कोरोना के 21 नए मरीज मिले, एक और मौत


हेल्‍थ बुलेटिन

कोरोना न्‍यूज

Multapi Samachar

 जिले में कोरोना संक्रमण से गुरुवार को एक और वृद्ध की मौत हो गई। अब तक 56 लोगों की मौत कोरोना से हो चुकी है वहीं 2406 लोग संक्रमित हुए हैं। गुरुवार को 21 नए मरीज मिले हैं जिन्हें मिलाकर अब 293 एक्टिव मरीज हैं। एकीकृत रोग निगरानी परियोजना से प्राप्त जानकारी के अनुसार हथनापुर मुलताई निवासी 50 वर्षीय पुरुष, विवेकानंद वार्ड मुलताई निवासी 25 वर्षीय युवती, शास्त्री वार्ड मुलताई निवासी 58 वर्षीय महिला, जामू भीमपुर निवासी 52 वर्षीय महिला एवं 56 वर्षीय पुरूष, शाहपुर निवासी 47 वर्षीय महिला, 45 वर्षीय महिला, 30 वर्षीय युवक एवं 60 वर्षीय महिला, बरबटपुर शाहपुर निवासी 27 वर्षीय युवती, छुरी घोड़ाडोंगरी निवासी 43 वर्षीय महिला, 22 वर्षीय युवती एवं 21 वर्षीय युवती, सदर बाजार बैतूल निवासी 61 वर्षीय पुरुष, बगडोना घोड़ाोंगरी निवासी 38 वर्षीय पुरुष, चन्द्रशेखर वार्ड बैतूल निवासी 15 वर्षीय बालक, देशबंधु वार्ड टिकारी बैतूल निवासी 40 वर्षीय महिला, इन्दिरा वार्ड बैतूल निवासी 55 वर्षीय महिला, सूखाढ़ाना सलैया घोड़ाडोंगरी निवासी 64 वर्षीय पुरुष, चिरापाटला चिचोली निवासी 24 वर्षीय युवक, खंजनपुर बैतूल निवासी 28 वर्षीय युवक संक्रमित पाए गए हैं। इधर जिले के विभिन्ना कोविड सेंटरों में भर्ती 7 मरीजों को स्वस्थ होने पर छुट्टी दे दी गई है।

भोपाल में स्वामी डॉ आशुतोष ब्रम्हचारी का मौन प्रदर्शन विडि‍यों देखे


मुलतापी समाचार

भोपाल। राष्ट्रीय अटल सेना के राष्ट्रीय महामंत्री सुनील तिवारी ने स्वामी डॉ आशुतोष ब्रम्हचारी का समर्थन करते हुए कांग्रेस सरकार में राज्यमंत्री कम्प्यूटर बाबा की कारनामों को संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई की मांग की, स्वामी डॉ आशुतोष ब्रम्हचारी द्वारा अवैध उत्खनन मामले का विरोध किये जाने पर नाराज़गी जताते हुए आशुतोष बाबा पर गोलियां चलवा दी जिसका जिक़्र थाना प्रभारी से लेकर गृह मंत्री और मुख्यमंत्री जी तक अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई है,और कम्प्यूटर बाबा की गिरफ्तारी की मांग की है आज भोपाल के मनसा पूरण हनुमानजी मंदिर इंद्रपुरी एरिगेशन पर मौन धारण करते हुए जल्द कार्यवाही की मॉग की है, और कार्यकर्ताओं द्वारा भी मध्यप्रदेश उत्तर प्रदेश में मौन प्रदर्शन निरन्तर चलता रहेगा , जिसमें पर प्रमुख रूप से ,धर्मेंद्र तिवारी , लक्ष्मी नारायण यादव, विनोद रघुवंशी,प्रेम नारायण यादव, विनोद धाकड़ आदि समाजसेवी शामिल हुए।

MP जेल में बंद सजा काट रहे केदियों ने पिया एसिड,जेल प्रबंधन की लापरवाही आई सामने, चंदे के लिए बंदियों पर बनाया जा रहा दबाव


Multapi Samachar

 बैतूल जिला जेल में हत्या और दुष्कर्म की सजा काट रहे दो बंदियों ने बाथरूम में उपयोग किया जाने वाला ऐसिड पी लिया दोनों बंदियों मंटू और ब्रजेश की हालत खराब होने के बाद जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया । दोनो बंदियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है । और घटना की जांच की जा रही है । 
प्राप्त जानकारी के मुताबिक इस पूरे मामले में प्रबंधन की लापरवाही खुल कर सामने आई है कि आखिर एसिड बंदियों तक पहुंचा कैसे जबकि एसिड का प्रभार जेल के वरिष्ठ प्रहरी मन्ना लाल के पास  रहता है । दोनो बंदियों की हालत खराब होने के बाद उन्हें बेहोशी की हालत में तत्काल जिला अस्पताल में भर्ती किया गया । जहां डॉक्टरों की देख रेख में उपचार किया जा रहा है । 
जिला अस्पताल के डॉ रंजीत राठौर ने बताया कि सुबह दो बंदियों को लाया गया था दोनो ने कोई ससस्पेक्टेड पॉइज़न के सेवन कर लिया है फिलहाल दोनो की हालत खतरे से बाहर है। जेल के अंदर लगातार घटनाएं घटित हो रही है । कुछ दिन पहले ही जेल के एक कर्मचारी द्वारा शराब पीकर जम कर हंगामा किया गया । लेकिन इस घटना को लेकर बताया जा रहा है कि बंदियों से जबरन चंदा वसूली की जा रही थी । इसी के चलते दोनो बंदियों ने एसिड पी लिया । लेकिन इस तथ्य को जेल अधीक्षक ने बी के कुडापे ने खारिज करते हुए कहा कि  सुबह अचानक बंदियों के एसिड पीने की जानकारी मिलने के बाद बंदियों को तुरंत उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती  कराया गया । फिलहाल जांच की जा रही है कि किस कारण से बंदियों ने एसिड का सेवन किया ।

जिला अस्‍पताल के रवइये पर गरमाई राजनीति, विधायक ने लगाये गंभीर आरोपा


(बैतूल) प्रसूता का मामला पीछे छूटा और सियासत आगे निकल गई..! ,
बैतूल विधायक का खुला आरोप
– भाजपा जनप्रतिनिधियों के अस्पतालों को फायदा पहुंचाने बिगाड़ रहे व्यवस्था,
– बैतूल नगर मंडल अध्यक्ष का जवाब


यह बयानबाजी केवल रेत में भाजपा नेताओं की क्रिया की है प्रतिक्रिया
बैतूल । जिला अस्पताल में एक बार फिर लापरवाही की वजह से एक प्रसूता का जीवन खतरे में आ गया था। मामला उजागर होने के बाद सीएमएचओ ने जांच के आदेश दिए। वहीं इस पूरे मामले में विधायक निलय डागा के तीखे बयान में मामले को सियासी रंग दे दिया है।

इस मामले में विधायक डागा ने खुला आरोप लगाया है कि जिला अस्पताल में जो व्यवस्थाएं बिगाड़ी जा रही है इसकी बड़ी वजह यह है कि भाजपा जनप्रतिनिधियों के अस्पतालों को फायदा पहुंचाने की नीयत है।  उनके इस बयान पर भाजपा के कोठीबाजार नगर मंडल अध्यक्ष विकास मिश्रा ने कड़ा एतराज जताते हुए कहा कि विधायक जी कहीं पर निगाहें हैं और कहीं पर निशाना लगा रहे हैं। उनका कहना है कि यह सब इसलिए कहा जा रहा है कि हाल ही में भाजपा नेताओं ने रेत के अवैध खनन और ठेकेदारों की मनमानी को लेकर प्रशासन को शिकायत की थी।  

– एक बार फिर जिला अस्पताल कठघरे में…
– जननी एक्सप्रेस अस्पताल के बाहर छोड़ गई तो प्रसूता का प्रसव गेट पर ही हो गया…
बोड़ी गांव से एक प्रसूता को जननी एक्सप्रेस से बीती रात गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय लाया गया।  साथ आई उसकी मां को जननी के ड्राईवर ने पर्ची बनाने भेजा। इस बीच प्रसव वेदना सहते हुए महिला ने सीढ़ी के पास ही बच्चे को जन्म दे दिया यह तो शुक्र है कि बच्चा सकुशल है, लेकिन प्रसव के कारण सीढिय़ों के आसपास खून ही खून नजर आ रहा था। अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही के बाद मंगलवार सुबह सीएमएचओ ओैर सिविल सर्जन ने मामले की गंभीरता को देखते हुए निरीक्षण किया और बोड़ी की आशा कार्यकर्ता के साथ जननी एक्सप्रेस के ड्राईवर को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। रात में ड्यूटी पर तैनात गार्ड को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए तत्काल हटा दिया गया है। मामले की जांच के भी आदेश दे दिए गए है। बोड़ी निवासी प्रसूता रेखा बाई को प्रसव पीड़ा होने पर जननी एक्सप्रेस की सहायता से जिला अस्पताल लाया। जननी चालक ने गर्भवती को ट्रामा सेंटर के मुख्य द्वार के पास सीढिय़ों पर बैठा दिया और गर्भवती के साथ आई उसकी मां को पर्ची काटने भेज दिया। महिला को पर्ची काटने की कोई जानकारी नहीं होने पर वह काफी देर तक ट्रामा सेंटर में भटकती रही और गर्भवती महिला काफी देर तक सीढिय़ों पर ही बैठी रही उसे तेज प्रसव पीड़ा हुई और उसने  सीढिय़ों पर ही प्रसव हो गया। काफी देर तक बच्चा फर्श पर ही पड़ा रहा। आसपास के लोगों ने इसकी जानकारी अस्पताल के कर्मचारियों को दी। इसके बाद महिला को तत्काल अस्पताल के भीतर ले जाकर भर्ती किया। इस मामले में गंभीर लापरवाही सामने आई है। आते से ही महिला को अस्पताल के अंदर भर्ती करना था, लेकिन वह लगभग आधे घंटे से अधिक समय तक सीढिय़ों पर ही बैठी रही और प्रसव हो गया। गनीमत यह रही कि बच्चा और जच्चा दोनों स्वस्थ्य हैं। जानकारी के अनुसार महिला की यह चौथी बार डिलेवरी है। 

– व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए व्यवस्था खराब कर रहे : निलय 

विधायक निलय डागा का आरोप है कि भाजपा नेता जनप्रतिनिधि जिनके अपने निजी अस्पताल है वे अपने अस्पतालों का व्यापार बढ़ाने के लिए जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं को जान-बूझकर चरमरा रहे है। व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए जनता की जान जोखिम में डाली जा रही है। खुद का अस्पताल चलाने जान जोखिम डाल रहे हैं। वे इस व्यवस्था से बिल्कुल संतुष्ट नहीं है। जननी एक्सप्रेस भी अपनी बिलिंग बढ़ाने के लिए महिला को आमला की बजाय बैतूल लेकर आई। 

– काश ऐसे ही रेत और बीज पर भी बोलते विधायक : विकास
भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष विकास मिश्रा ने विधायक के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि विधायक जो कह रहे सुन रहे हैं वह क्रिया की प्रतिक्रिया है। जिस तरह से भाजपा नेता रेत को लेकर विरोध कर रहे हैं और कार्रवाई के लिए प्रशासन से शिकायत कर रहे हैं उसका यह सब रिएक्शन है। उनका कहना है कि काश विधायक रेत के रेट और ठेकेदारों की मनमानी सहित अमानक बीज के मामले में भी ऐसा ही आरोप लगाते।

– किसी भाजपा जनप्रतिनिधि का गायनो हॉस्पीटल नहीं…                   
बैतूल विधायक पढ़े लिखे हैं और उन्हें जानकारी होना चाहिए कि किसी भी भाजपा जनप्रतिनिधि या नेता का गायनो हॉस्पीटल नहीं है। इस तरह की लापरवाही पर जांच करवाई जाएगी और दोषियों पर कार्रवाई होगी।
– डॉ योगेश पंडाग्रे, विधायक, आमला

– लापरवाही सामने आई है और कार्रवाई भी की जा रही है…               
– जननी एक्सप्रेस के चालक की लापरवाही है उसे हटाने की कार्रवाई की जा रही है। गार्ड गेट पर नहीं था इसलिए उसे हटा रहे हैं । आशा साथ में नहीं आई उसकी लापरवाही है नोटिस दिया जा रहा है।
डॉ प्रदीप धाकड़, सीएमएचओ, बैतूल ।

जिले में बढ़ रहा चोरीयों का मामला-ज्‍वेलरी की दुकान सहित आटो में रखे बर्तन चोरी करने वाले पकडाए- दो नाबालिक


चुराए गए जेवर किए जब्त

साथ ही चुराए गए आटो से बर्तन भी पाये

Multapi Samachar

मुलताई। क्षेत्र में कुछ नाबालिग सहित युवक सुनियोजित तरीके से चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे थे, जिसमें गांधी चौक स्थित जैन ज्वेलर्स सहित एक आटो में रखे बर्तन शामिल थे। चोरों ने चोरी की घटनाओं को अंजाम तो दे दिया, लेकिन बंटवारे के समय सूचना पर पुलिस ने उन्हें धर दबोचा।

पुलिस द्वारा दो नाबालिग एवं एक युवक को गिरफ्तार कर उनसे जेवर एवं बर्तन जब्त किए हैं वहीं एक अन्य युवक कुछ जेवर लेकर फरार बताया जा रहा है। पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार गांधी चौक स्थित जैन ज्वेलर्स की दुकान पर दीवार में छेदकर कुछ जेवर चोरी की घटना हुई जिसमें चोरों के निशाने पर तिजोरी भी थी, लेकिन भारी होने के कारण वे नही ले जा पाए।

इधर एक आटो में रखे बर्तनों पर उन्ही चोरों द्वारा हाथ साफ किए गए। चोरी की घटना के बाद दो नाबालिग सहित नीलेश उर्फ नीलू उईके उम्र 22 वर्ष निवासी मटन मार्केट के पास मुलताई द्वारा फोरलेन पर वीआइपी स्कूल के पीछे चोरी किए सामान का बंटवारा किया जा रहा था, इसी दौरान इसकी सूचना पर पुलिस को मिली और पुलिस द्वारा तत्काल मौके पर तीनों को धर दबोचा गया।

पुलिस के अनुसार चोरी की घटना में शामिल रमेश ओझा 18 वर्ष निवासी नागपूर के पास महाराष्ट्र कुछ जेवर लेकर पहले ही फरार हो गया था, जिसे गिरफ्तार नही किया जा सका। पुलिस के अनुसार चोरी की घटना में एक 14 वर्षीय तथा दूसरा 13 वर्षीय नाबालिग भी शामिल है।

       42 साल निवासी मटन मार्केट मुलताई ने रिपोर्ट किया कि ऑटो से जर्मन बर्तन बेचने का काम करता है घर के सामने खडे आटो से जर्मन बर्तन सामान किसी अज्ञात व्यक्ति दवारा चुराकर ले गया है, रिपोर्ट पर आरोपी माल मशरूका की पतारसी की गयी अपराध मे एक आरोपी एंव दो अपचारी बालक को पकड़कर पूछताछ की गई जिनके द्वारा आटो से जर्मन बर्तन लगभग 15000 रूपये के चोरी करना स्वीकार किया। आरोपीगण निलेश पिता नीलू उईके ओझा 22 साल निवासी मटन मार्केट मुलताई एंव दो अपचारी बालक से 15000 हजार रूपये का माल बरामद किया गया। आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया एंव दोनो अपचारी बालको को बाल न्यायालय बैतूल पेश किया गया।

       उक्त दोनो अपराधो मे आरोपी निलेश पिता नीलू उईके ओझा 22 साल निवासी मटन मार्केट मुलताई एंव दो अपचारी बालको से चांदी के सिक्के व अन्य चांदी के सामान एंव आटो से चोरी किये गये जर्मन बर्तन सामान लगभग 30 हजार रूपये का बरामद किया गया।

गौरतलब है कि नगर में लंबे समय से चोरियां हो रही हैं, लेकिन अभी तक चोरियों का कोई सुराग नही लग पाया था इसके अलावा क्षेत्र के ग्रामीण अंचलों में भी कई चोरियां हुई है। फिलहाल पकड़े गए चोरों ने दो चोरियां कबूल की हैं जिससे अन्य स्थानों की चोरियों का पता चल सकता है।
    

पुरानी रंजिश को लेकर जताई हत्या की आशंका


अपराधियों परआठनेर पुलिस हुई मेहरबान

पुलिस ने मामले की लीपापोती

Multapi Samachar

काेलगाव आठनेर पुलिस द्वारा मामले को रफा-दफा करने के कारण आवेदक लीलाबाई बेवा 60 वर्ष जाति मराठा निवासी कॉल गांव जिला बैतूल ने पुलिस अधीक्षक बैतूल को लिखित आवेदन देकर सूचित किया है कि विजय सिंघाड़े पिता ज्ञान राव 45 वर्ष एवं सरस सिंघाड़े पिता ज्ञान राव 42 वर्ष निवासी कोऴगाव ने पुरानी रंजिश को लेकर एक्सीडेंट का नाम बता कर उसके पति की हत्या कर दी चुकी मामला आठनेर परी क्षेत्र अधिकार के अंतर्गत आता है इसलिए आवेदिका ने आठनेर पुलिस को लिखित आवेदन देकर शिकायत की थी कि इसके पति कि आवेदकों द्वारा हत्या कर दी गई है लेकिन आठनेर पुलिस ने मामले की लीपापोती करते हुए एक्सीडेंट का रूप दे दिया

उल्लेखनीय है कि मृतक एवं अनावेदकों के परिवार में काफी दिनों से लड़ाई झगड़ा मारपीट गाली-गलौज के कारण आपसी रंजिश चल रही थी दोनों परिवार एक दूसरे पर हमला करने का अवसर ढूंढते रहते थे चुकी मृतक का परिवार सीधा-साधा एवं साधारण जीवन जीने वाला था गांव के रहने वाले पंकज काले प्रवीण काले तथा अन्य लोगों ने रात दिन के इस झगड़े को सुलझा ने पहल करते हुए दोनों परिवार में समझौता करा दिया लेकिन अन आवेदक गन भीतर ही भीतर बदला लेने की फिराक में रहे हैं परिवार में गोल मिलकर रहने आने जाने अन्य सामाजिक कार्यों में सहभागिता बनाए रखने के कारण मृतक के परिवार को कभी यह एहसास ही नहीं हुआ की अन आवेदक गन कभी इस प्रकार के घटनाक्रम को अंजाम देंगे
ज्ञात हो कि दोनों परिवार में समझौता होने के कारण दोनों परिवारों में आना जाना सुलभ हो गया था दिनांक 29/9/ 2020 दिन सोमवार को शाम के 4:00 बजे के लगभग 1 आवेदक गन विजय और शरद सिंघाड़े मृतक को उसके घर से यह कह कर ले गए कि चलो घूम कर आते हैं मृतक की पत्नी ने बताया कि पहले तो उसके पति ने मना किया किंतु बार-बार आग्रह करने पर वह जाने के लिए तैयार हो गए मृतक को अन आवेदक की मोटरसाइकिल जिसका नंबर एमपी 48 एमके 0 298 है उस पर बैठा कर ले गए कहां जा रहे हैं इस बात का उन्हें इल्म नहीं था
उसी दिन रात्रि के लगभग 7:30 बजे अन आवेदक गन विजय सिंघाड़े ने गांव के प्रवीण काले के मोबाइल पर फोन लगाकर बताया कि वे तीनों मुसाखेड़ी के बीच आठनेर रोड पर है जहां उनकी मोटरसाइकिल किसी अज्ञात वाहन ने टक्कर मारकर क्षतिग्रस्त कर दिए जिसमें गंभीर चोट होने की बात नहीं बताई प्रवीण काले ने मेरे पुत्र गजानन को मोबाइल पर इस विषय में सूचना दी मेरा पुत्र गजानन प्रवीण काले और दीक्षांत काले अखिल वामन कर सभी लोग घटनास्थल पर पहुंचे प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि दुर्घटनाग्रस्त व्यक्तियों को आठनेर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए हैं मेरे पुत्र को आठनेर अस्पताल पहुंचने पर पता चला कि उसके पति गंभीर हालत में है डॉक्टर ने उन्हें बैतूल जिला अस्पताल भेजा है जिला अस्पताल के स्टाफ ने बताया कि आपके पति की हालत बहुत गंभीर है बचने की संभावना नहीं है इसके पश्चात अगले दिन 29/9 /2020 को सवेरे 5:00 बजे लगभग मेरे पति की मौत हो गई
गौरतलब हो कि आठनेर पुलिस ने इस मामले में लीपापोती करके मामले को एक्सीडेंट का बताकर प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया मेरे द्वारा अन आवेदक को एवं पूर्व में उनसे चल रहे रंजीत की बात बताई गई और बताया कि मेरे पति को षड्यंत्र कर मार दिया गया है आवेदक गणों ने बताया एक्सीडेंट में किसी को चोट नहीं आई है मोटरसाइकिल भी सुरक्षित है कहीं टूट-फूट नहीं है मेरे पति जब जीवित थे तब उनको अनावेदक गणों द्वारा जान से मारने की बात कही थी
चुकी कि मेरे द्वारा मेरे पति कि हत्या किए जाने की बात कहने पर अन आवेदक हमें जान से मारने की धमकी दे रहे हैं पुलिस हमारा कुछ नहीं बिगाड़ सकती यह कह रहे हैं हम ने पुलिस को ₹50000 दे दी है इसलिए पुलिस हम पर कोई कार्रवाई नहीं कर सकती अन आवेदक ऊपर कोई पुलिस यह कार्रवाई नहीं होने मामले को एक्सीडेंट का रूप देने के कारण उनके हौसले बुलंद है हमें डर है कि भविष्य में हमारे परिवार के सदस्यों के साथ कोई अनहोनी हो सकती है पुलिस के द्वारा कोई कार्यवाही नहीं करने एवं पुलिस की निष्क्रियता के कारण अन आवेदक खुलेआम घूम रहे हैं उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है मामले की जांच कर आठनेर पुलिस महकमें पर उचित कार्रवाई करने की कृपा करने बाबत पुलिस अधीक्षक का बैतूल को लिखित आवेदन प्रस्तुत किया है पुलिस अधीक्षक ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

ज्ञात हो कि आठनेर पुलिस की निष्क्रियता के कारण क्षेत्र में जुआ सट्टा एवं अन्य अपराध खुलकर हो रहे अपराधी बे लगाम होकर कार्य कर रही है एवं अपनी जेब गर्म करके अपराधियों को खुली छूट दे रही है।

थाना प्रभारी आठनेर की निष्क्रियता के कारण पुलिस महकमा बदनाम हुए जा रहा है इन पर तत्काल कार्रवाई कर अन्य स्थान पर पदस्थ किया जाना चाहिए

Braking News सडक पर टहलते समय13 वर्षीय बालक की सड़क दुर्घटना में हुई मौत दो घायल


सडक पर व्‍यायाम करते हुए बाइक सवार ने मारी टक्‍क्‍र

सड़क हादसे में 13 वर्षीय युवक की मौत । 

सुबह टहलने गए थे  मोटरसाइकिल ने मारी टक्कर दो घायल । 

 मुलतापी समाचावर

आठनेर – बुधवार सुबह मुलताई रोड स्थित विधा आंनद स्कूल के पास व्यायाम कर रहे हैं तीन युवकों को मोटरसाइकिल ने टक्कर मार दी जिसमें 13 वर्षीय युवक शिवम् पिता राजू अनघोरे की मौके पर ही मौत हो गई दो अन्य युवक सागर और छोटू को गंभीर चोट आई है। ए एस आई संतोष नावगे ने बताया की रोज सुबह टहलने के लिए युवक मुलताई रोड पर आये थे तभी तभी तेज रफ़्तार से आई मोटरसाइकिल ने इन तीनों युवकों को टक्कर मार दी जिसमें घायल 13 वर्षीय युवक शिवम् पिता राजू अनघोरे निवासी पटेल मोहल्ला आठनेर  की मौत हो गई है दो युवक घायल हे पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर मोटरसाइकिल जप्त कर थाने में खड़ी करी दी है ।।

किन्नर के प्यार में इस कदर पागल हुआ MP का युवक की प्यार दिखाने के लिए काट डाला ब्लेड से खुद का हाँथ…


मुलतापी समाचार

बैतूल: प्यार जब हद से गुजर जाता है तो वो न लड़की देखता और न लड़का न किन्नर। ऐसा ही एक अजब-गजब मामला मध्यप्रदेश के बैतूल शहर से आया है जहा एक युवक किन्नर के प्यार में इस कदर पागल हुआ कि उसकी जुदाई में खुद के हाँथ में ब्लेड से कई बार किये।

पिछले 7 सालो से किन्नर कमलेश उर्फ करिश्मा से प्यार कर रहे  इटारसी का युवक आनंद कटारे उस वक़्त खुद को लहूलुहान कर लिया जब करिश्मा ने उसके साथ चलने से मना कर दिया।

जानकारी के मुताबिक किन्नर करिश्मा अपने परिजन से मिलने बैतूल आई हुई थी. ज्यादा दिन करिश्मा के वापस न आने से युवक आनंद दुखी हो गया और उसके गैरमौजूदगी उसको सहन नही हुई और वो किन्नर करिश्मा से मिलने बैतूल आ गया जहा पर उसने किन्नर को साथ चलने को कहा तो करिश्मा ने कहा की वो कुछ दिन रुकना चाहती है. जिसके बाद आनंद खुद को काबू नहीं कर सका और खुद पर ब्लेड से कई वार कर दिए.

मामले को बढ़ता देख पुलिस वहां जा पहुंची और युवक को अस्पताल ले जाया गया जहा उसका इलाज़ जारी है.

‘जेब में चाकू रखें लड़कियां, हमलावर को मार डालें’, UP के मंत्री का सुझाव


यूपी में बड़े पैमाने पर शक्ति मिशन चल रहा है. इस अभियान के जरिये योगी सरकार हर बेटी-हर महिला के सम्मान और सुरक्षा सुनिश्चित करने की प्रतिबद्धता जता रही है लेकिन इसी कार्यक्रम में यूपी के एक मंत्री ने ये कह डाला कि लड़कियों को अपनी सुरक्षा के लिए चाकू रखना चाहिए. मंत्री ने लड़कियों को यहां तक सुझाव दिया कि आत्मरक्षा में वो हमलावरों को मार डालें. देखें

bRAKING News: बैतूल जिला अस्पताल के गेट पर ही बच्चे को जन्म दिया प्रसूता ने, फर्श पर हो गया प्रसव, जिला अस्‍पताल में हो रही बडी लापरवाही


आरोप है कि जिला अस्‍पताल के कर्मचारी मरीजों की नही करते परवाह, न ही मरीजों का सही से इलाज करते है

मरीजों को करते है अंदेखा

नर्सों को कहने पर बदतमीजी करनेे लगती हैै

आये दिन जिला अस्‍पताल प्रबंधन पर लग रहें है गंभीर अरोप

मुलतापी समाचार

Betul News

District Hospital Betul

जिला अस्पताल में डाक्टर समेत स्वास्थ्यकर्मियों की बड़ी लापरवाही सोमवार रात 11 बजे सामने आई है। यहां प्रसव के लिए पहुंची एक गर्भवती को समय पर भर्ती नहीं किया गया, जिसकी वजह से उसने प्रसूति वार्ड के गेट पर ही बच्चे को जन्म दे दिया। फर्श पर पड़े नवजात को बिलखता और प्रसूता को बेहोश अवस्था मे देखकर आसपास मौजूद लोगों ने जब शोर मचाया और इसका विरोध किया तब जाकर प्रसूति वार्ड के स्टाफ ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया।

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो थोड़ी देर प्रसूता को अस्पताल में नहीं भर्ती किया जाता तो उसकी जान भी जा सकती थी। इस मामले में 108 एम्बुलेंस, सुरक्षा गार्ड, वार्ड बॉय सहित ड्यूटी डॉक्टर की लापरवाही सामने आ रही है। सीएमएचओ प्रदीप धाकड़ ने बताया कि मामला गंभीर है, वे स्वयं अस्पताल जाकर जांच करेंगे।

दरअसल बैतूल से 12 किमी दूर बोड़ी गांव की वृद्धा मुन्नी बाई प्रसव पीड़ा से तड़पती अपनी बेटी को लेकर 108 एम्बुलेंस से जिला अस्पताल पहुची थी। गांव से आशा कार्यकर्ता ने भी उसे अकेले भेज दिया। एम्बुलेंस चालक ने गर्भवती को प्रसूति वार्ड के गेट पर ही उतार दिया और वृद्ध महिला को पर्ची बनवाने के लिए ट्रामा सेंटर से दूर मुख्य अस्पताल भेज दिया। इस बीच गर्भवती गेट पर ही आधे घंटे तक तड़पती रही और गेट के बाहर ही बच्चे को जन्म दे दिया। समय पर उपचार नहीं मिल पाने के कारण उसका काफी रक्तस्राव भी हो गया जिससे वह बेहोश हो गई।

जिला अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती मरीजों के परिजनों और अन्य लोगों की नजर जब प्रसूता पर पड़ी तो उन्होंने हंगामा कर दिया, जिसके बाद नींद से जागे अस्पताल प्रशासन ने प्रसूता को भर्ती कराया। ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर रंजीत राठौर का कहना है कि 108 एंबुलेंस चालक की लापरवाही है। जब मरीज की कंडीशन सीरियस थी तो चालक को इसकी जानकारी स्टाफ को देनी थी लेकिन वह प्रसूता को गेट पर ही उतार कर भाग गया। अस्पताल के सिविल सर्जन अशोक बारंगा का कहना है कि उन्हें इसकीं जानकारी नही है, ऐसा हुआ है तो पता लगाते है किसकी गलती है।

सच का प्रवाह