Tag Archives: गांव में घोटाला चरम पर

ग्राम घोटाला- चौपाल निर्माण शौचालयों के अधूरे काम को पूरा बताकर राशि खाने वाला सचिव निलंबित


मुलतापी समाचार

ग्राम प्रधान, सचिव से राशि वसूली के लिए धारा 92 के तहत प्रकरण दर्ज

मुलताई तहसील की ग्राम पंचायत कान्हाखापा में निर्मित सीमेंट कांक्रीट रोड का घटिया निर्माण करने,चौपाल निर्माण कार्य और शौचालयों के अधूरे निर्माण कार्य को पूर्ण दर्शा कर राशि डकार ने वाले तत्कालीन पंचायत सचिव दिनेश दाबड़े (वर्तमान सचिव ग्राम पंचायत पोहर) को जिला पंचायत सीईओ ने निलंबित करने के आदेश जारी किए हैं। 
 ग्राम पंचायत कान्हाखापा के ग्रामीणों ने पंचायत में घटिया सीमेंट रोडो का निर्माण करने, ग्राम कान्हाखापा और ग्राम सोनखेड़ी में चौपाल निर्माण का कार्य आधा अधूरा करने और हितग्राहियों के निवास पर बनाए गए शौचालयों का आधा अधूरा निर्माण कर सचिव और ग्राम प्रधान द्वारा स्वीकृत राशि आहरित करने की शिकायत जनपद पंचायत सीईओ से की थी।

शिकायत पर सीईओ मनीष शेंडे ने दल गठित कर पंचायत में हुए निर्माण कार्यों की जांच कराई। जांच में सीमेंट रोड का घटिया निर्माण कार्य होने की पुष्टि हुई। वही चौपाल निर्माण कार्य आधा अधूरा होने और 5 हितग्राहियों के घर शौचालयों का आधा अधूरा निर्माण काम होने के बावजूद निर्माण कार्य पूर्ण बता कर फर्जी तरीके से स्वीकृत राशि आहरण करने का भी खुलासा जांच में हुआ था।

जांच दल ने ग्राम प्रधान( सरपंच) राधिका धोटे और तत्कालीन पंचायत सचिव दिनेश दाबडे  द्वारा 4 लाख 20 हजार 200 रुपए की वित्तीय अनियमितता और गबन करने का उल्लेख करते हुए जांच प्रतिवेदन सीईओ को सौंपकर ग्राम प्रधान और सचिव से राशि वसूलने की अनुशंसा की थी। जांच दल द्वारा प्रस्तुत प्रतिवेदन के आधार पर सीईओ श्रीशेंडे ने जिला पंचायत सीईओ को पत्र लिखकर ग्राम प्रधान और तत्कालीन सचिव से राशि वसूलने के लिए पंचायत राज अधिनियम की धारा 92 के तहत प्रकरण दर्ज करने और सचिव दिनेश दाबड़े के खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध किया था। जिला पंचायत सीईओ ने जनपद पंचायत सीईओ के पत्र और जांच प्रतिवेदन के आधार पर पंचायत सचिव दिनेश दाबडे को कर्तव्य के प्रति गंभीर लापरवाही बरतने और वित्तीय अनियमितता किए जाने के चलते निलंबित करने के आदेश जारी किए हैं। निलंबन अवधि में दिनेश दाबड़े का मुख्यालय जनपद पंचायत कार्यालय मुलताई नियत किया गया है।