Tag Archives: कोरोना वायरस

चीन में वापस आया कोरोना वायरस, शी जिनपिंग ने लगाया मार्सल लॉ


बीजिंग। भारत जैसे देशों के लिए बहुत बड़ी चेतावनी है। चेतावनी यह कि जब कोरोना चीन में दोबारा भड़क सकता है तो फिर यहां भी भड़क सकता है। इसलिए एक बार कोरोना नियंत्रित हो जाये तो फिर लापरवाह नहीं हो जाना चाहिए। वरना ये दूसरे शहरों या प्रदेशों में पनप सकता है। चीन ने दावा किया था कि उसने कोरोना पर पूरी तरह नियंत्रण कर लिया है। लेकिन खबर आयी है कि चीन के नॉर्थ ईस्ट शुलान में कोरोना इतनी तेजी से भड़का कि चीन की शी जिनपिंग सरकार को न केवल वहां लॉक डाउन लगाना पड़ा बल्कि मार्शल लॉ भी लगाना पड़ा है।

चीन ने उत्तर कोरिया की सीमा से लगते अपने एक शहर में रविवार को 11 लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद मार्शल लॉ लागू कर दिया।

शहर में घातक वायरस के फिर से तेजी से फैलने का भय पैदा हो गया है। सरकारी ‘ग्लोबल टाइम्स’ ने खबर दी है कि वे लॉन्ड्रीवुमन के संपर्क में आने के बाद ये लोग कोरोना से संक्रमित हुए।

सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के जिलिन प्रांतीय समिति के सचिव बाईन चाओलू ने कहा कि शुलान शहर को सर्वाधिक खतरे के स्तर के एहतियात की जरूरतों के मुताबिक, मार्शल लॉ लगाना चाहिए। बाईन ने कहा कि शुलान में क्लस्टर संक्रमण से लोगों की जिंदगी को काफी खतरा हो सकता है। शुलान में शनिवार से स्थानीय समुदायों और गांवों में लॉकडाउन जारी है।

चीन में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 14 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें से एक कोविड-19 के केंद्र में रहे राज्य हुबेई में सामने आया है। इसके बाद देश में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 82,901 हो गई हैं, जिनमें से 4,630 लोगो की मौत हो चुकी है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने रविवार को बताया कि नए मामलों में 12 लोग देश में ही संक्रमित हुए हैं, जिनमें से एक व्यक्ति हुबेई प्रांत में संक्रमित पाया गया है।

हुबेई में पिछले 35 दिन से संक्रमण का कोई मामला सामने नहीं आया था। यह संक्रमण सबसे पहले इसी प्रांत में फैलना शुरू हुआ था। एनएचसी ने बताया कि संक्रमण के 14 नए मामले शनिवार को सामने आए। इसके अलावा 20 ऐसे लोग भी संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें संक्रमण के लक्षण दिखाई नहीं दे रहे है। ऐसे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 794 हो गई है, जिनमें लक्षण दिखाई नहीं दे रहे है। सरकारी संवाद समिति ‘शिन्हुआ’ ने बताया कि चीन में इस संक्रमण से 4,633 लोग मारे गए हैं। अमेरिका स्थित ‘जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी’ ने बताया कि वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस से 40 लाख से अधिक लोग संक्रमित हैं और 2,79,311 लोगों की मौत हो चुकी है।

corona info रेड ज़ोन इंदौर में कोरोना मरीजों की तादाद में आयी कमी, रिकवरी में देश में दूसरा नंबर


Multapi Samachar

इंदौर (indore) कोरोना (corona) पॉजिटिव मरीजों के ठीक होने की दर में इंदौर देश में दूसरे नंबर पर पहुंच गया है. यहां का रिकवरी रेट 37.35 फीसदी है, जो जयपुर के बाद है.

इंदौर. मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में कोरोना से सबसे ज़्यादा संक्रमित शहर (indore) से आज राहत भरी खबर है. शहर में पॉजिटिव मरीज़ों की तादाद में कल कमी आयी. बुधवार देर रात  556 सैंपल की जो जांच रिपोर्ट आयी उसमें से 538 मरीजों में कोरोना नहीं है.  सिर्फ 18 मरीज़ों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है. यानि पॉजिटिव मरीज मिलने की दर 3.23 फीसदी हो गई है. हालांकि अभी 600 सैंपल पेंडिग हैं. ये सभी सैंपल जांच के लिए निजी लैब भेजे गए हैं.

अब तक 83 मरीजों की मौत 
इंदौर को  कोरोना वायरस (corona virus) के संक्रमण से थोड़ी राहत मिलती दिखाई दे रही है. स्वास्थ्य विभाग के मेडिकल बुलेटिन में पिछले 24 घंटे में 1174 मरीजों के सैंपल लिए गए जिसमें से 556 सैंपल की जांच की गई. इसमें 18 नए पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद ये आंकड़ा 1699 पर पहुंच गया है. मेडिकल बुलेटिन में 2 नए मरीजों की मौत की पुष्टि की गई है. इन्हें मिलाकर इंदौर में  कोरोना से मरने वालों की संख्या 83 हो गई है. मृतकों में एक 50 वर्षीय मरीज़ इंदौर की गुलजार कॉलोनी का रहने वाला है. उनकी मौत 6 मई को हुई है. वहीं दूसरा मरीज 54 साल का महू का होटल व्यवसायी है. उनकी मौत 5 मई को हुई थी.स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक 1021 मरीजों का इलाज अभी शहर के विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है.

रिकवरी रेट में इंदौर दूसरे नंबर पर 

गुरुवार का दिन इंदौर के लिए अच्छी खबर लेकर आया. कोरोना पॉजिटिव मरीजों के ठीक होने की दर में इंदौर देश में दूसरे नंबर पर पहुंच गया है. यहां का रिकवरी रेट 37.35 फीसदी है, जो जयपुर के बाद है. जयपुर का रिकवरी रेट 41.52 फीसदी है जबकि देश का औसत रिकवरी रेट 28.29 फीसदी है. इंदौर में अब तक 631 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं. बुधवार को सबसे ज्यादा 134 मरीज विभिन्न अस्पतालों से डिस्चार्ज किए गए. इनमें अरबिंदों अस्पताल से 100 मरीज, इन्डेक्स हॉस्पिटल से 21 ,एमटीएच हॉस्पिटल से 6  और चौईथराम अस्पताल से 7 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए.

Agra : सब्जी बेचने वाला निकला corona COVID-19 पॉजिटिव, 2000 लोग होम क्वारंटाइन


COVID-19: संक्रमित मरीज पहले ऑटो चलाता था, लेकिन Lockdown की वजह से वह सब्जी बेचने लगा था.

मुलतापी समाचार

आगरा। ताज नगरी आगरा में कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण विकराल रूप लेने लगा है. जिस तरह से जिले में संक्रमण फ़ैल रहा है उससे कम्युनिटी स्प्रेड का खतरा भी उत्पन्न हो रहा है. शहर के फ्रीगंज के चमन लाल बाड़े में सब्जी बेचने वाले में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद जिला प्रशासन व स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. आनन-फानन में प्रशासन ने चमन लाल बाड़ा इलाके को सील करते हुए करीब 2000 लोगों को होम क्वारंटाइन (Home Quarantine) कर दिया है.

बताया जा रहा है कि संक्रमित मरीज ऑटो चलाता था, लेकिन लॉकडाउन की वजह से वह सब्जी बेचने लगा था. बीमार पड़ने पर जब उसका कोरोना टेस्ट हुआ तो वह पॉजिटिव पाया गया. अब जिला प्रशासन के सामने सबसे बड़ी चुनौती उसके संपर्क में आए लोगों को ट्रेस करने की है. फिलहाल इलाके के 2000 लोगों को एहतियातन क्वारंटाइन कर दिया गया है, लेकिन सबसे बड़ी चुनौती यह है कि वह संक्रमित कैसे हुआ. सवाल यह भी है कि अगर वह ऑटो चलाने के दौरान संक्रमित हुआ तो वह सवारी कौन थी? उसे खोजना भी एक चुनौती है. साथ ही वह किन-किन लोगों के सम्पर्क में आया इस पर भी जिला प्रशासन को माथापच्ची करनी होगी.

आगरा में सर्वाधिक 241 मरीज
आगरा उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा कोरोना हॉटस्पॉट के रूप में उभरकर सामने आया है. शनिवार को संक्रमण के 45 नए मामले आने के साथ जिले में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 241 हो गई है. ताज नगरी में मिले नए मरीज कोरोना मरीजों के संपर्क में आए थे. वहीं, आगरा में कोरोना वायरस संक्रमण से अब तक 5 लोगों की मौत हुई है. डॉक्टर्स कहते हैं हालात कम्यूनिटी संक्रमण जैसे हो सकते हैं. आपको बता दें कि आगरा में सबसे पहले शू कारोबारी का परिवार संक्रमित हुआ था. इसके बाद धीरे-धीरे कोरोना पाजिटिव की संख्या बढ़ रही थी. अचानक जमातियों ने शहर को डरा दिया, जबकि अब तक 78 जमाती कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं. इसके अलावा सार्थक हॉस्पिटल, एसआर हॉस्पिटल और फिर पारस हास्पिटल ने हालात बिगाड़ दिए. पारस में अब तक 70 से ज़्यादा कोरोना पाजिटिव मिले हैं और जो 45 की नई लिस्ट आयी है उसमें भी पारस के 21 कोरोना मरीज़ शामिल हैं.

आगरा में लॉकडाउन का पालन नहीं हो रहा
ज़िला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा दिन रात युद्ध स्तर पर लगा ही था कि एसएन मेडिकल कॉलेज के 3 डॉक्टर और 4 वार्ड ब्‍वॉय कोरोना पॉजिटिव पाए गए. एक वार्ड बॉय के ज़रिए 5 लोग संक्रमित हुए. आगरा में लगातार विस्फोटक हालात के बीच पल-पल सीएम योगी ख़बर ले रहे हैं. हालांकि, राहत की बात ये है कि जो नए मामले आए हैं, उनमें ज़्यादातर पहले से क्‍वारंटाइन हैं. आगरा प्रशासन की तमाम कोशिशों के बाद भी शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या पर लगाम नहीं लग रही है, जबकि इंटेलिजेंस की रिपोर्ट के मुताबिक आगरा में लॉकडाउन का पालन नहीं हो रहा है, इस वजह से हालात और खराब होते जा रहे हैं.

इधर-उधर या सार्वजनिक थूका तो होगा जुर्माना, इन चीजों पर और भी सख्त हुई सरकार


Multapi Samachar

नई दिल्ली, बीते मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में लॉकडाउन के दूसरे चरण की घोषणा कर दी है। ऐसे में आज लॉकडाउन के बीच किन्हें छूट मिलने जा रही है इसकी गाइडलाइंस जारी हो गई हैं। इसके अनुसार फिलहाल परिवहन पर पूरी तरह रोक जारी रहेगी। राज्यों के बॉर्डर भी सील ही रहेंगे। यानी बस, मेट्रो, हवाई और ट्रेन सफर पूरी तरह बंद ही रहेगा। इसके अलावा स्कूल, कॉलेज कोचिंग सेंटर भी बंद ही रहेंगे। वहीं किसानी से जुड़े कामों को छूट जारी रहेगी। इसके साथ ही मुंह कवर करना अब जरूरी कर दिया गया है। इधर उधर थूकने वालों पर जुर्माना भी लगेगा।

गाइडलाइन में साफ कर दिया गया है कि शादियां फिलहाल किसी समारोह के साथ आयोजित नहीं हो सकतीं। जिम व धार्मिक स्थान पूरी तरह बंद रहेंगे। राजनीतिक और खेल आयोजन पर भी रोक। इसके अलावा मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है। निर्देशों के अनुसार किसानों और कृषि मजदूरों को हार्वेस्टिंग से जुड़े काम करने की छूट रहेगी। कृषि उपकरणों की दुकानें, उनके मरम्मत और स्पेयर पार्ट्स की दुकानें भी खुली रहेंगी। खाद, बीज, कीटनाशकों के निर्माण और वितरण की गतिविधियां चालू रहेंगी, इनकी दुकानें खुली रहेंगी। कटाई से जुड़ी मशीनों (कंपाइन) के एक राज्य से दूसरे राज्य में मूवमेंट पर कोई रोक नहीं रहेगी।

3 मई तक ये गतिविधियां प्रतिबंधित रहेंगी-

1) सुरक्षा उद्देश्यों और कुछ अन्य अपवादों को छोड़कर घरेलू, अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्राओं पर प्रतिबंध।

2)ट्रेन की यात्राएं बंद।

3) सार्वजनिक परिवहन और मेट्रो रेल सेवाएं व बसें बंद रहेंगी।

4) मेडिकल जरूरतों के अलावा इंटर डिस्ट्रिक्ट और इंटरस्टेट मूवमेंट की इजाजत नहीं होगी।

5) शैक्षिक, प्रशिक्षण, कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे।

6) सिर्फ जिन्हें अनुमति हो वो औद्योगिक और व्यावसायिक गतिविधियों हो सकेंगी ।

7) हॉस्पिटेलिटी सेवाएँ प्रतिबंधित रहेंगी।

8) टैक्सी, ऑटोरिक्शा, साइकिल रिक्शा और कैब बंद रहेंगे।

9) सिनेमा हॉल, मॉल, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर्स, बार और ऑडिटोरियम बंद रहेंगे।

10) सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्य बंद रहेंगे।

11) धार्मिक मण्डली सख्त वर्जित है।

12) अंतिम संस्कार में 20 से अधिक लोग नहीं जा सकेंगे।

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ा दिया गया है। मंगलवार को घोषणा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि संक्रमण पर रोक लगाने में लॉकडाउन के प्रभावी नतीजे मिले हैं। प्रधानमंत्री ने करीब 25 मिनट के राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि दूसरे चरण में लॉकडाउन का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंने कहा था कि 20 अप्रैल से कुछ इलाकों में छूट भी दी जा सकती है।

बता दें कि कोरोना वायरस का संक्रमण भारत में लगातार बढ़ रहा है। देश में पिछले 24 घंटे में 1076 पॉजिटिव मामले सामने आने के बाद कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 11439 हो गई है। वहीं, पिछले 24 घंटे में कोरोना से 38 लोगों की मौत हुई है, जिससे कोविड-19 महामारी से मरने वालों का आंकड़ा 377 पहुंच गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना वायरस के कुल 11439 मामलों में से 9756 एक्टिव केस हैं। इसके अलावा, 1305 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मंगलवार सुबह 8 बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना वायरस से सर्वाधिक 178 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। यहां अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 3124 हो गई है। 

Corona virus: 909 नए मामले आए सामने, 24 घंटे में 34 लोगों की मौत


Coronavirus: केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने प्रेसवार्ता में इसकी जानकारी दी।

Multapi Samachar

नई दिल्‍ली। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण कि वजह से 34 लोगों की मौत हो गई है जबकि 909 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा आठ हजार को पार कर 8,355 पर पहुंच गया है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय (Health Ministry) के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देशभर में कोरोना संक्रमण के कारण अब तक 273 लोगों की मौत हुई है। हालांक‍ि 716 लोग संक्रमण से स्वस्थ भी हुए हैं। उन्‍होंने कहा कि यह एक ऐसी समस्या है जिससे देश ही नहीं पूरी दुनिया त्रस्त है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हम इस बीमारी से लड़ने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

अग्रवाल ने कहा कि सरकार निजी क्षेत्र के साथ मिलकर COVID-19 के मरीजों के लिए टेस्टिंग की सुविधा बढ़ा रही है। इसको सपोर्ट करने के लिए देश में अभी तक 14 मेंटर मेडिकल कॉलेजों को चिन्‍ह‍ित किया गया है। इसमें एम्‍स , निम्‍हांस और नेशनल इंस्‍टीट्यूट आदि मेडिकल क्षमता बढ़ाने पर सहमत हुए है। इसके साथ ही संक्रमित मरीजों के कॉन्‍टैक्‍टस की ट्रेसिंग को लेकर भी काम किया जा रहा है। संयुक्‍त सचिव ने बताया कि कोरोना के 80 फीसद मामले माइल्‍ड या एसिम्‍टोमैटिक स्तर के होते हैं।

लव अग्रवाल ने बताया कि माइल्‍ड या एसिम्‍टोमैटिक मामलों को कोविड केयर सेंटरों के द्वारा ट्रीट किया जाता है। मॉडरेट सिम्‍टम वाले मामलों को कोविड हेल्‍थ केयर सेंटरों में रखा जाता है जहां पर डॉक्‍टरों और अन्‍य मेडिकल स्‍टाफ के साथ ऑक्‍सीजन सपोर्ट की भी व्‍यवस्‍था होती है। गंभीर मरीजों का इलाज कोविड अस्‍पतालों में किया जाता है। इन अस्‍पतालों में वेंटिलेटर और आइसीयू सपोर्ट की व्‍यवस्‍था होती है। इन तीन तरह के अस्‍पतालों में मरीजों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाने के लिए एम्‍बुलेंसों की व्‍यवस्‍था भी की गई है।

अग्रवाल ने कहा कि यदि कोरोना वायरस के मामलों को बीते कुछ दिनों में विश्लेषण करें तो पाएंगे कि पिछले 29 मार्च को 979 मामले सामने आए थे जो धीरे धीरे बढ़कर 8356 हो गए हैं। उन्‍होंने बताया कि इसमें से केवल 20 फीसद मामलों में ही मरीजों को आइसीयू की जरूरत पड़ती है। इस लिहाज से देखा जाए तो आज इनमें से केवल 1671 मरीजों को ही ऑक्‍सीजन सपोर्ट की जरूरत होगी। उन्‍होंने यह भी बताया कि कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में सरकारी के साथ-साथ निजी क्षेत्र के लोग भी हमारी मदद कर रहे हैं। मैक्स अस्पताल ने अपने दो अस्पताल को डेडिकेटेड अस्पताल में तब्दील कर दिया है। सेना भी इस काम में हमारी मदद कर रही है।

लॉकडाउन थोक सब्जी मंडी भी बंद, बगैर बेचे ही लौटे रहे किसान


बैतूल मेंं लोगो नहीं मिल पा रही सब्‍जीयां और किसान अपनी सब्‍जी नहीं बैच पा रहा लोग हो रहें परेशान

बैतूल न्‍यूज। ( टोटल लॉकडाउन को सख्ती से लागू किए जाने के चलते बुधवार से थोक सब्जी मंडी भी बंद हो गई है। ऐसे में जानकारी के अभाव में सब्जियां बेचने किसान आ गए, लेकिन उन्हें सब्जी बेचे बगैर ही लौटना पड़ा। इसी तरह मंडी बंद रही तो कई सब्जियां खेतों में ही सड़ जाएंगी। जानकारी के अनुसार थोक सब्जी मंडी बडोरा को आगामी आदेश तक के लिए बंद कर दिया है। इसकी जानकारी नहीं होने से किसान सब्जियां लेकर मंडी पहुंच गए थे। मंडी बंद होने से किसान अपनी सब्जी बेच ही नहीं पाए। किसानों को यह सब्जियां वापस लेकर जाना पड़ा। हाथ ठेलों पर सब्जी बेचने वालों पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। इससे वे भी सब्जी खरीदने नहीं पहुंचे। मंडी सचिव एसडी वर्मा के अनुसार मंगलवार को कलेक्टर द्वारा जारी किए गए आदेश के बाद अगले आदेश तक सब्जी मंडी बंद कर दी है। इसकी जानकारी थोक सब्जी विक्रेताओं को भी दे दी गई है। इधर किसानों का कहना है कि थोक सब्जी मंडी बंद रही तो वे सब्जियां नहीं बेच पाएंगे, इससे उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। कई सब्जियां ऐसी हैं जो तोड़ने की स्थिति में आ गई हैं। इन्हें नहीं तोड़ा तो वह खेत में ही सड़ जाएगी। कोरोना के कारण किए गए लॉकडाउन ने किसानों की कमर तोड़ दी है। अभी तक दिन भर सब्जियां मोहल्ले में बिकने से लोगों को भी आसानी से सब्जी मिल जा रही थी, लेकिन आज लोगों को भी परेशान होना पड़ा।

अच्छी न्‍यूज: 18 और सैंपलों की आई रिपोर्ट निगेटिव पायें सभी


कोरोना के संदिग्‍ध १८मरीजों की रिपोर्ट आई निगेटव

मुलतापी समाचार

बैतूल । एक रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद दहशत में आए लोगों के लिए राहत भरी खबर है कि गुरुवार को आई सभी 18 रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। अभी तक कुल 24 रिपोर्ट आई हैं जिनमें से केवल 1 ही पॉजिटिव है। क्वारंटाइन में भर्ती किए गए मरीजों की संख्या में जरुर 2 का इजाफा हुआ है।

इनकी संख्या अब 31 पर पहुंच गई है। सीएमएचओ डॉ. जीसी चौरसिया ने बताया कि जिले में अभी तक कुल 26723 लोगों की स्क्रीनिंग हुई है। इनमें सामान्य सर्दी, खांसी, बुखार के मरीजों की संख्या 2636 है। जिले में अभी तक कुल 70 सैंपल लिए गए हैं। गुरुवार को 12 सैंपल लिए गए। अभी तक 24 की रिपोर्ट आ चुकी है। इनमें से एक को छोड़ कर शेष 23 रिपोर्ट निगेटिव आई है। अभी 45 सैंपलों की रिपोर्ट आना है।

क्वारंटाइन में 31 और आइसोलेशन में 5 लोगों को भर्ती किया गया है। होम आइसोलेशन में 2405 को रखा गया है जबकि 843 को होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

भैंसदेही में 2413 घरों का भ्रमण किया गया है। यहां 11703 लोगों की स्क्रीनिंग की गई जिनमें 18 लोगों को सामान्य सर्दी, खांसी, बुखार की शिकायत पाई गई। इस ब्लॉक में अभी तक 27 सैंपल लिए गए हैं।

MP मध्‍यप्रदेश के 15 जिलों में 46 कोरोना हॉट स्पॉट घोषित


मुलतापी समाचार

राज्य शासन ने 15 जिलों में कुल 46 कोरोना हॉट स्पॉट घोषित किये हैं। इन जिलों में कुल 75 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। जिन क्षेत्रों को हॉट स्पाट घोषित किया गया है, उन क्षेत्रों को जिला प्रशासन द्वारा एहतियात के तौर पर बेरिकेट्स लगाकर सील किया गया है। इन क्षेत्रों में जिला प्रशासन द्वारा अति आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति नागरिकों के घरों पर उनकी माँग के अनुसार सुनिश्चित की जा रही है।

बैतूल की भैंसदेही सिटी में एक, विदिशा के सिरोंज में काड़ी मोहल्ला तथा गंजबासौदा के मिर्जापुर करीमी मोहल्ला में कुल 2, श्योपुर के हसनपुर हवेली क्षेत्र में एक कोरोना पॉजिटिव मिलने पर इन क्षेत्रों को हॉट स्पॉट घोषित किया गया है।

जबलपुर में कचिया पाथ गोल बाजार, प्रोफेसर कॉलोनी, सुहागी सरस्वती कॉलोनी, अंधेरदेव, शंकर नगर, मौलाना की गली कोतवाली, रामपुर तथा पंचशील नगर को हॉट स्पॉट घोषित किया गया है। इन स्थानों पर कुल 8 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाये गये। ग्वालियर में ढोली बुआ का पुल, चेतकपुरी, विजय नगर, आमखो, नाका चंद्रवंदनी, सत्यदेव नगर और बीएसएफ कॉलोनी टेकनपुर को कुल 6 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाये जाने पर हॉट स्पॉट घोषित किया गया है। खरगोन में धारगाँव, असनगाँव, बड़गाँव, साकार नगर केजीएन और वार्ड नम्बर-11 कसरावद में कुल 12 कोरोना पॉजिटिव प्रकरण पाये जाने के कारण इन्हें हॉट स्पॉट घोषित किया गया है।

मुरैना में वार्ड नम्बर-47 में 13 कोरोना पॉजिटिव और शिवपुरी में खनियाधाना में 2 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाये जाने पर इन क्षेत्रों को हॉट स्पॉट घोषित किया गया है। बड़वानी के सेंधवा में अमन नगर, खलवाड़ी मोहल्ला और मदीना नगर तथा बड़वानी के पानवाड़ी मोहल्ला और सुतार कॉलोनी में कुल 12 कोरोना पॉजिटिव पाये जाने पर हॉट स्पॉट घोषित किया गया है।

राज्य शासन ने छिंदवाड़ा जिले के ग्राम गुलबरारा, इमलीखेड़ा, सरना, मालनवारा और केवलारी में कुल 4, रायसेन के वार्ड-6 में एक, होशंगाबाद जिले के इटारसी में देशबंधुपुरा, जीन मोहल्ला और हाजी मंजिल में कुल 6 और खण्डवा की संजय कॉलोनी तथा मक्का मस्जिद में कुल 5 कोरोना पॉजिटिव पाये जाने पर इन क्षेत्रों को हॉट स्पॉट घोषित किया गया है। धार में बख्तावर मार्ग में एक तथा देवास में पीठा रोड, नाहर दरवाजा, शीतलामाता वार्ड हाटपिपल्या सिटी और कन्नौज के पानीगाँव को कुल 3 कोरोना पॉजिटिव मिलने के कारण हॉट स्पॉट घोषित किया गया है।

कोरोना न्‍यूज – छिन्‍दवाडा में मिला कोरोना पॉजिटिव मरिज


मुलतापी समाचार

छिन्‍दवाडा। आईसीएमआर में आज जबलपुर सहित आसपास के जितों से आई 34 रिपोर्ट को टेस्ट किया गया जिसमें की 1 रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।पॉजिटिव आई रिपोर्ट छिंदवाड़ा स्थित एक गाँव में रहने वाले युवक की बताई जा रही है।

इंदौर में काम करता है 36 वर्षीय युवक,20 मार्च को आया था छिंदवाड़ा…. जानकारी के मुताबिक छिंदवाड़ा निवासी युवक 20 मार्च को अपने गाँव आया था। युवक को सर्दी-बुखार और खाँसी आने के कारण छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। 36 साल के युवक की आज जबलपुर आईसीएमआर में रिपोर्टटेस्ट हुई जहाँ युवक कोरोना वायरस पॉजिटिव आया है। वर्तमान में कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीज छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज में ही भर्ती

कोरोना वायरस संबंधित आईसीएमआर से मिली आज की रिपोर्ट इस प्रकार है……. अभी तक आईसीएमआर में हुए कुत टेस्ट-186 कुत पॉजिटिव रिपोर्ट-09जबलपुर(08)छिंदवाड़ा(01) आज हुए कुल कोरोना वायरस टेस्ट-34 आज पॉजिटिव रिपोर्ट-01(छिंदवाड़ा)

Coronavirus in Indore : इंदौर में मरीजों का आंकड़ा बडा , छह की हालत अभी भी गंभीर


इंदौर में कोरोना के कहर से दो लेागों की और मौत, अब तक पांच लोगों की इस वायरस से गई जान।

मुलतापी समाचार

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Coronavirus in Indore गुरुवार सुबह इंदौर में कोरोना संक्रमण से 2 मौत और हो गई। मृतक 65 वर्षीय महिला निवासी खजराना और 54 वर्षीय पुरुष मोती तबेला निवासी हैं। अभी छह मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है। इंदौर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 75 हो चुकी है।

सूत्रों के अनुसार इन सभी से संक्रमित होने वाले लोगों की जानकारी तो मिल रही है, लेकिन नए मरीज किसके संपर्क में आए यह जानकारी नहीं मिल रही है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अभी भी अपर सेकेंड स्टेज में ही इसे नियंत्रण में लाने का विश्वास दिला रहे हैं।

सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जड़िया के अनुसार जो लोग पॉजिटिव मिल रहे हैं उनमें से कई लोग पहले से ही आइसोलेशन और क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती हैं। इससे इनके कम्युनिटी में संक्रमण फैलाने की संभावना कम होगी। इंदौर में कोरोना से पहली मौत 25 मार्च को 65 वर्ष पुरुष निवासी सिलावटपुरा की हुई थी।

उसके बाद 30 मार्च को राजकुमार कॉलोनी निवासी 41 वर्षीय पुरुष की मौत हुई थी। 30 मार्च को 49 वर्ष की महिला निवासी धार रोड की मौत हो चुकी है। 24 मरीजों की हालत में सुधार एमजीएम मेडिकल कॉलेज से मिली जानकारी के अनुसार 24 मरीजों की हालत में सुधार नजर आ रहा है। 8 मरीजों की हालत गंभीर थी जिनमें से दो की मौत हो चुकी है।

अभी भी 6 मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है। अन्य मरीजों की हालत स्थित है। 17 मरीजों को किया शिफ्ट भोपाल एम्स द्वारा भेजी गई 40 जांच रिपोर्ट में से 17 पॉजिटिव मरीज सामने आए थे। दो दिनों से लिस्ट नहीं मिलने से इन्हें असरावद के सेंटर में ही रखा गया था। इनमें से 11 एक ही परिवार के थे। इनके अलावा भी 8 अन्य पॉजिटिव मरीजों को शिफ्ट किया गया है।

मरीजों के परिजन क्वारंटाइन

टाटपट्टी बाखल में अपर कलेक्टर दिनेश जैन और एडिशनल एपी राजेश व्यास और अन्य अधिकारियों व जवानों की मौजूदगी में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सर्वे शुरू किया है। यहां से गुरुवार को 11 और लोगों को चोइथराम अस्पताल के पास अमरदास बैंक्वेट हॉल में क्वारंटाइन किया।

वहीं दौलतगंज में कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के परिवार से पत्नी, बच्चों सहित 4 और स्नेहलतागंज से 5, लोगों को एमटीएच हॉस्पिटल में क्वारंटाइन किया गया है। अपर कलेक्टर पवन जैन ने बताया कि इलाके में सख्ती से कर्फ्यू का पालन कराया जा रहा है।