिवस गणतंत्र दिवस हर्षोल्लास से मना कर देश प्रेम की भावना जागृत करना यह संगठन का मुख्य उद्देश रहा है
राष्ट्रीय गौरक्षा प्रमुख महेंद्र साहू ने कहा कि देश में हो रहे गौवंश तस्करी, लव जिहाद पर सरकार ने समय रहते यह सब नहीं रुकाया तो संगठन अपने स्तर पर आगे आएगा और हर प्रदेश में मुख्यमंत्री और कलेक्टर महोदय को ज्ञापन देकर हो रही घटनाओं से अवगत करायेगा और अगर इसके बाद भी कोई सुधार नहीं हुआ तो एक बड़े आन्दोलन की रुपरेखा तैयार की जाएगी

क्षेत्रीय अध्यक्ष पंडित अनूप जी मुखिया ने कहा कि संगठन पूरे देश में अपने पैर पसार चुका है और जल्द ही एक बहुत बड़े हिन्दू संगठन के रूप में उभरने वाला है राष्ट्रीय हिंदू सेना ने हर कार्यकर्ता अपनी अच्छी छवि बनाकर हिंदू समाज को जोड़ने में सहायता कर रहा है संगठन के पदाधिकारी व्दारा आएं दिन पुरे भारतवर्ष में हो रही गोवंश तस्करी लव जिहाद, धर्मांतरण,पर रोक लगाने के लिए जन जागृति फैलाना का कार्य किया जा रहा है

दीपक मालवीय प्रदेशाध्यक्ष मध्यप्रदेश ने बताया कि कि राष्ट्रीय हिंदू सेना का बैतूल जिले में 6 फरवरी 2021 दिन रविवार को हिंदू युवा एकता सम्मेलन का आयोजन रखा गया है इस आयोजन की पुरे मध्यप्रदेश में विख्यात तैयारी की जायेगी
हिंदू युवा एकता सम्मेलन में राष्ट्रीय हिंदू सेना के
राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय  सुरेंद्र सिंह परमार, राष्ट्रीय महामंत्री श्री अमित राजपूत,राष्ट्रीय गौरक्षा प्रमुख महेंद्र साहू, क्षेत्रीय अध्यक्ष पंडित अनूप मुखिया, क्षेत्रीय महामंत्री सुजित रायकवार, प्रदेश गौरक्षा प्रमुख शिवराज कुशवाहा, मध्य भारत प्रान्त अध्यक्ष पवन मालवीय, मुख्य मुख्य से उपस्थित होंगे
इस बैठक में उपस्थित प्रदेश गौरक्षा प्रमुख शिवराज कुशवाहा ,संभाग संगठन मंत्री पवन सरकार, संभाग अध्यक्ष मनीष अहिरवार जी एवं संभाग महासचिव संतोष अहिरवार द्वारा भी अलग अलग विषयों पर उद्बोधन किया गया और सभी सदस्यों को हिन्दुत्व के लिए जागरूक किया गया बैठक में उपस्थित संभाग प्रचारक ओमप्रकाश कुशवाह,संभाग मीडिया प्रभारी सौरभ अहिरवार, संभाग उपाध्यक्ष ओम मेहर,सीहोर जिला अध्यक्ष लोकेंद्र राठौर, सूरज मेवाड़ा, गोलू अहिरवार,राजेश परमार, जितेन्द्र राजपूत, देविंद्र अहिरवार, विजय गौर, अमित अहिरवार, अभिषेक बाथरे आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे ।

यातायात सड़क सुरक्षा अभियान के तहत सैंटा क्लाज के द्वारा नियमों का पालन करने वाले लोगों को गिफ्ट वितरिण कर, यातायात नियमों के संबंध जागरूक किया


मुलतापी समाचार

मुलताई, पुलिस अधीक्षक महोदय बैतूल सुश्री सिमाला प्रसाद जी के व्दारा जिले में यातायात सड़क सुरक्षा सप्ताह के अंतर्गत चलाये जा रहे अभियान के तहत श्रीमान अति.पुलिस अधीक्षक महोदय बैतूल श्रीमति श्रध्दा जोशी एवं एसडीओपी मुलताई सुश्री नम्रता सोधिया जी के मार्गदर्शन मे मुलताई थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी के निर्देशन मे मुलताई नगर के मासोद तिराहा पर यातायात सड़क सुरक्षा अभियान के तहत सैंटा क्लाज के द्वारा चाकलेट वितरित कर सड़क सुरक्षा का पालन करने एवं यातायात नियमों के संबंध में जानकारी देकर लोगों को जागरूक किया गया उक्त कार्यक्रम के दौरान लायंस क्लब के दीपेश बोथरा एवं नगर सुरक्षा समिति के अध्यक्ष नानेश्वर, सुदामा आदि सदस्य भी मौजूद थे।

कार्यक्रम मे अनुविभागीय अधिकारी पुलिस सुश्री नम्रता सोधिया मुलताई, थाना प्रभारी सुरेश सोलंकी , यातायात प्रभारी गजेंद्र केन बैतूल, लायंस क्लब दीपेश बोथरा नगर रक्षा समिति के अध्यक्ष नैनेश्वर वानखेडे सुदामा आदि सदस्य एवं यातायात स्टॉप, पुलिस थाना मुलताई सराहनीय भूमिका रही।

खेत में मवेशी घुसने के विवाद को लेकर महिला ने वृद्धा को कुल्हाड़ी मारी- घोड़ाडोंगरी


खेत में मवेशी घुसने पर महिला ने वृद्धा के सिर पर मारी कुल्हाड़ी,

घायल वृद्धा को 100 डायल घोड़ाडोंगरी अस्पताल में कराया भर्ती

Betul news

क्राइम न्यूज़, बैतूल

मुलतापी समाचार

घोड़ाडोंगरी। घोड़ाडोंगरी तहसील के जांगड़ा गांव में सोमवार दोपहर 12:30 बजे खेत में मवेशी घुसने के विवाद में महिला ने वृद्धा के सिर पर कुल्हाड़ी मार दी। जिससे वृद्धा गंभीर रूप से घायल हो गई। रानीपुर थाने की 100 डायल घायल वृद्धा को घोडाडोंगरी अस्पताल में भर्ती कराया है।
100 डायल के आरक्षक विनीत चौधरी एवं पायलट श्याम वानखेड़े ने बताया कि जांगड़ा गांव में खेत में मवेशी घुसने के विवाद में खेत की मालकिन महिला ने वृद्धा जयवंती काजदे 60 वर्ष पर कुल्हाड़ी से हमला कर घायल कर दिया। वृद्धा को घोड़ाडोंगरी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उसका इलाज चल रहा है।
घायल वृद्धा जयवंती ने बताया कि वह अपने मवेशियों को चराने ले जा रही थी। इसी दौरान उसकी मवेशी सीलो धुर्वे के खेत में घुस गई। इस पर सीलो धुर्वे ने उस पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। जिसके चलते उसके सिर पर गंभीर चोटें आई है।

ताप्ती फुटबॉल कप प्रतियोगिता में अमरावती ने फाइनल मैच, पूर्व केबिनेट मंत्री पांसे किया पुरुस्कार वितरण


मुलतापी समाचार

प्रतियोगिता के चौथे दिन शनिवार को प्रथम सेमीफाइनल अमरावती और मुलताई की टीम के बीच हुआ। जिसमें अमरावती की टीम ने मुलताई की टीम को एक गोल से पराजित किय।

मुलताई के हाई स्कूल के खेल मैदान पर आयोजित मां ताप्ती कप फुटबॉल प्रतियोगिता में फाइनल मैच में अमरावती की टीम ने परासिया की टीम को 1- 0 से हराकर जीत का परचम लहराया। शनिवार को आयोजित फाइनल मैच रोमांचक रहा। दोनों टीमों के खिलाड़ियों द्वारा किए गए उत्कृष्ट खेल प्रदर्शन का दर्शकों ने भरपूर आनंद उठाया। फाइनल मैच में मुख्य अतिथि बतौर उपस्थित पूर्व मंत्री,विधायक सुखदेव पांसे दोनों टीमों के खिलाड़ियों का परिचय लेने के बाद मैच का शुभारंभ हुआ।

दुसरा सेमीफाइनल परासिया और बैतूल की टीम के बीच हुआ। लेकिन निर्धारित समय में दोनों टीमों द्वारा गोल नहीं किए जाने के कारण पेनल्टी से हार जीत का निर्णय लिया गया। जिसमें प्रथम पेनल्टी में स्कोर 5-5 होने की स्थिति में पुनः पेनल्टी कराई गई। जिसमें परासिया की टीम ने बैतूल को 1-0 से पराजित किया। तीसरे स्थान के लिए मुलताई की टीम और रॉयल एनफील्ड बैतूल के बीच मैच खेला गया। इस मैच का निर्णय भी पेनल्टी से हुआ। जिसमें बैतूल की टीम ने 3-2 से मुलताई की टीम को पराजित किया। अंत में फाइनल मैच अमरावती और परासिया की टीम के बीच हुआ जिसमें अमरावती की टीम ने जीत दर्ज की।

*पूर्व मंत्री ने किया पुरस्कार वितरण*
प्रतियोगिता का समापन पुरस्कार वितरण के साथ हुआ विधायक सुखदेव पांसे ने प्रतियोगिता में विजेता अमरावती की टीम और उपविजेता परासिया की टीम को पुरस्कार प्रदान किए। श्रीपांसे ने फुटबॉल और क्रिकेट खिलाड़ियों की मांग पर खेल मैदान की उच्च व्यवस्था के लिए मैदान में शेष बाउंड्री वाल निर्माण,सुरक्षा गेट निर्माण के लिए राशि देने के साथ क्रिकेट प्रैक्टिस नेट प्रदान करने की घोषणा की।

राज्य निर्वाचन आयोग ने 3 महीने के लिए टाले नगरीय निकाय चुनाव, 20 फरवरी के बाद होंगे चुनाव


मुलतापी समाचार

भोपाल. मध्यप्रदेश में कोरोना के फिर से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए राज्य निर्वाचन आयोग ने नगरीय निकाय और त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों को टाल दिया है। फिलहाल इन चुनावों को टाला गया है । चुनाव कब कराए जाएंगे इस पर राज्य निर्वाचन आयोग 20 फरवरी के बाद निर्णय लेगा। राज्य निर्वाचन आयोग का कहना है कि कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच वर्तमान परिस्थितियों में चुनाव कराना संभव नहीं है।

तीन महीने के लिए टले निकाय चुनाव


राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से शनिवार को नगरीय निकाय चुनाव और त्रि स्तरीय पंचायत चुनावों को टाले जाने के संबंध में आदेश जारी किया गया । इस आदेश में आयोग ने लिखा है राज्य के कुल 407 नगरीय निकायों में से 307 का कार्यकाल 25 सितंबर 2020 को समाप्त हो गया है और 8 नगरीय निकायों का कार्यकाल जनवरी और फरवरी 2021 में पूरा हो रहा है। त्रिस्तरीय पंचायतों में पंच, सरपंच, जनपद सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्यों का कार्यकाल भी मार्च 2020 में समाप्त हो चुका है । इनके साथ ही 29 नवगठित नगर परिषदों का निर्वाचन भी कराया जाना है। चुनाव आयोग चुनाव कराने के लिए पूरी तरह से तैयार है। राज्य सरकार प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण की स्थिति पर नजर रखे ऱ जब भी आंकड़ों तथा अपनी तैयारी के हिसाब से सरकार ये तय करेगी कि अब चुनाव कराए जा सकते हैं तो राज्य निर्वाचन आयोग को सूचित करे, आयोग तत्काल चुनाव कराने के लिए तैयार है।राज्य निर्वाचन आयोग अध्यक्ष ने ये कहा
राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने जानकारी दी है कि राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा वर्तमान परिस्थितियों का आंकलन करने के बाद यह पाया गया है कि कोविड-19 के संक्रमण में निरंतर वृद्धि तथा जन-स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिगत स्वतंत्र एवं निष्पक्ष निर्वाचन प्रक्रिया सम्पादित किये जाने की स्थिति वर्तमान में नहीं है। अत: भारत के संविधान के अनुच्छेद 243-K एवं 243-ZA में प्राप्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए नगरीय निकायों के माह दिसम्बर-2020 एवं जनवरी-2021 में प्रस्तावित आम निर्वाचन, नगर परिषद नरवर जिला शिवपुरी को छोड़कर (माननीय उच्च न्यायालय के निर्णय अनुसार), 20 फरवरी 2021 के बाद कराये जायेंगे। इसी तरह इन्हीं परिस्थितियों के मद्देनजर त्रि-स्तरीय पंचायतों के माह दिसम्बर-2020 एवं जनवरी-2021 में प्रस्तावित आम निर्वाचन माह फरवरी-2021 के बाद कराये जायेंगे।

जन आंदोलन मंच का धरना प्रारंभ, भाजपा नेताओं की सद्बुद्धि के लिए की प्रार्थना


✍️ राहुल सारोडे

मुलताई (मुलतापी न्यजू)। जन आंदोलन मंच ने पूर्व घोषणा के अनुसार शुक्रवार से शहीद स्तंभ परिसर बस स्टैंड पर ट्रेनों के स्टापेज को लेकर धरना प्रदर्शन प्रारंभ कर दिया है।

उपजन मंच के सदस्यों ने शुक्रवार अटल जयंती होने से उनका धरना स्थल पर ही जन्मदिन मनाते हुए भाजपा नेताओं के लिए सद्बुद्धि की प्रार्थना भी की ताकि वे नगर की समस्याओं को समझकर उसके निराकरण का प्रयास कर सकें। प्रथम दिन धरने पर राजरानी परिहार, मोहनसिंह परिहार, अनिल सोनी, महेश शर्मा, टीकाराम मंडले, विनोद बेले, श्रवण वाघमारे, आनंद पांसे, संपतराव, सुदर्शन बर्डे, यादोराव निंबालकर, गुलाब राऊत, संतोष बंगाली, राजेश तायवाड़े, गुड्डु पंवार, अमन बोबड़े, हाजी शमीम खान, विजय पारधे, रजनीश गिरे तथा विजय बारंगे सहित बड़ी संख्या में लोग बैठे। जनमंच के अनिल सोनी सहित अन्य सदस्यों ने बताया कि विगत वर्षों से मुलताई क्षेत्र की जनता भाजपा का सांसद चुन कर भेज रही है, लेकिन पूर्व एवं वर्तमान सांसदों द्वारा नगर की समस्याओं को नजर अंदाज किया गया है। पवित्र नगरी होने के बावजूद यहां प्रमुख ट्रेनों का स्टापेज कराने के लिए सांसदों द्वारा कोई प्रयास नहीं किए गए जिससे पूरे क्षेत्रवासियों को आवागमन के लिए समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

आगनवाड़ी केन्द्रो की परियोजना मे समीक्षा बैठक का आयोजन


महिला एवं बाल विकास परियोजना प्रभात पट्टन के अंतर्गत संचालित आगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की परियोजना मे समीक्षा बैठक सम्पन्न

मुलतापी समाचार

आज महिला एवं बाल विकास परियोजना प्रभात पट्टन के अंतर्गत संचालित आगनवाड़ी केन्द्रो की परियोजना मे समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया बैठक मे आंगनवाडी कार्यकर्ताओ को परियोजना अधिकारी सुमित्रा गजभिये प्रभात पट्टन द्वारा शासन की अत्यंत महत्वपूर्ण योजना लाड़ली लक्ष्मी योजना प्रधानमंत्री मात्वत वंदना योजना की समीक्षा की गई एवं निर्देशित किया गया है की किसी भी प्रकार से पात्र हितग्राही उक्त योजना से लाभ से वंचित न रहे तथा जिन आगनवाड़ी कार्यकर्ताओ की लक्ष्य पूर्ति वर्तमान तक पूर्ण नही हुई है उनको अंतिम चेतावनी दी गई है साथ ही समय सीमा मे अति शीग्र लक्ष्य पूर्ति पे कार्यकर्ता एवं सेक्टर पर्यवेक्षक को निर्देश दिये गये

बैठक मे उपस्थित कार्यकर्ताओ को C-SAM योजना के अंतर्गत चिन्हित अतिकम वजन के बच्चो को NRC मे भर्ती करने के लिए निर्देशित किया गया एवं स्थानीय स्तर पर जनसहयोग से पोषण मटका मे पोष्टिक खाद्य सामग्री का सकलन का अति कम वजन के बच्चो को उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित किया गया साथ ही विभाग द्वारा संचालित सभी योजनाओ की समीक्षा की गई अतिकम वजन एवं का वजन के बच्चो को दूध के पैकेट वितरण करने के निर्देश किए गए और कहा गया की कार्यकर्ता स्वयं बच्चो के घर जाकर आपने समक्ष मे निर्धारित मात्रा मे दूध का सेवन कराये साथ ही 03 से 06 वर्ष के बच्चो को RTE का नियमित वितरण कराये बैठक के दौरान सेक्टर पर्यवेक्षक दीप्ति साहू एवं महावती बेले उपस्थित हुई !

नवजात बच्चे को मृत घोषित कर पिता द्वारा समशान में दफनाने वक्त जिन्दा हो गया – गंजबासौदा


गंजबासौदा. डॉक्टरों और नर्सों की लापरवाही के मामले सामने आते रहते हैं। लेकिन मध्य प्रदेश के विदिशा जिले से जो घटना देखने को मिली उसने सारी हदें पार कर दीं। जहां नर्स ने इलाज के दौरान नवजात बच्चे को मृत घोषित कर दिया।

परिवार के सदस्य दुखी थे और बच्चे को दफनाने गए। परी तैयार हो गई, गड्ढे को भी खोदा, लेकिन जैसे ही उसने नवजात बच्चे को नीचे रखा, उसके हाथ और पैर हिलने लगे।

नर्स ने बताया कि बच्चे की मौत हो गई हैं, तब मां को नही हुआ यकीन

दरअसल, लापरवाही का यह मामला विदिशा जिले के गंजबासौदा अस्पताल का है। जहां संगीता नाम की महिला की डिलीवरी के बाद बच्चे की तबीयत बिगड़ गई। कुछ घंटों के बाद, नर्स ने बच्चे को मृत बताया और उसे परिवार को सौंप दिया।

प्रसूति को यकीन नहीं था कि उसका बच्चा इस दुनिया में नहीं है। वह इलाज की गुहार लगाती रही, लेकिन उसे मृत घोषित कर दिया।

जब किसी ने भगवान का चमत्कार कहा, तो किसी ने कहा

नवजात के पिता बबलू प्रजापति ने कहा कि मेरे बच्चे को नर्स रानी कुशवाहा ने मृत घोषित कर दिया था। हमने भी सही काम किया और दफन की तैयारी की। लेकिन उस समय, परमेश्वर का ऐसा चमत्कार हुआ कि वह साँस लेने लगा और वह हिलने लगा।

तो हम हैरान थे, कुछ कहने लगे कि यह भगवान का चमत्कार है। लेकिन कुछ ने कहा कि यह सब डॉक्टरों की गलती से किया गया था।

पूरी तरह से स्वस्थ हैं मासूम

अस्पताल की नर्स और स्टाफ की लापरवाही की शिकायत जिला चिकित्सा अधिकारी से की। जिसके बाद इस मामले पर कार्रवाई की गई थी। वहीं, जब बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर महेंद्र बाजोरिया और डॉक्टर अतुल जैन ने बच्चे की जांच की, तो वह सांस ले रहा था। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

Betul जिले में औद्योगिकीकरण की असीम संभावनाओं को लगेंगे पंख


बैतूल में उद्योग एवं व्यापार स्थापित करने की संभावनाओं एवं समस्याओं पर हुआ विचार-मंथन

उद्योग संवर्द्धन समिति की बैठक आयोजित

कलेक्टर डेक्स

Multapi Samachar

जिले में वनोपज, उन्नत कृषि एवं हस्तशिल्प के बेहतर संसाधन उपलब्ध हैं, जरूरत सिर्फ इनसे जुड़े उद्योगों एवं व्यापार को बढ़ावा देने की है। इनको बढ़ावा देने की संभावनाओं पर पृथक-पृथक वर्किंग ग्रुप बनाकर प्रति सप्ताह चर्चा की जाएगी एवं आने वाली अड़चनों को निराकृत किया जाएगा। कलेक्टर श्री राकेश सिंह की अध्यक्षता में बुधवार को हुई जिला उद्योग संवर्द्धन समिति की बैठक में निर्णय लिया गया कि जिले में सागौन से निर्मित फर्नीचर एवं अन्य उत्पाद, हस्तशिल्प, कृषि उत्पादों पर आधारित उद्योगों की स्थापना की बेहतर पृष्ठभूमि तैयार की जाए। साथ ही सागौन आधारित फर्नीचर एवं वुडन उद्योगों को क्लस्टर बनाकर मूर्त रूप दिया जाए। जिले में बड़ी संख्या में कार्यरत महिलाओं के स्व सहायता समूहों का बेहतर ह्यूमन रिसोर्स के रूप में प्रोत्साहित किया जाए। इस दौरान पुलिस अधीक्षक सुश्री सिमाला प्रसाद, वनमंडलाधिकारी श्री पुनीत गोयल, सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी सहित उद्योगपति, व्यापारी, कर सलाहकार, चार्टर्ड एकाउंटेंट एवं संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

बैठक में कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि जिले में फर्नीचर क्लस्टर एवं इससे जुड़े उद्योगों के विकास के लिए सागौन के अलावा अन्य प्रजाति की लकड़ी से संबंधित उद्योगों के विकास पर भी विचार किया जा रहा है। फर्नीचर क्लस्टर के रूप में मध्यप्रदेश में चार जिले चयनित किए गए हैं, जिनमें बैतूल भी शामिल है। फर्नीचर क्लस्टर की स्थापना के लिए उपयुक्त जमीन तलाश कर उपलब्ध कराने के लिए भी कार्य प्रारंभ किया गया है। उन्होंने कहा कि वुडन आधारित क्लस्टर स्थापित होने से परंपरागत अथवा घरेलू उपयोग के फर्नीचर के अलावा अन्य वुडन उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए भी कार्य किया जाएगा, ताकि इन उत्पादों की विदेशों तक मांग बढ़ाई जा सके। इस बात का भी विशेष ध्यान रखा जाएगा कि स्थानीय उद्यमियों को उद्यमों की स्थापना में बढ़ावा मिल सके।

बैठक में पुलिस अधीक्षक सुश्री सिमाला प्रसाद ने कहा कि जिले में उत्पादित होने वाली सामग्री को बेहतर बाजार उपलब्ध कराना भी हमारे लिए एक चुनौती होगी, जिसके लिए उचित प्लेटफार्म देना होगा। इसके अलावा स्थानीय लोगों को इन उद्यमों से जोडक़र हम जिले के औद्योगिकीकरण को बेहतर स्वरूप दे पाएंगे। बैठक में वन मंडलाधिकारी श्री पुनीत गोयल ने जिले में वुडन उद्योगों की स्थापना के लिए वन विभाग के प्रावधानों से अवगत कराया।

बैठक में एमपी विनियर्स के श्री अभिमन्यु श्रीवास्तव ने कहा कि वुडन पर आधारित छोटे-छोटे प्रोडक्ट भी विदेशों में एक्सपोर्ट हो सकते हैं। बैतूल जिले का सागौन लोगों को बेहतर रोजगार उपलब्ध कराने एवं औद्योगिकीकरण को बढ़ावा देने में काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। कर-सलाहकार श्री राजीव खण्डेलवाल ने बैठक में कहा कि वुड प्रोडक्ट्स यदि कन्ज्यूमर गुड्स के रूप में तैयार किए जाएंगे, तो उनको बेहतर मार्केट मिलेगा। उन्होंने पैकिंग-रिपैकिंग एवं जीएसटी व्यवस्थाओं के संबंध में भी बैठक में अपने विचार व्यक्त किए। चार्टर्ड एकाउंटेंट श्री सुनील हिराणी ने छोटे उद्यमियों को उद्यम स्थापित करने हेतु आवश्यक फेसिलेटेशन की आवश्यकता पर जोर दिया, ताकि वे बेहतर व्यवसाय की तरफ बढ़ सके। इसके अलावा जिले में छोटे उद्यमों को बढ़ावा देने के लिए स्व-सहायता समूहों के सशक्तिकरण की बात भी उन्होंने कही। उन्होंने कहा कि उद्यम स्थापित करने वालों को टैक्स, मार्केटिंग एवं अन्य एक्सपर्ट्स से आवश्यक मार्गदर्शन दिलवाया जाए। जिला व्यापार संघ के श्री मनोज भार्गव ने जिले में व्यापारिक संभावनाओं पर प्रकाश डाला। आरामशीन संचालक संघ की तरफ से श्री अब्दुल भाई एवं श्री राजा साहू द्वारा स्थानीय स्तर पर विनियर उद्यम को बढ़ावा देने की बात कही। साथ ही वुडन उद्योग में वन विभाग से संबंधित आवश्यक सहयोग की अपेक्षा के संबंध में भी चर्चा की गई। बैठक में उन्नत कृषि एवं आयुर्वेद औषधि उत्पादों की संभावनाओं पर भी विस्तृत विचार रखे गये।

इस दौरान जिला वाणिज्य कर अधिकारी श्री युवराज पाटीदार ने जीएसटी के प्रावधानों से अवगत कराया। कलेक्टर श्री सिंह ने बैठक के अंत में कहा कि चर्चा में हुए निष्कर्षों को संस्थागत स्वरूप देकर आगे बढ़ाया जाएगा। जिले में औद्योगिकीकरण को बढ़ावा देने के लिए जिला स्तर पर आ रही छोटी-मोटी दिक्कतों को शीघ्रता से निराकृत कराया जाएगा। शासन स्तर से जिन समस्याओं का हल होना होगा, उन्हें चिन्हित कर निराकृत करवाने की पहल की जाएगी। उत्पादों के आवश्यक प्रमाणीकरण के लिए भी जिला प्रशासन उद्यमियों की पूरी मदद करेगा। तदुपरांत जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एमएल त्यागी ने जिले में स्व सहायता समूहों के कार्यों को छोटे उद्यम के रूप में बढ़ावा देने के लिए समन्वित प्रयास करने की बात कही। बैठक का संचालन जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष श्री ब्रजआशीष पाण्डे द्वारा किया गया।

सच का प्रवाह